सफलता का अमृत 2

76
सपरता का अभ त 2 सीभा फपीवारा औय दीऩक फपीवारा

Upload: deepak-kumar

Post on 14-Aug-2015

30 views

Category:

Self Improvement


5 download

TRANSCRIPT

Page 1: सफलता का अमृत 2

सपरता का अभत 2 सीभा फपीवारा औय दीऩक फपीवारा

सपरता का अभत 2

सीभा फपीवारा

दीऩक फपीवारा

सभऩपण

मह ऩसतक आऩकी सपरता की शानदाय मातरा को सभरऩपत ह मह ऩसतक आऩक बीतय भौजद ईशवय क ततव को सभरऩपत ह मह ऩसतक आऩकी सपरता की मातरा को शानदाय औय आनॊदभमी फनान क लरए लरखी गमी ह आऩकी सवा ही हभाया सचचा आनॊद ह हभ आऩकी जजॊदगी को हय ददन फहतय फनान क लरए आतभा स सभरऩपत ह एक इॊसान होन क नात एक दसय की सचची भदद कयना सचभच एक सौबागम ह

आऩ एक शानदाय जीवन क सचच हकदाय ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आऩका जनभ आऩक सऩनो का जीवन जीन क लरए हआ ह आऩ बागम की सॊतान ह

अगय मह ऩसतक आऩको कछ बी पामदा ऩहॊचाम तो आऩस रवनतत ह कक इस अऩन जस औय रोगो को बी जरय बजजएगा आऩ अनभोर ह

अऩनी पीडफक हभ आऩ इस तयह स बज सकत ह

successcoachingismylifegmailcom

wwwfacebookcomdeepakburfiwala

wwwdeepakburfiwalablogspotin

ववषम सची 1 20 VISIONARY IDEAS FOR YOU TO BECOME A BETTER YOU

EVERY SINGLE DAY

2 32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

3 75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

4 HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR GOD

5 INNER WEALTH

6 अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

7 अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह 8 असपरता का सचचा अथप

9 असाधायण रोगो क 10 फलभसार गण

10 आऩ एक वयदान ह 11 आऩका सचचा ऩरयचम

12 आऩकी काभमाफी को सभरऩपत 15 शजततशारी रवचाय

13 आऩकी सपरता को सभरऩपत 30 जादई औय परयणादामी रवचाय

14 गजफ की शजतत ह आऩकी सोच भ 15 आऩक द ख ही आऩक सख ह 16 आऩक लरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

17 आऩक लरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

18 आऩक लरए कछ नए औय शानदाय रवशवास आऩक खद क फाय भ 19 इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का जजसन खद ही खद की ककसभत को

फनामा 20 उतसाह क साथ लशखय की मातरा का आनॊद

21 एक घय ऐसा बी ह जजसभ

22 एक फलभसार जीवन क लरए 51 गरभॊतर

23 एक रवजता सोच की शजतत

24 एक शानदाय औय फलभसार जीवन की 52 याह

25 एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ 26 काभमाफ रवचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

27 कीजजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

28 आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह 29 चलरए एक शानदाय जजॊदगी की ओय

30 जीवन क 21 ऩयभ सतम

31 जीवन भ एक चनौतीऩणप रकषम होन क पामद

32 जीवन

33 भहान रोगो की भहान आदत

34 सॊकट क 15 शानदाय राब

35 सपरता क 15 अभय सतर

36 सौबागम क ऩरवतर फीज

37 हय ददन खद को तनखाय धनमवाद ऩतर

रवशष आबाय

20 VISIONARY IDEAS FOR YOU TO BECOME A BETTER

YOU EVERY SINGLE DAY

1 Live life in your own way

2 Run your own race

3 Challenge yourself every day for better

4 Truest joy is joy of serving humanity

5 Discover your calling

6 Program yourself to succeed in life every day

7 Top class thoughts create top class results

8 Believe in yourself to achieve your dreams

9 Grow your consciousness every day

10 Be an asset for humanity

11 Speak to serve people

12 Listen to understand people

13 Your true power is infinite

14 Develop yourself daily

15 Connect to your inner self to live fully

16 Awareness brings freedom in your life

17 Awareness is about knowing your inner self

18 Change your thoughts to change your results

19 Follow your passion

20 Be a life visionary

32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

1 खद को जातनए औय खद को ऩा रीजजए 2 आऩक रवचाय ही आऩका सॊसाय ह 3 आऩका वमवहाय ही आऩकी ऩॊजी ह 4 आऩ कछ बी सीख सकत ह औय कछ बी फन सकत ह 5 सऩन ऩय कयन क लरए सऩन जरय दणखए 6 आऩका सभऩपण आऩकी सपरता को आकरषपत कयता ह 7 कवर सतम ही आऩको भतत कयन की शजतत यखता ह 8 हय ददन नमा सीखना हय ददन जीना ही तो ह 9 आऩकी ककसभत खयाफ ह मह लसपप आऩका एक रवचाय ही तो ह 10 खद को हय ददन काबफर फना कय आऩ कछ बी परापत कय सकत ह 11 आऩ खद ऩय हय फाय ऩया बयोसा कय सकत ह 12 जीवन हय ऩर आऩको खद को रवकलसत कयन क फदहसाफ अवसय द यहा

ह 13 जजतना आऩ खद को जानत जात ह उतना ही खद ऩय आऩको रवशवास

होता जाता ह 14 आऩ अऩन बागम की जजमभदायी खद रकय सचभच बागमशारी फन सकत

ह 15 आऩका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह 16 सच मह ह कक आऩकी शजतत अनॊत ह 17 आऩकी फाहय की दतनमा आऩकी बीतय की दतनमा का दऩपण भातर ह 18 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 19 सवा कयक सचभच शाॊतत लभरती ह

20 खद को जान रन क फाद खद स फशतप परभ खद फ खद हो जाता ह 21 ऩयी तयह सपर औय ऩयी तयह असपर कोई इॊसान ह ही नहीॊ ह 22 आनॊद को आऩ खोजत तो फाहय ह भगय होता मह आऩक अऩन ही अॊदय

ह 23 जो आऩ दखना चाहत ह आऩ लसपप वही दख ऩात ह 24 एक शानदाय जीवन जीना आऩका हक ह

25 सचची अभीयी आतभ ऻान ह 26 सॊकट आता ही आऩको भजफत फनान क लरए ह 27 जजतन आऩ खद स ईभानदाय होग उतना ही आऩ खद का आदय कयग 28 आतभ रवशवास स ऩहर आतभ ऻान आता ह 29 अगय आऩ जजॊदा ह तो आऩको जीवन क परतत तनयाश होन का कोई हक

नहीॊ ह 30 आऩ अऩन आऩ क लरए फहद बागमशारी ह 31 खद को खोजजए 32 सभरदध आऩका सचचा हक ह

75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

1 Laugh daily

2 Exercise daily

3 Dream daily

4 Think bold daily

5 Read daily

6 Imagine daily

7 Live life of purpose daily

8 Learn from your past

9 Discover your calling

10 Leave the crowd

11 Honor your intuitions

12 Write your goals daily

13 Be yourself

14 Challenge your challenges

15 Become a better person every day

16 Serve humanity

17 Learn from wisdom quotes

18 Write and frame the purpose of your life

19 Problems are platforms

20 Grow your consciousness every day

21 Design your life every day

22 Make your thinking your biggest asset

23 Work hard to work smarter

24 Hard work is good for your health as well

25 Live life like a life passionate lover

26 Expand your thinking every day

27 Celebrate your daily performance

28 Develop yourself daily

29 Respect yourself

30 Create your luck

31 Listen audio programs on personal development daily

32 Sleep less to grow more

33 Go for wisdom

34 Choose wisdom over knowledge

35 Work on your inner life

36 Dedicate yourself towards life-long learning

37 Discover your inner strength

38 Think different to think like tycoons

39 Wake up at 5am daily

40 Adopt a belief system of winners

41 Lead life to live life

42 Express your genius through your work daily

43 Write in a journal daily

44 Think long term

45 Be a passionate life learner

46 Visit library once in a week

47 Commit to working hard till your last breathe

48 Your language is your presentation

49 People who give up are the losers

50 Run your own race

51 Mastery attracts challenges continuously

52 Leave the crowd to lead the crowd

53 Champion your thoughts to champion your life

54 Daily hard work attracts mastery

55 Live your life as per your inner taste

56 Practice rare stuff to get rare results

57 Win in mind first to win in actual

58 Believe in yourself to achieve the impossible

59 People always laugh at man on progress

60 Spend more time with creative people

61 Be lady gaga of your field

62 Be Nelson Mandela of your field

63 Be bill gates of your field

64 Be J K Rowling of your field

65 Go deep to know things deeply

66 Dare to see the picture behind every picture

67 Selfish people are liability even for their own selves

68 Dream bold dreams to check your true inner power

69 Your mind power is infinite

70 Dare to think beyond the crowd

71 Listen to your heart to be a brand

72 Struggle gifts strength

73 Purpose of life is becoming more helpful for humanity every single day

74 Selfless people are history makers

75 Life is an awesome gift of god to you

HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR

GOD 1 Donrsquot disgrace god by playing small with your inner infinite creative

potential

2 God has gifted you with inner infinite creative potential

3 Within you lies the treasure of inner infinite creative potential

4 Your success is godrsquos success

5 Your success is humanityrsquos success

6 Your success is success of that power which lies every single second within

you

7 You are a master-piece and original kindly donrsquot imitate someone

8 You have infinite seeds of greatness within you

9 You have the power to manifest your ultimate destiny

10 Biggest resource that you are having at this moment is your decision to

choose your destiny

11 Be a leader and gift yourself a vision for your life

12 Every single day is a world class platform to become more and achieve more

as a person

13 You shine when you face adversity

14 Problems are your honest servants as they serve you by developing you

15 You must master your thinking to master your destiny

16 You are free if you are rightly educated

17 You have the power to live your life in your style

18 Run your own race to win the race with grace

19 Bigger the obstacle bigger the rewards

20 Harder you work smarter you become

INNER WEALTH

Inner wealth is open to all of us

Inner wealth is actual wealth

Inner wealth is infinite for all of us

Inner wealth can be achieved by becoming a better person every day

Inner wealth can be achieved by discovering your calling

Inner wealth can be achieved by challenging yourself for better

Inner wealth is a gift that one can as a result of his daily inner growth

Inner wealth gives you joy as it is a result of your daily self-realization

Inner wealth is obtained when it becomes ultimate aim of your life

Inner wealth is obtained by life visionaries

Inner wealth is achieved by leaving the crowd and listening to your own heart

Inner wealth is achieved by those who refuse to give up at the times of pains and

challenges

Inner wealth is achieved by people who are truly passionate about achieving inner

wealth

अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

1 आऩ एक शानदाय जीवन जी सकत ह 2 आऩ एक परचयता स बया जीवन जी सकत ह 3 आऩ शकरगजायी की भहान बावना स सजा जीवन जी सकत ह 4 आऩ भानवता क फलभसार इततहास भ अऩना नाभ दजप कया सकत ह 5 आऩ गजफ क आतभ रवशवास क भालरक हो सकत ह 6 आऩ एक अभीय औय बफलकर खशहार जजॊदगी हय ददन जी सकत ह 7 आऩ इस फात की ऩयवाह ही नहीॊ कयग कक रोग आऩको तमा कहत ह 8 आऩ हय ददन सभरदध की सीढ़ी चढ़त जात ह 9 आऩ हय इॊसान को आदय क बाव स दखन रगत ह 10 आऩ खद स फदहसाफ पमाय कयन रगत ह 11 आऩ सचभच जीवन का समभान कयन रगत ह 12 आऩ परकतत क यहसमो को धीय-धीय सभझन रगत ह 13 आऩ भानवता क सचच सवक फनन रगत ह

14 आऩ जीवन भ ककसी बी भकाभ तक आसानी स ऩहॉच सकत ह 15 आऩ हय वो सऩना सच कय सकत ह जजस आऩ हभशा स दखत आम ह 16 आऩ ऩयी भानवता को सचभच याह ददखा सकत ह 17 आऩ सचभच एक फलभसार जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह

अभीय सोच सचभच आऩको अभीय फना दती ह वाकई अभीय सोच कोई बी अऩना कय अभीय फन सकता ह अभीय सोच क कछ रण इस परकाय ह

1 अभीय इॊसान अऩन जीवन की जजमभदायी खद रता ह 2 अभीय इॊसान हय ददन नमा सीखता ह 3 अभीय इॊसान सॊकट को सपरता की नीॊव सभझता ह 4 अभीय इॊसान जीवन को एक वयदान की तयह जीता ह 5 अभीय इॊसान हय ददन खद को तनखायता ह 6 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी जजॊदगी उसक खद क रवचायो का ही

परततबफॊफ होती ह 7 अभीय इॊसान अभीय रोगो की सोच की सचभच कदर कयता ह 8 अभीय इॊसान हय ददन को परगतत कयन क भॊच क तौय ऩय दखता ह 9 अभीय इॊसान सचभच खद भ रवशवास कयता ह 10 अभीय इॊसान फड़ धमान स सनता ह 11 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी ककसभत उसक अऩन ही हाथ भ ह 12 अभीय इॊसान नए-नए रोगो स रगाताय लभरता ह ताकक अऩन काभ को औय

अचछ तयीक स कय सक 13 अभीय इॊसान हय ददन अचछी ऩसतक ऩढता ह 14 अभीय इॊसान हय ददन सऩन दखता ह 15 अभीय इॊसान जीवन को ऩय उतसाह क साथ जीता ह 16 अभीय इॊसान मह भानता ह कक उसकी भहनत हय ददन उस परगतत क नए-

नए अवसय दती ह 17 अभीय इॊसान खरकय अभीयी क रवचाय सबी स साॊझ कयता ह

18 अभीय इॊसान सचभच चाहता ह कक जमादा स जमादा रोग सभरदध का जीवन जीम

19 अभीय इॊसान ददर स मह सभझता ह कक अभीयी सचभच हभाय अऩन ही हाथ की फात ह

20 अभीय इॊसान सचभच सवा कयत हए अभीय फनता ह 21 अभीय सोच का अथप ह कक सभाज की सवा कयन की सचची औय ईभानदाय

सोच यखना 22 अभीय सोच का अथप ह कक जीवन का समभान कयत हए जीवन को ऩय जोश

औय उतसाह क साथ जीना

असपरता का सचचा अथथ

1 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ रगाताय परमास कय यह ह 2 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ अऩनी सोच को हकीत भ फदरन

की जादई ताकत यखत ह 3 असपरता आऩको भजफत फनाती ह 4 असपरता आऩको शानदाय अनबव दती ह 5 असपरता आऩको जीवन भ कछ फड़ा कयन की गजफ की परयणा दती ह 6 असपरता आऩको बीड़ स अरग कयत हए इततहास यचन वारो क फीच

राकय खड़ा कय दती ह 7 असपरता आऩको ऩयी ताकत क साथ दोफाया शर कयन की परयणा दती

ह 8 असपरता आऩकी सोच को गहया फना दती ह 9 असपरता सपरता की जड़वाॉ फहन ह 10 असपरता आ यही ह भतरफ आऩ अऩना सवोतभ दन का रगाताय

परमास कय यह ह 11 असपरता आऩको हय ददन अरग अरग तरो भ लभरती ही यहती ह जफ

बी आऩ कछ नमा कयन की कोलशश कयत ह 12 असपरता आऩकी परगतत क लरए फहद जरयी ह 13 असपरता आऩको एक फाय कपय नमा सोचन का अवसय दती ह 14 असपरता ही आऩकी सपरता फन जाती ह जफ आऩ इसस लशा रकय

जीवन भ एक कदभ ओय आग फढ़ जात ह 15 असपरता आऩकी आवाज भ लभठास औय रवनमरता रकय आती ह

असाधायण रोगो क 10 फमभसार गण

1 असाधायण रोग हय ददन एक सऩषट जीवन रकषम क साथ आग फढ़त ह 2 असाधायण रोग हय ददन नमा सीखत ह 3 असाधायण रोग हय ददन जमादा स जमादा सपर रोगो क साथ अऩना नटवकप भजफत कयत ह 4 असाधायण रोग हय ददन सऩन दखत ह 5 असाधायण रोग इस फात भ गहया रवशवास कयत ह कक जीवन भ ककसी बी इॊसान क लरए कोई कभी नहीॊ ह अभीय इॊसान नहीॊ अभीय दयअसर एक सोच होती ह जजस कोई बी इॊसान अऩना सकता ह 6 असाधायण रोग दसय रोगो क रवकास भ अहभ बलभका तनबात ह 7 असाधायण रोग ईशवय क दवाया हय इॊसान को ददए गए चायो उऩहायो (शयीय भजसतषक रदम आतभा) का हय ददन बयऩय उऩमोग कयत ह 8 असाधायण रोग अऩनी फात को कहन की करा भ खद को तनऩण फनात ह 9 असाधायण रोगो की दोसती बी असाधायण रोगो क साथ ही होती ह तमोकक आऩक दोसत आऩक बागम क तनभापण भ फहत जरयी बलभका तनबात ह 10 असाधायण रोग हय ददन अऩन काभ का पीडफक रत ह औय खद को हय ददन भजफत फनात ह

आऩ एक वयदान ह

आऩ अनभोर ह

आऩ फलभसार ह

आऩ अनॊत शजतत क भालरक ह

आऩ फलभसार काबफलरमत का खजाना सवमॊ भ सॊजोए हए ह

आऩकी कलऩना शजतत अनॊत ह

आऩका भजसतषक एक गजफ का ताकतवय कॊ पमटय ह

आऩकी ककसभत शानदाय ह

आऩ अऩन जीवन को ककसी बी ददशा भ र जा सकत ह

आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह

आऩ भानवता की सवा कयक भहान फनन का चनाव कय सकत ह

आऩ अऩन जीवन को दसयो क लरए एक परयक जीवन फना सकत ह

आऩ सवमॊ भ छऩी अनॊत शजततमो को ऩान क परतत सभरऩपत हो सकत ह

आऩ ऩयी दतनमा घभ सकत ह

आऩ अऩन नाभ को एक बाॊड फना सकत ह

आऩ अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना सकत ह

आऩ भजशकर को भौक भ फदर कय भजशकर को समभान द सकत ह

आऩका सचचा ऩरयचम

आऩ एक चभतकाय ह आऩ सौबागम क अनॊत फीज खद भ सॊजोए हए ह आऩक बीतय एक कभार की शजतत ह जजसका आऩको जीत जी जरय एहसास कयना चादहए ऩयी दतनमा क लरए आऩका जनभ एक भहासौबागम ह आऩ एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद हय ददन र सकत ह आऩ हय ददन सफह जलदी उठ कय अऩनी ककसभत का तनभापण कय सकत ह आऩक सॊकट आऩका रवकास कयत ह आऩक रकषम आऩका रवकास कयत ह आऩ आज स ही अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय सकत ह आऩ भानवता की सवा कयक जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह आऩका जीवन आऩको लभरा एक शानदाय उऩहाय ह आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह आऩ हय ददन एक नमी सोच अऩना कय नए ऩरयणाभ परापत कय सकत ह आऩ जजतना जमादा खद को जानोग उतना ही खद स पमाय कयत चर जाओग आऩ जीवन क परतत सभरऩपत होकय अऩन जीवन को एक उतसव की तयह जी सकत ह आऩ हय ददन नए सऩन दख सकत ह आऩ अनभोर ह आऩ अनभोर ह

आऩकी काभमाफी को सभवऩथत 15 शकततशारी ववचाय

1 आऩ फदहसाफ आॊतरयक शजतत क भालरक ह 2 आऩ ऩय बहभाॊड क लरए फहद शब औय सौबागमशारी ह 3 आऩकी कलऩना कयन की शजतत अनॊत ह 4 आऩकी आतभ सधाय कयन की भता अनॊत ह 5 आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह 6 सवसथ का अथप ह सवमॊ भ जसथत होना 7 सवाथप का सचचा अथप ह सवमॊ क सचच औय गहय अथप को सभझना 8 ऩागर का अथप ह जजसन ऩा लरमा गर (काभ की फात मा सचची फात)

को 9 ऩागर का अथप ह ऩाक (रहानी) फात कयन वारा 10 आज अबी औय इसी ऩर आऩ एक काबफर शानदाय फलभसार औय

सभदध वमजतत ह 11 आऩ कबी बी कछ बी सीख कय ककसी बी तर भ भहायत हालसर कय

सकत ह 12 आऩका जनभ एक सखद उऩहाय ह ऩयी भानवता क लरए 13 सभसत धयती आऩकी अऩनी ह 14 आऩका बागम ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह 15 आऩभ अनॊत सॊबावनाएॊ छऩी ह

आऩकी सपरता को सभवऩथत 30 जादई औय परयणादामी ववचाय

1 ऩहर अऩन रकषम क परतत सभऩपण औय कपय उस सभऩपण की हय कीभत चकान की दहमभत चादहए तफ जाकय सपरता आऩक कदभ चभती ह

2 ककतनी पमायी फात ह कक हभ खद को आदय दकय अऩन बीतय भौजद ईशवय को ही तो आदय दत ह

3 सयरता सवगप ह जफकक उरझन नकप ह 4 ककतनी कभार की फात ह कक हभ सफ जीवन भ आसान यासत चाहत ह

भगय हभाया रवकास लसपप भजशकर यासतो ऩय चर कय ही होता ह 5 सफको अऩना बरवषम जानन की फड़ी आतयता यहती ह जफकक अऻात भ

जीन का भजा ही तनयारा ह 6 हय ऩर आऩ खद क फनाम सवगप भ मा कपय खद क फनाम नकप भ यहन का

चनाव कयत ह

7 खद का सधाय ककम बफना दसय को सधायन की कोलशश कयना वमथप का परमास साबफत होता ह

8 अऩनी गरती कोई नहीॊ भानता जफकक अऩनी गरती भान कय अऩन आऩ को सधायन का आनॊद गजफ का ह

9 भजशकर हारात आना इस फात का सफत ह कक आऩ परगतत क ऩथ ऩय ह 10 सफको फशतप पमाय दीजजए तमोकक परभ आऩक ऩास फदहसाफ भातरा भ भौजद

ह 11 आऩ खद ही अऩनी सोच को काभमाफी की ददशा भ रकय जा सकत ह 12 सच क यासत ऩय तनयॊतय चरना आऩको एक अदबत आनॊद दता ह 13 अऩन जीवन भ आन वारी सभसमाओॊ का खफ आनॊद रीजजए तमोकक म

आऩक लरए परगतत क शानदाय अवसय र कय आती ह

14 हय सपर इॊसान ककसी फड़ी चनौती का साभना कयत हए खद को भजफत फना कय सपर फनता ह

15 नज़ाया चाह कछ बी हो हभायी नज़य वही दखती ह जो दखन क लरए हभ इस कहत ह

16 कबी कबी इॊसान जजस जीत सभझता ह वह हाय होती ह औय जजस हाय सभझता ह वह जीत होती ह

17 3 सभम बोजन अगय आऩ हय योज़ कयत ह तो आऩको योज़ 3 सभम कछ न कछ नमा जरय सीखना चादहम

18 जीवन भ आऩको आऩक लसवा कोई खश मा दखी कय ही नहीॊ सकता 19 परभ भ सवाथप नहीॊ औय जहाॉ सवाथप ह वहाॉ परभ नहीॊ 20 ईशवय हभ हय ऩर हभाय सवोतभ रऩ भ ऩहॉचन क लरए भागपदलशपत कय यहा

ह 21 जफ जफ आऩकी तनमत साफ़ यहती ह तफ तफ आऩको ऩरयणाभ भ फयकत

बी जफयदसत होती ह 22 इॊसान जीवन भ अऩनो औय ऩयामो को ही खोजन भ रगा यहता ह जफकक

अऩना ऩयामा कोई ह ही नहीॊ 23 आऩकी भहनत अगय फकाय चरी गमी तो वो भहनत थी ही नहीॊ 24 खद क अहॊकाय को काट बफना जीवन भ खशी का ऽजाना नहीॊ लभरता 25 ककसी को कभतय सभझन की गरती वही कयता ह जो खद ऩय श कयन

का आदी हो 26 गहयाऩन आऩक काभ भ दय दय की ठोकय खा कय ही आता ह 27 एक फाय खद क बीतय ईशवय को ऩाकय कपय आऩको हय जगह ईशवय ही

ददखाई दता ह

28 अऩनी अॊतयातभा की आवाज़ को फरॊद कयक ही आऩको सचची खशी लभरती ह

29 ककसी की सचची इजज़त कयन क लरए ऩहर खद की जफयदसत फइजजती कयना जरयी ह

30 सच भ सच को कह कस औय झठ कह कय ददर को खशी लभरती नहीॊ

गजफ की शकतत ह आऩकी सोच भ

1 आऩकी सोच आऩक जीवन का सच फन जाती ह 2 आऩकी सोच औय आऩका नजरयमा फहत ही गहय स आऩस भ जड़ होत ह 3 आऩ अऩनी सोच को कबी बी ककसी बी फड़ी सपरता क लरए तमाय कय

सकत ह 4 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजए 5 काभमाफ सोच को अऩना कय आऩ बी काभमाफ हो सकत ह

6 भानवता की सचची सवा कयन की सोच को अऩना कय आऩ बी एक फलभसार जीवन का आनॊद र सकत ह

7 हय ददन अऩनी सोच को सकायातभक औय उतऩादक फनाना आऩकी जजमभदायी ह

8 आऩकी सोच आऩक जीवन क हय ऩहर को परबारवत कयती ह 9 काभमाफ सोच काभमाफ ऩरयणाभ ऩदा कयती ह 10 काभमाफ सोच हभशा आऩको सभाधान की ओय र कय जाती ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह तमोकक आऩक द ख आऩकी अॊदरनी आॉख खोरत ह

आऩक द ख ही आऩको रगातय कछ ऐसा खोजन क लरए पररयत कयत जो आऩको सचभच सथामी आनॊद द सक

आऩक द ख ही आऩकी परगतत का भागप खोरत ह

आऩक द ख ही आऩक सख का आधाय फनत ह

आऩक द ख दयअसर आऩको दख रगत ह भगय जीवन आऩको आग फढ़ान क लरए दखो का ही इसतभार कयता ह

द ख असर भ आऩकी आऩक अॊदरनी खजान क परतत अऻानता क कायण ह

आऩक द ख आऩका रवकास कयत ह

आऩक द ख आऩको हय ददन नमा सीखन क लरए औय जीवन को जजमभदायी रत हए जीन क लरए पररयत कयत ह

आऩक द ख ही आऩकी भहानता की सीढ़ी फनत ह

आऩक द ख अगय ना हो तो आऩक सख बी आऩस दय ही यहग

हय द ख भ सख का फीज छऩा होता ह

द ख वासतव भ द ख नहीॊ होता द ख वो हभाय उसको द ख की तयह दखन क कायण फनता ह

द ख ईशवय को आऩको परगतत कयन क लरए ददमा वयदान होता ह

द ख जफ आऩ सहन कय चक होत ह औय आऩ उसस नमा सीख कय जीवन भ एक नए सतय तक ऩहॉच चक होत ह तो द ख आऩको फड़ी खशी दता ह

आऩक मरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

आज आऩ जो बी सोच यखत ह चाह वह आऩका रवकास कय यही हो मा रवनाश कय यही हो उस ऩयी तयह आऩन ही फनामा ह औय आऩ इस ऩयी तयह स फदर सकत ह औय एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

आऩक आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩक बागम का सतय तम कयत ह

आऩ इस भहान सजषट का एक अहभ दहससा ह

हभ सफ एक दसय स जड़ हए ह

आऩकी ककसभत आऩकी भहनत स फनती ह

सॊकट आऩको परगतत क शानदाय अवसय दता ह

हय इॊसान स आऩ कछ न कछ नमा जरय सीख सकत ह

आऩकी सोच ही आऩका सच फनती ह

सीखन वार हभशा ही जीतन वार फन जात ह

हय ददन भहनत कय औय बागमशारी फन

अवसय ककसी काभ भ नहीॊ फजलक आऩकी सोच भ छऩा होता ह

सॊघषप आऩका तनभापण कयता ह

हायन क फाद आऩका जीत का आनॊद रन का साभरथमप फढ़ जाता ह

आऩक जीवन का हय ऩर आऩक लरए पमाय ईशवय का उऩहाय ह

आऩकी शजतत अनॊत ह

आऩ खद अऩन जीवन क भालरक ह

ईशवय न आऩको जजॊदगी का फलभसार उऩहाय दकय समभातनत ककमा ह

आऩक आरोचक आऩकी इततहास फनान भ भदद कयत ह

आऩक मरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

1 आऩक रवचाय आऩकी असलरमत का तनभापण कयत ह 2 खद को रगाताय आतभऻान रत यहन क लरए सभरऩपत कय दीजजम 3 हय ददन 03 लभनट का सभम तनकार कय परयक ऩसतक ऩदढ़ए

4 एक कागज ऩय बफलकर सऩषट रऩ स लरख रीजजम कक ldquoआऩ जीवन भ तमा परापत कयना चाहत हrdquo

5 जो सॊदश आऩ दसयो को दना चाहत ह ऩहर खद उस सॊदश को अऩन जीवन भ हय ददन आदयऩवपक जजएॊ

6 असाधायण परमास कयक ही आऩ असाधायण ऩरयणाभ परापत कय सकत ह 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजम 8 जफ आऩ खद को हय ददन अऩन बीतय छऩी असाधायण सॊबावनाओॊ क लरए

जागरक कयत ह तो आऩस जड़ी हय चीज़ काभमाफी की ददशा भ फढ़ती ह 9 आऩ हय वो चीज़ सीख सकत ह जो आऩको काभमाफ होन क लरए आनी

चादहए 10 सपरता औय खशी आऩस दय नहीॊ ह फजलक आऩ खद सपरता औय खशी

स दय ह 11 आऩकी सीखन की भता ही आऩक कभान की भता तनधापरयत कयती ह 12 हय एक इॊसान अनभोर औय शानदाय ह 13 लसपप सोच स फड़ औय तनडय रोग ही अऩनी वासतरवक आनतरयक शजतत का

उऩमोग कयत ह 14 आऩक जीवन का सचचा रकषम आऩकी आॊतरयक शजतत क फलभसार बणडाय

को खोजना औय उस भानवता की सवा भ सभरऩपत कय दना होना चादहए 15 फहान फनान वार इततहास यचन वार नहीॊ फनत

16 आऩ ऩहर खद अऩन आऩ को धोखा ददए बफना ककसी ओय को धोखा नहीॊ द सकत

17 जो सभम आऩ अऩनी सचची औय अॊदरनी ताकत को जानन भ रगात ह वो आऩक सभम का सफस फहतयीन तनवश होता ह

18 काभमाफी औय अभीयी का जीवन ऩयी तयह स आऩक चनाव ऩय दटका ह 19 सचभच अभीय रोग भानवता क फहत ही अचछ सवक होत ह औय भधमभ

दज क रोग भानवता क भधमभ दज क सवक होत ह 20 आऩका ददभाग एक फहत ही शजततशारी कॊ पमटय ह 21 जीवन भ हय ददन परगतत कयन क लरए ककसी ओय स नहीॊ अऩन आऩ स

हय ददन फहतय होत चर जाएॊ 22 जीवन हभ सफको एक अचछ इॊसान क तौय ऩय चभकन क लरए फशतप औय

भहान उऩहाय की तयह लभरा ह 23 जफ आऩ खद की सचची कदर कयत हो तबी आऩ दसयो की सचची कदर कयन

क काबफर फनत हो 24 जफ आऩ जीवन क हय तर भ अऩन खद क ही रऩछर रयकॉडप तोड़न रगत

ह तफ आऩ सचभच एक चरऩमन क तौय ऩय रवकलसत होन रगत ह 25 जो ऩरयणाभ आऩ आज अऩन जीवन भ परापत कय यह ह उसक लरए आऩक

अरावा ऩयी दतनमा भ कोई बी जजमभदाय नहीॊ ह 26 दतनमा रॊफ सभम तक धनमवाद दन वार रोगो का लशकामत कयन वार

रोगो स कहीॊ जमादा समभान कयती ह 27 आऩका वमवहाय हभशा ही आऩक चरयतर की सचची तसवीय को ददखाता ह 28 हय भहान इॊसान आऩको मही भहसस कयाता ह कक आऩ बी भहान फन

सकत ह

29 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय ददन सोचत सनत दखत फोरत औय भहसस कयत ह

30 हय ददन कछ सभम तनकार कय ऐस रवचाय जरय सन मा ऩढ़ जो आऩको सचभच एक शानदाय जीवन जीन क लरए फहद पररयत कयत ह

आऩक मरए कछ नए औय शानदाय ववशवास आऩक खद क फाय भ

तमा आऩ जानत ह कक कौन आऩकी जजॊदगी चरा यहा ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी सोच ककस हद तक आऩकी जजॊदगी को फहतय औय फदतय फनान की काबफलरमत यखती ह

तमा आऩ जानत ह कक आऩकी वासतरवक शजतत ककतनी ह तमा आऩ जानत ह कक ककस

हद तक आऩ अऩन जीवन को शानदाय फना सकत ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ अऩन

सऩनो की जजॊदगी जीन भ ऩयी तयह सभ ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी भजशकर आऩका रवकास कयती ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ हय ददन खद ही अऩनी तनमतत फनात ह

आऩ ककस तयह स खद को दखत ह साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह आऩ खद को ककतना काबफर भानत ह इसी फात स आऩकी सपरता का सतय तम होता ह ककस तनगाह स आऩ

अऩनी सीखन की काबफलरमत का इसतभार कयत ह इसी स आऩकी अभीयी का सतय तम

होता ह आऩ हाय क फाद ककस नजरयम स दोफाया शर कयत ह इसी स साया पकप ऩड़ता ह

आऩकी जजॊदगी ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह जफ तक आऩको रगता ह कक आऩकी जजॊदगी क

लरए आऩ जजमभदाय नहीॊ ह तफ तक आऩ अऩनी जजॊदगी को फहतय फनान क लरए जरयी कदभ नहीॊ उठा सकत जफ तक आऩ खद क फाय भ एक सकायातभक नजरयमा नहीॊ रवकलसत कय रत तफ तक आऩकी सभसमा जमो की तमो फनी यहगी

आऩकी हय सभसमा का एक ही सभाधान ह औय वो ह कक आऩ खद की ऩतकी ऩहचान कय आऩ खद को जान आऩ अऩनी आॉख खोर आऩ अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का उऩहाय द

आऩकी सचचाई मह ह कक

आऩ ऩयी तयह स सपर होन क लरए काबफर ह आऩ ऩयी तयह स खद की जजॊदगी को

फदरन की काबफलरमत यखत ह आऩ अऩनी जजॊदगी क भालरक ह आऩ एक शजततशारी ददभाग क भालरक ह आऩ सचभच एक कभार की जजॊदगी जीन का सचचा हक यखत ह आऩ हय ददन नमा सीख कय हय ददन जीत सकत ह आऩ जजस फात भ मकीन यखत ह वही आऩक लरए हकीत फन जाती ह आऩ एक फलभसार जीवन जीन की सचची काबफलरमत यखत ह

आऩ अनभोर ह आऩ सचभच काबफर ह आऩ हकदाय ह एक अदबत जीवन जीन क

इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का कजसन खद ही खद की ककसभत को फनामाhellip

सवार आऩ काभमाफ कस हए

जवाफ काभमाफ होना ही भया ऩास एकरौता यासता था

सवार आऩ असपर बी तो हो सकत थ

जवाफ भ असपर हआ ही इतनी जमादा फाय था कक अफ सपर होना ही था जफ आऩ रगाताय भहनत कयत हो तो एक वक़त ऩय आकय आऩको ऩतका सपरता लभरती ह

सवार सपरता तमा होती ह

जवाफ खद को जानना सपरता ह खद क साथ ईभानदाय होना सपरता ह खद को हय ददन खद क बीतय छऩी शजततमो क परतत लशकषत कयना सपरता ह इॊसातनमत की सचची सवा कयना सपरता ह

सवार आऩको दख कय रगता ह कक आऩ एक फहत ही सरझ हए इॊसान ह तमा ऐसा वाकई ह

जवाफ दणखए सपरता लभरती ही तफ ह जफ आऩ खद सरझ जात ह आऩकी सपरता भ सफस फड़ी ददतकत आऩकी सोच औय आऩका जरयत स जमादा उरझा होना ही ह आऩ खद को सयर कयत हए कबी बी कभार की सपरता ऩा सकत ह

सवार आऩन खद को कस ऩामा

जवाफ जफ भन खद ऩय रवशवास कयना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भ लसपप एक शयीय स कहीॊ जमादा हॉ जफ भन खद स जड़ना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भझभ एक शजतत ह जो ऩयी तयह स भया दहत औय पराव चाहती ह जफ भन सपर रोगो स लभरना शर ककमा तो भन ऩामा कक हय सपर इॊसान खद स ईभानदाय ह हय सपर इॊसान जीवन क परतत हय ददन जफयदसत आबाय वमतत कयता ह हय सपर इॊसान मह सोचता ह कक उसका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह

उतसाह क साथ मशखय की मातरा का आनॊद

1 आऩ जीवन भ जो कछ बी तराश यह ह ठीक वही आऩको लभर जा यहा ह 2 बफरकर सऩषट कीजजम कक सपरता का आऩक लरए सचचा अथप तमा ह

3 आऩ इस रवशार बहभाॊड भ कस अऩनी छाऩ छोड़ना चाहत ह

4 आऩका जनन ही आऩक काभकाज का तर होना चादहम 5 हारात स जमादा परापत कयन क लरए हारात को जमादा गहय स भहसस

कयना शर कीजजए 6 अचछी चीज़ो औय अऩन ऻान को खशी खशी सबी स फाॊदटम 7 अऩन फाय भ जागरकता फढ़ान क लरए अऩनी ताकतो औय कभजोरयमो को

साफ़ साफ़ कागज ऩय लरणखम 8 अऩन सऩनो की हय ददन यचनातभक भानलसक तसवीय दणखम 9 हय ददन अऩनी फातचीत की करा ऩय गजफ की भहनत कीजजए 10 जीवन भ रीडयशीऩ की अहलभमत को सभणझम 11 हय रयशत भ जीत -जीत की भानलसकता रवकलसत कीजजम 12 फड़ी सोच क फड़ जाद का जभ कय समभान कीजजम 13 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 14 असपरता जसी कोई चीज़ नहीॊ होती वह तो लसपप तनखयन की लशा होती

ह 15 अऩनी सोच को एक अॊतयासरीम कॊ ऩनी क भालरक की तयह रवकलसत

कीजजम 16 अऩन जीवन क सऩषट जीवन भलम तनधापरयत कीजजम 17 आजीवन सीखत यदहम 18 रवनमर फतनम

19 अऩनी सोच ऩय भजशकर वक़त भ बी खड़ यदहम 20 इस दतनमा का परतमक वमजतत भहतवऩणप ह इसीलरए सबी का समभान

कीजजम 21 सपर इॊसान को असपर इॊसान स उसकी सोच अरग कयती ह 22 आऩकी काभमाफी आऩकी खद ऩय की गमी हय ददन की भहनत का ऩरयणाभ

होती ह 23 जजतना जमादा आऩ खद क फाय भ जानत ह उतना ही जमादा आऩ परापत

कयत ह 24 हय ददन की कड़ी भहनत ही चरऩमन को चरऩमन फनाती ह 25 आऩकी वशबषा फोरती ह 26 सपरता क लसदधाॊत ऩयी दतनमा भ एक साभान रऩ स कामप कयत ह 27 आऩक रयशत सचभच आऩकी सपरता भ अहभ बलभका तनबात ह 28 अऩन जीवन की कहानी खद लरणखम 29 आऩको भहान फनन स कौन योक यहा ह

30 आऩका भागपदशपन कौन कय यहा ह

31 सचची दोसती आऩका रवकास कयती ह 32 सभम ही आऩकी सचची ऩॊजी ह 33 ऩसतक ऩदढम औय जीवन भ आग फदढम 34 परकतत क साथ वक़त बफताम 35 सपर रोगो क साथ यह 36 आऩका बरवषम आऩक लरए एक कोय कागज क सभान ह 37 अऩन साथ हभशा अऩना रकषम काडप यणखम 38 रगाताय अऩनी समऩकप सची को फड़ा कीजजम 39 आऩ कस अऩन काभकाज क फाय भ दसयो स फात कयत ह

40 अऩन सऩनो को पोटो फरभ कया कय उनह अऩन साभन यणखम 41 अऩन सऩनो क फाय भ हय लभर सकन वारी जानकायी जरय इकठठा कीजजम 42 जीवन जीन क अऩन खद क तनमभ फनाइम 43 अऩन सऩनो का अनसयण कीजजम 44 आरोचना तफ होती ह जफ आऩ परगतत कयत ह 45 जफ तक आऩ ऩछत यहग आऩको जवाफ जरय लभरग 46 हभ सफ एक ह 47 अऩनी सऩषट ऩहचान कीजजम तमोकक आऩ अनभोर ह 48 आऩ जमादातय सभम खद क फाय भ तमा सोचत ह

49 अऩनी उजाप क सतय को हय ददन फढाम 50 हय भहीन कछ धन की फचत जरय कय 51 आऩक फाय भ सवोतभ फात मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह 52 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय वतत सोचत यहत ह 53 आऩका वमाऩाय आऩक दसयो क साथ अचछ रयशतो स हय ददन अचछा फनता

जाता ह 54 रोगो स फात कयत वक़त उनकी बावनाओॊ को जरय सऩशप कय 55 आऩकी जीत की सचचाई मह ह कक जीत आऩ अऩनी सोच ऩय हालसर कयत

ह 56 जजस ददन आऩको अऩन जीवन को जीन का एक सचचा भकसद लभर जाता

ह उस ददन आऩका सचभच जनभ होता ह 57 हय ददन नमा सीखना ही सचभच जीतना ह 58 भहान रोगो स जमादा स जमादा लभर औय उनस सीख 59 आऩ एक ददन दतनमा को अररवदा कह दग रककन आऩक काभ हभशा

रोगो क ददरो ऩय याज़ कय सकत ह

60 अऩन ददभाग भ अऩनी सपरता का एक तनजशचत नतशा जरय फनाम 61 आऩकी सचची ऩॊजी आऩकी सीखन की औय परगतत कयन की मोगमता ह 62 अऩन अतीत का समभान कय 63 हय ददन तनखाय कयत हए एक सभम क फाद चरऩमन की तयह जजम 64 जजस चीज़ ऩय आऩ धमान कजनदरत कयत ह वही चीज़ आऩक खद -फ-खद

नजदीक आ जाती ह 65 अऩन बरवषम का समभान कयत हए हय ददन वतपभान भ खफ भहनत कय 66 जजतना जमादा आऩको आऩक काभ की सभझ होती ह उतना जमादा आऩ

अऩन काभ स कभा सकत ह 67 सयर वमजतत सफका ददर जीत रता ह इसीलरए सयर फतनम 68 आऩका रकषम आऩकी शजतत को फढ़ा दता ह 69 आऩक भजफत जीवन भलम आऩको हय ददन भजफत फना दत ह 70 आऩकी आदत हय ददन आऩका जीवन चरा यही ह 71 अऩन जीवन की जजमभदायी अऩन हाथो भ र रीजजम 72 अऩन आस ऩास सचच रीडसप रवकलसत कयन क लरए आज ही आऩ खद

एक सचच रीडय की तयह वमवहाय कयना शर कय सकत ह 73 हय नए रवचाय क लरए हय ऩर खर यदहम 74 अऩन घय औय कायोफाय भ यचनातभक तौय-तयीको को फढ़ावा दीजजम 75 आऩक ऩास जो बी अचछ रवचाय ह उनह जरय सफस साॉझा कय 76 असपरता आऩको भजफत फनात हए आऩकी सवा कयती ह 77 अऩन आस -ऩास शानदाय रवचायो की औय हयी-बयी परकतत की तसवीय यणखम

78 अऩन घय औय कायोफाय की जगह ऩय अऩना रवज़न फोडप रगाम 79 अऩना वमजततगत ऩसतकारम जरय फनाइम

80 आऩका आऩक काभ क परतत परभ आऩक हय रकषम को फड़ी ही आसानी स ऩया कयवा दता ह

81 खद भ जफयदसत रवशवास ददखाएॉ 82 अऩनी तनमत ही आऩकी तनमतत तम कयती ह 83 एक भहान रवचाय आऩको जीवन भ भहान फनान की शजततशारी मोगमता

यखता ह 84 शकरगजाय होकय आऩ आज औय इसी ऩर स काभमाफ होन का चनाव कय

सकत ह 85 हभशा एक फचच की तयह जीवन क परतत उतसक फन यदहम 86 जफ आऩ खद तयतकी कयत ह तबी आऩ जीवन का सचचा आनॊद र ऩात

ह 87 खद को फहतयीन अॊदाज भ सफक साभन ऩश कयना जरय सीख 88 अऩन जीवन भ सॊगीत का सथान हय ददन जरय यख 89 खफ भहनत कयन क फाद अऩन शयीय औय भन को आयाभ जरय द 90 अऩनी रचच को धमान भ यख कय ही अऩन जीवन क भहततवऩणप चनाव

कय 91 अऩन आऩ स हय ददन ईभानदाय यदहम 92 अऩन रवचायो का सचचा समभान कयन क लरए उनह कागज ऩय लरख 93 जफ आऩ सन तो सच भ सन 94 एक सकायातभक वमजतत फनन क लरए सकायातभक शबदो को अऩनाम 95 चरऩमन आऩ अऩनी चरऩमन सोच की वजह स फनत ह 96 हय उस इॊसान को भाफ़ कय दीजजम जजसन जान-अनजान भ आऩका ददर

दखामा ह

97 अगय असपरता आऩको नहीॊ लभर यही ह तो सभझ लरजजम आऩ सपरता क भागप ऩय नहीॊ ह

98 अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनाइम 99 आऩका जीवन सभसत रवशव क नाभ आऩका सॊदश ह 100 अऩनी सपरता को भानवता क सवा भ सभरऩपत कय दीजजम

101 काभमाफ होना आऩका हक ह

एक घय ऐसा बी ह कजसभ एक घय ऐसा बी ह जजसभ हय ऩर आनॊद का परसाय होता यहता ह जजसभ हय ओय सचचाई का परकाश यहता ह मह सौबागम ह भया कक आऩको ऐस एक शानदाय घय स रफर कयान का अवसय भझ ईशवय न ददमा ह घय क परवश दवाय ऩय लरखा ह ldquoजननत ईशवय का आशीवापदrdquo औय जस ही आऩ घय क बीतय जात ह आऩका धमान ऩड़ता ह दीवायो ऩय लरख शानदाय औय असयदाय रवचायो ऩय रवचाय जस कक वह फदराव खद भ रकय आइए जो आऩ दतनमा भ दखना चाहत ह भहातभा गाॉधी जो आऩ सोचत ह वह आऩ फन सकत ह रवलरअभ जमस आऩकी शजतत अनॊत ह आऩक बीतय सौबागम क फदहसाफ फीज ह आऩका जनभ ऩयी ऩरथवी क लरए एक फलभसार वयदान ह औय आज आऩक जीवन का एक मादगाय ददन ह ऐस कभार क रवचाय ऩढ़ कय आऩ सचभच अऩनी अॊदरनी भहानता स जड़ जात ह औय जस ही आऩ इन दीवायो क सॊदशो को ऩढ़त हए घय क बीतय परवश कयत हो तो आऩका धमान जाता ह एक लरख हए सॊदश ऩय जो कह यहा ह कक अगय खद को जानना ह तो इस कभय भ परवश कीजजए औय जस ही आऩ उस कभय भ परवश कयत ह आऩ ऩात ह एक रवशार ऩसतकारम जो चचलरा चचलरा कय कह यहा ह कक इन ऩसतको भ भानवता का अभय औय सपर इततहास लरखा ह ऩसतको क शीषपक ऩढ़ कय ही आऩक बीतय एक नई उजाप का उदम होन रगता ह जस रोक वमवहाय सोचचम औय अभीय फतनए आऩक अवचतन भन की शजतत फड़ी सोच का फड़ा जाद औय आऩक अॊदरनी रवकास स जड़ी हजायो ऩसतक वहाॊ यखी हई ह

उस कभय भ एक शानदाय फात मह लरखी थी कक अतसय अचछी ऩसतक ऩढ़ कय इॊसान की सोमी हई अॊदरनी शजतत जाग जाती ह औय कपय वो इततहास

यचन की ओय अगरसय हो उठता ह हय इनसान इततहास यच सकता ह हय इॊसान खद को खोद कय खद को ऩा सकता ह जजसन बी खद को खोदा ह औय खद ऩय भहनत की ह उसक हाथ कबी खारी नहीॊ यह उसन जीवन की भहान दौरत को ऩामा ह जीवन की भहान दौरत ह आऩक बीतय छऩी ईशवय की जमोतत आऩकी सचची ऩहचान मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह आऩ सौबागम क फचच ह आऩ एक फलभसार वयदान ह ऩयी कामनात क लरए मह घय की कथा तो कालऩतनक थी ऩय इसका सॊदश ऩयी तयह सचचाई ऩय दटका ह कक आऩकी अॊदरनी शजतत सचभच अनॊत ह आऩ अनभोर ह

एक फमभसार जीवन क मरए 51 गरभॊतर

1 जीवन को एक अवसय क रऩ भ दणखए 2 जीवन को हय ददन परगतत कयन क एक शानदाय भौक क रऩ भ दणखए 3 हय ददन अऩन ददभाग को नमा सीखा कय ऩोरषत कीजजए 4 अऩनी हय हाय स सीखना शर कीजजए 5 सचची परशॊसा कयन की करा सीणखए 6 टी वी कभ दणखए औय ककताफ जमादा ऩदढ़ए 7 जीवन का एक रकषम फनाइम 8 हय ददन खद को पमाय कीजजए 9 सपर रोगो क साथ दोसती कीजजए 10 अऩन काभ भ कभान स जमादा सीखन ऩय धमान दीजजए 11 ऩयी भानवता क लरए आऩका जनभ एक सौबागम ह 12 अऩन जीवन भ सॊगीत को योजाना सथान दीजजए 13 हफत भ ककसी एक ददन ऩय हफत का पीडफक कागज ऩय लरणखए 14 आऩकी आज की सोच ही आऩका आग चर कय सच फन जाती ह 15 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजए 16 अऩन जीवन को भानवता की सवा कयन का एक फलभसार अवसय

सभणझए 17 आजीवन आऩ खद को हय ददन नमा सीखन क लरए सभरऩपत कय दीजजए 18 खद स हय ददन ईभानदाय फन यदहए 19 आज ही अऩनी वमजततगत राइबयी फनाइए 20 हय ददन सभम तनकार कय ईशवय का धनमवाद जरय कीजजए तमोकक मह

शानदाय जीवन आऩको उनही की फदौरत वयदान क तौय ऩय लभरा ह

21 हय भजशकर को परगतत कयन क एक अवसय क रऩ भ दणखए 22 अभीयी एक सोच ह 23 काभमाफी एक सोच ह 24 खशहारी एक सोच ह 25 जमादा भहनत आऩको जमादा रवकास दती ह 26 हय ददन खर कय जीम 27 इस दतनमा भ आऩक लरए ककसी बी चीज़ की कोई कभी नहीॊ ह 28 अऩन रकषमो को साफ़ साफ़ आज ही कागज ऩय लरणखए 29 अऩन रकषमो को हय ददन कागज ऩय लरणखए 30 अऩन रकषमो ऩय हय ददन भहनत कीजजए 31 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 32 फड़ रकषम आऩका फड़ा तनभापण कयत ह 33 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 34 जीवन को एक वयदान क तौय ऩय आज ही कफर कय रीजजए 35 अऩन जीवन को फलभसार फनान की जजमभदायी आज ही खद र रीजजए 36 लशकामत कयन भ सभम भत रगाइए 37 हय इॊसान स कछ न कछ जरय सीणखए 38 हय ददन अऩन खद क अनबवो स कछ न कछ नमा सीणखए 39 आऩ जीवन भ सपर होना फहत ही आसानी स सीख सकत ह 40 आऩकी अॊदरनी शजतत अनॊत ह 41 आऩका हय ददन सफस ऩहरा कामप ह अऩन आऩ को खश यखना 42 आऩ अऩन जीवन भ काभमाफ होन की कोई ठोस वजह खोजजए 43 अऩन आऩ को भानवता क लरए एक ऩॊजी की तयह रवकलसत कीजजए 44 रगाताय भहनत रगाताय जीत की सफस ऩहरी जरयत ह

45 आसान यासतो ऩय चरना आऩक जीवन को फहद भजशकर फना दता ह 46 अऩनी हय हाय स गजफ की लशा रकय उस जीत भ फदर दीजजए 47 अऩन जीवन को खफ समभान दीजजए 48 आऩका अॊदरनी सॊसाय आऩक फाहयी सॊसाय का तनभापण कयता ह 49 आऩ आज वही ह जसा फनन क लरए आऩन आज तक खद को तमाय

ककमा ह 50 आऩ बरवषम भ वही होग जसा आऩ हय ददन खद को फनात चर जाएॊग 51 आऩ आज अबी इसी ऩर स एक शानदाय सपर अथपऩणप जीवन जीन का

साहलसक तनणपम र सकत ह

एक ववजता सोच की शकतत

1 आऩकी सोच ही आऩक जीवन क सच का तनभापण कयती ह 2 एक रवजता की सोच का भतरफ ह हय ददन नमा सीखन की सोच 3 एक रवजता की सोच आऩको एक फलभसार वमजतततव परदान कयती ह 4 आऩकी सोच ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह औय आऩ इस कबी बी फदर

सकत ह 5 आऩकी सोच ही आऩको हय ददन आऩको ददखन वारी आऩकी दतनमा

ददखाती ह 6 आऩकी सोच ही आऩकी भौजदा हय खशी औय गभ क लरए जजमभदाय ह 7 आऩ हय ददन अऩनी सोच को फड़ा औय फहतय कय सकत ह 8 सोच ही आऩको भहान औय सभदध फनाती ह 9 आज आऩ अऩन जीवन भ जजस बी भकाभ ऩय ह लसपप अऩनी सोच की

वजह स ह

10 आऩ जहाॊ बी जात ह औय जो बी कयत ह उसभ आऩकी सोच साफ़ झरकती ह

11 आऩकी सोच का आकाय आऩक आतभ ऻान ऩय आधारयत होती ह 12 आऩकी सोच खद-फ-खद शानदाय हो जाती ह जफ आऩ अऩन जीवन को

एक शानदाय रकषम का उऩहाय द दत ह 13 आऩ भानवता की सवा कयन की सोच को अऩनाकय एक रवजता की सोच

को अऩना सकत ह

एक शानदाय औय फमभसार जीवन की 52 याह

1 जीवन अऩन बीतय छऩी जफयदसत अॊदरनी शजतत को भानवता क रवकास भ उऩमोग कयन का एक भहान अवसय ह

2 परमास न कयना सचची हाय ह 3 आरोचक खद की ओय कबी नहीॊ दखता 4 आऩकी नज़य ही आऩको ददखन वार नज़ायो क लरए जजमभदाय ह 5 हय इॊसान अऩन बीतय भहानता क अनॊत फीज सॊजोए हए ह 6 आऩकी औय आऩकी सपरता भ आऩका सपर होन का तनणपम ही फाधा

ह 7 खद ऩय रवशवास कयक ही खद ऩय रवशवास कयना आता ह 8 फड़ा इॊसान को उसकी भहनत औय सवा कयन की सोच फनाती ह

9 खद को खोदना ही खद को खोजना ह 10 कोई बी भजशकर अऩन बीतय भौक क फीज लरए बफना नहीॊ आती 11 अऩन जीवन क असयदाय फनान क लरए खद को असयदाय फनान स

शरआत कीजजए 12 जफ आऩ सचभच दखना चाहग तो आऩको हय जगह भौक ही भौक

ददखन रगग 13 ईशवय आऩको हय ऩर जफयदसत परभ कय यहा ह 14 खद को काभमाफ होन क लरए तमाय कयना आऩकी खद की ही

जजमभदायी ह 15 सवा कयन की सोच ही आऩकी जजॊदगी को फलभसार फनाती ह 16 सनना बी एक तयह का सीखना ही तो ह 17 ऩाना ह तो खद भ जर यही ईशवय की जमोतत को ऩाम

18 आऩ लसपप तफ तक ही खद क फाय भ छोटा सोचत ह जफ तक आऩ अऩनी अनॊत अॊदरनी शजतत स अनजान ह

19 आऩ अऩनी तीसयी आॉख खोरन क लरए आतभ ऻान रना शर कय सकत ह

20 अऩन आज की सदऩमोग कीजजए 21 आऩकी सोच आऩकी ऩयी दतनमा क नाभ रवयासत ह 22 आऩका नाभ आऩक मोगदान स ही चभकता ह 23 आऩ सतम का ऩारन कयत कयत सवमॊ बी सतम ही सतमको परापत हो

जात ह 24 आऩ ईशवय दवाया अनॊत शजतत क उऩहाय क साथ इस धयती ऩय बज

गए ह चाह मह आऩको ऩता हो मा न ऩता हो 25 अऩन करयमय का चनाव कयत वक़त अऩन जनन को अऩना भागपदशपक

फना रीजजए 26 आऩको आऩक अरावा कोई अभीय सभदध औय सहतभॊद नहीॊ फना सकता 27 उतसाह का भहासागय आऩक अऩन ही बीतय ह 28 आऩका जीवन आज जसा बी ह आऩक अऩन ही कायण ह

29 खद स सचच रोग हो भानवता को याह ददखात ह 30 आऩकी खशी आऩक अऩन ही बीतय ह 31 आऩका सौबागम आऩक अऩन ही बीतय ह 32 आऩ अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनान का शानदाय कामप कय सकत

ह 33 आतभ ऻान परापत कयक कोई बी इॊसान अऩन जीवन को सचभच साथपक

फना सकता ह

34 अऩन जीवन क सफ़य को मादगाय फनान क लरए अऩन ही जीवन स हय ददन सीखना शर कय दीजजए

35 जजतना आऩ पमाय फाॉटग उतना ही जमादा आऩको पमाय फाॉटन का सौबागम लभरगा

36 आऩका नाभ आऩकी हय ददन की गमी ईभानदाय भहनत स ही इततहास फन सकता ह

37 जजस जीवन का कोई रकषम ह वही जीवन सही भामनो भ साथपक ह 38 पमाय इॊसान खद को हय ददन सपरता क लरए तमाय कीजजए 39 एक फाय जफ आऩक अऩन ही बीतय उजारा हो जाता ह तफ आऩका

जीवन सदा सदा क लरए योशन हो जाता ह 40 हय ददन सीखना ही हय ददन जीतना ह 41 वक़त बी तफ आऩक साथ होता ह जफ आऩ खद खद क साथ होत ह 42 जीवन भ जजस बी चीज़ की कीभत ह वह आऩको खद ही हालसर कयनी

होती ह

43 हय ऩर आऩ जीवन को एक ऩयभ आनॊद की तयह जी सकत ह 44 आऩ अऩनी खद क परतत सोच को फदर कय अऩन ऩय जीवन को फदर

सकत ह

45 एक फाय आऩको उऩमोग कयन की करा आ जाए तो जीवन भ ऐसा कछ बी नहीॊ जो उऩमाग भ न आ सक

46 जीवन एक शानदाय अवसय ह 47 जीवन एक फलभसार सौबागम ह 48 जीवन एक भहान सौगात ह 49 आऩकी सोच ही आऩका जीवन चरा यही ह 50 जजस याह ऩय भजशकर नहीॊ उस याह ऩय भौका नहीॊ

51 फड़ा सॊकट भतरफ फड़ा सौबागम 52 आऩ एक फाय खद क हो जाएॉ कपय साया जहान आऩका हो जाएगा

एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ

1 हय ऩर ऩयभातभा आऩको पमाय खशी शाॊतत औय आनॊद की शाशवत सौगात द यहा ह

2 हय इॊसान अऩन आऩ भ फलभसार औय अनठा ह 3 एक फाय ददर स मह भहसस कीजजए कक हय इॊसान फहद गणी ह औय कपय

जाद दणखम 4 आऩ जो अऩन लरए चाहत ह उस ऩहर दसयो को दना सीणखम 5 जवाफ तो सवार भ ही छऩा होता ह मह तो दखन वार ऩय तनबपय कयता ह 6 जीवन भ परभ आऩकी रह को ताज़ा कयन वारा एक फहद खास तोहपा ह 7 हय ददन को खद ऩय भहनत कयत हए मादगाय फनाम 8 हय ददन खलशमाॉ अऩन चायो तयप फाॊट औय हय ददन खश यह 9 जजस फात को हभ सच भन रत ह वही हभाय लरए सच फन जाती ह बर ही

वह असलरमत भ झठ ही तमो न हो 10 भजफत इॊसान हभशा भजफत रयशत फनाता ह 11 हभ सबी खद भ अनभोर उऩहाय सॊजोए हए ह 12 सच का समभान कयना सचभच आऩको फलभसार फनाता ह 13 आऩकी आॉख ही आऩक सऩनो की सचचाई फमाॉ कय दती ह 14 आऩकी सोच हय ददन आऩकी जजॊदगी का तनभापण कयती ह 15 पमाय इॊसान आऩ एक फाय अऩन अॊदय की आॉख तो खोलरम आऩक चायो

तयप गजफ क परगतत क अवसय हय ऩर भौजद ह 16 गरत मा सही हारात नहीॊ आऩका नजरयमा होता ह 17 अऩन आऩ को जानना एक ददन आऩकी सफस फड़ी खशककसभती फन जाती ह 18 आऩक डय आऩकी काभमाफी क दयवाजो ऩय तारो क सभान ह

19 आऩ जो दखत ह औय सनत ह वही आऩकी सोच फन जाती ह 20 सवा कयक खश यहना राज़भी ह 21 आऩ दसयो को कवर वही दीजजए जो आऩ अऩन लरए चाहत ह 22 आऩक काभ बफलकर ऩयी तयह स आऩकी सोच की तसवीय होत ह 23 पमाय इॊसान इस जगत भ कोई अऩना ऩयामा ह ही नहीॊ ह 24 आऩकी काभमाफी भ सभसत रवशव की खशहारी छऩी ह 25 हय ददन खद को खद ऩय रवशवास कयना आऩ जरय लसखाम 26 खद स ईभानदाय होकय ही आऩ खद की नज़यो भ ऊॉ चा उठ सकत ह

27 अऩन आऩ स जड़ना ही खशी का भर भॊतर ह

काभमाफ ववचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

1 हय नई भजशकर आऩक साभन एक नए भौका का ऩरयचम कयाती ह 2 आऩकी काभमाफी ईशवय का सऩना ह 3 आऩकी काभमाफी समऩणप भानवता की काभमाफी ह 4 आऩका रकषम भानवता की सवा कयना होना चादहए 5 आऩ हय ददन खद को एक फहतय इॊसान फना सकत ह 6 आऩ हय वमजतत को ददर स आदय द सकत ह 7 आऩ हय ददन अऩन जीवन क परतत सचचा आबाय वमतत कय सकत ह 8 आऩ हय उस वमजतत को खशी-खशी भाफ़ कय सकत ह जजसन कबी जान

अनजान भ आऩका ददर दखामा ह 9 आऩको हय ददन मह जरय सोचना चादहए कक आज आऩ अऩन जीवन को

एक नए सतय तक कस र कय जा सकत ह 10 आऩका जीवन आऩक दवाया गामा गमा एक शानदाय गीत होना चादहए

11 आऩ जजतना जमादा सवा कयन क लरए सभरऩपत होग उतना ही जमादा आऩका जीवन सौबागम क गीत गाएगा

12 आऩ एक नई तनगाह अऩना कय बफरकर एक नई दतनमा को दखन का सौबागम परापत कय सकत ह

13 हय ददन नमा सीख कय हय ददन को समभान दीजजए 14 खद को आज ही ककसी ईभानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दीजजए

कीकजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

आऩ अऩनी सफह को सचभच हय ददन योशन कय सकत ह आऩ हय सफह अऩन आऩ को ऩय ददन क लरए फलभसार अॊदाज भ तमाय कय सकत ह आऩ सफह जलदी उठन का साहलसक तनणपम र सकत ह आऩ हय सफह 5 फज उठ कय अऩनी हय सफह को समभान द सकत ह आऩ हय सफह उठत ही ईशवय को धनमवाद द सकत ह कक उनहोन आऩको एक नमा ददन वयदान क तौय ददमा ह औय आऩ इस ददन का सदऩमोग कयन का सचचा वामदा खद स कय सकत ह आऩ अऩन भाता रऩता क लरए शकरगजाय हो सकत ह आऩ अऩनी अचछी सहत क लरए ईशवय क शकरगजाय हो सकत ह कपय आऩ 20 लभनट की कसयत मा मोग कयन का गजफ का शजततशारी तनणपम र सकत ह उसक फाद आऩ 20 लभनट तक कोई बी परयणादामी ऩसतक ऩढन का अभय तनणपम र सकत ह ऩसतक जस रोक वमवहाय साध जजसन समऩतत फच दी आऩकी भतम ऩय कौन योएगा सोचचम औय अभीय फतनए सोच फदरो जजॊदगी फदरो फड़ी सोच का फड़ा जाद सपरता का अभत रयच डड ऩअय डड औय मह सची सचभच फहत ही रमफी ह तमोकक आऩ ककसी बी हद तक खद का तनभापण कय सकत ह औय दसया सीखन की सचभच कोई सीभा ह ही नहीॊ ह

कपय आऩ 20 लभनट तक अऩना जनपर लरख सकत ह जनपर का अथप एक ऐसा सथान ह जहाॉ आऩ हय ददन की अऩनी परगतत की मोजना हय ददन की लशा हय ददन की कामप सची हय ददन की परयणा हय ददन की यचनातभक यणनीतत लरख सकत ह जनपर लरखना एक फलभसार आदत ह आऩ आज स ही जनपर लरखन की अभय आदत शर कय सकत ह आऩ अऩन जनपर भ कभार क परयणा दन वार अभय रवचाय सफह सफह लरख कय खद को एक फलभसार रवजता की तयह तमाय कय सकत ह

म तीन ऐस गजफ क साहलसक तनणपम ह जो आऩको एक शानदाय असयदाय औय फलभसार जीवन का भागप ददखाएॊग आऩ अनभोर ह आऩ एक शानदाय जीवन जीन क सचचा हक यखत ह आऩ आज स ही अऩनी सोच को एक शानदाय जीवन जीन क लरए तमाय कय सकत ह माद यणखम दयी हभशा आऩकी तयप स होती ह आऩका बागम औय आऩकी सपरता तो हय ऩर आऩक ऩास आन क लरए फताफ होती ह आऩ आज स ही जीतन की तनणपम रकय जीतन की शरआत कय सकत ह

आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह

कछ ह ऐसा आऩक बीतय जो आऩको ऩयभ सौबागमशारी फनाता ह

कछ ह ऐसा ऻान जीवन भ जजस आतभ-ऻान कहा जाता ह जजस ऩाकय आऩ जीवन की समऩणपता को ऩा रत ह

कछ ह ऐसा हय सॊकट भ जो आऩका गजफ का रवकास कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी सोच भ जो आऩक जीवन क सच का हय ददन तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी तनमत भ जो हय ददन आऩकी तनमतत का तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩक दखो भ जो आऩको सख क लरए तमाय कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय ददन भ जो आऩको उऩहाय जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा हय हाय भ जो आऩको जीत जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा फड़ी सोच भ कभार का जाद जो आऩका फड़ा पामदा कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय इॊसान भ जो आऩक लरए लशा होता ही होता ह

कछ ह ऐसा आऩक जीवन क रकषम भ जो आऩक जीवन को भहान फनाता ही फनाता ह

आऩ सौबागम की सॊतान ह आऩका जनभ ऩयी सजषट क लरए ऩयभ सौगात ह

खद ऩय रवशवास कय औय इततहास यच

चमरए एक शानदाय कजॊदगी की ओय

1 सीखन की सोच ही जीतन की सोच का तनभापण कयती ह 2 एक इॊसान जीवन भ ककतना परापत कय सकत ह इसकी सीभा लसवाम उस

इॊसान क कोई दसया तम नहीॊ कय सकता 3 अऩन काभ (योजगाय) ऩय गवप कीजजए 4 आऩ जीवन भ काभमाफ होन की औय आग फढ़न की हय एक करा

तनजशचत रऩ स सीख सकत ह 5 आज स ही आऩ अऩन बीतय छऩी अनॊत शजततमो क परतत जागरक होना

शर हो जाइए 6 आज का ददन आऩको जीवन की ओय स लभरा एक शानदाय वयदान ह 7 सफह जलदी उदठए 8 हय ददन अऩन ददन की शानदाय शरआत कीजजए 9 तनसवाथप सवा भ आनॊद छऩा होता ह उस आनॊद का जीवन भ हय ददन

आनॊद जरय रीजजए 10 हभ सफ आऩस भ जड़ हए ह हभ सफ एक ह

11 जहान तक आऩ दख सकत ह वहाॊ तक आऩकी दतनमा परती चरी जाती ह

12 आऩ खद को एक शानदाय औय कभार की जजॊदगी जीन क लरए आज स ही तमाय कय सकत ह

13 आऩकी नमा सीखन की शजतत आऩक लरए एक फहत फड़ी सौगात ह 14 आऩक सॊकट आऩक ऩतक शबचचॊतक होत ह 15 भजशकर यासता ही आऩक जीवन को तनखायता ह

जीवन क 21 ऩयभ सतम

ऩयभ सतम 1

चभतकाय वो नहीॊ होता ह जो सॊकट की जसथतत भ आऩक साथ होता ह फजलक वो ह जो सॊकट का साभना कयत हए आऩक अॊदय होता ह

ऩयभ सतम 2

रवऩजतत भ ही समऩजतत का वास होता ह

ऩयभ सतम 3

हय ऩर आऩकी सोच आऩका बागम फना यही ह

ऩयभ सतम 4

कछ बी नमा सीखन क लरए सयर खरा औय उतसक रदम चादहए

ऩयभ सतम 5

जजतना आऩ खद को शजततशारी भानत ह उसस कहीॊ जमादा आऩ शजततशारी ह

ऩयभ सतम 6

हय एक इॊसान क बीतय काबफलरमत फदहसाफ ह

ऩयभ सतम 7

हयानी इस फात की नहीॊ ह कक आऩभ भता नहीॊ ह फजलक इस फात की ह कक आऩको अऩनी भता का ऩता ही नहीॊ ह

ऩयभ सतम 8

हय ऩर आऩक लरए खद को पमाय कयन का औय खद की सचची कदर कयन का एक भौका ह

ऩयभ सतम 9

जो आऩक अऩन बीतय होता ह वही आऩको चायो ओय ददखाई ऩड़ता ह

ऩयभ सतम 10

आऩकी जजॊदगी आऩक हाथ अगय ऐसा सभझोग तो आऩको लभरगा हय ऩर समऩणप रवशव का साथ

ऩयभ सतम 11

आऩक जीवन भ दबापगम आता ही आऩको सौबागम क भागप ऩय र कय जान क लरए ह

ऩयभ सतम 12

लभरता ह सफ कछ महाॉ उस जो ऩय ददर स भाॉगन की दहमभत यखता ह

ऩयभ सतम 13

अगय आऩको ऐसा रगता ह कक आऩको बगवान स कछ बी नहीॊ लभर यहा ह तो भय पमाय भनषम अबी इसी ऩर अऩन दोनो हाथो को खोर रीजजए तमोकक बगवान की कऩा हय ऩर हय एक ऩय फयस यही ह

ऩयभ सतम 14

भहनती आदभी जफ चरता ह तो उस हय तयप स सराभ फजत ह

ऩयभ सतम 15

हय ऩर आऩक ऩास एक चनाव ह कक आऩ अऩनी जजॊदगी को जो चाहो फना रो

ऩयभ सतम 16

बगवान की कऩा हय सचच औय भहनती इॊसान ऩय होती ह औय जफ होती ह तो भसराधाय होती ह

ऩयभ सतम 17

सभम फदर जाता ह औय ऩरयजसथतमाॉ फदर जाती ह भगय जीवन क भर सतम नहीॊ फदरत

ऩयभ सतम 18

आऩ अऩन ददभाग का भजशकर स 1 ही उऩमोग कयत ह

ऩयभ सतम 19 अऩन ददभाग को हय ददन खयाक दीजजए तमोकक एक फाय अगय इसन अऩन जाद ददखाना शर कय ददमा तो आऩक सात ऩशतो को भाराभार कय दगा

ऩयभ सतम 20

अऩन बीतय भौजद ऩयभ ऩजम ईशवय को हय ऩर समभान दीजजए

ऩयभ सतम 21

आऩ अनभोर ह आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह

जीवन भ एक चनौतीऩणथ रकषम होन क पामद

जफ आऩ खद को ककसी शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दत ह तबी स ही आऩक आतभ रवकास का फलभसार सफ़य शर हो जाता ह

आऩ हय ददन नमा सीखना शर कय दत ह

आऩ हय इॊसान की कदर कयना शर कय दत ह

आऩ नई-नई औय परयणादामी ऩसतक ऩढना शर कय दत ह

आऩ खद को एक भहततवऩणप वमजतत भानना शर कय दत ह

आऩ भहानता स सजा जीवन जीना शर कय दत ह

आऩ जीवन को एक उऩहाय की तयह जीना शर कय दत ह

आऩ हय ददन उतसादहत औय खश यहना शर कय दत ह

आऩ रगाताय रवकास कयना शर कय दत ह

आऩ एक शानदाय सहत का आनॊद हय ददन रना शर कय दत ह

आऩ हय ददन आचथपक रऩ स सभदध होत जात ह

आऩ एक चरऩमन फनन की याह ऩय चर दत ह

आऩ हय ददन जीवन क परतत एक सकायातभक औय उतऩादक नजरयमा यखना शर कय दत ह

आऩ भानवता क लरए एक ऩॊजी फन जात ह

आऩ खद स सचचा पमाय कयन रगत ह

जीवन

जीवन एक उऩहाय ह

जीवन एक शानदाय अवसय ह

जीवन एक सौगात ह

जीवन एक फलभसार भौका ह खद को ऩा रन का

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक खफसयत सौबागम ह

जीवन सीखना ह

जीवन एक उतसव ह

जीवन एक आनॊद ह

जीवन ईशवय का परसाद ह

जीवन खद को जानना ह

जीवन एक गजफ का फशतप उऩहायो स सजा गरदसता ह

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक सौबागम ह

जीवन जीवन ह

भहान रोगो की भहान आदत

भहान रोग धमान स साभन वार की फात सनत ह

भहान रोग अऩन जीवन को एक चनौतीऩणप रकषम का वयदान दत ह

भहान रोग हय ददन अऩन काभकाज क तहत अऩन जनन का ऩीछा कयत ह

भहान रोग अऩन जीवन को भहान रवचायो क अनसाय चरात ह

भहान रोग भहान रोगो क साथ ही अऩन सभम को बफतान का चनाव कयत ह

भहान रोग रगाताय अचछी ककताफ ऩढ़त ह

भहान रोग रगाताय असपर होत ह इसीलरए भहान रोग कबी न रकन वार होत ह तमोकक असपरता उनह डयाती नहीॊ ह फजलक उनह ओय जमादा तनखयन क लरए पररयत कयती ह

भहान रोग हय ददन नमा सीखत ह

भहान रोग अऩन कामो क कायण भहान फनत ह

भहान रोग रगाताय खद क ही रयकॉडप को तोड़त यहत ह

भहान रोग खद की जफयदसत कदर कयत ह

भहान रोग सचभच भहान सोच क भालरक होत ह

भहान रोग हभशा बीड़ स हट कय सोचत ह

भहान रोग रोगो की सचची कदर कयत हए उनस नमा सीखत यहत ह

भहान रोग रोगो की सवा कयन भ भादहय होत ह

भहान रोग भाॉ क ऩट स भहान ऩदा नहीॊ होत जीवन भ अऩन दवाया ककम गए कामो स वह भहान फनत ह औय ऐसा अवसय ईशवय न आऩको बी परदान ककमा ह

आऩ बी आज स एक भहान इॊसान क तौय ऩय अऩन जीवन को जीन का चनाव कय सकत ह

सॊकट क 15 शानदाय राब

1 सॊकट आऩका रवकास कयता ह 2 सॊकट आऩको नमा लसखाता ह 3 सॊकट आऩको सौबागम का उऩहाय दता ह 4 सॊकट आऩको एक फहतय वमजतत फनाता ह 5 सॊकट तफ तक आता ह जफ तक आऩभ नमा सीख कय जीवन भ नए सतय

तक ऩहॉचन की सचची मोगमता भौजद यहती ह 6 सॊकट आऩका सपरता क सफ़य भ सचचा साथी होता ह 7 सॊकट को सॊकट की तयह दखना ही सचभच सॊकट ह 8 सॊकट एक ऐसा शानदाय भौका होता ह जो आऩको हय हार भ सौबागम का

ही वयदान दना चाहता ह 9 सॊकट अगय ह तो आग फढ़न क औय नमा सीखन क यासत ह 10 सॊकट आऩको ददखाई तफ दता ह जफ आऩका अऩन रकषम क परतत सभऩपण

कभ हो जाता ह

11 सॊकट का साभना कीजजए औय सॊकट को जीत रीजजए 12 हय ददन एक नमा सॊकट आऩक जीवन भ आना आऩक लरए फहद शब ह 13 नमा सॊकट भतरफ नमा अवसय जीवन भ एक कदभ औय आग फढ़न का 14 सफस फड़ा सॊकट ह आतभ-अऻान 15 आऩको सॊकट दना जीवन का एक नामाफ तयीका ह आऩको आऩकी अॊदरनी

शजतत स लभरान का

सपरता क 15 अभय सतर

1 अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का वयदान दीजजम 2 हय ददन सफह जलदी उदठए औय अऩनी सोच को जफयदसत सकायातभक

फनान क लरए परयणादामी ऩसतक ऩदढ़ए 3 हय ददन को खद को ओय जमादा भजफत फनान क एक शानदाय अवसय

क तौय ऩय दणखम 4 हय सॊकट को तयतकी क फलभसार भागप की तयह दणखम 5 हय इॊसान स कछ न कछ सीखन की सोच यखत हए फात कीजजए 6 हय ददन नमा सीख कय हय ददन का समभान कीजजए 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजम 8 हय ददन कसयत कीजजए तमोकक आऩकी सहत आऩकी काभमाफी भ अहभ

बलभका तनबाती ह 9 आऩकी अॊदरनी शजतत वाकई अनॊत ह 10 आऩ ऩय रवशव क लरए फहद बागमशारी ह 11 आऩकी सफस फड़ी काबफलरमत आऩकी हय ददन रवकास कयत हए आऩक

जीवन को फलभसार फनान की काबफलरमत ह 12 आऩ अऩन बागम क एकरौत भालरक ह 13 सपरता का सचचा अथप ह खद को हय ददन इॊसातनमत क रवकास भ

साथपक मोगदान क लरए रामक फनाना 14 सपर होन का सथामी तयीका ह खद को इॊसातनमत की जडो को ऩोषण

दन क लरए फशतप सभरऩपत कय दना

15 आऩ एक मोगम फलभसार औय शानदाय वमजतत ह

सौबागम क ऩववतर फीज

1 जफ आऩ खद सही नजरयमा अऩना रत हो तो आऩका सफ कछ सही हो जाता ह

2 ककसी इॊसान को आऩ ककस तनगाह स दखत हो साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह

3 ककसी काभ को आऩ ककस तनगाह स दखत हो इसक भताबफक ही आऩको वह काभ ऩरयणाभ दता ह

4 आऩकी सोच क ऊऩय उठन स ही आऩ ऊऩय उठ सकत ह 5 जो आऩको जीवन भ खशी औय काभमाफी क लरए जरयी साभान चादहए वह

सफ कछ ऩहर स ही आऩक बीतय ह 6 हय एक इॊसान अदबत ह तमोकक हय इॊसान क ऊऩय ईशवय की ऩरवतर भोहय

ह 7 जो इॊसान खद स खश ह वही दतनमा की खशहारी भ सचचा मोगदान द यहा

8 हय ऩर हभ सफक ऩास अनॊत-अनॊत भातरा भ वह सफ कछ भौजद ह जो हभ सचभच खश यहन क लरए चादहए

9 आऩ जीवन क परतत शकरगजाय हो कय फहत जमादा बागमशारी फन सकत ह 10 खद परकाश का ददवम सतरोतर फन जाना ही सवोतभ उऩाम ह 11 आऩको जफ आऩ ही नहीॊ ऩहचान यह ह तो ककसी औय स ऐसी उमभीद तमो

कय यह ह

12 गजफ ह कक हय इॊसान खद भ अनॊत शजतत का भहासागय सॊजोए हए ह कपय बी कहता ह कक भ कभजोय हॉ

13 आऩका बागम बगवान जी नहीॊ फजलक आऩकी सोच औय आऩकी भहनत लरखती ह

14 भहनती क घय रकषभी नाचती ह 15 काश भ आऩको फता ऩता कक आऩका जीवन ककतना जमादा अनभोर ह 16 जो खद को याह ददखा ऩा यहा ह सचभच दसयो को याह ददखान का हक बी

उसको ही ह 17 सफ कछ तो अबी इसी ऩर भौजद ह हभ ही कहीॊ औय उरझ हए ह 18 काभमाफ होन का भौका तो हय एक को हय ऩर लभर यहा ह ऩय भौका

अतसय भसीफतो क कऩड़ ऩहन कय आता ह 19 रवऩजतत भ ही समऩजतत छऩी होती ह 20 हभ सफ फदहसाफ शजतत क अनभोर खजान ह 21 कछ ह हभाय बीतय जो सदा स ह औय सदा ही यहन वारा ह 22 दखन वार क अॊदय ही वह छऩा ह जजस दखा जाना ह 23 आऩक भाता-रऩता का आशीवापद आऩक लरए फहद अनभोर ह 24 हभ खद ही खदा स लभरन भ सफस फड़ी ददतकत ह 25 साफ़ तनमत आऩको गजफ की फयकत दती ह 26 भजफत इयाद भजफत ऩरयणाभ रकय आत ह 27 जफ इॊसान खद भ रवशवास ददखाना शर कयता ह वहीी स उसक जीवन भ

चभतकाय होना शर हो जात ह 28 रगाताय खद ऩय भहनत कीजजए मह इकरौता तयीका ह ईभानदाय सपरता

परापत कयन का 29 आऩक दवाया आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩको फनान

औय लभटान दोनो की जादई मोगमता यखत ह 30 खोज यह ह हभ बफना मह ऩता कक खोजना तमा ह

हय ददन खद को ननखाय

हय ददन खद को तनखायना ही हय ददन का सचचा समभान कयना ह आऩकी हय ददन सफह उठत ही ऩहरी पराथलभकता मह होनी चादहए कक ककस तयह आऩ आज क ददन को अऩन जीवन का सफस खास ददन फना सकत ह हय नमा ददन आऩको नए अवसय उऩहाय भ दता ह हय ददन का खर ददर स सवागत कीजजए हय ददन नमा सीणखम हय ददन खद को पमाय दीजजम हय ददन अचछ औय सवमॊ को ऩोरषत कयन वार रवचाय सतनम हय ददन अऩन नजरयए को गजफ का सकायातभक यणखम हय ददन आऩकी सचची सवा कयत हए आऩको अनको परगतत क अवसय दता ह आऩ हय ददन नए रोगो स लभर हय ददन नए सऩन दख हय ददन कसयत कय हय ददन का आबाय खर ददर स परकट कय हय ददन अऩन रकषम की ददशा भ जरय फढ़ हय ददन एक कदभ उठाम अऩन आऩ को एक फहतय इॊसान फनान की ददशा भ हय ददन अऩन जीवन क सचच उददशम क परतत सभरऩपत यह हय ददन हय एक वमजतत स खफ उतसाह स लभर हय ददन ऩसतक ऩढ़ हय ददन अऩन रकषमो को लरख हय ददन कछ सभम अकर भ बफताम हय ददन अऩन जीवन भ शकरगजाय होन क नए नए भौक तराश हय ददन अऩन आऩ को एक गहया वमजतत फनाम हय ददन खद को समभान दत हए हय ददन खद का तनभापण कय हय ददन अऩन काभ को सभरऩपत होकय कय हय ददन भहान रोगो क रवचाय ऩढ़ हय ददन सॊकटो को सौबागमो भ फदर द

धनमवाद ऩतर

इस ऩसतक को अऩनान क लरए औय इसभ छऩ भहान सपरता क सचच सॊदश को समभान दन क लरए आऩको ददर स धनमवाद दत ह आऩका जनभ सचभच एक भहान जीवन जीन क लरए हआ ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आज स ही आऩ अऩन सऩनो का जीवन जीन का सचचा तनणपम र सकत ह आऩको एक शानदाय जीवन जीन का सचचा हक दन वार ईशवय को ददर स धनमवाद हभायी ऩहरी ऩसतक सपरता का अभत को ददर स अऩनान क लरए एक फाय कपय स आऩको धनमवाद

रवशष आबाय

इस शानदाय सऩन को सच फनान भ आऩ सबी का फहद अहभ मोगदान यहा ह -

पमाय ईशवय को रवशष आबाय पमाय भाता रऩता का रवशष आबाय हभाय सबी आरोचको का रवशष आबाय हभाय सलभनायो भ आम हजायो रोगो को रवशष आबाय सभाज भ अऩन अऩन अॊदाज भ सकायातभक ऊजाप परान वार हय एक आदय मोगम बाई औय फहन को ददर स आबाय

औय आऩको आबाय

आऩक बीतय छऩी आऩको भहान फनान की फलभसार ताकत को आबाय

आऩ अनभोर ह

आऩ अनभोर ह

Page 2: सफलता का अमृत 2

सपरता का अभत 2

सीभा फपीवारा

दीऩक फपीवारा

सभऩपण

मह ऩसतक आऩकी सपरता की शानदाय मातरा को सभरऩपत ह मह ऩसतक आऩक बीतय भौजद ईशवय क ततव को सभरऩपत ह मह ऩसतक आऩकी सपरता की मातरा को शानदाय औय आनॊदभमी फनान क लरए लरखी गमी ह आऩकी सवा ही हभाया सचचा आनॊद ह हभ आऩकी जजॊदगी को हय ददन फहतय फनान क लरए आतभा स सभरऩपत ह एक इॊसान होन क नात एक दसय की सचची भदद कयना सचभच एक सौबागम ह

आऩ एक शानदाय जीवन क सचच हकदाय ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आऩका जनभ आऩक सऩनो का जीवन जीन क लरए हआ ह आऩ बागम की सॊतान ह

अगय मह ऩसतक आऩको कछ बी पामदा ऩहॊचाम तो आऩस रवनतत ह कक इस अऩन जस औय रोगो को बी जरय बजजएगा आऩ अनभोर ह

अऩनी पीडफक हभ आऩ इस तयह स बज सकत ह

successcoachingismylifegmailcom

wwwfacebookcomdeepakburfiwala

wwwdeepakburfiwalablogspotin

ववषम सची 1 20 VISIONARY IDEAS FOR YOU TO BECOME A BETTER YOU

EVERY SINGLE DAY

2 32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

3 75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

4 HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR GOD

5 INNER WEALTH

6 अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

7 अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह 8 असपरता का सचचा अथप

9 असाधायण रोगो क 10 फलभसार गण

10 आऩ एक वयदान ह 11 आऩका सचचा ऩरयचम

12 आऩकी काभमाफी को सभरऩपत 15 शजततशारी रवचाय

13 आऩकी सपरता को सभरऩपत 30 जादई औय परयणादामी रवचाय

14 गजफ की शजतत ह आऩकी सोच भ 15 आऩक द ख ही आऩक सख ह 16 आऩक लरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

17 आऩक लरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

18 आऩक लरए कछ नए औय शानदाय रवशवास आऩक खद क फाय भ 19 इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का जजसन खद ही खद की ककसभत को

फनामा 20 उतसाह क साथ लशखय की मातरा का आनॊद

21 एक घय ऐसा बी ह जजसभ

22 एक फलभसार जीवन क लरए 51 गरभॊतर

23 एक रवजता सोच की शजतत

24 एक शानदाय औय फलभसार जीवन की 52 याह

25 एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ 26 काभमाफ रवचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

27 कीजजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

28 आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह 29 चलरए एक शानदाय जजॊदगी की ओय

30 जीवन क 21 ऩयभ सतम

31 जीवन भ एक चनौतीऩणप रकषम होन क पामद

32 जीवन

33 भहान रोगो की भहान आदत

34 सॊकट क 15 शानदाय राब

35 सपरता क 15 अभय सतर

36 सौबागम क ऩरवतर फीज

37 हय ददन खद को तनखाय धनमवाद ऩतर

रवशष आबाय

20 VISIONARY IDEAS FOR YOU TO BECOME A BETTER

YOU EVERY SINGLE DAY

1 Live life in your own way

2 Run your own race

3 Challenge yourself every day for better

4 Truest joy is joy of serving humanity

5 Discover your calling

6 Program yourself to succeed in life every day

7 Top class thoughts create top class results

8 Believe in yourself to achieve your dreams

9 Grow your consciousness every day

10 Be an asset for humanity

11 Speak to serve people

12 Listen to understand people

13 Your true power is infinite

14 Develop yourself daily

15 Connect to your inner self to live fully

16 Awareness brings freedom in your life

17 Awareness is about knowing your inner self

18 Change your thoughts to change your results

19 Follow your passion

20 Be a life visionary

32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

1 खद को जातनए औय खद को ऩा रीजजए 2 आऩक रवचाय ही आऩका सॊसाय ह 3 आऩका वमवहाय ही आऩकी ऩॊजी ह 4 आऩ कछ बी सीख सकत ह औय कछ बी फन सकत ह 5 सऩन ऩय कयन क लरए सऩन जरय दणखए 6 आऩका सभऩपण आऩकी सपरता को आकरषपत कयता ह 7 कवर सतम ही आऩको भतत कयन की शजतत यखता ह 8 हय ददन नमा सीखना हय ददन जीना ही तो ह 9 आऩकी ककसभत खयाफ ह मह लसपप आऩका एक रवचाय ही तो ह 10 खद को हय ददन काबफर फना कय आऩ कछ बी परापत कय सकत ह 11 आऩ खद ऩय हय फाय ऩया बयोसा कय सकत ह 12 जीवन हय ऩर आऩको खद को रवकलसत कयन क फदहसाफ अवसय द यहा

ह 13 जजतना आऩ खद को जानत जात ह उतना ही खद ऩय आऩको रवशवास

होता जाता ह 14 आऩ अऩन बागम की जजमभदायी खद रकय सचभच बागमशारी फन सकत

ह 15 आऩका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह 16 सच मह ह कक आऩकी शजतत अनॊत ह 17 आऩकी फाहय की दतनमा आऩकी बीतय की दतनमा का दऩपण भातर ह 18 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 19 सवा कयक सचभच शाॊतत लभरती ह

20 खद को जान रन क फाद खद स फशतप परभ खद फ खद हो जाता ह 21 ऩयी तयह सपर औय ऩयी तयह असपर कोई इॊसान ह ही नहीॊ ह 22 आनॊद को आऩ खोजत तो फाहय ह भगय होता मह आऩक अऩन ही अॊदय

ह 23 जो आऩ दखना चाहत ह आऩ लसपप वही दख ऩात ह 24 एक शानदाय जीवन जीना आऩका हक ह

25 सचची अभीयी आतभ ऻान ह 26 सॊकट आता ही आऩको भजफत फनान क लरए ह 27 जजतन आऩ खद स ईभानदाय होग उतना ही आऩ खद का आदय कयग 28 आतभ रवशवास स ऩहर आतभ ऻान आता ह 29 अगय आऩ जजॊदा ह तो आऩको जीवन क परतत तनयाश होन का कोई हक

नहीॊ ह 30 आऩ अऩन आऩ क लरए फहद बागमशारी ह 31 खद को खोजजए 32 सभरदध आऩका सचचा हक ह

75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

1 Laugh daily

2 Exercise daily

3 Dream daily

4 Think bold daily

5 Read daily

6 Imagine daily

7 Live life of purpose daily

8 Learn from your past

9 Discover your calling

10 Leave the crowd

11 Honor your intuitions

12 Write your goals daily

13 Be yourself

14 Challenge your challenges

15 Become a better person every day

16 Serve humanity

17 Learn from wisdom quotes

18 Write and frame the purpose of your life

19 Problems are platforms

20 Grow your consciousness every day

21 Design your life every day

22 Make your thinking your biggest asset

23 Work hard to work smarter

24 Hard work is good for your health as well

25 Live life like a life passionate lover

26 Expand your thinking every day

27 Celebrate your daily performance

28 Develop yourself daily

29 Respect yourself

30 Create your luck

31 Listen audio programs on personal development daily

32 Sleep less to grow more

33 Go for wisdom

34 Choose wisdom over knowledge

35 Work on your inner life

36 Dedicate yourself towards life-long learning

37 Discover your inner strength

38 Think different to think like tycoons

39 Wake up at 5am daily

40 Adopt a belief system of winners

41 Lead life to live life

42 Express your genius through your work daily

43 Write in a journal daily

44 Think long term

45 Be a passionate life learner

46 Visit library once in a week

47 Commit to working hard till your last breathe

48 Your language is your presentation

49 People who give up are the losers

50 Run your own race

51 Mastery attracts challenges continuously

52 Leave the crowd to lead the crowd

53 Champion your thoughts to champion your life

54 Daily hard work attracts mastery

55 Live your life as per your inner taste

56 Practice rare stuff to get rare results

57 Win in mind first to win in actual

58 Believe in yourself to achieve the impossible

59 People always laugh at man on progress

60 Spend more time with creative people

61 Be lady gaga of your field

62 Be Nelson Mandela of your field

63 Be bill gates of your field

64 Be J K Rowling of your field

65 Go deep to know things deeply

66 Dare to see the picture behind every picture

67 Selfish people are liability even for their own selves

68 Dream bold dreams to check your true inner power

69 Your mind power is infinite

70 Dare to think beyond the crowd

71 Listen to your heart to be a brand

72 Struggle gifts strength

73 Purpose of life is becoming more helpful for humanity every single day

74 Selfless people are history makers

75 Life is an awesome gift of god to you

HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR

GOD 1 Donrsquot disgrace god by playing small with your inner infinite creative

potential

2 God has gifted you with inner infinite creative potential

3 Within you lies the treasure of inner infinite creative potential

4 Your success is godrsquos success

5 Your success is humanityrsquos success

6 Your success is success of that power which lies every single second within

you

7 You are a master-piece and original kindly donrsquot imitate someone

8 You have infinite seeds of greatness within you

9 You have the power to manifest your ultimate destiny

10 Biggest resource that you are having at this moment is your decision to

choose your destiny

11 Be a leader and gift yourself a vision for your life

12 Every single day is a world class platform to become more and achieve more

as a person

13 You shine when you face adversity

14 Problems are your honest servants as they serve you by developing you

15 You must master your thinking to master your destiny

16 You are free if you are rightly educated

17 You have the power to live your life in your style

18 Run your own race to win the race with grace

19 Bigger the obstacle bigger the rewards

20 Harder you work smarter you become

INNER WEALTH

Inner wealth is open to all of us

Inner wealth is actual wealth

Inner wealth is infinite for all of us

Inner wealth can be achieved by becoming a better person every day

Inner wealth can be achieved by discovering your calling

Inner wealth can be achieved by challenging yourself for better

Inner wealth is a gift that one can as a result of his daily inner growth

Inner wealth gives you joy as it is a result of your daily self-realization

Inner wealth is obtained when it becomes ultimate aim of your life

Inner wealth is obtained by life visionaries

Inner wealth is achieved by leaving the crowd and listening to your own heart

Inner wealth is achieved by those who refuse to give up at the times of pains and

challenges

Inner wealth is achieved by people who are truly passionate about achieving inner

wealth

अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

1 आऩ एक शानदाय जीवन जी सकत ह 2 आऩ एक परचयता स बया जीवन जी सकत ह 3 आऩ शकरगजायी की भहान बावना स सजा जीवन जी सकत ह 4 आऩ भानवता क फलभसार इततहास भ अऩना नाभ दजप कया सकत ह 5 आऩ गजफ क आतभ रवशवास क भालरक हो सकत ह 6 आऩ एक अभीय औय बफलकर खशहार जजॊदगी हय ददन जी सकत ह 7 आऩ इस फात की ऩयवाह ही नहीॊ कयग कक रोग आऩको तमा कहत ह 8 आऩ हय ददन सभरदध की सीढ़ी चढ़त जात ह 9 आऩ हय इॊसान को आदय क बाव स दखन रगत ह 10 आऩ खद स फदहसाफ पमाय कयन रगत ह 11 आऩ सचभच जीवन का समभान कयन रगत ह 12 आऩ परकतत क यहसमो को धीय-धीय सभझन रगत ह 13 आऩ भानवता क सचच सवक फनन रगत ह

14 आऩ जीवन भ ककसी बी भकाभ तक आसानी स ऩहॉच सकत ह 15 आऩ हय वो सऩना सच कय सकत ह जजस आऩ हभशा स दखत आम ह 16 आऩ ऩयी भानवता को सचभच याह ददखा सकत ह 17 आऩ सचभच एक फलभसार जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह

अभीय सोच सचभच आऩको अभीय फना दती ह वाकई अभीय सोच कोई बी अऩना कय अभीय फन सकता ह अभीय सोच क कछ रण इस परकाय ह

1 अभीय इॊसान अऩन जीवन की जजमभदायी खद रता ह 2 अभीय इॊसान हय ददन नमा सीखता ह 3 अभीय इॊसान सॊकट को सपरता की नीॊव सभझता ह 4 अभीय इॊसान जीवन को एक वयदान की तयह जीता ह 5 अभीय इॊसान हय ददन खद को तनखायता ह 6 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी जजॊदगी उसक खद क रवचायो का ही

परततबफॊफ होती ह 7 अभीय इॊसान अभीय रोगो की सोच की सचभच कदर कयता ह 8 अभीय इॊसान हय ददन को परगतत कयन क भॊच क तौय ऩय दखता ह 9 अभीय इॊसान सचभच खद भ रवशवास कयता ह 10 अभीय इॊसान फड़ धमान स सनता ह 11 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी ककसभत उसक अऩन ही हाथ भ ह 12 अभीय इॊसान नए-नए रोगो स रगाताय लभरता ह ताकक अऩन काभ को औय

अचछ तयीक स कय सक 13 अभीय इॊसान हय ददन अचछी ऩसतक ऩढता ह 14 अभीय इॊसान हय ददन सऩन दखता ह 15 अभीय इॊसान जीवन को ऩय उतसाह क साथ जीता ह 16 अभीय इॊसान मह भानता ह कक उसकी भहनत हय ददन उस परगतत क नए-

नए अवसय दती ह 17 अभीय इॊसान खरकय अभीयी क रवचाय सबी स साॊझ कयता ह

18 अभीय इॊसान सचभच चाहता ह कक जमादा स जमादा रोग सभरदध का जीवन जीम

19 अभीय इॊसान ददर स मह सभझता ह कक अभीयी सचभच हभाय अऩन ही हाथ की फात ह

20 अभीय इॊसान सचभच सवा कयत हए अभीय फनता ह 21 अभीय सोच का अथप ह कक सभाज की सवा कयन की सचची औय ईभानदाय

सोच यखना 22 अभीय सोच का अथप ह कक जीवन का समभान कयत हए जीवन को ऩय जोश

औय उतसाह क साथ जीना

असपरता का सचचा अथथ

1 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ रगाताय परमास कय यह ह 2 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ अऩनी सोच को हकीत भ फदरन

की जादई ताकत यखत ह 3 असपरता आऩको भजफत फनाती ह 4 असपरता आऩको शानदाय अनबव दती ह 5 असपरता आऩको जीवन भ कछ फड़ा कयन की गजफ की परयणा दती ह 6 असपरता आऩको बीड़ स अरग कयत हए इततहास यचन वारो क फीच

राकय खड़ा कय दती ह 7 असपरता आऩको ऩयी ताकत क साथ दोफाया शर कयन की परयणा दती

ह 8 असपरता आऩकी सोच को गहया फना दती ह 9 असपरता सपरता की जड़वाॉ फहन ह 10 असपरता आ यही ह भतरफ आऩ अऩना सवोतभ दन का रगाताय

परमास कय यह ह 11 असपरता आऩको हय ददन अरग अरग तरो भ लभरती ही यहती ह जफ

बी आऩ कछ नमा कयन की कोलशश कयत ह 12 असपरता आऩकी परगतत क लरए फहद जरयी ह 13 असपरता आऩको एक फाय कपय नमा सोचन का अवसय दती ह 14 असपरता ही आऩकी सपरता फन जाती ह जफ आऩ इसस लशा रकय

जीवन भ एक कदभ ओय आग फढ़ जात ह 15 असपरता आऩकी आवाज भ लभठास औय रवनमरता रकय आती ह

असाधायण रोगो क 10 फमभसार गण

1 असाधायण रोग हय ददन एक सऩषट जीवन रकषम क साथ आग फढ़त ह 2 असाधायण रोग हय ददन नमा सीखत ह 3 असाधायण रोग हय ददन जमादा स जमादा सपर रोगो क साथ अऩना नटवकप भजफत कयत ह 4 असाधायण रोग हय ददन सऩन दखत ह 5 असाधायण रोग इस फात भ गहया रवशवास कयत ह कक जीवन भ ककसी बी इॊसान क लरए कोई कभी नहीॊ ह अभीय इॊसान नहीॊ अभीय दयअसर एक सोच होती ह जजस कोई बी इॊसान अऩना सकता ह 6 असाधायण रोग दसय रोगो क रवकास भ अहभ बलभका तनबात ह 7 असाधायण रोग ईशवय क दवाया हय इॊसान को ददए गए चायो उऩहायो (शयीय भजसतषक रदम आतभा) का हय ददन बयऩय उऩमोग कयत ह 8 असाधायण रोग अऩनी फात को कहन की करा भ खद को तनऩण फनात ह 9 असाधायण रोगो की दोसती बी असाधायण रोगो क साथ ही होती ह तमोकक आऩक दोसत आऩक बागम क तनभापण भ फहत जरयी बलभका तनबात ह 10 असाधायण रोग हय ददन अऩन काभ का पीडफक रत ह औय खद को हय ददन भजफत फनात ह

आऩ एक वयदान ह

आऩ अनभोर ह

आऩ फलभसार ह

आऩ अनॊत शजतत क भालरक ह

आऩ फलभसार काबफलरमत का खजाना सवमॊ भ सॊजोए हए ह

आऩकी कलऩना शजतत अनॊत ह

आऩका भजसतषक एक गजफ का ताकतवय कॊ पमटय ह

आऩकी ककसभत शानदाय ह

आऩ अऩन जीवन को ककसी बी ददशा भ र जा सकत ह

आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह

आऩ भानवता की सवा कयक भहान फनन का चनाव कय सकत ह

आऩ अऩन जीवन को दसयो क लरए एक परयक जीवन फना सकत ह

आऩ सवमॊ भ छऩी अनॊत शजततमो को ऩान क परतत सभरऩपत हो सकत ह

आऩ ऩयी दतनमा घभ सकत ह

आऩ अऩन नाभ को एक बाॊड फना सकत ह

आऩ अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना सकत ह

आऩ भजशकर को भौक भ फदर कय भजशकर को समभान द सकत ह

आऩका सचचा ऩरयचम

आऩ एक चभतकाय ह आऩ सौबागम क अनॊत फीज खद भ सॊजोए हए ह आऩक बीतय एक कभार की शजतत ह जजसका आऩको जीत जी जरय एहसास कयना चादहए ऩयी दतनमा क लरए आऩका जनभ एक भहासौबागम ह आऩ एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद हय ददन र सकत ह आऩ हय ददन सफह जलदी उठ कय अऩनी ककसभत का तनभापण कय सकत ह आऩक सॊकट आऩका रवकास कयत ह आऩक रकषम आऩका रवकास कयत ह आऩ आज स ही अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय सकत ह आऩ भानवता की सवा कयक जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह आऩका जीवन आऩको लभरा एक शानदाय उऩहाय ह आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह आऩ हय ददन एक नमी सोच अऩना कय नए ऩरयणाभ परापत कय सकत ह आऩ जजतना जमादा खद को जानोग उतना ही खद स पमाय कयत चर जाओग आऩ जीवन क परतत सभरऩपत होकय अऩन जीवन को एक उतसव की तयह जी सकत ह आऩ हय ददन नए सऩन दख सकत ह आऩ अनभोर ह आऩ अनभोर ह

आऩकी काभमाफी को सभवऩथत 15 शकततशारी ववचाय

1 आऩ फदहसाफ आॊतरयक शजतत क भालरक ह 2 आऩ ऩय बहभाॊड क लरए फहद शब औय सौबागमशारी ह 3 आऩकी कलऩना कयन की शजतत अनॊत ह 4 आऩकी आतभ सधाय कयन की भता अनॊत ह 5 आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह 6 सवसथ का अथप ह सवमॊ भ जसथत होना 7 सवाथप का सचचा अथप ह सवमॊ क सचच औय गहय अथप को सभझना 8 ऩागर का अथप ह जजसन ऩा लरमा गर (काभ की फात मा सचची फात)

को 9 ऩागर का अथप ह ऩाक (रहानी) फात कयन वारा 10 आज अबी औय इसी ऩर आऩ एक काबफर शानदाय फलभसार औय

सभदध वमजतत ह 11 आऩ कबी बी कछ बी सीख कय ककसी बी तर भ भहायत हालसर कय

सकत ह 12 आऩका जनभ एक सखद उऩहाय ह ऩयी भानवता क लरए 13 सभसत धयती आऩकी अऩनी ह 14 आऩका बागम ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह 15 आऩभ अनॊत सॊबावनाएॊ छऩी ह

आऩकी सपरता को सभवऩथत 30 जादई औय परयणादामी ववचाय

1 ऩहर अऩन रकषम क परतत सभऩपण औय कपय उस सभऩपण की हय कीभत चकान की दहमभत चादहए तफ जाकय सपरता आऩक कदभ चभती ह

2 ककतनी पमायी फात ह कक हभ खद को आदय दकय अऩन बीतय भौजद ईशवय को ही तो आदय दत ह

3 सयरता सवगप ह जफकक उरझन नकप ह 4 ककतनी कभार की फात ह कक हभ सफ जीवन भ आसान यासत चाहत ह

भगय हभाया रवकास लसपप भजशकर यासतो ऩय चर कय ही होता ह 5 सफको अऩना बरवषम जानन की फड़ी आतयता यहती ह जफकक अऻात भ

जीन का भजा ही तनयारा ह 6 हय ऩर आऩ खद क फनाम सवगप भ मा कपय खद क फनाम नकप भ यहन का

चनाव कयत ह

7 खद का सधाय ककम बफना दसय को सधायन की कोलशश कयना वमथप का परमास साबफत होता ह

8 अऩनी गरती कोई नहीॊ भानता जफकक अऩनी गरती भान कय अऩन आऩ को सधायन का आनॊद गजफ का ह

9 भजशकर हारात आना इस फात का सफत ह कक आऩ परगतत क ऩथ ऩय ह 10 सफको फशतप पमाय दीजजए तमोकक परभ आऩक ऩास फदहसाफ भातरा भ भौजद

ह 11 आऩ खद ही अऩनी सोच को काभमाफी की ददशा भ रकय जा सकत ह 12 सच क यासत ऩय तनयॊतय चरना आऩको एक अदबत आनॊद दता ह 13 अऩन जीवन भ आन वारी सभसमाओॊ का खफ आनॊद रीजजए तमोकक म

आऩक लरए परगतत क शानदाय अवसय र कय आती ह

14 हय सपर इॊसान ककसी फड़ी चनौती का साभना कयत हए खद को भजफत फना कय सपर फनता ह

15 नज़ाया चाह कछ बी हो हभायी नज़य वही दखती ह जो दखन क लरए हभ इस कहत ह

16 कबी कबी इॊसान जजस जीत सभझता ह वह हाय होती ह औय जजस हाय सभझता ह वह जीत होती ह

17 3 सभम बोजन अगय आऩ हय योज़ कयत ह तो आऩको योज़ 3 सभम कछ न कछ नमा जरय सीखना चादहम

18 जीवन भ आऩको आऩक लसवा कोई खश मा दखी कय ही नहीॊ सकता 19 परभ भ सवाथप नहीॊ औय जहाॉ सवाथप ह वहाॉ परभ नहीॊ 20 ईशवय हभ हय ऩर हभाय सवोतभ रऩ भ ऩहॉचन क लरए भागपदलशपत कय यहा

ह 21 जफ जफ आऩकी तनमत साफ़ यहती ह तफ तफ आऩको ऩरयणाभ भ फयकत

बी जफयदसत होती ह 22 इॊसान जीवन भ अऩनो औय ऩयामो को ही खोजन भ रगा यहता ह जफकक

अऩना ऩयामा कोई ह ही नहीॊ 23 आऩकी भहनत अगय फकाय चरी गमी तो वो भहनत थी ही नहीॊ 24 खद क अहॊकाय को काट बफना जीवन भ खशी का ऽजाना नहीॊ लभरता 25 ककसी को कभतय सभझन की गरती वही कयता ह जो खद ऩय श कयन

का आदी हो 26 गहयाऩन आऩक काभ भ दय दय की ठोकय खा कय ही आता ह 27 एक फाय खद क बीतय ईशवय को ऩाकय कपय आऩको हय जगह ईशवय ही

ददखाई दता ह

28 अऩनी अॊतयातभा की आवाज़ को फरॊद कयक ही आऩको सचची खशी लभरती ह

29 ककसी की सचची इजज़त कयन क लरए ऩहर खद की जफयदसत फइजजती कयना जरयी ह

30 सच भ सच को कह कस औय झठ कह कय ददर को खशी लभरती नहीॊ

गजफ की शकतत ह आऩकी सोच भ

1 आऩकी सोच आऩक जीवन का सच फन जाती ह 2 आऩकी सोच औय आऩका नजरयमा फहत ही गहय स आऩस भ जड़ होत ह 3 आऩ अऩनी सोच को कबी बी ककसी बी फड़ी सपरता क लरए तमाय कय

सकत ह 4 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजए 5 काभमाफ सोच को अऩना कय आऩ बी काभमाफ हो सकत ह

6 भानवता की सचची सवा कयन की सोच को अऩना कय आऩ बी एक फलभसार जीवन का आनॊद र सकत ह

7 हय ददन अऩनी सोच को सकायातभक औय उतऩादक फनाना आऩकी जजमभदायी ह

8 आऩकी सोच आऩक जीवन क हय ऩहर को परबारवत कयती ह 9 काभमाफ सोच काभमाफ ऩरयणाभ ऩदा कयती ह 10 काभमाफ सोच हभशा आऩको सभाधान की ओय र कय जाती ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह तमोकक आऩक द ख आऩकी अॊदरनी आॉख खोरत ह

आऩक द ख ही आऩको रगातय कछ ऐसा खोजन क लरए पररयत कयत जो आऩको सचभच सथामी आनॊद द सक

आऩक द ख ही आऩकी परगतत का भागप खोरत ह

आऩक द ख ही आऩक सख का आधाय फनत ह

आऩक द ख दयअसर आऩको दख रगत ह भगय जीवन आऩको आग फढ़ान क लरए दखो का ही इसतभार कयता ह

द ख असर भ आऩकी आऩक अॊदरनी खजान क परतत अऻानता क कायण ह

आऩक द ख आऩका रवकास कयत ह

आऩक द ख आऩको हय ददन नमा सीखन क लरए औय जीवन को जजमभदायी रत हए जीन क लरए पररयत कयत ह

आऩक द ख ही आऩकी भहानता की सीढ़ी फनत ह

आऩक द ख अगय ना हो तो आऩक सख बी आऩस दय ही यहग

हय द ख भ सख का फीज छऩा होता ह

द ख वासतव भ द ख नहीॊ होता द ख वो हभाय उसको द ख की तयह दखन क कायण फनता ह

द ख ईशवय को आऩको परगतत कयन क लरए ददमा वयदान होता ह

द ख जफ आऩ सहन कय चक होत ह औय आऩ उसस नमा सीख कय जीवन भ एक नए सतय तक ऩहॉच चक होत ह तो द ख आऩको फड़ी खशी दता ह

आऩक मरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

आज आऩ जो बी सोच यखत ह चाह वह आऩका रवकास कय यही हो मा रवनाश कय यही हो उस ऩयी तयह आऩन ही फनामा ह औय आऩ इस ऩयी तयह स फदर सकत ह औय एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

आऩक आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩक बागम का सतय तम कयत ह

आऩ इस भहान सजषट का एक अहभ दहससा ह

हभ सफ एक दसय स जड़ हए ह

आऩकी ककसभत आऩकी भहनत स फनती ह

सॊकट आऩको परगतत क शानदाय अवसय दता ह

हय इॊसान स आऩ कछ न कछ नमा जरय सीख सकत ह

आऩकी सोच ही आऩका सच फनती ह

सीखन वार हभशा ही जीतन वार फन जात ह

हय ददन भहनत कय औय बागमशारी फन

अवसय ककसी काभ भ नहीॊ फजलक आऩकी सोच भ छऩा होता ह

सॊघषप आऩका तनभापण कयता ह

हायन क फाद आऩका जीत का आनॊद रन का साभरथमप फढ़ जाता ह

आऩक जीवन का हय ऩर आऩक लरए पमाय ईशवय का उऩहाय ह

आऩकी शजतत अनॊत ह

आऩ खद अऩन जीवन क भालरक ह

ईशवय न आऩको जजॊदगी का फलभसार उऩहाय दकय समभातनत ककमा ह

आऩक आरोचक आऩकी इततहास फनान भ भदद कयत ह

आऩक मरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

1 आऩक रवचाय आऩकी असलरमत का तनभापण कयत ह 2 खद को रगाताय आतभऻान रत यहन क लरए सभरऩपत कय दीजजम 3 हय ददन 03 लभनट का सभम तनकार कय परयक ऩसतक ऩदढ़ए

4 एक कागज ऩय बफलकर सऩषट रऩ स लरख रीजजम कक ldquoआऩ जीवन भ तमा परापत कयना चाहत हrdquo

5 जो सॊदश आऩ दसयो को दना चाहत ह ऩहर खद उस सॊदश को अऩन जीवन भ हय ददन आदयऩवपक जजएॊ

6 असाधायण परमास कयक ही आऩ असाधायण ऩरयणाभ परापत कय सकत ह 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजम 8 जफ आऩ खद को हय ददन अऩन बीतय छऩी असाधायण सॊबावनाओॊ क लरए

जागरक कयत ह तो आऩस जड़ी हय चीज़ काभमाफी की ददशा भ फढ़ती ह 9 आऩ हय वो चीज़ सीख सकत ह जो आऩको काभमाफ होन क लरए आनी

चादहए 10 सपरता औय खशी आऩस दय नहीॊ ह फजलक आऩ खद सपरता औय खशी

स दय ह 11 आऩकी सीखन की भता ही आऩक कभान की भता तनधापरयत कयती ह 12 हय एक इॊसान अनभोर औय शानदाय ह 13 लसपप सोच स फड़ औय तनडय रोग ही अऩनी वासतरवक आनतरयक शजतत का

उऩमोग कयत ह 14 आऩक जीवन का सचचा रकषम आऩकी आॊतरयक शजतत क फलभसार बणडाय

को खोजना औय उस भानवता की सवा भ सभरऩपत कय दना होना चादहए 15 फहान फनान वार इततहास यचन वार नहीॊ फनत

16 आऩ ऩहर खद अऩन आऩ को धोखा ददए बफना ककसी ओय को धोखा नहीॊ द सकत

17 जो सभम आऩ अऩनी सचची औय अॊदरनी ताकत को जानन भ रगात ह वो आऩक सभम का सफस फहतयीन तनवश होता ह

18 काभमाफी औय अभीयी का जीवन ऩयी तयह स आऩक चनाव ऩय दटका ह 19 सचभच अभीय रोग भानवता क फहत ही अचछ सवक होत ह औय भधमभ

दज क रोग भानवता क भधमभ दज क सवक होत ह 20 आऩका ददभाग एक फहत ही शजततशारी कॊ पमटय ह 21 जीवन भ हय ददन परगतत कयन क लरए ककसी ओय स नहीॊ अऩन आऩ स

हय ददन फहतय होत चर जाएॊ 22 जीवन हभ सफको एक अचछ इॊसान क तौय ऩय चभकन क लरए फशतप औय

भहान उऩहाय की तयह लभरा ह 23 जफ आऩ खद की सचची कदर कयत हो तबी आऩ दसयो की सचची कदर कयन

क काबफर फनत हो 24 जफ आऩ जीवन क हय तर भ अऩन खद क ही रऩछर रयकॉडप तोड़न रगत

ह तफ आऩ सचभच एक चरऩमन क तौय ऩय रवकलसत होन रगत ह 25 जो ऩरयणाभ आऩ आज अऩन जीवन भ परापत कय यह ह उसक लरए आऩक

अरावा ऩयी दतनमा भ कोई बी जजमभदाय नहीॊ ह 26 दतनमा रॊफ सभम तक धनमवाद दन वार रोगो का लशकामत कयन वार

रोगो स कहीॊ जमादा समभान कयती ह 27 आऩका वमवहाय हभशा ही आऩक चरयतर की सचची तसवीय को ददखाता ह 28 हय भहान इॊसान आऩको मही भहसस कयाता ह कक आऩ बी भहान फन

सकत ह

29 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय ददन सोचत सनत दखत फोरत औय भहसस कयत ह

30 हय ददन कछ सभम तनकार कय ऐस रवचाय जरय सन मा ऩढ़ जो आऩको सचभच एक शानदाय जीवन जीन क लरए फहद पररयत कयत ह

आऩक मरए कछ नए औय शानदाय ववशवास आऩक खद क फाय भ

तमा आऩ जानत ह कक कौन आऩकी जजॊदगी चरा यहा ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी सोच ककस हद तक आऩकी जजॊदगी को फहतय औय फदतय फनान की काबफलरमत यखती ह

तमा आऩ जानत ह कक आऩकी वासतरवक शजतत ककतनी ह तमा आऩ जानत ह कक ककस

हद तक आऩ अऩन जीवन को शानदाय फना सकत ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ अऩन

सऩनो की जजॊदगी जीन भ ऩयी तयह सभ ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी भजशकर आऩका रवकास कयती ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ हय ददन खद ही अऩनी तनमतत फनात ह

आऩ ककस तयह स खद को दखत ह साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह आऩ खद को ककतना काबफर भानत ह इसी फात स आऩकी सपरता का सतय तम होता ह ककस तनगाह स आऩ

अऩनी सीखन की काबफलरमत का इसतभार कयत ह इसी स आऩकी अभीयी का सतय तम

होता ह आऩ हाय क फाद ककस नजरयम स दोफाया शर कयत ह इसी स साया पकप ऩड़ता ह

आऩकी जजॊदगी ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह जफ तक आऩको रगता ह कक आऩकी जजॊदगी क

लरए आऩ जजमभदाय नहीॊ ह तफ तक आऩ अऩनी जजॊदगी को फहतय फनान क लरए जरयी कदभ नहीॊ उठा सकत जफ तक आऩ खद क फाय भ एक सकायातभक नजरयमा नहीॊ रवकलसत कय रत तफ तक आऩकी सभसमा जमो की तमो फनी यहगी

आऩकी हय सभसमा का एक ही सभाधान ह औय वो ह कक आऩ खद की ऩतकी ऩहचान कय आऩ खद को जान आऩ अऩनी आॉख खोर आऩ अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का उऩहाय द

आऩकी सचचाई मह ह कक

आऩ ऩयी तयह स सपर होन क लरए काबफर ह आऩ ऩयी तयह स खद की जजॊदगी को

फदरन की काबफलरमत यखत ह आऩ अऩनी जजॊदगी क भालरक ह आऩ एक शजततशारी ददभाग क भालरक ह आऩ सचभच एक कभार की जजॊदगी जीन का सचचा हक यखत ह आऩ हय ददन नमा सीख कय हय ददन जीत सकत ह आऩ जजस फात भ मकीन यखत ह वही आऩक लरए हकीत फन जाती ह आऩ एक फलभसार जीवन जीन की सचची काबफलरमत यखत ह

आऩ अनभोर ह आऩ सचभच काबफर ह आऩ हकदाय ह एक अदबत जीवन जीन क

इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का कजसन खद ही खद की ककसभत को फनामाhellip

सवार आऩ काभमाफ कस हए

जवाफ काभमाफ होना ही भया ऩास एकरौता यासता था

सवार आऩ असपर बी तो हो सकत थ

जवाफ भ असपर हआ ही इतनी जमादा फाय था कक अफ सपर होना ही था जफ आऩ रगाताय भहनत कयत हो तो एक वक़त ऩय आकय आऩको ऩतका सपरता लभरती ह

सवार सपरता तमा होती ह

जवाफ खद को जानना सपरता ह खद क साथ ईभानदाय होना सपरता ह खद को हय ददन खद क बीतय छऩी शजततमो क परतत लशकषत कयना सपरता ह इॊसातनमत की सचची सवा कयना सपरता ह

सवार आऩको दख कय रगता ह कक आऩ एक फहत ही सरझ हए इॊसान ह तमा ऐसा वाकई ह

जवाफ दणखए सपरता लभरती ही तफ ह जफ आऩ खद सरझ जात ह आऩकी सपरता भ सफस फड़ी ददतकत आऩकी सोच औय आऩका जरयत स जमादा उरझा होना ही ह आऩ खद को सयर कयत हए कबी बी कभार की सपरता ऩा सकत ह

सवार आऩन खद को कस ऩामा

जवाफ जफ भन खद ऩय रवशवास कयना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भ लसपप एक शयीय स कहीॊ जमादा हॉ जफ भन खद स जड़ना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भझभ एक शजतत ह जो ऩयी तयह स भया दहत औय पराव चाहती ह जफ भन सपर रोगो स लभरना शर ककमा तो भन ऩामा कक हय सपर इॊसान खद स ईभानदाय ह हय सपर इॊसान जीवन क परतत हय ददन जफयदसत आबाय वमतत कयता ह हय सपर इॊसान मह सोचता ह कक उसका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह

उतसाह क साथ मशखय की मातरा का आनॊद

1 आऩ जीवन भ जो कछ बी तराश यह ह ठीक वही आऩको लभर जा यहा ह 2 बफरकर सऩषट कीजजम कक सपरता का आऩक लरए सचचा अथप तमा ह

3 आऩ इस रवशार बहभाॊड भ कस अऩनी छाऩ छोड़ना चाहत ह

4 आऩका जनन ही आऩक काभकाज का तर होना चादहम 5 हारात स जमादा परापत कयन क लरए हारात को जमादा गहय स भहसस

कयना शर कीजजए 6 अचछी चीज़ो औय अऩन ऻान को खशी खशी सबी स फाॊदटम 7 अऩन फाय भ जागरकता फढ़ान क लरए अऩनी ताकतो औय कभजोरयमो को

साफ़ साफ़ कागज ऩय लरणखम 8 अऩन सऩनो की हय ददन यचनातभक भानलसक तसवीय दणखम 9 हय ददन अऩनी फातचीत की करा ऩय गजफ की भहनत कीजजए 10 जीवन भ रीडयशीऩ की अहलभमत को सभणझम 11 हय रयशत भ जीत -जीत की भानलसकता रवकलसत कीजजम 12 फड़ी सोच क फड़ जाद का जभ कय समभान कीजजम 13 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 14 असपरता जसी कोई चीज़ नहीॊ होती वह तो लसपप तनखयन की लशा होती

ह 15 अऩनी सोच को एक अॊतयासरीम कॊ ऩनी क भालरक की तयह रवकलसत

कीजजम 16 अऩन जीवन क सऩषट जीवन भलम तनधापरयत कीजजम 17 आजीवन सीखत यदहम 18 रवनमर फतनम

19 अऩनी सोच ऩय भजशकर वक़त भ बी खड़ यदहम 20 इस दतनमा का परतमक वमजतत भहतवऩणप ह इसीलरए सबी का समभान

कीजजम 21 सपर इॊसान को असपर इॊसान स उसकी सोच अरग कयती ह 22 आऩकी काभमाफी आऩकी खद ऩय की गमी हय ददन की भहनत का ऩरयणाभ

होती ह 23 जजतना जमादा आऩ खद क फाय भ जानत ह उतना ही जमादा आऩ परापत

कयत ह 24 हय ददन की कड़ी भहनत ही चरऩमन को चरऩमन फनाती ह 25 आऩकी वशबषा फोरती ह 26 सपरता क लसदधाॊत ऩयी दतनमा भ एक साभान रऩ स कामप कयत ह 27 आऩक रयशत सचभच आऩकी सपरता भ अहभ बलभका तनबात ह 28 अऩन जीवन की कहानी खद लरणखम 29 आऩको भहान फनन स कौन योक यहा ह

30 आऩका भागपदशपन कौन कय यहा ह

31 सचची दोसती आऩका रवकास कयती ह 32 सभम ही आऩकी सचची ऩॊजी ह 33 ऩसतक ऩदढम औय जीवन भ आग फदढम 34 परकतत क साथ वक़त बफताम 35 सपर रोगो क साथ यह 36 आऩका बरवषम आऩक लरए एक कोय कागज क सभान ह 37 अऩन साथ हभशा अऩना रकषम काडप यणखम 38 रगाताय अऩनी समऩकप सची को फड़ा कीजजम 39 आऩ कस अऩन काभकाज क फाय भ दसयो स फात कयत ह

40 अऩन सऩनो को पोटो फरभ कया कय उनह अऩन साभन यणखम 41 अऩन सऩनो क फाय भ हय लभर सकन वारी जानकायी जरय इकठठा कीजजम 42 जीवन जीन क अऩन खद क तनमभ फनाइम 43 अऩन सऩनो का अनसयण कीजजम 44 आरोचना तफ होती ह जफ आऩ परगतत कयत ह 45 जफ तक आऩ ऩछत यहग आऩको जवाफ जरय लभरग 46 हभ सफ एक ह 47 अऩनी सऩषट ऩहचान कीजजम तमोकक आऩ अनभोर ह 48 आऩ जमादातय सभम खद क फाय भ तमा सोचत ह

49 अऩनी उजाप क सतय को हय ददन फढाम 50 हय भहीन कछ धन की फचत जरय कय 51 आऩक फाय भ सवोतभ फात मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह 52 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय वतत सोचत यहत ह 53 आऩका वमाऩाय आऩक दसयो क साथ अचछ रयशतो स हय ददन अचछा फनता

जाता ह 54 रोगो स फात कयत वक़त उनकी बावनाओॊ को जरय सऩशप कय 55 आऩकी जीत की सचचाई मह ह कक जीत आऩ अऩनी सोच ऩय हालसर कयत

ह 56 जजस ददन आऩको अऩन जीवन को जीन का एक सचचा भकसद लभर जाता

ह उस ददन आऩका सचभच जनभ होता ह 57 हय ददन नमा सीखना ही सचभच जीतना ह 58 भहान रोगो स जमादा स जमादा लभर औय उनस सीख 59 आऩ एक ददन दतनमा को अररवदा कह दग रककन आऩक काभ हभशा

रोगो क ददरो ऩय याज़ कय सकत ह

60 अऩन ददभाग भ अऩनी सपरता का एक तनजशचत नतशा जरय फनाम 61 आऩकी सचची ऩॊजी आऩकी सीखन की औय परगतत कयन की मोगमता ह 62 अऩन अतीत का समभान कय 63 हय ददन तनखाय कयत हए एक सभम क फाद चरऩमन की तयह जजम 64 जजस चीज़ ऩय आऩ धमान कजनदरत कयत ह वही चीज़ आऩक खद -फ-खद

नजदीक आ जाती ह 65 अऩन बरवषम का समभान कयत हए हय ददन वतपभान भ खफ भहनत कय 66 जजतना जमादा आऩको आऩक काभ की सभझ होती ह उतना जमादा आऩ

अऩन काभ स कभा सकत ह 67 सयर वमजतत सफका ददर जीत रता ह इसीलरए सयर फतनम 68 आऩका रकषम आऩकी शजतत को फढ़ा दता ह 69 आऩक भजफत जीवन भलम आऩको हय ददन भजफत फना दत ह 70 आऩकी आदत हय ददन आऩका जीवन चरा यही ह 71 अऩन जीवन की जजमभदायी अऩन हाथो भ र रीजजम 72 अऩन आस ऩास सचच रीडसप रवकलसत कयन क लरए आज ही आऩ खद

एक सचच रीडय की तयह वमवहाय कयना शर कय सकत ह 73 हय नए रवचाय क लरए हय ऩर खर यदहम 74 अऩन घय औय कायोफाय भ यचनातभक तौय-तयीको को फढ़ावा दीजजम 75 आऩक ऩास जो बी अचछ रवचाय ह उनह जरय सफस साॉझा कय 76 असपरता आऩको भजफत फनात हए आऩकी सवा कयती ह 77 अऩन आस -ऩास शानदाय रवचायो की औय हयी-बयी परकतत की तसवीय यणखम

78 अऩन घय औय कायोफाय की जगह ऩय अऩना रवज़न फोडप रगाम 79 अऩना वमजततगत ऩसतकारम जरय फनाइम

80 आऩका आऩक काभ क परतत परभ आऩक हय रकषम को फड़ी ही आसानी स ऩया कयवा दता ह

81 खद भ जफयदसत रवशवास ददखाएॉ 82 अऩनी तनमत ही आऩकी तनमतत तम कयती ह 83 एक भहान रवचाय आऩको जीवन भ भहान फनान की शजततशारी मोगमता

यखता ह 84 शकरगजाय होकय आऩ आज औय इसी ऩर स काभमाफ होन का चनाव कय

सकत ह 85 हभशा एक फचच की तयह जीवन क परतत उतसक फन यदहम 86 जफ आऩ खद तयतकी कयत ह तबी आऩ जीवन का सचचा आनॊद र ऩात

ह 87 खद को फहतयीन अॊदाज भ सफक साभन ऩश कयना जरय सीख 88 अऩन जीवन भ सॊगीत का सथान हय ददन जरय यख 89 खफ भहनत कयन क फाद अऩन शयीय औय भन को आयाभ जरय द 90 अऩनी रचच को धमान भ यख कय ही अऩन जीवन क भहततवऩणप चनाव

कय 91 अऩन आऩ स हय ददन ईभानदाय यदहम 92 अऩन रवचायो का सचचा समभान कयन क लरए उनह कागज ऩय लरख 93 जफ आऩ सन तो सच भ सन 94 एक सकायातभक वमजतत फनन क लरए सकायातभक शबदो को अऩनाम 95 चरऩमन आऩ अऩनी चरऩमन सोच की वजह स फनत ह 96 हय उस इॊसान को भाफ़ कय दीजजम जजसन जान-अनजान भ आऩका ददर

दखामा ह

97 अगय असपरता आऩको नहीॊ लभर यही ह तो सभझ लरजजम आऩ सपरता क भागप ऩय नहीॊ ह

98 अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनाइम 99 आऩका जीवन सभसत रवशव क नाभ आऩका सॊदश ह 100 अऩनी सपरता को भानवता क सवा भ सभरऩपत कय दीजजम

101 काभमाफ होना आऩका हक ह

एक घय ऐसा बी ह कजसभ एक घय ऐसा बी ह जजसभ हय ऩर आनॊद का परसाय होता यहता ह जजसभ हय ओय सचचाई का परकाश यहता ह मह सौबागम ह भया कक आऩको ऐस एक शानदाय घय स रफर कयान का अवसय भझ ईशवय न ददमा ह घय क परवश दवाय ऩय लरखा ह ldquoजननत ईशवय का आशीवापदrdquo औय जस ही आऩ घय क बीतय जात ह आऩका धमान ऩड़ता ह दीवायो ऩय लरख शानदाय औय असयदाय रवचायो ऩय रवचाय जस कक वह फदराव खद भ रकय आइए जो आऩ दतनमा भ दखना चाहत ह भहातभा गाॉधी जो आऩ सोचत ह वह आऩ फन सकत ह रवलरअभ जमस आऩकी शजतत अनॊत ह आऩक बीतय सौबागम क फदहसाफ फीज ह आऩका जनभ ऩयी ऩरथवी क लरए एक फलभसार वयदान ह औय आज आऩक जीवन का एक मादगाय ददन ह ऐस कभार क रवचाय ऩढ़ कय आऩ सचभच अऩनी अॊदरनी भहानता स जड़ जात ह औय जस ही आऩ इन दीवायो क सॊदशो को ऩढ़त हए घय क बीतय परवश कयत हो तो आऩका धमान जाता ह एक लरख हए सॊदश ऩय जो कह यहा ह कक अगय खद को जानना ह तो इस कभय भ परवश कीजजए औय जस ही आऩ उस कभय भ परवश कयत ह आऩ ऩात ह एक रवशार ऩसतकारम जो चचलरा चचलरा कय कह यहा ह कक इन ऩसतको भ भानवता का अभय औय सपर इततहास लरखा ह ऩसतको क शीषपक ऩढ़ कय ही आऩक बीतय एक नई उजाप का उदम होन रगता ह जस रोक वमवहाय सोचचम औय अभीय फतनए आऩक अवचतन भन की शजतत फड़ी सोच का फड़ा जाद औय आऩक अॊदरनी रवकास स जड़ी हजायो ऩसतक वहाॊ यखी हई ह

उस कभय भ एक शानदाय फात मह लरखी थी कक अतसय अचछी ऩसतक ऩढ़ कय इॊसान की सोमी हई अॊदरनी शजतत जाग जाती ह औय कपय वो इततहास

यचन की ओय अगरसय हो उठता ह हय इनसान इततहास यच सकता ह हय इॊसान खद को खोद कय खद को ऩा सकता ह जजसन बी खद को खोदा ह औय खद ऩय भहनत की ह उसक हाथ कबी खारी नहीॊ यह उसन जीवन की भहान दौरत को ऩामा ह जीवन की भहान दौरत ह आऩक बीतय छऩी ईशवय की जमोतत आऩकी सचची ऩहचान मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह आऩ सौबागम क फचच ह आऩ एक फलभसार वयदान ह ऩयी कामनात क लरए मह घय की कथा तो कालऩतनक थी ऩय इसका सॊदश ऩयी तयह सचचाई ऩय दटका ह कक आऩकी अॊदरनी शजतत सचभच अनॊत ह आऩ अनभोर ह

एक फमभसार जीवन क मरए 51 गरभॊतर

1 जीवन को एक अवसय क रऩ भ दणखए 2 जीवन को हय ददन परगतत कयन क एक शानदाय भौक क रऩ भ दणखए 3 हय ददन अऩन ददभाग को नमा सीखा कय ऩोरषत कीजजए 4 अऩनी हय हाय स सीखना शर कीजजए 5 सचची परशॊसा कयन की करा सीणखए 6 टी वी कभ दणखए औय ककताफ जमादा ऩदढ़ए 7 जीवन का एक रकषम फनाइम 8 हय ददन खद को पमाय कीजजए 9 सपर रोगो क साथ दोसती कीजजए 10 अऩन काभ भ कभान स जमादा सीखन ऩय धमान दीजजए 11 ऩयी भानवता क लरए आऩका जनभ एक सौबागम ह 12 अऩन जीवन भ सॊगीत को योजाना सथान दीजजए 13 हफत भ ककसी एक ददन ऩय हफत का पीडफक कागज ऩय लरणखए 14 आऩकी आज की सोच ही आऩका आग चर कय सच फन जाती ह 15 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजए 16 अऩन जीवन को भानवता की सवा कयन का एक फलभसार अवसय

सभणझए 17 आजीवन आऩ खद को हय ददन नमा सीखन क लरए सभरऩपत कय दीजजए 18 खद स हय ददन ईभानदाय फन यदहए 19 आज ही अऩनी वमजततगत राइबयी फनाइए 20 हय ददन सभम तनकार कय ईशवय का धनमवाद जरय कीजजए तमोकक मह

शानदाय जीवन आऩको उनही की फदौरत वयदान क तौय ऩय लभरा ह

21 हय भजशकर को परगतत कयन क एक अवसय क रऩ भ दणखए 22 अभीयी एक सोच ह 23 काभमाफी एक सोच ह 24 खशहारी एक सोच ह 25 जमादा भहनत आऩको जमादा रवकास दती ह 26 हय ददन खर कय जीम 27 इस दतनमा भ आऩक लरए ककसी बी चीज़ की कोई कभी नहीॊ ह 28 अऩन रकषमो को साफ़ साफ़ आज ही कागज ऩय लरणखए 29 अऩन रकषमो को हय ददन कागज ऩय लरणखए 30 अऩन रकषमो ऩय हय ददन भहनत कीजजए 31 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 32 फड़ रकषम आऩका फड़ा तनभापण कयत ह 33 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 34 जीवन को एक वयदान क तौय ऩय आज ही कफर कय रीजजए 35 अऩन जीवन को फलभसार फनान की जजमभदायी आज ही खद र रीजजए 36 लशकामत कयन भ सभम भत रगाइए 37 हय इॊसान स कछ न कछ जरय सीणखए 38 हय ददन अऩन खद क अनबवो स कछ न कछ नमा सीणखए 39 आऩ जीवन भ सपर होना फहत ही आसानी स सीख सकत ह 40 आऩकी अॊदरनी शजतत अनॊत ह 41 आऩका हय ददन सफस ऩहरा कामप ह अऩन आऩ को खश यखना 42 आऩ अऩन जीवन भ काभमाफ होन की कोई ठोस वजह खोजजए 43 अऩन आऩ को भानवता क लरए एक ऩॊजी की तयह रवकलसत कीजजए 44 रगाताय भहनत रगाताय जीत की सफस ऩहरी जरयत ह

45 आसान यासतो ऩय चरना आऩक जीवन को फहद भजशकर फना दता ह 46 अऩनी हय हाय स गजफ की लशा रकय उस जीत भ फदर दीजजए 47 अऩन जीवन को खफ समभान दीजजए 48 आऩका अॊदरनी सॊसाय आऩक फाहयी सॊसाय का तनभापण कयता ह 49 आऩ आज वही ह जसा फनन क लरए आऩन आज तक खद को तमाय

ककमा ह 50 आऩ बरवषम भ वही होग जसा आऩ हय ददन खद को फनात चर जाएॊग 51 आऩ आज अबी इसी ऩर स एक शानदाय सपर अथपऩणप जीवन जीन का

साहलसक तनणपम र सकत ह

एक ववजता सोच की शकतत

1 आऩकी सोच ही आऩक जीवन क सच का तनभापण कयती ह 2 एक रवजता की सोच का भतरफ ह हय ददन नमा सीखन की सोच 3 एक रवजता की सोच आऩको एक फलभसार वमजतततव परदान कयती ह 4 आऩकी सोच ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह औय आऩ इस कबी बी फदर

सकत ह 5 आऩकी सोच ही आऩको हय ददन आऩको ददखन वारी आऩकी दतनमा

ददखाती ह 6 आऩकी सोच ही आऩकी भौजदा हय खशी औय गभ क लरए जजमभदाय ह 7 आऩ हय ददन अऩनी सोच को फड़ा औय फहतय कय सकत ह 8 सोच ही आऩको भहान औय सभदध फनाती ह 9 आज आऩ अऩन जीवन भ जजस बी भकाभ ऩय ह लसपप अऩनी सोच की

वजह स ह

10 आऩ जहाॊ बी जात ह औय जो बी कयत ह उसभ आऩकी सोच साफ़ झरकती ह

11 आऩकी सोच का आकाय आऩक आतभ ऻान ऩय आधारयत होती ह 12 आऩकी सोच खद-फ-खद शानदाय हो जाती ह जफ आऩ अऩन जीवन को

एक शानदाय रकषम का उऩहाय द दत ह 13 आऩ भानवता की सवा कयन की सोच को अऩनाकय एक रवजता की सोच

को अऩना सकत ह

एक शानदाय औय फमभसार जीवन की 52 याह

1 जीवन अऩन बीतय छऩी जफयदसत अॊदरनी शजतत को भानवता क रवकास भ उऩमोग कयन का एक भहान अवसय ह

2 परमास न कयना सचची हाय ह 3 आरोचक खद की ओय कबी नहीॊ दखता 4 आऩकी नज़य ही आऩको ददखन वार नज़ायो क लरए जजमभदाय ह 5 हय इॊसान अऩन बीतय भहानता क अनॊत फीज सॊजोए हए ह 6 आऩकी औय आऩकी सपरता भ आऩका सपर होन का तनणपम ही फाधा

ह 7 खद ऩय रवशवास कयक ही खद ऩय रवशवास कयना आता ह 8 फड़ा इॊसान को उसकी भहनत औय सवा कयन की सोच फनाती ह

9 खद को खोदना ही खद को खोजना ह 10 कोई बी भजशकर अऩन बीतय भौक क फीज लरए बफना नहीॊ आती 11 अऩन जीवन क असयदाय फनान क लरए खद को असयदाय फनान स

शरआत कीजजए 12 जफ आऩ सचभच दखना चाहग तो आऩको हय जगह भौक ही भौक

ददखन रगग 13 ईशवय आऩको हय ऩर जफयदसत परभ कय यहा ह 14 खद को काभमाफ होन क लरए तमाय कयना आऩकी खद की ही

जजमभदायी ह 15 सवा कयन की सोच ही आऩकी जजॊदगी को फलभसार फनाती ह 16 सनना बी एक तयह का सीखना ही तो ह 17 ऩाना ह तो खद भ जर यही ईशवय की जमोतत को ऩाम

18 आऩ लसपप तफ तक ही खद क फाय भ छोटा सोचत ह जफ तक आऩ अऩनी अनॊत अॊदरनी शजतत स अनजान ह

19 आऩ अऩनी तीसयी आॉख खोरन क लरए आतभ ऻान रना शर कय सकत ह

20 अऩन आज की सदऩमोग कीजजए 21 आऩकी सोच आऩकी ऩयी दतनमा क नाभ रवयासत ह 22 आऩका नाभ आऩक मोगदान स ही चभकता ह 23 आऩ सतम का ऩारन कयत कयत सवमॊ बी सतम ही सतमको परापत हो

जात ह 24 आऩ ईशवय दवाया अनॊत शजतत क उऩहाय क साथ इस धयती ऩय बज

गए ह चाह मह आऩको ऩता हो मा न ऩता हो 25 अऩन करयमय का चनाव कयत वक़त अऩन जनन को अऩना भागपदशपक

फना रीजजए 26 आऩको आऩक अरावा कोई अभीय सभदध औय सहतभॊद नहीॊ फना सकता 27 उतसाह का भहासागय आऩक अऩन ही बीतय ह 28 आऩका जीवन आज जसा बी ह आऩक अऩन ही कायण ह

29 खद स सचच रोग हो भानवता को याह ददखात ह 30 आऩकी खशी आऩक अऩन ही बीतय ह 31 आऩका सौबागम आऩक अऩन ही बीतय ह 32 आऩ अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनान का शानदाय कामप कय सकत

ह 33 आतभ ऻान परापत कयक कोई बी इॊसान अऩन जीवन को सचभच साथपक

फना सकता ह

34 अऩन जीवन क सफ़य को मादगाय फनान क लरए अऩन ही जीवन स हय ददन सीखना शर कय दीजजए

35 जजतना आऩ पमाय फाॉटग उतना ही जमादा आऩको पमाय फाॉटन का सौबागम लभरगा

36 आऩका नाभ आऩकी हय ददन की गमी ईभानदाय भहनत स ही इततहास फन सकता ह

37 जजस जीवन का कोई रकषम ह वही जीवन सही भामनो भ साथपक ह 38 पमाय इॊसान खद को हय ददन सपरता क लरए तमाय कीजजए 39 एक फाय जफ आऩक अऩन ही बीतय उजारा हो जाता ह तफ आऩका

जीवन सदा सदा क लरए योशन हो जाता ह 40 हय ददन सीखना ही हय ददन जीतना ह 41 वक़त बी तफ आऩक साथ होता ह जफ आऩ खद खद क साथ होत ह 42 जीवन भ जजस बी चीज़ की कीभत ह वह आऩको खद ही हालसर कयनी

होती ह

43 हय ऩर आऩ जीवन को एक ऩयभ आनॊद की तयह जी सकत ह 44 आऩ अऩनी खद क परतत सोच को फदर कय अऩन ऩय जीवन को फदर

सकत ह

45 एक फाय आऩको उऩमोग कयन की करा आ जाए तो जीवन भ ऐसा कछ बी नहीॊ जो उऩमाग भ न आ सक

46 जीवन एक शानदाय अवसय ह 47 जीवन एक फलभसार सौबागम ह 48 जीवन एक भहान सौगात ह 49 आऩकी सोच ही आऩका जीवन चरा यही ह 50 जजस याह ऩय भजशकर नहीॊ उस याह ऩय भौका नहीॊ

51 फड़ा सॊकट भतरफ फड़ा सौबागम 52 आऩ एक फाय खद क हो जाएॉ कपय साया जहान आऩका हो जाएगा

एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ

1 हय ऩर ऩयभातभा आऩको पमाय खशी शाॊतत औय आनॊद की शाशवत सौगात द यहा ह

2 हय इॊसान अऩन आऩ भ फलभसार औय अनठा ह 3 एक फाय ददर स मह भहसस कीजजए कक हय इॊसान फहद गणी ह औय कपय

जाद दणखम 4 आऩ जो अऩन लरए चाहत ह उस ऩहर दसयो को दना सीणखम 5 जवाफ तो सवार भ ही छऩा होता ह मह तो दखन वार ऩय तनबपय कयता ह 6 जीवन भ परभ आऩकी रह को ताज़ा कयन वारा एक फहद खास तोहपा ह 7 हय ददन को खद ऩय भहनत कयत हए मादगाय फनाम 8 हय ददन खलशमाॉ अऩन चायो तयप फाॊट औय हय ददन खश यह 9 जजस फात को हभ सच भन रत ह वही हभाय लरए सच फन जाती ह बर ही

वह असलरमत भ झठ ही तमो न हो 10 भजफत इॊसान हभशा भजफत रयशत फनाता ह 11 हभ सबी खद भ अनभोर उऩहाय सॊजोए हए ह 12 सच का समभान कयना सचभच आऩको फलभसार फनाता ह 13 आऩकी आॉख ही आऩक सऩनो की सचचाई फमाॉ कय दती ह 14 आऩकी सोच हय ददन आऩकी जजॊदगी का तनभापण कयती ह 15 पमाय इॊसान आऩ एक फाय अऩन अॊदय की आॉख तो खोलरम आऩक चायो

तयप गजफ क परगतत क अवसय हय ऩर भौजद ह 16 गरत मा सही हारात नहीॊ आऩका नजरयमा होता ह 17 अऩन आऩ को जानना एक ददन आऩकी सफस फड़ी खशककसभती फन जाती ह 18 आऩक डय आऩकी काभमाफी क दयवाजो ऩय तारो क सभान ह

19 आऩ जो दखत ह औय सनत ह वही आऩकी सोच फन जाती ह 20 सवा कयक खश यहना राज़भी ह 21 आऩ दसयो को कवर वही दीजजए जो आऩ अऩन लरए चाहत ह 22 आऩक काभ बफलकर ऩयी तयह स आऩकी सोच की तसवीय होत ह 23 पमाय इॊसान इस जगत भ कोई अऩना ऩयामा ह ही नहीॊ ह 24 आऩकी काभमाफी भ सभसत रवशव की खशहारी छऩी ह 25 हय ददन खद को खद ऩय रवशवास कयना आऩ जरय लसखाम 26 खद स ईभानदाय होकय ही आऩ खद की नज़यो भ ऊॉ चा उठ सकत ह

27 अऩन आऩ स जड़ना ही खशी का भर भॊतर ह

काभमाफ ववचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

1 हय नई भजशकर आऩक साभन एक नए भौका का ऩरयचम कयाती ह 2 आऩकी काभमाफी ईशवय का सऩना ह 3 आऩकी काभमाफी समऩणप भानवता की काभमाफी ह 4 आऩका रकषम भानवता की सवा कयना होना चादहए 5 आऩ हय ददन खद को एक फहतय इॊसान फना सकत ह 6 आऩ हय वमजतत को ददर स आदय द सकत ह 7 आऩ हय ददन अऩन जीवन क परतत सचचा आबाय वमतत कय सकत ह 8 आऩ हय उस वमजतत को खशी-खशी भाफ़ कय सकत ह जजसन कबी जान

अनजान भ आऩका ददर दखामा ह 9 आऩको हय ददन मह जरय सोचना चादहए कक आज आऩ अऩन जीवन को

एक नए सतय तक कस र कय जा सकत ह 10 आऩका जीवन आऩक दवाया गामा गमा एक शानदाय गीत होना चादहए

11 आऩ जजतना जमादा सवा कयन क लरए सभरऩपत होग उतना ही जमादा आऩका जीवन सौबागम क गीत गाएगा

12 आऩ एक नई तनगाह अऩना कय बफरकर एक नई दतनमा को दखन का सौबागम परापत कय सकत ह

13 हय ददन नमा सीख कय हय ददन को समभान दीजजए 14 खद को आज ही ककसी ईभानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दीजजए

कीकजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

आऩ अऩनी सफह को सचभच हय ददन योशन कय सकत ह आऩ हय सफह अऩन आऩ को ऩय ददन क लरए फलभसार अॊदाज भ तमाय कय सकत ह आऩ सफह जलदी उठन का साहलसक तनणपम र सकत ह आऩ हय सफह 5 फज उठ कय अऩनी हय सफह को समभान द सकत ह आऩ हय सफह उठत ही ईशवय को धनमवाद द सकत ह कक उनहोन आऩको एक नमा ददन वयदान क तौय ददमा ह औय आऩ इस ददन का सदऩमोग कयन का सचचा वामदा खद स कय सकत ह आऩ अऩन भाता रऩता क लरए शकरगजाय हो सकत ह आऩ अऩनी अचछी सहत क लरए ईशवय क शकरगजाय हो सकत ह कपय आऩ 20 लभनट की कसयत मा मोग कयन का गजफ का शजततशारी तनणपम र सकत ह उसक फाद आऩ 20 लभनट तक कोई बी परयणादामी ऩसतक ऩढन का अभय तनणपम र सकत ह ऩसतक जस रोक वमवहाय साध जजसन समऩतत फच दी आऩकी भतम ऩय कौन योएगा सोचचम औय अभीय फतनए सोच फदरो जजॊदगी फदरो फड़ी सोच का फड़ा जाद सपरता का अभत रयच डड ऩअय डड औय मह सची सचभच फहत ही रमफी ह तमोकक आऩ ककसी बी हद तक खद का तनभापण कय सकत ह औय दसया सीखन की सचभच कोई सीभा ह ही नहीॊ ह

कपय आऩ 20 लभनट तक अऩना जनपर लरख सकत ह जनपर का अथप एक ऐसा सथान ह जहाॉ आऩ हय ददन की अऩनी परगतत की मोजना हय ददन की लशा हय ददन की कामप सची हय ददन की परयणा हय ददन की यचनातभक यणनीतत लरख सकत ह जनपर लरखना एक फलभसार आदत ह आऩ आज स ही जनपर लरखन की अभय आदत शर कय सकत ह आऩ अऩन जनपर भ कभार क परयणा दन वार अभय रवचाय सफह सफह लरख कय खद को एक फलभसार रवजता की तयह तमाय कय सकत ह

म तीन ऐस गजफ क साहलसक तनणपम ह जो आऩको एक शानदाय असयदाय औय फलभसार जीवन का भागप ददखाएॊग आऩ अनभोर ह आऩ एक शानदाय जीवन जीन क सचचा हक यखत ह आऩ आज स ही अऩनी सोच को एक शानदाय जीवन जीन क लरए तमाय कय सकत ह माद यणखम दयी हभशा आऩकी तयप स होती ह आऩका बागम औय आऩकी सपरता तो हय ऩर आऩक ऩास आन क लरए फताफ होती ह आऩ आज स ही जीतन की तनणपम रकय जीतन की शरआत कय सकत ह

आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह

कछ ह ऐसा आऩक बीतय जो आऩको ऩयभ सौबागमशारी फनाता ह

कछ ह ऐसा ऻान जीवन भ जजस आतभ-ऻान कहा जाता ह जजस ऩाकय आऩ जीवन की समऩणपता को ऩा रत ह

कछ ह ऐसा हय सॊकट भ जो आऩका गजफ का रवकास कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी सोच भ जो आऩक जीवन क सच का हय ददन तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी तनमत भ जो हय ददन आऩकी तनमतत का तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩक दखो भ जो आऩको सख क लरए तमाय कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय ददन भ जो आऩको उऩहाय जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा हय हाय भ जो आऩको जीत जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा फड़ी सोच भ कभार का जाद जो आऩका फड़ा पामदा कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय इॊसान भ जो आऩक लरए लशा होता ही होता ह

कछ ह ऐसा आऩक जीवन क रकषम भ जो आऩक जीवन को भहान फनाता ही फनाता ह

आऩ सौबागम की सॊतान ह आऩका जनभ ऩयी सजषट क लरए ऩयभ सौगात ह

खद ऩय रवशवास कय औय इततहास यच

चमरए एक शानदाय कजॊदगी की ओय

1 सीखन की सोच ही जीतन की सोच का तनभापण कयती ह 2 एक इॊसान जीवन भ ककतना परापत कय सकत ह इसकी सीभा लसवाम उस

इॊसान क कोई दसया तम नहीॊ कय सकता 3 अऩन काभ (योजगाय) ऩय गवप कीजजए 4 आऩ जीवन भ काभमाफ होन की औय आग फढ़न की हय एक करा

तनजशचत रऩ स सीख सकत ह 5 आज स ही आऩ अऩन बीतय छऩी अनॊत शजततमो क परतत जागरक होना

शर हो जाइए 6 आज का ददन आऩको जीवन की ओय स लभरा एक शानदाय वयदान ह 7 सफह जलदी उदठए 8 हय ददन अऩन ददन की शानदाय शरआत कीजजए 9 तनसवाथप सवा भ आनॊद छऩा होता ह उस आनॊद का जीवन भ हय ददन

आनॊद जरय रीजजए 10 हभ सफ आऩस भ जड़ हए ह हभ सफ एक ह

11 जहान तक आऩ दख सकत ह वहाॊ तक आऩकी दतनमा परती चरी जाती ह

12 आऩ खद को एक शानदाय औय कभार की जजॊदगी जीन क लरए आज स ही तमाय कय सकत ह

13 आऩकी नमा सीखन की शजतत आऩक लरए एक फहत फड़ी सौगात ह 14 आऩक सॊकट आऩक ऩतक शबचचॊतक होत ह 15 भजशकर यासता ही आऩक जीवन को तनखायता ह

जीवन क 21 ऩयभ सतम

ऩयभ सतम 1

चभतकाय वो नहीॊ होता ह जो सॊकट की जसथतत भ आऩक साथ होता ह फजलक वो ह जो सॊकट का साभना कयत हए आऩक अॊदय होता ह

ऩयभ सतम 2

रवऩजतत भ ही समऩजतत का वास होता ह

ऩयभ सतम 3

हय ऩर आऩकी सोच आऩका बागम फना यही ह

ऩयभ सतम 4

कछ बी नमा सीखन क लरए सयर खरा औय उतसक रदम चादहए

ऩयभ सतम 5

जजतना आऩ खद को शजततशारी भानत ह उसस कहीॊ जमादा आऩ शजततशारी ह

ऩयभ सतम 6

हय एक इॊसान क बीतय काबफलरमत फदहसाफ ह

ऩयभ सतम 7

हयानी इस फात की नहीॊ ह कक आऩभ भता नहीॊ ह फजलक इस फात की ह कक आऩको अऩनी भता का ऩता ही नहीॊ ह

ऩयभ सतम 8

हय ऩर आऩक लरए खद को पमाय कयन का औय खद की सचची कदर कयन का एक भौका ह

ऩयभ सतम 9

जो आऩक अऩन बीतय होता ह वही आऩको चायो ओय ददखाई ऩड़ता ह

ऩयभ सतम 10

आऩकी जजॊदगी आऩक हाथ अगय ऐसा सभझोग तो आऩको लभरगा हय ऩर समऩणप रवशव का साथ

ऩयभ सतम 11

आऩक जीवन भ दबापगम आता ही आऩको सौबागम क भागप ऩय र कय जान क लरए ह

ऩयभ सतम 12

लभरता ह सफ कछ महाॉ उस जो ऩय ददर स भाॉगन की दहमभत यखता ह

ऩयभ सतम 13

अगय आऩको ऐसा रगता ह कक आऩको बगवान स कछ बी नहीॊ लभर यहा ह तो भय पमाय भनषम अबी इसी ऩर अऩन दोनो हाथो को खोर रीजजए तमोकक बगवान की कऩा हय ऩर हय एक ऩय फयस यही ह

ऩयभ सतम 14

भहनती आदभी जफ चरता ह तो उस हय तयप स सराभ फजत ह

ऩयभ सतम 15

हय ऩर आऩक ऩास एक चनाव ह कक आऩ अऩनी जजॊदगी को जो चाहो फना रो

ऩयभ सतम 16

बगवान की कऩा हय सचच औय भहनती इॊसान ऩय होती ह औय जफ होती ह तो भसराधाय होती ह

ऩयभ सतम 17

सभम फदर जाता ह औय ऩरयजसथतमाॉ फदर जाती ह भगय जीवन क भर सतम नहीॊ फदरत

ऩयभ सतम 18

आऩ अऩन ददभाग का भजशकर स 1 ही उऩमोग कयत ह

ऩयभ सतम 19 अऩन ददभाग को हय ददन खयाक दीजजए तमोकक एक फाय अगय इसन अऩन जाद ददखाना शर कय ददमा तो आऩक सात ऩशतो को भाराभार कय दगा

ऩयभ सतम 20

अऩन बीतय भौजद ऩयभ ऩजम ईशवय को हय ऩर समभान दीजजए

ऩयभ सतम 21

आऩ अनभोर ह आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह

जीवन भ एक चनौतीऩणथ रकषम होन क पामद

जफ आऩ खद को ककसी शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दत ह तबी स ही आऩक आतभ रवकास का फलभसार सफ़य शर हो जाता ह

आऩ हय ददन नमा सीखना शर कय दत ह

आऩ हय इॊसान की कदर कयना शर कय दत ह

आऩ नई-नई औय परयणादामी ऩसतक ऩढना शर कय दत ह

आऩ खद को एक भहततवऩणप वमजतत भानना शर कय दत ह

आऩ भहानता स सजा जीवन जीना शर कय दत ह

आऩ जीवन को एक उऩहाय की तयह जीना शर कय दत ह

आऩ हय ददन उतसादहत औय खश यहना शर कय दत ह

आऩ रगाताय रवकास कयना शर कय दत ह

आऩ एक शानदाय सहत का आनॊद हय ददन रना शर कय दत ह

आऩ हय ददन आचथपक रऩ स सभदध होत जात ह

आऩ एक चरऩमन फनन की याह ऩय चर दत ह

आऩ हय ददन जीवन क परतत एक सकायातभक औय उतऩादक नजरयमा यखना शर कय दत ह

आऩ भानवता क लरए एक ऩॊजी फन जात ह

आऩ खद स सचचा पमाय कयन रगत ह

जीवन

जीवन एक उऩहाय ह

जीवन एक शानदाय अवसय ह

जीवन एक सौगात ह

जीवन एक फलभसार भौका ह खद को ऩा रन का

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक खफसयत सौबागम ह

जीवन सीखना ह

जीवन एक उतसव ह

जीवन एक आनॊद ह

जीवन ईशवय का परसाद ह

जीवन खद को जानना ह

जीवन एक गजफ का फशतप उऩहायो स सजा गरदसता ह

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक सौबागम ह

जीवन जीवन ह

भहान रोगो की भहान आदत

भहान रोग धमान स साभन वार की फात सनत ह

भहान रोग अऩन जीवन को एक चनौतीऩणप रकषम का वयदान दत ह

भहान रोग हय ददन अऩन काभकाज क तहत अऩन जनन का ऩीछा कयत ह

भहान रोग अऩन जीवन को भहान रवचायो क अनसाय चरात ह

भहान रोग भहान रोगो क साथ ही अऩन सभम को बफतान का चनाव कयत ह

भहान रोग रगाताय अचछी ककताफ ऩढ़त ह

भहान रोग रगाताय असपर होत ह इसीलरए भहान रोग कबी न रकन वार होत ह तमोकक असपरता उनह डयाती नहीॊ ह फजलक उनह ओय जमादा तनखयन क लरए पररयत कयती ह

भहान रोग हय ददन नमा सीखत ह

भहान रोग अऩन कामो क कायण भहान फनत ह

भहान रोग रगाताय खद क ही रयकॉडप को तोड़त यहत ह

भहान रोग खद की जफयदसत कदर कयत ह

भहान रोग सचभच भहान सोच क भालरक होत ह

भहान रोग हभशा बीड़ स हट कय सोचत ह

भहान रोग रोगो की सचची कदर कयत हए उनस नमा सीखत यहत ह

भहान रोग रोगो की सवा कयन भ भादहय होत ह

भहान रोग भाॉ क ऩट स भहान ऩदा नहीॊ होत जीवन भ अऩन दवाया ककम गए कामो स वह भहान फनत ह औय ऐसा अवसय ईशवय न आऩको बी परदान ककमा ह

आऩ बी आज स एक भहान इॊसान क तौय ऩय अऩन जीवन को जीन का चनाव कय सकत ह

सॊकट क 15 शानदाय राब

1 सॊकट आऩका रवकास कयता ह 2 सॊकट आऩको नमा लसखाता ह 3 सॊकट आऩको सौबागम का उऩहाय दता ह 4 सॊकट आऩको एक फहतय वमजतत फनाता ह 5 सॊकट तफ तक आता ह जफ तक आऩभ नमा सीख कय जीवन भ नए सतय

तक ऩहॉचन की सचची मोगमता भौजद यहती ह 6 सॊकट आऩका सपरता क सफ़य भ सचचा साथी होता ह 7 सॊकट को सॊकट की तयह दखना ही सचभच सॊकट ह 8 सॊकट एक ऐसा शानदाय भौका होता ह जो आऩको हय हार भ सौबागम का

ही वयदान दना चाहता ह 9 सॊकट अगय ह तो आग फढ़न क औय नमा सीखन क यासत ह 10 सॊकट आऩको ददखाई तफ दता ह जफ आऩका अऩन रकषम क परतत सभऩपण

कभ हो जाता ह

11 सॊकट का साभना कीजजए औय सॊकट को जीत रीजजए 12 हय ददन एक नमा सॊकट आऩक जीवन भ आना आऩक लरए फहद शब ह 13 नमा सॊकट भतरफ नमा अवसय जीवन भ एक कदभ औय आग फढ़न का 14 सफस फड़ा सॊकट ह आतभ-अऻान 15 आऩको सॊकट दना जीवन का एक नामाफ तयीका ह आऩको आऩकी अॊदरनी

शजतत स लभरान का

सपरता क 15 अभय सतर

1 अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का वयदान दीजजम 2 हय ददन सफह जलदी उदठए औय अऩनी सोच को जफयदसत सकायातभक

फनान क लरए परयणादामी ऩसतक ऩदढ़ए 3 हय ददन को खद को ओय जमादा भजफत फनान क एक शानदाय अवसय

क तौय ऩय दणखम 4 हय सॊकट को तयतकी क फलभसार भागप की तयह दणखम 5 हय इॊसान स कछ न कछ सीखन की सोच यखत हए फात कीजजए 6 हय ददन नमा सीख कय हय ददन का समभान कीजजए 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजम 8 हय ददन कसयत कीजजए तमोकक आऩकी सहत आऩकी काभमाफी भ अहभ

बलभका तनबाती ह 9 आऩकी अॊदरनी शजतत वाकई अनॊत ह 10 आऩ ऩय रवशव क लरए फहद बागमशारी ह 11 आऩकी सफस फड़ी काबफलरमत आऩकी हय ददन रवकास कयत हए आऩक

जीवन को फलभसार फनान की काबफलरमत ह 12 आऩ अऩन बागम क एकरौत भालरक ह 13 सपरता का सचचा अथप ह खद को हय ददन इॊसातनमत क रवकास भ

साथपक मोगदान क लरए रामक फनाना 14 सपर होन का सथामी तयीका ह खद को इॊसातनमत की जडो को ऩोषण

दन क लरए फशतप सभरऩपत कय दना

15 आऩ एक मोगम फलभसार औय शानदाय वमजतत ह

सौबागम क ऩववतर फीज

1 जफ आऩ खद सही नजरयमा अऩना रत हो तो आऩका सफ कछ सही हो जाता ह

2 ककसी इॊसान को आऩ ककस तनगाह स दखत हो साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह

3 ककसी काभ को आऩ ककस तनगाह स दखत हो इसक भताबफक ही आऩको वह काभ ऩरयणाभ दता ह

4 आऩकी सोच क ऊऩय उठन स ही आऩ ऊऩय उठ सकत ह 5 जो आऩको जीवन भ खशी औय काभमाफी क लरए जरयी साभान चादहए वह

सफ कछ ऩहर स ही आऩक बीतय ह 6 हय एक इॊसान अदबत ह तमोकक हय इॊसान क ऊऩय ईशवय की ऩरवतर भोहय

ह 7 जो इॊसान खद स खश ह वही दतनमा की खशहारी भ सचचा मोगदान द यहा

8 हय ऩर हभ सफक ऩास अनॊत-अनॊत भातरा भ वह सफ कछ भौजद ह जो हभ सचभच खश यहन क लरए चादहए

9 आऩ जीवन क परतत शकरगजाय हो कय फहत जमादा बागमशारी फन सकत ह 10 खद परकाश का ददवम सतरोतर फन जाना ही सवोतभ उऩाम ह 11 आऩको जफ आऩ ही नहीॊ ऩहचान यह ह तो ककसी औय स ऐसी उमभीद तमो

कय यह ह

12 गजफ ह कक हय इॊसान खद भ अनॊत शजतत का भहासागय सॊजोए हए ह कपय बी कहता ह कक भ कभजोय हॉ

13 आऩका बागम बगवान जी नहीॊ फजलक आऩकी सोच औय आऩकी भहनत लरखती ह

14 भहनती क घय रकषभी नाचती ह 15 काश भ आऩको फता ऩता कक आऩका जीवन ककतना जमादा अनभोर ह 16 जो खद को याह ददखा ऩा यहा ह सचभच दसयो को याह ददखान का हक बी

उसको ही ह 17 सफ कछ तो अबी इसी ऩर भौजद ह हभ ही कहीॊ औय उरझ हए ह 18 काभमाफ होन का भौका तो हय एक को हय ऩर लभर यहा ह ऩय भौका

अतसय भसीफतो क कऩड़ ऩहन कय आता ह 19 रवऩजतत भ ही समऩजतत छऩी होती ह 20 हभ सफ फदहसाफ शजतत क अनभोर खजान ह 21 कछ ह हभाय बीतय जो सदा स ह औय सदा ही यहन वारा ह 22 दखन वार क अॊदय ही वह छऩा ह जजस दखा जाना ह 23 आऩक भाता-रऩता का आशीवापद आऩक लरए फहद अनभोर ह 24 हभ खद ही खदा स लभरन भ सफस फड़ी ददतकत ह 25 साफ़ तनमत आऩको गजफ की फयकत दती ह 26 भजफत इयाद भजफत ऩरयणाभ रकय आत ह 27 जफ इॊसान खद भ रवशवास ददखाना शर कयता ह वहीी स उसक जीवन भ

चभतकाय होना शर हो जात ह 28 रगाताय खद ऩय भहनत कीजजए मह इकरौता तयीका ह ईभानदाय सपरता

परापत कयन का 29 आऩक दवाया आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩको फनान

औय लभटान दोनो की जादई मोगमता यखत ह 30 खोज यह ह हभ बफना मह ऩता कक खोजना तमा ह

हय ददन खद को ननखाय

हय ददन खद को तनखायना ही हय ददन का सचचा समभान कयना ह आऩकी हय ददन सफह उठत ही ऩहरी पराथलभकता मह होनी चादहए कक ककस तयह आऩ आज क ददन को अऩन जीवन का सफस खास ददन फना सकत ह हय नमा ददन आऩको नए अवसय उऩहाय भ दता ह हय ददन का खर ददर स सवागत कीजजए हय ददन नमा सीणखम हय ददन खद को पमाय दीजजम हय ददन अचछ औय सवमॊ को ऩोरषत कयन वार रवचाय सतनम हय ददन अऩन नजरयए को गजफ का सकायातभक यणखम हय ददन आऩकी सचची सवा कयत हए आऩको अनको परगतत क अवसय दता ह आऩ हय ददन नए रोगो स लभर हय ददन नए सऩन दख हय ददन कसयत कय हय ददन का आबाय खर ददर स परकट कय हय ददन अऩन रकषम की ददशा भ जरय फढ़ हय ददन एक कदभ उठाम अऩन आऩ को एक फहतय इॊसान फनान की ददशा भ हय ददन अऩन जीवन क सचच उददशम क परतत सभरऩपत यह हय ददन हय एक वमजतत स खफ उतसाह स लभर हय ददन ऩसतक ऩढ़ हय ददन अऩन रकषमो को लरख हय ददन कछ सभम अकर भ बफताम हय ददन अऩन जीवन भ शकरगजाय होन क नए नए भौक तराश हय ददन अऩन आऩ को एक गहया वमजतत फनाम हय ददन खद को समभान दत हए हय ददन खद का तनभापण कय हय ददन अऩन काभ को सभरऩपत होकय कय हय ददन भहान रोगो क रवचाय ऩढ़ हय ददन सॊकटो को सौबागमो भ फदर द

धनमवाद ऩतर

इस ऩसतक को अऩनान क लरए औय इसभ छऩ भहान सपरता क सचच सॊदश को समभान दन क लरए आऩको ददर स धनमवाद दत ह आऩका जनभ सचभच एक भहान जीवन जीन क लरए हआ ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आज स ही आऩ अऩन सऩनो का जीवन जीन का सचचा तनणपम र सकत ह आऩको एक शानदाय जीवन जीन का सचचा हक दन वार ईशवय को ददर स धनमवाद हभायी ऩहरी ऩसतक सपरता का अभत को ददर स अऩनान क लरए एक फाय कपय स आऩको धनमवाद

रवशष आबाय

इस शानदाय सऩन को सच फनान भ आऩ सबी का फहद अहभ मोगदान यहा ह -

पमाय ईशवय को रवशष आबाय पमाय भाता रऩता का रवशष आबाय हभाय सबी आरोचको का रवशष आबाय हभाय सलभनायो भ आम हजायो रोगो को रवशष आबाय सभाज भ अऩन अऩन अॊदाज भ सकायातभक ऊजाप परान वार हय एक आदय मोगम बाई औय फहन को ददर स आबाय

औय आऩको आबाय

आऩक बीतय छऩी आऩको भहान फनान की फलभसार ताकत को आबाय

आऩ अनभोर ह

आऩ अनभोर ह

Page 3: सफलता का अमृत 2

सभऩपण

मह ऩसतक आऩकी सपरता की शानदाय मातरा को सभरऩपत ह मह ऩसतक आऩक बीतय भौजद ईशवय क ततव को सभरऩपत ह मह ऩसतक आऩकी सपरता की मातरा को शानदाय औय आनॊदभमी फनान क लरए लरखी गमी ह आऩकी सवा ही हभाया सचचा आनॊद ह हभ आऩकी जजॊदगी को हय ददन फहतय फनान क लरए आतभा स सभरऩपत ह एक इॊसान होन क नात एक दसय की सचची भदद कयना सचभच एक सौबागम ह

आऩ एक शानदाय जीवन क सचच हकदाय ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आऩका जनभ आऩक सऩनो का जीवन जीन क लरए हआ ह आऩ बागम की सॊतान ह

अगय मह ऩसतक आऩको कछ बी पामदा ऩहॊचाम तो आऩस रवनतत ह कक इस अऩन जस औय रोगो को बी जरय बजजएगा आऩ अनभोर ह

अऩनी पीडफक हभ आऩ इस तयह स बज सकत ह

successcoachingismylifegmailcom

wwwfacebookcomdeepakburfiwala

wwwdeepakburfiwalablogspotin

ववषम सची 1 20 VISIONARY IDEAS FOR YOU TO BECOME A BETTER YOU

EVERY SINGLE DAY

2 32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

3 75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

4 HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR GOD

5 INNER WEALTH

6 अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

7 अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह 8 असपरता का सचचा अथप

9 असाधायण रोगो क 10 फलभसार गण

10 आऩ एक वयदान ह 11 आऩका सचचा ऩरयचम

12 आऩकी काभमाफी को सभरऩपत 15 शजततशारी रवचाय

13 आऩकी सपरता को सभरऩपत 30 जादई औय परयणादामी रवचाय

14 गजफ की शजतत ह आऩकी सोच भ 15 आऩक द ख ही आऩक सख ह 16 आऩक लरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

17 आऩक लरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

18 आऩक लरए कछ नए औय शानदाय रवशवास आऩक खद क फाय भ 19 इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का जजसन खद ही खद की ककसभत को

फनामा 20 उतसाह क साथ लशखय की मातरा का आनॊद

21 एक घय ऐसा बी ह जजसभ

22 एक फलभसार जीवन क लरए 51 गरभॊतर

23 एक रवजता सोच की शजतत

24 एक शानदाय औय फलभसार जीवन की 52 याह

25 एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ 26 काभमाफ रवचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

27 कीजजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

28 आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह 29 चलरए एक शानदाय जजॊदगी की ओय

30 जीवन क 21 ऩयभ सतम

31 जीवन भ एक चनौतीऩणप रकषम होन क पामद

32 जीवन

33 भहान रोगो की भहान आदत

34 सॊकट क 15 शानदाय राब

35 सपरता क 15 अभय सतर

36 सौबागम क ऩरवतर फीज

37 हय ददन खद को तनखाय धनमवाद ऩतर

रवशष आबाय

20 VISIONARY IDEAS FOR YOU TO BECOME A BETTER

YOU EVERY SINGLE DAY

1 Live life in your own way

2 Run your own race

3 Challenge yourself every day for better

4 Truest joy is joy of serving humanity

5 Discover your calling

6 Program yourself to succeed in life every day

7 Top class thoughts create top class results

8 Believe in yourself to achieve your dreams

9 Grow your consciousness every day

10 Be an asset for humanity

11 Speak to serve people

12 Listen to understand people

13 Your true power is infinite

14 Develop yourself daily

15 Connect to your inner self to live fully

16 Awareness brings freedom in your life

17 Awareness is about knowing your inner self

18 Change your thoughts to change your results

19 Follow your passion

20 Be a life visionary

32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

1 खद को जातनए औय खद को ऩा रीजजए 2 आऩक रवचाय ही आऩका सॊसाय ह 3 आऩका वमवहाय ही आऩकी ऩॊजी ह 4 आऩ कछ बी सीख सकत ह औय कछ बी फन सकत ह 5 सऩन ऩय कयन क लरए सऩन जरय दणखए 6 आऩका सभऩपण आऩकी सपरता को आकरषपत कयता ह 7 कवर सतम ही आऩको भतत कयन की शजतत यखता ह 8 हय ददन नमा सीखना हय ददन जीना ही तो ह 9 आऩकी ककसभत खयाफ ह मह लसपप आऩका एक रवचाय ही तो ह 10 खद को हय ददन काबफर फना कय आऩ कछ बी परापत कय सकत ह 11 आऩ खद ऩय हय फाय ऩया बयोसा कय सकत ह 12 जीवन हय ऩर आऩको खद को रवकलसत कयन क फदहसाफ अवसय द यहा

ह 13 जजतना आऩ खद को जानत जात ह उतना ही खद ऩय आऩको रवशवास

होता जाता ह 14 आऩ अऩन बागम की जजमभदायी खद रकय सचभच बागमशारी फन सकत

ह 15 आऩका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह 16 सच मह ह कक आऩकी शजतत अनॊत ह 17 आऩकी फाहय की दतनमा आऩकी बीतय की दतनमा का दऩपण भातर ह 18 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 19 सवा कयक सचभच शाॊतत लभरती ह

20 खद को जान रन क फाद खद स फशतप परभ खद फ खद हो जाता ह 21 ऩयी तयह सपर औय ऩयी तयह असपर कोई इॊसान ह ही नहीॊ ह 22 आनॊद को आऩ खोजत तो फाहय ह भगय होता मह आऩक अऩन ही अॊदय

ह 23 जो आऩ दखना चाहत ह आऩ लसपप वही दख ऩात ह 24 एक शानदाय जीवन जीना आऩका हक ह

25 सचची अभीयी आतभ ऻान ह 26 सॊकट आता ही आऩको भजफत फनान क लरए ह 27 जजतन आऩ खद स ईभानदाय होग उतना ही आऩ खद का आदय कयग 28 आतभ रवशवास स ऩहर आतभ ऻान आता ह 29 अगय आऩ जजॊदा ह तो आऩको जीवन क परतत तनयाश होन का कोई हक

नहीॊ ह 30 आऩ अऩन आऩ क लरए फहद बागमशारी ह 31 खद को खोजजए 32 सभरदध आऩका सचचा हक ह

75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

1 Laugh daily

2 Exercise daily

3 Dream daily

4 Think bold daily

5 Read daily

6 Imagine daily

7 Live life of purpose daily

8 Learn from your past

9 Discover your calling

10 Leave the crowd

11 Honor your intuitions

12 Write your goals daily

13 Be yourself

14 Challenge your challenges

15 Become a better person every day

16 Serve humanity

17 Learn from wisdom quotes

18 Write and frame the purpose of your life

19 Problems are platforms

20 Grow your consciousness every day

21 Design your life every day

22 Make your thinking your biggest asset

23 Work hard to work smarter

24 Hard work is good for your health as well

25 Live life like a life passionate lover

26 Expand your thinking every day

27 Celebrate your daily performance

28 Develop yourself daily

29 Respect yourself

30 Create your luck

31 Listen audio programs on personal development daily

32 Sleep less to grow more

33 Go for wisdom

34 Choose wisdom over knowledge

35 Work on your inner life

36 Dedicate yourself towards life-long learning

37 Discover your inner strength

38 Think different to think like tycoons

39 Wake up at 5am daily

40 Adopt a belief system of winners

41 Lead life to live life

42 Express your genius through your work daily

43 Write in a journal daily

44 Think long term

45 Be a passionate life learner

46 Visit library once in a week

47 Commit to working hard till your last breathe

48 Your language is your presentation

49 People who give up are the losers

50 Run your own race

51 Mastery attracts challenges continuously

52 Leave the crowd to lead the crowd

53 Champion your thoughts to champion your life

54 Daily hard work attracts mastery

55 Live your life as per your inner taste

56 Practice rare stuff to get rare results

57 Win in mind first to win in actual

58 Believe in yourself to achieve the impossible

59 People always laugh at man on progress

60 Spend more time with creative people

61 Be lady gaga of your field

62 Be Nelson Mandela of your field

63 Be bill gates of your field

64 Be J K Rowling of your field

65 Go deep to know things deeply

66 Dare to see the picture behind every picture

67 Selfish people are liability even for their own selves

68 Dream bold dreams to check your true inner power

69 Your mind power is infinite

70 Dare to think beyond the crowd

71 Listen to your heart to be a brand

72 Struggle gifts strength

73 Purpose of life is becoming more helpful for humanity every single day

74 Selfless people are history makers

75 Life is an awesome gift of god to you

HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR

GOD 1 Donrsquot disgrace god by playing small with your inner infinite creative

potential

2 God has gifted you with inner infinite creative potential

3 Within you lies the treasure of inner infinite creative potential

4 Your success is godrsquos success

5 Your success is humanityrsquos success

6 Your success is success of that power which lies every single second within

you

7 You are a master-piece and original kindly donrsquot imitate someone

8 You have infinite seeds of greatness within you

9 You have the power to manifest your ultimate destiny

10 Biggest resource that you are having at this moment is your decision to

choose your destiny

11 Be a leader and gift yourself a vision for your life

12 Every single day is a world class platform to become more and achieve more

as a person

13 You shine when you face adversity

14 Problems are your honest servants as they serve you by developing you

15 You must master your thinking to master your destiny

16 You are free if you are rightly educated

17 You have the power to live your life in your style

18 Run your own race to win the race with grace

19 Bigger the obstacle bigger the rewards

20 Harder you work smarter you become

INNER WEALTH

Inner wealth is open to all of us

Inner wealth is actual wealth

Inner wealth is infinite for all of us

Inner wealth can be achieved by becoming a better person every day

Inner wealth can be achieved by discovering your calling

Inner wealth can be achieved by challenging yourself for better

Inner wealth is a gift that one can as a result of his daily inner growth

Inner wealth gives you joy as it is a result of your daily self-realization

Inner wealth is obtained when it becomes ultimate aim of your life

Inner wealth is obtained by life visionaries

Inner wealth is achieved by leaving the crowd and listening to your own heart

Inner wealth is achieved by those who refuse to give up at the times of pains and

challenges

Inner wealth is achieved by people who are truly passionate about achieving inner

wealth

अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

1 आऩ एक शानदाय जीवन जी सकत ह 2 आऩ एक परचयता स बया जीवन जी सकत ह 3 आऩ शकरगजायी की भहान बावना स सजा जीवन जी सकत ह 4 आऩ भानवता क फलभसार इततहास भ अऩना नाभ दजप कया सकत ह 5 आऩ गजफ क आतभ रवशवास क भालरक हो सकत ह 6 आऩ एक अभीय औय बफलकर खशहार जजॊदगी हय ददन जी सकत ह 7 आऩ इस फात की ऩयवाह ही नहीॊ कयग कक रोग आऩको तमा कहत ह 8 आऩ हय ददन सभरदध की सीढ़ी चढ़त जात ह 9 आऩ हय इॊसान को आदय क बाव स दखन रगत ह 10 आऩ खद स फदहसाफ पमाय कयन रगत ह 11 आऩ सचभच जीवन का समभान कयन रगत ह 12 आऩ परकतत क यहसमो को धीय-धीय सभझन रगत ह 13 आऩ भानवता क सचच सवक फनन रगत ह

14 आऩ जीवन भ ककसी बी भकाभ तक आसानी स ऩहॉच सकत ह 15 आऩ हय वो सऩना सच कय सकत ह जजस आऩ हभशा स दखत आम ह 16 आऩ ऩयी भानवता को सचभच याह ददखा सकत ह 17 आऩ सचभच एक फलभसार जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह

अभीय सोच सचभच आऩको अभीय फना दती ह वाकई अभीय सोच कोई बी अऩना कय अभीय फन सकता ह अभीय सोच क कछ रण इस परकाय ह

1 अभीय इॊसान अऩन जीवन की जजमभदायी खद रता ह 2 अभीय इॊसान हय ददन नमा सीखता ह 3 अभीय इॊसान सॊकट को सपरता की नीॊव सभझता ह 4 अभीय इॊसान जीवन को एक वयदान की तयह जीता ह 5 अभीय इॊसान हय ददन खद को तनखायता ह 6 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी जजॊदगी उसक खद क रवचायो का ही

परततबफॊफ होती ह 7 अभीय इॊसान अभीय रोगो की सोच की सचभच कदर कयता ह 8 अभीय इॊसान हय ददन को परगतत कयन क भॊच क तौय ऩय दखता ह 9 अभीय इॊसान सचभच खद भ रवशवास कयता ह 10 अभीय इॊसान फड़ धमान स सनता ह 11 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी ककसभत उसक अऩन ही हाथ भ ह 12 अभीय इॊसान नए-नए रोगो स रगाताय लभरता ह ताकक अऩन काभ को औय

अचछ तयीक स कय सक 13 अभीय इॊसान हय ददन अचछी ऩसतक ऩढता ह 14 अभीय इॊसान हय ददन सऩन दखता ह 15 अभीय इॊसान जीवन को ऩय उतसाह क साथ जीता ह 16 अभीय इॊसान मह भानता ह कक उसकी भहनत हय ददन उस परगतत क नए-

नए अवसय दती ह 17 अभीय इॊसान खरकय अभीयी क रवचाय सबी स साॊझ कयता ह

18 अभीय इॊसान सचभच चाहता ह कक जमादा स जमादा रोग सभरदध का जीवन जीम

19 अभीय इॊसान ददर स मह सभझता ह कक अभीयी सचभच हभाय अऩन ही हाथ की फात ह

20 अभीय इॊसान सचभच सवा कयत हए अभीय फनता ह 21 अभीय सोच का अथप ह कक सभाज की सवा कयन की सचची औय ईभानदाय

सोच यखना 22 अभीय सोच का अथप ह कक जीवन का समभान कयत हए जीवन को ऩय जोश

औय उतसाह क साथ जीना

असपरता का सचचा अथथ

1 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ रगाताय परमास कय यह ह 2 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ अऩनी सोच को हकीत भ फदरन

की जादई ताकत यखत ह 3 असपरता आऩको भजफत फनाती ह 4 असपरता आऩको शानदाय अनबव दती ह 5 असपरता आऩको जीवन भ कछ फड़ा कयन की गजफ की परयणा दती ह 6 असपरता आऩको बीड़ स अरग कयत हए इततहास यचन वारो क फीच

राकय खड़ा कय दती ह 7 असपरता आऩको ऩयी ताकत क साथ दोफाया शर कयन की परयणा दती

ह 8 असपरता आऩकी सोच को गहया फना दती ह 9 असपरता सपरता की जड़वाॉ फहन ह 10 असपरता आ यही ह भतरफ आऩ अऩना सवोतभ दन का रगाताय

परमास कय यह ह 11 असपरता आऩको हय ददन अरग अरग तरो भ लभरती ही यहती ह जफ

बी आऩ कछ नमा कयन की कोलशश कयत ह 12 असपरता आऩकी परगतत क लरए फहद जरयी ह 13 असपरता आऩको एक फाय कपय नमा सोचन का अवसय दती ह 14 असपरता ही आऩकी सपरता फन जाती ह जफ आऩ इसस लशा रकय

जीवन भ एक कदभ ओय आग फढ़ जात ह 15 असपरता आऩकी आवाज भ लभठास औय रवनमरता रकय आती ह

असाधायण रोगो क 10 फमभसार गण

1 असाधायण रोग हय ददन एक सऩषट जीवन रकषम क साथ आग फढ़त ह 2 असाधायण रोग हय ददन नमा सीखत ह 3 असाधायण रोग हय ददन जमादा स जमादा सपर रोगो क साथ अऩना नटवकप भजफत कयत ह 4 असाधायण रोग हय ददन सऩन दखत ह 5 असाधायण रोग इस फात भ गहया रवशवास कयत ह कक जीवन भ ककसी बी इॊसान क लरए कोई कभी नहीॊ ह अभीय इॊसान नहीॊ अभीय दयअसर एक सोच होती ह जजस कोई बी इॊसान अऩना सकता ह 6 असाधायण रोग दसय रोगो क रवकास भ अहभ बलभका तनबात ह 7 असाधायण रोग ईशवय क दवाया हय इॊसान को ददए गए चायो उऩहायो (शयीय भजसतषक रदम आतभा) का हय ददन बयऩय उऩमोग कयत ह 8 असाधायण रोग अऩनी फात को कहन की करा भ खद को तनऩण फनात ह 9 असाधायण रोगो की दोसती बी असाधायण रोगो क साथ ही होती ह तमोकक आऩक दोसत आऩक बागम क तनभापण भ फहत जरयी बलभका तनबात ह 10 असाधायण रोग हय ददन अऩन काभ का पीडफक रत ह औय खद को हय ददन भजफत फनात ह

आऩ एक वयदान ह

आऩ अनभोर ह

आऩ फलभसार ह

आऩ अनॊत शजतत क भालरक ह

आऩ फलभसार काबफलरमत का खजाना सवमॊ भ सॊजोए हए ह

आऩकी कलऩना शजतत अनॊत ह

आऩका भजसतषक एक गजफ का ताकतवय कॊ पमटय ह

आऩकी ककसभत शानदाय ह

आऩ अऩन जीवन को ककसी बी ददशा भ र जा सकत ह

आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह

आऩ भानवता की सवा कयक भहान फनन का चनाव कय सकत ह

आऩ अऩन जीवन को दसयो क लरए एक परयक जीवन फना सकत ह

आऩ सवमॊ भ छऩी अनॊत शजततमो को ऩान क परतत सभरऩपत हो सकत ह

आऩ ऩयी दतनमा घभ सकत ह

आऩ अऩन नाभ को एक बाॊड फना सकत ह

आऩ अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना सकत ह

आऩ भजशकर को भौक भ फदर कय भजशकर को समभान द सकत ह

आऩका सचचा ऩरयचम

आऩ एक चभतकाय ह आऩ सौबागम क अनॊत फीज खद भ सॊजोए हए ह आऩक बीतय एक कभार की शजतत ह जजसका आऩको जीत जी जरय एहसास कयना चादहए ऩयी दतनमा क लरए आऩका जनभ एक भहासौबागम ह आऩ एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद हय ददन र सकत ह आऩ हय ददन सफह जलदी उठ कय अऩनी ककसभत का तनभापण कय सकत ह आऩक सॊकट आऩका रवकास कयत ह आऩक रकषम आऩका रवकास कयत ह आऩ आज स ही अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय सकत ह आऩ भानवता की सवा कयक जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह आऩका जीवन आऩको लभरा एक शानदाय उऩहाय ह आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह आऩ हय ददन एक नमी सोच अऩना कय नए ऩरयणाभ परापत कय सकत ह आऩ जजतना जमादा खद को जानोग उतना ही खद स पमाय कयत चर जाओग आऩ जीवन क परतत सभरऩपत होकय अऩन जीवन को एक उतसव की तयह जी सकत ह आऩ हय ददन नए सऩन दख सकत ह आऩ अनभोर ह आऩ अनभोर ह

आऩकी काभमाफी को सभवऩथत 15 शकततशारी ववचाय

1 आऩ फदहसाफ आॊतरयक शजतत क भालरक ह 2 आऩ ऩय बहभाॊड क लरए फहद शब औय सौबागमशारी ह 3 आऩकी कलऩना कयन की शजतत अनॊत ह 4 आऩकी आतभ सधाय कयन की भता अनॊत ह 5 आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह 6 सवसथ का अथप ह सवमॊ भ जसथत होना 7 सवाथप का सचचा अथप ह सवमॊ क सचच औय गहय अथप को सभझना 8 ऩागर का अथप ह जजसन ऩा लरमा गर (काभ की फात मा सचची फात)

को 9 ऩागर का अथप ह ऩाक (रहानी) फात कयन वारा 10 आज अबी औय इसी ऩर आऩ एक काबफर शानदाय फलभसार औय

सभदध वमजतत ह 11 आऩ कबी बी कछ बी सीख कय ककसी बी तर भ भहायत हालसर कय

सकत ह 12 आऩका जनभ एक सखद उऩहाय ह ऩयी भानवता क लरए 13 सभसत धयती आऩकी अऩनी ह 14 आऩका बागम ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह 15 आऩभ अनॊत सॊबावनाएॊ छऩी ह

आऩकी सपरता को सभवऩथत 30 जादई औय परयणादामी ववचाय

1 ऩहर अऩन रकषम क परतत सभऩपण औय कपय उस सभऩपण की हय कीभत चकान की दहमभत चादहए तफ जाकय सपरता आऩक कदभ चभती ह

2 ककतनी पमायी फात ह कक हभ खद को आदय दकय अऩन बीतय भौजद ईशवय को ही तो आदय दत ह

3 सयरता सवगप ह जफकक उरझन नकप ह 4 ककतनी कभार की फात ह कक हभ सफ जीवन भ आसान यासत चाहत ह

भगय हभाया रवकास लसपप भजशकर यासतो ऩय चर कय ही होता ह 5 सफको अऩना बरवषम जानन की फड़ी आतयता यहती ह जफकक अऻात भ

जीन का भजा ही तनयारा ह 6 हय ऩर आऩ खद क फनाम सवगप भ मा कपय खद क फनाम नकप भ यहन का

चनाव कयत ह

7 खद का सधाय ककम बफना दसय को सधायन की कोलशश कयना वमथप का परमास साबफत होता ह

8 अऩनी गरती कोई नहीॊ भानता जफकक अऩनी गरती भान कय अऩन आऩ को सधायन का आनॊद गजफ का ह

9 भजशकर हारात आना इस फात का सफत ह कक आऩ परगतत क ऩथ ऩय ह 10 सफको फशतप पमाय दीजजए तमोकक परभ आऩक ऩास फदहसाफ भातरा भ भौजद

ह 11 आऩ खद ही अऩनी सोच को काभमाफी की ददशा भ रकय जा सकत ह 12 सच क यासत ऩय तनयॊतय चरना आऩको एक अदबत आनॊद दता ह 13 अऩन जीवन भ आन वारी सभसमाओॊ का खफ आनॊद रीजजए तमोकक म

आऩक लरए परगतत क शानदाय अवसय र कय आती ह

14 हय सपर इॊसान ककसी फड़ी चनौती का साभना कयत हए खद को भजफत फना कय सपर फनता ह

15 नज़ाया चाह कछ बी हो हभायी नज़य वही दखती ह जो दखन क लरए हभ इस कहत ह

16 कबी कबी इॊसान जजस जीत सभझता ह वह हाय होती ह औय जजस हाय सभझता ह वह जीत होती ह

17 3 सभम बोजन अगय आऩ हय योज़ कयत ह तो आऩको योज़ 3 सभम कछ न कछ नमा जरय सीखना चादहम

18 जीवन भ आऩको आऩक लसवा कोई खश मा दखी कय ही नहीॊ सकता 19 परभ भ सवाथप नहीॊ औय जहाॉ सवाथप ह वहाॉ परभ नहीॊ 20 ईशवय हभ हय ऩर हभाय सवोतभ रऩ भ ऩहॉचन क लरए भागपदलशपत कय यहा

ह 21 जफ जफ आऩकी तनमत साफ़ यहती ह तफ तफ आऩको ऩरयणाभ भ फयकत

बी जफयदसत होती ह 22 इॊसान जीवन भ अऩनो औय ऩयामो को ही खोजन भ रगा यहता ह जफकक

अऩना ऩयामा कोई ह ही नहीॊ 23 आऩकी भहनत अगय फकाय चरी गमी तो वो भहनत थी ही नहीॊ 24 खद क अहॊकाय को काट बफना जीवन भ खशी का ऽजाना नहीॊ लभरता 25 ककसी को कभतय सभझन की गरती वही कयता ह जो खद ऩय श कयन

का आदी हो 26 गहयाऩन आऩक काभ भ दय दय की ठोकय खा कय ही आता ह 27 एक फाय खद क बीतय ईशवय को ऩाकय कपय आऩको हय जगह ईशवय ही

ददखाई दता ह

28 अऩनी अॊतयातभा की आवाज़ को फरॊद कयक ही आऩको सचची खशी लभरती ह

29 ककसी की सचची इजज़त कयन क लरए ऩहर खद की जफयदसत फइजजती कयना जरयी ह

30 सच भ सच को कह कस औय झठ कह कय ददर को खशी लभरती नहीॊ

गजफ की शकतत ह आऩकी सोच भ

1 आऩकी सोच आऩक जीवन का सच फन जाती ह 2 आऩकी सोच औय आऩका नजरयमा फहत ही गहय स आऩस भ जड़ होत ह 3 आऩ अऩनी सोच को कबी बी ककसी बी फड़ी सपरता क लरए तमाय कय

सकत ह 4 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजए 5 काभमाफ सोच को अऩना कय आऩ बी काभमाफ हो सकत ह

6 भानवता की सचची सवा कयन की सोच को अऩना कय आऩ बी एक फलभसार जीवन का आनॊद र सकत ह

7 हय ददन अऩनी सोच को सकायातभक औय उतऩादक फनाना आऩकी जजमभदायी ह

8 आऩकी सोच आऩक जीवन क हय ऩहर को परबारवत कयती ह 9 काभमाफ सोच काभमाफ ऩरयणाभ ऩदा कयती ह 10 काभमाफ सोच हभशा आऩको सभाधान की ओय र कय जाती ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह तमोकक आऩक द ख आऩकी अॊदरनी आॉख खोरत ह

आऩक द ख ही आऩको रगातय कछ ऐसा खोजन क लरए पररयत कयत जो आऩको सचभच सथामी आनॊद द सक

आऩक द ख ही आऩकी परगतत का भागप खोरत ह

आऩक द ख ही आऩक सख का आधाय फनत ह

आऩक द ख दयअसर आऩको दख रगत ह भगय जीवन आऩको आग फढ़ान क लरए दखो का ही इसतभार कयता ह

द ख असर भ आऩकी आऩक अॊदरनी खजान क परतत अऻानता क कायण ह

आऩक द ख आऩका रवकास कयत ह

आऩक द ख आऩको हय ददन नमा सीखन क लरए औय जीवन को जजमभदायी रत हए जीन क लरए पररयत कयत ह

आऩक द ख ही आऩकी भहानता की सीढ़ी फनत ह

आऩक द ख अगय ना हो तो आऩक सख बी आऩस दय ही यहग

हय द ख भ सख का फीज छऩा होता ह

द ख वासतव भ द ख नहीॊ होता द ख वो हभाय उसको द ख की तयह दखन क कायण फनता ह

द ख ईशवय को आऩको परगतत कयन क लरए ददमा वयदान होता ह

द ख जफ आऩ सहन कय चक होत ह औय आऩ उसस नमा सीख कय जीवन भ एक नए सतय तक ऩहॉच चक होत ह तो द ख आऩको फड़ी खशी दता ह

आऩक मरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

आज आऩ जो बी सोच यखत ह चाह वह आऩका रवकास कय यही हो मा रवनाश कय यही हो उस ऩयी तयह आऩन ही फनामा ह औय आऩ इस ऩयी तयह स फदर सकत ह औय एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

आऩक आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩक बागम का सतय तम कयत ह

आऩ इस भहान सजषट का एक अहभ दहससा ह

हभ सफ एक दसय स जड़ हए ह

आऩकी ककसभत आऩकी भहनत स फनती ह

सॊकट आऩको परगतत क शानदाय अवसय दता ह

हय इॊसान स आऩ कछ न कछ नमा जरय सीख सकत ह

आऩकी सोच ही आऩका सच फनती ह

सीखन वार हभशा ही जीतन वार फन जात ह

हय ददन भहनत कय औय बागमशारी फन

अवसय ककसी काभ भ नहीॊ फजलक आऩकी सोच भ छऩा होता ह

सॊघषप आऩका तनभापण कयता ह

हायन क फाद आऩका जीत का आनॊद रन का साभरथमप फढ़ जाता ह

आऩक जीवन का हय ऩर आऩक लरए पमाय ईशवय का उऩहाय ह

आऩकी शजतत अनॊत ह

आऩ खद अऩन जीवन क भालरक ह

ईशवय न आऩको जजॊदगी का फलभसार उऩहाय दकय समभातनत ककमा ह

आऩक आरोचक आऩकी इततहास फनान भ भदद कयत ह

आऩक मरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

1 आऩक रवचाय आऩकी असलरमत का तनभापण कयत ह 2 खद को रगाताय आतभऻान रत यहन क लरए सभरऩपत कय दीजजम 3 हय ददन 03 लभनट का सभम तनकार कय परयक ऩसतक ऩदढ़ए

4 एक कागज ऩय बफलकर सऩषट रऩ स लरख रीजजम कक ldquoआऩ जीवन भ तमा परापत कयना चाहत हrdquo

5 जो सॊदश आऩ दसयो को दना चाहत ह ऩहर खद उस सॊदश को अऩन जीवन भ हय ददन आदयऩवपक जजएॊ

6 असाधायण परमास कयक ही आऩ असाधायण ऩरयणाभ परापत कय सकत ह 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजम 8 जफ आऩ खद को हय ददन अऩन बीतय छऩी असाधायण सॊबावनाओॊ क लरए

जागरक कयत ह तो आऩस जड़ी हय चीज़ काभमाफी की ददशा भ फढ़ती ह 9 आऩ हय वो चीज़ सीख सकत ह जो आऩको काभमाफ होन क लरए आनी

चादहए 10 सपरता औय खशी आऩस दय नहीॊ ह फजलक आऩ खद सपरता औय खशी

स दय ह 11 आऩकी सीखन की भता ही आऩक कभान की भता तनधापरयत कयती ह 12 हय एक इॊसान अनभोर औय शानदाय ह 13 लसपप सोच स फड़ औय तनडय रोग ही अऩनी वासतरवक आनतरयक शजतत का

उऩमोग कयत ह 14 आऩक जीवन का सचचा रकषम आऩकी आॊतरयक शजतत क फलभसार बणडाय

को खोजना औय उस भानवता की सवा भ सभरऩपत कय दना होना चादहए 15 फहान फनान वार इततहास यचन वार नहीॊ फनत

16 आऩ ऩहर खद अऩन आऩ को धोखा ददए बफना ककसी ओय को धोखा नहीॊ द सकत

17 जो सभम आऩ अऩनी सचची औय अॊदरनी ताकत को जानन भ रगात ह वो आऩक सभम का सफस फहतयीन तनवश होता ह

18 काभमाफी औय अभीयी का जीवन ऩयी तयह स आऩक चनाव ऩय दटका ह 19 सचभच अभीय रोग भानवता क फहत ही अचछ सवक होत ह औय भधमभ

दज क रोग भानवता क भधमभ दज क सवक होत ह 20 आऩका ददभाग एक फहत ही शजततशारी कॊ पमटय ह 21 जीवन भ हय ददन परगतत कयन क लरए ककसी ओय स नहीॊ अऩन आऩ स

हय ददन फहतय होत चर जाएॊ 22 जीवन हभ सफको एक अचछ इॊसान क तौय ऩय चभकन क लरए फशतप औय

भहान उऩहाय की तयह लभरा ह 23 जफ आऩ खद की सचची कदर कयत हो तबी आऩ दसयो की सचची कदर कयन

क काबफर फनत हो 24 जफ आऩ जीवन क हय तर भ अऩन खद क ही रऩछर रयकॉडप तोड़न रगत

ह तफ आऩ सचभच एक चरऩमन क तौय ऩय रवकलसत होन रगत ह 25 जो ऩरयणाभ आऩ आज अऩन जीवन भ परापत कय यह ह उसक लरए आऩक

अरावा ऩयी दतनमा भ कोई बी जजमभदाय नहीॊ ह 26 दतनमा रॊफ सभम तक धनमवाद दन वार रोगो का लशकामत कयन वार

रोगो स कहीॊ जमादा समभान कयती ह 27 आऩका वमवहाय हभशा ही आऩक चरयतर की सचची तसवीय को ददखाता ह 28 हय भहान इॊसान आऩको मही भहसस कयाता ह कक आऩ बी भहान फन

सकत ह

29 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय ददन सोचत सनत दखत फोरत औय भहसस कयत ह

30 हय ददन कछ सभम तनकार कय ऐस रवचाय जरय सन मा ऩढ़ जो आऩको सचभच एक शानदाय जीवन जीन क लरए फहद पररयत कयत ह

आऩक मरए कछ नए औय शानदाय ववशवास आऩक खद क फाय भ

तमा आऩ जानत ह कक कौन आऩकी जजॊदगी चरा यहा ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी सोच ककस हद तक आऩकी जजॊदगी को फहतय औय फदतय फनान की काबफलरमत यखती ह

तमा आऩ जानत ह कक आऩकी वासतरवक शजतत ककतनी ह तमा आऩ जानत ह कक ककस

हद तक आऩ अऩन जीवन को शानदाय फना सकत ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ अऩन

सऩनो की जजॊदगी जीन भ ऩयी तयह सभ ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी भजशकर आऩका रवकास कयती ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ हय ददन खद ही अऩनी तनमतत फनात ह

आऩ ककस तयह स खद को दखत ह साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह आऩ खद को ककतना काबफर भानत ह इसी फात स आऩकी सपरता का सतय तम होता ह ककस तनगाह स आऩ

अऩनी सीखन की काबफलरमत का इसतभार कयत ह इसी स आऩकी अभीयी का सतय तम

होता ह आऩ हाय क फाद ककस नजरयम स दोफाया शर कयत ह इसी स साया पकप ऩड़ता ह

आऩकी जजॊदगी ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह जफ तक आऩको रगता ह कक आऩकी जजॊदगी क

लरए आऩ जजमभदाय नहीॊ ह तफ तक आऩ अऩनी जजॊदगी को फहतय फनान क लरए जरयी कदभ नहीॊ उठा सकत जफ तक आऩ खद क फाय भ एक सकायातभक नजरयमा नहीॊ रवकलसत कय रत तफ तक आऩकी सभसमा जमो की तमो फनी यहगी

आऩकी हय सभसमा का एक ही सभाधान ह औय वो ह कक आऩ खद की ऩतकी ऩहचान कय आऩ खद को जान आऩ अऩनी आॉख खोर आऩ अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का उऩहाय द

आऩकी सचचाई मह ह कक

आऩ ऩयी तयह स सपर होन क लरए काबफर ह आऩ ऩयी तयह स खद की जजॊदगी को

फदरन की काबफलरमत यखत ह आऩ अऩनी जजॊदगी क भालरक ह आऩ एक शजततशारी ददभाग क भालरक ह आऩ सचभच एक कभार की जजॊदगी जीन का सचचा हक यखत ह आऩ हय ददन नमा सीख कय हय ददन जीत सकत ह आऩ जजस फात भ मकीन यखत ह वही आऩक लरए हकीत फन जाती ह आऩ एक फलभसार जीवन जीन की सचची काबफलरमत यखत ह

आऩ अनभोर ह आऩ सचभच काबफर ह आऩ हकदाय ह एक अदबत जीवन जीन क

इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का कजसन खद ही खद की ककसभत को फनामाhellip

सवार आऩ काभमाफ कस हए

जवाफ काभमाफ होना ही भया ऩास एकरौता यासता था

सवार आऩ असपर बी तो हो सकत थ

जवाफ भ असपर हआ ही इतनी जमादा फाय था कक अफ सपर होना ही था जफ आऩ रगाताय भहनत कयत हो तो एक वक़त ऩय आकय आऩको ऩतका सपरता लभरती ह

सवार सपरता तमा होती ह

जवाफ खद को जानना सपरता ह खद क साथ ईभानदाय होना सपरता ह खद को हय ददन खद क बीतय छऩी शजततमो क परतत लशकषत कयना सपरता ह इॊसातनमत की सचची सवा कयना सपरता ह

सवार आऩको दख कय रगता ह कक आऩ एक फहत ही सरझ हए इॊसान ह तमा ऐसा वाकई ह

जवाफ दणखए सपरता लभरती ही तफ ह जफ आऩ खद सरझ जात ह आऩकी सपरता भ सफस फड़ी ददतकत आऩकी सोच औय आऩका जरयत स जमादा उरझा होना ही ह आऩ खद को सयर कयत हए कबी बी कभार की सपरता ऩा सकत ह

सवार आऩन खद को कस ऩामा

जवाफ जफ भन खद ऩय रवशवास कयना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भ लसपप एक शयीय स कहीॊ जमादा हॉ जफ भन खद स जड़ना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भझभ एक शजतत ह जो ऩयी तयह स भया दहत औय पराव चाहती ह जफ भन सपर रोगो स लभरना शर ककमा तो भन ऩामा कक हय सपर इॊसान खद स ईभानदाय ह हय सपर इॊसान जीवन क परतत हय ददन जफयदसत आबाय वमतत कयता ह हय सपर इॊसान मह सोचता ह कक उसका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह

उतसाह क साथ मशखय की मातरा का आनॊद

1 आऩ जीवन भ जो कछ बी तराश यह ह ठीक वही आऩको लभर जा यहा ह 2 बफरकर सऩषट कीजजम कक सपरता का आऩक लरए सचचा अथप तमा ह

3 आऩ इस रवशार बहभाॊड भ कस अऩनी छाऩ छोड़ना चाहत ह

4 आऩका जनन ही आऩक काभकाज का तर होना चादहम 5 हारात स जमादा परापत कयन क लरए हारात को जमादा गहय स भहसस

कयना शर कीजजए 6 अचछी चीज़ो औय अऩन ऻान को खशी खशी सबी स फाॊदटम 7 अऩन फाय भ जागरकता फढ़ान क लरए अऩनी ताकतो औय कभजोरयमो को

साफ़ साफ़ कागज ऩय लरणखम 8 अऩन सऩनो की हय ददन यचनातभक भानलसक तसवीय दणखम 9 हय ददन अऩनी फातचीत की करा ऩय गजफ की भहनत कीजजए 10 जीवन भ रीडयशीऩ की अहलभमत को सभणझम 11 हय रयशत भ जीत -जीत की भानलसकता रवकलसत कीजजम 12 फड़ी सोच क फड़ जाद का जभ कय समभान कीजजम 13 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 14 असपरता जसी कोई चीज़ नहीॊ होती वह तो लसपप तनखयन की लशा होती

ह 15 अऩनी सोच को एक अॊतयासरीम कॊ ऩनी क भालरक की तयह रवकलसत

कीजजम 16 अऩन जीवन क सऩषट जीवन भलम तनधापरयत कीजजम 17 आजीवन सीखत यदहम 18 रवनमर फतनम

19 अऩनी सोच ऩय भजशकर वक़त भ बी खड़ यदहम 20 इस दतनमा का परतमक वमजतत भहतवऩणप ह इसीलरए सबी का समभान

कीजजम 21 सपर इॊसान को असपर इॊसान स उसकी सोच अरग कयती ह 22 आऩकी काभमाफी आऩकी खद ऩय की गमी हय ददन की भहनत का ऩरयणाभ

होती ह 23 जजतना जमादा आऩ खद क फाय भ जानत ह उतना ही जमादा आऩ परापत

कयत ह 24 हय ददन की कड़ी भहनत ही चरऩमन को चरऩमन फनाती ह 25 आऩकी वशबषा फोरती ह 26 सपरता क लसदधाॊत ऩयी दतनमा भ एक साभान रऩ स कामप कयत ह 27 आऩक रयशत सचभच आऩकी सपरता भ अहभ बलभका तनबात ह 28 अऩन जीवन की कहानी खद लरणखम 29 आऩको भहान फनन स कौन योक यहा ह

30 आऩका भागपदशपन कौन कय यहा ह

31 सचची दोसती आऩका रवकास कयती ह 32 सभम ही आऩकी सचची ऩॊजी ह 33 ऩसतक ऩदढम औय जीवन भ आग फदढम 34 परकतत क साथ वक़त बफताम 35 सपर रोगो क साथ यह 36 आऩका बरवषम आऩक लरए एक कोय कागज क सभान ह 37 अऩन साथ हभशा अऩना रकषम काडप यणखम 38 रगाताय अऩनी समऩकप सची को फड़ा कीजजम 39 आऩ कस अऩन काभकाज क फाय भ दसयो स फात कयत ह

40 अऩन सऩनो को पोटो फरभ कया कय उनह अऩन साभन यणखम 41 अऩन सऩनो क फाय भ हय लभर सकन वारी जानकायी जरय इकठठा कीजजम 42 जीवन जीन क अऩन खद क तनमभ फनाइम 43 अऩन सऩनो का अनसयण कीजजम 44 आरोचना तफ होती ह जफ आऩ परगतत कयत ह 45 जफ तक आऩ ऩछत यहग आऩको जवाफ जरय लभरग 46 हभ सफ एक ह 47 अऩनी सऩषट ऩहचान कीजजम तमोकक आऩ अनभोर ह 48 आऩ जमादातय सभम खद क फाय भ तमा सोचत ह

49 अऩनी उजाप क सतय को हय ददन फढाम 50 हय भहीन कछ धन की फचत जरय कय 51 आऩक फाय भ सवोतभ फात मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह 52 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय वतत सोचत यहत ह 53 आऩका वमाऩाय आऩक दसयो क साथ अचछ रयशतो स हय ददन अचछा फनता

जाता ह 54 रोगो स फात कयत वक़त उनकी बावनाओॊ को जरय सऩशप कय 55 आऩकी जीत की सचचाई मह ह कक जीत आऩ अऩनी सोच ऩय हालसर कयत

ह 56 जजस ददन आऩको अऩन जीवन को जीन का एक सचचा भकसद लभर जाता

ह उस ददन आऩका सचभच जनभ होता ह 57 हय ददन नमा सीखना ही सचभच जीतना ह 58 भहान रोगो स जमादा स जमादा लभर औय उनस सीख 59 आऩ एक ददन दतनमा को अररवदा कह दग रककन आऩक काभ हभशा

रोगो क ददरो ऩय याज़ कय सकत ह

60 अऩन ददभाग भ अऩनी सपरता का एक तनजशचत नतशा जरय फनाम 61 आऩकी सचची ऩॊजी आऩकी सीखन की औय परगतत कयन की मोगमता ह 62 अऩन अतीत का समभान कय 63 हय ददन तनखाय कयत हए एक सभम क फाद चरऩमन की तयह जजम 64 जजस चीज़ ऩय आऩ धमान कजनदरत कयत ह वही चीज़ आऩक खद -फ-खद

नजदीक आ जाती ह 65 अऩन बरवषम का समभान कयत हए हय ददन वतपभान भ खफ भहनत कय 66 जजतना जमादा आऩको आऩक काभ की सभझ होती ह उतना जमादा आऩ

अऩन काभ स कभा सकत ह 67 सयर वमजतत सफका ददर जीत रता ह इसीलरए सयर फतनम 68 आऩका रकषम आऩकी शजतत को फढ़ा दता ह 69 आऩक भजफत जीवन भलम आऩको हय ददन भजफत फना दत ह 70 आऩकी आदत हय ददन आऩका जीवन चरा यही ह 71 अऩन जीवन की जजमभदायी अऩन हाथो भ र रीजजम 72 अऩन आस ऩास सचच रीडसप रवकलसत कयन क लरए आज ही आऩ खद

एक सचच रीडय की तयह वमवहाय कयना शर कय सकत ह 73 हय नए रवचाय क लरए हय ऩर खर यदहम 74 अऩन घय औय कायोफाय भ यचनातभक तौय-तयीको को फढ़ावा दीजजम 75 आऩक ऩास जो बी अचछ रवचाय ह उनह जरय सफस साॉझा कय 76 असपरता आऩको भजफत फनात हए आऩकी सवा कयती ह 77 अऩन आस -ऩास शानदाय रवचायो की औय हयी-बयी परकतत की तसवीय यणखम

78 अऩन घय औय कायोफाय की जगह ऩय अऩना रवज़न फोडप रगाम 79 अऩना वमजततगत ऩसतकारम जरय फनाइम

80 आऩका आऩक काभ क परतत परभ आऩक हय रकषम को फड़ी ही आसानी स ऩया कयवा दता ह

81 खद भ जफयदसत रवशवास ददखाएॉ 82 अऩनी तनमत ही आऩकी तनमतत तम कयती ह 83 एक भहान रवचाय आऩको जीवन भ भहान फनान की शजततशारी मोगमता

यखता ह 84 शकरगजाय होकय आऩ आज औय इसी ऩर स काभमाफ होन का चनाव कय

सकत ह 85 हभशा एक फचच की तयह जीवन क परतत उतसक फन यदहम 86 जफ आऩ खद तयतकी कयत ह तबी आऩ जीवन का सचचा आनॊद र ऩात

ह 87 खद को फहतयीन अॊदाज भ सफक साभन ऩश कयना जरय सीख 88 अऩन जीवन भ सॊगीत का सथान हय ददन जरय यख 89 खफ भहनत कयन क फाद अऩन शयीय औय भन को आयाभ जरय द 90 अऩनी रचच को धमान भ यख कय ही अऩन जीवन क भहततवऩणप चनाव

कय 91 अऩन आऩ स हय ददन ईभानदाय यदहम 92 अऩन रवचायो का सचचा समभान कयन क लरए उनह कागज ऩय लरख 93 जफ आऩ सन तो सच भ सन 94 एक सकायातभक वमजतत फनन क लरए सकायातभक शबदो को अऩनाम 95 चरऩमन आऩ अऩनी चरऩमन सोच की वजह स फनत ह 96 हय उस इॊसान को भाफ़ कय दीजजम जजसन जान-अनजान भ आऩका ददर

दखामा ह

97 अगय असपरता आऩको नहीॊ लभर यही ह तो सभझ लरजजम आऩ सपरता क भागप ऩय नहीॊ ह

98 अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनाइम 99 आऩका जीवन सभसत रवशव क नाभ आऩका सॊदश ह 100 अऩनी सपरता को भानवता क सवा भ सभरऩपत कय दीजजम

101 काभमाफ होना आऩका हक ह

एक घय ऐसा बी ह कजसभ एक घय ऐसा बी ह जजसभ हय ऩर आनॊद का परसाय होता यहता ह जजसभ हय ओय सचचाई का परकाश यहता ह मह सौबागम ह भया कक आऩको ऐस एक शानदाय घय स रफर कयान का अवसय भझ ईशवय न ददमा ह घय क परवश दवाय ऩय लरखा ह ldquoजननत ईशवय का आशीवापदrdquo औय जस ही आऩ घय क बीतय जात ह आऩका धमान ऩड़ता ह दीवायो ऩय लरख शानदाय औय असयदाय रवचायो ऩय रवचाय जस कक वह फदराव खद भ रकय आइए जो आऩ दतनमा भ दखना चाहत ह भहातभा गाॉधी जो आऩ सोचत ह वह आऩ फन सकत ह रवलरअभ जमस आऩकी शजतत अनॊत ह आऩक बीतय सौबागम क फदहसाफ फीज ह आऩका जनभ ऩयी ऩरथवी क लरए एक फलभसार वयदान ह औय आज आऩक जीवन का एक मादगाय ददन ह ऐस कभार क रवचाय ऩढ़ कय आऩ सचभच अऩनी अॊदरनी भहानता स जड़ जात ह औय जस ही आऩ इन दीवायो क सॊदशो को ऩढ़त हए घय क बीतय परवश कयत हो तो आऩका धमान जाता ह एक लरख हए सॊदश ऩय जो कह यहा ह कक अगय खद को जानना ह तो इस कभय भ परवश कीजजए औय जस ही आऩ उस कभय भ परवश कयत ह आऩ ऩात ह एक रवशार ऩसतकारम जो चचलरा चचलरा कय कह यहा ह कक इन ऩसतको भ भानवता का अभय औय सपर इततहास लरखा ह ऩसतको क शीषपक ऩढ़ कय ही आऩक बीतय एक नई उजाप का उदम होन रगता ह जस रोक वमवहाय सोचचम औय अभीय फतनए आऩक अवचतन भन की शजतत फड़ी सोच का फड़ा जाद औय आऩक अॊदरनी रवकास स जड़ी हजायो ऩसतक वहाॊ यखी हई ह

उस कभय भ एक शानदाय फात मह लरखी थी कक अतसय अचछी ऩसतक ऩढ़ कय इॊसान की सोमी हई अॊदरनी शजतत जाग जाती ह औय कपय वो इततहास

यचन की ओय अगरसय हो उठता ह हय इनसान इततहास यच सकता ह हय इॊसान खद को खोद कय खद को ऩा सकता ह जजसन बी खद को खोदा ह औय खद ऩय भहनत की ह उसक हाथ कबी खारी नहीॊ यह उसन जीवन की भहान दौरत को ऩामा ह जीवन की भहान दौरत ह आऩक बीतय छऩी ईशवय की जमोतत आऩकी सचची ऩहचान मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह आऩ सौबागम क फचच ह आऩ एक फलभसार वयदान ह ऩयी कामनात क लरए मह घय की कथा तो कालऩतनक थी ऩय इसका सॊदश ऩयी तयह सचचाई ऩय दटका ह कक आऩकी अॊदरनी शजतत सचभच अनॊत ह आऩ अनभोर ह

एक फमभसार जीवन क मरए 51 गरभॊतर

1 जीवन को एक अवसय क रऩ भ दणखए 2 जीवन को हय ददन परगतत कयन क एक शानदाय भौक क रऩ भ दणखए 3 हय ददन अऩन ददभाग को नमा सीखा कय ऩोरषत कीजजए 4 अऩनी हय हाय स सीखना शर कीजजए 5 सचची परशॊसा कयन की करा सीणखए 6 टी वी कभ दणखए औय ककताफ जमादा ऩदढ़ए 7 जीवन का एक रकषम फनाइम 8 हय ददन खद को पमाय कीजजए 9 सपर रोगो क साथ दोसती कीजजए 10 अऩन काभ भ कभान स जमादा सीखन ऩय धमान दीजजए 11 ऩयी भानवता क लरए आऩका जनभ एक सौबागम ह 12 अऩन जीवन भ सॊगीत को योजाना सथान दीजजए 13 हफत भ ककसी एक ददन ऩय हफत का पीडफक कागज ऩय लरणखए 14 आऩकी आज की सोच ही आऩका आग चर कय सच फन जाती ह 15 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजए 16 अऩन जीवन को भानवता की सवा कयन का एक फलभसार अवसय

सभणझए 17 आजीवन आऩ खद को हय ददन नमा सीखन क लरए सभरऩपत कय दीजजए 18 खद स हय ददन ईभानदाय फन यदहए 19 आज ही अऩनी वमजततगत राइबयी फनाइए 20 हय ददन सभम तनकार कय ईशवय का धनमवाद जरय कीजजए तमोकक मह

शानदाय जीवन आऩको उनही की फदौरत वयदान क तौय ऩय लभरा ह

21 हय भजशकर को परगतत कयन क एक अवसय क रऩ भ दणखए 22 अभीयी एक सोच ह 23 काभमाफी एक सोच ह 24 खशहारी एक सोच ह 25 जमादा भहनत आऩको जमादा रवकास दती ह 26 हय ददन खर कय जीम 27 इस दतनमा भ आऩक लरए ककसी बी चीज़ की कोई कभी नहीॊ ह 28 अऩन रकषमो को साफ़ साफ़ आज ही कागज ऩय लरणखए 29 अऩन रकषमो को हय ददन कागज ऩय लरणखए 30 अऩन रकषमो ऩय हय ददन भहनत कीजजए 31 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 32 फड़ रकषम आऩका फड़ा तनभापण कयत ह 33 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 34 जीवन को एक वयदान क तौय ऩय आज ही कफर कय रीजजए 35 अऩन जीवन को फलभसार फनान की जजमभदायी आज ही खद र रीजजए 36 लशकामत कयन भ सभम भत रगाइए 37 हय इॊसान स कछ न कछ जरय सीणखए 38 हय ददन अऩन खद क अनबवो स कछ न कछ नमा सीणखए 39 आऩ जीवन भ सपर होना फहत ही आसानी स सीख सकत ह 40 आऩकी अॊदरनी शजतत अनॊत ह 41 आऩका हय ददन सफस ऩहरा कामप ह अऩन आऩ को खश यखना 42 आऩ अऩन जीवन भ काभमाफ होन की कोई ठोस वजह खोजजए 43 अऩन आऩ को भानवता क लरए एक ऩॊजी की तयह रवकलसत कीजजए 44 रगाताय भहनत रगाताय जीत की सफस ऩहरी जरयत ह

45 आसान यासतो ऩय चरना आऩक जीवन को फहद भजशकर फना दता ह 46 अऩनी हय हाय स गजफ की लशा रकय उस जीत भ फदर दीजजए 47 अऩन जीवन को खफ समभान दीजजए 48 आऩका अॊदरनी सॊसाय आऩक फाहयी सॊसाय का तनभापण कयता ह 49 आऩ आज वही ह जसा फनन क लरए आऩन आज तक खद को तमाय

ककमा ह 50 आऩ बरवषम भ वही होग जसा आऩ हय ददन खद को फनात चर जाएॊग 51 आऩ आज अबी इसी ऩर स एक शानदाय सपर अथपऩणप जीवन जीन का

साहलसक तनणपम र सकत ह

एक ववजता सोच की शकतत

1 आऩकी सोच ही आऩक जीवन क सच का तनभापण कयती ह 2 एक रवजता की सोच का भतरफ ह हय ददन नमा सीखन की सोच 3 एक रवजता की सोच आऩको एक फलभसार वमजतततव परदान कयती ह 4 आऩकी सोच ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह औय आऩ इस कबी बी फदर

सकत ह 5 आऩकी सोच ही आऩको हय ददन आऩको ददखन वारी आऩकी दतनमा

ददखाती ह 6 आऩकी सोच ही आऩकी भौजदा हय खशी औय गभ क लरए जजमभदाय ह 7 आऩ हय ददन अऩनी सोच को फड़ा औय फहतय कय सकत ह 8 सोच ही आऩको भहान औय सभदध फनाती ह 9 आज आऩ अऩन जीवन भ जजस बी भकाभ ऩय ह लसपप अऩनी सोच की

वजह स ह

10 आऩ जहाॊ बी जात ह औय जो बी कयत ह उसभ आऩकी सोच साफ़ झरकती ह

11 आऩकी सोच का आकाय आऩक आतभ ऻान ऩय आधारयत होती ह 12 आऩकी सोच खद-फ-खद शानदाय हो जाती ह जफ आऩ अऩन जीवन को

एक शानदाय रकषम का उऩहाय द दत ह 13 आऩ भानवता की सवा कयन की सोच को अऩनाकय एक रवजता की सोच

को अऩना सकत ह

एक शानदाय औय फमभसार जीवन की 52 याह

1 जीवन अऩन बीतय छऩी जफयदसत अॊदरनी शजतत को भानवता क रवकास भ उऩमोग कयन का एक भहान अवसय ह

2 परमास न कयना सचची हाय ह 3 आरोचक खद की ओय कबी नहीॊ दखता 4 आऩकी नज़य ही आऩको ददखन वार नज़ायो क लरए जजमभदाय ह 5 हय इॊसान अऩन बीतय भहानता क अनॊत फीज सॊजोए हए ह 6 आऩकी औय आऩकी सपरता भ आऩका सपर होन का तनणपम ही फाधा

ह 7 खद ऩय रवशवास कयक ही खद ऩय रवशवास कयना आता ह 8 फड़ा इॊसान को उसकी भहनत औय सवा कयन की सोच फनाती ह

9 खद को खोदना ही खद को खोजना ह 10 कोई बी भजशकर अऩन बीतय भौक क फीज लरए बफना नहीॊ आती 11 अऩन जीवन क असयदाय फनान क लरए खद को असयदाय फनान स

शरआत कीजजए 12 जफ आऩ सचभच दखना चाहग तो आऩको हय जगह भौक ही भौक

ददखन रगग 13 ईशवय आऩको हय ऩर जफयदसत परभ कय यहा ह 14 खद को काभमाफ होन क लरए तमाय कयना आऩकी खद की ही

जजमभदायी ह 15 सवा कयन की सोच ही आऩकी जजॊदगी को फलभसार फनाती ह 16 सनना बी एक तयह का सीखना ही तो ह 17 ऩाना ह तो खद भ जर यही ईशवय की जमोतत को ऩाम

18 आऩ लसपप तफ तक ही खद क फाय भ छोटा सोचत ह जफ तक आऩ अऩनी अनॊत अॊदरनी शजतत स अनजान ह

19 आऩ अऩनी तीसयी आॉख खोरन क लरए आतभ ऻान रना शर कय सकत ह

20 अऩन आज की सदऩमोग कीजजए 21 आऩकी सोच आऩकी ऩयी दतनमा क नाभ रवयासत ह 22 आऩका नाभ आऩक मोगदान स ही चभकता ह 23 आऩ सतम का ऩारन कयत कयत सवमॊ बी सतम ही सतमको परापत हो

जात ह 24 आऩ ईशवय दवाया अनॊत शजतत क उऩहाय क साथ इस धयती ऩय बज

गए ह चाह मह आऩको ऩता हो मा न ऩता हो 25 अऩन करयमय का चनाव कयत वक़त अऩन जनन को अऩना भागपदशपक

फना रीजजए 26 आऩको आऩक अरावा कोई अभीय सभदध औय सहतभॊद नहीॊ फना सकता 27 उतसाह का भहासागय आऩक अऩन ही बीतय ह 28 आऩका जीवन आज जसा बी ह आऩक अऩन ही कायण ह

29 खद स सचच रोग हो भानवता को याह ददखात ह 30 आऩकी खशी आऩक अऩन ही बीतय ह 31 आऩका सौबागम आऩक अऩन ही बीतय ह 32 आऩ अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनान का शानदाय कामप कय सकत

ह 33 आतभ ऻान परापत कयक कोई बी इॊसान अऩन जीवन को सचभच साथपक

फना सकता ह

34 अऩन जीवन क सफ़य को मादगाय फनान क लरए अऩन ही जीवन स हय ददन सीखना शर कय दीजजए

35 जजतना आऩ पमाय फाॉटग उतना ही जमादा आऩको पमाय फाॉटन का सौबागम लभरगा

36 आऩका नाभ आऩकी हय ददन की गमी ईभानदाय भहनत स ही इततहास फन सकता ह

37 जजस जीवन का कोई रकषम ह वही जीवन सही भामनो भ साथपक ह 38 पमाय इॊसान खद को हय ददन सपरता क लरए तमाय कीजजए 39 एक फाय जफ आऩक अऩन ही बीतय उजारा हो जाता ह तफ आऩका

जीवन सदा सदा क लरए योशन हो जाता ह 40 हय ददन सीखना ही हय ददन जीतना ह 41 वक़त बी तफ आऩक साथ होता ह जफ आऩ खद खद क साथ होत ह 42 जीवन भ जजस बी चीज़ की कीभत ह वह आऩको खद ही हालसर कयनी

होती ह

43 हय ऩर आऩ जीवन को एक ऩयभ आनॊद की तयह जी सकत ह 44 आऩ अऩनी खद क परतत सोच को फदर कय अऩन ऩय जीवन को फदर

सकत ह

45 एक फाय आऩको उऩमोग कयन की करा आ जाए तो जीवन भ ऐसा कछ बी नहीॊ जो उऩमाग भ न आ सक

46 जीवन एक शानदाय अवसय ह 47 जीवन एक फलभसार सौबागम ह 48 जीवन एक भहान सौगात ह 49 आऩकी सोच ही आऩका जीवन चरा यही ह 50 जजस याह ऩय भजशकर नहीॊ उस याह ऩय भौका नहीॊ

51 फड़ा सॊकट भतरफ फड़ा सौबागम 52 आऩ एक फाय खद क हो जाएॉ कपय साया जहान आऩका हो जाएगा

एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ

1 हय ऩर ऩयभातभा आऩको पमाय खशी शाॊतत औय आनॊद की शाशवत सौगात द यहा ह

2 हय इॊसान अऩन आऩ भ फलभसार औय अनठा ह 3 एक फाय ददर स मह भहसस कीजजए कक हय इॊसान फहद गणी ह औय कपय

जाद दणखम 4 आऩ जो अऩन लरए चाहत ह उस ऩहर दसयो को दना सीणखम 5 जवाफ तो सवार भ ही छऩा होता ह मह तो दखन वार ऩय तनबपय कयता ह 6 जीवन भ परभ आऩकी रह को ताज़ा कयन वारा एक फहद खास तोहपा ह 7 हय ददन को खद ऩय भहनत कयत हए मादगाय फनाम 8 हय ददन खलशमाॉ अऩन चायो तयप फाॊट औय हय ददन खश यह 9 जजस फात को हभ सच भन रत ह वही हभाय लरए सच फन जाती ह बर ही

वह असलरमत भ झठ ही तमो न हो 10 भजफत इॊसान हभशा भजफत रयशत फनाता ह 11 हभ सबी खद भ अनभोर उऩहाय सॊजोए हए ह 12 सच का समभान कयना सचभच आऩको फलभसार फनाता ह 13 आऩकी आॉख ही आऩक सऩनो की सचचाई फमाॉ कय दती ह 14 आऩकी सोच हय ददन आऩकी जजॊदगी का तनभापण कयती ह 15 पमाय इॊसान आऩ एक फाय अऩन अॊदय की आॉख तो खोलरम आऩक चायो

तयप गजफ क परगतत क अवसय हय ऩर भौजद ह 16 गरत मा सही हारात नहीॊ आऩका नजरयमा होता ह 17 अऩन आऩ को जानना एक ददन आऩकी सफस फड़ी खशककसभती फन जाती ह 18 आऩक डय आऩकी काभमाफी क दयवाजो ऩय तारो क सभान ह

19 आऩ जो दखत ह औय सनत ह वही आऩकी सोच फन जाती ह 20 सवा कयक खश यहना राज़भी ह 21 आऩ दसयो को कवर वही दीजजए जो आऩ अऩन लरए चाहत ह 22 आऩक काभ बफलकर ऩयी तयह स आऩकी सोच की तसवीय होत ह 23 पमाय इॊसान इस जगत भ कोई अऩना ऩयामा ह ही नहीॊ ह 24 आऩकी काभमाफी भ सभसत रवशव की खशहारी छऩी ह 25 हय ददन खद को खद ऩय रवशवास कयना आऩ जरय लसखाम 26 खद स ईभानदाय होकय ही आऩ खद की नज़यो भ ऊॉ चा उठ सकत ह

27 अऩन आऩ स जड़ना ही खशी का भर भॊतर ह

काभमाफ ववचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

1 हय नई भजशकर आऩक साभन एक नए भौका का ऩरयचम कयाती ह 2 आऩकी काभमाफी ईशवय का सऩना ह 3 आऩकी काभमाफी समऩणप भानवता की काभमाफी ह 4 आऩका रकषम भानवता की सवा कयना होना चादहए 5 आऩ हय ददन खद को एक फहतय इॊसान फना सकत ह 6 आऩ हय वमजतत को ददर स आदय द सकत ह 7 आऩ हय ददन अऩन जीवन क परतत सचचा आबाय वमतत कय सकत ह 8 आऩ हय उस वमजतत को खशी-खशी भाफ़ कय सकत ह जजसन कबी जान

अनजान भ आऩका ददर दखामा ह 9 आऩको हय ददन मह जरय सोचना चादहए कक आज आऩ अऩन जीवन को

एक नए सतय तक कस र कय जा सकत ह 10 आऩका जीवन आऩक दवाया गामा गमा एक शानदाय गीत होना चादहए

11 आऩ जजतना जमादा सवा कयन क लरए सभरऩपत होग उतना ही जमादा आऩका जीवन सौबागम क गीत गाएगा

12 आऩ एक नई तनगाह अऩना कय बफरकर एक नई दतनमा को दखन का सौबागम परापत कय सकत ह

13 हय ददन नमा सीख कय हय ददन को समभान दीजजए 14 खद को आज ही ककसी ईभानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दीजजए

कीकजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

आऩ अऩनी सफह को सचभच हय ददन योशन कय सकत ह आऩ हय सफह अऩन आऩ को ऩय ददन क लरए फलभसार अॊदाज भ तमाय कय सकत ह आऩ सफह जलदी उठन का साहलसक तनणपम र सकत ह आऩ हय सफह 5 फज उठ कय अऩनी हय सफह को समभान द सकत ह आऩ हय सफह उठत ही ईशवय को धनमवाद द सकत ह कक उनहोन आऩको एक नमा ददन वयदान क तौय ददमा ह औय आऩ इस ददन का सदऩमोग कयन का सचचा वामदा खद स कय सकत ह आऩ अऩन भाता रऩता क लरए शकरगजाय हो सकत ह आऩ अऩनी अचछी सहत क लरए ईशवय क शकरगजाय हो सकत ह कपय आऩ 20 लभनट की कसयत मा मोग कयन का गजफ का शजततशारी तनणपम र सकत ह उसक फाद आऩ 20 लभनट तक कोई बी परयणादामी ऩसतक ऩढन का अभय तनणपम र सकत ह ऩसतक जस रोक वमवहाय साध जजसन समऩतत फच दी आऩकी भतम ऩय कौन योएगा सोचचम औय अभीय फतनए सोच फदरो जजॊदगी फदरो फड़ी सोच का फड़ा जाद सपरता का अभत रयच डड ऩअय डड औय मह सची सचभच फहत ही रमफी ह तमोकक आऩ ककसी बी हद तक खद का तनभापण कय सकत ह औय दसया सीखन की सचभच कोई सीभा ह ही नहीॊ ह

कपय आऩ 20 लभनट तक अऩना जनपर लरख सकत ह जनपर का अथप एक ऐसा सथान ह जहाॉ आऩ हय ददन की अऩनी परगतत की मोजना हय ददन की लशा हय ददन की कामप सची हय ददन की परयणा हय ददन की यचनातभक यणनीतत लरख सकत ह जनपर लरखना एक फलभसार आदत ह आऩ आज स ही जनपर लरखन की अभय आदत शर कय सकत ह आऩ अऩन जनपर भ कभार क परयणा दन वार अभय रवचाय सफह सफह लरख कय खद को एक फलभसार रवजता की तयह तमाय कय सकत ह

म तीन ऐस गजफ क साहलसक तनणपम ह जो आऩको एक शानदाय असयदाय औय फलभसार जीवन का भागप ददखाएॊग आऩ अनभोर ह आऩ एक शानदाय जीवन जीन क सचचा हक यखत ह आऩ आज स ही अऩनी सोच को एक शानदाय जीवन जीन क लरए तमाय कय सकत ह माद यणखम दयी हभशा आऩकी तयप स होती ह आऩका बागम औय आऩकी सपरता तो हय ऩर आऩक ऩास आन क लरए फताफ होती ह आऩ आज स ही जीतन की तनणपम रकय जीतन की शरआत कय सकत ह

आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह

कछ ह ऐसा आऩक बीतय जो आऩको ऩयभ सौबागमशारी फनाता ह

कछ ह ऐसा ऻान जीवन भ जजस आतभ-ऻान कहा जाता ह जजस ऩाकय आऩ जीवन की समऩणपता को ऩा रत ह

कछ ह ऐसा हय सॊकट भ जो आऩका गजफ का रवकास कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी सोच भ जो आऩक जीवन क सच का हय ददन तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी तनमत भ जो हय ददन आऩकी तनमतत का तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩक दखो भ जो आऩको सख क लरए तमाय कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय ददन भ जो आऩको उऩहाय जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा हय हाय भ जो आऩको जीत जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा फड़ी सोच भ कभार का जाद जो आऩका फड़ा पामदा कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय इॊसान भ जो आऩक लरए लशा होता ही होता ह

कछ ह ऐसा आऩक जीवन क रकषम भ जो आऩक जीवन को भहान फनाता ही फनाता ह

आऩ सौबागम की सॊतान ह आऩका जनभ ऩयी सजषट क लरए ऩयभ सौगात ह

खद ऩय रवशवास कय औय इततहास यच

चमरए एक शानदाय कजॊदगी की ओय

1 सीखन की सोच ही जीतन की सोच का तनभापण कयती ह 2 एक इॊसान जीवन भ ककतना परापत कय सकत ह इसकी सीभा लसवाम उस

इॊसान क कोई दसया तम नहीॊ कय सकता 3 अऩन काभ (योजगाय) ऩय गवप कीजजए 4 आऩ जीवन भ काभमाफ होन की औय आग फढ़न की हय एक करा

तनजशचत रऩ स सीख सकत ह 5 आज स ही आऩ अऩन बीतय छऩी अनॊत शजततमो क परतत जागरक होना

शर हो जाइए 6 आज का ददन आऩको जीवन की ओय स लभरा एक शानदाय वयदान ह 7 सफह जलदी उदठए 8 हय ददन अऩन ददन की शानदाय शरआत कीजजए 9 तनसवाथप सवा भ आनॊद छऩा होता ह उस आनॊद का जीवन भ हय ददन

आनॊद जरय रीजजए 10 हभ सफ आऩस भ जड़ हए ह हभ सफ एक ह

11 जहान तक आऩ दख सकत ह वहाॊ तक आऩकी दतनमा परती चरी जाती ह

12 आऩ खद को एक शानदाय औय कभार की जजॊदगी जीन क लरए आज स ही तमाय कय सकत ह

13 आऩकी नमा सीखन की शजतत आऩक लरए एक फहत फड़ी सौगात ह 14 आऩक सॊकट आऩक ऩतक शबचचॊतक होत ह 15 भजशकर यासता ही आऩक जीवन को तनखायता ह

जीवन क 21 ऩयभ सतम

ऩयभ सतम 1

चभतकाय वो नहीॊ होता ह जो सॊकट की जसथतत भ आऩक साथ होता ह फजलक वो ह जो सॊकट का साभना कयत हए आऩक अॊदय होता ह

ऩयभ सतम 2

रवऩजतत भ ही समऩजतत का वास होता ह

ऩयभ सतम 3

हय ऩर आऩकी सोच आऩका बागम फना यही ह

ऩयभ सतम 4

कछ बी नमा सीखन क लरए सयर खरा औय उतसक रदम चादहए

ऩयभ सतम 5

जजतना आऩ खद को शजततशारी भानत ह उसस कहीॊ जमादा आऩ शजततशारी ह

ऩयभ सतम 6

हय एक इॊसान क बीतय काबफलरमत फदहसाफ ह

ऩयभ सतम 7

हयानी इस फात की नहीॊ ह कक आऩभ भता नहीॊ ह फजलक इस फात की ह कक आऩको अऩनी भता का ऩता ही नहीॊ ह

ऩयभ सतम 8

हय ऩर आऩक लरए खद को पमाय कयन का औय खद की सचची कदर कयन का एक भौका ह

ऩयभ सतम 9

जो आऩक अऩन बीतय होता ह वही आऩको चायो ओय ददखाई ऩड़ता ह

ऩयभ सतम 10

आऩकी जजॊदगी आऩक हाथ अगय ऐसा सभझोग तो आऩको लभरगा हय ऩर समऩणप रवशव का साथ

ऩयभ सतम 11

आऩक जीवन भ दबापगम आता ही आऩको सौबागम क भागप ऩय र कय जान क लरए ह

ऩयभ सतम 12

लभरता ह सफ कछ महाॉ उस जो ऩय ददर स भाॉगन की दहमभत यखता ह

ऩयभ सतम 13

अगय आऩको ऐसा रगता ह कक आऩको बगवान स कछ बी नहीॊ लभर यहा ह तो भय पमाय भनषम अबी इसी ऩर अऩन दोनो हाथो को खोर रीजजए तमोकक बगवान की कऩा हय ऩर हय एक ऩय फयस यही ह

ऩयभ सतम 14

भहनती आदभी जफ चरता ह तो उस हय तयप स सराभ फजत ह

ऩयभ सतम 15

हय ऩर आऩक ऩास एक चनाव ह कक आऩ अऩनी जजॊदगी को जो चाहो फना रो

ऩयभ सतम 16

बगवान की कऩा हय सचच औय भहनती इॊसान ऩय होती ह औय जफ होती ह तो भसराधाय होती ह

ऩयभ सतम 17

सभम फदर जाता ह औय ऩरयजसथतमाॉ फदर जाती ह भगय जीवन क भर सतम नहीॊ फदरत

ऩयभ सतम 18

आऩ अऩन ददभाग का भजशकर स 1 ही उऩमोग कयत ह

ऩयभ सतम 19 अऩन ददभाग को हय ददन खयाक दीजजए तमोकक एक फाय अगय इसन अऩन जाद ददखाना शर कय ददमा तो आऩक सात ऩशतो को भाराभार कय दगा

ऩयभ सतम 20

अऩन बीतय भौजद ऩयभ ऩजम ईशवय को हय ऩर समभान दीजजए

ऩयभ सतम 21

आऩ अनभोर ह आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह

जीवन भ एक चनौतीऩणथ रकषम होन क पामद

जफ आऩ खद को ककसी शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दत ह तबी स ही आऩक आतभ रवकास का फलभसार सफ़य शर हो जाता ह

आऩ हय ददन नमा सीखना शर कय दत ह

आऩ हय इॊसान की कदर कयना शर कय दत ह

आऩ नई-नई औय परयणादामी ऩसतक ऩढना शर कय दत ह

आऩ खद को एक भहततवऩणप वमजतत भानना शर कय दत ह

आऩ भहानता स सजा जीवन जीना शर कय दत ह

आऩ जीवन को एक उऩहाय की तयह जीना शर कय दत ह

आऩ हय ददन उतसादहत औय खश यहना शर कय दत ह

आऩ रगाताय रवकास कयना शर कय दत ह

आऩ एक शानदाय सहत का आनॊद हय ददन रना शर कय दत ह

आऩ हय ददन आचथपक रऩ स सभदध होत जात ह

आऩ एक चरऩमन फनन की याह ऩय चर दत ह

आऩ हय ददन जीवन क परतत एक सकायातभक औय उतऩादक नजरयमा यखना शर कय दत ह

आऩ भानवता क लरए एक ऩॊजी फन जात ह

आऩ खद स सचचा पमाय कयन रगत ह

जीवन

जीवन एक उऩहाय ह

जीवन एक शानदाय अवसय ह

जीवन एक सौगात ह

जीवन एक फलभसार भौका ह खद को ऩा रन का

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक खफसयत सौबागम ह

जीवन सीखना ह

जीवन एक उतसव ह

जीवन एक आनॊद ह

जीवन ईशवय का परसाद ह

जीवन खद को जानना ह

जीवन एक गजफ का फशतप उऩहायो स सजा गरदसता ह

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक सौबागम ह

जीवन जीवन ह

भहान रोगो की भहान आदत

भहान रोग धमान स साभन वार की फात सनत ह

भहान रोग अऩन जीवन को एक चनौतीऩणप रकषम का वयदान दत ह

भहान रोग हय ददन अऩन काभकाज क तहत अऩन जनन का ऩीछा कयत ह

भहान रोग अऩन जीवन को भहान रवचायो क अनसाय चरात ह

भहान रोग भहान रोगो क साथ ही अऩन सभम को बफतान का चनाव कयत ह

भहान रोग रगाताय अचछी ककताफ ऩढ़त ह

भहान रोग रगाताय असपर होत ह इसीलरए भहान रोग कबी न रकन वार होत ह तमोकक असपरता उनह डयाती नहीॊ ह फजलक उनह ओय जमादा तनखयन क लरए पररयत कयती ह

भहान रोग हय ददन नमा सीखत ह

भहान रोग अऩन कामो क कायण भहान फनत ह

भहान रोग रगाताय खद क ही रयकॉडप को तोड़त यहत ह

भहान रोग खद की जफयदसत कदर कयत ह

भहान रोग सचभच भहान सोच क भालरक होत ह

भहान रोग हभशा बीड़ स हट कय सोचत ह

भहान रोग रोगो की सचची कदर कयत हए उनस नमा सीखत यहत ह

भहान रोग रोगो की सवा कयन भ भादहय होत ह

भहान रोग भाॉ क ऩट स भहान ऩदा नहीॊ होत जीवन भ अऩन दवाया ककम गए कामो स वह भहान फनत ह औय ऐसा अवसय ईशवय न आऩको बी परदान ककमा ह

आऩ बी आज स एक भहान इॊसान क तौय ऩय अऩन जीवन को जीन का चनाव कय सकत ह

सॊकट क 15 शानदाय राब

1 सॊकट आऩका रवकास कयता ह 2 सॊकट आऩको नमा लसखाता ह 3 सॊकट आऩको सौबागम का उऩहाय दता ह 4 सॊकट आऩको एक फहतय वमजतत फनाता ह 5 सॊकट तफ तक आता ह जफ तक आऩभ नमा सीख कय जीवन भ नए सतय

तक ऩहॉचन की सचची मोगमता भौजद यहती ह 6 सॊकट आऩका सपरता क सफ़य भ सचचा साथी होता ह 7 सॊकट को सॊकट की तयह दखना ही सचभच सॊकट ह 8 सॊकट एक ऐसा शानदाय भौका होता ह जो आऩको हय हार भ सौबागम का

ही वयदान दना चाहता ह 9 सॊकट अगय ह तो आग फढ़न क औय नमा सीखन क यासत ह 10 सॊकट आऩको ददखाई तफ दता ह जफ आऩका अऩन रकषम क परतत सभऩपण

कभ हो जाता ह

11 सॊकट का साभना कीजजए औय सॊकट को जीत रीजजए 12 हय ददन एक नमा सॊकट आऩक जीवन भ आना आऩक लरए फहद शब ह 13 नमा सॊकट भतरफ नमा अवसय जीवन भ एक कदभ औय आग फढ़न का 14 सफस फड़ा सॊकट ह आतभ-अऻान 15 आऩको सॊकट दना जीवन का एक नामाफ तयीका ह आऩको आऩकी अॊदरनी

शजतत स लभरान का

सपरता क 15 अभय सतर

1 अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का वयदान दीजजम 2 हय ददन सफह जलदी उदठए औय अऩनी सोच को जफयदसत सकायातभक

फनान क लरए परयणादामी ऩसतक ऩदढ़ए 3 हय ददन को खद को ओय जमादा भजफत फनान क एक शानदाय अवसय

क तौय ऩय दणखम 4 हय सॊकट को तयतकी क फलभसार भागप की तयह दणखम 5 हय इॊसान स कछ न कछ सीखन की सोच यखत हए फात कीजजए 6 हय ददन नमा सीख कय हय ददन का समभान कीजजए 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजम 8 हय ददन कसयत कीजजए तमोकक आऩकी सहत आऩकी काभमाफी भ अहभ

बलभका तनबाती ह 9 आऩकी अॊदरनी शजतत वाकई अनॊत ह 10 आऩ ऩय रवशव क लरए फहद बागमशारी ह 11 आऩकी सफस फड़ी काबफलरमत आऩकी हय ददन रवकास कयत हए आऩक

जीवन को फलभसार फनान की काबफलरमत ह 12 आऩ अऩन बागम क एकरौत भालरक ह 13 सपरता का सचचा अथप ह खद को हय ददन इॊसातनमत क रवकास भ

साथपक मोगदान क लरए रामक फनाना 14 सपर होन का सथामी तयीका ह खद को इॊसातनमत की जडो को ऩोषण

दन क लरए फशतप सभरऩपत कय दना

15 आऩ एक मोगम फलभसार औय शानदाय वमजतत ह

सौबागम क ऩववतर फीज

1 जफ आऩ खद सही नजरयमा अऩना रत हो तो आऩका सफ कछ सही हो जाता ह

2 ककसी इॊसान को आऩ ककस तनगाह स दखत हो साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह

3 ककसी काभ को आऩ ककस तनगाह स दखत हो इसक भताबफक ही आऩको वह काभ ऩरयणाभ दता ह

4 आऩकी सोच क ऊऩय उठन स ही आऩ ऊऩय उठ सकत ह 5 जो आऩको जीवन भ खशी औय काभमाफी क लरए जरयी साभान चादहए वह

सफ कछ ऩहर स ही आऩक बीतय ह 6 हय एक इॊसान अदबत ह तमोकक हय इॊसान क ऊऩय ईशवय की ऩरवतर भोहय

ह 7 जो इॊसान खद स खश ह वही दतनमा की खशहारी भ सचचा मोगदान द यहा

8 हय ऩर हभ सफक ऩास अनॊत-अनॊत भातरा भ वह सफ कछ भौजद ह जो हभ सचभच खश यहन क लरए चादहए

9 आऩ जीवन क परतत शकरगजाय हो कय फहत जमादा बागमशारी फन सकत ह 10 खद परकाश का ददवम सतरोतर फन जाना ही सवोतभ उऩाम ह 11 आऩको जफ आऩ ही नहीॊ ऩहचान यह ह तो ककसी औय स ऐसी उमभीद तमो

कय यह ह

12 गजफ ह कक हय इॊसान खद भ अनॊत शजतत का भहासागय सॊजोए हए ह कपय बी कहता ह कक भ कभजोय हॉ

13 आऩका बागम बगवान जी नहीॊ फजलक आऩकी सोच औय आऩकी भहनत लरखती ह

14 भहनती क घय रकषभी नाचती ह 15 काश भ आऩको फता ऩता कक आऩका जीवन ककतना जमादा अनभोर ह 16 जो खद को याह ददखा ऩा यहा ह सचभच दसयो को याह ददखान का हक बी

उसको ही ह 17 सफ कछ तो अबी इसी ऩर भौजद ह हभ ही कहीॊ औय उरझ हए ह 18 काभमाफ होन का भौका तो हय एक को हय ऩर लभर यहा ह ऩय भौका

अतसय भसीफतो क कऩड़ ऩहन कय आता ह 19 रवऩजतत भ ही समऩजतत छऩी होती ह 20 हभ सफ फदहसाफ शजतत क अनभोर खजान ह 21 कछ ह हभाय बीतय जो सदा स ह औय सदा ही यहन वारा ह 22 दखन वार क अॊदय ही वह छऩा ह जजस दखा जाना ह 23 आऩक भाता-रऩता का आशीवापद आऩक लरए फहद अनभोर ह 24 हभ खद ही खदा स लभरन भ सफस फड़ी ददतकत ह 25 साफ़ तनमत आऩको गजफ की फयकत दती ह 26 भजफत इयाद भजफत ऩरयणाभ रकय आत ह 27 जफ इॊसान खद भ रवशवास ददखाना शर कयता ह वहीी स उसक जीवन भ

चभतकाय होना शर हो जात ह 28 रगाताय खद ऩय भहनत कीजजए मह इकरौता तयीका ह ईभानदाय सपरता

परापत कयन का 29 आऩक दवाया आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩको फनान

औय लभटान दोनो की जादई मोगमता यखत ह 30 खोज यह ह हभ बफना मह ऩता कक खोजना तमा ह

हय ददन खद को ननखाय

हय ददन खद को तनखायना ही हय ददन का सचचा समभान कयना ह आऩकी हय ददन सफह उठत ही ऩहरी पराथलभकता मह होनी चादहए कक ककस तयह आऩ आज क ददन को अऩन जीवन का सफस खास ददन फना सकत ह हय नमा ददन आऩको नए अवसय उऩहाय भ दता ह हय ददन का खर ददर स सवागत कीजजए हय ददन नमा सीणखम हय ददन खद को पमाय दीजजम हय ददन अचछ औय सवमॊ को ऩोरषत कयन वार रवचाय सतनम हय ददन अऩन नजरयए को गजफ का सकायातभक यणखम हय ददन आऩकी सचची सवा कयत हए आऩको अनको परगतत क अवसय दता ह आऩ हय ददन नए रोगो स लभर हय ददन नए सऩन दख हय ददन कसयत कय हय ददन का आबाय खर ददर स परकट कय हय ददन अऩन रकषम की ददशा भ जरय फढ़ हय ददन एक कदभ उठाम अऩन आऩ को एक फहतय इॊसान फनान की ददशा भ हय ददन अऩन जीवन क सचच उददशम क परतत सभरऩपत यह हय ददन हय एक वमजतत स खफ उतसाह स लभर हय ददन ऩसतक ऩढ़ हय ददन अऩन रकषमो को लरख हय ददन कछ सभम अकर भ बफताम हय ददन अऩन जीवन भ शकरगजाय होन क नए नए भौक तराश हय ददन अऩन आऩ को एक गहया वमजतत फनाम हय ददन खद को समभान दत हए हय ददन खद का तनभापण कय हय ददन अऩन काभ को सभरऩपत होकय कय हय ददन भहान रोगो क रवचाय ऩढ़ हय ददन सॊकटो को सौबागमो भ फदर द

धनमवाद ऩतर

इस ऩसतक को अऩनान क लरए औय इसभ छऩ भहान सपरता क सचच सॊदश को समभान दन क लरए आऩको ददर स धनमवाद दत ह आऩका जनभ सचभच एक भहान जीवन जीन क लरए हआ ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आज स ही आऩ अऩन सऩनो का जीवन जीन का सचचा तनणपम र सकत ह आऩको एक शानदाय जीवन जीन का सचचा हक दन वार ईशवय को ददर स धनमवाद हभायी ऩहरी ऩसतक सपरता का अभत को ददर स अऩनान क लरए एक फाय कपय स आऩको धनमवाद

रवशष आबाय

इस शानदाय सऩन को सच फनान भ आऩ सबी का फहद अहभ मोगदान यहा ह -

पमाय ईशवय को रवशष आबाय पमाय भाता रऩता का रवशष आबाय हभाय सबी आरोचको का रवशष आबाय हभाय सलभनायो भ आम हजायो रोगो को रवशष आबाय सभाज भ अऩन अऩन अॊदाज भ सकायातभक ऊजाप परान वार हय एक आदय मोगम बाई औय फहन को ददर स आबाय

औय आऩको आबाय

आऩक बीतय छऩी आऩको भहान फनान की फलभसार ताकत को आबाय

आऩ अनभोर ह

आऩ अनभोर ह

Page 4: सफलता का अमृत 2

ववषम सची 1 20 VISIONARY IDEAS FOR YOU TO BECOME A BETTER YOU

EVERY SINGLE DAY

2 32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

3 75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

4 HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR GOD

5 INNER WEALTH

6 अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

7 अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह 8 असपरता का सचचा अथप

9 असाधायण रोगो क 10 फलभसार गण

10 आऩ एक वयदान ह 11 आऩका सचचा ऩरयचम

12 आऩकी काभमाफी को सभरऩपत 15 शजततशारी रवचाय

13 आऩकी सपरता को सभरऩपत 30 जादई औय परयणादामी रवचाय

14 गजफ की शजतत ह आऩकी सोच भ 15 आऩक द ख ही आऩक सख ह 16 आऩक लरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

17 आऩक लरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

18 आऩक लरए कछ नए औय शानदाय रवशवास आऩक खद क फाय भ 19 इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का जजसन खद ही खद की ककसभत को

फनामा 20 उतसाह क साथ लशखय की मातरा का आनॊद

21 एक घय ऐसा बी ह जजसभ

22 एक फलभसार जीवन क लरए 51 गरभॊतर

23 एक रवजता सोच की शजतत

24 एक शानदाय औय फलभसार जीवन की 52 याह

25 एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ 26 काभमाफ रवचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

27 कीजजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

28 आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह 29 चलरए एक शानदाय जजॊदगी की ओय

30 जीवन क 21 ऩयभ सतम

31 जीवन भ एक चनौतीऩणप रकषम होन क पामद

32 जीवन

33 भहान रोगो की भहान आदत

34 सॊकट क 15 शानदाय राब

35 सपरता क 15 अभय सतर

36 सौबागम क ऩरवतर फीज

37 हय ददन खद को तनखाय धनमवाद ऩतर

रवशष आबाय

20 VISIONARY IDEAS FOR YOU TO BECOME A BETTER

YOU EVERY SINGLE DAY

1 Live life in your own way

2 Run your own race

3 Challenge yourself every day for better

4 Truest joy is joy of serving humanity

5 Discover your calling

6 Program yourself to succeed in life every day

7 Top class thoughts create top class results

8 Believe in yourself to achieve your dreams

9 Grow your consciousness every day

10 Be an asset for humanity

11 Speak to serve people

12 Listen to understand people

13 Your true power is infinite

14 Develop yourself daily

15 Connect to your inner self to live fully

16 Awareness brings freedom in your life

17 Awareness is about knowing your inner self

18 Change your thoughts to change your results

19 Follow your passion

20 Be a life visionary

32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

1 खद को जातनए औय खद को ऩा रीजजए 2 आऩक रवचाय ही आऩका सॊसाय ह 3 आऩका वमवहाय ही आऩकी ऩॊजी ह 4 आऩ कछ बी सीख सकत ह औय कछ बी फन सकत ह 5 सऩन ऩय कयन क लरए सऩन जरय दणखए 6 आऩका सभऩपण आऩकी सपरता को आकरषपत कयता ह 7 कवर सतम ही आऩको भतत कयन की शजतत यखता ह 8 हय ददन नमा सीखना हय ददन जीना ही तो ह 9 आऩकी ककसभत खयाफ ह मह लसपप आऩका एक रवचाय ही तो ह 10 खद को हय ददन काबफर फना कय आऩ कछ बी परापत कय सकत ह 11 आऩ खद ऩय हय फाय ऩया बयोसा कय सकत ह 12 जीवन हय ऩर आऩको खद को रवकलसत कयन क फदहसाफ अवसय द यहा

ह 13 जजतना आऩ खद को जानत जात ह उतना ही खद ऩय आऩको रवशवास

होता जाता ह 14 आऩ अऩन बागम की जजमभदायी खद रकय सचभच बागमशारी फन सकत

ह 15 आऩका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह 16 सच मह ह कक आऩकी शजतत अनॊत ह 17 आऩकी फाहय की दतनमा आऩकी बीतय की दतनमा का दऩपण भातर ह 18 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 19 सवा कयक सचभच शाॊतत लभरती ह

20 खद को जान रन क फाद खद स फशतप परभ खद फ खद हो जाता ह 21 ऩयी तयह सपर औय ऩयी तयह असपर कोई इॊसान ह ही नहीॊ ह 22 आनॊद को आऩ खोजत तो फाहय ह भगय होता मह आऩक अऩन ही अॊदय

ह 23 जो आऩ दखना चाहत ह आऩ लसपप वही दख ऩात ह 24 एक शानदाय जीवन जीना आऩका हक ह

25 सचची अभीयी आतभ ऻान ह 26 सॊकट आता ही आऩको भजफत फनान क लरए ह 27 जजतन आऩ खद स ईभानदाय होग उतना ही आऩ खद का आदय कयग 28 आतभ रवशवास स ऩहर आतभ ऻान आता ह 29 अगय आऩ जजॊदा ह तो आऩको जीवन क परतत तनयाश होन का कोई हक

नहीॊ ह 30 आऩ अऩन आऩ क लरए फहद बागमशारी ह 31 खद को खोजजए 32 सभरदध आऩका सचचा हक ह

75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

1 Laugh daily

2 Exercise daily

3 Dream daily

4 Think bold daily

5 Read daily

6 Imagine daily

7 Live life of purpose daily

8 Learn from your past

9 Discover your calling

10 Leave the crowd

11 Honor your intuitions

12 Write your goals daily

13 Be yourself

14 Challenge your challenges

15 Become a better person every day

16 Serve humanity

17 Learn from wisdom quotes

18 Write and frame the purpose of your life

19 Problems are platforms

20 Grow your consciousness every day

21 Design your life every day

22 Make your thinking your biggest asset

23 Work hard to work smarter

24 Hard work is good for your health as well

25 Live life like a life passionate lover

26 Expand your thinking every day

27 Celebrate your daily performance

28 Develop yourself daily

29 Respect yourself

30 Create your luck

31 Listen audio programs on personal development daily

32 Sleep less to grow more

33 Go for wisdom

34 Choose wisdom over knowledge

35 Work on your inner life

36 Dedicate yourself towards life-long learning

37 Discover your inner strength

38 Think different to think like tycoons

39 Wake up at 5am daily

40 Adopt a belief system of winners

41 Lead life to live life

42 Express your genius through your work daily

43 Write in a journal daily

44 Think long term

45 Be a passionate life learner

46 Visit library once in a week

47 Commit to working hard till your last breathe

48 Your language is your presentation

49 People who give up are the losers

50 Run your own race

51 Mastery attracts challenges continuously

52 Leave the crowd to lead the crowd

53 Champion your thoughts to champion your life

54 Daily hard work attracts mastery

55 Live your life as per your inner taste

56 Practice rare stuff to get rare results

57 Win in mind first to win in actual

58 Believe in yourself to achieve the impossible

59 People always laugh at man on progress

60 Spend more time with creative people

61 Be lady gaga of your field

62 Be Nelson Mandela of your field

63 Be bill gates of your field

64 Be J K Rowling of your field

65 Go deep to know things deeply

66 Dare to see the picture behind every picture

67 Selfish people are liability even for their own selves

68 Dream bold dreams to check your true inner power

69 Your mind power is infinite

70 Dare to think beyond the crowd

71 Listen to your heart to be a brand

72 Struggle gifts strength

73 Purpose of life is becoming more helpful for humanity every single day

74 Selfless people are history makers

75 Life is an awesome gift of god to you

HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR

GOD 1 Donrsquot disgrace god by playing small with your inner infinite creative

potential

2 God has gifted you with inner infinite creative potential

3 Within you lies the treasure of inner infinite creative potential

4 Your success is godrsquos success

5 Your success is humanityrsquos success

6 Your success is success of that power which lies every single second within

you

7 You are a master-piece and original kindly donrsquot imitate someone

8 You have infinite seeds of greatness within you

9 You have the power to manifest your ultimate destiny

10 Biggest resource that you are having at this moment is your decision to

choose your destiny

11 Be a leader and gift yourself a vision for your life

12 Every single day is a world class platform to become more and achieve more

as a person

13 You shine when you face adversity

14 Problems are your honest servants as they serve you by developing you

15 You must master your thinking to master your destiny

16 You are free if you are rightly educated

17 You have the power to live your life in your style

18 Run your own race to win the race with grace

19 Bigger the obstacle bigger the rewards

20 Harder you work smarter you become

INNER WEALTH

Inner wealth is open to all of us

Inner wealth is actual wealth

Inner wealth is infinite for all of us

Inner wealth can be achieved by becoming a better person every day

Inner wealth can be achieved by discovering your calling

Inner wealth can be achieved by challenging yourself for better

Inner wealth is a gift that one can as a result of his daily inner growth

Inner wealth gives you joy as it is a result of your daily self-realization

Inner wealth is obtained when it becomes ultimate aim of your life

Inner wealth is obtained by life visionaries

Inner wealth is achieved by leaving the crowd and listening to your own heart

Inner wealth is achieved by those who refuse to give up at the times of pains and

challenges

Inner wealth is achieved by people who are truly passionate about achieving inner

wealth

अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

1 आऩ एक शानदाय जीवन जी सकत ह 2 आऩ एक परचयता स बया जीवन जी सकत ह 3 आऩ शकरगजायी की भहान बावना स सजा जीवन जी सकत ह 4 आऩ भानवता क फलभसार इततहास भ अऩना नाभ दजप कया सकत ह 5 आऩ गजफ क आतभ रवशवास क भालरक हो सकत ह 6 आऩ एक अभीय औय बफलकर खशहार जजॊदगी हय ददन जी सकत ह 7 आऩ इस फात की ऩयवाह ही नहीॊ कयग कक रोग आऩको तमा कहत ह 8 आऩ हय ददन सभरदध की सीढ़ी चढ़त जात ह 9 आऩ हय इॊसान को आदय क बाव स दखन रगत ह 10 आऩ खद स फदहसाफ पमाय कयन रगत ह 11 आऩ सचभच जीवन का समभान कयन रगत ह 12 आऩ परकतत क यहसमो को धीय-धीय सभझन रगत ह 13 आऩ भानवता क सचच सवक फनन रगत ह

14 आऩ जीवन भ ककसी बी भकाभ तक आसानी स ऩहॉच सकत ह 15 आऩ हय वो सऩना सच कय सकत ह जजस आऩ हभशा स दखत आम ह 16 आऩ ऩयी भानवता को सचभच याह ददखा सकत ह 17 आऩ सचभच एक फलभसार जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह

अभीय सोच सचभच आऩको अभीय फना दती ह वाकई अभीय सोच कोई बी अऩना कय अभीय फन सकता ह अभीय सोच क कछ रण इस परकाय ह

1 अभीय इॊसान अऩन जीवन की जजमभदायी खद रता ह 2 अभीय इॊसान हय ददन नमा सीखता ह 3 अभीय इॊसान सॊकट को सपरता की नीॊव सभझता ह 4 अभीय इॊसान जीवन को एक वयदान की तयह जीता ह 5 अभीय इॊसान हय ददन खद को तनखायता ह 6 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी जजॊदगी उसक खद क रवचायो का ही

परततबफॊफ होती ह 7 अभीय इॊसान अभीय रोगो की सोच की सचभच कदर कयता ह 8 अभीय इॊसान हय ददन को परगतत कयन क भॊच क तौय ऩय दखता ह 9 अभीय इॊसान सचभच खद भ रवशवास कयता ह 10 अभीय इॊसान फड़ धमान स सनता ह 11 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी ककसभत उसक अऩन ही हाथ भ ह 12 अभीय इॊसान नए-नए रोगो स रगाताय लभरता ह ताकक अऩन काभ को औय

अचछ तयीक स कय सक 13 अभीय इॊसान हय ददन अचछी ऩसतक ऩढता ह 14 अभीय इॊसान हय ददन सऩन दखता ह 15 अभीय इॊसान जीवन को ऩय उतसाह क साथ जीता ह 16 अभीय इॊसान मह भानता ह कक उसकी भहनत हय ददन उस परगतत क नए-

नए अवसय दती ह 17 अभीय इॊसान खरकय अभीयी क रवचाय सबी स साॊझ कयता ह

18 अभीय इॊसान सचभच चाहता ह कक जमादा स जमादा रोग सभरदध का जीवन जीम

19 अभीय इॊसान ददर स मह सभझता ह कक अभीयी सचभच हभाय अऩन ही हाथ की फात ह

20 अभीय इॊसान सचभच सवा कयत हए अभीय फनता ह 21 अभीय सोच का अथप ह कक सभाज की सवा कयन की सचची औय ईभानदाय

सोच यखना 22 अभीय सोच का अथप ह कक जीवन का समभान कयत हए जीवन को ऩय जोश

औय उतसाह क साथ जीना

असपरता का सचचा अथथ

1 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ रगाताय परमास कय यह ह 2 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ अऩनी सोच को हकीत भ फदरन

की जादई ताकत यखत ह 3 असपरता आऩको भजफत फनाती ह 4 असपरता आऩको शानदाय अनबव दती ह 5 असपरता आऩको जीवन भ कछ फड़ा कयन की गजफ की परयणा दती ह 6 असपरता आऩको बीड़ स अरग कयत हए इततहास यचन वारो क फीच

राकय खड़ा कय दती ह 7 असपरता आऩको ऩयी ताकत क साथ दोफाया शर कयन की परयणा दती

ह 8 असपरता आऩकी सोच को गहया फना दती ह 9 असपरता सपरता की जड़वाॉ फहन ह 10 असपरता आ यही ह भतरफ आऩ अऩना सवोतभ दन का रगाताय

परमास कय यह ह 11 असपरता आऩको हय ददन अरग अरग तरो भ लभरती ही यहती ह जफ

बी आऩ कछ नमा कयन की कोलशश कयत ह 12 असपरता आऩकी परगतत क लरए फहद जरयी ह 13 असपरता आऩको एक फाय कपय नमा सोचन का अवसय दती ह 14 असपरता ही आऩकी सपरता फन जाती ह जफ आऩ इसस लशा रकय

जीवन भ एक कदभ ओय आग फढ़ जात ह 15 असपरता आऩकी आवाज भ लभठास औय रवनमरता रकय आती ह

असाधायण रोगो क 10 फमभसार गण

1 असाधायण रोग हय ददन एक सऩषट जीवन रकषम क साथ आग फढ़त ह 2 असाधायण रोग हय ददन नमा सीखत ह 3 असाधायण रोग हय ददन जमादा स जमादा सपर रोगो क साथ अऩना नटवकप भजफत कयत ह 4 असाधायण रोग हय ददन सऩन दखत ह 5 असाधायण रोग इस फात भ गहया रवशवास कयत ह कक जीवन भ ककसी बी इॊसान क लरए कोई कभी नहीॊ ह अभीय इॊसान नहीॊ अभीय दयअसर एक सोच होती ह जजस कोई बी इॊसान अऩना सकता ह 6 असाधायण रोग दसय रोगो क रवकास भ अहभ बलभका तनबात ह 7 असाधायण रोग ईशवय क दवाया हय इॊसान को ददए गए चायो उऩहायो (शयीय भजसतषक रदम आतभा) का हय ददन बयऩय उऩमोग कयत ह 8 असाधायण रोग अऩनी फात को कहन की करा भ खद को तनऩण फनात ह 9 असाधायण रोगो की दोसती बी असाधायण रोगो क साथ ही होती ह तमोकक आऩक दोसत आऩक बागम क तनभापण भ फहत जरयी बलभका तनबात ह 10 असाधायण रोग हय ददन अऩन काभ का पीडफक रत ह औय खद को हय ददन भजफत फनात ह

आऩ एक वयदान ह

आऩ अनभोर ह

आऩ फलभसार ह

आऩ अनॊत शजतत क भालरक ह

आऩ फलभसार काबफलरमत का खजाना सवमॊ भ सॊजोए हए ह

आऩकी कलऩना शजतत अनॊत ह

आऩका भजसतषक एक गजफ का ताकतवय कॊ पमटय ह

आऩकी ककसभत शानदाय ह

आऩ अऩन जीवन को ककसी बी ददशा भ र जा सकत ह

आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह

आऩ भानवता की सवा कयक भहान फनन का चनाव कय सकत ह

आऩ अऩन जीवन को दसयो क लरए एक परयक जीवन फना सकत ह

आऩ सवमॊ भ छऩी अनॊत शजततमो को ऩान क परतत सभरऩपत हो सकत ह

आऩ ऩयी दतनमा घभ सकत ह

आऩ अऩन नाभ को एक बाॊड फना सकत ह

आऩ अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना सकत ह

आऩ भजशकर को भौक भ फदर कय भजशकर को समभान द सकत ह

आऩका सचचा ऩरयचम

आऩ एक चभतकाय ह आऩ सौबागम क अनॊत फीज खद भ सॊजोए हए ह आऩक बीतय एक कभार की शजतत ह जजसका आऩको जीत जी जरय एहसास कयना चादहए ऩयी दतनमा क लरए आऩका जनभ एक भहासौबागम ह आऩ एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद हय ददन र सकत ह आऩ हय ददन सफह जलदी उठ कय अऩनी ककसभत का तनभापण कय सकत ह आऩक सॊकट आऩका रवकास कयत ह आऩक रकषम आऩका रवकास कयत ह आऩ आज स ही अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय सकत ह आऩ भानवता की सवा कयक जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह आऩका जीवन आऩको लभरा एक शानदाय उऩहाय ह आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह आऩ हय ददन एक नमी सोच अऩना कय नए ऩरयणाभ परापत कय सकत ह आऩ जजतना जमादा खद को जानोग उतना ही खद स पमाय कयत चर जाओग आऩ जीवन क परतत सभरऩपत होकय अऩन जीवन को एक उतसव की तयह जी सकत ह आऩ हय ददन नए सऩन दख सकत ह आऩ अनभोर ह आऩ अनभोर ह

आऩकी काभमाफी को सभवऩथत 15 शकततशारी ववचाय

1 आऩ फदहसाफ आॊतरयक शजतत क भालरक ह 2 आऩ ऩय बहभाॊड क लरए फहद शब औय सौबागमशारी ह 3 आऩकी कलऩना कयन की शजतत अनॊत ह 4 आऩकी आतभ सधाय कयन की भता अनॊत ह 5 आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह 6 सवसथ का अथप ह सवमॊ भ जसथत होना 7 सवाथप का सचचा अथप ह सवमॊ क सचच औय गहय अथप को सभझना 8 ऩागर का अथप ह जजसन ऩा लरमा गर (काभ की फात मा सचची फात)

को 9 ऩागर का अथप ह ऩाक (रहानी) फात कयन वारा 10 आज अबी औय इसी ऩर आऩ एक काबफर शानदाय फलभसार औय

सभदध वमजतत ह 11 आऩ कबी बी कछ बी सीख कय ककसी बी तर भ भहायत हालसर कय

सकत ह 12 आऩका जनभ एक सखद उऩहाय ह ऩयी भानवता क लरए 13 सभसत धयती आऩकी अऩनी ह 14 आऩका बागम ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह 15 आऩभ अनॊत सॊबावनाएॊ छऩी ह

आऩकी सपरता को सभवऩथत 30 जादई औय परयणादामी ववचाय

1 ऩहर अऩन रकषम क परतत सभऩपण औय कपय उस सभऩपण की हय कीभत चकान की दहमभत चादहए तफ जाकय सपरता आऩक कदभ चभती ह

2 ककतनी पमायी फात ह कक हभ खद को आदय दकय अऩन बीतय भौजद ईशवय को ही तो आदय दत ह

3 सयरता सवगप ह जफकक उरझन नकप ह 4 ककतनी कभार की फात ह कक हभ सफ जीवन भ आसान यासत चाहत ह

भगय हभाया रवकास लसपप भजशकर यासतो ऩय चर कय ही होता ह 5 सफको अऩना बरवषम जानन की फड़ी आतयता यहती ह जफकक अऻात भ

जीन का भजा ही तनयारा ह 6 हय ऩर आऩ खद क फनाम सवगप भ मा कपय खद क फनाम नकप भ यहन का

चनाव कयत ह

7 खद का सधाय ककम बफना दसय को सधायन की कोलशश कयना वमथप का परमास साबफत होता ह

8 अऩनी गरती कोई नहीॊ भानता जफकक अऩनी गरती भान कय अऩन आऩ को सधायन का आनॊद गजफ का ह

9 भजशकर हारात आना इस फात का सफत ह कक आऩ परगतत क ऩथ ऩय ह 10 सफको फशतप पमाय दीजजए तमोकक परभ आऩक ऩास फदहसाफ भातरा भ भौजद

ह 11 आऩ खद ही अऩनी सोच को काभमाफी की ददशा भ रकय जा सकत ह 12 सच क यासत ऩय तनयॊतय चरना आऩको एक अदबत आनॊद दता ह 13 अऩन जीवन भ आन वारी सभसमाओॊ का खफ आनॊद रीजजए तमोकक म

आऩक लरए परगतत क शानदाय अवसय र कय आती ह

14 हय सपर इॊसान ककसी फड़ी चनौती का साभना कयत हए खद को भजफत फना कय सपर फनता ह

15 नज़ाया चाह कछ बी हो हभायी नज़य वही दखती ह जो दखन क लरए हभ इस कहत ह

16 कबी कबी इॊसान जजस जीत सभझता ह वह हाय होती ह औय जजस हाय सभझता ह वह जीत होती ह

17 3 सभम बोजन अगय आऩ हय योज़ कयत ह तो आऩको योज़ 3 सभम कछ न कछ नमा जरय सीखना चादहम

18 जीवन भ आऩको आऩक लसवा कोई खश मा दखी कय ही नहीॊ सकता 19 परभ भ सवाथप नहीॊ औय जहाॉ सवाथप ह वहाॉ परभ नहीॊ 20 ईशवय हभ हय ऩर हभाय सवोतभ रऩ भ ऩहॉचन क लरए भागपदलशपत कय यहा

ह 21 जफ जफ आऩकी तनमत साफ़ यहती ह तफ तफ आऩको ऩरयणाभ भ फयकत

बी जफयदसत होती ह 22 इॊसान जीवन भ अऩनो औय ऩयामो को ही खोजन भ रगा यहता ह जफकक

अऩना ऩयामा कोई ह ही नहीॊ 23 आऩकी भहनत अगय फकाय चरी गमी तो वो भहनत थी ही नहीॊ 24 खद क अहॊकाय को काट बफना जीवन भ खशी का ऽजाना नहीॊ लभरता 25 ककसी को कभतय सभझन की गरती वही कयता ह जो खद ऩय श कयन

का आदी हो 26 गहयाऩन आऩक काभ भ दय दय की ठोकय खा कय ही आता ह 27 एक फाय खद क बीतय ईशवय को ऩाकय कपय आऩको हय जगह ईशवय ही

ददखाई दता ह

28 अऩनी अॊतयातभा की आवाज़ को फरॊद कयक ही आऩको सचची खशी लभरती ह

29 ककसी की सचची इजज़त कयन क लरए ऩहर खद की जफयदसत फइजजती कयना जरयी ह

30 सच भ सच को कह कस औय झठ कह कय ददर को खशी लभरती नहीॊ

गजफ की शकतत ह आऩकी सोच भ

1 आऩकी सोच आऩक जीवन का सच फन जाती ह 2 आऩकी सोच औय आऩका नजरयमा फहत ही गहय स आऩस भ जड़ होत ह 3 आऩ अऩनी सोच को कबी बी ककसी बी फड़ी सपरता क लरए तमाय कय

सकत ह 4 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजए 5 काभमाफ सोच को अऩना कय आऩ बी काभमाफ हो सकत ह

6 भानवता की सचची सवा कयन की सोच को अऩना कय आऩ बी एक फलभसार जीवन का आनॊद र सकत ह

7 हय ददन अऩनी सोच को सकायातभक औय उतऩादक फनाना आऩकी जजमभदायी ह

8 आऩकी सोच आऩक जीवन क हय ऩहर को परबारवत कयती ह 9 काभमाफ सोच काभमाफ ऩरयणाभ ऩदा कयती ह 10 काभमाफ सोच हभशा आऩको सभाधान की ओय र कय जाती ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह तमोकक आऩक द ख आऩकी अॊदरनी आॉख खोरत ह

आऩक द ख ही आऩको रगातय कछ ऐसा खोजन क लरए पररयत कयत जो आऩको सचभच सथामी आनॊद द सक

आऩक द ख ही आऩकी परगतत का भागप खोरत ह

आऩक द ख ही आऩक सख का आधाय फनत ह

आऩक द ख दयअसर आऩको दख रगत ह भगय जीवन आऩको आग फढ़ान क लरए दखो का ही इसतभार कयता ह

द ख असर भ आऩकी आऩक अॊदरनी खजान क परतत अऻानता क कायण ह

आऩक द ख आऩका रवकास कयत ह

आऩक द ख आऩको हय ददन नमा सीखन क लरए औय जीवन को जजमभदायी रत हए जीन क लरए पररयत कयत ह

आऩक द ख ही आऩकी भहानता की सीढ़ी फनत ह

आऩक द ख अगय ना हो तो आऩक सख बी आऩस दय ही यहग

हय द ख भ सख का फीज छऩा होता ह

द ख वासतव भ द ख नहीॊ होता द ख वो हभाय उसको द ख की तयह दखन क कायण फनता ह

द ख ईशवय को आऩको परगतत कयन क लरए ददमा वयदान होता ह

द ख जफ आऩ सहन कय चक होत ह औय आऩ उसस नमा सीख कय जीवन भ एक नए सतय तक ऩहॉच चक होत ह तो द ख आऩको फड़ी खशी दता ह

आऩक मरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

आज आऩ जो बी सोच यखत ह चाह वह आऩका रवकास कय यही हो मा रवनाश कय यही हो उस ऩयी तयह आऩन ही फनामा ह औय आऩ इस ऩयी तयह स फदर सकत ह औय एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

आऩक आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩक बागम का सतय तम कयत ह

आऩ इस भहान सजषट का एक अहभ दहससा ह

हभ सफ एक दसय स जड़ हए ह

आऩकी ककसभत आऩकी भहनत स फनती ह

सॊकट आऩको परगतत क शानदाय अवसय दता ह

हय इॊसान स आऩ कछ न कछ नमा जरय सीख सकत ह

आऩकी सोच ही आऩका सच फनती ह

सीखन वार हभशा ही जीतन वार फन जात ह

हय ददन भहनत कय औय बागमशारी फन

अवसय ककसी काभ भ नहीॊ फजलक आऩकी सोच भ छऩा होता ह

सॊघषप आऩका तनभापण कयता ह

हायन क फाद आऩका जीत का आनॊद रन का साभरथमप फढ़ जाता ह

आऩक जीवन का हय ऩर आऩक लरए पमाय ईशवय का उऩहाय ह

आऩकी शजतत अनॊत ह

आऩ खद अऩन जीवन क भालरक ह

ईशवय न आऩको जजॊदगी का फलभसार उऩहाय दकय समभातनत ककमा ह

आऩक आरोचक आऩकी इततहास फनान भ भदद कयत ह

आऩक मरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

1 आऩक रवचाय आऩकी असलरमत का तनभापण कयत ह 2 खद को रगाताय आतभऻान रत यहन क लरए सभरऩपत कय दीजजम 3 हय ददन 03 लभनट का सभम तनकार कय परयक ऩसतक ऩदढ़ए

4 एक कागज ऩय बफलकर सऩषट रऩ स लरख रीजजम कक ldquoआऩ जीवन भ तमा परापत कयना चाहत हrdquo

5 जो सॊदश आऩ दसयो को दना चाहत ह ऩहर खद उस सॊदश को अऩन जीवन भ हय ददन आदयऩवपक जजएॊ

6 असाधायण परमास कयक ही आऩ असाधायण ऩरयणाभ परापत कय सकत ह 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजम 8 जफ आऩ खद को हय ददन अऩन बीतय छऩी असाधायण सॊबावनाओॊ क लरए

जागरक कयत ह तो आऩस जड़ी हय चीज़ काभमाफी की ददशा भ फढ़ती ह 9 आऩ हय वो चीज़ सीख सकत ह जो आऩको काभमाफ होन क लरए आनी

चादहए 10 सपरता औय खशी आऩस दय नहीॊ ह फजलक आऩ खद सपरता औय खशी

स दय ह 11 आऩकी सीखन की भता ही आऩक कभान की भता तनधापरयत कयती ह 12 हय एक इॊसान अनभोर औय शानदाय ह 13 लसपप सोच स फड़ औय तनडय रोग ही अऩनी वासतरवक आनतरयक शजतत का

उऩमोग कयत ह 14 आऩक जीवन का सचचा रकषम आऩकी आॊतरयक शजतत क फलभसार बणडाय

को खोजना औय उस भानवता की सवा भ सभरऩपत कय दना होना चादहए 15 फहान फनान वार इततहास यचन वार नहीॊ फनत

16 आऩ ऩहर खद अऩन आऩ को धोखा ददए बफना ककसी ओय को धोखा नहीॊ द सकत

17 जो सभम आऩ अऩनी सचची औय अॊदरनी ताकत को जानन भ रगात ह वो आऩक सभम का सफस फहतयीन तनवश होता ह

18 काभमाफी औय अभीयी का जीवन ऩयी तयह स आऩक चनाव ऩय दटका ह 19 सचभच अभीय रोग भानवता क फहत ही अचछ सवक होत ह औय भधमभ

दज क रोग भानवता क भधमभ दज क सवक होत ह 20 आऩका ददभाग एक फहत ही शजततशारी कॊ पमटय ह 21 जीवन भ हय ददन परगतत कयन क लरए ककसी ओय स नहीॊ अऩन आऩ स

हय ददन फहतय होत चर जाएॊ 22 जीवन हभ सफको एक अचछ इॊसान क तौय ऩय चभकन क लरए फशतप औय

भहान उऩहाय की तयह लभरा ह 23 जफ आऩ खद की सचची कदर कयत हो तबी आऩ दसयो की सचची कदर कयन

क काबफर फनत हो 24 जफ आऩ जीवन क हय तर भ अऩन खद क ही रऩछर रयकॉडप तोड़न रगत

ह तफ आऩ सचभच एक चरऩमन क तौय ऩय रवकलसत होन रगत ह 25 जो ऩरयणाभ आऩ आज अऩन जीवन भ परापत कय यह ह उसक लरए आऩक

अरावा ऩयी दतनमा भ कोई बी जजमभदाय नहीॊ ह 26 दतनमा रॊफ सभम तक धनमवाद दन वार रोगो का लशकामत कयन वार

रोगो स कहीॊ जमादा समभान कयती ह 27 आऩका वमवहाय हभशा ही आऩक चरयतर की सचची तसवीय को ददखाता ह 28 हय भहान इॊसान आऩको मही भहसस कयाता ह कक आऩ बी भहान फन

सकत ह

29 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय ददन सोचत सनत दखत फोरत औय भहसस कयत ह

30 हय ददन कछ सभम तनकार कय ऐस रवचाय जरय सन मा ऩढ़ जो आऩको सचभच एक शानदाय जीवन जीन क लरए फहद पररयत कयत ह

आऩक मरए कछ नए औय शानदाय ववशवास आऩक खद क फाय भ

तमा आऩ जानत ह कक कौन आऩकी जजॊदगी चरा यहा ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी सोच ककस हद तक आऩकी जजॊदगी को फहतय औय फदतय फनान की काबफलरमत यखती ह

तमा आऩ जानत ह कक आऩकी वासतरवक शजतत ककतनी ह तमा आऩ जानत ह कक ककस

हद तक आऩ अऩन जीवन को शानदाय फना सकत ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ अऩन

सऩनो की जजॊदगी जीन भ ऩयी तयह सभ ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी भजशकर आऩका रवकास कयती ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ हय ददन खद ही अऩनी तनमतत फनात ह

आऩ ककस तयह स खद को दखत ह साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह आऩ खद को ककतना काबफर भानत ह इसी फात स आऩकी सपरता का सतय तम होता ह ककस तनगाह स आऩ

अऩनी सीखन की काबफलरमत का इसतभार कयत ह इसी स आऩकी अभीयी का सतय तम

होता ह आऩ हाय क फाद ककस नजरयम स दोफाया शर कयत ह इसी स साया पकप ऩड़ता ह

आऩकी जजॊदगी ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह जफ तक आऩको रगता ह कक आऩकी जजॊदगी क

लरए आऩ जजमभदाय नहीॊ ह तफ तक आऩ अऩनी जजॊदगी को फहतय फनान क लरए जरयी कदभ नहीॊ उठा सकत जफ तक आऩ खद क फाय भ एक सकायातभक नजरयमा नहीॊ रवकलसत कय रत तफ तक आऩकी सभसमा जमो की तमो फनी यहगी

आऩकी हय सभसमा का एक ही सभाधान ह औय वो ह कक आऩ खद की ऩतकी ऩहचान कय आऩ खद को जान आऩ अऩनी आॉख खोर आऩ अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का उऩहाय द

आऩकी सचचाई मह ह कक

आऩ ऩयी तयह स सपर होन क लरए काबफर ह आऩ ऩयी तयह स खद की जजॊदगी को

फदरन की काबफलरमत यखत ह आऩ अऩनी जजॊदगी क भालरक ह आऩ एक शजततशारी ददभाग क भालरक ह आऩ सचभच एक कभार की जजॊदगी जीन का सचचा हक यखत ह आऩ हय ददन नमा सीख कय हय ददन जीत सकत ह आऩ जजस फात भ मकीन यखत ह वही आऩक लरए हकीत फन जाती ह आऩ एक फलभसार जीवन जीन की सचची काबफलरमत यखत ह

आऩ अनभोर ह आऩ सचभच काबफर ह आऩ हकदाय ह एक अदबत जीवन जीन क

इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का कजसन खद ही खद की ककसभत को फनामाhellip

सवार आऩ काभमाफ कस हए

जवाफ काभमाफ होना ही भया ऩास एकरौता यासता था

सवार आऩ असपर बी तो हो सकत थ

जवाफ भ असपर हआ ही इतनी जमादा फाय था कक अफ सपर होना ही था जफ आऩ रगाताय भहनत कयत हो तो एक वक़त ऩय आकय आऩको ऩतका सपरता लभरती ह

सवार सपरता तमा होती ह

जवाफ खद को जानना सपरता ह खद क साथ ईभानदाय होना सपरता ह खद को हय ददन खद क बीतय छऩी शजततमो क परतत लशकषत कयना सपरता ह इॊसातनमत की सचची सवा कयना सपरता ह

सवार आऩको दख कय रगता ह कक आऩ एक फहत ही सरझ हए इॊसान ह तमा ऐसा वाकई ह

जवाफ दणखए सपरता लभरती ही तफ ह जफ आऩ खद सरझ जात ह आऩकी सपरता भ सफस फड़ी ददतकत आऩकी सोच औय आऩका जरयत स जमादा उरझा होना ही ह आऩ खद को सयर कयत हए कबी बी कभार की सपरता ऩा सकत ह

सवार आऩन खद को कस ऩामा

जवाफ जफ भन खद ऩय रवशवास कयना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भ लसपप एक शयीय स कहीॊ जमादा हॉ जफ भन खद स जड़ना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भझभ एक शजतत ह जो ऩयी तयह स भया दहत औय पराव चाहती ह जफ भन सपर रोगो स लभरना शर ककमा तो भन ऩामा कक हय सपर इॊसान खद स ईभानदाय ह हय सपर इॊसान जीवन क परतत हय ददन जफयदसत आबाय वमतत कयता ह हय सपर इॊसान मह सोचता ह कक उसका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह

उतसाह क साथ मशखय की मातरा का आनॊद

1 आऩ जीवन भ जो कछ बी तराश यह ह ठीक वही आऩको लभर जा यहा ह 2 बफरकर सऩषट कीजजम कक सपरता का आऩक लरए सचचा अथप तमा ह

3 आऩ इस रवशार बहभाॊड भ कस अऩनी छाऩ छोड़ना चाहत ह

4 आऩका जनन ही आऩक काभकाज का तर होना चादहम 5 हारात स जमादा परापत कयन क लरए हारात को जमादा गहय स भहसस

कयना शर कीजजए 6 अचछी चीज़ो औय अऩन ऻान को खशी खशी सबी स फाॊदटम 7 अऩन फाय भ जागरकता फढ़ान क लरए अऩनी ताकतो औय कभजोरयमो को

साफ़ साफ़ कागज ऩय लरणखम 8 अऩन सऩनो की हय ददन यचनातभक भानलसक तसवीय दणखम 9 हय ददन अऩनी फातचीत की करा ऩय गजफ की भहनत कीजजए 10 जीवन भ रीडयशीऩ की अहलभमत को सभणझम 11 हय रयशत भ जीत -जीत की भानलसकता रवकलसत कीजजम 12 फड़ी सोच क फड़ जाद का जभ कय समभान कीजजम 13 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 14 असपरता जसी कोई चीज़ नहीॊ होती वह तो लसपप तनखयन की लशा होती

ह 15 अऩनी सोच को एक अॊतयासरीम कॊ ऩनी क भालरक की तयह रवकलसत

कीजजम 16 अऩन जीवन क सऩषट जीवन भलम तनधापरयत कीजजम 17 आजीवन सीखत यदहम 18 रवनमर फतनम

19 अऩनी सोच ऩय भजशकर वक़त भ बी खड़ यदहम 20 इस दतनमा का परतमक वमजतत भहतवऩणप ह इसीलरए सबी का समभान

कीजजम 21 सपर इॊसान को असपर इॊसान स उसकी सोच अरग कयती ह 22 आऩकी काभमाफी आऩकी खद ऩय की गमी हय ददन की भहनत का ऩरयणाभ

होती ह 23 जजतना जमादा आऩ खद क फाय भ जानत ह उतना ही जमादा आऩ परापत

कयत ह 24 हय ददन की कड़ी भहनत ही चरऩमन को चरऩमन फनाती ह 25 आऩकी वशबषा फोरती ह 26 सपरता क लसदधाॊत ऩयी दतनमा भ एक साभान रऩ स कामप कयत ह 27 आऩक रयशत सचभच आऩकी सपरता भ अहभ बलभका तनबात ह 28 अऩन जीवन की कहानी खद लरणखम 29 आऩको भहान फनन स कौन योक यहा ह

30 आऩका भागपदशपन कौन कय यहा ह

31 सचची दोसती आऩका रवकास कयती ह 32 सभम ही आऩकी सचची ऩॊजी ह 33 ऩसतक ऩदढम औय जीवन भ आग फदढम 34 परकतत क साथ वक़त बफताम 35 सपर रोगो क साथ यह 36 आऩका बरवषम आऩक लरए एक कोय कागज क सभान ह 37 अऩन साथ हभशा अऩना रकषम काडप यणखम 38 रगाताय अऩनी समऩकप सची को फड़ा कीजजम 39 आऩ कस अऩन काभकाज क फाय भ दसयो स फात कयत ह

40 अऩन सऩनो को पोटो फरभ कया कय उनह अऩन साभन यणखम 41 अऩन सऩनो क फाय भ हय लभर सकन वारी जानकायी जरय इकठठा कीजजम 42 जीवन जीन क अऩन खद क तनमभ फनाइम 43 अऩन सऩनो का अनसयण कीजजम 44 आरोचना तफ होती ह जफ आऩ परगतत कयत ह 45 जफ तक आऩ ऩछत यहग आऩको जवाफ जरय लभरग 46 हभ सफ एक ह 47 अऩनी सऩषट ऩहचान कीजजम तमोकक आऩ अनभोर ह 48 आऩ जमादातय सभम खद क फाय भ तमा सोचत ह

49 अऩनी उजाप क सतय को हय ददन फढाम 50 हय भहीन कछ धन की फचत जरय कय 51 आऩक फाय भ सवोतभ फात मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह 52 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय वतत सोचत यहत ह 53 आऩका वमाऩाय आऩक दसयो क साथ अचछ रयशतो स हय ददन अचछा फनता

जाता ह 54 रोगो स फात कयत वक़त उनकी बावनाओॊ को जरय सऩशप कय 55 आऩकी जीत की सचचाई मह ह कक जीत आऩ अऩनी सोच ऩय हालसर कयत

ह 56 जजस ददन आऩको अऩन जीवन को जीन का एक सचचा भकसद लभर जाता

ह उस ददन आऩका सचभच जनभ होता ह 57 हय ददन नमा सीखना ही सचभच जीतना ह 58 भहान रोगो स जमादा स जमादा लभर औय उनस सीख 59 आऩ एक ददन दतनमा को अररवदा कह दग रककन आऩक काभ हभशा

रोगो क ददरो ऩय याज़ कय सकत ह

60 अऩन ददभाग भ अऩनी सपरता का एक तनजशचत नतशा जरय फनाम 61 आऩकी सचची ऩॊजी आऩकी सीखन की औय परगतत कयन की मोगमता ह 62 अऩन अतीत का समभान कय 63 हय ददन तनखाय कयत हए एक सभम क फाद चरऩमन की तयह जजम 64 जजस चीज़ ऩय आऩ धमान कजनदरत कयत ह वही चीज़ आऩक खद -फ-खद

नजदीक आ जाती ह 65 अऩन बरवषम का समभान कयत हए हय ददन वतपभान भ खफ भहनत कय 66 जजतना जमादा आऩको आऩक काभ की सभझ होती ह उतना जमादा आऩ

अऩन काभ स कभा सकत ह 67 सयर वमजतत सफका ददर जीत रता ह इसीलरए सयर फतनम 68 आऩका रकषम आऩकी शजतत को फढ़ा दता ह 69 आऩक भजफत जीवन भलम आऩको हय ददन भजफत फना दत ह 70 आऩकी आदत हय ददन आऩका जीवन चरा यही ह 71 अऩन जीवन की जजमभदायी अऩन हाथो भ र रीजजम 72 अऩन आस ऩास सचच रीडसप रवकलसत कयन क लरए आज ही आऩ खद

एक सचच रीडय की तयह वमवहाय कयना शर कय सकत ह 73 हय नए रवचाय क लरए हय ऩर खर यदहम 74 अऩन घय औय कायोफाय भ यचनातभक तौय-तयीको को फढ़ावा दीजजम 75 आऩक ऩास जो बी अचछ रवचाय ह उनह जरय सफस साॉझा कय 76 असपरता आऩको भजफत फनात हए आऩकी सवा कयती ह 77 अऩन आस -ऩास शानदाय रवचायो की औय हयी-बयी परकतत की तसवीय यणखम

78 अऩन घय औय कायोफाय की जगह ऩय अऩना रवज़न फोडप रगाम 79 अऩना वमजततगत ऩसतकारम जरय फनाइम

80 आऩका आऩक काभ क परतत परभ आऩक हय रकषम को फड़ी ही आसानी स ऩया कयवा दता ह

81 खद भ जफयदसत रवशवास ददखाएॉ 82 अऩनी तनमत ही आऩकी तनमतत तम कयती ह 83 एक भहान रवचाय आऩको जीवन भ भहान फनान की शजततशारी मोगमता

यखता ह 84 शकरगजाय होकय आऩ आज औय इसी ऩर स काभमाफ होन का चनाव कय

सकत ह 85 हभशा एक फचच की तयह जीवन क परतत उतसक फन यदहम 86 जफ आऩ खद तयतकी कयत ह तबी आऩ जीवन का सचचा आनॊद र ऩात

ह 87 खद को फहतयीन अॊदाज भ सफक साभन ऩश कयना जरय सीख 88 अऩन जीवन भ सॊगीत का सथान हय ददन जरय यख 89 खफ भहनत कयन क फाद अऩन शयीय औय भन को आयाभ जरय द 90 अऩनी रचच को धमान भ यख कय ही अऩन जीवन क भहततवऩणप चनाव

कय 91 अऩन आऩ स हय ददन ईभानदाय यदहम 92 अऩन रवचायो का सचचा समभान कयन क लरए उनह कागज ऩय लरख 93 जफ आऩ सन तो सच भ सन 94 एक सकायातभक वमजतत फनन क लरए सकायातभक शबदो को अऩनाम 95 चरऩमन आऩ अऩनी चरऩमन सोच की वजह स फनत ह 96 हय उस इॊसान को भाफ़ कय दीजजम जजसन जान-अनजान भ आऩका ददर

दखामा ह

97 अगय असपरता आऩको नहीॊ लभर यही ह तो सभझ लरजजम आऩ सपरता क भागप ऩय नहीॊ ह

98 अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनाइम 99 आऩका जीवन सभसत रवशव क नाभ आऩका सॊदश ह 100 अऩनी सपरता को भानवता क सवा भ सभरऩपत कय दीजजम

101 काभमाफ होना आऩका हक ह

एक घय ऐसा बी ह कजसभ एक घय ऐसा बी ह जजसभ हय ऩर आनॊद का परसाय होता यहता ह जजसभ हय ओय सचचाई का परकाश यहता ह मह सौबागम ह भया कक आऩको ऐस एक शानदाय घय स रफर कयान का अवसय भझ ईशवय न ददमा ह घय क परवश दवाय ऩय लरखा ह ldquoजननत ईशवय का आशीवापदrdquo औय जस ही आऩ घय क बीतय जात ह आऩका धमान ऩड़ता ह दीवायो ऩय लरख शानदाय औय असयदाय रवचायो ऩय रवचाय जस कक वह फदराव खद भ रकय आइए जो आऩ दतनमा भ दखना चाहत ह भहातभा गाॉधी जो आऩ सोचत ह वह आऩ फन सकत ह रवलरअभ जमस आऩकी शजतत अनॊत ह आऩक बीतय सौबागम क फदहसाफ फीज ह आऩका जनभ ऩयी ऩरथवी क लरए एक फलभसार वयदान ह औय आज आऩक जीवन का एक मादगाय ददन ह ऐस कभार क रवचाय ऩढ़ कय आऩ सचभच अऩनी अॊदरनी भहानता स जड़ जात ह औय जस ही आऩ इन दीवायो क सॊदशो को ऩढ़त हए घय क बीतय परवश कयत हो तो आऩका धमान जाता ह एक लरख हए सॊदश ऩय जो कह यहा ह कक अगय खद को जानना ह तो इस कभय भ परवश कीजजए औय जस ही आऩ उस कभय भ परवश कयत ह आऩ ऩात ह एक रवशार ऩसतकारम जो चचलरा चचलरा कय कह यहा ह कक इन ऩसतको भ भानवता का अभय औय सपर इततहास लरखा ह ऩसतको क शीषपक ऩढ़ कय ही आऩक बीतय एक नई उजाप का उदम होन रगता ह जस रोक वमवहाय सोचचम औय अभीय फतनए आऩक अवचतन भन की शजतत फड़ी सोच का फड़ा जाद औय आऩक अॊदरनी रवकास स जड़ी हजायो ऩसतक वहाॊ यखी हई ह

उस कभय भ एक शानदाय फात मह लरखी थी कक अतसय अचछी ऩसतक ऩढ़ कय इॊसान की सोमी हई अॊदरनी शजतत जाग जाती ह औय कपय वो इततहास

यचन की ओय अगरसय हो उठता ह हय इनसान इततहास यच सकता ह हय इॊसान खद को खोद कय खद को ऩा सकता ह जजसन बी खद को खोदा ह औय खद ऩय भहनत की ह उसक हाथ कबी खारी नहीॊ यह उसन जीवन की भहान दौरत को ऩामा ह जीवन की भहान दौरत ह आऩक बीतय छऩी ईशवय की जमोतत आऩकी सचची ऩहचान मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह आऩ सौबागम क फचच ह आऩ एक फलभसार वयदान ह ऩयी कामनात क लरए मह घय की कथा तो कालऩतनक थी ऩय इसका सॊदश ऩयी तयह सचचाई ऩय दटका ह कक आऩकी अॊदरनी शजतत सचभच अनॊत ह आऩ अनभोर ह

एक फमभसार जीवन क मरए 51 गरभॊतर

1 जीवन को एक अवसय क रऩ भ दणखए 2 जीवन को हय ददन परगतत कयन क एक शानदाय भौक क रऩ भ दणखए 3 हय ददन अऩन ददभाग को नमा सीखा कय ऩोरषत कीजजए 4 अऩनी हय हाय स सीखना शर कीजजए 5 सचची परशॊसा कयन की करा सीणखए 6 टी वी कभ दणखए औय ककताफ जमादा ऩदढ़ए 7 जीवन का एक रकषम फनाइम 8 हय ददन खद को पमाय कीजजए 9 सपर रोगो क साथ दोसती कीजजए 10 अऩन काभ भ कभान स जमादा सीखन ऩय धमान दीजजए 11 ऩयी भानवता क लरए आऩका जनभ एक सौबागम ह 12 अऩन जीवन भ सॊगीत को योजाना सथान दीजजए 13 हफत भ ककसी एक ददन ऩय हफत का पीडफक कागज ऩय लरणखए 14 आऩकी आज की सोच ही आऩका आग चर कय सच फन जाती ह 15 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजए 16 अऩन जीवन को भानवता की सवा कयन का एक फलभसार अवसय

सभणझए 17 आजीवन आऩ खद को हय ददन नमा सीखन क लरए सभरऩपत कय दीजजए 18 खद स हय ददन ईभानदाय फन यदहए 19 आज ही अऩनी वमजततगत राइबयी फनाइए 20 हय ददन सभम तनकार कय ईशवय का धनमवाद जरय कीजजए तमोकक मह

शानदाय जीवन आऩको उनही की फदौरत वयदान क तौय ऩय लभरा ह

21 हय भजशकर को परगतत कयन क एक अवसय क रऩ भ दणखए 22 अभीयी एक सोच ह 23 काभमाफी एक सोच ह 24 खशहारी एक सोच ह 25 जमादा भहनत आऩको जमादा रवकास दती ह 26 हय ददन खर कय जीम 27 इस दतनमा भ आऩक लरए ककसी बी चीज़ की कोई कभी नहीॊ ह 28 अऩन रकषमो को साफ़ साफ़ आज ही कागज ऩय लरणखए 29 अऩन रकषमो को हय ददन कागज ऩय लरणखए 30 अऩन रकषमो ऩय हय ददन भहनत कीजजए 31 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 32 फड़ रकषम आऩका फड़ा तनभापण कयत ह 33 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 34 जीवन को एक वयदान क तौय ऩय आज ही कफर कय रीजजए 35 अऩन जीवन को फलभसार फनान की जजमभदायी आज ही खद र रीजजए 36 लशकामत कयन भ सभम भत रगाइए 37 हय इॊसान स कछ न कछ जरय सीणखए 38 हय ददन अऩन खद क अनबवो स कछ न कछ नमा सीणखए 39 आऩ जीवन भ सपर होना फहत ही आसानी स सीख सकत ह 40 आऩकी अॊदरनी शजतत अनॊत ह 41 आऩका हय ददन सफस ऩहरा कामप ह अऩन आऩ को खश यखना 42 आऩ अऩन जीवन भ काभमाफ होन की कोई ठोस वजह खोजजए 43 अऩन आऩ को भानवता क लरए एक ऩॊजी की तयह रवकलसत कीजजए 44 रगाताय भहनत रगाताय जीत की सफस ऩहरी जरयत ह

45 आसान यासतो ऩय चरना आऩक जीवन को फहद भजशकर फना दता ह 46 अऩनी हय हाय स गजफ की लशा रकय उस जीत भ फदर दीजजए 47 अऩन जीवन को खफ समभान दीजजए 48 आऩका अॊदरनी सॊसाय आऩक फाहयी सॊसाय का तनभापण कयता ह 49 आऩ आज वही ह जसा फनन क लरए आऩन आज तक खद को तमाय

ककमा ह 50 आऩ बरवषम भ वही होग जसा आऩ हय ददन खद को फनात चर जाएॊग 51 आऩ आज अबी इसी ऩर स एक शानदाय सपर अथपऩणप जीवन जीन का

साहलसक तनणपम र सकत ह

एक ववजता सोच की शकतत

1 आऩकी सोच ही आऩक जीवन क सच का तनभापण कयती ह 2 एक रवजता की सोच का भतरफ ह हय ददन नमा सीखन की सोच 3 एक रवजता की सोच आऩको एक फलभसार वमजतततव परदान कयती ह 4 आऩकी सोच ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह औय आऩ इस कबी बी फदर

सकत ह 5 आऩकी सोच ही आऩको हय ददन आऩको ददखन वारी आऩकी दतनमा

ददखाती ह 6 आऩकी सोच ही आऩकी भौजदा हय खशी औय गभ क लरए जजमभदाय ह 7 आऩ हय ददन अऩनी सोच को फड़ा औय फहतय कय सकत ह 8 सोच ही आऩको भहान औय सभदध फनाती ह 9 आज आऩ अऩन जीवन भ जजस बी भकाभ ऩय ह लसपप अऩनी सोच की

वजह स ह

10 आऩ जहाॊ बी जात ह औय जो बी कयत ह उसभ आऩकी सोच साफ़ झरकती ह

11 आऩकी सोच का आकाय आऩक आतभ ऻान ऩय आधारयत होती ह 12 आऩकी सोच खद-फ-खद शानदाय हो जाती ह जफ आऩ अऩन जीवन को

एक शानदाय रकषम का उऩहाय द दत ह 13 आऩ भानवता की सवा कयन की सोच को अऩनाकय एक रवजता की सोच

को अऩना सकत ह

एक शानदाय औय फमभसार जीवन की 52 याह

1 जीवन अऩन बीतय छऩी जफयदसत अॊदरनी शजतत को भानवता क रवकास भ उऩमोग कयन का एक भहान अवसय ह

2 परमास न कयना सचची हाय ह 3 आरोचक खद की ओय कबी नहीॊ दखता 4 आऩकी नज़य ही आऩको ददखन वार नज़ायो क लरए जजमभदाय ह 5 हय इॊसान अऩन बीतय भहानता क अनॊत फीज सॊजोए हए ह 6 आऩकी औय आऩकी सपरता भ आऩका सपर होन का तनणपम ही फाधा

ह 7 खद ऩय रवशवास कयक ही खद ऩय रवशवास कयना आता ह 8 फड़ा इॊसान को उसकी भहनत औय सवा कयन की सोच फनाती ह

9 खद को खोदना ही खद को खोजना ह 10 कोई बी भजशकर अऩन बीतय भौक क फीज लरए बफना नहीॊ आती 11 अऩन जीवन क असयदाय फनान क लरए खद को असयदाय फनान स

शरआत कीजजए 12 जफ आऩ सचभच दखना चाहग तो आऩको हय जगह भौक ही भौक

ददखन रगग 13 ईशवय आऩको हय ऩर जफयदसत परभ कय यहा ह 14 खद को काभमाफ होन क लरए तमाय कयना आऩकी खद की ही

जजमभदायी ह 15 सवा कयन की सोच ही आऩकी जजॊदगी को फलभसार फनाती ह 16 सनना बी एक तयह का सीखना ही तो ह 17 ऩाना ह तो खद भ जर यही ईशवय की जमोतत को ऩाम

18 आऩ लसपप तफ तक ही खद क फाय भ छोटा सोचत ह जफ तक आऩ अऩनी अनॊत अॊदरनी शजतत स अनजान ह

19 आऩ अऩनी तीसयी आॉख खोरन क लरए आतभ ऻान रना शर कय सकत ह

20 अऩन आज की सदऩमोग कीजजए 21 आऩकी सोच आऩकी ऩयी दतनमा क नाभ रवयासत ह 22 आऩका नाभ आऩक मोगदान स ही चभकता ह 23 आऩ सतम का ऩारन कयत कयत सवमॊ बी सतम ही सतमको परापत हो

जात ह 24 आऩ ईशवय दवाया अनॊत शजतत क उऩहाय क साथ इस धयती ऩय बज

गए ह चाह मह आऩको ऩता हो मा न ऩता हो 25 अऩन करयमय का चनाव कयत वक़त अऩन जनन को अऩना भागपदशपक

फना रीजजए 26 आऩको आऩक अरावा कोई अभीय सभदध औय सहतभॊद नहीॊ फना सकता 27 उतसाह का भहासागय आऩक अऩन ही बीतय ह 28 आऩका जीवन आज जसा बी ह आऩक अऩन ही कायण ह

29 खद स सचच रोग हो भानवता को याह ददखात ह 30 आऩकी खशी आऩक अऩन ही बीतय ह 31 आऩका सौबागम आऩक अऩन ही बीतय ह 32 आऩ अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनान का शानदाय कामप कय सकत

ह 33 आतभ ऻान परापत कयक कोई बी इॊसान अऩन जीवन को सचभच साथपक

फना सकता ह

34 अऩन जीवन क सफ़य को मादगाय फनान क लरए अऩन ही जीवन स हय ददन सीखना शर कय दीजजए

35 जजतना आऩ पमाय फाॉटग उतना ही जमादा आऩको पमाय फाॉटन का सौबागम लभरगा

36 आऩका नाभ आऩकी हय ददन की गमी ईभानदाय भहनत स ही इततहास फन सकता ह

37 जजस जीवन का कोई रकषम ह वही जीवन सही भामनो भ साथपक ह 38 पमाय इॊसान खद को हय ददन सपरता क लरए तमाय कीजजए 39 एक फाय जफ आऩक अऩन ही बीतय उजारा हो जाता ह तफ आऩका

जीवन सदा सदा क लरए योशन हो जाता ह 40 हय ददन सीखना ही हय ददन जीतना ह 41 वक़त बी तफ आऩक साथ होता ह जफ आऩ खद खद क साथ होत ह 42 जीवन भ जजस बी चीज़ की कीभत ह वह आऩको खद ही हालसर कयनी

होती ह

43 हय ऩर आऩ जीवन को एक ऩयभ आनॊद की तयह जी सकत ह 44 आऩ अऩनी खद क परतत सोच को फदर कय अऩन ऩय जीवन को फदर

सकत ह

45 एक फाय आऩको उऩमोग कयन की करा आ जाए तो जीवन भ ऐसा कछ बी नहीॊ जो उऩमाग भ न आ सक

46 जीवन एक शानदाय अवसय ह 47 जीवन एक फलभसार सौबागम ह 48 जीवन एक भहान सौगात ह 49 आऩकी सोच ही आऩका जीवन चरा यही ह 50 जजस याह ऩय भजशकर नहीॊ उस याह ऩय भौका नहीॊ

51 फड़ा सॊकट भतरफ फड़ा सौबागम 52 आऩ एक फाय खद क हो जाएॉ कपय साया जहान आऩका हो जाएगा

एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ

1 हय ऩर ऩयभातभा आऩको पमाय खशी शाॊतत औय आनॊद की शाशवत सौगात द यहा ह

2 हय इॊसान अऩन आऩ भ फलभसार औय अनठा ह 3 एक फाय ददर स मह भहसस कीजजए कक हय इॊसान फहद गणी ह औय कपय

जाद दणखम 4 आऩ जो अऩन लरए चाहत ह उस ऩहर दसयो को दना सीणखम 5 जवाफ तो सवार भ ही छऩा होता ह मह तो दखन वार ऩय तनबपय कयता ह 6 जीवन भ परभ आऩकी रह को ताज़ा कयन वारा एक फहद खास तोहपा ह 7 हय ददन को खद ऩय भहनत कयत हए मादगाय फनाम 8 हय ददन खलशमाॉ अऩन चायो तयप फाॊट औय हय ददन खश यह 9 जजस फात को हभ सच भन रत ह वही हभाय लरए सच फन जाती ह बर ही

वह असलरमत भ झठ ही तमो न हो 10 भजफत इॊसान हभशा भजफत रयशत फनाता ह 11 हभ सबी खद भ अनभोर उऩहाय सॊजोए हए ह 12 सच का समभान कयना सचभच आऩको फलभसार फनाता ह 13 आऩकी आॉख ही आऩक सऩनो की सचचाई फमाॉ कय दती ह 14 आऩकी सोच हय ददन आऩकी जजॊदगी का तनभापण कयती ह 15 पमाय इॊसान आऩ एक फाय अऩन अॊदय की आॉख तो खोलरम आऩक चायो

तयप गजफ क परगतत क अवसय हय ऩर भौजद ह 16 गरत मा सही हारात नहीॊ आऩका नजरयमा होता ह 17 अऩन आऩ को जानना एक ददन आऩकी सफस फड़ी खशककसभती फन जाती ह 18 आऩक डय आऩकी काभमाफी क दयवाजो ऩय तारो क सभान ह

19 आऩ जो दखत ह औय सनत ह वही आऩकी सोच फन जाती ह 20 सवा कयक खश यहना राज़भी ह 21 आऩ दसयो को कवर वही दीजजए जो आऩ अऩन लरए चाहत ह 22 आऩक काभ बफलकर ऩयी तयह स आऩकी सोच की तसवीय होत ह 23 पमाय इॊसान इस जगत भ कोई अऩना ऩयामा ह ही नहीॊ ह 24 आऩकी काभमाफी भ सभसत रवशव की खशहारी छऩी ह 25 हय ददन खद को खद ऩय रवशवास कयना आऩ जरय लसखाम 26 खद स ईभानदाय होकय ही आऩ खद की नज़यो भ ऊॉ चा उठ सकत ह

27 अऩन आऩ स जड़ना ही खशी का भर भॊतर ह

काभमाफ ववचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

1 हय नई भजशकर आऩक साभन एक नए भौका का ऩरयचम कयाती ह 2 आऩकी काभमाफी ईशवय का सऩना ह 3 आऩकी काभमाफी समऩणप भानवता की काभमाफी ह 4 आऩका रकषम भानवता की सवा कयना होना चादहए 5 आऩ हय ददन खद को एक फहतय इॊसान फना सकत ह 6 आऩ हय वमजतत को ददर स आदय द सकत ह 7 आऩ हय ददन अऩन जीवन क परतत सचचा आबाय वमतत कय सकत ह 8 आऩ हय उस वमजतत को खशी-खशी भाफ़ कय सकत ह जजसन कबी जान

अनजान भ आऩका ददर दखामा ह 9 आऩको हय ददन मह जरय सोचना चादहए कक आज आऩ अऩन जीवन को

एक नए सतय तक कस र कय जा सकत ह 10 आऩका जीवन आऩक दवाया गामा गमा एक शानदाय गीत होना चादहए

11 आऩ जजतना जमादा सवा कयन क लरए सभरऩपत होग उतना ही जमादा आऩका जीवन सौबागम क गीत गाएगा

12 आऩ एक नई तनगाह अऩना कय बफरकर एक नई दतनमा को दखन का सौबागम परापत कय सकत ह

13 हय ददन नमा सीख कय हय ददन को समभान दीजजए 14 खद को आज ही ककसी ईभानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दीजजए

कीकजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

आऩ अऩनी सफह को सचभच हय ददन योशन कय सकत ह आऩ हय सफह अऩन आऩ को ऩय ददन क लरए फलभसार अॊदाज भ तमाय कय सकत ह आऩ सफह जलदी उठन का साहलसक तनणपम र सकत ह आऩ हय सफह 5 फज उठ कय अऩनी हय सफह को समभान द सकत ह आऩ हय सफह उठत ही ईशवय को धनमवाद द सकत ह कक उनहोन आऩको एक नमा ददन वयदान क तौय ददमा ह औय आऩ इस ददन का सदऩमोग कयन का सचचा वामदा खद स कय सकत ह आऩ अऩन भाता रऩता क लरए शकरगजाय हो सकत ह आऩ अऩनी अचछी सहत क लरए ईशवय क शकरगजाय हो सकत ह कपय आऩ 20 लभनट की कसयत मा मोग कयन का गजफ का शजततशारी तनणपम र सकत ह उसक फाद आऩ 20 लभनट तक कोई बी परयणादामी ऩसतक ऩढन का अभय तनणपम र सकत ह ऩसतक जस रोक वमवहाय साध जजसन समऩतत फच दी आऩकी भतम ऩय कौन योएगा सोचचम औय अभीय फतनए सोच फदरो जजॊदगी फदरो फड़ी सोच का फड़ा जाद सपरता का अभत रयच डड ऩअय डड औय मह सची सचभच फहत ही रमफी ह तमोकक आऩ ककसी बी हद तक खद का तनभापण कय सकत ह औय दसया सीखन की सचभच कोई सीभा ह ही नहीॊ ह

कपय आऩ 20 लभनट तक अऩना जनपर लरख सकत ह जनपर का अथप एक ऐसा सथान ह जहाॉ आऩ हय ददन की अऩनी परगतत की मोजना हय ददन की लशा हय ददन की कामप सची हय ददन की परयणा हय ददन की यचनातभक यणनीतत लरख सकत ह जनपर लरखना एक फलभसार आदत ह आऩ आज स ही जनपर लरखन की अभय आदत शर कय सकत ह आऩ अऩन जनपर भ कभार क परयणा दन वार अभय रवचाय सफह सफह लरख कय खद को एक फलभसार रवजता की तयह तमाय कय सकत ह

म तीन ऐस गजफ क साहलसक तनणपम ह जो आऩको एक शानदाय असयदाय औय फलभसार जीवन का भागप ददखाएॊग आऩ अनभोर ह आऩ एक शानदाय जीवन जीन क सचचा हक यखत ह आऩ आज स ही अऩनी सोच को एक शानदाय जीवन जीन क लरए तमाय कय सकत ह माद यणखम दयी हभशा आऩकी तयप स होती ह आऩका बागम औय आऩकी सपरता तो हय ऩर आऩक ऩास आन क लरए फताफ होती ह आऩ आज स ही जीतन की तनणपम रकय जीतन की शरआत कय सकत ह

आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह

कछ ह ऐसा आऩक बीतय जो आऩको ऩयभ सौबागमशारी फनाता ह

कछ ह ऐसा ऻान जीवन भ जजस आतभ-ऻान कहा जाता ह जजस ऩाकय आऩ जीवन की समऩणपता को ऩा रत ह

कछ ह ऐसा हय सॊकट भ जो आऩका गजफ का रवकास कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी सोच भ जो आऩक जीवन क सच का हय ददन तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी तनमत भ जो हय ददन आऩकी तनमतत का तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩक दखो भ जो आऩको सख क लरए तमाय कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय ददन भ जो आऩको उऩहाय जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा हय हाय भ जो आऩको जीत जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा फड़ी सोच भ कभार का जाद जो आऩका फड़ा पामदा कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय इॊसान भ जो आऩक लरए लशा होता ही होता ह

कछ ह ऐसा आऩक जीवन क रकषम भ जो आऩक जीवन को भहान फनाता ही फनाता ह

आऩ सौबागम की सॊतान ह आऩका जनभ ऩयी सजषट क लरए ऩयभ सौगात ह

खद ऩय रवशवास कय औय इततहास यच

चमरए एक शानदाय कजॊदगी की ओय

1 सीखन की सोच ही जीतन की सोच का तनभापण कयती ह 2 एक इॊसान जीवन भ ककतना परापत कय सकत ह इसकी सीभा लसवाम उस

इॊसान क कोई दसया तम नहीॊ कय सकता 3 अऩन काभ (योजगाय) ऩय गवप कीजजए 4 आऩ जीवन भ काभमाफ होन की औय आग फढ़न की हय एक करा

तनजशचत रऩ स सीख सकत ह 5 आज स ही आऩ अऩन बीतय छऩी अनॊत शजततमो क परतत जागरक होना

शर हो जाइए 6 आज का ददन आऩको जीवन की ओय स लभरा एक शानदाय वयदान ह 7 सफह जलदी उदठए 8 हय ददन अऩन ददन की शानदाय शरआत कीजजए 9 तनसवाथप सवा भ आनॊद छऩा होता ह उस आनॊद का जीवन भ हय ददन

आनॊद जरय रीजजए 10 हभ सफ आऩस भ जड़ हए ह हभ सफ एक ह

11 जहान तक आऩ दख सकत ह वहाॊ तक आऩकी दतनमा परती चरी जाती ह

12 आऩ खद को एक शानदाय औय कभार की जजॊदगी जीन क लरए आज स ही तमाय कय सकत ह

13 आऩकी नमा सीखन की शजतत आऩक लरए एक फहत फड़ी सौगात ह 14 आऩक सॊकट आऩक ऩतक शबचचॊतक होत ह 15 भजशकर यासता ही आऩक जीवन को तनखायता ह

जीवन क 21 ऩयभ सतम

ऩयभ सतम 1

चभतकाय वो नहीॊ होता ह जो सॊकट की जसथतत भ आऩक साथ होता ह फजलक वो ह जो सॊकट का साभना कयत हए आऩक अॊदय होता ह

ऩयभ सतम 2

रवऩजतत भ ही समऩजतत का वास होता ह

ऩयभ सतम 3

हय ऩर आऩकी सोच आऩका बागम फना यही ह

ऩयभ सतम 4

कछ बी नमा सीखन क लरए सयर खरा औय उतसक रदम चादहए

ऩयभ सतम 5

जजतना आऩ खद को शजततशारी भानत ह उसस कहीॊ जमादा आऩ शजततशारी ह

ऩयभ सतम 6

हय एक इॊसान क बीतय काबफलरमत फदहसाफ ह

ऩयभ सतम 7

हयानी इस फात की नहीॊ ह कक आऩभ भता नहीॊ ह फजलक इस फात की ह कक आऩको अऩनी भता का ऩता ही नहीॊ ह

ऩयभ सतम 8

हय ऩर आऩक लरए खद को पमाय कयन का औय खद की सचची कदर कयन का एक भौका ह

ऩयभ सतम 9

जो आऩक अऩन बीतय होता ह वही आऩको चायो ओय ददखाई ऩड़ता ह

ऩयभ सतम 10

आऩकी जजॊदगी आऩक हाथ अगय ऐसा सभझोग तो आऩको लभरगा हय ऩर समऩणप रवशव का साथ

ऩयभ सतम 11

आऩक जीवन भ दबापगम आता ही आऩको सौबागम क भागप ऩय र कय जान क लरए ह

ऩयभ सतम 12

लभरता ह सफ कछ महाॉ उस जो ऩय ददर स भाॉगन की दहमभत यखता ह

ऩयभ सतम 13

अगय आऩको ऐसा रगता ह कक आऩको बगवान स कछ बी नहीॊ लभर यहा ह तो भय पमाय भनषम अबी इसी ऩर अऩन दोनो हाथो को खोर रीजजए तमोकक बगवान की कऩा हय ऩर हय एक ऩय फयस यही ह

ऩयभ सतम 14

भहनती आदभी जफ चरता ह तो उस हय तयप स सराभ फजत ह

ऩयभ सतम 15

हय ऩर आऩक ऩास एक चनाव ह कक आऩ अऩनी जजॊदगी को जो चाहो फना रो

ऩयभ सतम 16

बगवान की कऩा हय सचच औय भहनती इॊसान ऩय होती ह औय जफ होती ह तो भसराधाय होती ह

ऩयभ सतम 17

सभम फदर जाता ह औय ऩरयजसथतमाॉ फदर जाती ह भगय जीवन क भर सतम नहीॊ फदरत

ऩयभ सतम 18

आऩ अऩन ददभाग का भजशकर स 1 ही उऩमोग कयत ह

ऩयभ सतम 19 अऩन ददभाग को हय ददन खयाक दीजजए तमोकक एक फाय अगय इसन अऩन जाद ददखाना शर कय ददमा तो आऩक सात ऩशतो को भाराभार कय दगा

ऩयभ सतम 20

अऩन बीतय भौजद ऩयभ ऩजम ईशवय को हय ऩर समभान दीजजए

ऩयभ सतम 21

आऩ अनभोर ह आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह

जीवन भ एक चनौतीऩणथ रकषम होन क पामद

जफ आऩ खद को ककसी शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दत ह तबी स ही आऩक आतभ रवकास का फलभसार सफ़य शर हो जाता ह

आऩ हय ददन नमा सीखना शर कय दत ह

आऩ हय इॊसान की कदर कयना शर कय दत ह

आऩ नई-नई औय परयणादामी ऩसतक ऩढना शर कय दत ह

आऩ खद को एक भहततवऩणप वमजतत भानना शर कय दत ह

आऩ भहानता स सजा जीवन जीना शर कय दत ह

आऩ जीवन को एक उऩहाय की तयह जीना शर कय दत ह

आऩ हय ददन उतसादहत औय खश यहना शर कय दत ह

आऩ रगाताय रवकास कयना शर कय दत ह

आऩ एक शानदाय सहत का आनॊद हय ददन रना शर कय दत ह

आऩ हय ददन आचथपक रऩ स सभदध होत जात ह

आऩ एक चरऩमन फनन की याह ऩय चर दत ह

आऩ हय ददन जीवन क परतत एक सकायातभक औय उतऩादक नजरयमा यखना शर कय दत ह

आऩ भानवता क लरए एक ऩॊजी फन जात ह

आऩ खद स सचचा पमाय कयन रगत ह

जीवन

जीवन एक उऩहाय ह

जीवन एक शानदाय अवसय ह

जीवन एक सौगात ह

जीवन एक फलभसार भौका ह खद को ऩा रन का

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक खफसयत सौबागम ह

जीवन सीखना ह

जीवन एक उतसव ह

जीवन एक आनॊद ह

जीवन ईशवय का परसाद ह

जीवन खद को जानना ह

जीवन एक गजफ का फशतप उऩहायो स सजा गरदसता ह

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक सौबागम ह

जीवन जीवन ह

भहान रोगो की भहान आदत

भहान रोग धमान स साभन वार की फात सनत ह

भहान रोग अऩन जीवन को एक चनौतीऩणप रकषम का वयदान दत ह

भहान रोग हय ददन अऩन काभकाज क तहत अऩन जनन का ऩीछा कयत ह

भहान रोग अऩन जीवन को भहान रवचायो क अनसाय चरात ह

भहान रोग भहान रोगो क साथ ही अऩन सभम को बफतान का चनाव कयत ह

भहान रोग रगाताय अचछी ककताफ ऩढ़त ह

भहान रोग रगाताय असपर होत ह इसीलरए भहान रोग कबी न रकन वार होत ह तमोकक असपरता उनह डयाती नहीॊ ह फजलक उनह ओय जमादा तनखयन क लरए पररयत कयती ह

भहान रोग हय ददन नमा सीखत ह

भहान रोग अऩन कामो क कायण भहान फनत ह

भहान रोग रगाताय खद क ही रयकॉडप को तोड़त यहत ह

भहान रोग खद की जफयदसत कदर कयत ह

भहान रोग सचभच भहान सोच क भालरक होत ह

भहान रोग हभशा बीड़ स हट कय सोचत ह

भहान रोग रोगो की सचची कदर कयत हए उनस नमा सीखत यहत ह

भहान रोग रोगो की सवा कयन भ भादहय होत ह

भहान रोग भाॉ क ऩट स भहान ऩदा नहीॊ होत जीवन भ अऩन दवाया ककम गए कामो स वह भहान फनत ह औय ऐसा अवसय ईशवय न आऩको बी परदान ककमा ह

आऩ बी आज स एक भहान इॊसान क तौय ऩय अऩन जीवन को जीन का चनाव कय सकत ह

सॊकट क 15 शानदाय राब

1 सॊकट आऩका रवकास कयता ह 2 सॊकट आऩको नमा लसखाता ह 3 सॊकट आऩको सौबागम का उऩहाय दता ह 4 सॊकट आऩको एक फहतय वमजतत फनाता ह 5 सॊकट तफ तक आता ह जफ तक आऩभ नमा सीख कय जीवन भ नए सतय

तक ऩहॉचन की सचची मोगमता भौजद यहती ह 6 सॊकट आऩका सपरता क सफ़य भ सचचा साथी होता ह 7 सॊकट को सॊकट की तयह दखना ही सचभच सॊकट ह 8 सॊकट एक ऐसा शानदाय भौका होता ह जो आऩको हय हार भ सौबागम का

ही वयदान दना चाहता ह 9 सॊकट अगय ह तो आग फढ़न क औय नमा सीखन क यासत ह 10 सॊकट आऩको ददखाई तफ दता ह जफ आऩका अऩन रकषम क परतत सभऩपण

कभ हो जाता ह

11 सॊकट का साभना कीजजए औय सॊकट को जीत रीजजए 12 हय ददन एक नमा सॊकट आऩक जीवन भ आना आऩक लरए फहद शब ह 13 नमा सॊकट भतरफ नमा अवसय जीवन भ एक कदभ औय आग फढ़न का 14 सफस फड़ा सॊकट ह आतभ-अऻान 15 आऩको सॊकट दना जीवन का एक नामाफ तयीका ह आऩको आऩकी अॊदरनी

शजतत स लभरान का

सपरता क 15 अभय सतर

1 अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का वयदान दीजजम 2 हय ददन सफह जलदी उदठए औय अऩनी सोच को जफयदसत सकायातभक

फनान क लरए परयणादामी ऩसतक ऩदढ़ए 3 हय ददन को खद को ओय जमादा भजफत फनान क एक शानदाय अवसय

क तौय ऩय दणखम 4 हय सॊकट को तयतकी क फलभसार भागप की तयह दणखम 5 हय इॊसान स कछ न कछ सीखन की सोच यखत हए फात कीजजए 6 हय ददन नमा सीख कय हय ददन का समभान कीजजए 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजम 8 हय ददन कसयत कीजजए तमोकक आऩकी सहत आऩकी काभमाफी भ अहभ

बलभका तनबाती ह 9 आऩकी अॊदरनी शजतत वाकई अनॊत ह 10 आऩ ऩय रवशव क लरए फहद बागमशारी ह 11 आऩकी सफस फड़ी काबफलरमत आऩकी हय ददन रवकास कयत हए आऩक

जीवन को फलभसार फनान की काबफलरमत ह 12 आऩ अऩन बागम क एकरौत भालरक ह 13 सपरता का सचचा अथप ह खद को हय ददन इॊसातनमत क रवकास भ

साथपक मोगदान क लरए रामक फनाना 14 सपर होन का सथामी तयीका ह खद को इॊसातनमत की जडो को ऩोषण

दन क लरए फशतप सभरऩपत कय दना

15 आऩ एक मोगम फलभसार औय शानदाय वमजतत ह

सौबागम क ऩववतर फीज

1 जफ आऩ खद सही नजरयमा अऩना रत हो तो आऩका सफ कछ सही हो जाता ह

2 ककसी इॊसान को आऩ ककस तनगाह स दखत हो साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह

3 ककसी काभ को आऩ ककस तनगाह स दखत हो इसक भताबफक ही आऩको वह काभ ऩरयणाभ दता ह

4 आऩकी सोच क ऊऩय उठन स ही आऩ ऊऩय उठ सकत ह 5 जो आऩको जीवन भ खशी औय काभमाफी क लरए जरयी साभान चादहए वह

सफ कछ ऩहर स ही आऩक बीतय ह 6 हय एक इॊसान अदबत ह तमोकक हय इॊसान क ऊऩय ईशवय की ऩरवतर भोहय

ह 7 जो इॊसान खद स खश ह वही दतनमा की खशहारी भ सचचा मोगदान द यहा

8 हय ऩर हभ सफक ऩास अनॊत-अनॊत भातरा भ वह सफ कछ भौजद ह जो हभ सचभच खश यहन क लरए चादहए

9 आऩ जीवन क परतत शकरगजाय हो कय फहत जमादा बागमशारी फन सकत ह 10 खद परकाश का ददवम सतरोतर फन जाना ही सवोतभ उऩाम ह 11 आऩको जफ आऩ ही नहीॊ ऩहचान यह ह तो ककसी औय स ऐसी उमभीद तमो

कय यह ह

12 गजफ ह कक हय इॊसान खद भ अनॊत शजतत का भहासागय सॊजोए हए ह कपय बी कहता ह कक भ कभजोय हॉ

13 आऩका बागम बगवान जी नहीॊ फजलक आऩकी सोच औय आऩकी भहनत लरखती ह

14 भहनती क घय रकषभी नाचती ह 15 काश भ आऩको फता ऩता कक आऩका जीवन ककतना जमादा अनभोर ह 16 जो खद को याह ददखा ऩा यहा ह सचभच दसयो को याह ददखान का हक बी

उसको ही ह 17 सफ कछ तो अबी इसी ऩर भौजद ह हभ ही कहीॊ औय उरझ हए ह 18 काभमाफ होन का भौका तो हय एक को हय ऩर लभर यहा ह ऩय भौका

अतसय भसीफतो क कऩड़ ऩहन कय आता ह 19 रवऩजतत भ ही समऩजतत छऩी होती ह 20 हभ सफ फदहसाफ शजतत क अनभोर खजान ह 21 कछ ह हभाय बीतय जो सदा स ह औय सदा ही यहन वारा ह 22 दखन वार क अॊदय ही वह छऩा ह जजस दखा जाना ह 23 आऩक भाता-रऩता का आशीवापद आऩक लरए फहद अनभोर ह 24 हभ खद ही खदा स लभरन भ सफस फड़ी ददतकत ह 25 साफ़ तनमत आऩको गजफ की फयकत दती ह 26 भजफत इयाद भजफत ऩरयणाभ रकय आत ह 27 जफ इॊसान खद भ रवशवास ददखाना शर कयता ह वहीी स उसक जीवन भ

चभतकाय होना शर हो जात ह 28 रगाताय खद ऩय भहनत कीजजए मह इकरौता तयीका ह ईभानदाय सपरता

परापत कयन का 29 आऩक दवाया आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩको फनान

औय लभटान दोनो की जादई मोगमता यखत ह 30 खोज यह ह हभ बफना मह ऩता कक खोजना तमा ह

हय ददन खद को ननखाय

हय ददन खद को तनखायना ही हय ददन का सचचा समभान कयना ह आऩकी हय ददन सफह उठत ही ऩहरी पराथलभकता मह होनी चादहए कक ककस तयह आऩ आज क ददन को अऩन जीवन का सफस खास ददन फना सकत ह हय नमा ददन आऩको नए अवसय उऩहाय भ दता ह हय ददन का खर ददर स सवागत कीजजए हय ददन नमा सीणखम हय ददन खद को पमाय दीजजम हय ददन अचछ औय सवमॊ को ऩोरषत कयन वार रवचाय सतनम हय ददन अऩन नजरयए को गजफ का सकायातभक यणखम हय ददन आऩकी सचची सवा कयत हए आऩको अनको परगतत क अवसय दता ह आऩ हय ददन नए रोगो स लभर हय ददन नए सऩन दख हय ददन कसयत कय हय ददन का आबाय खर ददर स परकट कय हय ददन अऩन रकषम की ददशा भ जरय फढ़ हय ददन एक कदभ उठाम अऩन आऩ को एक फहतय इॊसान फनान की ददशा भ हय ददन अऩन जीवन क सचच उददशम क परतत सभरऩपत यह हय ददन हय एक वमजतत स खफ उतसाह स लभर हय ददन ऩसतक ऩढ़ हय ददन अऩन रकषमो को लरख हय ददन कछ सभम अकर भ बफताम हय ददन अऩन जीवन भ शकरगजाय होन क नए नए भौक तराश हय ददन अऩन आऩ को एक गहया वमजतत फनाम हय ददन खद को समभान दत हए हय ददन खद का तनभापण कय हय ददन अऩन काभ को सभरऩपत होकय कय हय ददन भहान रोगो क रवचाय ऩढ़ हय ददन सॊकटो को सौबागमो भ फदर द

धनमवाद ऩतर

इस ऩसतक को अऩनान क लरए औय इसभ छऩ भहान सपरता क सचच सॊदश को समभान दन क लरए आऩको ददर स धनमवाद दत ह आऩका जनभ सचभच एक भहान जीवन जीन क लरए हआ ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आज स ही आऩ अऩन सऩनो का जीवन जीन का सचचा तनणपम र सकत ह आऩको एक शानदाय जीवन जीन का सचचा हक दन वार ईशवय को ददर स धनमवाद हभायी ऩहरी ऩसतक सपरता का अभत को ददर स अऩनान क लरए एक फाय कपय स आऩको धनमवाद

रवशष आबाय

इस शानदाय सऩन को सच फनान भ आऩ सबी का फहद अहभ मोगदान यहा ह -

पमाय ईशवय को रवशष आबाय पमाय भाता रऩता का रवशष आबाय हभाय सबी आरोचको का रवशष आबाय हभाय सलभनायो भ आम हजायो रोगो को रवशष आबाय सभाज भ अऩन अऩन अॊदाज भ सकायातभक ऊजाप परान वार हय एक आदय मोगम बाई औय फहन को ददर स आबाय

औय आऩको आबाय

आऩक बीतय छऩी आऩको भहान फनान की फलभसार ताकत को आबाय

आऩ अनभोर ह

आऩ अनभोर ह

Page 5: सफलता का अमृत 2

21 एक घय ऐसा बी ह जजसभ

22 एक फलभसार जीवन क लरए 51 गरभॊतर

23 एक रवजता सोच की शजतत

24 एक शानदाय औय फलभसार जीवन की 52 याह

25 एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ 26 काभमाफ रवचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

27 कीजजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

28 आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह 29 चलरए एक शानदाय जजॊदगी की ओय

30 जीवन क 21 ऩयभ सतम

31 जीवन भ एक चनौतीऩणप रकषम होन क पामद

32 जीवन

33 भहान रोगो की भहान आदत

34 सॊकट क 15 शानदाय राब

35 सपरता क 15 अभय सतर

36 सौबागम क ऩरवतर फीज

37 हय ददन खद को तनखाय धनमवाद ऩतर

रवशष आबाय

20 VISIONARY IDEAS FOR YOU TO BECOME A BETTER

YOU EVERY SINGLE DAY

1 Live life in your own way

2 Run your own race

3 Challenge yourself every day for better

4 Truest joy is joy of serving humanity

5 Discover your calling

6 Program yourself to succeed in life every day

7 Top class thoughts create top class results

8 Believe in yourself to achieve your dreams

9 Grow your consciousness every day

10 Be an asset for humanity

11 Speak to serve people

12 Listen to understand people

13 Your true power is infinite

14 Develop yourself daily

15 Connect to your inner self to live fully

16 Awareness brings freedom in your life

17 Awareness is about knowing your inner self

18 Change your thoughts to change your results

19 Follow your passion

20 Be a life visionary

32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

1 खद को जातनए औय खद को ऩा रीजजए 2 आऩक रवचाय ही आऩका सॊसाय ह 3 आऩका वमवहाय ही आऩकी ऩॊजी ह 4 आऩ कछ बी सीख सकत ह औय कछ बी फन सकत ह 5 सऩन ऩय कयन क लरए सऩन जरय दणखए 6 आऩका सभऩपण आऩकी सपरता को आकरषपत कयता ह 7 कवर सतम ही आऩको भतत कयन की शजतत यखता ह 8 हय ददन नमा सीखना हय ददन जीना ही तो ह 9 आऩकी ककसभत खयाफ ह मह लसपप आऩका एक रवचाय ही तो ह 10 खद को हय ददन काबफर फना कय आऩ कछ बी परापत कय सकत ह 11 आऩ खद ऩय हय फाय ऩया बयोसा कय सकत ह 12 जीवन हय ऩर आऩको खद को रवकलसत कयन क फदहसाफ अवसय द यहा

ह 13 जजतना आऩ खद को जानत जात ह उतना ही खद ऩय आऩको रवशवास

होता जाता ह 14 आऩ अऩन बागम की जजमभदायी खद रकय सचभच बागमशारी फन सकत

ह 15 आऩका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह 16 सच मह ह कक आऩकी शजतत अनॊत ह 17 आऩकी फाहय की दतनमा आऩकी बीतय की दतनमा का दऩपण भातर ह 18 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 19 सवा कयक सचभच शाॊतत लभरती ह

20 खद को जान रन क फाद खद स फशतप परभ खद फ खद हो जाता ह 21 ऩयी तयह सपर औय ऩयी तयह असपर कोई इॊसान ह ही नहीॊ ह 22 आनॊद को आऩ खोजत तो फाहय ह भगय होता मह आऩक अऩन ही अॊदय

ह 23 जो आऩ दखना चाहत ह आऩ लसपप वही दख ऩात ह 24 एक शानदाय जीवन जीना आऩका हक ह

25 सचची अभीयी आतभ ऻान ह 26 सॊकट आता ही आऩको भजफत फनान क लरए ह 27 जजतन आऩ खद स ईभानदाय होग उतना ही आऩ खद का आदय कयग 28 आतभ रवशवास स ऩहर आतभ ऻान आता ह 29 अगय आऩ जजॊदा ह तो आऩको जीवन क परतत तनयाश होन का कोई हक

नहीॊ ह 30 आऩ अऩन आऩ क लरए फहद बागमशारी ह 31 खद को खोजजए 32 सभरदध आऩका सचचा हक ह

75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

1 Laugh daily

2 Exercise daily

3 Dream daily

4 Think bold daily

5 Read daily

6 Imagine daily

7 Live life of purpose daily

8 Learn from your past

9 Discover your calling

10 Leave the crowd

11 Honor your intuitions

12 Write your goals daily

13 Be yourself

14 Challenge your challenges

15 Become a better person every day

16 Serve humanity

17 Learn from wisdom quotes

18 Write and frame the purpose of your life

19 Problems are platforms

20 Grow your consciousness every day

21 Design your life every day

22 Make your thinking your biggest asset

23 Work hard to work smarter

24 Hard work is good for your health as well

25 Live life like a life passionate lover

26 Expand your thinking every day

27 Celebrate your daily performance

28 Develop yourself daily

29 Respect yourself

30 Create your luck

31 Listen audio programs on personal development daily

32 Sleep less to grow more

33 Go for wisdom

34 Choose wisdom over knowledge

35 Work on your inner life

36 Dedicate yourself towards life-long learning

37 Discover your inner strength

38 Think different to think like tycoons

39 Wake up at 5am daily

40 Adopt a belief system of winners

41 Lead life to live life

42 Express your genius through your work daily

43 Write in a journal daily

44 Think long term

45 Be a passionate life learner

46 Visit library once in a week

47 Commit to working hard till your last breathe

48 Your language is your presentation

49 People who give up are the losers

50 Run your own race

51 Mastery attracts challenges continuously

52 Leave the crowd to lead the crowd

53 Champion your thoughts to champion your life

54 Daily hard work attracts mastery

55 Live your life as per your inner taste

56 Practice rare stuff to get rare results

57 Win in mind first to win in actual

58 Believe in yourself to achieve the impossible

59 People always laugh at man on progress

60 Spend more time with creative people

61 Be lady gaga of your field

62 Be Nelson Mandela of your field

63 Be bill gates of your field

64 Be J K Rowling of your field

65 Go deep to know things deeply

66 Dare to see the picture behind every picture

67 Selfish people are liability even for their own selves

68 Dream bold dreams to check your true inner power

69 Your mind power is infinite

70 Dare to think beyond the crowd

71 Listen to your heart to be a brand

72 Struggle gifts strength

73 Purpose of life is becoming more helpful for humanity every single day

74 Selfless people are history makers

75 Life is an awesome gift of god to you

HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR

GOD 1 Donrsquot disgrace god by playing small with your inner infinite creative

potential

2 God has gifted you with inner infinite creative potential

3 Within you lies the treasure of inner infinite creative potential

4 Your success is godrsquos success

5 Your success is humanityrsquos success

6 Your success is success of that power which lies every single second within

you

7 You are a master-piece and original kindly donrsquot imitate someone

8 You have infinite seeds of greatness within you

9 You have the power to manifest your ultimate destiny

10 Biggest resource that you are having at this moment is your decision to

choose your destiny

11 Be a leader and gift yourself a vision for your life

12 Every single day is a world class platform to become more and achieve more

as a person

13 You shine when you face adversity

14 Problems are your honest servants as they serve you by developing you

15 You must master your thinking to master your destiny

16 You are free if you are rightly educated

17 You have the power to live your life in your style

18 Run your own race to win the race with grace

19 Bigger the obstacle bigger the rewards

20 Harder you work smarter you become

INNER WEALTH

Inner wealth is open to all of us

Inner wealth is actual wealth

Inner wealth is infinite for all of us

Inner wealth can be achieved by becoming a better person every day

Inner wealth can be achieved by discovering your calling

Inner wealth can be achieved by challenging yourself for better

Inner wealth is a gift that one can as a result of his daily inner growth

Inner wealth gives you joy as it is a result of your daily self-realization

Inner wealth is obtained when it becomes ultimate aim of your life

Inner wealth is obtained by life visionaries

Inner wealth is achieved by leaving the crowd and listening to your own heart

Inner wealth is achieved by those who refuse to give up at the times of pains and

challenges

Inner wealth is achieved by people who are truly passionate about achieving inner

wealth

अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

1 आऩ एक शानदाय जीवन जी सकत ह 2 आऩ एक परचयता स बया जीवन जी सकत ह 3 आऩ शकरगजायी की भहान बावना स सजा जीवन जी सकत ह 4 आऩ भानवता क फलभसार इततहास भ अऩना नाभ दजप कया सकत ह 5 आऩ गजफ क आतभ रवशवास क भालरक हो सकत ह 6 आऩ एक अभीय औय बफलकर खशहार जजॊदगी हय ददन जी सकत ह 7 आऩ इस फात की ऩयवाह ही नहीॊ कयग कक रोग आऩको तमा कहत ह 8 आऩ हय ददन सभरदध की सीढ़ी चढ़त जात ह 9 आऩ हय इॊसान को आदय क बाव स दखन रगत ह 10 आऩ खद स फदहसाफ पमाय कयन रगत ह 11 आऩ सचभच जीवन का समभान कयन रगत ह 12 आऩ परकतत क यहसमो को धीय-धीय सभझन रगत ह 13 आऩ भानवता क सचच सवक फनन रगत ह

14 आऩ जीवन भ ककसी बी भकाभ तक आसानी स ऩहॉच सकत ह 15 आऩ हय वो सऩना सच कय सकत ह जजस आऩ हभशा स दखत आम ह 16 आऩ ऩयी भानवता को सचभच याह ददखा सकत ह 17 आऩ सचभच एक फलभसार जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह

अभीय सोच सचभच आऩको अभीय फना दती ह वाकई अभीय सोच कोई बी अऩना कय अभीय फन सकता ह अभीय सोच क कछ रण इस परकाय ह

1 अभीय इॊसान अऩन जीवन की जजमभदायी खद रता ह 2 अभीय इॊसान हय ददन नमा सीखता ह 3 अभीय इॊसान सॊकट को सपरता की नीॊव सभझता ह 4 अभीय इॊसान जीवन को एक वयदान की तयह जीता ह 5 अभीय इॊसान हय ददन खद को तनखायता ह 6 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी जजॊदगी उसक खद क रवचायो का ही

परततबफॊफ होती ह 7 अभीय इॊसान अभीय रोगो की सोच की सचभच कदर कयता ह 8 अभीय इॊसान हय ददन को परगतत कयन क भॊच क तौय ऩय दखता ह 9 अभीय इॊसान सचभच खद भ रवशवास कयता ह 10 अभीय इॊसान फड़ धमान स सनता ह 11 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी ककसभत उसक अऩन ही हाथ भ ह 12 अभीय इॊसान नए-नए रोगो स रगाताय लभरता ह ताकक अऩन काभ को औय

अचछ तयीक स कय सक 13 अभीय इॊसान हय ददन अचछी ऩसतक ऩढता ह 14 अभीय इॊसान हय ददन सऩन दखता ह 15 अभीय इॊसान जीवन को ऩय उतसाह क साथ जीता ह 16 अभीय इॊसान मह भानता ह कक उसकी भहनत हय ददन उस परगतत क नए-

नए अवसय दती ह 17 अभीय इॊसान खरकय अभीयी क रवचाय सबी स साॊझ कयता ह

18 अभीय इॊसान सचभच चाहता ह कक जमादा स जमादा रोग सभरदध का जीवन जीम

19 अभीय इॊसान ददर स मह सभझता ह कक अभीयी सचभच हभाय अऩन ही हाथ की फात ह

20 अभीय इॊसान सचभच सवा कयत हए अभीय फनता ह 21 अभीय सोच का अथप ह कक सभाज की सवा कयन की सचची औय ईभानदाय

सोच यखना 22 अभीय सोच का अथप ह कक जीवन का समभान कयत हए जीवन को ऩय जोश

औय उतसाह क साथ जीना

असपरता का सचचा अथथ

1 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ रगाताय परमास कय यह ह 2 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ अऩनी सोच को हकीत भ फदरन

की जादई ताकत यखत ह 3 असपरता आऩको भजफत फनाती ह 4 असपरता आऩको शानदाय अनबव दती ह 5 असपरता आऩको जीवन भ कछ फड़ा कयन की गजफ की परयणा दती ह 6 असपरता आऩको बीड़ स अरग कयत हए इततहास यचन वारो क फीच

राकय खड़ा कय दती ह 7 असपरता आऩको ऩयी ताकत क साथ दोफाया शर कयन की परयणा दती

ह 8 असपरता आऩकी सोच को गहया फना दती ह 9 असपरता सपरता की जड़वाॉ फहन ह 10 असपरता आ यही ह भतरफ आऩ अऩना सवोतभ दन का रगाताय

परमास कय यह ह 11 असपरता आऩको हय ददन अरग अरग तरो भ लभरती ही यहती ह जफ

बी आऩ कछ नमा कयन की कोलशश कयत ह 12 असपरता आऩकी परगतत क लरए फहद जरयी ह 13 असपरता आऩको एक फाय कपय नमा सोचन का अवसय दती ह 14 असपरता ही आऩकी सपरता फन जाती ह जफ आऩ इसस लशा रकय

जीवन भ एक कदभ ओय आग फढ़ जात ह 15 असपरता आऩकी आवाज भ लभठास औय रवनमरता रकय आती ह

असाधायण रोगो क 10 फमभसार गण

1 असाधायण रोग हय ददन एक सऩषट जीवन रकषम क साथ आग फढ़त ह 2 असाधायण रोग हय ददन नमा सीखत ह 3 असाधायण रोग हय ददन जमादा स जमादा सपर रोगो क साथ अऩना नटवकप भजफत कयत ह 4 असाधायण रोग हय ददन सऩन दखत ह 5 असाधायण रोग इस फात भ गहया रवशवास कयत ह कक जीवन भ ककसी बी इॊसान क लरए कोई कभी नहीॊ ह अभीय इॊसान नहीॊ अभीय दयअसर एक सोच होती ह जजस कोई बी इॊसान अऩना सकता ह 6 असाधायण रोग दसय रोगो क रवकास भ अहभ बलभका तनबात ह 7 असाधायण रोग ईशवय क दवाया हय इॊसान को ददए गए चायो उऩहायो (शयीय भजसतषक रदम आतभा) का हय ददन बयऩय उऩमोग कयत ह 8 असाधायण रोग अऩनी फात को कहन की करा भ खद को तनऩण फनात ह 9 असाधायण रोगो की दोसती बी असाधायण रोगो क साथ ही होती ह तमोकक आऩक दोसत आऩक बागम क तनभापण भ फहत जरयी बलभका तनबात ह 10 असाधायण रोग हय ददन अऩन काभ का पीडफक रत ह औय खद को हय ददन भजफत फनात ह

आऩ एक वयदान ह

आऩ अनभोर ह

आऩ फलभसार ह

आऩ अनॊत शजतत क भालरक ह

आऩ फलभसार काबफलरमत का खजाना सवमॊ भ सॊजोए हए ह

आऩकी कलऩना शजतत अनॊत ह

आऩका भजसतषक एक गजफ का ताकतवय कॊ पमटय ह

आऩकी ककसभत शानदाय ह

आऩ अऩन जीवन को ककसी बी ददशा भ र जा सकत ह

आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह

आऩ भानवता की सवा कयक भहान फनन का चनाव कय सकत ह

आऩ अऩन जीवन को दसयो क लरए एक परयक जीवन फना सकत ह

आऩ सवमॊ भ छऩी अनॊत शजततमो को ऩान क परतत सभरऩपत हो सकत ह

आऩ ऩयी दतनमा घभ सकत ह

आऩ अऩन नाभ को एक बाॊड फना सकत ह

आऩ अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना सकत ह

आऩ भजशकर को भौक भ फदर कय भजशकर को समभान द सकत ह

आऩका सचचा ऩरयचम

आऩ एक चभतकाय ह आऩ सौबागम क अनॊत फीज खद भ सॊजोए हए ह आऩक बीतय एक कभार की शजतत ह जजसका आऩको जीत जी जरय एहसास कयना चादहए ऩयी दतनमा क लरए आऩका जनभ एक भहासौबागम ह आऩ एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद हय ददन र सकत ह आऩ हय ददन सफह जलदी उठ कय अऩनी ककसभत का तनभापण कय सकत ह आऩक सॊकट आऩका रवकास कयत ह आऩक रकषम आऩका रवकास कयत ह आऩ आज स ही अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय सकत ह आऩ भानवता की सवा कयक जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह आऩका जीवन आऩको लभरा एक शानदाय उऩहाय ह आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह आऩ हय ददन एक नमी सोच अऩना कय नए ऩरयणाभ परापत कय सकत ह आऩ जजतना जमादा खद को जानोग उतना ही खद स पमाय कयत चर जाओग आऩ जीवन क परतत सभरऩपत होकय अऩन जीवन को एक उतसव की तयह जी सकत ह आऩ हय ददन नए सऩन दख सकत ह आऩ अनभोर ह आऩ अनभोर ह

आऩकी काभमाफी को सभवऩथत 15 शकततशारी ववचाय

1 आऩ फदहसाफ आॊतरयक शजतत क भालरक ह 2 आऩ ऩय बहभाॊड क लरए फहद शब औय सौबागमशारी ह 3 आऩकी कलऩना कयन की शजतत अनॊत ह 4 आऩकी आतभ सधाय कयन की भता अनॊत ह 5 आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह 6 सवसथ का अथप ह सवमॊ भ जसथत होना 7 सवाथप का सचचा अथप ह सवमॊ क सचच औय गहय अथप को सभझना 8 ऩागर का अथप ह जजसन ऩा लरमा गर (काभ की फात मा सचची फात)

को 9 ऩागर का अथप ह ऩाक (रहानी) फात कयन वारा 10 आज अबी औय इसी ऩर आऩ एक काबफर शानदाय फलभसार औय

सभदध वमजतत ह 11 आऩ कबी बी कछ बी सीख कय ककसी बी तर भ भहायत हालसर कय

सकत ह 12 आऩका जनभ एक सखद उऩहाय ह ऩयी भानवता क लरए 13 सभसत धयती आऩकी अऩनी ह 14 आऩका बागम ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह 15 आऩभ अनॊत सॊबावनाएॊ छऩी ह

आऩकी सपरता को सभवऩथत 30 जादई औय परयणादामी ववचाय

1 ऩहर अऩन रकषम क परतत सभऩपण औय कपय उस सभऩपण की हय कीभत चकान की दहमभत चादहए तफ जाकय सपरता आऩक कदभ चभती ह

2 ककतनी पमायी फात ह कक हभ खद को आदय दकय अऩन बीतय भौजद ईशवय को ही तो आदय दत ह

3 सयरता सवगप ह जफकक उरझन नकप ह 4 ककतनी कभार की फात ह कक हभ सफ जीवन भ आसान यासत चाहत ह

भगय हभाया रवकास लसपप भजशकर यासतो ऩय चर कय ही होता ह 5 सफको अऩना बरवषम जानन की फड़ी आतयता यहती ह जफकक अऻात भ

जीन का भजा ही तनयारा ह 6 हय ऩर आऩ खद क फनाम सवगप भ मा कपय खद क फनाम नकप भ यहन का

चनाव कयत ह

7 खद का सधाय ककम बफना दसय को सधायन की कोलशश कयना वमथप का परमास साबफत होता ह

8 अऩनी गरती कोई नहीॊ भानता जफकक अऩनी गरती भान कय अऩन आऩ को सधायन का आनॊद गजफ का ह

9 भजशकर हारात आना इस फात का सफत ह कक आऩ परगतत क ऩथ ऩय ह 10 सफको फशतप पमाय दीजजए तमोकक परभ आऩक ऩास फदहसाफ भातरा भ भौजद

ह 11 आऩ खद ही अऩनी सोच को काभमाफी की ददशा भ रकय जा सकत ह 12 सच क यासत ऩय तनयॊतय चरना आऩको एक अदबत आनॊद दता ह 13 अऩन जीवन भ आन वारी सभसमाओॊ का खफ आनॊद रीजजए तमोकक म

आऩक लरए परगतत क शानदाय अवसय र कय आती ह

14 हय सपर इॊसान ककसी फड़ी चनौती का साभना कयत हए खद को भजफत फना कय सपर फनता ह

15 नज़ाया चाह कछ बी हो हभायी नज़य वही दखती ह जो दखन क लरए हभ इस कहत ह

16 कबी कबी इॊसान जजस जीत सभझता ह वह हाय होती ह औय जजस हाय सभझता ह वह जीत होती ह

17 3 सभम बोजन अगय आऩ हय योज़ कयत ह तो आऩको योज़ 3 सभम कछ न कछ नमा जरय सीखना चादहम

18 जीवन भ आऩको आऩक लसवा कोई खश मा दखी कय ही नहीॊ सकता 19 परभ भ सवाथप नहीॊ औय जहाॉ सवाथप ह वहाॉ परभ नहीॊ 20 ईशवय हभ हय ऩर हभाय सवोतभ रऩ भ ऩहॉचन क लरए भागपदलशपत कय यहा

ह 21 जफ जफ आऩकी तनमत साफ़ यहती ह तफ तफ आऩको ऩरयणाभ भ फयकत

बी जफयदसत होती ह 22 इॊसान जीवन भ अऩनो औय ऩयामो को ही खोजन भ रगा यहता ह जफकक

अऩना ऩयामा कोई ह ही नहीॊ 23 आऩकी भहनत अगय फकाय चरी गमी तो वो भहनत थी ही नहीॊ 24 खद क अहॊकाय को काट बफना जीवन भ खशी का ऽजाना नहीॊ लभरता 25 ककसी को कभतय सभझन की गरती वही कयता ह जो खद ऩय श कयन

का आदी हो 26 गहयाऩन आऩक काभ भ दय दय की ठोकय खा कय ही आता ह 27 एक फाय खद क बीतय ईशवय को ऩाकय कपय आऩको हय जगह ईशवय ही

ददखाई दता ह

28 अऩनी अॊतयातभा की आवाज़ को फरॊद कयक ही आऩको सचची खशी लभरती ह

29 ककसी की सचची इजज़त कयन क लरए ऩहर खद की जफयदसत फइजजती कयना जरयी ह

30 सच भ सच को कह कस औय झठ कह कय ददर को खशी लभरती नहीॊ

गजफ की शकतत ह आऩकी सोच भ

1 आऩकी सोच आऩक जीवन का सच फन जाती ह 2 आऩकी सोच औय आऩका नजरयमा फहत ही गहय स आऩस भ जड़ होत ह 3 आऩ अऩनी सोच को कबी बी ककसी बी फड़ी सपरता क लरए तमाय कय

सकत ह 4 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजए 5 काभमाफ सोच को अऩना कय आऩ बी काभमाफ हो सकत ह

6 भानवता की सचची सवा कयन की सोच को अऩना कय आऩ बी एक फलभसार जीवन का आनॊद र सकत ह

7 हय ददन अऩनी सोच को सकायातभक औय उतऩादक फनाना आऩकी जजमभदायी ह

8 आऩकी सोच आऩक जीवन क हय ऩहर को परबारवत कयती ह 9 काभमाफ सोच काभमाफ ऩरयणाभ ऩदा कयती ह 10 काभमाफ सोच हभशा आऩको सभाधान की ओय र कय जाती ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह तमोकक आऩक द ख आऩकी अॊदरनी आॉख खोरत ह

आऩक द ख ही आऩको रगातय कछ ऐसा खोजन क लरए पररयत कयत जो आऩको सचभच सथामी आनॊद द सक

आऩक द ख ही आऩकी परगतत का भागप खोरत ह

आऩक द ख ही आऩक सख का आधाय फनत ह

आऩक द ख दयअसर आऩको दख रगत ह भगय जीवन आऩको आग फढ़ान क लरए दखो का ही इसतभार कयता ह

द ख असर भ आऩकी आऩक अॊदरनी खजान क परतत अऻानता क कायण ह

आऩक द ख आऩका रवकास कयत ह

आऩक द ख आऩको हय ददन नमा सीखन क लरए औय जीवन को जजमभदायी रत हए जीन क लरए पररयत कयत ह

आऩक द ख ही आऩकी भहानता की सीढ़ी फनत ह

आऩक द ख अगय ना हो तो आऩक सख बी आऩस दय ही यहग

हय द ख भ सख का फीज छऩा होता ह

द ख वासतव भ द ख नहीॊ होता द ख वो हभाय उसको द ख की तयह दखन क कायण फनता ह

द ख ईशवय को आऩको परगतत कयन क लरए ददमा वयदान होता ह

द ख जफ आऩ सहन कय चक होत ह औय आऩ उसस नमा सीख कय जीवन भ एक नए सतय तक ऩहॉच चक होत ह तो द ख आऩको फड़ी खशी दता ह

आऩक मरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

आज आऩ जो बी सोच यखत ह चाह वह आऩका रवकास कय यही हो मा रवनाश कय यही हो उस ऩयी तयह आऩन ही फनामा ह औय आऩ इस ऩयी तयह स फदर सकत ह औय एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

आऩक आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩक बागम का सतय तम कयत ह

आऩ इस भहान सजषट का एक अहभ दहससा ह

हभ सफ एक दसय स जड़ हए ह

आऩकी ककसभत आऩकी भहनत स फनती ह

सॊकट आऩको परगतत क शानदाय अवसय दता ह

हय इॊसान स आऩ कछ न कछ नमा जरय सीख सकत ह

आऩकी सोच ही आऩका सच फनती ह

सीखन वार हभशा ही जीतन वार फन जात ह

हय ददन भहनत कय औय बागमशारी फन

अवसय ककसी काभ भ नहीॊ फजलक आऩकी सोच भ छऩा होता ह

सॊघषप आऩका तनभापण कयता ह

हायन क फाद आऩका जीत का आनॊद रन का साभरथमप फढ़ जाता ह

आऩक जीवन का हय ऩर आऩक लरए पमाय ईशवय का उऩहाय ह

आऩकी शजतत अनॊत ह

आऩ खद अऩन जीवन क भालरक ह

ईशवय न आऩको जजॊदगी का फलभसार उऩहाय दकय समभातनत ककमा ह

आऩक आरोचक आऩकी इततहास फनान भ भदद कयत ह

आऩक मरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

1 आऩक रवचाय आऩकी असलरमत का तनभापण कयत ह 2 खद को रगाताय आतभऻान रत यहन क लरए सभरऩपत कय दीजजम 3 हय ददन 03 लभनट का सभम तनकार कय परयक ऩसतक ऩदढ़ए

4 एक कागज ऩय बफलकर सऩषट रऩ स लरख रीजजम कक ldquoआऩ जीवन भ तमा परापत कयना चाहत हrdquo

5 जो सॊदश आऩ दसयो को दना चाहत ह ऩहर खद उस सॊदश को अऩन जीवन भ हय ददन आदयऩवपक जजएॊ

6 असाधायण परमास कयक ही आऩ असाधायण ऩरयणाभ परापत कय सकत ह 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजम 8 जफ आऩ खद को हय ददन अऩन बीतय छऩी असाधायण सॊबावनाओॊ क लरए

जागरक कयत ह तो आऩस जड़ी हय चीज़ काभमाफी की ददशा भ फढ़ती ह 9 आऩ हय वो चीज़ सीख सकत ह जो आऩको काभमाफ होन क लरए आनी

चादहए 10 सपरता औय खशी आऩस दय नहीॊ ह फजलक आऩ खद सपरता औय खशी

स दय ह 11 आऩकी सीखन की भता ही आऩक कभान की भता तनधापरयत कयती ह 12 हय एक इॊसान अनभोर औय शानदाय ह 13 लसपप सोच स फड़ औय तनडय रोग ही अऩनी वासतरवक आनतरयक शजतत का

उऩमोग कयत ह 14 आऩक जीवन का सचचा रकषम आऩकी आॊतरयक शजतत क फलभसार बणडाय

को खोजना औय उस भानवता की सवा भ सभरऩपत कय दना होना चादहए 15 फहान फनान वार इततहास यचन वार नहीॊ फनत

16 आऩ ऩहर खद अऩन आऩ को धोखा ददए बफना ककसी ओय को धोखा नहीॊ द सकत

17 जो सभम आऩ अऩनी सचची औय अॊदरनी ताकत को जानन भ रगात ह वो आऩक सभम का सफस फहतयीन तनवश होता ह

18 काभमाफी औय अभीयी का जीवन ऩयी तयह स आऩक चनाव ऩय दटका ह 19 सचभच अभीय रोग भानवता क फहत ही अचछ सवक होत ह औय भधमभ

दज क रोग भानवता क भधमभ दज क सवक होत ह 20 आऩका ददभाग एक फहत ही शजततशारी कॊ पमटय ह 21 जीवन भ हय ददन परगतत कयन क लरए ककसी ओय स नहीॊ अऩन आऩ स

हय ददन फहतय होत चर जाएॊ 22 जीवन हभ सफको एक अचछ इॊसान क तौय ऩय चभकन क लरए फशतप औय

भहान उऩहाय की तयह लभरा ह 23 जफ आऩ खद की सचची कदर कयत हो तबी आऩ दसयो की सचची कदर कयन

क काबफर फनत हो 24 जफ आऩ जीवन क हय तर भ अऩन खद क ही रऩछर रयकॉडप तोड़न रगत

ह तफ आऩ सचभच एक चरऩमन क तौय ऩय रवकलसत होन रगत ह 25 जो ऩरयणाभ आऩ आज अऩन जीवन भ परापत कय यह ह उसक लरए आऩक

अरावा ऩयी दतनमा भ कोई बी जजमभदाय नहीॊ ह 26 दतनमा रॊफ सभम तक धनमवाद दन वार रोगो का लशकामत कयन वार

रोगो स कहीॊ जमादा समभान कयती ह 27 आऩका वमवहाय हभशा ही आऩक चरयतर की सचची तसवीय को ददखाता ह 28 हय भहान इॊसान आऩको मही भहसस कयाता ह कक आऩ बी भहान फन

सकत ह

29 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय ददन सोचत सनत दखत फोरत औय भहसस कयत ह

30 हय ददन कछ सभम तनकार कय ऐस रवचाय जरय सन मा ऩढ़ जो आऩको सचभच एक शानदाय जीवन जीन क लरए फहद पररयत कयत ह

आऩक मरए कछ नए औय शानदाय ववशवास आऩक खद क फाय भ

तमा आऩ जानत ह कक कौन आऩकी जजॊदगी चरा यहा ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी सोच ककस हद तक आऩकी जजॊदगी को फहतय औय फदतय फनान की काबफलरमत यखती ह

तमा आऩ जानत ह कक आऩकी वासतरवक शजतत ककतनी ह तमा आऩ जानत ह कक ककस

हद तक आऩ अऩन जीवन को शानदाय फना सकत ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ अऩन

सऩनो की जजॊदगी जीन भ ऩयी तयह सभ ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी भजशकर आऩका रवकास कयती ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ हय ददन खद ही अऩनी तनमतत फनात ह

आऩ ककस तयह स खद को दखत ह साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह आऩ खद को ककतना काबफर भानत ह इसी फात स आऩकी सपरता का सतय तम होता ह ककस तनगाह स आऩ

अऩनी सीखन की काबफलरमत का इसतभार कयत ह इसी स आऩकी अभीयी का सतय तम

होता ह आऩ हाय क फाद ककस नजरयम स दोफाया शर कयत ह इसी स साया पकप ऩड़ता ह

आऩकी जजॊदगी ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह जफ तक आऩको रगता ह कक आऩकी जजॊदगी क

लरए आऩ जजमभदाय नहीॊ ह तफ तक आऩ अऩनी जजॊदगी को फहतय फनान क लरए जरयी कदभ नहीॊ उठा सकत जफ तक आऩ खद क फाय भ एक सकायातभक नजरयमा नहीॊ रवकलसत कय रत तफ तक आऩकी सभसमा जमो की तमो फनी यहगी

आऩकी हय सभसमा का एक ही सभाधान ह औय वो ह कक आऩ खद की ऩतकी ऩहचान कय आऩ खद को जान आऩ अऩनी आॉख खोर आऩ अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का उऩहाय द

आऩकी सचचाई मह ह कक

आऩ ऩयी तयह स सपर होन क लरए काबफर ह आऩ ऩयी तयह स खद की जजॊदगी को

फदरन की काबफलरमत यखत ह आऩ अऩनी जजॊदगी क भालरक ह आऩ एक शजततशारी ददभाग क भालरक ह आऩ सचभच एक कभार की जजॊदगी जीन का सचचा हक यखत ह आऩ हय ददन नमा सीख कय हय ददन जीत सकत ह आऩ जजस फात भ मकीन यखत ह वही आऩक लरए हकीत फन जाती ह आऩ एक फलभसार जीवन जीन की सचची काबफलरमत यखत ह

आऩ अनभोर ह आऩ सचभच काबफर ह आऩ हकदाय ह एक अदबत जीवन जीन क

इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का कजसन खद ही खद की ककसभत को फनामाhellip

सवार आऩ काभमाफ कस हए

जवाफ काभमाफ होना ही भया ऩास एकरौता यासता था

सवार आऩ असपर बी तो हो सकत थ

जवाफ भ असपर हआ ही इतनी जमादा फाय था कक अफ सपर होना ही था जफ आऩ रगाताय भहनत कयत हो तो एक वक़त ऩय आकय आऩको ऩतका सपरता लभरती ह

सवार सपरता तमा होती ह

जवाफ खद को जानना सपरता ह खद क साथ ईभानदाय होना सपरता ह खद को हय ददन खद क बीतय छऩी शजततमो क परतत लशकषत कयना सपरता ह इॊसातनमत की सचची सवा कयना सपरता ह

सवार आऩको दख कय रगता ह कक आऩ एक फहत ही सरझ हए इॊसान ह तमा ऐसा वाकई ह

जवाफ दणखए सपरता लभरती ही तफ ह जफ आऩ खद सरझ जात ह आऩकी सपरता भ सफस फड़ी ददतकत आऩकी सोच औय आऩका जरयत स जमादा उरझा होना ही ह आऩ खद को सयर कयत हए कबी बी कभार की सपरता ऩा सकत ह

सवार आऩन खद को कस ऩामा

जवाफ जफ भन खद ऩय रवशवास कयना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भ लसपप एक शयीय स कहीॊ जमादा हॉ जफ भन खद स जड़ना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भझभ एक शजतत ह जो ऩयी तयह स भया दहत औय पराव चाहती ह जफ भन सपर रोगो स लभरना शर ककमा तो भन ऩामा कक हय सपर इॊसान खद स ईभानदाय ह हय सपर इॊसान जीवन क परतत हय ददन जफयदसत आबाय वमतत कयता ह हय सपर इॊसान मह सोचता ह कक उसका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह

उतसाह क साथ मशखय की मातरा का आनॊद

1 आऩ जीवन भ जो कछ बी तराश यह ह ठीक वही आऩको लभर जा यहा ह 2 बफरकर सऩषट कीजजम कक सपरता का आऩक लरए सचचा अथप तमा ह

3 आऩ इस रवशार बहभाॊड भ कस अऩनी छाऩ छोड़ना चाहत ह

4 आऩका जनन ही आऩक काभकाज का तर होना चादहम 5 हारात स जमादा परापत कयन क लरए हारात को जमादा गहय स भहसस

कयना शर कीजजए 6 अचछी चीज़ो औय अऩन ऻान को खशी खशी सबी स फाॊदटम 7 अऩन फाय भ जागरकता फढ़ान क लरए अऩनी ताकतो औय कभजोरयमो को

साफ़ साफ़ कागज ऩय लरणखम 8 अऩन सऩनो की हय ददन यचनातभक भानलसक तसवीय दणखम 9 हय ददन अऩनी फातचीत की करा ऩय गजफ की भहनत कीजजए 10 जीवन भ रीडयशीऩ की अहलभमत को सभणझम 11 हय रयशत भ जीत -जीत की भानलसकता रवकलसत कीजजम 12 फड़ी सोच क फड़ जाद का जभ कय समभान कीजजम 13 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 14 असपरता जसी कोई चीज़ नहीॊ होती वह तो लसपप तनखयन की लशा होती

ह 15 अऩनी सोच को एक अॊतयासरीम कॊ ऩनी क भालरक की तयह रवकलसत

कीजजम 16 अऩन जीवन क सऩषट जीवन भलम तनधापरयत कीजजम 17 आजीवन सीखत यदहम 18 रवनमर फतनम

19 अऩनी सोच ऩय भजशकर वक़त भ बी खड़ यदहम 20 इस दतनमा का परतमक वमजतत भहतवऩणप ह इसीलरए सबी का समभान

कीजजम 21 सपर इॊसान को असपर इॊसान स उसकी सोच अरग कयती ह 22 आऩकी काभमाफी आऩकी खद ऩय की गमी हय ददन की भहनत का ऩरयणाभ

होती ह 23 जजतना जमादा आऩ खद क फाय भ जानत ह उतना ही जमादा आऩ परापत

कयत ह 24 हय ददन की कड़ी भहनत ही चरऩमन को चरऩमन फनाती ह 25 आऩकी वशबषा फोरती ह 26 सपरता क लसदधाॊत ऩयी दतनमा भ एक साभान रऩ स कामप कयत ह 27 आऩक रयशत सचभच आऩकी सपरता भ अहभ बलभका तनबात ह 28 अऩन जीवन की कहानी खद लरणखम 29 आऩको भहान फनन स कौन योक यहा ह

30 आऩका भागपदशपन कौन कय यहा ह

31 सचची दोसती आऩका रवकास कयती ह 32 सभम ही आऩकी सचची ऩॊजी ह 33 ऩसतक ऩदढम औय जीवन भ आग फदढम 34 परकतत क साथ वक़त बफताम 35 सपर रोगो क साथ यह 36 आऩका बरवषम आऩक लरए एक कोय कागज क सभान ह 37 अऩन साथ हभशा अऩना रकषम काडप यणखम 38 रगाताय अऩनी समऩकप सची को फड़ा कीजजम 39 आऩ कस अऩन काभकाज क फाय भ दसयो स फात कयत ह

40 अऩन सऩनो को पोटो फरभ कया कय उनह अऩन साभन यणखम 41 अऩन सऩनो क फाय भ हय लभर सकन वारी जानकायी जरय इकठठा कीजजम 42 जीवन जीन क अऩन खद क तनमभ फनाइम 43 अऩन सऩनो का अनसयण कीजजम 44 आरोचना तफ होती ह जफ आऩ परगतत कयत ह 45 जफ तक आऩ ऩछत यहग आऩको जवाफ जरय लभरग 46 हभ सफ एक ह 47 अऩनी सऩषट ऩहचान कीजजम तमोकक आऩ अनभोर ह 48 आऩ जमादातय सभम खद क फाय भ तमा सोचत ह

49 अऩनी उजाप क सतय को हय ददन फढाम 50 हय भहीन कछ धन की फचत जरय कय 51 आऩक फाय भ सवोतभ फात मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह 52 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय वतत सोचत यहत ह 53 आऩका वमाऩाय आऩक दसयो क साथ अचछ रयशतो स हय ददन अचछा फनता

जाता ह 54 रोगो स फात कयत वक़त उनकी बावनाओॊ को जरय सऩशप कय 55 आऩकी जीत की सचचाई मह ह कक जीत आऩ अऩनी सोच ऩय हालसर कयत

ह 56 जजस ददन आऩको अऩन जीवन को जीन का एक सचचा भकसद लभर जाता

ह उस ददन आऩका सचभच जनभ होता ह 57 हय ददन नमा सीखना ही सचभच जीतना ह 58 भहान रोगो स जमादा स जमादा लभर औय उनस सीख 59 आऩ एक ददन दतनमा को अररवदा कह दग रककन आऩक काभ हभशा

रोगो क ददरो ऩय याज़ कय सकत ह

60 अऩन ददभाग भ अऩनी सपरता का एक तनजशचत नतशा जरय फनाम 61 आऩकी सचची ऩॊजी आऩकी सीखन की औय परगतत कयन की मोगमता ह 62 अऩन अतीत का समभान कय 63 हय ददन तनखाय कयत हए एक सभम क फाद चरऩमन की तयह जजम 64 जजस चीज़ ऩय आऩ धमान कजनदरत कयत ह वही चीज़ आऩक खद -फ-खद

नजदीक आ जाती ह 65 अऩन बरवषम का समभान कयत हए हय ददन वतपभान भ खफ भहनत कय 66 जजतना जमादा आऩको आऩक काभ की सभझ होती ह उतना जमादा आऩ

अऩन काभ स कभा सकत ह 67 सयर वमजतत सफका ददर जीत रता ह इसीलरए सयर फतनम 68 आऩका रकषम आऩकी शजतत को फढ़ा दता ह 69 आऩक भजफत जीवन भलम आऩको हय ददन भजफत फना दत ह 70 आऩकी आदत हय ददन आऩका जीवन चरा यही ह 71 अऩन जीवन की जजमभदायी अऩन हाथो भ र रीजजम 72 अऩन आस ऩास सचच रीडसप रवकलसत कयन क लरए आज ही आऩ खद

एक सचच रीडय की तयह वमवहाय कयना शर कय सकत ह 73 हय नए रवचाय क लरए हय ऩर खर यदहम 74 अऩन घय औय कायोफाय भ यचनातभक तौय-तयीको को फढ़ावा दीजजम 75 आऩक ऩास जो बी अचछ रवचाय ह उनह जरय सफस साॉझा कय 76 असपरता आऩको भजफत फनात हए आऩकी सवा कयती ह 77 अऩन आस -ऩास शानदाय रवचायो की औय हयी-बयी परकतत की तसवीय यणखम

78 अऩन घय औय कायोफाय की जगह ऩय अऩना रवज़न फोडप रगाम 79 अऩना वमजततगत ऩसतकारम जरय फनाइम

80 आऩका आऩक काभ क परतत परभ आऩक हय रकषम को फड़ी ही आसानी स ऩया कयवा दता ह

81 खद भ जफयदसत रवशवास ददखाएॉ 82 अऩनी तनमत ही आऩकी तनमतत तम कयती ह 83 एक भहान रवचाय आऩको जीवन भ भहान फनान की शजततशारी मोगमता

यखता ह 84 शकरगजाय होकय आऩ आज औय इसी ऩर स काभमाफ होन का चनाव कय

सकत ह 85 हभशा एक फचच की तयह जीवन क परतत उतसक फन यदहम 86 जफ आऩ खद तयतकी कयत ह तबी आऩ जीवन का सचचा आनॊद र ऩात

ह 87 खद को फहतयीन अॊदाज भ सफक साभन ऩश कयना जरय सीख 88 अऩन जीवन भ सॊगीत का सथान हय ददन जरय यख 89 खफ भहनत कयन क फाद अऩन शयीय औय भन को आयाभ जरय द 90 अऩनी रचच को धमान भ यख कय ही अऩन जीवन क भहततवऩणप चनाव

कय 91 अऩन आऩ स हय ददन ईभानदाय यदहम 92 अऩन रवचायो का सचचा समभान कयन क लरए उनह कागज ऩय लरख 93 जफ आऩ सन तो सच भ सन 94 एक सकायातभक वमजतत फनन क लरए सकायातभक शबदो को अऩनाम 95 चरऩमन आऩ अऩनी चरऩमन सोच की वजह स फनत ह 96 हय उस इॊसान को भाफ़ कय दीजजम जजसन जान-अनजान भ आऩका ददर

दखामा ह

97 अगय असपरता आऩको नहीॊ लभर यही ह तो सभझ लरजजम आऩ सपरता क भागप ऩय नहीॊ ह

98 अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनाइम 99 आऩका जीवन सभसत रवशव क नाभ आऩका सॊदश ह 100 अऩनी सपरता को भानवता क सवा भ सभरऩपत कय दीजजम

101 काभमाफ होना आऩका हक ह

एक घय ऐसा बी ह कजसभ एक घय ऐसा बी ह जजसभ हय ऩर आनॊद का परसाय होता यहता ह जजसभ हय ओय सचचाई का परकाश यहता ह मह सौबागम ह भया कक आऩको ऐस एक शानदाय घय स रफर कयान का अवसय भझ ईशवय न ददमा ह घय क परवश दवाय ऩय लरखा ह ldquoजननत ईशवय का आशीवापदrdquo औय जस ही आऩ घय क बीतय जात ह आऩका धमान ऩड़ता ह दीवायो ऩय लरख शानदाय औय असयदाय रवचायो ऩय रवचाय जस कक वह फदराव खद भ रकय आइए जो आऩ दतनमा भ दखना चाहत ह भहातभा गाॉधी जो आऩ सोचत ह वह आऩ फन सकत ह रवलरअभ जमस आऩकी शजतत अनॊत ह आऩक बीतय सौबागम क फदहसाफ फीज ह आऩका जनभ ऩयी ऩरथवी क लरए एक फलभसार वयदान ह औय आज आऩक जीवन का एक मादगाय ददन ह ऐस कभार क रवचाय ऩढ़ कय आऩ सचभच अऩनी अॊदरनी भहानता स जड़ जात ह औय जस ही आऩ इन दीवायो क सॊदशो को ऩढ़त हए घय क बीतय परवश कयत हो तो आऩका धमान जाता ह एक लरख हए सॊदश ऩय जो कह यहा ह कक अगय खद को जानना ह तो इस कभय भ परवश कीजजए औय जस ही आऩ उस कभय भ परवश कयत ह आऩ ऩात ह एक रवशार ऩसतकारम जो चचलरा चचलरा कय कह यहा ह कक इन ऩसतको भ भानवता का अभय औय सपर इततहास लरखा ह ऩसतको क शीषपक ऩढ़ कय ही आऩक बीतय एक नई उजाप का उदम होन रगता ह जस रोक वमवहाय सोचचम औय अभीय फतनए आऩक अवचतन भन की शजतत फड़ी सोच का फड़ा जाद औय आऩक अॊदरनी रवकास स जड़ी हजायो ऩसतक वहाॊ यखी हई ह

उस कभय भ एक शानदाय फात मह लरखी थी कक अतसय अचछी ऩसतक ऩढ़ कय इॊसान की सोमी हई अॊदरनी शजतत जाग जाती ह औय कपय वो इततहास

यचन की ओय अगरसय हो उठता ह हय इनसान इततहास यच सकता ह हय इॊसान खद को खोद कय खद को ऩा सकता ह जजसन बी खद को खोदा ह औय खद ऩय भहनत की ह उसक हाथ कबी खारी नहीॊ यह उसन जीवन की भहान दौरत को ऩामा ह जीवन की भहान दौरत ह आऩक बीतय छऩी ईशवय की जमोतत आऩकी सचची ऩहचान मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह आऩ सौबागम क फचच ह आऩ एक फलभसार वयदान ह ऩयी कामनात क लरए मह घय की कथा तो कालऩतनक थी ऩय इसका सॊदश ऩयी तयह सचचाई ऩय दटका ह कक आऩकी अॊदरनी शजतत सचभच अनॊत ह आऩ अनभोर ह

एक फमभसार जीवन क मरए 51 गरभॊतर

1 जीवन को एक अवसय क रऩ भ दणखए 2 जीवन को हय ददन परगतत कयन क एक शानदाय भौक क रऩ भ दणखए 3 हय ददन अऩन ददभाग को नमा सीखा कय ऩोरषत कीजजए 4 अऩनी हय हाय स सीखना शर कीजजए 5 सचची परशॊसा कयन की करा सीणखए 6 टी वी कभ दणखए औय ककताफ जमादा ऩदढ़ए 7 जीवन का एक रकषम फनाइम 8 हय ददन खद को पमाय कीजजए 9 सपर रोगो क साथ दोसती कीजजए 10 अऩन काभ भ कभान स जमादा सीखन ऩय धमान दीजजए 11 ऩयी भानवता क लरए आऩका जनभ एक सौबागम ह 12 अऩन जीवन भ सॊगीत को योजाना सथान दीजजए 13 हफत भ ककसी एक ददन ऩय हफत का पीडफक कागज ऩय लरणखए 14 आऩकी आज की सोच ही आऩका आग चर कय सच फन जाती ह 15 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजए 16 अऩन जीवन को भानवता की सवा कयन का एक फलभसार अवसय

सभणझए 17 आजीवन आऩ खद को हय ददन नमा सीखन क लरए सभरऩपत कय दीजजए 18 खद स हय ददन ईभानदाय फन यदहए 19 आज ही अऩनी वमजततगत राइबयी फनाइए 20 हय ददन सभम तनकार कय ईशवय का धनमवाद जरय कीजजए तमोकक मह

शानदाय जीवन आऩको उनही की फदौरत वयदान क तौय ऩय लभरा ह

21 हय भजशकर को परगतत कयन क एक अवसय क रऩ भ दणखए 22 अभीयी एक सोच ह 23 काभमाफी एक सोच ह 24 खशहारी एक सोच ह 25 जमादा भहनत आऩको जमादा रवकास दती ह 26 हय ददन खर कय जीम 27 इस दतनमा भ आऩक लरए ककसी बी चीज़ की कोई कभी नहीॊ ह 28 अऩन रकषमो को साफ़ साफ़ आज ही कागज ऩय लरणखए 29 अऩन रकषमो को हय ददन कागज ऩय लरणखए 30 अऩन रकषमो ऩय हय ददन भहनत कीजजए 31 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 32 फड़ रकषम आऩका फड़ा तनभापण कयत ह 33 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 34 जीवन को एक वयदान क तौय ऩय आज ही कफर कय रीजजए 35 अऩन जीवन को फलभसार फनान की जजमभदायी आज ही खद र रीजजए 36 लशकामत कयन भ सभम भत रगाइए 37 हय इॊसान स कछ न कछ जरय सीणखए 38 हय ददन अऩन खद क अनबवो स कछ न कछ नमा सीणखए 39 आऩ जीवन भ सपर होना फहत ही आसानी स सीख सकत ह 40 आऩकी अॊदरनी शजतत अनॊत ह 41 आऩका हय ददन सफस ऩहरा कामप ह अऩन आऩ को खश यखना 42 आऩ अऩन जीवन भ काभमाफ होन की कोई ठोस वजह खोजजए 43 अऩन आऩ को भानवता क लरए एक ऩॊजी की तयह रवकलसत कीजजए 44 रगाताय भहनत रगाताय जीत की सफस ऩहरी जरयत ह

45 आसान यासतो ऩय चरना आऩक जीवन को फहद भजशकर फना दता ह 46 अऩनी हय हाय स गजफ की लशा रकय उस जीत भ फदर दीजजए 47 अऩन जीवन को खफ समभान दीजजए 48 आऩका अॊदरनी सॊसाय आऩक फाहयी सॊसाय का तनभापण कयता ह 49 आऩ आज वही ह जसा फनन क लरए आऩन आज तक खद को तमाय

ककमा ह 50 आऩ बरवषम भ वही होग जसा आऩ हय ददन खद को फनात चर जाएॊग 51 आऩ आज अबी इसी ऩर स एक शानदाय सपर अथपऩणप जीवन जीन का

साहलसक तनणपम र सकत ह

एक ववजता सोच की शकतत

1 आऩकी सोच ही आऩक जीवन क सच का तनभापण कयती ह 2 एक रवजता की सोच का भतरफ ह हय ददन नमा सीखन की सोच 3 एक रवजता की सोच आऩको एक फलभसार वमजतततव परदान कयती ह 4 आऩकी सोच ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह औय आऩ इस कबी बी फदर

सकत ह 5 आऩकी सोच ही आऩको हय ददन आऩको ददखन वारी आऩकी दतनमा

ददखाती ह 6 आऩकी सोच ही आऩकी भौजदा हय खशी औय गभ क लरए जजमभदाय ह 7 आऩ हय ददन अऩनी सोच को फड़ा औय फहतय कय सकत ह 8 सोच ही आऩको भहान औय सभदध फनाती ह 9 आज आऩ अऩन जीवन भ जजस बी भकाभ ऩय ह लसपप अऩनी सोच की

वजह स ह

10 आऩ जहाॊ बी जात ह औय जो बी कयत ह उसभ आऩकी सोच साफ़ झरकती ह

11 आऩकी सोच का आकाय आऩक आतभ ऻान ऩय आधारयत होती ह 12 आऩकी सोच खद-फ-खद शानदाय हो जाती ह जफ आऩ अऩन जीवन को

एक शानदाय रकषम का उऩहाय द दत ह 13 आऩ भानवता की सवा कयन की सोच को अऩनाकय एक रवजता की सोच

को अऩना सकत ह

एक शानदाय औय फमभसार जीवन की 52 याह

1 जीवन अऩन बीतय छऩी जफयदसत अॊदरनी शजतत को भानवता क रवकास भ उऩमोग कयन का एक भहान अवसय ह

2 परमास न कयना सचची हाय ह 3 आरोचक खद की ओय कबी नहीॊ दखता 4 आऩकी नज़य ही आऩको ददखन वार नज़ायो क लरए जजमभदाय ह 5 हय इॊसान अऩन बीतय भहानता क अनॊत फीज सॊजोए हए ह 6 आऩकी औय आऩकी सपरता भ आऩका सपर होन का तनणपम ही फाधा

ह 7 खद ऩय रवशवास कयक ही खद ऩय रवशवास कयना आता ह 8 फड़ा इॊसान को उसकी भहनत औय सवा कयन की सोच फनाती ह

9 खद को खोदना ही खद को खोजना ह 10 कोई बी भजशकर अऩन बीतय भौक क फीज लरए बफना नहीॊ आती 11 अऩन जीवन क असयदाय फनान क लरए खद को असयदाय फनान स

शरआत कीजजए 12 जफ आऩ सचभच दखना चाहग तो आऩको हय जगह भौक ही भौक

ददखन रगग 13 ईशवय आऩको हय ऩर जफयदसत परभ कय यहा ह 14 खद को काभमाफ होन क लरए तमाय कयना आऩकी खद की ही

जजमभदायी ह 15 सवा कयन की सोच ही आऩकी जजॊदगी को फलभसार फनाती ह 16 सनना बी एक तयह का सीखना ही तो ह 17 ऩाना ह तो खद भ जर यही ईशवय की जमोतत को ऩाम

18 आऩ लसपप तफ तक ही खद क फाय भ छोटा सोचत ह जफ तक आऩ अऩनी अनॊत अॊदरनी शजतत स अनजान ह

19 आऩ अऩनी तीसयी आॉख खोरन क लरए आतभ ऻान रना शर कय सकत ह

20 अऩन आज की सदऩमोग कीजजए 21 आऩकी सोच आऩकी ऩयी दतनमा क नाभ रवयासत ह 22 आऩका नाभ आऩक मोगदान स ही चभकता ह 23 आऩ सतम का ऩारन कयत कयत सवमॊ बी सतम ही सतमको परापत हो

जात ह 24 आऩ ईशवय दवाया अनॊत शजतत क उऩहाय क साथ इस धयती ऩय बज

गए ह चाह मह आऩको ऩता हो मा न ऩता हो 25 अऩन करयमय का चनाव कयत वक़त अऩन जनन को अऩना भागपदशपक

फना रीजजए 26 आऩको आऩक अरावा कोई अभीय सभदध औय सहतभॊद नहीॊ फना सकता 27 उतसाह का भहासागय आऩक अऩन ही बीतय ह 28 आऩका जीवन आज जसा बी ह आऩक अऩन ही कायण ह

29 खद स सचच रोग हो भानवता को याह ददखात ह 30 आऩकी खशी आऩक अऩन ही बीतय ह 31 आऩका सौबागम आऩक अऩन ही बीतय ह 32 आऩ अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनान का शानदाय कामप कय सकत

ह 33 आतभ ऻान परापत कयक कोई बी इॊसान अऩन जीवन को सचभच साथपक

फना सकता ह

34 अऩन जीवन क सफ़य को मादगाय फनान क लरए अऩन ही जीवन स हय ददन सीखना शर कय दीजजए

35 जजतना आऩ पमाय फाॉटग उतना ही जमादा आऩको पमाय फाॉटन का सौबागम लभरगा

36 आऩका नाभ आऩकी हय ददन की गमी ईभानदाय भहनत स ही इततहास फन सकता ह

37 जजस जीवन का कोई रकषम ह वही जीवन सही भामनो भ साथपक ह 38 पमाय इॊसान खद को हय ददन सपरता क लरए तमाय कीजजए 39 एक फाय जफ आऩक अऩन ही बीतय उजारा हो जाता ह तफ आऩका

जीवन सदा सदा क लरए योशन हो जाता ह 40 हय ददन सीखना ही हय ददन जीतना ह 41 वक़त बी तफ आऩक साथ होता ह जफ आऩ खद खद क साथ होत ह 42 जीवन भ जजस बी चीज़ की कीभत ह वह आऩको खद ही हालसर कयनी

होती ह

43 हय ऩर आऩ जीवन को एक ऩयभ आनॊद की तयह जी सकत ह 44 आऩ अऩनी खद क परतत सोच को फदर कय अऩन ऩय जीवन को फदर

सकत ह

45 एक फाय आऩको उऩमोग कयन की करा आ जाए तो जीवन भ ऐसा कछ बी नहीॊ जो उऩमाग भ न आ सक

46 जीवन एक शानदाय अवसय ह 47 जीवन एक फलभसार सौबागम ह 48 जीवन एक भहान सौगात ह 49 आऩकी सोच ही आऩका जीवन चरा यही ह 50 जजस याह ऩय भजशकर नहीॊ उस याह ऩय भौका नहीॊ

51 फड़ा सॊकट भतरफ फड़ा सौबागम 52 आऩ एक फाय खद क हो जाएॉ कपय साया जहान आऩका हो जाएगा

एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ

1 हय ऩर ऩयभातभा आऩको पमाय खशी शाॊतत औय आनॊद की शाशवत सौगात द यहा ह

2 हय इॊसान अऩन आऩ भ फलभसार औय अनठा ह 3 एक फाय ददर स मह भहसस कीजजए कक हय इॊसान फहद गणी ह औय कपय

जाद दणखम 4 आऩ जो अऩन लरए चाहत ह उस ऩहर दसयो को दना सीणखम 5 जवाफ तो सवार भ ही छऩा होता ह मह तो दखन वार ऩय तनबपय कयता ह 6 जीवन भ परभ आऩकी रह को ताज़ा कयन वारा एक फहद खास तोहपा ह 7 हय ददन को खद ऩय भहनत कयत हए मादगाय फनाम 8 हय ददन खलशमाॉ अऩन चायो तयप फाॊट औय हय ददन खश यह 9 जजस फात को हभ सच भन रत ह वही हभाय लरए सच फन जाती ह बर ही

वह असलरमत भ झठ ही तमो न हो 10 भजफत इॊसान हभशा भजफत रयशत फनाता ह 11 हभ सबी खद भ अनभोर उऩहाय सॊजोए हए ह 12 सच का समभान कयना सचभच आऩको फलभसार फनाता ह 13 आऩकी आॉख ही आऩक सऩनो की सचचाई फमाॉ कय दती ह 14 आऩकी सोच हय ददन आऩकी जजॊदगी का तनभापण कयती ह 15 पमाय इॊसान आऩ एक फाय अऩन अॊदय की आॉख तो खोलरम आऩक चायो

तयप गजफ क परगतत क अवसय हय ऩर भौजद ह 16 गरत मा सही हारात नहीॊ आऩका नजरयमा होता ह 17 अऩन आऩ को जानना एक ददन आऩकी सफस फड़ी खशककसभती फन जाती ह 18 आऩक डय आऩकी काभमाफी क दयवाजो ऩय तारो क सभान ह

19 आऩ जो दखत ह औय सनत ह वही आऩकी सोच फन जाती ह 20 सवा कयक खश यहना राज़भी ह 21 आऩ दसयो को कवर वही दीजजए जो आऩ अऩन लरए चाहत ह 22 आऩक काभ बफलकर ऩयी तयह स आऩकी सोच की तसवीय होत ह 23 पमाय इॊसान इस जगत भ कोई अऩना ऩयामा ह ही नहीॊ ह 24 आऩकी काभमाफी भ सभसत रवशव की खशहारी छऩी ह 25 हय ददन खद को खद ऩय रवशवास कयना आऩ जरय लसखाम 26 खद स ईभानदाय होकय ही आऩ खद की नज़यो भ ऊॉ चा उठ सकत ह

27 अऩन आऩ स जड़ना ही खशी का भर भॊतर ह

काभमाफ ववचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

1 हय नई भजशकर आऩक साभन एक नए भौका का ऩरयचम कयाती ह 2 आऩकी काभमाफी ईशवय का सऩना ह 3 आऩकी काभमाफी समऩणप भानवता की काभमाफी ह 4 आऩका रकषम भानवता की सवा कयना होना चादहए 5 आऩ हय ददन खद को एक फहतय इॊसान फना सकत ह 6 आऩ हय वमजतत को ददर स आदय द सकत ह 7 आऩ हय ददन अऩन जीवन क परतत सचचा आबाय वमतत कय सकत ह 8 आऩ हय उस वमजतत को खशी-खशी भाफ़ कय सकत ह जजसन कबी जान

अनजान भ आऩका ददर दखामा ह 9 आऩको हय ददन मह जरय सोचना चादहए कक आज आऩ अऩन जीवन को

एक नए सतय तक कस र कय जा सकत ह 10 आऩका जीवन आऩक दवाया गामा गमा एक शानदाय गीत होना चादहए

11 आऩ जजतना जमादा सवा कयन क लरए सभरऩपत होग उतना ही जमादा आऩका जीवन सौबागम क गीत गाएगा

12 आऩ एक नई तनगाह अऩना कय बफरकर एक नई दतनमा को दखन का सौबागम परापत कय सकत ह

13 हय ददन नमा सीख कय हय ददन को समभान दीजजए 14 खद को आज ही ककसी ईभानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दीजजए

कीकजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

आऩ अऩनी सफह को सचभच हय ददन योशन कय सकत ह आऩ हय सफह अऩन आऩ को ऩय ददन क लरए फलभसार अॊदाज भ तमाय कय सकत ह आऩ सफह जलदी उठन का साहलसक तनणपम र सकत ह आऩ हय सफह 5 फज उठ कय अऩनी हय सफह को समभान द सकत ह आऩ हय सफह उठत ही ईशवय को धनमवाद द सकत ह कक उनहोन आऩको एक नमा ददन वयदान क तौय ददमा ह औय आऩ इस ददन का सदऩमोग कयन का सचचा वामदा खद स कय सकत ह आऩ अऩन भाता रऩता क लरए शकरगजाय हो सकत ह आऩ अऩनी अचछी सहत क लरए ईशवय क शकरगजाय हो सकत ह कपय आऩ 20 लभनट की कसयत मा मोग कयन का गजफ का शजततशारी तनणपम र सकत ह उसक फाद आऩ 20 लभनट तक कोई बी परयणादामी ऩसतक ऩढन का अभय तनणपम र सकत ह ऩसतक जस रोक वमवहाय साध जजसन समऩतत फच दी आऩकी भतम ऩय कौन योएगा सोचचम औय अभीय फतनए सोच फदरो जजॊदगी फदरो फड़ी सोच का फड़ा जाद सपरता का अभत रयच डड ऩअय डड औय मह सची सचभच फहत ही रमफी ह तमोकक आऩ ककसी बी हद तक खद का तनभापण कय सकत ह औय दसया सीखन की सचभच कोई सीभा ह ही नहीॊ ह

कपय आऩ 20 लभनट तक अऩना जनपर लरख सकत ह जनपर का अथप एक ऐसा सथान ह जहाॉ आऩ हय ददन की अऩनी परगतत की मोजना हय ददन की लशा हय ददन की कामप सची हय ददन की परयणा हय ददन की यचनातभक यणनीतत लरख सकत ह जनपर लरखना एक फलभसार आदत ह आऩ आज स ही जनपर लरखन की अभय आदत शर कय सकत ह आऩ अऩन जनपर भ कभार क परयणा दन वार अभय रवचाय सफह सफह लरख कय खद को एक फलभसार रवजता की तयह तमाय कय सकत ह

म तीन ऐस गजफ क साहलसक तनणपम ह जो आऩको एक शानदाय असयदाय औय फलभसार जीवन का भागप ददखाएॊग आऩ अनभोर ह आऩ एक शानदाय जीवन जीन क सचचा हक यखत ह आऩ आज स ही अऩनी सोच को एक शानदाय जीवन जीन क लरए तमाय कय सकत ह माद यणखम दयी हभशा आऩकी तयप स होती ह आऩका बागम औय आऩकी सपरता तो हय ऩर आऩक ऩास आन क लरए फताफ होती ह आऩ आज स ही जीतन की तनणपम रकय जीतन की शरआत कय सकत ह

आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह

कछ ह ऐसा आऩक बीतय जो आऩको ऩयभ सौबागमशारी फनाता ह

कछ ह ऐसा ऻान जीवन भ जजस आतभ-ऻान कहा जाता ह जजस ऩाकय आऩ जीवन की समऩणपता को ऩा रत ह

कछ ह ऐसा हय सॊकट भ जो आऩका गजफ का रवकास कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी सोच भ जो आऩक जीवन क सच का हय ददन तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी तनमत भ जो हय ददन आऩकी तनमतत का तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩक दखो भ जो आऩको सख क लरए तमाय कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय ददन भ जो आऩको उऩहाय जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा हय हाय भ जो आऩको जीत जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा फड़ी सोच भ कभार का जाद जो आऩका फड़ा पामदा कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय इॊसान भ जो आऩक लरए लशा होता ही होता ह

कछ ह ऐसा आऩक जीवन क रकषम भ जो आऩक जीवन को भहान फनाता ही फनाता ह

आऩ सौबागम की सॊतान ह आऩका जनभ ऩयी सजषट क लरए ऩयभ सौगात ह

खद ऩय रवशवास कय औय इततहास यच

चमरए एक शानदाय कजॊदगी की ओय

1 सीखन की सोच ही जीतन की सोच का तनभापण कयती ह 2 एक इॊसान जीवन भ ककतना परापत कय सकत ह इसकी सीभा लसवाम उस

इॊसान क कोई दसया तम नहीॊ कय सकता 3 अऩन काभ (योजगाय) ऩय गवप कीजजए 4 आऩ जीवन भ काभमाफ होन की औय आग फढ़न की हय एक करा

तनजशचत रऩ स सीख सकत ह 5 आज स ही आऩ अऩन बीतय छऩी अनॊत शजततमो क परतत जागरक होना

शर हो जाइए 6 आज का ददन आऩको जीवन की ओय स लभरा एक शानदाय वयदान ह 7 सफह जलदी उदठए 8 हय ददन अऩन ददन की शानदाय शरआत कीजजए 9 तनसवाथप सवा भ आनॊद छऩा होता ह उस आनॊद का जीवन भ हय ददन

आनॊद जरय रीजजए 10 हभ सफ आऩस भ जड़ हए ह हभ सफ एक ह

11 जहान तक आऩ दख सकत ह वहाॊ तक आऩकी दतनमा परती चरी जाती ह

12 आऩ खद को एक शानदाय औय कभार की जजॊदगी जीन क लरए आज स ही तमाय कय सकत ह

13 आऩकी नमा सीखन की शजतत आऩक लरए एक फहत फड़ी सौगात ह 14 आऩक सॊकट आऩक ऩतक शबचचॊतक होत ह 15 भजशकर यासता ही आऩक जीवन को तनखायता ह

जीवन क 21 ऩयभ सतम

ऩयभ सतम 1

चभतकाय वो नहीॊ होता ह जो सॊकट की जसथतत भ आऩक साथ होता ह फजलक वो ह जो सॊकट का साभना कयत हए आऩक अॊदय होता ह

ऩयभ सतम 2

रवऩजतत भ ही समऩजतत का वास होता ह

ऩयभ सतम 3

हय ऩर आऩकी सोच आऩका बागम फना यही ह

ऩयभ सतम 4

कछ बी नमा सीखन क लरए सयर खरा औय उतसक रदम चादहए

ऩयभ सतम 5

जजतना आऩ खद को शजततशारी भानत ह उसस कहीॊ जमादा आऩ शजततशारी ह

ऩयभ सतम 6

हय एक इॊसान क बीतय काबफलरमत फदहसाफ ह

ऩयभ सतम 7

हयानी इस फात की नहीॊ ह कक आऩभ भता नहीॊ ह फजलक इस फात की ह कक आऩको अऩनी भता का ऩता ही नहीॊ ह

ऩयभ सतम 8

हय ऩर आऩक लरए खद को पमाय कयन का औय खद की सचची कदर कयन का एक भौका ह

ऩयभ सतम 9

जो आऩक अऩन बीतय होता ह वही आऩको चायो ओय ददखाई ऩड़ता ह

ऩयभ सतम 10

आऩकी जजॊदगी आऩक हाथ अगय ऐसा सभझोग तो आऩको लभरगा हय ऩर समऩणप रवशव का साथ

ऩयभ सतम 11

आऩक जीवन भ दबापगम आता ही आऩको सौबागम क भागप ऩय र कय जान क लरए ह

ऩयभ सतम 12

लभरता ह सफ कछ महाॉ उस जो ऩय ददर स भाॉगन की दहमभत यखता ह

ऩयभ सतम 13

अगय आऩको ऐसा रगता ह कक आऩको बगवान स कछ बी नहीॊ लभर यहा ह तो भय पमाय भनषम अबी इसी ऩर अऩन दोनो हाथो को खोर रीजजए तमोकक बगवान की कऩा हय ऩर हय एक ऩय फयस यही ह

ऩयभ सतम 14

भहनती आदभी जफ चरता ह तो उस हय तयप स सराभ फजत ह

ऩयभ सतम 15

हय ऩर आऩक ऩास एक चनाव ह कक आऩ अऩनी जजॊदगी को जो चाहो फना रो

ऩयभ सतम 16

बगवान की कऩा हय सचच औय भहनती इॊसान ऩय होती ह औय जफ होती ह तो भसराधाय होती ह

ऩयभ सतम 17

सभम फदर जाता ह औय ऩरयजसथतमाॉ फदर जाती ह भगय जीवन क भर सतम नहीॊ फदरत

ऩयभ सतम 18

आऩ अऩन ददभाग का भजशकर स 1 ही उऩमोग कयत ह

ऩयभ सतम 19 अऩन ददभाग को हय ददन खयाक दीजजए तमोकक एक फाय अगय इसन अऩन जाद ददखाना शर कय ददमा तो आऩक सात ऩशतो को भाराभार कय दगा

ऩयभ सतम 20

अऩन बीतय भौजद ऩयभ ऩजम ईशवय को हय ऩर समभान दीजजए

ऩयभ सतम 21

आऩ अनभोर ह आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह

जीवन भ एक चनौतीऩणथ रकषम होन क पामद

जफ आऩ खद को ककसी शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दत ह तबी स ही आऩक आतभ रवकास का फलभसार सफ़य शर हो जाता ह

आऩ हय ददन नमा सीखना शर कय दत ह

आऩ हय इॊसान की कदर कयना शर कय दत ह

आऩ नई-नई औय परयणादामी ऩसतक ऩढना शर कय दत ह

आऩ खद को एक भहततवऩणप वमजतत भानना शर कय दत ह

आऩ भहानता स सजा जीवन जीना शर कय दत ह

आऩ जीवन को एक उऩहाय की तयह जीना शर कय दत ह

आऩ हय ददन उतसादहत औय खश यहना शर कय दत ह

आऩ रगाताय रवकास कयना शर कय दत ह

आऩ एक शानदाय सहत का आनॊद हय ददन रना शर कय दत ह

आऩ हय ददन आचथपक रऩ स सभदध होत जात ह

आऩ एक चरऩमन फनन की याह ऩय चर दत ह

आऩ हय ददन जीवन क परतत एक सकायातभक औय उतऩादक नजरयमा यखना शर कय दत ह

आऩ भानवता क लरए एक ऩॊजी फन जात ह

आऩ खद स सचचा पमाय कयन रगत ह

जीवन

जीवन एक उऩहाय ह

जीवन एक शानदाय अवसय ह

जीवन एक सौगात ह

जीवन एक फलभसार भौका ह खद को ऩा रन का

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक खफसयत सौबागम ह

जीवन सीखना ह

जीवन एक उतसव ह

जीवन एक आनॊद ह

जीवन ईशवय का परसाद ह

जीवन खद को जानना ह

जीवन एक गजफ का फशतप उऩहायो स सजा गरदसता ह

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक सौबागम ह

जीवन जीवन ह

भहान रोगो की भहान आदत

भहान रोग धमान स साभन वार की फात सनत ह

भहान रोग अऩन जीवन को एक चनौतीऩणप रकषम का वयदान दत ह

भहान रोग हय ददन अऩन काभकाज क तहत अऩन जनन का ऩीछा कयत ह

भहान रोग अऩन जीवन को भहान रवचायो क अनसाय चरात ह

भहान रोग भहान रोगो क साथ ही अऩन सभम को बफतान का चनाव कयत ह

भहान रोग रगाताय अचछी ककताफ ऩढ़त ह

भहान रोग रगाताय असपर होत ह इसीलरए भहान रोग कबी न रकन वार होत ह तमोकक असपरता उनह डयाती नहीॊ ह फजलक उनह ओय जमादा तनखयन क लरए पररयत कयती ह

भहान रोग हय ददन नमा सीखत ह

भहान रोग अऩन कामो क कायण भहान फनत ह

भहान रोग रगाताय खद क ही रयकॉडप को तोड़त यहत ह

भहान रोग खद की जफयदसत कदर कयत ह

भहान रोग सचभच भहान सोच क भालरक होत ह

भहान रोग हभशा बीड़ स हट कय सोचत ह

भहान रोग रोगो की सचची कदर कयत हए उनस नमा सीखत यहत ह

भहान रोग रोगो की सवा कयन भ भादहय होत ह

भहान रोग भाॉ क ऩट स भहान ऩदा नहीॊ होत जीवन भ अऩन दवाया ककम गए कामो स वह भहान फनत ह औय ऐसा अवसय ईशवय न आऩको बी परदान ककमा ह

आऩ बी आज स एक भहान इॊसान क तौय ऩय अऩन जीवन को जीन का चनाव कय सकत ह

सॊकट क 15 शानदाय राब

1 सॊकट आऩका रवकास कयता ह 2 सॊकट आऩको नमा लसखाता ह 3 सॊकट आऩको सौबागम का उऩहाय दता ह 4 सॊकट आऩको एक फहतय वमजतत फनाता ह 5 सॊकट तफ तक आता ह जफ तक आऩभ नमा सीख कय जीवन भ नए सतय

तक ऩहॉचन की सचची मोगमता भौजद यहती ह 6 सॊकट आऩका सपरता क सफ़य भ सचचा साथी होता ह 7 सॊकट को सॊकट की तयह दखना ही सचभच सॊकट ह 8 सॊकट एक ऐसा शानदाय भौका होता ह जो आऩको हय हार भ सौबागम का

ही वयदान दना चाहता ह 9 सॊकट अगय ह तो आग फढ़न क औय नमा सीखन क यासत ह 10 सॊकट आऩको ददखाई तफ दता ह जफ आऩका अऩन रकषम क परतत सभऩपण

कभ हो जाता ह

11 सॊकट का साभना कीजजए औय सॊकट को जीत रीजजए 12 हय ददन एक नमा सॊकट आऩक जीवन भ आना आऩक लरए फहद शब ह 13 नमा सॊकट भतरफ नमा अवसय जीवन भ एक कदभ औय आग फढ़न का 14 सफस फड़ा सॊकट ह आतभ-अऻान 15 आऩको सॊकट दना जीवन का एक नामाफ तयीका ह आऩको आऩकी अॊदरनी

शजतत स लभरान का

सपरता क 15 अभय सतर

1 अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का वयदान दीजजम 2 हय ददन सफह जलदी उदठए औय अऩनी सोच को जफयदसत सकायातभक

फनान क लरए परयणादामी ऩसतक ऩदढ़ए 3 हय ददन को खद को ओय जमादा भजफत फनान क एक शानदाय अवसय

क तौय ऩय दणखम 4 हय सॊकट को तयतकी क फलभसार भागप की तयह दणखम 5 हय इॊसान स कछ न कछ सीखन की सोच यखत हए फात कीजजए 6 हय ददन नमा सीख कय हय ददन का समभान कीजजए 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजम 8 हय ददन कसयत कीजजए तमोकक आऩकी सहत आऩकी काभमाफी भ अहभ

बलभका तनबाती ह 9 आऩकी अॊदरनी शजतत वाकई अनॊत ह 10 आऩ ऩय रवशव क लरए फहद बागमशारी ह 11 आऩकी सफस फड़ी काबफलरमत आऩकी हय ददन रवकास कयत हए आऩक

जीवन को फलभसार फनान की काबफलरमत ह 12 आऩ अऩन बागम क एकरौत भालरक ह 13 सपरता का सचचा अथप ह खद को हय ददन इॊसातनमत क रवकास भ

साथपक मोगदान क लरए रामक फनाना 14 सपर होन का सथामी तयीका ह खद को इॊसातनमत की जडो को ऩोषण

दन क लरए फशतप सभरऩपत कय दना

15 आऩ एक मोगम फलभसार औय शानदाय वमजतत ह

सौबागम क ऩववतर फीज

1 जफ आऩ खद सही नजरयमा अऩना रत हो तो आऩका सफ कछ सही हो जाता ह

2 ककसी इॊसान को आऩ ककस तनगाह स दखत हो साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह

3 ककसी काभ को आऩ ककस तनगाह स दखत हो इसक भताबफक ही आऩको वह काभ ऩरयणाभ दता ह

4 आऩकी सोच क ऊऩय उठन स ही आऩ ऊऩय उठ सकत ह 5 जो आऩको जीवन भ खशी औय काभमाफी क लरए जरयी साभान चादहए वह

सफ कछ ऩहर स ही आऩक बीतय ह 6 हय एक इॊसान अदबत ह तमोकक हय इॊसान क ऊऩय ईशवय की ऩरवतर भोहय

ह 7 जो इॊसान खद स खश ह वही दतनमा की खशहारी भ सचचा मोगदान द यहा

8 हय ऩर हभ सफक ऩास अनॊत-अनॊत भातरा भ वह सफ कछ भौजद ह जो हभ सचभच खश यहन क लरए चादहए

9 आऩ जीवन क परतत शकरगजाय हो कय फहत जमादा बागमशारी फन सकत ह 10 खद परकाश का ददवम सतरोतर फन जाना ही सवोतभ उऩाम ह 11 आऩको जफ आऩ ही नहीॊ ऩहचान यह ह तो ककसी औय स ऐसी उमभीद तमो

कय यह ह

12 गजफ ह कक हय इॊसान खद भ अनॊत शजतत का भहासागय सॊजोए हए ह कपय बी कहता ह कक भ कभजोय हॉ

13 आऩका बागम बगवान जी नहीॊ फजलक आऩकी सोच औय आऩकी भहनत लरखती ह

14 भहनती क घय रकषभी नाचती ह 15 काश भ आऩको फता ऩता कक आऩका जीवन ककतना जमादा अनभोर ह 16 जो खद को याह ददखा ऩा यहा ह सचभच दसयो को याह ददखान का हक बी

उसको ही ह 17 सफ कछ तो अबी इसी ऩर भौजद ह हभ ही कहीॊ औय उरझ हए ह 18 काभमाफ होन का भौका तो हय एक को हय ऩर लभर यहा ह ऩय भौका

अतसय भसीफतो क कऩड़ ऩहन कय आता ह 19 रवऩजतत भ ही समऩजतत छऩी होती ह 20 हभ सफ फदहसाफ शजतत क अनभोर खजान ह 21 कछ ह हभाय बीतय जो सदा स ह औय सदा ही यहन वारा ह 22 दखन वार क अॊदय ही वह छऩा ह जजस दखा जाना ह 23 आऩक भाता-रऩता का आशीवापद आऩक लरए फहद अनभोर ह 24 हभ खद ही खदा स लभरन भ सफस फड़ी ददतकत ह 25 साफ़ तनमत आऩको गजफ की फयकत दती ह 26 भजफत इयाद भजफत ऩरयणाभ रकय आत ह 27 जफ इॊसान खद भ रवशवास ददखाना शर कयता ह वहीी स उसक जीवन भ

चभतकाय होना शर हो जात ह 28 रगाताय खद ऩय भहनत कीजजए मह इकरौता तयीका ह ईभानदाय सपरता

परापत कयन का 29 आऩक दवाया आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩको फनान

औय लभटान दोनो की जादई मोगमता यखत ह 30 खोज यह ह हभ बफना मह ऩता कक खोजना तमा ह

हय ददन खद को ननखाय

हय ददन खद को तनखायना ही हय ददन का सचचा समभान कयना ह आऩकी हय ददन सफह उठत ही ऩहरी पराथलभकता मह होनी चादहए कक ककस तयह आऩ आज क ददन को अऩन जीवन का सफस खास ददन फना सकत ह हय नमा ददन आऩको नए अवसय उऩहाय भ दता ह हय ददन का खर ददर स सवागत कीजजए हय ददन नमा सीणखम हय ददन खद को पमाय दीजजम हय ददन अचछ औय सवमॊ को ऩोरषत कयन वार रवचाय सतनम हय ददन अऩन नजरयए को गजफ का सकायातभक यणखम हय ददन आऩकी सचची सवा कयत हए आऩको अनको परगतत क अवसय दता ह आऩ हय ददन नए रोगो स लभर हय ददन नए सऩन दख हय ददन कसयत कय हय ददन का आबाय खर ददर स परकट कय हय ददन अऩन रकषम की ददशा भ जरय फढ़ हय ददन एक कदभ उठाम अऩन आऩ को एक फहतय इॊसान फनान की ददशा भ हय ददन अऩन जीवन क सचच उददशम क परतत सभरऩपत यह हय ददन हय एक वमजतत स खफ उतसाह स लभर हय ददन ऩसतक ऩढ़ हय ददन अऩन रकषमो को लरख हय ददन कछ सभम अकर भ बफताम हय ददन अऩन जीवन भ शकरगजाय होन क नए नए भौक तराश हय ददन अऩन आऩ को एक गहया वमजतत फनाम हय ददन खद को समभान दत हए हय ददन खद का तनभापण कय हय ददन अऩन काभ को सभरऩपत होकय कय हय ददन भहान रोगो क रवचाय ऩढ़ हय ददन सॊकटो को सौबागमो भ फदर द

धनमवाद ऩतर

इस ऩसतक को अऩनान क लरए औय इसभ छऩ भहान सपरता क सचच सॊदश को समभान दन क लरए आऩको ददर स धनमवाद दत ह आऩका जनभ सचभच एक भहान जीवन जीन क लरए हआ ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आज स ही आऩ अऩन सऩनो का जीवन जीन का सचचा तनणपम र सकत ह आऩको एक शानदाय जीवन जीन का सचचा हक दन वार ईशवय को ददर स धनमवाद हभायी ऩहरी ऩसतक सपरता का अभत को ददर स अऩनान क लरए एक फाय कपय स आऩको धनमवाद

रवशष आबाय

इस शानदाय सऩन को सच फनान भ आऩ सबी का फहद अहभ मोगदान यहा ह -

पमाय ईशवय को रवशष आबाय पमाय भाता रऩता का रवशष आबाय हभाय सबी आरोचको का रवशष आबाय हभाय सलभनायो भ आम हजायो रोगो को रवशष आबाय सभाज भ अऩन अऩन अॊदाज भ सकायातभक ऊजाप परान वार हय एक आदय मोगम बाई औय फहन को ददर स आबाय

औय आऩको आबाय

आऩक बीतय छऩी आऩको भहान फनान की फलभसार ताकत को आबाय

आऩ अनभोर ह

आऩ अनभोर ह

Page 6: सफलता का अमृत 2

20 VISIONARY IDEAS FOR YOU TO BECOME A BETTER

YOU EVERY SINGLE DAY

1 Live life in your own way

2 Run your own race

3 Challenge yourself every day for better

4 Truest joy is joy of serving humanity

5 Discover your calling

6 Program yourself to succeed in life every day

7 Top class thoughts create top class results

8 Believe in yourself to achieve your dreams

9 Grow your consciousness every day

10 Be an asset for humanity

11 Speak to serve people

12 Listen to understand people

13 Your true power is infinite

14 Develop yourself daily

15 Connect to your inner self to live fully

16 Awareness brings freedom in your life

17 Awareness is about knowing your inner self

18 Change your thoughts to change your results

19 Follow your passion

20 Be a life visionary

32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

1 खद को जातनए औय खद को ऩा रीजजए 2 आऩक रवचाय ही आऩका सॊसाय ह 3 आऩका वमवहाय ही आऩकी ऩॊजी ह 4 आऩ कछ बी सीख सकत ह औय कछ बी फन सकत ह 5 सऩन ऩय कयन क लरए सऩन जरय दणखए 6 आऩका सभऩपण आऩकी सपरता को आकरषपत कयता ह 7 कवर सतम ही आऩको भतत कयन की शजतत यखता ह 8 हय ददन नमा सीखना हय ददन जीना ही तो ह 9 आऩकी ककसभत खयाफ ह मह लसपप आऩका एक रवचाय ही तो ह 10 खद को हय ददन काबफर फना कय आऩ कछ बी परापत कय सकत ह 11 आऩ खद ऩय हय फाय ऩया बयोसा कय सकत ह 12 जीवन हय ऩर आऩको खद को रवकलसत कयन क फदहसाफ अवसय द यहा

ह 13 जजतना आऩ खद को जानत जात ह उतना ही खद ऩय आऩको रवशवास

होता जाता ह 14 आऩ अऩन बागम की जजमभदायी खद रकय सचभच बागमशारी फन सकत

ह 15 आऩका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह 16 सच मह ह कक आऩकी शजतत अनॊत ह 17 आऩकी फाहय की दतनमा आऩकी बीतय की दतनमा का दऩपण भातर ह 18 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 19 सवा कयक सचभच शाॊतत लभरती ह

20 खद को जान रन क फाद खद स फशतप परभ खद फ खद हो जाता ह 21 ऩयी तयह सपर औय ऩयी तयह असपर कोई इॊसान ह ही नहीॊ ह 22 आनॊद को आऩ खोजत तो फाहय ह भगय होता मह आऩक अऩन ही अॊदय

ह 23 जो आऩ दखना चाहत ह आऩ लसपप वही दख ऩात ह 24 एक शानदाय जीवन जीना आऩका हक ह

25 सचची अभीयी आतभ ऻान ह 26 सॊकट आता ही आऩको भजफत फनान क लरए ह 27 जजतन आऩ खद स ईभानदाय होग उतना ही आऩ खद का आदय कयग 28 आतभ रवशवास स ऩहर आतभ ऻान आता ह 29 अगय आऩ जजॊदा ह तो आऩको जीवन क परतत तनयाश होन का कोई हक

नहीॊ ह 30 आऩ अऩन आऩ क लरए फहद बागमशारी ह 31 खद को खोजजए 32 सभरदध आऩका सचचा हक ह

75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

1 Laugh daily

2 Exercise daily

3 Dream daily

4 Think bold daily

5 Read daily

6 Imagine daily

7 Live life of purpose daily

8 Learn from your past

9 Discover your calling

10 Leave the crowd

11 Honor your intuitions

12 Write your goals daily

13 Be yourself

14 Challenge your challenges

15 Become a better person every day

16 Serve humanity

17 Learn from wisdom quotes

18 Write and frame the purpose of your life

19 Problems are platforms

20 Grow your consciousness every day

21 Design your life every day

22 Make your thinking your biggest asset

23 Work hard to work smarter

24 Hard work is good for your health as well

25 Live life like a life passionate lover

26 Expand your thinking every day

27 Celebrate your daily performance

28 Develop yourself daily

29 Respect yourself

30 Create your luck

31 Listen audio programs on personal development daily

32 Sleep less to grow more

33 Go for wisdom

34 Choose wisdom over knowledge

35 Work on your inner life

36 Dedicate yourself towards life-long learning

37 Discover your inner strength

38 Think different to think like tycoons

39 Wake up at 5am daily

40 Adopt a belief system of winners

41 Lead life to live life

42 Express your genius through your work daily

43 Write in a journal daily

44 Think long term

45 Be a passionate life learner

46 Visit library once in a week

47 Commit to working hard till your last breathe

48 Your language is your presentation

49 People who give up are the losers

50 Run your own race

51 Mastery attracts challenges continuously

52 Leave the crowd to lead the crowd

53 Champion your thoughts to champion your life

54 Daily hard work attracts mastery

55 Live your life as per your inner taste

56 Practice rare stuff to get rare results

57 Win in mind first to win in actual

58 Believe in yourself to achieve the impossible

59 People always laugh at man on progress

60 Spend more time with creative people

61 Be lady gaga of your field

62 Be Nelson Mandela of your field

63 Be bill gates of your field

64 Be J K Rowling of your field

65 Go deep to know things deeply

66 Dare to see the picture behind every picture

67 Selfish people are liability even for their own selves

68 Dream bold dreams to check your true inner power

69 Your mind power is infinite

70 Dare to think beyond the crowd

71 Listen to your heart to be a brand

72 Struggle gifts strength

73 Purpose of life is becoming more helpful for humanity every single day

74 Selfless people are history makers

75 Life is an awesome gift of god to you

HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR

GOD 1 Donrsquot disgrace god by playing small with your inner infinite creative

potential

2 God has gifted you with inner infinite creative potential

3 Within you lies the treasure of inner infinite creative potential

4 Your success is godrsquos success

5 Your success is humanityrsquos success

6 Your success is success of that power which lies every single second within

you

7 You are a master-piece and original kindly donrsquot imitate someone

8 You have infinite seeds of greatness within you

9 You have the power to manifest your ultimate destiny

10 Biggest resource that you are having at this moment is your decision to

choose your destiny

11 Be a leader and gift yourself a vision for your life

12 Every single day is a world class platform to become more and achieve more

as a person

13 You shine when you face adversity

14 Problems are your honest servants as they serve you by developing you

15 You must master your thinking to master your destiny

16 You are free if you are rightly educated

17 You have the power to live your life in your style

18 Run your own race to win the race with grace

19 Bigger the obstacle bigger the rewards

20 Harder you work smarter you become

INNER WEALTH

Inner wealth is open to all of us

Inner wealth is actual wealth

Inner wealth is infinite for all of us

Inner wealth can be achieved by becoming a better person every day

Inner wealth can be achieved by discovering your calling

Inner wealth can be achieved by challenging yourself for better

Inner wealth is a gift that one can as a result of his daily inner growth

Inner wealth gives you joy as it is a result of your daily self-realization

Inner wealth is obtained when it becomes ultimate aim of your life

Inner wealth is obtained by life visionaries

Inner wealth is achieved by leaving the crowd and listening to your own heart

Inner wealth is achieved by those who refuse to give up at the times of pains and

challenges

Inner wealth is achieved by people who are truly passionate about achieving inner

wealth

अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

1 आऩ एक शानदाय जीवन जी सकत ह 2 आऩ एक परचयता स बया जीवन जी सकत ह 3 आऩ शकरगजायी की भहान बावना स सजा जीवन जी सकत ह 4 आऩ भानवता क फलभसार इततहास भ अऩना नाभ दजप कया सकत ह 5 आऩ गजफ क आतभ रवशवास क भालरक हो सकत ह 6 आऩ एक अभीय औय बफलकर खशहार जजॊदगी हय ददन जी सकत ह 7 आऩ इस फात की ऩयवाह ही नहीॊ कयग कक रोग आऩको तमा कहत ह 8 आऩ हय ददन सभरदध की सीढ़ी चढ़त जात ह 9 आऩ हय इॊसान को आदय क बाव स दखन रगत ह 10 आऩ खद स फदहसाफ पमाय कयन रगत ह 11 आऩ सचभच जीवन का समभान कयन रगत ह 12 आऩ परकतत क यहसमो को धीय-धीय सभझन रगत ह 13 आऩ भानवता क सचच सवक फनन रगत ह

14 आऩ जीवन भ ककसी बी भकाभ तक आसानी स ऩहॉच सकत ह 15 आऩ हय वो सऩना सच कय सकत ह जजस आऩ हभशा स दखत आम ह 16 आऩ ऩयी भानवता को सचभच याह ददखा सकत ह 17 आऩ सचभच एक फलभसार जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह

अभीय सोच सचभच आऩको अभीय फना दती ह वाकई अभीय सोच कोई बी अऩना कय अभीय फन सकता ह अभीय सोच क कछ रण इस परकाय ह

1 अभीय इॊसान अऩन जीवन की जजमभदायी खद रता ह 2 अभीय इॊसान हय ददन नमा सीखता ह 3 अभीय इॊसान सॊकट को सपरता की नीॊव सभझता ह 4 अभीय इॊसान जीवन को एक वयदान की तयह जीता ह 5 अभीय इॊसान हय ददन खद को तनखायता ह 6 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी जजॊदगी उसक खद क रवचायो का ही

परततबफॊफ होती ह 7 अभीय इॊसान अभीय रोगो की सोच की सचभच कदर कयता ह 8 अभीय इॊसान हय ददन को परगतत कयन क भॊच क तौय ऩय दखता ह 9 अभीय इॊसान सचभच खद भ रवशवास कयता ह 10 अभीय इॊसान फड़ धमान स सनता ह 11 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी ककसभत उसक अऩन ही हाथ भ ह 12 अभीय इॊसान नए-नए रोगो स रगाताय लभरता ह ताकक अऩन काभ को औय

अचछ तयीक स कय सक 13 अभीय इॊसान हय ददन अचछी ऩसतक ऩढता ह 14 अभीय इॊसान हय ददन सऩन दखता ह 15 अभीय इॊसान जीवन को ऩय उतसाह क साथ जीता ह 16 अभीय इॊसान मह भानता ह कक उसकी भहनत हय ददन उस परगतत क नए-

नए अवसय दती ह 17 अभीय इॊसान खरकय अभीयी क रवचाय सबी स साॊझ कयता ह

18 अभीय इॊसान सचभच चाहता ह कक जमादा स जमादा रोग सभरदध का जीवन जीम

19 अभीय इॊसान ददर स मह सभझता ह कक अभीयी सचभच हभाय अऩन ही हाथ की फात ह

20 अभीय इॊसान सचभच सवा कयत हए अभीय फनता ह 21 अभीय सोच का अथप ह कक सभाज की सवा कयन की सचची औय ईभानदाय

सोच यखना 22 अभीय सोच का अथप ह कक जीवन का समभान कयत हए जीवन को ऩय जोश

औय उतसाह क साथ जीना

असपरता का सचचा अथथ

1 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ रगाताय परमास कय यह ह 2 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ अऩनी सोच को हकीत भ फदरन

की जादई ताकत यखत ह 3 असपरता आऩको भजफत फनाती ह 4 असपरता आऩको शानदाय अनबव दती ह 5 असपरता आऩको जीवन भ कछ फड़ा कयन की गजफ की परयणा दती ह 6 असपरता आऩको बीड़ स अरग कयत हए इततहास यचन वारो क फीच

राकय खड़ा कय दती ह 7 असपरता आऩको ऩयी ताकत क साथ दोफाया शर कयन की परयणा दती

ह 8 असपरता आऩकी सोच को गहया फना दती ह 9 असपरता सपरता की जड़वाॉ फहन ह 10 असपरता आ यही ह भतरफ आऩ अऩना सवोतभ दन का रगाताय

परमास कय यह ह 11 असपरता आऩको हय ददन अरग अरग तरो भ लभरती ही यहती ह जफ

बी आऩ कछ नमा कयन की कोलशश कयत ह 12 असपरता आऩकी परगतत क लरए फहद जरयी ह 13 असपरता आऩको एक फाय कपय नमा सोचन का अवसय दती ह 14 असपरता ही आऩकी सपरता फन जाती ह जफ आऩ इसस लशा रकय

जीवन भ एक कदभ ओय आग फढ़ जात ह 15 असपरता आऩकी आवाज भ लभठास औय रवनमरता रकय आती ह

असाधायण रोगो क 10 फमभसार गण

1 असाधायण रोग हय ददन एक सऩषट जीवन रकषम क साथ आग फढ़त ह 2 असाधायण रोग हय ददन नमा सीखत ह 3 असाधायण रोग हय ददन जमादा स जमादा सपर रोगो क साथ अऩना नटवकप भजफत कयत ह 4 असाधायण रोग हय ददन सऩन दखत ह 5 असाधायण रोग इस फात भ गहया रवशवास कयत ह कक जीवन भ ककसी बी इॊसान क लरए कोई कभी नहीॊ ह अभीय इॊसान नहीॊ अभीय दयअसर एक सोच होती ह जजस कोई बी इॊसान अऩना सकता ह 6 असाधायण रोग दसय रोगो क रवकास भ अहभ बलभका तनबात ह 7 असाधायण रोग ईशवय क दवाया हय इॊसान को ददए गए चायो उऩहायो (शयीय भजसतषक रदम आतभा) का हय ददन बयऩय उऩमोग कयत ह 8 असाधायण रोग अऩनी फात को कहन की करा भ खद को तनऩण फनात ह 9 असाधायण रोगो की दोसती बी असाधायण रोगो क साथ ही होती ह तमोकक आऩक दोसत आऩक बागम क तनभापण भ फहत जरयी बलभका तनबात ह 10 असाधायण रोग हय ददन अऩन काभ का पीडफक रत ह औय खद को हय ददन भजफत फनात ह

आऩ एक वयदान ह

आऩ अनभोर ह

आऩ फलभसार ह

आऩ अनॊत शजतत क भालरक ह

आऩ फलभसार काबफलरमत का खजाना सवमॊ भ सॊजोए हए ह

आऩकी कलऩना शजतत अनॊत ह

आऩका भजसतषक एक गजफ का ताकतवय कॊ पमटय ह

आऩकी ककसभत शानदाय ह

आऩ अऩन जीवन को ककसी बी ददशा भ र जा सकत ह

आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह

आऩ भानवता की सवा कयक भहान फनन का चनाव कय सकत ह

आऩ अऩन जीवन को दसयो क लरए एक परयक जीवन फना सकत ह

आऩ सवमॊ भ छऩी अनॊत शजततमो को ऩान क परतत सभरऩपत हो सकत ह

आऩ ऩयी दतनमा घभ सकत ह

आऩ अऩन नाभ को एक बाॊड फना सकत ह

आऩ अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना सकत ह

आऩ भजशकर को भौक भ फदर कय भजशकर को समभान द सकत ह

आऩका सचचा ऩरयचम

आऩ एक चभतकाय ह आऩ सौबागम क अनॊत फीज खद भ सॊजोए हए ह आऩक बीतय एक कभार की शजतत ह जजसका आऩको जीत जी जरय एहसास कयना चादहए ऩयी दतनमा क लरए आऩका जनभ एक भहासौबागम ह आऩ एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद हय ददन र सकत ह आऩ हय ददन सफह जलदी उठ कय अऩनी ककसभत का तनभापण कय सकत ह आऩक सॊकट आऩका रवकास कयत ह आऩक रकषम आऩका रवकास कयत ह आऩ आज स ही अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय सकत ह आऩ भानवता की सवा कयक जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह आऩका जीवन आऩको लभरा एक शानदाय उऩहाय ह आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह आऩ हय ददन एक नमी सोच अऩना कय नए ऩरयणाभ परापत कय सकत ह आऩ जजतना जमादा खद को जानोग उतना ही खद स पमाय कयत चर जाओग आऩ जीवन क परतत सभरऩपत होकय अऩन जीवन को एक उतसव की तयह जी सकत ह आऩ हय ददन नए सऩन दख सकत ह आऩ अनभोर ह आऩ अनभोर ह

आऩकी काभमाफी को सभवऩथत 15 शकततशारी ववचाय

1 आऩ फदहसाफ आॊतरयक शजतत क भालरक ह 2 आऩ ऩय बहभाॊड क लरए फहद शब औय सौबागमशारी ह 3 आऩकी कलऩना कयन की शजतत अनॊत ह 4 आऩकी आतभ सधाय कयन की भता अनॊत ह 5 आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह 6 सवसथ का अथप ह सवमॊ भ जसथत होना 7 सवाथप का सचचा अथप ह सवमॊ क सचच औय गहय अथप को सभझना 8 ऩागर का अथप ह जजसन ऩा लरमा गर (काभ की फात मा सचची फात)

को 9 ऩागर का अथप ह ऩाक (रहानी) फात कयन वारा 10 आज अबी औय इसी ऩर आऩ एक काबफर शानदाय फलभसार औय

सभदध वमजतत ह 11 आऩ कबी बी कछ बी सीख कय ककसी बी तर भ भहायत हालसर कय

सकत ह 12 आऩका जनभ एक सखद उऩहाय ह ऩयी भानवता क लरए 13 सभसत धयती आऩकी अऩनी ह 14 आऩका बागम ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह 15 आऩभ अनॊत सॊबावनाएॊ छऩी ह

आऩकी सपरता को सभवऩथत 30 जादई औय परयणादामी ववचाय

1 ऩहर अऩन रकषम क परतत सभऩपण औय कपय उस सभऩपण की हय कीभत चकान की दहमभत चादहए तफ जाकय सपरता आऩक कदभ चभती ह

2 ककतनी पमायी फात ह कक हभ खद को आदय दकय अऩन बीतय भौजद ईशवय को ही तो आदय दत ह

3 सयरता सवगप ह जफकक उरझन नकप ह 4 ककतनी कभार की फात ह कक हभ सफ जीवन भ आसान यासत चाहत ह

भगय हभाया रवकास लसपप भजशकर यासतो ऩय चर कय ही होता ह 5 सफको अऩना बरवषम जानन की फड़ी आतयता यहती ह जफकक अऻात भ

जीन का भजा ही तनयारा ह 6 हय ऩर आऩ खद क फनाम सवगप भ मा कपय खद क फनाम नकप भ यहन का

चनाव कयत ह

7 खद का सधाय ककम बफना दसय को सधायन की कोलशश कयना वमथप का परमास साबफत होता ह

8 अऩनी गरती कोई नहीॊ भानता जफकक अऩनी गरती भान कय अऩन आऩ को सधायन का आनॊद गजफ का ह

9 भजशकर हारात आना इस फात का सफत ह कक आऩ परगतत क ऩथ ऩय ह 10 सफको फशतप पमाय दीजजए तमोकक परभ आऩक ऩास फदहसाफ भातरा भ भौजद

ह 11 आऩ खद ही अऩनी सोच को काभमाफी की ददशा भ रकय जा सकत ह 12 सच क यासत ऩय तनयॊतय चरना आऩको एक अदबत आनॊद दता ह 13 अऩन जीवन भ आन वारी सभसमाओॊ का खफ आनॊद रीजजए तमोकक म

आऩक लरए परगतत क शानदाय अवसय र कय आती ह

14 हय सपर इॊसान ककसी फड़ी चनौती का साभना कयत हए खद को भजफत फना कय सपर फनता ह

15 नज़ाया चाह कछ बी हो हभायी नज़य वही दखती ह जो दखन क लरए हभ इस कहत ह

16 कबी कबी इॊसान जजस जीत सभझता ह वह हाय होती ह औय जजस हाय सभझता ह वह जीत होती ह

17 3 सभम बोजन अगय आऩ हय योज़ कयत ह तो आऩको योज़ 3 सभम कछ न कछ नमा जरय सीखना चादहम

18 जीवन भ आऩको आऩक लसवा कोई खश मा दखी कय ही नहीॊ सकता 19 परभ भ सवाथप नहीॊ औय जहाॉ सवाथप ह वहाॉ परभ नहीॊ 20 ईशवय हभ हय ऩर हभाय सवोतभ रऩ भ ऩहॉचन क लरए भागपदलशपत कय यहा

ह 21 जफ जफ आऩकी तनमत साफ़ यहती ह तफ तफ आऩको ऩरयणाभ भ फयकत

बी जफयदसत होती ह 22 इॊसान जीवन भ अऩनो औय ऩयामो को ही खोजन भ रगा यहता ह जफकक

अऩना ऩयामा कोई ह ही नहीॊ 23 आऩकी भहनत अगय फकाय चरी गमी तो वो भहनत थी ही नहीॊ 24 खद क अहॊकाय को काट बफना जीवन भ खशी का ऽजाना नहीॊ लभरता 25 ककसी को कभतय सभझन की गरती वही कयता ह जो खद ऩय श कयन

का आदी हो 26 गहयाऩन आऩक काभ भ दय दय की ठोकय खा कय ही आता ह 27 एक फाय खद क बीतय ईशवय को ऩाकय कपय आऩको हय जगह ईशवय ही

ददखाई दता ह

28 अऩनी अॊतयातभा की आवाज़ को फरॊद कयक ही आऩको सचची खशी लभरती ह

29 ककसी की सचची इजज़त कयन क लरए ऩहर खद की जफयदसत फइजजती कयना जरयी ह

30 सच भ सच को कह कस औय झठ कह कय ददर को खशी लभरती नहीॊ

गजफ की शकतत ह आऩकी सोच भ

1 आऩकी सोच आऩक जीवन का सच फन जाती ह 2 आऩकी सोच औय आऩका नजरयमा फहत ही गहय स आऩस भ जड़ होत ह 3 आऩ अऩनी सोच को कबी बी ककसी बी फड़ी सपरता क लरए तमाय कय

सकत ह 4 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजए 5 काभमाफ सोच को अऩना कय आऩ बी काभमाफ हो सकत ह

6 भानवता की सचची सवा कयन की सोच को अऩना कय आऩ बी एक फलभसार जीवन का आनॊद र सकत ह

7 हय ददन अऩनी सोच को सकायातभक औय उतऩादक फनाना आऩकी जजमभदायी ह

8 आऩकी सोच आऩक जीवन क हय ऩहर को परबारवत कयती ह 9 काभमाफ सोच काभमाफ ऩरयणाभ ऩदा कयती ह 10 काभमाफ सोच हभशा आऩको सभाधान की ओय र कय जाती ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह तमोकक आऩक द ख आऩकी अॊदरनी आॉख खोरत ह

आऩक द ख ही आऩको रगातय कछ ऐसा खोजन क लरए पररयत कयत जो आऩको सचभच सथामी आनॊद द सक

आऩक द ख ही आऩकी परगतत का भागप खोरत ह

आऩक द ख ही आऩक सख का आधाय फनत ह

आऩक द ख दयअसर आऩको दख रगत ह भगय जीवन आऩको आग फढ़ान क लरए दखो का ही इसतभार कयता ह

द ख असर भ आऩकी आऩक अॊदरनी खजान क परतत अऻानता क कायण ह

आऩक द ख आऩका रवकास कयत ह

आऩक द ख आऩको हय ददन नमा सीखन क लरए औय जीवन को जजमभदायी रत हए जीन क लरए पररयत कयत ह

आऩक द ख ही आऩकी भहानता की सीढ़ी फनत ह

आऩक द ख अगय ना हो तो आऩक सख बी आऩस दय ही यहग

हय द ख भ सख का फीज छऩा होता ह

द ख वासतव भ द ख नहीॊ होता द ख वो हभाय उसको द ख की तयह दखन क कायण फनता ह

द ख ईशवय को आऩको परगतत कयन क लरए ददमा वयदान होता ह

द ख जफ आऩ सहन कय चक होत ह औय आऩ उसस नमा सीख कय जीवन भ एक नए सतय तक ऩहॉच चक होत ह तो द ख आऩको फड़ी खशी दता ह

आऩक मरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

आज आऩ जो बी सोच यखत ह चाह वह आऩका रवकास कय यही हो मा रवनाश कय यही हो उस ऩयी तयह आऩन ही फनामा ह औय आऩ इस ऩयी तयह स फदर सकत ह औय एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

आऩक आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩक बागम का सतय तम कयत ह

आऩ इस भहान सजषट का एक अहभ दहससा ह

हभ सफ एक दसय स जड़ हए ह

आऩकी ककसभत आऩकी भहनत स फनती ह

सॊकट आऩको परगतत क शानदाय अवसय दता ह

हय इॊसान स आऩ कछ न कछ नमा जरय सीख सकत ह

आऩकी सोच ही आऩका सच फनती ह

सीखन वार हभशा ही जीतन वार फन जात ह

हय ददन भहनत कय औय बागमशारी फन

अवसय ककसी काभ भ नहीॊ फजलक आऩकी सोच भ छऩा होता ह

सॊघषप आऩका तनभापण कयता ह

हायन क फाद आऩका जीत का आनॊद रन का साभरथमप फढ़ जाता ह

आऩक जीवन का हय ऩर आऩक लरए पमाय ईशवय का उऩहाय ह

आऩकी शजतत अनॊत ह

आऩ खद अऩन जीवन क भालरक ह

ईशवय न आऩको जजॊदगी का फलभसार उऩहाय दकय समभातनत ककमा ह

आऩक आरोचक आऩकी इततहास फनान भ भदद कयत ह

आऩक मरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

1 आऩक रवचाय आऩकी असलरमत का तनभापण कयत ह 2 खद को रगाताय आतभऻान रत यहन क लरए सभरऩपत कय दीजजम 3 हय ददन 03 लभनट का सभम तनकार कय परयक ऩसतक ऩदढ़ए

4 एक कागज ऩय बफलकर सऩषट रऩ स लरख रीजजम कक ldquoआऩ जीवन भ तमा परापत कयना चाहत हrdquo

5 जो सॊदश आऩ दसयो को दना चाहत ह ऩहर खद उस सॊदश को अऩन जीवन भ हय ददन आदयऩवपक जजएॊ

6 असाधायण परमास कयक ही आऩ असाधायण ऩरयणाभ परापत कय सकत ह 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजम 8 जफ आऩ खद को हय ददन अऩन बीतय छऩी असाधायण सॊबावनाओॊ क लरए

जागरक कयत ह तो आऩस जड़ी हय चीज़ काभमाफी की ददशा भ फढ़ती ह 9 आऩ हय वो चीज़ सीख सकत ह जो आऩको काभमाफ होन क लरए आनी

चादहए 10 सपरता औय खशी आऩस दय नहीॊ ह फजलक आऩ खद सपरता औय खशी

स दय ह 11 आऩकी सीखन की भता ही आऩक कभान की भता तनधापरयत कयती ह 12 हय एक इॊसान अनभोर औय शानदाय ह 13 लसपप सोच स फड़ औय तनडय रोग ही अऩनी वासतरवक आनतरयक शजतत का

उऩमोग कयत ह 14 आऩक जीवन का सचचा रकषम आऩकी आॊतरयक शजतत क फलभसार बणडाय

को खोजना औय उस भानवता की सवा भ सभरऩपत कय दना होना चादहए 15 फहान फनान वार इततहास यचन वार नहीॊ फनत

16 आऩ ऩहर खद अऩन आऩ को धोखा ददए बफना ककसी ओय को धोखा नहीॊ द सकत

17 जो सभम आऩ अऩनी सचची औय अॊदरनी ताकत को जानन भ रगात ह वो आऩक सभम का सफस फहतयीन तनवश होता ह

18 काभमाफी औय अभीयी का जीवन ऩयी तयह स आऩक चनाव ऩय दटका ह 19 सचभच अभीय रोग भानवता क फहत ही अचछ सवक होत ह औय भधमभ

दज क रोग भानवता क भधमभ दज क सवक होत ह 20 आऩका ददभाग एक फहत ही शजततशारी कॊ पमटय ह 21 जीवन भ हय ददन परगतत कयन क लरए ककसी ओय स नहीॊ अऩन आऩ स

हय ददन फहतय होत चर जाएॊ 22 जीवन हभ सफको एक अचछ इॊसान क तौय ऩय चभकन क लरए फशतप औय

भहान उऩहाय की तयह लभरा ह 23 जफ आऩ खद की सचची कदर कयत हो तबी आऩ दसयो की सचची कदर कयन

क काबफर फनत हो 24 जफ आऩ जीवन क हय तर भ अऩन खद क ही रऩछर रयकॉडप तोड़न रगत

ह तफ आऩ सचभच एक चरऩमन क तौय ऩय रवकलसत होन रगत ह 25 जो ऩरयणाभ आऩ आज अऩन जीवन भ परापत कय यह ह उसक लरए आऩक

अरावा ऩयी दतनमा भ कोई बी जजमभदाय नहीॊ ह 26 दतनमा रॊफ सभम तक धनमवाद दन वार रोगो का लशकामत कयन वार

रोगो स कहीॊ जमादा समभान कयती ह 27 आऩका वमवहाय हभशा ही आऩक चरयतर की सचची तसवीय को ददखाता ह 28 हय भहान इॊसान आऩको मही भहसस कयाता ह कक आऩ बी भहान फन

सकत ह

29 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय ददन सोचत सनत दखत फोरत औय भहसस कयत ह

30 हय ददन कछ सभम तनकार कय ऐस रवचाय जरय सन मा ऩढ़ जो आऩको सचभच एक शानदाय जीवन जीन क लरए फहद पररयत कयत ह

आऩक मरए कछ नए औय शानदाय ववशवास आऩक खद क फाय भ

तमा आऩ जानत ह कक कौन आऩकी जजॊदगी चरा यहा ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी सोच ककस हद तक आऩकी जजॊदगी को फहतय औय फदतय फनान की काबफलरमत यखती ह

तमा आऩ जानत ह कक आऩकी वासतरवक शजतत ककतनी ह तमा आऩ जानत ह कक ककस

हद तक आऩ अऩन जीवन को शानदाय फना सकत ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ अऩन

सऩनो की जजॊदगी जीन भ ऩयी तयह सभ ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी भजशकर आऩका रवकास कयती ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ हय ददन खद ही अऩनी तनमतत फनात ह

आऩ ककस तयह स खद को दखत ह साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह आऩ खद को ककतना काबफर भानत ह इसी फात स आऩकी सपरता का सतय तम होता ह ककस तनगाह स आऩ

अऩनी सीखन की काबफलरमत का इसतभार कयत ह इसी स आऩकी अभीयी का सतय तम

होता ह आऩ हाय क फाद ककस नजरयम स दोफाया शर कयत ह इसी स साया पकप ऩड़ता ह

आऩकी जजॊदगी ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह जफ तक आऩको रगता ह कक आऩकी जजॊदगी क

लरए आऩ जजमभदाय नहीॊ ह तफ तक आऩ अऩनी जजॊदगी को फहतय फनान क लरए जरयी कदभ नहीॊ उठा सकत जफ तक आऩ खद क फाय भ एक सकायातभक नजरयमा नहीॊ रवकलसत कय रत तफ तक आऩकी सभसमा जमो की तमो फनी यहगी

आऩकी हय सभसमा का एक ही सभाधान ह औय वो ह कक आऩ खद की ऩतकी ऩहचान कय आऩ खद को जान आऩ अऩनी आॉख खोर आऩ अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का उऩहाय द

आऩकी सचचाई मह ह कक

आऩ ऩयी तयह स सपर होन क लरए काबफर ह आऩ ऩयी तयह स खद की जजॊदगी को

फदरन की काबफलरमत यखत ह आऩ अऩनी जजॊदगी क भालरक ह आऩ एक शजततशारी ददभाग क भालरक ह आऩ सचभच एक कभार की जजॊदगी जीन का सचचा हक यखत ह आऩ हय ददन नमा सीख कय हय ददन जीत सकत ह आऩ जजस फात भ मकीन यखत ह वही आऩक लरए हकीत फन जाती ह आऩ एक फलभसार जीवन जीन की सचची काबफलरमत यखत ह

आऩ अनभोर ह आऩ सचभच काबफर ह आऩ हकदाय ह एक अदबत जीवन जीन क

इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का कजसन खद ही खद की ककसभत को फनामाhellip

सवार आऩ काभमाफ कस हए

जवाफ काभमाफ होना ही भया ऩास एकरौता यासता था

सवार आऩ असपर बी तो हो सकत थ

जवाफ भ असपर हआ ही इतनी जमादा फाय था कक अफ सपर होना ही था जफ आऩ रगाताय भहनत कयत हो तो एक वक़त ऩय आकय आऩको ऩतका सपरता लभरती ह

सवार सपरता तमा होती ह

जवाफ खद को जानना सपरता ह खद क साथ ईभानदाय होना सपरता ह खद को हय ददन खद क बीतय छऩी शजततमो क परतत लशकषत कयना सपरता ह इॊसातनमत की सचची सवा कयना सपरता ह

सवार आऩको दख कय रगता ह कक आऩ एक फहत ही सरझ हए इॊसान ह तमा ऐसा वाकई ह

जवाफ दणखए सपरता लभरती ही तफ ह जफ आऩ खद सरझ जात ह आऩकी सपरता भ सफस फड़ी ददतकत आऩकी सोच औय आऩका जरयत स जमादा उरझा होना ही ह आऩ खद को सयर कयत हए कबी बी कभार की सपरता ऩा सकत ह

सवार आऩन खद को कस ऩामा

जवाफ जफ भन खद ऩय रवशवास कयना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भ लसपप एक शयीय स कहीॊ जमादा हॉ जफ भन खद स जड़ना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भझभ एक शजतत ह जो ऩयी तयह स भया दहत औय पराव चाहती ह जफ भन सपर रोगो स लभरना शर ककमा तो भन ऩामा कक हय सपर इॊसान खद स ईभानदाय ह हय सपर इॊसान जीवन क परतत हय ददन जफयदसत आबाय वमतत कयता ह हय सपर इॊसान मह सोचता ह कक उसका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह

उतसाह क साथ मशखय की मातरा का आनॊद

1 आऩ जीवन भ जो कछ बी तराश यह ह ठीक वही आऩको लभर जा यहा ह 2 बफरकर सऩषट कीजजम कक सपरता का आऩक लरए सचचा अथप तमा ह

3 आऩ इस रवशार बहभाॊड भ कस अऩनी छाऩ छोड़ना चाहत ह

4 आऩका जनन ही आऩक काभकाज का तर होना चादहम 5 हारात स जमादा परापत कयन क लरए हारात को जमादा गहय स भहसस

कयना शर कीजजए 6 अचछी चीज़ो औय अऩन ऻान को खशी खशी सबी स फाॊदटम 7 अऩन फाय भ जागरकता फढ़ान क लरए अऩनी ताकतो औय कभजोरयमो को

साफ़ साफ़ कागज ऩय लरणखम 8 अऩन सऩनो की हय ददन यचनातभक भानलसक तसवीय दणखम 9 हय ददन अऩनी फातचीत की करा ऩय गजफ की भहनत कीजजए 10 जीवन भ रीडयशीऩ की अहलभमत को सभणझम 11 हय रयशत भ जीत -जीत की भानलसकता रवकलसत कीजजम 12 फड़ी सोच क फड़ जाद का जभ कय समभान कीजजम 13 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 14 असपरता जसी कोई चीज़ नहीॊ होती वह तो लसपप तनखयन की लशा होती

ह 15 अऩनी सोच को एक अॊतयासरीम कॊ ऩनी क भालरक की तयह रवकलसत

कीजजम 16 अऩन जीवन क सऩषट जीवन भलम तनधापरयत कीजजम 17 आजीवन सीखत यदहम 18 रवनमर फतनम

19 अऩनी सोच ऩय भजशकर वक़त भ बी खड़ यदहम 20 इस दतनमा का परतमक वमजतत भहतवऩणप ह इसीलरए सबी का समभान

कीजजम 21 सपर इॊसान को असपर इॊसान स उसकी सोच अरग कयती ह 22 आऩकी काभमाफी आऩकी खद ऩय की गमी हय ददन की भहनत का ऩरयणाभ

होती ह 23 जजतना जमादा आऩ खद क फाय भ जानत ह उतना ही जमादा आऩ परापत

कयत ह 24 हय ददन की कड़ी भहनत ही चरऩमन को चरऩमन फनाती ह 25 आऩकी वशबषा फोरती ह 26 सपरता क लसदधाॊत ऩयी दतनमा भ एक साभान रऩ स कामप कयत ह 27 आऩक रयशत सचभच आऩकी सपरता भ अहभ बलभका तनबात ह 28 अऩन जीवन की कहानी खद लरणखम 29 आऩको भहान फनन स कौन योक यहा ह

30 आऩका भागपदशपन कौन कय यहा ह

31 सचची दोसती आऩका रवकास कयती ह 32 सभम ही आऩकी सचची ऩॊजी ह 33 ऩसतक ऩदढम औय जीवन भ आग फदढम 34 परकतत क साथ वक़त बफताम 35 सपर रोगो क साथ यह 36 आऩका बरवषम आऩक लरए एक कोय कागज क सभान ह 37 अऩन साथ हभशा अऩना रकषम काडप यणखम 38 रगाताय अऩनी समऩकप सची को फड़ा कीजजम 39 आऩ कस अऩन काभकाज क फाय भ दसयो स फात कयत ह

40 अऩन सऩनो को पोटो फरभ कया कय उनह अऩन साभन यणखम 41 अऩन सऩनो क फाय भ हय लभर सकन वारी जानकायी जरय इकठठा कीजजम 42 जीवन जीन क अऩन खद क तनमभ फनाइम 43 अऩन सऩनो का अनसयण कीजजम 44 आरोचना तफ होती ह जफ आऩ परगतत कयत ह 45 जफ तक आऩ ऩछत यहग आऩको जवाफ जरय लभरग 46 हभ सफ एक ह 47 अऩनी सऩषट ऩहचान कीजजम तमोकक आऩ अनभोर ह 48 आऩ जमादातय सभम खद क फाय भ तमा सोचत ह

49 अऩनी उजाप क सतय को हय ददन फढाम 50 हय भहीन कछ धन की फचत जरय कय 51 आऩक फाय भ सवोतभ फात मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह 52 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय वतत सोचत यहत ह 53 आऩका वमाऩाय आऩक दसयो क साथ अचछ रयशतो स हय ददन अचछा फनता

जाता ह 54 रोगो स फात कयत वक़त उनकी बावनाओॊ को जरय सऩशप कय 55 आऩकी जीत की सचचाई मह ह कक जीत आऩ अऩनी सोच ऩय हालसर कयत

ह 56 जजस ददन आऩको अऩन जीवन को जीन का एक सचचा भकसद लभर जाता

ह उस ददन आऩका सचभच जनभ होता ह 57 हय ददन नमा सीखना ही सचभच जीतना ह 58 भहान रोगो स जमादा स जमादा लभर औय उनस सीख 59 आऩ एक ददन दतनमा को अररवदा कह दग रककन आऩक काभ हभशा

रोगो क ददरो ऩय याज़ कय सकत ह

60 अऩन ददभाग भ अऩनी सपरता का एक तनजशचत नतशा जरय फनाम 61 आऩकी सचची ऩॊजी आऩकी सीखन की औय परगतत कयन की मोगमता ह 62 अऩन अतीत का समभान कय 63 हय ददन तनखाय कयत हए एक सभम क फाद चरऩमन की तयह जजम 64 जजस चीज़ ऩय आऩ धमान कजनदरत कयत ह वही चीज़ आऩक खद -फ-खद

नजदीक आ जाती ह 65 अऩन बरवषम का समभान कयत हए हय ददन वतपभान भ खफ भहनत कय 66 जजतना जमादा आऩको आऩक काभ की सभझ होती ह उतना जमादा आऩ

अऩन काभ स कभा सकत ह 67 सयर वमजतत सफका ददर जीत रता ह इसीलरए सयर फतनम 68 आऩका रकषम आऩकी शजतत को फढ़ा दता ह 69 आऩक भजफत जीवन भलम आऩको हय ददन भजफत फना दत ह 70 आऩकी आदत हय ददन आऩका जीवन चरा यही ह 71 अऩन जीवन की जजमभदायी अऩन हाथो भ र रीजजम 72 अऩन आस ऩास सचच रीडसप रवकलसत कयन क लरए आज ही आऩ खद

एक सचच रीडय की तयह वमवहाय कयना शर कय सकत ह 73 हय नए रवचाय क लरए हय ऩर खर यदहम 74 अऩन घय औय कायोफाय भ यचनातभक तौय-तयीको को फढ़ावा दीजजम 75 आऩक ऩास जो बी अचछ रवचाय ह उनह जरय सफस साॉझा कय 76 असपरता आऩको भजफत फनात हए आऩकी सवा कयती ह 77 अऩन आस -ऩास शानदाय रवचायो की औय हयी-बयी परकतत की तसवीय यणखम

78 अऩन घय औय कायोफाय की जगह ऩय अऩना रवज़न फोडप रगाम 79 अऩना वमजततगत ऩसतकारम जरय फनाइम

80 आऩका आऩक काभ क परतत परभ आऩक हय रकषम को फड़ी ही आसानी स ऩया कयवा दता ह

81 खद भ जफयदसत रवशवास ददखाएॉ 82 अऩनी तनमत ही आऩकी तनमतत तम कयती ह 83 एक भहान रवचाय आऩको जीवन भ भहान फनान की शजततशारी मोगमता

यखता ह 84 शकरगजाय होकय आऩ आज औय इसी ऩर स काभमाफ होन का चनाव कय

सकत ह 85 हभशा एक फचच की तयह जीवन क परतत उतसक फन यदहम 86 जफ आऩ खद तयतकी कयत ह तबी आऩ जीवन का सचचा आनॊद र ऩात

ह 87 खद को फहतयीन अॊदाज भ सफक साभन ऩश कयना जरय सीख 88 अऩन जीवन भ सॊगीत का सथान हय ददन जरय यख 89 खफ भहनत कयन क फाद अऩन शयीय औय भन को आयाभ जरय द 90 अऩनी रचच को धमान भ यख कय ही अऩन जीवन क भहततवऩणप चनाव

कय 91 अऩन आऩ स हय ददन ईभानदाय यदहम 92 अऩन रवचायो का सचचा समभान कयन क लरए उनह कागज ऩय लरख 93 जफ आऩ सन तो सच भ सन 94 एक सकायातभक वमजतत फनन क लरए सकायातभक शबदो को अऩनाम 95 चरऩमन आऩ अऩनी चरऩमन सोच की वजह स फनत ह 96 हय उस इॊसान को भाफ़ कय दीजजम जजसन जान-अनजान भ आऩका ददर

दखामा ह

97 अगय असपरता आऩको नहीॊ लभर यही ह तो सभझ लरजजम आऩ सपरता क भागप ऩय नहीॊ ह

98 अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनाइम 99 आऩका जीवन सभसत रवशव क नाभ आऩका सॊदश ह 100 अऩनी सपरता को भानवता क सवा भ सभरऩपत कय दीजजम

101 काभमाफ होना आऩका हक ह

एक घय ऐसा बी ह कजसभ एक घय ऐसा बी ह जजसभ हय ऩर आनॊद का परसाय होता यहता ह जजसभ हय ओय सचचाई का परकाश यहता ह मह सौबागम ह भया कक आऩको ऐस एक शानदाय घय स रफर कयान का अवसय भझ ईशवय न ददमा ह घय क परवश दवाय ऩय लरखा ह ldquoजननत ईशवय का आशीवापदrdquo औय जस ही आऩ घय क बीतय जात ह आऩका धमान ऩड़ता ह दीवायो ऩय लरख शानदाय औय असयदाय रवचायो ऩय रवचाय जस कक वह फदराव खद भ रकय आइए जो आऩ दतनमा भ दखना चाहत ह भहातभा गाॉधी जो आऩ सोचत ह वह आऩ फन सकत ह रवलरअभ जमस आऩकी शजतत अनॊत ह आऩक बीतय सौबागम क फदहसाफ फीज ह आऩका जनभ ऩयी ऩरथवी क लरए एक फलभसार वयदान ह औय आज आऩक जीवन का एक मादगाय ददन ह ऐस कभार क रवचाय ऩढ़ कय आऩ सचभच अऩनी अॊदरनी भहानता स जड़ जात ह औय जस ही आऩ इन दीवायो क सॊदशो को ऩढ़त हए घय क बीतय परवश कयत हो तो आऩका धमान जाता ह एक लरख हए सॊदश ऩय जो कह यहा ह कक अगय खद को जानना ह तो इस कभय भ परवश कीजजए औय जस ही आऩ उस कभय भ परवश कयत ह आऩ ऩात ह एक रवशार ऩसतकारम जो चचलरा चचलरा कय कह यहा ह कक इन ऩसतको भ भानवता का अभय औय सपर इततहास लरखा ह ऩसतको क शीषपक ऩढ़ कय ही आऩक बीतय एक नई उजाप का उदम होन रगता ह जस रोक वमवहाय सोचचम औय अभीय फतनए आऩक अवचतन भन की शजतत फड़ी सोच का फड़ा जाद औय आऩक अॊदरनी रवकास स जड़ी हजायो ऩसतक वहाॊ यखी हई ह

उस कभय भ एक शानदाय फात मह लरखी थी कक अतसय अचछी ऩसतक ऩढ़ कय इॊसान की सोमी हई अॊदरनी शजतत जाग जाती ह औय कपय वो इततहास

यचन की ओय अगरसय हो उठता ह हय इनसान इततहास यच सकता ह हय इॊसान खद को खोद कय खद को ऩा सकता ह जजसन बी खद को खोदा ह औय खद ऩय भहनत की ह उसक हाथ कबी खारी नहीॊ यह उसन जीवन की भहान दौरत को ऩामा ह जीवन की भहान दौरत ह आऩक बीतय छऩी ईशवय की जमोतत आऩकी सचची ऩहचान मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह आऩ सौबागम क फचच ह आऩ एक फलभसार वयदान ह ऩयी कामनात क लरए मह घय की कथा तो कालऩतनक थी ऩय इसका सॊदश ऩयी तयह सचचाई ऩय दटका ह कक आऩकी अॊदरनी शजतत सचभच अनॊत ह आऩ अनभोर ह

एक फमभसार जीवन क मरए 51 गरभॊतर

1 जीवन को एक अवसय क रऩ भ दणखए 2 जीवन को हय ददन परगतत कयन क एक शानदाय भौक क रऩ भ दणखए 3 हय ददन अऩन ददभाग को नमा सीखा कय ऩोरषत कीजजए 4 अऩनी हय हाय स सीखना शर कीजजए 5 सचची परशॊसा कयन की करा सीणखए 6 टी वी कभ दणखए औय ककताफ जमादा ऩदढ़ए 7 जीवन का एक रकषम फनाइम 8 हय ददन खद को पमाय कीजजए 9 सपर रोगो क साथ दोसती कीजजए 10 अऩन काभ भ कभान स जमादा सीखन ऩय धमान दीजजए 11 ऩयी भानवता क लरए आऩका जनभ एक सौबागम ह 12 अऩन जीवन भ सॊगीत को योजाना सथान दीजजए 13 हफत भ ककसी एक ददन ऩय हफत का पीडफक कागज ऩय लरणखए 14 आऩकी आज की सोच ही आऩका आग चर कय सच फन जाती ह 15 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजए 16 अऩन जीवन को भानवता की सवा कयन का एक फलभसार अवसय

सभणझए 17 आजीवन आऩ खद को हय ददन नमा सीखन क लरए सभरऩपत कय दीजजए 18 खद स हय ददन ईभानदाय फन यदहए 19 आज ही अऩनी वमजततगत राइबयी फनाइए 20 हय ददन सभम तनकार कय ईशवय का धनमवाद जरय कीजजए तमोकक मह

शानदाय जीवन आऩको उनही की फदौरत वयदान क तौय ऩय लभरा ह

21 हय भजशकर को परगतत कयन क एक अवसय क रऩ भ दणखए 22 अभीयी एक सोच ह 23 काभमाफी एक सोच ह 24 खशहारी एक सोच ह 25 जमादा भहनत आऩको जमादा रवकास दती ह 26 हय ददन खर कय जीम 27 इस दतनमा भ आऩक लरए ककसी बी चीज़ की कोई कभी नहीॊ ह 28 अऩन रकषमो को साफ़ साफ़ आज ही कागज ऩय लरणखए 29 अऩन रकषमो को हय ददन कागज ऩय लरणखए 30 अऩन रकषमो ऩय हय ददन भहनत कीजजए 31 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 32 फड़ रकषम आऩका फड़ा तनभापण कयत ह 33 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 34 जीवन को एक वयदान क तौय ऩय आज ही कफर कय रीजजए 35 अऩन जीवन को फलभसार फनान की जजमभदायी आज ही खद र रीजजए 36 लशकामत कयन भ सभम भत रगाइए 37 हय इॊसान स कछ न कछ जरय सीणखए 38 हय ददन अऩन खद क अनबवो स कछ न कछ नमा सीणखए 39 आऩ जीवन भ सपर होना फहत ही आसानी स सीख सकत ह 40 आऩकी अॊदरनी शजतत अनॊत ह 41 आऩका हय ददन सफस ऩहरा कामप ह अऩन आऩ को खश यखना 42 आऩ अऩन जीवन भ काभमाफ होन की कोई ठोस वजह खोजजए 43 अऩन आऩ को भानवता क लरए एक ऩॊजी की तयह रवकलसत कीजजए 44 रगाताय भहनत रगाताय जीत की सफस ऩहरी जरयत ह

45 आसान यासतो ऩय चरना आऩक जीवन को फहद भजशकर फना दता ह 46 अऩनी हय हाय स गजफ की लशा रकय उस जीत भ फदर दीजजए 47 अऩन जीवन को खफ समभान दीजजए 48 आऩका अॊदरनी सॊसाय आऩक फाहयी सॊसाय का तनभापण कयता ह 49 आऩ आज वही ह जसा फनन क लरए आऩन आज तक खद को तमाय

ककमा ह 50 आऩ बरवषम भ वही होग जसा आऩ हय ददन खद को फनात चर जाएॊग 51 आऩ आज अबी इसी ऩर स एक शानदाय सपर अथपऩणप जीवन जीन का

साहलसक तनणपम र सकत ह

एक ववजता सोच की शकतत

1 आऩकी सोच ही आऩक जीवन क सच का तनभापण कयती ह 2 एक रवजता की सोच का भतरफ ह हय ददन नमा सीखन की सोच 3 एक रवजता की सोच आऩको एक फलभसार वमजतततव परदान कयती ह 4 आऩकी सोच ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह औय आऩ इस कबी बी फदर

सकत ह 5 आऩकी सोच ही आऩको हय ददन आऩको ददखन वारी आऩकी दतनमा

ददखाती ह 6 आऩकी सोच ही आऩकी भौजदा हय खशी औय गभ क लरए जजमभदाय ह 7 आऩ हय ददन अऩनी सोच को फड़ा औय फहतय कय सकत ह 8 सोच ही आऩको भहान औय सभदध फनाती ह 9 आज आऩ अऩन जीवन भ जजस बी भकाभ ऩय ह लसपप अऩनी सोच की

वजह स ह

10 आऩ जहाॊ बी जात ह औय जो बी कयत ह उसभ आऩकी सोच साफ़ झरकती ह

11 आऩकी सोच का आकाय आऩक आतभ ऻान ऩय आधारयत होती ह 12 आऩकी सोच खद-फ-खद शानदाय हो जाती ह जफ आऩ अऩन जीवन को

एक शानदाय रकषम का उऩहाय द दत ह 13 आऩ भानवता की सवा कयन की सोच को अऩनाकय एक रवजता की सोच

को अऩना सकत ह

एक शानदाय औय फमभसार जीवन की 52 याह

1 जीवन अऩन बीतय छऩी जफयदसत अॊदरनी शजतत को भानवता क रवकास भ उऩमोग कयन का एक भहान अवसय ह

2 परमास न कयना सचची हाय ह 3 आरोचक खद की ओय कबी नहीॊ दखता 4 आऩकी नज़य ही आऩको ददखन वार नज़ायो क लरए जजमभदाय ह 5 हय इॊसान अऩन बीतय भहानता क अनॊत फीज सॊजोए हए ह 6 आऩकी औय आऩकी सपरता भ आऩका सपर होन का तनणपम ही फाधा

ह 7 खद ऩय रवशवास कयक ही खद ऩय रवशवास कयना आता ह 8 फड़ा इॊसान को उसकी भहनत औय सवा कयन की सोच फनाती ह

9 खद को खोदना ही खद को खोजना ह 10 कोई बी भजशकर अऩन बीतय भौक क फीज लरए बफना नहीॊ आती 11 अऩन जीवन क असयदाय फनान क लरए खद को असयदाय फनान स

शरआत कीजजए 12 जफ आऩ सचभच दखना चाहग तो आऩको हय जगह भौक ही भौक

ददखन रगग 13 ईशवय आऩको हय ऩर जफयदसत परभ कय यहा ह 14 खद को काभमाफ होन क लरए तमाय कयना आऩकी खद की ही

जजमभदायी ह 15 सवा कयन की सोच ही आऩकी जजॊदगी को फलभसार फनाती ह 16 सनना बी एक तयह का सीखना ही तो ह 17 ऩाना ह तो खद भ जर यही ईशवय की जमोतत को ऩाम

18 आऩ लसपप तफ तक ही खद क फाय भ छोटा सोचत ह जफ तक आऩ अऩनी अनॊत अॊदरनी शजतत स अनजान ह

19 आऩ अऩनी तीसयी आॉख खोरन क लरए आतभ ऻान रना शर कय सकत ह

20 अऩन आज की सदऩमोग कीजजए 21 आऩकी सोच आऩकी ऩयी दतनमा क नाभ रवयासत ह 22 आऩका नाभ आऩक मोगदान स ही चभकता ह 23 आऩ सतम का ऩारन कयत कयत सवमॊ बी सतम ही सतमको परापत हो

जात ह 24 आऩ ईशवय दवाया अनॊत शजतत क उऩहाय क साथ इस धयती ऩय बज

गए ह चाह मह आऩको ऩता हो मा न ऩता हो 25 अऩन करयमय का चनाव कयत वक़त अऩन जनन को अऩना भागपदशपक

फना रीजजए 26 आऩको आऩक अरावा कोई अभीय सभदध औय सहतभॊद नहीॊ फना सकता 27 उतसाह का भहासागय आऩक अऩन ही बीतय ह 28 आऩका जीवन आज जसा बी ह आऩक अऩन ही कायण ह

29 खद स सचच रोग हो भानवता को याह ददखात ह 30 आऩकी खशी आऩक अऩन ही बीतय ह 31 आऩका सौबागम आऩक अऩन ही बीतय ह 32 आऩ अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनान का शानदाय कामप कय सकत

ह 33 आतभ ऻान परापत कयक कोई बी इॊसान अऩन जीवन को सचभच साथपक

फना सकता ह

34 अऩन जीवन क सफ़य को मादगाय फनान क लरए अऩन ही जीवन स हय ददन सीखना शर कय दीजजए

35 जजतना आऩ पमाय फाॉटग उतना ही जमादा आऩको पमाय फाॉटन का सौबागम लभरगा

36 आऩका नाभ आऩकी हय ददन की गमी ईभानदाय भहनत स ही इततहास फन सकता ह

37 जजस जीवन का कोई रकषम ह वही जीवन सही भामनो भ साथपक ह 38 पमाय इॊसान खद को हय ददन सपरता क लरए तमाय कीजजए 39 एक फाय जफ आऩक अऩन ही बीतय उजारा हो जाता ह तफ आऩका

जीवन सदा सदा क लरए योशन हो जाता ह 40 हय ददन सीखना ही हय ददन जीतना ह 41 वक़त बी तफ आऩक साथ होता ह जफ आऩ खद खद क साथ होत ह 42 जीवन भ जजस बी चीज़ की कीभत ह वह आऩको खद ही हालसर कयनी

होती ह

43 हय ऩर आऩ जीवन को एक ऩयभ आनॊद की तयह जी सकत ह 44 आऩ अऩनी खद क परतत सोच को फदर कय अऩन ऩय जीवन को फदर

सकत ह

45 एक फाय आऩको उऩमोग कयन की करा आ जाए तो जीवन भ ऐसा कछ बी नहीॊ जो उऩमाग भ न आ सक

46 जीवन एक शानदाय अवसय ह 47 जीवन एक फलभसार सौबागम ह 48 जीवन एक भहान सौगात ह 49 आऩकी सोच ही आऩका जीवन चरा यही ह 50 जजस याह ऩय भजशकर नहीॊ उस याह ऩय भौका नहीॊ

51 फड़ा सॊकट भतरफ फड़ा सौबागम 52 आऩ एक फाय खद क हो जाएॉ कपय साया जहान आऩका हो जाएगा

एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ

1 हय ऩर ऩयभातभा आऩको पमाय खशी शाॊतत औय आनॊद की शाशवत सौगात द यहा ह

2 हय इॊसान अऩन आऩ भ फलभसार औय अनठा ह 3 एक फाय ददर स मह भहसस कीजजए कक हय इॊसान फहद गणी ह औय कपय

जाद दणखम 4 आऩ जो अऩन लरए चाहत ह उस ऩहर दसयो को दना सीणखम 5 जवाफ तो सवार भ ही छऩा होता ह मह तो दखन वार ऩय तनबपय कयता ह 6 जीवन भ परभ आऩकी रह को ताज़ा कयन वारा एक फहद खास तोहपा ह 7 हय ददन को खद ऩय भहनत कयत हए मादगाय फनाम 8 हय ददन खलशमाॉ अऩन चायो तयप फाॊट औय हय ददन खश यह 9 जजस फात को हभ सच भन रत ह वही हभाय लरए सच फन जाती ह बर ही

वह असलरमत भ झठ ही तमो न हो 10 भजफत इॊसान हभशा भजफत रयशत फनाता ह 11 हभ सबी खद भ अनभोर उऩहाय सॊजोए हए ह 12 सच का समभान कयना सचभच आऩको फलभसार फनाता ह 13 आऩकी आॉख ही आऩक सऩनो की सचचाई फमाॉ कय दती ह 14 आऩकी सोच हय ददन आऩकी जजॊदगी का तनभापण कयती ह 15 पमाय इॊसान आऩ एक फाय अऩन अॊदय की आॉख तो खोलरम आऩक चायो

तयप गजफ क परगतत क अवसय हय ऩर भौजद ह 16 गरत मा सही हारात नहीॊ आऩका नजरयमा होता ह 17 अऩन आऩ को जानना एक ददन आऩकी सफस फड़ी खशककसभती फन जाती ह 18 आऩक डय आऩकी काभमाफी क दयवाजो ऩय तारो क सभान ह

19 आऩ जो दखत ह औय सनत ह वही आऩकी सोच फन जाती ह 20 सवा कयक खश यहना राज़भी ह 21 आऩ दसयो को कवर वही दीजजए जो आऩ अऩन लरए चाहत ह 22 आऩक काभ बफलकर ऩयी तयह स आऩकी सोच की तसवीय होत ह 23 पमाय इॊसान इस जगत भ कोई अऩना ऩयामा ह ही नहीॊ ह 24 आऩकी काभमाफी भ सभसत रवशव की खशहारी छऩी ह 25 हय ददन खद को खद ऩय रवशवास कयना आऩ जरय लसखाम 26 खद स ईभानदाय होकय ही आऩ खद की नज़यो भ ऊॉ चा उठ सकत ह

27 अऩन आऩ स जड़ना ही खशी का भर भॊतर ह

काभमाफ ववचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

1 हय नई भजशकर आऩक साभन एक नए भौका का ऩरयचम कयाती ह 2 आऩकी काभमाफी ईशवय का सऩना ह 3 आऩकी काभमाफी समऩणप भानवता की काभमाफी ह 4 आऩका रकषम भानवता की सवा कयना होना चादहए 5 आऩ हय ददन खद को एक फहतय इॊसान फना सकत ह 6 आऩ हय वमजतत को ददर स आदय द सकत ह 7 आऩ हय ददन अऩन जीवन क परतत सचचा आबाय वमतत कय सकत ह 8 आऩ हय उस वमजतत को खशी-खशी भाफ़ कय सकत ह जजसन कबी जान

अनजान भ आऩका ददर दखामा ह 9 आऩको हय ददन मह जरय सोचना चादहए कक आज आऩ अऩन जीवन को

एक नए सतय तक कस र कय जा सकत ह 10 आऩका जीवन आऩक दवाया गामा गमा एक शानदाय गीत होना चादहए

11 आऩ जजतना जमादा सवा कयन क लरए सभरऩपत होग उतना ही जमादा आऩका जीवन सौबागम क गीत गाएगा

12 आऩ एक नई तनगाह अऩना कय बफरकर एक नई दतनमा को दखन का सौबागम परापत कय सकत ह

13 हय ददन नमा सीख कय हय ददन को समभान दीजजए 14 खद को आज ही ककसी ईभानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दीजजए

कीकजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

आऩ अऩनी सफह को सचभच हय ददन योशन कय सकत ह आऩ हय सफह अऩन आऩ को ऩय ददन क लरए फलभसार अॊदाज भ तमाय कय सकत ह आऩ सफह जलदी उठन का साहलसक तनणपम र सकत ह आऩ हय सफह 5 फज उठ कय अऩनी हय सफह को समभान द सकत ह आऩ हय सफह उठत ही ईशवय को धनमवाद द सकत ह कक उनहोन आऩको एक नमा ददन वयदान क तौय ददमा ह औय आऩ इस ददन का सदऩमोग कयन का सचचा वामदा खद स कय सकत ह आऩ अऩन भाता रऩता क लरए शकरगजाय हो सकत ह आऩ अऩनी अचछी सहत क लरए ईशवय क शकरगजाय हो सकत ह कपय आऩ 20 लभनट की कसयत मा मोग कयन का गजफ का शजततशारी तनणपम र सकत ह उसक फाद आऩ 20 लभनट तक कोई बी परयणादामी ऩसतक ऩढन का अभय तनणपम र सकत ह ऩसतक जस रोक वमवहाय साध जजसन समऩतत फच दी आऩकी भतम ऩय कौन योएगा सोचचम औय अभीय फतनए सोच फदरो जजॊदगी फदरो फड़ी सोच का फड़ा जाद सपरता का अभत रयच डड ऩअय डड औय मह सची सचभच फहत ही रमफी ह तमोकक आऩ ककसी बी हद तक खद का तनभापण कय सकत ह औय दसया सीखन की सचभच कोई सीभा ह ही नहीॊ ह

कपय आऩ 20 लभनट तक अऩना जनपर लरख सकत ह जनपर का अथप एक ऐसा सथान ह जहाॉ आऩ हय ददन की अऩनी परगतत की मोजना हय ददन की लशा हय ददन की कामप सची हय ददन की परयणा हय ददन की यचनातभक यणनीतत लरख सकत ह जनपर लरखना एक फलभसार आदत ह आऩ आज स ही जनपर लरखन की अभय आदत शर कय सकत ह आऩ अऩन जनपर भ कभार क परयणा दन वार अभय रवचाय सफह सफह लरख कय खद को एक फलभसार रवजता की तयह तमाय कय सकत ह

म तीन ऐस गजफ क साहलसक तनणपम ह जो आऩको एक शानदाय असयदाय औय फलभसार जीवन का भागप ददखाएॊग आऩ अनभोर ह आऩ एक शानदाय जीवन जीन क सचचा हक यखत ह आऩ आज स ही अऩनी सोच को एक शानदाय जीवन जीन क लरए तमाय कय सकत ह माद यणखम दयी हभशा आऩकी तयप स होती ह आऩका बागम औय आऩकी सपरता तो हय ऩर आऩक ऩास आन क लरए फताफ होती ह आऩ आज स ही जीतन की तनणपम रकय जीतन की शरआत कय सकत ह

आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह

कछ ह ऐसा आऩक बीतय जो आऩको ऩयभ सौबागमशारी फनाता ह

कछ ह ऐसा ऻान जीवन भ जजस आतभ-ऻान कहा जाता ह जजस ऩाकय आऩ जीवन की समऩणपता को ऩा रत ह

कछ ह ऐसा हय सॊकट भ जो आऩका गजफ का रवकास कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी सोच भ जो आऩक जीवन क सच का हय ददन तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी तनमत भ जो हय ददन आऩकी तनमतत का तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩक दखो भ जो आऩको सख क लरए तमाय कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय ददन भ जो आऩको उऩहाय जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा हय हाय भ जो आऩको जीत जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा फड़ी सोच भ कभार का जाद जो आऩका फड़ा पामदा कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय इॊसान भ जो आऩक लरए लशा होता ही होता ह

कछ ह ऐसा आऩक जीवन क रकषम भ जो आऩक जीवन को भहान फनाता ही फनाता ह

आऩ सौबागम की सॊतान ह आऩका जनभ ऩयी सजषट क लरए ऩयभ सौगात ह

खद ऩय रवशवास कय औय इततहास यच

चमरए एक शानदाय कजॊदगी की ओय

1 सीखन की सोच ही जीतन की सोच का तनभापण कयती ह 2 एक इॊसान जीवन भ ककतना परापत कय सकत ह इसकी सीभा लसवाम उस

इॊसान क कोई दसया तम नहीॊ कय सकता 3 अऩन काभ (योजगाय) ऩय गवप कीजजए 4 आऩ जीवन भ काभमाफ होन की औय आग फढ़न की हय एक करा

तनजशचत रऩ स सीख सकत ह 5 आज स ही आऩ अऩन बीतय छऩी अनॊत शजततमो क परतत जागरक होना

शर हो जाइए 6 आज का ददन आऩको जीवन की ओय स लभरा एक शानदाय वयदान ह 7 सफह जलदी उदठए 8 हय ददन अऩन ददन की शानदाय शरआत कीजजए 9 तनसवाथप सवा भ आनॊद छऩा होता ह उस आनॊद का जीवन भ हय ददन

आनॊद जरय रीजजए 10 हभ सफ आऩस भ जड़ हए ह हभ सफ एक ह

11 जहान तक आऩ दख सकत ह वहाॊ तक आऩकी दतनमा परती चरी जाती ह

12 आऩ खद को एक शानदाय औय कभार की जजॊदगी जीन क लरए आज स ही तमाय कय सकत ह

13 आऩकी नमा सीखन की शजतत आऩक लरए एक फहत फड़ी सौगात ह 14 आऩक सॊकट आऩक ऩतक शबचचॊतक होत ह 15 भजशकर यासता ही आऩक जीवन को तनखायता ह

जीवन क 21 ऩयभ सतम

ऩयभ सतम 1

चभतकाय वो नहीॊ होता ह जो सॊकट की जसथतत भ आऩक साथ होता ह फजलक वो ह जो सॊकट का साभना कयत हए आऩक अॊदय होता ह

ऩयभ सतम 2

रवऩजतत भ ही समऩजतत का वास होता ह

ऩयभ सतम 3

हय ऩर आऩकी सोच आऩका बागम फना यही ह

ऩयभ सतम 4

कछ बी नमा सीखन क लरए सयर खरा औय उतसक रदम चादहए

ऩयभ सतम 5

जजतना आऩ खद को शजततशारी भानत ह उसस कहीॊ जमादा आऩ शजततशारी ह

ऩयभ सतम 6

हय एक इॊसान क बीतय काबफलरमत फदहसाफ ह

ऩयभ सतम 7

हयानी इस फात की नहीॊ ह कक आऩभ भता नहीॊ ह फजलक इस फात की ह कक आऩको अऩनी भता का ऩता ही नहीॊ ह

ऩयभ सतम 8

हय ऩर आऩक लरए खद को पमाय कयन का औय खद की सचची कदर कयन का एक भौका ह

ऩयभ सतम 9

जो आऩक अऩन बीतय होता ह वही आऩको चायो ओय ददखाई ऩड़ता ह

ऩयभ सतम 10

आऩकी जजॊदगी आऩक हाथ अगय ऐसा सभझोग तो आऩको लभरगा हय ऩर समऩणप रवशव का साथ

ऩयभ सतम 11

आऩक जीवन भ दबापगम आता ही आऩको सौबागम क भागप ऩय र कय जान क लरए ह

ऩयभ सतम 12

लभरता ह सफ कछ महाॉ उस जो ऩय ददर स भाॉगन की दहमभत यखता ह

ऩयभ सतम 13

अगय आऩको ऐसा रगता ह कक आऩको बगवान स कछ बी नहीॊ लभर यहा ह तो भय पमाय भनषम अबी इसी ऩर अऩन दोनो हाथो को खोर रीजजए तमोकक बगवान की कऩा हय ऩर हय एक ऩय फयस यही ह

ऩयभ सतम 14

भहनती आदभी जफ चरता ह तो उस हय तयप स सराभ फजत ह

ऩयभ सतम 15

हय ऩर आऩक ऩास एक चनाव ह कक आऩ अऩनी जजॊदगी को जो चाहो फना रो

ऩयभ सतम 16

बगवान की कऩा हय सचच औय भहनती इॊसान ऩय होती ह औय जफ होती ह तो भसराधाय होती ह

ऩयभ सतम 17

सभम फदर जाता ह औय ऩरयजसथतमाॉ फदर जाती ह भगय जीवन क भर सतम नहीॊ फदरत

ऩयभ सतम 18

आऩ अऩन ददभाग का भजशकर स 1 ही उऩमोग कयत ह

ऩयभ सतम 19 अऩन ददभाग को हय ददन खयाक दीजजए तमोकक एक फाय अगय इसन अऩन जाद ददखाना शर कय ददमा तो आऩक सात ऩशतो को भाराभार कय दगा

ऩयभ सतम 20

अऩन बीतय भौजद ऩयभ ऩजम ईशवय को हय ऩर समभान दीजजए

ऩयभ सतम 21

आऩ अनभोर ह आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह

जीवन भ एक चनौतीऩणथ रकषम होन क पामद

जफ आऩ खद को ककसी शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दत ह तबी स ही आऩक आतभ रवकास का फलभसार सफ़य शर हो जाता ह

आऩ हय ददन नमा सीखना शर कय दत ह

आऩ हय इॊसान की कदर कयना शर कय दत ह

आऩ नई-नई औय परयणादामी ऩसतक ऩढना शर कय दत ह

आऩ खद को एक भहततवऩणप वमजतत भानना शर कय दत ह

आऩ भहानता स सजा जीवन जीना शर कय दत ह

आऩ जीवन को एक उऩहाय की तयह जीना शर कय दत ह

आऩ हय ददन उतसादहत औय खश यहना शर कय दत ह

आऩ रगाताय रवकास कयना शर कय दत ह

आऩ एक शानदाय सहत का आनॊद हय ददन रना शर कय दत ह

आऩ हय ददन आचथपक रऩ स सभदध होत जात ह

आऩ एक चरऩमन फनन की याह ऩय चर दत ह

आऩ हय ददन जीवन क परतत एक सकायातभक औय उतऩादक नजरयमा यखना शर कय दत ह

आऩ भानवता क लरए एक ऩॊजी फन जात ह

आऩ खद स सचचा पमाय कयन रगत ह

जीवन

जीवन एक उऩहाय ह

जीवन एक शानदाय अवसय ह

जीवन एक सौगात ह

जीवन एक फलभसार भौका ह खद को ऩा रन का

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक खफसयत सौबागम ह

जीवन सीखना ह

जीवन एक उतसव ह

जीवन एक आनॊद ह

जीवन ईशवय का परसाद ह

जीवन खद को जानना ह

जीवन एक गजफ का फशतप उऩहायो स सजा गरदसता ह

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक सौबागम ह

जीवन जीवन ह

भहान रोगो की भहान आदत

भहान रोग धमान स साभन वार की फात सनत ह

भहान रोग अऩन जीवन को एक चनौतीऩणप रकषम का वयदान दत ह

भहान रोग हय ददन अऩन काभकाज क तहत अऩन जनन का ऩीछा कयत ह

भहान रोग अऩन जीवन को भहान रवचायो क अनसाय चरात ह

भहान रोग भहान रोगो क साथ ही अऩन सभम को बफतान का चनाव कयत ह

भहान रोग रगाताय अचछी ककताफ ऩढ़त ह

भहान रोग रगाताय असपर होत ह इसीलरए भहान रोग कबी न रकन वार होत ह तमोकक असपरता उनह डयाती नहीॊ ह फजलक उनह ओय जमादा तनखयन क लरए पररयत कयती ह

भहान रोग हय ददन नमा सीखत ह

भहान रोग अऩन कामो क कायण भहान फनत ह

भहान रोग रगाताय खद क ही रयकॉडप को तोड़त यहत ह

भहान रोग खद की जफयदसत कदर कयत ह

भहान रोग सचभच भहान सोच क भालरक होत ह

भहान रोग हभशा बीड़ स हट कय सोचत ह

भहान रोग रोगो की सचची कदर कयत हए उनस नमा सीखत यहत ह

भहान रोग रोगो की सवा कयन भ भादहय होत ह

भहान रोग भाॉ क ऩट स भहान ऩदा नहीॊ होत जीवन भ अऩन दवाया ककम गए कामो स वह भहान फनत ह औय ऐसा अवसय ईशवय न आऩको बी परदान ककमा ह

आऩ बी आज स एक भहान इॊसान क तौय ऩय अऩन जीवन को जीन का चनाव कय सकत ह

सॊकट क 15 शानदाय राब

1 सॊकट आऩका रवकास कयता ह 2 सॊकट आऩको नमा लसखाता ह 3 सॊकट आऩको सौबागम का उऩहाय दता ह 4 सॊकट आऩको एक फहतय वमजतत फनाता ह 5 सॊकट तफ तक आता ह जफ तक आऩभ नमा सीख कय जीवन भ नए सतय

तक ऩहॉचन की सचची मोगमता भौजद यहती ह 6 सॊकट आऩका सपरता क सफ़य भ सचचा साथी होता ह 7 सॊकट को सॊकट की तयह दखना ही सचभच सॊकट ह 8 सॊकट एक ऐसा शानदाय भौका होता ह जो आऩको हय हार भ सौबागम का

ही वयदान दना चाहता ह 9 सॊकट अगय ह तो आग फढ़न क औय नमा सीखन क यासत ह 10 सॊकट आऩको ददखाई तफ दता ह जफ आऩका अऩन रकषम क परतत सभऩपण

कभ हो जाता ह

11 सॊकट का साभना कीजजए औय सॊकट को जीत रीजजए 12 हय ददन एक नमा सॊकट आऩक जीवन भ आना आऩक लरए फहद शब ह 13 नमा सॊकट भतरफ नमा अवसय जीवन भ एक कदभ औय आग फढ़न का 14 सफस फड़ा सॊकट ह आतभ-अऻान 15 आऩको सॊकट दना जीवन का एक नामाफ तयीका ह आऩको आऩकी अॊदरनी

शजतत स लभरान का

सपरता क 15 अभय सतर

1 अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का वयदान दीजजम 2 हय ददन सफह जलदी उदठए औय अऩनी सोच को जफयदसत सकायातभक

फनान क लरए परयणादामी ऩसतक ऩदढ़ए 3 हय ददन को खद को ओय जमादा भजफत फनान क एक शानदाय अवसय

क तौय ऩय दणखम 4 हय सॊकट को तयतकी क फलभसार भागप की तयह दणखम 5 हय इॊसान स कछ न कछ सीखन की सोच यखत हए फात कीजजए 6 हय ददन नमा सीख कय हय ददन का समभान कीजजए 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजम 8 हय ददन कसयत कीजजए तमोकक आऩकी सहत आऩकी काभमाफी भ अहभ

बलभका तनबाती ह 9 आऩकी अॊदरनी शजतत वाकई अनॊत ह 10 आऩ ऩय रवशव क लरए फहद बागमशारी ह 11 आऩकी सफस फड़ी काबफलरमत आऩकी हय ददन रवकास कयत हए आऩक

जीवन को फलभसार फनान की काबफलरमत ह 12 आऩ अऩन बागम क एकरौत भालरक ह 13 सपरता का सचचा अथप ह खद को हय ददन इॊसातनमत क रवकास भ

साथपक मोगदान क लरए रामक फनाना 14 सपर होन का सथामी तयीका ह खद को इॊसातनमत की जडो को ऩोषण

दन क लरए फशतप सभरऩपत कय दना

15 आऩ एक मोगम फलभसार औय शानदाय वमजतत ह

सौबागम क ऩववतर फीज

1 जफ आऩ खद सही नजरयमा अऩना रत हो तो आऩका सफ कछ सही हो जाता ह

2 ककसी इॊसान को आऩ ककस तनगाह स दखत हो साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह

3 ककसी काभ को आऩ ककस तनगाह स दखत हो इसक भताबफक ही आऩको वह काभ ऩरयणाभ दता ह

4 आऩकी सोच क ऊऩय उठन स ही आऩ ऊऩय उठ सकत ह 5 जो आऩको जीवन भ खशी औय काभमाफी क लरए जरयी साभान चादहए वह

सफ कछ ऩहर स ही आऩक बीतय ह 6 हय एक इॊसान अदबत ह तमोकक हय इॊसान क ऊऩय ईशवय की ऩरवतर भोहय

ह 7 जो इॊसान खद स खश ह वही दतनमा की खशहारी भ सचचा मोगदान द यहा

8 हय ऩर हभ सफक ऩास अनॊत-अनॊत भातरा भ वह सफ कछ भौजद ह जो हभ सचभच खश यहन क लरए चादहए

9 आऩ जीवन क परतत शकरगजाय हो कय फहत जमादा बागमशारी फन सकत ह 10 खद परकाश का ददवम सतरोतर फन जाना ही सवोतभ उऩाम ह 11 आऩको जफ आऩ ही नहीॊ ऩहचान यह ह तो ककसी औय स ऐसी उमभीद तमो

कय यह ह

12 गजफ ह कक हय इॊसान खद भ अनॊत शजतत का भहासागय सॊजोए हए ह कपय बी कहता ह कक भ कभजोय हॉ

13 आऩका बागम बगवान जी नहीॊ फजलक आऩकी सोच औय आऩकी भहनत लरखती ह

14 भहनती क घय रकषभी नाचती ह 15 काश भ आऩको फता ऩता कक आऩका जीवन ककतना जमादा अनभोर ह 16 जो खद को याह ददखा ऩा यहा ह सचभच दसयो को याह ददखान का हक बी

उसको ही ह 17 सफ कछ तो अबी इसी ऩर भौजद ह हभ ही कहीॊ औय उरझ हए ह 18 काभमाफ होन का भौका तो हय एक को हय ऩर लभर यहा ह ऩय भौका

अतसय भसीफतो क कऩड़ ऩहन कय आता ह 19 रवऩजतत भ ही समऩजतत छऩी होती ह 20 हभ सफ फदहसाफ शजतत क अनभोर खजान ह 21 कछ ह हभाय बीतय जो सदा स ह औय सदा ही यहन वारा ह 22 दखन वार क अॊदय ही वह छऩा ह जजस दखा जाना ह 23 आऩक भाता-रऩता का आशीवापद आऩक लरए फहद अनभोर ह 24 हभ खद ही खदा स लभरन भ सफस फड़ी ददतकत ह 25 साफ़ तनमत आऩको गजफ की फयकत दती ह 26 भजफत इयाद भजफत ऩरयणाभ रकय आत ह 27 जफ इॊसान खद भ रवशवास ददखाना शर कयता ह वहीी स उसक जीवन भ

चभतकाय होना शर हो जात ह 28 रगाताय खद ऩय भहनत कीजजए मह इकरौता तयीका ह ईभानदाय सपरता

परापत कयन का 29 आऩक दवाया आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩको फनान

औय लभटान दोनो की जादई मोगमता यखत ह 30 खोज यह ह हभ बफना मह ऩता कक खोजना तमा ह

हय ददन खद को ननखाय

हय ददन खद को तनखायना ही हय ददन का सचचा समभान कयना ह आऩकी हय ददन सफह उठत ही ऩहरी पराथलभकता मह होनी चादहए कक ककस तयह आऩ आज क ददन को अऩन जीवन का सफस खास ददन फना सकत ह हय नमा ददन आऩको नए अवसय उऩहाय भ दता ह हय ददन का खर ददर स सवागत कीजजए हय ददन नमा सीणखम हय ददन खद को पमाय दीजजम हय ददन अचछ औय सवमॊ को ऩोरषत कयन वार रवचाय सतनम हय ददन अऩन नजरयए को गजफ का सकायातभक यणखम हय ददन आऩकी सचची सवा कयत हए आऩको अनको परगतत क अवसय दता ह आऩ हय ददन नए रोगो स लभर हय ददन नए सऩन दख हय ददन कसयत कय हय ददन का आबाय खर ददर स परकट कय हय ददन अऩन रकषम की ददशा भ जरय फढ़ हय ददन एक कदभ उठाम अऩन आऩ को एक फहतय इॊसान फनान की ददशा भ हय ददन अऩन जीवन क सचच उददशम क परतत सभरऩपत यह हय ददन हय एक वमजतत स खफ उतसाह स लभर हय ददन ऩसतक ऩढ़ हय ददन अऩन रकषमो को लरख हय ददन कछ सभम अकर भ बफताम हय ददन अऩन जीवन भ शकरगजाय होन क नए नए भौक तराश हय ददन अऩन आऩ को एक गहया वमजतत फनाम हय ददन खद को समभान दत हए हय ददन खद का तनभापण कय हय ददन अऩन काभ को सभरऩपत होकय कय हय ददन भहान रोगो क रवचाय ऩढ़ हय ददन सॊकटो को सौबागमो भ फदर द

धनमवाद ऩतर

इस ऩसतक को अऩनान क लरए औय इसभ छऩ भहान सपरता क सचच सॊदश को समभान दन क लरए आऩको ददर स धनमवाद दत ह आऩका जनभ सचभच एक भहान जीवन जीन क लरए हआ ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आज स ही आऩ अऩन सऩनो का जीवन जीन का सचचा तनणपम र सकत ह आऩको एक शानदाय जीवन जीन का सचचा हक दन वार ईशवय को ददर स धनमवाद हभायी ऩहरी ऩसतक सपरता का अभत को ददर स अऩनान क लरए एक फाय कपय स आऩको धनमवाद

रवशष आबाय

इस शानदाय सऩन को सच फनान भ आऩ सबी का फहद अहभ मोगदान यहा ह -

पमाय ईशवय को रवशष आबाय पमाय भाता रऩता का रवशष आबाय हभाय सबी आरोचको का रवशष आबाय हभाय सलभनायो भ आम हजायो रोगो को रवशष आबाय सभाज भ अऩन अऩन अॊदाज भ सकायातभक ऊजाप परान वार हय एक आदय मोगम बाई औय फहन को ददर स आबाय

औय आऩको आबाय

आऩक बीतय छऩी आऩको भहान फनान की फलभसार ताकत को आबाय

आऩ अनभोर ह

आऩ अनभोर ह

Page 7: सफलता का अमृत 2

32 याह एक आरीशान जीवन की ओय

1 खद को जातनए औय खद को ऩा रीजजए 2 आऩक रवचाय ही आऩका सॊसाय ह 3 आऩका वमवहाय ही आऩकी ऩॊजी ह 4 आऩ कछ बी सीख सकत ह औय कछ बी फन सकत ह 5 सऩन ऩय कयन क लरए सऩन जरय दणखए 6 आऩका सभऩपण आऩकी सपरता को आकरषपत कयता ह 7 कवर सतम ही आऩको भतत कयन की शजतत यखता ह 8 हय ददन नमा सीखना हय ददन जीना ही तो ह 9 आऩकी ककसभत खयाफ ह मह लसपप आऩका एक रवचाय ही तो ह 10 खद को हय ददन काबफर फना कय आऩ कछ बी परापत कय सकत ह 11 आऩ खद ऩय हय फाय ऩया बयोसा कय सकत ह 12 जीवन हय ऩर आऩको खद को रवकलसत कयन क फदहसाफ अवसय द यहा

ह 13 जजतना आऩ खद को जानत जात ह उतना ही खद ऩय आऩको रवशवास

होता जाता ह 14 आऩ अऩन बागम की जजमभदायी खद रकय सचभच बागमशारी फन सकत

ह 15 आऩका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह 16 सच मह ह कक आऩकी शजतत अनॊत ह 17 आऩकी फाहय की दतनमा आऩकी बीतय की दतनमा का दऩपण भातर ह 18 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 19 सवा कयक सचभच शाॊतत लभरती ह

20 खद को जान रन क फाद खद स फशतप परभ खद फ खद हो जाता ह 21 ऩयी तयह सपर औय ऩयी तयह असपर कोई इॊसान ह ही नहीॊ ह 22 आनॊद को आऩ खोजत तो फाहय ह भगय होता मह आऩक अऩन ही अॊदय

ह 23 जो आऩ दखना चाहत ह आऩ लसपप वही दख ऩात ह 24 एक शानदाय जीवन जीना आऩका हक ह

25 सचची अभीयी आतभ ऻान ह 26 सॊकट आता ही आऩको भजफत फनान क लरए ह 27 जजतन आऩ खद स ईभानदाय होग उतना ही आऩ खद का आदय कयग 28 आतभ रवशवास स ऩहर आतभ ऻान आता ह 29 अगय आऩ जजॊदा ह तो आऩको जीवन क परतत तनयाश होन का कोई हक

नहीॊ ह 30 आऩ अऩन आऩ क लरए फहद बागमशारी ह 31 खद को खोजजए 32 सभरदध आऩका सचचा हक ह

75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

1 Laugh daily

2 Exercise daily

3 Dream daily

4 Think bold daily

5 Read daily

6 Imagine daily

7 Live life of purpose daily

8 Learn from your past

9 Discover your calling

10 Leave the crowd

11 Honor your intuitions

12 Write your goals daily

13 Be yourself

14 Challenge your challenges

15 Become a better person every day

16 Serve humanity

17 Learn from wisdom quotes

18 Write and frame the purpose of your life

19 Problems are platforms

20 Grow your consciousness every day

21 Design your life every day

22 Make your thinking your biggest asset

23 Work hard to work smarter

24 Hard work is good for your health as well

25 Live life like a life passionate lover

26 Expand your thinking every day

27 Celebrate your daily performance

28 Develop yourself daily

29 Respect yourself

30 Create your luck

31 Listen audio programs on personal development daily

32 Sleep less to grow more

33 Go for wisdom

34 Choose wisdom over knowledge

35 Work on your inner life

36 Dedicate yourself towards life-long learning

37 Discover your inner strength

38 Think different to think like tycoons

39 Wake up at 5am daily

40 Adopt a belief system of winners

41 Lead life to live life

42 Express your genius through your work daily

43 Write in a journal daily

44 Think long term

45 Be a passionate life learner

46 Visit library once in a week

47 Commit to working hard till your last breathe

48 Your language is your presentation

49 People who give up are the losers

50 Run your own race

51 Mastery attracts challenges continuously

52 Leave the crowd to lead the crowd

53 Champion your thoughts to champion your life

54 Daily hard work attracts mastery

55 Live your life as per your inner taste

56 Practice rare stuff to get rare results

57 Win in mind first to win in actual

58 Believe in yourself to achieve the impossible

59 People always laugh at man on progress

60 Spend more time with creative people

61 Be lady gaga of your field

62 Be Nelson Mandela of your field

63 Be bill gates of your field

64 Be J K Rowling of your field

65 Go deep to know things deeply

66 Dare to see the picture behind every picture

67 Selfish people are liability even for their own selves

68 Dream bold dreams to check your true inner power

69 Your mind power is infinite

70 Dare to think beyond the crowd

71 Listen to your heart to be a brand

72 Struggle gifts strength

73 Purpose of life is becoming more helpful for humanity every single day

74 Selfless people are history makers

75 Life is an awesome gift of god to you

HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR

GOD 1 Donrsquot disgrace god by playing small with your inner infinite creative

potential

2 God has gifted you with inner infinite creative potential

3 Within you lies the treasure of inner infinite creative potential

4 Your success is godrsquos success

5 Your success is humanityrsquos success

6 Your success is success of that power which lies every single second within

you

7 You are a master-piece and original kindly donrsquot imitate someone

8 You have infinite seeds of greatness within you

9 You have the power to manifest your ultimate destiny

10 Biggest resource that you are having at this moment is your decision to

choose your destiny

11 Be a leader and gift yourself a vision for your life

12 Every single day is a world class platform to become more and achieve more

as a person

13 You shine when you face adversity

14 Problems are your honest servants as they serve you by developing you

15 You must master your thinking to master your destiny

16 You are free if you are rightly educated

17 You have the power to live your life in your style

18 Run your own race to win the race with grace

19 Bigger the obstacle bigger the rewards

20 Harder you work smarter you become

INNER WEALTH

Inner wealth is open to all of us

Inner wealth is actual wealth

Inner wealth is infinite for all of us

Inner wealth can be achieved by becoming a better person every day

Inner wealth can be achieved by discovering your calling

Inner wealth can be achieved by challenging yourself for better

Inner wealth is a gift that one can as a result of his daily inner growth

Inner wealth gives you joy as it is a result of your daily self-realization

Inner wealth is obtained when it becomes ultimate aim of your life

Inner wealth is obtained by life visionaries

Inner wealth is achieved by leaving the crowd and listening to your own heart

Inner wealth is achieved by those who refuse to give up at the times of pains and

challenges

Inner wealth is achieved by people who are truly passionate about achieving inner

wealth

अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

1 आऩ एक शानदाय जीवन जी सकत ह 2 आऩ एक परचयता स बया जीवन जी सकत ह 3 आऩ शकरगजायी की भहान बावना स सजा जीवन जी सकत ह 4 आऩ भानवता क फलभसार इततहास भ अऩना नाभ दजप कया सकत ह 5 आऩ गजफ क आतभ रवशवास क भालरक हो सकत ह 6 आऩ एक अभीय औय बफलकर खशहार जजॊदगी हय ददन जी सकत ह 7 आऩ इस फात की ऩयवाह ही नहीॊ कयग कक रोग आऩको तमा कहत ह 8 आऩ हय ददन सभरदध की सीढ़ी चढ़त जात ह 9 आऩ हय इॊसान को आदय क बाव स दखन रगत ह 10 आऩ खद स फदहसाफ पमाय कयन रगत ह 11 आऩ सचभच जीवन का समभान कयन रगत ह 12 आऩ परकतत क यहसमो को धीय-धीय सभझन रगत ह 13 आऩ भानवता क सचच सवक फनन रगत ह

14 आऩ जीवन भ ककसी बी भकाभ तक आसानी स ऩहॉच सकत ह 15 आऩ हय वो सऩना सच कय सकत ह जजस आऩ हभशा स दखत आम ह 16 आऩ ऩयी भानवता को सचभच याह ददखा सकत ह 17 आऩ सचभच एक फलभसार जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह

अभीय सोच सचभच आऩको अभीय फना दती ह वाकई अभीय सोच कोई बी अऩना कय अभीय फन सकता ह अभीय सोच क कछ रण इस परकाय ह

1 अभीय इॊसान अऩन जीवन की जजमभदायी खद रता ह 2 अभीय इॊसान हय ददन नमा सीखता ह 3 अभीय इॊसान सॊकट को सपरता की नीॊव सभझता ह 4 अभीय इॊसान जीवन को एक वयदान की तयह जीता ह 5 अभीय इॊसान हय ददन खद को तनखायता ह 6 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी जजॊदगी उसक खद क रवचायो का ही

परततबफॊफ होती ह 7 अभीय इॊसान अभीय रोगो की सोच की सचभच कदर कयता ह 8 अभीय इॊसान हय ददन को परगतत कयन क भॊच क तौय ऩय दखता ह 9 अभीय इॊसान सचभच खद भ रवशवास कयता ह 10 अभीय इॊसान फड़ धमान स सनता ह 11 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी ककसभत उसक अऩन ही हाथ भ ह 12 अभीय इॊसान नए-नए रोगो स रगाताय लभरता ह ताकक अऩन काभ को औय

अचछ तयीक स कय सक 13 अभीय इॊसान हय ददन अचछी ऩसतक ऩढता ह 14 अभीय इॊसान हय ददन सऩन दखता ह 15 अभीय इॊसान जीवन को ऩय उतसाह क साथ जीता ह 16 अभीय इॊसान मह भानता ह कक उसकी भहनत हय ददन उस परगतत क नए-

नए अवसय दती ह 17 अभीय इॊसान खरकय अभीयी क रवचाय सबी स साॊझ कयता ह

18 अभीय इॊसान सचभच चाहता ह कक जमादा स जमादा रोग सभरदध का जीवन जीम

19 अभीय इॊसान ददर स मह सभझता ह कक अभीयी सचभच हभाय अऩन ही हाथ की फात ह

20 अभीय इॊसान सचभच सवा कयत हए अभीय फनता ह 21 अभीय सोच का अथप ह कक सभाज की सवा कयन की सचची औय ईभानदाय

सोच यखना 22 अभीय सोच का अथप ह कक जीवन का समभान कयत हए जीवन को ऩय जोश

औय उतसाह क साथ जीना

असपरता का सचचा अथथ

1 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ रगाताय परमास कय यह ह 2 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ अऩनी सोच को हकीत भ फदरन

की जादई ताकत यखत ह 3 असपरता आऩको भजफत फनाती ह 4 असपरता आऩको शानदाय अनबव दती ह 5 असपरता आऩको जीवन भ कछ फड़ा कयन की गजफ की परयणा दती ह 6 असपरता आऩको बीड़ स अरग कयत हए इततहास यचन वारो क फीच

राकय खड़ा कय दती ह 7 असपरता आऩको ऩयी ताकत क साथ दोफाया शर कयन की परयणा दती

ह 8 असपरता आऩकी सोच को गहया फना दती ह 9 असपरता सपरता की जड़वाॉ फहन ह 10 असपरता आ यही ह भतरफ आऩ अऩना सवोतभ दन का रगाताय

परमास कय यह ह 11 असपरता आऩको हय ददन अरग अरग तरो भ लभरती ही यहती ह जफ

बी आऩ कछ नमा कयन की कोलशश कयत ह 12 असपरता आऩकी परगतत क लरए फहद जरयी ह 13 असपरता आऩको एक फाय कपय नमा सोचन का अवसय दती ह 14 असपरता ही आऩकी सपरता फन जाती ह जफ आऩ इसस लशा रकय

जीवन भ एक कदभ ओय आग फढ़ जात ह 15 असपरता आऩकी आवाज भ लभठास औय रवनमरता रकय आती ह

असाधायण रोगो क 10 फमभसार गण

1 असाधायण रोग हय ददन एक सऩषट जीवन रकषम क साथ आग फढ़त ह 2 असाधायण रोग हय ददन नमा सीखत ह 3 असाधायण रोग हय ददन जमादा स जमादा सपर रोगो क साथ अऩना नटवकप भजफत कयत ह 4 असाधायण रोग हय ददन सऩन दखत ह 5 असाधायण रोग इस फात भ गहया रवशवास कयत ह कक जीवन भ ककसी बी इॊसान क लरए कोई कभी नहीॊ ह अभीय इॊसान नहीॊ अभीय दयअसर एक सोच होती ह जजस कोई बी इॊसान अऩना सकता ह 6 असाधायण रोग दसय रोगो क रवकास भ अहभ बलभका तनबात ह 7 असाधायण रोग ईशवय क दवाया हय इॊसान को ददए गए चायो उऩहायो (शयीय भजसतषक रदम आतभा) का हय ददन बयऩय उऩमोग कयत ह 8 असाधायण रोग अऩनी फात को कहन की करा भ खद को तनऩण फनात ह 9 असाधायण रोगो की दोसती बी असाधायण रोगो क साथ ही होती ह तमोकक आऩक दोसत आऩक बागम क तनभापण भ फहत जरयी बलभका तनबात ह 10 असाधायण रोग हय ददन अऩन काभ का पीडफक रत ह औय खद को हय ददन भजफत फनात ह

आऩ एक वयदान ह

आऩ अनभोर ह

आऩ फलभसार ह

आऩ अनॊत शजतत क भालरक ह

आऩ फलभसार काबफलरमत का खजाना सवमॊ भ सॊजोए हए ह

आऩकी कलऩना शजतत अनॊत ह

आऩका भजसतषक एक गजफ का ताकतवय कॊ पमटय ह

आऩकी ककसभत शानदाय ह

आऩ अऩन जीवन को ककसी बी ददशा भ र जा सकत ह

आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह

आऩ भानवता की सवा कयक भहान फनन का चनाव कय सकत ह

आऩ अऩन जीवन को दसयो क लरए एक परयक जीवन फना सकत ह

आऩ सवमॊ भ छऩी अनॊत शजततमो को ऩान क परतत सभरऩपत हो सकत ह

आऩ ऩयी दतनमा घभ सकत ह

आऩ अऩन नाभ को एक बाॊड फना सकत ह

आऩ अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना सकत ह

आऩ भजशकर को भौक भ फदर कय भजशकर को समभान द सकत ह

आऩका सचचा ऩरयचम

आऩ एक चभतकाय ह आऩ सौबागम क अनॊत फीज खद भ सॊजोए हए ह आऩक बीतय एक कभार की शजतत ह जजसका आऩको जीत जी जरय एहसास कयना चादहए ऩयी दतनमा क लरए आऩका जनभ एक भहासौबागम ह आऩ एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद हय ददन र सकत ह आऩ हय ददन सफह जलदी उठ कय अऩनी ककसभत का तनभापण कय सकत ह आऩक सॊकट आऩका रवकास कयत ह आऩक रकषम आऩका रवकास कयत ह आऩ आज स ही अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय सकत ह आऩ भानवता की सवा कयक जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह आऩका जीवन आऩको लभरा एक शानदाय उऩहाय ह आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह आऩ हय ददन एक नमी सोच अऩना कय नए ऩरयणाभ परापत कय सकत ह आऩ जजतना जमादा खद को जानोग उतना ही खद स पमाय कयत चर जाओग आऩ जीवन क परतत सभरऩपत होकय अऩन जीवन को एक उतसव की तयह जी सकत ह आऩ हय ददन नए सऩन दख सकत ह आऩ अनभोर ह आऩ अनभोर ह

आऩकी काभमाफी को सभवऩथत 15 शकततशारी ववचाय

1 आऩ फदहसाफ आॊतरयक शजतत क भालरक ह 2 आऩ ऩय बहभाॊड क लरए फहद शब औय सौबागमशारी ह 3 आऩकी कलऩना कयन की शजतत अनॊत ह 4 आऩकी आतभ सधाय कयन की भता अनॊत ह 5 आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह 6 सवसथ का अथप ह सवमॊ भ जसथत होना 7 सवाथप का सचचा अथप ह सवमॊ क सचच औय गहय अथप को सभझना 8 ऩागर का अथप ह जजसन ऩा लरमा गर (काभ की फात मा सचची फात)

को 9 ऩागर का अथप ह ऩाक (रहानी) फात कयन वारा 10 आज अबी औय इसी ऩर आऩ एक काबफर शानदाय फलभसार औय

सभदध वमजतत ह 11 आऩ कबी बी कछ बी सीख कय ककसी बी तर भ भहायत हालसर कय

सकत ह 12 आऩका जनभ एक सखद उऩहाय ह ऩयी भानवता क लरए 13 सभसत धयती आऩकी अऩनी ह 14 आऩका बागम ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह 15 आऩभ अनॊत सॊबावनाएॊ छऩी ह

आऩकी सपरता को सभवऩथत 30 जादई औय परयणादामी ववचाय

1 ऩहर अऩन रकषम क परतत सभऩपण औय कपय उस सभऩपण की हय कीभत चकान की दहमभत चादहए तफ जाकय सपरता आऩक कदभ चभती ह

2 ककतनी पमायी फात ह कक हभ खद को आदय दकय अऩन बीतय भौजद ईशवय को ही तो आदय दत ह

3 सयरता सवगप ह जफकक उरझन नकप ह 4 ककतनी कभार की फात ह कक हभ सफ जीवन भ आसान यासत चाहत ह

भगय हभाया रवकास लसपप भजशकर यासतो ऩय चर कय ही होता ह 5 सफको अऩना बरवषम जानन की फड़ी आतयता यहती ह जफकक अऻात भ

जीन का भजा ही तनयारा ह 6 हय ऩर आऩ खद क फनाम सवगप भ मा कपय खद क फनाम नकप भ यहन का

चनाव कयत ह

7 खद का सधाय ककम बफना दसय को सधायन की कोलशश कयना वमथप का परमास साबफत होता ह

8 अऩनी गरती कोई नहीॊ भानता जफकक अऩनी गरती भान कय अऩन आऩ को सधायन का आनॊद गजफ का ह

9 भजशकर हारात आना इस फात का सफत ह कक आऩ परगतत क ऩथ ऩय ह 10 सफको फशतप पमाय दीजजए तमोकक परभ आऩक ऩास फदहसाफ भातरा भ भौजद

ह 11 आऩ खद ही अऩनी सोच को काभमाफी की ददशा भ रकय जा सकत ह 12 सच क यासत ऩय तनयॊतय चरना आऩको एक अदबत आनॊद दता ह 13 अऩन जीवन भ आन वारी सभसमाओॊ का खफ आनॊद रीजजए तमोकक म

आऩक लरए परगतत क शानदाय अवसय र कय आती ह

14 हय सपर इॊसान ककसी फड़ी चनौती का साभना कयत हए खद को भजफत फना कय सपर फनता ह

15 नज़ाया चाह कछ बी हो हभायी नज़य वही दखती ह जो दखन क लरए हभ इस कहत ह

16 कबी कबी इॊसान जजस जीत सभझता ह वह हाय होती ह औय जजस हाय सभझता ह वह जीत होती ह

17 3 सभम बोजन अगय आऩ हय योज़ कयत ह तो आऩको योज़ 3 सभम कछ न कछ नमा जरय सीखना चादहम

18 जीवन भ आऩको आऩक लसवा कोई खश मा दखी कय ही नहीॊ सकता 19 परभ भ सवाथप नहीॊ औय जहाॉ सवाथप ह वहाॉ परभ नहीॊ 20 ईशवय हभ हय ऩर हभाय सवोतभ रऩ भ ऩहॉचन क लरए भागपदलशपत कय यहा

ह 21 जफ जफ आऩकी तनमत साफ़ यहती ह तफ तफ आऩको ऩरयणाभ भ फयकत

बी जफयदसत होती ह 22 इॊसान जीवन भ अऩनो औय ऩयामो को ही खोजन भ रगा यहता ह जफकक

अऩना ऩयामा कोई ह ही नहीॊ 23 आऩकी भहनत अगय फकाय चरी गमी तो वो भहनत थी ही नहीॊ 24 खद क अहॊकाय को काट बफना जीवन भ खशी का ऽजाना नहीॊ लभरता 25 ककसी को कभतय सभझन की गरती वही कयता ह जो खद ऩय श कयन

का आदी हो 26 गहयाऩन आऩक काभ भ दय दय की ठोकय खा कय ही आता ह 27 एक फाय खद क बीतय ईशवय को ऩाकय कपय आऩको हय जगह ईशवय ही

ददखाई दता ह

28 अऩनी अॊतयातभा की आवाज़ को फरॊद कयक ही आऩको सचची खशी लभरती ह

29 ककसी की सचची इजज़त कयन क लरए ऩहर खद की जफयदसत फइजजती कयना जरयी ह

30 सच भ सच को कह कस औय झठ कह कय ददर को खशी लभरती नहीॊ

गजफ की शकतत ह आऩकी सोच भ

1 आऩकी सोच आऩक जीवन का सच फन जाती ह 2 आऩकी सोच औय आऩका नजरयमा फहत ही गहय स आऩस भ जड़ होत ह 3 आऩ अऩनी सोच को कबी बी ककसी बी फड़ी सपरता क लरए तमाय कय

सकत ह 4 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजए 5 काभमाफ सोच को अऩना कय आऩ बी काभमाफ हो सकत ह

6 भानवता की सचची सवा कयन की सोच को अऩना कय आऩ बी एक फलभसार जीवन का आनॊद र सकत ह

7 हय ददन अऩनी सोच को सकायातभक औय उतऩादक फनाना आऩकी जजमभदायी ह

8 आऩकी सोच आऩक जीवन क हय ऩहर को परबारवत कयती ह 9 काभमाफ सोच काभमाफ ऩरयणाभ ऩदा कयती ह 10 काभमाफ सोच हभशा आऩको सभाधान की ओय र कय जाती ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह तमोकक आऩक द ख आऩकी अॊदरनी आॉख खोरत ह

आऩक द ख ही आऩको रगातय कछ ऐसा खोजन क लरए पररयत कयत जो आऩको सचभच सथामी आनॊद द सक

आऩक द ख ही आऩकी परगतत का भागप खोरत ह

आऩक द ख ही आऩक सख का आधाय फनत ह

आऩक द ख दयअसर आऩको दख रगत ह भगय जीवन आऩको आग फढ़ान क लरए दखो का ही इसतभार कयता ह

द ख असर भ आऩकी आऩक अॊदरनी खजान क परतत अऻानता क कायण ह

आऩक द ख आऩका रवकास कयत ह

आऩक द ख आऩको हय ददन नमा सीखन क लरए औय जीवन को जजमभदायी रत हए जीन क लरए पररयत कयत ह

आऩक द ख ही आऩकी भहानता की सीढ़ी फनत ह

आऩक द ख अगय ना हो तो आऩक सख बी आऩस दय ही यहग

हय द ख भ सख का फीज छऩा होता ह

द ख वासतव भ द ख नहीॊ होता द ख वो हभाय उसको द ख की तयह दखन क कायण फनता ह

द ख ईशवय को आऩको परगतत कयन क लरए ददमा वयदान होता ह

द ख जफ आऩ सहन कय चक होत ह औय आऩ उसस नमा सीख कय जीवन भ एक नए सतय तक ऩहॉच चक होत ह तो द ख आऩको फड़ी खशी दता ह

आऩक मरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

आज आऩ जो बी सोच यखत ह चाह वह आऩका रवकास कय यही हो मा रवनाश कय यही हो उस ऩयी तयह आऩन ही फनामा ह औय आऩ इस ऩयी तयह स फदर सकत ह औय एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

आऩक आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩक बागम का सतय तम कयत ह

आऩ इस भहान सजषट का एक अहभ दहससा ह

हभ सफ एक दसय स जड़ हए ह

आऩकी ककसभत आऩकी भहनत स फनती ह

सॊकट आऩको परगतत क शानदाय अवसय दता ह

हय इॊसान स आऩ कछ न कछ नमा जरय सीख सकत ह

आऩकी सोच ही आऩका सच फनती ह

सीखन वार हभशा ही जीतन वार फन जात ह

हय ददन भहनत कय औय बागमशारी फन

अवसय ककसी काभ भ नहीॊ फजलक आऩकी सोच भ छऩा होता ह

सॊघषप आऩका तनभापण कयता ह

हायन क फाद आऩका जीत का आनॊद रन का साभरथमप फढ़ जाता ह

आऩक जीवन का हय ऩर आऩक लरए पमाय ईशवय का उऩहाय ह

आऩकी शजतत अनॊत ह

आऩ खद अऩन जीवन क भालरक ह

ईशवय न आऩको जजॊदगी का फलभसार उऩहाय दकय समभातनत ककमा ह

आऩक आरोचक आऩकी इततहास फनान भ भदद कयत ह

आऩक मरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

1 आऩक रवचाय आऩकी असलरमत का तनभापण कयत ह 2 खद को रगाताय आतभऻान रत यहन क लरए सभरऩपत कय दीजजम 3 हय ददन 03 लभनट का सभम तनकार कय परयक ऩसतक ऩदढ़ए

4 एक कागज ऩय बफलकर सऩषट रऩ स लरख रीजजम कक ldquoआऩ जीवन भ तमा परापत कयना चाहत हrdquo

5 जो सॊदश आऩ दसयो को दना चाहत ह ऩहर खद उस सॊदश को अऩन जीवन भ हय ददन आदयऩवपक जजएॊ

6 असाधायण परमास कयक ही आऩ असाधायण ऩरयणाभ परापत कय सकत ह 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजम 8 जफ आऩ खद को हय ददन अऩन बीतय छऩी असाधायण सॊबावनाओॊ क लरए

जागरक कयत ह तो आऩस जड़ी हय चीज़ काभमाफी की ददशा भ फढ़ती ह 9 आऩ हय वो चीज़ सीख सकत ह जो आऩको काभमाफ होन क लरए आनी

चादहए 10 सपरता औय खशी आऩस दय नहीॊ ह फजलक आऩ खद सपरता औय खशी

स दय ह 11 आऩकी सीखन की भता ही आऩक कभान की भता तनधापरयत कयती ह 12 हय एक इॊसान अनभोर औय शानदाय ह 13 लसपप सोच स फड़ औय तनडय रोग ही अऩनी वासतरवक आनतरयक शजतत का

उऩमोग कयत ह 14 आऩक जीवन का सचचा रकषम आऩकी आॊतरयक शजतत क फलभसार बणडाय

को खोजना औय उस भानवता की सवा भ सभरऩपत कय दना होना चादहए 15 फहान फनान वार इततहास यचन वार नहीॊ फनत

16 आऩ ऩहर खद अऩन आऩ को धोखा ददए बफना ककसी ओय को धोखा नहीॊ द सकत

17 जो सभम आऩ अऩनी सचची औय अॊदरनी ताकत को जानन भ रगात ह वो आऩक सभम का सफस फहतयीन तनवश होता ह

18 काभमाफी औय अभीयी का जीवन ऩयी तयह स आऩक चनाव ऩय दटका ह 19 सचभच अभीय रोग भानवता क फहत ही अचछ सवक होत ह औय भधमभ

दज क रोग भानवता क भधमभ दज क सवक होत ह 20 आऩका ददभाग एक फहत ही शजततशारी कॊ पमटय ह 21 जीवन भ हय ददन परगतत कयन क लरए ककसी ओय स नहीॊ अऩन आऩ स

हय ददन फहतय होत चर जाएॊ 22 जीवन हभ सफको एक अचछ इॊसान क तौय ऩय चभकन क लरए फशतप औय

भहान उऩहाय की तयह लभरा ह 23 जफ आऩ खद की सचची कदर कयत हो तबी आऩ दसयो की सचची कदर कयन

क काबफर फनत हो 24 जफ आऩ जीवन क हय तर भ अऩन खद क ही रऩछर रयकॉडप तोड़न रगत

ह तफ आऩ सचभच एक चरऩमन क तौय ऩय रवकलसत होन रगत ह 25 जो ऩरयणाभ आऩ आज अऩन जीवन भ परापत कय यह ह उसक लरए आऩक

अरावा ऩयी दतनमा भ कोई बी जजमभदाय नहीॊ ह 26 दतनमा रॊफ सभम तक धनमवाद दन वार रोगो का लशकामत कयन वार

रोगो स कहीॊ जमादा समभान कयती ह 27 आऩका वमवहाय हभशा ही आऩक चरयतर की सचची तसवीय को ददखाता ह 28 हय भहान इॊसान आऩको मही भहसस कयाता ह कक आऩ बी भहान फन

सकत ह

29 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय ददन सोचत सनत दखत फोरत औय भहसस कयत ह

30 हय ददन कछ सभम तनकार कय ऐस रवचाय जरय सन मा ऩढ़ जो आऩको सचभच एक शानदाय जीवन जीन क लरए फहद पररयत कयत ह

आऩक मरए कछ नए औय शानदाय ववशवास आऩक खद क फाय भ

तमा आऩ जानत ह कक कौन आऩकी जजॊदगी चरा यहा ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी सोच ककस हद तक आऩकी जजॊदगी को फहतय औय फदतय फनान की काबफलरमत यखती ह

तमा आऩ जानत ह कक आऩकी वासतरवक शजतत ककतनी ह तमा आऩ जानत ह कक ककस

हद तक आऩ अऩन जीवन को शानदाय फना सकत ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ अऩन

सऩनो की जजॊदगी जीन भ ऩयी तयह सभ ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी भजशकर आऩका रवकास कयती ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ हय ददन खद ही अऩनी तनमतत फनात ह

आऩ ककस तयह स खद को दखत ह साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह आऩ खद को ककतना काबफर भानत ह इसी फात स आऩकी सपरता का सतय तम होता ह ककस तनगाह स आऩ

अऩनी सीखन की काबफलरमत का इसतभार कयत ह इसी स आऩकी अभीयी का सतय तम

होता ह आऩ हाय क फाद ककस नजरयम स दोफाया शर कयत ह इसी स साया पकप ऩड़ता ह

आऩकी जजॊदगी ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह जफ तक आऩको रगता ह कक आऩकी जजॊदगी क

लरए आऩ जजमभदाय नहीॊ ह तफ तक आऩ अऩनी जजॊदगी को फहतय फनान क लरए जरयी कदभ नहीॊ उठा सकत जफ तक आऩ खद क फाय भ एक सकायातभक नजरयमा नहीॊ रवकलसत कय रत तफ तक आऩकी सभसमा जमो की तमो फनी यहगी

आऩकी हय सभसमा का एक ही सभाधान ह औय वो ह कक आऩ खद की ऩतकी ऩहचान कय आऩ खद को जान आऩ अऩनी आॉख खोर आऩ अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का उऩहाय द

आऩकी सचचाई मह ह कक

आऩ ऩयी तयह स सपर होन क लरए काबफर ह आऩ ऩयी तयह स खद की जजॊदगी को

फदरन की काबफलरमत यखत ह आऩ अऩनी जजॊदगी क भालरक ह आऩ एक शजततशारी ददभाग क भालरक ह आऩ सचभच एक कभार की जजॊदगी जीन का सचचा हक यखत ह आऩ हय ददन नमा सीख कय हय ददन जीत सकत ह आऩ जजस फात भ मकीन यखत ह वही आऩक लरए हकीत फन जाती ह आऩ एक फलभसार जीवन जीन की सचची काबफलरमत यखत ह

आऩ अनभोर ह आऩ सचभच काबफर ह आऩ हकदाय ह एक अदबत जीवन जीन क

इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का कजसन खद ही खद की ककसभत को फनामाhellip

सवार आऩ काभमाफ कस हए

जवाफ काभमाफ होना ही भया ऩास एकरौता यासता था

सवार आऩ असपर बी तो हो सकत थ

जवाफ भ असपर हआ ही इतनी जमादा फाय था कक अफ सपर होना ही था जफ आऩ रगाताय भहनत कयत हो तो एक वक़त ऩय आकय आऩको ऩतका सपरता लभरती ह

सवार सपरता तमा होती ह

जवाफ खद को जानना सपरता ह खद क साथ ईभानदाय होना सपरता ह खद को हय ददन खद क बीतय छऩी शजततमो क परतत लशकषत कयना सपरता ह इॊसातनमत की सचची सवा कयना सपरता ह

सवार आऩको दख कय रगता ह कक आऩ एक फहत ही सरझ हए इॊसान ह तमा ऐसा वाकई ह

जवाफ दणखए सपरता लभरती ही तफ ह जफ आऩ खद सरझ जात ह आऩकी सपरता भ सफस फड़ी ददतकत आऩकी सोच औय आऩका जरयत स जमादा उरझा होना ही ह आऩ खद को सयर कयत हए कबी बी कभार की सपरता ऩा सकत ह

सवार आऩन खद को कस ऩामा

जवाफ जफ भन खद ऩय रवशवास कयना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भ लसपप एक शयीय स कहीॊ जमादा हॉ जफ भन खद स जड़ना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भझभ एक शजतत ह जो ऩयी तयह स भया दहत औय पराव चाहती ह जफ भन सपर रोगो स लभरना शर ककमा तो भन ऩामा कक हय सपर इॊसान खद स ईभानदाय ह हय सपर इॊसान जीवन क परतत हय ददन जफयदसत आबाय वमतत कयता ह हय सपर इॊसान मह सोचता ह कक उसका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह

उतसाह क साथ मशखय की मातरा का आनॊद

1 आऩ जीवन भ जो कछ बी तराश यह ह ठीक वही आऩको लभर जा यहा ह 2 बफरकर सऩषट कीजजम कक सपरता का आऩक लरए सचचा अथप तमा ह

3 आऩ इस रवशार बहभाॊड भ कस अऩनी छाऩ छोड़ना चाहत ह

4 आऩका जनन ही आऩक काभकाज का तर होना चादहम 5 हारात स जमादा परापत कयन क लरए हारात को जमादा गहय स भहसस

कयना शर कीजजए 6 अचछी चीज़ो औय अऩन ऻान को खशी खशी सबी स फाॊदटम 7 अऩन फाय भ जागरकता फढ़ान क लरए अऩनी ताकतो औय कभजोरयमो को

साफ़ साफ़ कागज ऩय लरणखम 8 अऩन सऩनो की हय ददन यचनातभक भानलसक तसवीय दणखम 9 हय ददन अऩनी फातचीत की करा ऩय गजफ की भहनत कीजजए 10 जीवन भ रीडयशीऩ की अहलभमत को सभणझम 11 हय रयशत भ जीत -जीत की भानलसकता रवकलसत कीजजम 12 फड़ी सोच क फड़ जाद का जभ कय समभान कीजजम 13 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 14 असपरता जसी कोई चीज़ नहीॊ होती वह तो लसपप तनखयन की लशा होती

ह 15 अऩनी सोच को एक अॊतयासरीम कॊ ऩनी क भालरक की तयह रवकलसत

कीजजम 16 अऩन जीवन क सऩषट जीवन भलम तनधापरयत कीजजम 17 आजीवन सीखत यदहम 18 रवनमर फतनम

19 अऩनी सोच ऩय भजशकर वक़त भ बी खड़ यदहम 20 इस दतनमा का परतमक वमजतत भहतवऩणप ह इसीलरए सबी का समभान

कीजजम 21 सपर इॊसान को असपर इॊसान स उसकी सोच अरग कयती ह 22 आऩकी काभमाफी आऩकी खद ऩय की गमी हय ददन की भहनत का ऩरयणाभ

होती ह 23 जजतना जमादा आऩ खद क फाय भ जानत ह उतना ही जमादा आऩ परापत

कयत ह 24 हय ददन की कड़ी भहनत ही चरऩमन को चरऩमन फनाती ह 25 आऩकी वशबषा फोरती ह 26 सपरता क लसदधाॊत ऩयी दतनमा भ एक साभान रऩ स कामप कयत ह 27 आऩक रयशत सचभच आऩकी सपरता भ अहभ बलभका तनबात ह 28 अऩन जीवन की कहानी खद लरणखम 29 आऩको भहान फनन स कौन योक यहा ह

30 आऩका भागपदशपन कौन कय यहा ह

31 सचची दोसती आऩका रवकास कयती ह 32 सभम ही आऩकी सचची ऩॊजी ह 33 ऩसतक ऩदढम औय जीवन भ आग फदढम 34 परकतत क साथ वक़त बफताम 35 सपर रोगो क साथ यह 36 आऩका बरवषम आऩक लरए एक कोय कागज क सभान ह 37 अऩन साथ हभशा अऩना रकषम काडप यणखम 38 रगाताय अऩनी समऩकप सची को फड़ा कीजजम 39 आऩ कस अऩन काभकाज क फाय भ दसयो स फात कयत ह

40 अऩन सऩनो को पोटो फरभ कया कय उनह अऩन साभन यणखम 41 अऩन सऩनो क फाय भ हय लभर सकन वारी जानकायी जरय इकठठा कीजजम 42 जीवन जीन क अऩन खद क तनमभ फनाइम 43 अऩन सऩनो का अनसयण कीजजम 44 आरोचना तफ होती ह जफ आऩ परगतत कयत ह 45 जफ तक आऩ ऩछत यहग आऩको जवाफ जरय लभरग 46 हभ सफ एक ह 47 अऩनी सऩषट ऩहचान कीजजम तमोकक आऩ अनभोर ह 48 आऩ जमादातय सभम खद क फाय भ तमा सोचत ह

49 अऩनी उजाप क सतय को हय ददन फढाम 50 हय भहीन कछ धन की फचत जरय कय 51 आऩक फाय भ सवोतभ फात मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह 52 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय वतत सोचत यहत ह 53 आऩका वमाऩाय आऩक दसयो क साथ अचछ रयशतो स हय ददन अचछा फनता

जाता ह 54 रोगो स फात कयत वक़त उनकी बावनाओॊ को जरय सऩशप कय 55 आऩकी जीत की सचचाई मह ह कक जीत आऩ अऩनी सोच ऩय हालसर कयत

ह 56 जजस ददन आऩको अऩन जीवन को जीन का एक सचचा भकसद लभर जाता

ह उस ददन आऩका सचभच जनभ होता ह 57 हय ददन नमा सीखना ही सचभच जीतना ह 58 भहान रोगो स जमादा स जमादा लभर औय उनस सीख 59 आऩ एक ददन दतनमा को अररवदा कह दग रककन आऩक काभ हभशा

रोगो क ददरो ऩय याज़ कय सकत ह

60 अऩन ददभाग भ अऩनी सपरता का एक तनजशचत नतशा जरय फनाम 61 आऩकी सचची ऩॊजी आऩकी सीखन की औय परगतत कयन की मोगमता ह 62 अऩन अतीत का समभान कय 63 हय ददन तनखाय कयत हए एक सभम क फाद चरऩमन की तयह जजम 64 जजस चीज़ ऩय आऩ धमान कजनदरत कयत ह वही चीज़ आऩक खद -फ-खद

नजदीक आ जाती ह 65 अऩन बरवषम का समभान कयत हए हय ददन वतपभान भ खफ भहनत कय 66 जजतना जमादा आऩको आऩक काभ की सभझ होती ह उतना जमादा आऩ

अऩन काभ स कभा सकत ह 67 सयर वमजतत सफका ददर जीत रता ह इसीलरए सयर फतनम 68 आऩका रकषम आऩकी शजतत को फढ़ा दता ह 69 आऩक भजफत जीवन भलम आऩको हय ददन भजफत फना दत ह 70 आऩकी आदत हय ददन आऩका जीवन चरा यही ह 71 अऩन जीवन की जजमभदायी अऩन हाथो भ र रीजजम 72 अऩन आस ऩास सचच रीडसप रवकलसत कयन क लरए आज ही आऩ खद

एक सचच रीडय की तयह वमवहाय कयना शर कय सकत ह 73 हय नए रवचाय क लरए हय ऩर खर यदहम 74 अऩन घय औय कायोफाय भ यचनातभक तौय-तयीको को फढ़ावा दीजजम 75 आऩक ऩास जो बी अचछ रवचाय ह उनह जरय सफस साॉझा कय 76 असपरता आऩको भजफत फनात हए आऩकी सवा कयती ह 77 अऩन आस -ऩास शानदाय रवचायो की औय हयी-बयी परकतत की तसवीय यणखम

78 अऩन घय औय कायोफाय की जगह ऩय अऩना रवज़न फोडप रगाम 79 अऩना वमजततगत ऩसतकारम जरय फनाइम

80 आऩका आऩक काभ क परतत परभ आऩक हय रकषम को फड़ी ही आसानी स ऩया कयवा दता ह

81 खद भ जफयदसत रवशवास ददखाएॉ 82 अऩनी तनमत ही आऩकी तनमतत तम कयती ह 83 एक भहान रवचाय आऩको जीवन भ भहान फनान की शजततशारी मोगमता

यखता ह 84 शकरगजाय होकय आऩ आज औय इसी ऩर स काभमाफ होन का चनाव कय

सकत ह 85 हभशा एक फचच की तयह जीवन क परतत उतसक फन यदहम 86 जफ आऩ खद तयतकी कयत ह तबी आऩ जीवन का सचचा आनॊद र ऩात

ह 87 खद को फहतयीन अॊदाज भ सफक साभन ऩश कयना जरय सीख 88 अऩन जीवन भ सॊगीत का सथान हय ददन जरय यख 89 खफ भहनत कयन क फाद अऩन शयीय औय भन को आयाभ जरय द 90 अऩनी रचच को धमान भ यख कय ही अऩन जीवन क भहततवऩणप चनाव

कय 91 अऩन आऩ स हय ददन ईभानदाय यदहम 92 अऩन रवचायो का सचचा समभान कयन क लरए उनह कागज ऩय लरख 93 जफ आऩ सन तो सच भ सन 94 एक सकायातभक वमजतत फनन क लरए सकायातभक शबदो को अऩनाम 95 चरऩमन आऩ अऩनी चरऩमन सोच की वजह स फनत ह 96 हय उस इॊसान को भाफ़ कय दीजजम जजसन जान-अनजान भ आऩका ददर

दखामा ह

97 अगय असपरता आऩको नहीॊ लभर यही ह तो सभझ लरजजम आऩ सपरता क भागप ऩय नहीॊ ह

98 अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनाइम 99 आऩका जीवन सभसत रवशव क नाभ आऩका सॊदश ह 100 अऩनी सपरता को भानवता क सवा भ सभरऩपत कय दीजजम

101 काभमाफ होना आऩका हक ह

एक घय ऐसा बी ह कजसभ एक घय ऐसा बी ह जजसभ हय ऩर आनॊद का परसाय होता यहता ह जजसभ हय ओय सचचाई का परकाश यहता ह मह सौबागम ह भया कक आऩको ऐस एक शानदाय घय स रफर कयान का अवसय भझ ईशवय न ददमा ह घय क परवश दवाय ऩय लरखा ह ldquoजननत ईशवय का आशीवापदrdquo औय जस ही आऩ घय क बीतय जात ह आऩका धमान ऩड़ता ह दीवायो ऩय लरख शानदाय औय असयदाय रवचायो ऩय रवचाय जस कक वह फदराव खद भ रकय आइए जो आऩ दतनमा भ दखना चाहत ह भहातभा गाॉधी जो आऩ सोचत ह वह आऩ फन सकत ह रवलरअभ जमस आऩकी शजतत अनॊत ह आऩक बीतय सौबागम क फदहसाफ फीज ह आऩका जनभ ऩयी ऩरथवी क लरए एक फलभसार वयदान ह औय आज आऩक जीवन का एक मादगाय ददन ह ऐस कभार क रवचाय ऩढ़ कय आऩ सचभच अऩनी अॊदरनी भहानता स जड़ जात ह औय जस ही आऩ इन दीवायो क सॊदशो को ऩढ़त हए घय क बीतय परवश कयत हो तो आऩका धमान जाता ह एक लरख हए सॊदश ऩय जो कह यहा ह कक अगय खद को जानना ह तो इस कभय भ परवश कीजजए औय जस ही आऩ उस कभय भ परवश कयत ह आऩ ऩात ह एक रवशार ऩसतकारम जो चचलरा चचलरा कय कह यहा ह कक इन ऩसतको भ भानवता का अभय औय सपर इततहास लरखा ह ऩसतको क शीषपक ऩढ़ कय ही आऩक बीतय एक नई उजाप का उदम होन रगता ह जस रोक वमवहाय सोचचम औय अभीय फतनए आऩक अवचतन भन की शजतत फड़ी सोच का फड़ा जाद औय आऩक अॊदरनी रवकास स जड़ी हजायो ऩसतक वहाॊ यखी हई ह

उस कभय भ एक शानदाय फात मह लरखी थी कक अतसय अचछी ऩसतक ऩढ़ कय इॊसान की सोमी हई अॊदरनी शजतत जाग जाती ह औय कपय वो इततहास

यचन की ओय अगरसय हो उठता ह हय इनसान इततहास यच सकता ह हय इॊसान खद को खोद कय खद को ऩा सकता ह जजसन बी खद को खोदा ह औय खद ऩय भहनत की ह उसक हाथ कबी खारी नहीॊ यह उसन जीवन की भहान दौरत को ऩामा ह जीवन की भहान दौरत ह आऩक बीतय छऩी ईशवय की जमोतत आऩकी सचची ऩहचान मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह आऩ सौबागम क फचच ह आऩ एक फलभसार वयदान ह ऩयी कामनात क लरए मह घय की कथा तो कालऩतनक थी ऩय इसका सॊदश ऩयी तयह सचचाई ऩय दटका ह कक आऩकी अॊदरनी शजतत सचभच अनॊत ह आऩ अनभोर ह

एक फमभसार जीवन क मरए 51 गरभॊतर

1 जीवन को एक अवसय क रऩ भ दणखए 2 जीवन को हय ददन परगतत कयन क एक शानदाय भौक क रऩ भ दणखए 3 हय ददन अऩन ददभाग को नमा सीखा कय ऩोरषत कीजजए 4 अऩनी हय हाय स सीखना शर कीजजए 5 सचची परशॊसा कयन की करा सीणखए 6 टी वी कभ दणखए औय ककताफ जमादा ऩदढ़ए 7 जीवन का एक रकषम फनाइम 8 हय ददन खद को पमाय कीजजए 9 सपर रोगो क साथ दोसती कीजजए 10 अऩन काभ भ कभान स जमादा सीखन ऩय धमान दीजजए 11 ऩयी भानवता क लरए आऩका जनभ एक सौबागम ह 12 अऩन जीवन भ सॊगीत को योजाना सथान दीजजए 13 हफत भ ककसी एक ददन ऩय हफत का पीडफक कागज ऩय लरणखए 14 आऩकी आज की सोच ही आऩका आग चर कय सच फन जाती ह 15 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजए 16 अऩन जीवन को भानवता की सवा कयन का एक फलभसार अवसय

सभणझए 17 आजीवन आऩ खद को हय ददन नमा सीखन क लरए सभरऩपत कय दीजजए 18 खद स हय ददन ईभानदाय फन यदहए 19 आज ही अऩनी वमजततगत राइबयी फनाइए 20 हय ददन सभम तनकार कय ईशवय का धनमवाद जरय कीजजए तमोकक मह

शानदाय जीवन आऩको उनही की फदौरत वयदान क तौय ऩय लभरा ह

21 हय भजशकर को परगतत कयन क एक अवसय क रऩ भ दणखए 22 अभीयी एक सोच ह 23 काभमाफी एक सोच ह 24 खशहारी एक सोच ह 25 जमादा भहनत आऩको जमादा रवकास दती ह 26 हय ददन खर कय जीम 27 इस दतनमा भ आऩक लरए ककसी बी चीज़ की कोई कभी नहीॊ ह 28 अऩन रकषमो को साफ़ साफ़ आज ही कागज ऩय लरणखए 29 अऩन रकषमो को हय ददन कागज ऩय लरणखए 30 अऩन रकषमो ऩय हय ददन भहनत कीजजए 31 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 32 फड़ रकषम आऩका फड़ा तनभापण कयत ह 33 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 34 जीवन को एक वयदान क तौय ऩय आज ही कफर कय रीजजए 35 अऩन जीवन को फलभसार फनान की जजमभदायी आज ही खद र रीजजए 36 लशकामत कयन भ सभम भत रगाइए 37 हय इॊसान स कछ न कछ जरय सीणखए 38 हय ददन अऩन खद क अनबवो स कछ न कछ नमा सीणखए 39 आऩ जीवन भ सपर होना फहत ही आसानी स सीख सकत ह 40 आऩकी अॊदरनी शजतत अनॊत ह 41 आऩका हय ददन सफस ऩहरा कामप ह अऩन आऩ को खश यखना 42 आऩ अऩन जीवन भ काभमाफ होन की कोई ठोस वजह खोजजए 43 अऩन आऩ को भानवता क लरए एक ऩॊजी की तयह रवकलसत कीजजए 44 रगाताय भहनत रगाताय जीत की सफस ऩहरी जरयत ह

45 आसान यासतो ऩय चरना आऩक जीवन को फहद भजशकर फना दता ह 46 अऩनी हय हाय स गजफ की लशा रकय उस जीत भ फदर दीजजए 47 अऩन जीवन को खफ समभान दीजजए 48 आऩका अॊदरनी सॊसाय आऩक फाहयी सॊसाय का तनभापण कयता ह 49 आऩ आज वही ह जसा फनन क लरए आऩन आज तक खद को तमाय

ककमा ह 50 आऩ बरवषम भ वही होग जसा आऩ हय ददन खद को फनात चर जाएॊग 51 आऩ आज अबी इसी ऩर स एक शानदाय सपर अथपऩणप जीवन जीन का

साहलसक तनणपम र सकत ह

एक ववजता सोच की शकतत

1 आऩकी सोच ही आऩक जीवन क सच का तनभापण कयती ह 2 एक रवजता की सोच का भतरफ ह हय ददन नमा सीखन की सोच 3 एक रवजता की सोच आऩको एक फलभसार वमजतततव परदान कयती ह 4 आऩकी सोच ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह औय आऩ इस कबी बी फदर

सकत ह 5 आऩकी सोच ही आऩको हय ददन आऩको ददखन वारी आऩकी दतनमा

ददखाती ह 6 आऩकी सोच ही आऩकी भौजदा हय खशी औय गभ क लरए जजमभदाय ह 7 आऩ हय ददन अऩनी सोच को फड़ा औय फहतय कय सकत ह 8 सोच ही आऩको भहान औय सभदध फनाती ह 9 आज आऩ अऩन जीवन भ जजस बी भकाभ ऩय ह लसपप अऩनी सोच की

वजह स ह

10 आऩ जहाॊ बी जात ह औय जो बी कयत ह उसभ आऩकी सोच साफ़ झरकती ह

11 आऩकी सोच का आकाय आऩक आतभ ऻान ऩय आधारयत होती ह 12 आऩकी सोच खद-फ-खद शानदाय हो जाती ह जफ आऩ अऩन जीवन को

एक शानदाय रकषम का उऩहाय द दत ह 13 आऩ भानवता की सवा कयन की सोच को अऩनाकय एक रवजता की सोच

को अऩना सकत ह

एक शानदाय औय फमभसार जीवन की 52 याह

1 जीवन अऩन बीतय छऩी जफयदसत अॊदरनी शजतत को भानवता क रवकास भ उऩमोग कयन का एक भहान अवसय ह

2 परमास न कयना सचची हाय ह 3 आरोचक खद की ओय कबी नहीॊ दखता 4 आऩकी नज़य ही आऩको ददखन वार नज़ायो क लरए जजमभदाय ह 5 हय इॊसान अऩन बीतय भहानता क अनॊत फीज सॊजोए हए ह 6 आऩकी औय आऩकी सपरता भ आऩका सपर होन का तनणपम ही फाधा

ह 7 खद ऩय रवशवास कयक ही खद ऩय रवशवास कयना आता ह 8 फड़ा इॊसान को उसकी भहनत औय सवा कयन की सोच फनाती ह

9 खद को खोदना ही खद को खोजना ह 10 कोई बी भजशकर अऩन बीतय भौक क फीज लरए बफना नहीॊ आती 11 अऩन जीवन क असयदाय फनान क लरए खद को असयदाय फनान स

शरआत कीजजए 12 जफ आऩ सचभच दखना चाहग तो आऩको हय जगह भौक ही भौक

ददखन रगग 13 ईशवय आऩको हय ऩर जफयदसत परभ कय यहा ह 14 खद को काभमाफ होन क लरए तमाय कयना आऩकी खद की ही

जजमभदायी ह 15 सवा कयन की सोच ही आऩकी जजॊदगी को फलभसार फनाती ह 16 सनना बी एक तयह का सीखना ही तो ह 17 ऩाना ह तो खद भ जर यही ईशवय की जमोतत को ऩाम

18 आऩ लसपप तफ तक ही खद क फाय भ छोटा सोचत ह जफ तक आऩ अऩनी अनॊत अॊदरनी शजतत स अनजान ह

19 आऩ अऩनी तीसयी आॉख खोरन क लरए आतभ ऻान रना शर कय सकत ह

20 अऩन आज की सदऩमोग कीजजए 21 आऩकी सोच आऩकी ऩयी दतनमा क नाभ रवयासत ह 22 आऩका नाभ आऩक मोगदान स ही चभकता ह 23 आऩ सतम का ऩारन कयत कयत सवमॊ बी सतम ही सतमको परापत हो

जात ह 24 आऩ ईशवय दवाया अनॊत शजतत क उऩहाय क साथ इस धयती ऩय बज

गए ह चाह मह आऩको ऩता हो मा न ऩता हो 25 अऩन करयमय का चनाव कयत वक़त अऩन जनन को अऩना भागपदशपक

फना रीजजए 26 आऩको आऩक अरावा कोई अभीय सभदध औय सहतभॊद नहीॊ फना सकता 27 उतसाह का भहासागय आऩक अऩन ही बीतय ह 28 आऩका जीवन आज जसा बी ह आऩक अऩन ही कायण ह

29 खद स सचच रोग हो भानवता को याह ददखात ह 30 आऩकी खशी आऩक अऩन ही बीतय ह 31 आऩका सौबागम आऩक अऩन ही बीतय ह 32 आऩ अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनान का शानदाय कामप कय सकत

ह 33 आतभ ऻान परापत कयक कोई बी इॊसान अऩन जीवन को सचभच साथपक

फना सकता ह

34 अऩन जीवन क सफ़य को मादगाय फनान क लरए अऩन ही जीवन स हय ददन सीखना शर कय दीजजए

35 जजतना आऩ पमाय फाॉटग उतना ही जमादा आऩको पमाय फाॉटन का सौबागम लभरगा

36 आऩका नाभ आऩकी हय ददन की गमी ईभानदाय भहनत स ही इततहास फन सकता ह

37 जजस जीवन का कोई रकषम ह वही जीवन सही भामनो भ साथपक ह 38 पमाय इॊसान खद को हय ददन सपरता क लरए तमाय कीजजए 39 एक फाय जफ आऩक अऩन ही बीतय उजारा हो जाता ह तफ आऩका

जीवन सदा सदा क लरए योशन हो जाता ह 40 हय ददन सीखना ही हय ददन जीतना ह 41 वक़त बी तफ आऩक साथ होता ह जफ आऩ खद खद क साथ होत ह 42 जीवन भ जजस बी चीज़ की कीभत ह वह आऩको खद ही हालसर कयनी

होती ह

43 हय ऩर आऩ जीवन को एक ऩयभ आनॊद की तयह जी सकत ह 44 आऩ अऩनी खद क परतत सोच को फदर कय अऩन ऩय जीवन को फदर

सकत ह

45 एक फाय आऩको उऩमोग कयन की करा आ जाए तो जीवन भ ऐसा कछ बी नहीॊ जो उऩमाग भ न आ सक

46 जीवन एक शानदाय अवसय ह 47 जीवन एक फलभसार सौबागम ह 48 जीवन एक भहान सौगात ह 49 आऩकी सोच ही आऩका जीवन चरा यही ह 50 जजस याह ऩय भजशकर नहीॊ उस याह ऩय भौका नहीॊ

51 फड़ा सॊकट भतरफ फड़ा सौबागम 52 आऩ एक फाय खद क हो जाएॉ कपय साया जहान आऩका हो जाएगा

एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ

1 हय ऩर ऩयभातभा आऩको पमाय खशी शाॊतत औय आनॊद की शाशवत सौगात द यहा ह

2 हय इॊसान अऩन आऩ भ फलभसार औय अनठा ह 3 एक फाय ददर स मह भहसस कीजजए कक हय इॊसान फहद गणी ह औय कपय

जाद दणखम 4 आऩ जो अऩन लरए चाहत ह उस ऩहर दसयो को दना सीणखम 5 जवाफ तो सवार भ ही छऩा होता ह मह तो दखन वार ऩय तनबपय कयता ह 6 जीवन भ परभ आऩकी रह को ताज़ा कयन वारा एक फहद खास तोहपा ह 7 हय ददन को खद ऩय भहनत कयत हए मादगाय फनाम 8 हय ददन खलशमाॉ अऩन चायो तयप फाॊट औय हय ददन खश यह 9 जजस फात को हभ सच भन रत ह वही हभाय लरए सच फन जाती ह बर ही

वह असलरमत भ झठ ही तमो न हो 10 भजफत इॊसान हभशा भजफत रयशत फनाता ह 11 हभ सबी खद भ अनभोर उऩहाय सॊजोए हए ह 12 सच का समभान कयना सचभच आऩको फलभसार फनाता ह 13 आऩकी आॉख ही आऩक सऩनो की सचचाई फमाॉ कय दती ह 14 आऩकी सोच हय ददन आऩकी जजॊदगी का तनभापण कयती ह 15 पमाय इॊसान आऩ एक फाय अऩन अॊदय की आॉख तो खोलरम आऩक चायो

तयप गजफ क परगतत क अवसय हय ऩर भौजद ह 16 गरत मा सही हारात नहीॊ आऩका नजरयमा होता ह 17 अऩन आऩ को जानना एक ददन आऩकी सफस फड़ी खशककसभती फन जाती ह 18 आऩक डय आऩकी काभमाफी क दयवाजो ऩय तारो क सभान ह

19 आऩ जो दखत ह औय सनत ह वही आऩकी सोच फन जाती ह 20 सवा कयक खश यहना राज़भी ह 21 आऩ दसयो को कवर वही दीजजए जो आऩ अऩन लरए चाहत ह 22 आऩक काभ बफलकर ऩयी तयह स आऩकी सोच की तसवीय होत ह 23 पमाय इॊसान इस जगत भ कोई अऩना ऩयामा ह ही नहीॊ ह 24 आऩकी काभमाफी भ सभसत रवशव की खशहारी छऩी ह 25 हय ददन खद को खद ऩय रवशवास कयना आऩ जरय लसखाम 26 खद स ईभानदाय होकय ही आऩ खद की नज़यो भ ऊॉ चा उठ सकत ह

27 अऩन आऩ स जड़ना ही खशी का भर भॊतर ह

काभमाफ ववचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

1 हय नई भजशकर आऩक साभन एक नए भौका का ऩरयचम कयाती ह 2 आऩकी काभमाफी ईशवय का सऩना ह 3 आऩकी काभमाफी समऩणप भानवता की काभमाफी ह 4 आऩका रकषम भानवता की सवा कयना होना चादहए 5 आऩ हय ददन खद को एक फहतय इॊसान फना सकत ह 6 आऩ हय वमजतत को ददर स आदय द सकत ह 7 आऩ हय ददन अऩन जीवन क परतत सचचा आबाय वमतत कय सकत ह 8 आऩ हय उस वमजतत को खशी-खशी भाफ़ कय सकत ह जजसन कबी जान

अनजान भ आऩका ददर दखामा ह 9 आऩको हय ददन मह जरय सोचना चादहए कक आज आऩ अऩन जीवन को

एक नए सतय तक कस र कय जा सकत ह 10 आऩका जीवन आऩक दवाया गामा गमा एक शानदाय गीत होना चादहए

11 आऩ जजतना जमादा सवा कयन क लरए सभरऩपत होग उतना ही जमादा आऩका जीवन सौबागम क गीत गाएगा

12 आऩ एक नई तनगाह अऩना कय बफरकर एक नई दतनमा को दखन का सौबागम परापत कय सकत ह

13 हय ददन नमा सीख कय हय ददन को समभान दीजजए 14 खद को आज ही ककसी ईभानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दीजजए

कीकजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

आऩ अऩनी सफह को सचभच हय ददन योशन कय सकत ह आऩ हय सफह अऩन आऩ को ऩय ददन क लरए फलभसार अॊदाज भ तमाय कय सकत ह आऩ सफह जलदी उठन का साहलसक तनणपम र सकत ह आऩ हय सफह 5 फज उठ कय अऩनी हय सफह को समभान द सकत ह आऩ हय सफह उठत ही ईशवय को धनमवाद द सकत ह कक उनहोन आऩको एक नमा ददन वयदान क तौय ददमा ह औय आऩ इस ददन का सदऩमोग कयन का सचचा वामदा खद स कय सकत ह आऩ अऩन भाता रऩता क लरए शकरगजाय हो सकत ह आऩ अऩनी अचछी सहत क लरए ईशवय क शकरगजाय हो सकत ह कपय आऩ 20 लभनट की कसयत मा मोग कयन का गजफ का शजततशारी तनणपम र सकत ह उसक फाद आऩ 20 लभनट तक कोई बी परयणादामी ऩसतक ऩढन का अभय तनणपम र सकत ह ऩसतक जस रोक वमवहाय साध जजसन समऩतत फच दी आऩकी भतम ऩय कौन योएगा सोचचम औय अभीय फतनए सोच फदरो जजॊदगी फदरो फड़ी सोच का फड़ा जाद सपरता का अभत रयच डड ऩअय डड औय मह सची सचभच फहत ही रमफी ह तमोकक आऩ ककसी बी हद तक खद का तनभापण कय सकत ह औय दसया सीखन की सचभच कोई सीभा ह ही नहीॊ ह

कपय आऩ 20 लभनट तक अऩना जनपर लरख सकत ह जनपर का अथप एक ऐसा सथान ह जहाॉ आऩ हय ददन की अऩनी परगतत की मोजना हय ददन की लशा हय ददन की कामप सची हय ददन की परयणा हय ददन की यचनातभक यणनीतत लरख सकत ह जनपर लरखना एक फलभसार आदत ह आऩ आज स ही जनपर लरखन की अभय आदत शर कय सकत ह आऩ अऩन जनपर भ कभार क परयणा दन वार अभय रवचाय सफह सफह लरख कय खद को एक फलभसार रवजता की तयह तमाय कय सकत ह

म तीन ऐस गजफ क साहलसक तनणपम ह जो आऩको एक शानदाय असयदाय औय फलभसार जीवन का भागप ददखाएॊग आऩ अनभोर ह आऩ एक शानदाय जीवन जीन क सचचा हक यखत ह आऩ आज स ही अऩनी सोच को एक शानदाय जीवन जीन क लरए तमाय कय सकत ह माद यणखम दयी हभशा आऩकी तयप स होती ह आऩका बागम औय आऩकी सपरता तो हय ऩर आऩक ऩास आन क लरए फताफ होती ह आऩ आज स ही जीतन की तनणपम रकय जीतन की शरआत कय सकत ह

आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह

कछ ह ऐसा आऩक बीतय जो आऩको ऩयभ सौबागमशारी फनाता ह

कछ ह ऐसा ऻान जीवन भ जजस आतभ-ऻान कहा जाता ह जजस ऩाकय आऩ जीवन की समऩणपता को ऩा रत ह

कछ ह ऐसा हय सॊकट भ जो आऩका गजफ का रवकास कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी सोच भ जो आऩक जीवन क सच का हय ददन तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी तनमत भ जो हय ददन आऩकी तनमतत का तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩक दखो भ जो आऩको सख क लरए तमाय कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय ददन भ जो आऩको उऩहाय जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा हय हाय भ जो आऩको जीत जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा फड़ी सोच भ कभार का जाद जो आऩका फड़ा पामदा कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय इॊसान भ जो आऩक लरए लशा होता ही होता ह

कछ ह ऐसा आऩक जीवन क रकषम भ जो आऩक जीवन को भहान फनाता ही फनाता ह

आऩ सौबागम की सॊतान ह आऩका जनभ ऩयी सजषट क लरए ऩयभ सौगात ह

खद ऩय रवशवास कय औय इततहास यच

चमरए एक शानदाय कजॊदगी की ओय

1 सीखन की सोच ही जीतन की सोच का तनभापण कयती ह 2 एक इॊसान जीवन भ ककतना परापत कय सकत ह इसकी सीभा लसवाम उस

इॊसान क कोई दसया तम नहीॊ कय सकता 3 अऩन काभ (योजगाय) ऩय गवप कीजजए 4 आऩ जीवन भ काभमाफ होन की औय आग फढ़न की हय एक करा

तनजशचत रऩ स सीख सकत ह 5 आज स ही आऩ अऩन बीतय छऩी अनॊत शजततमो क परतत जागरक होना

शर हो जाइए 6 आज का ददन आऩको जीवन की ओय स लभरा एक शानदाय वयदान ह 7 सफह जलदी उदठए 8 हय ददन अऩन ददन की शानदाय शरआत कीजजए 9 तनसवाथप सवा भ आनॊद छऩा होता ह उस आनॊद का जीवन भ हय ददन

आनॊद जरय रीजजए 10 हभ सफ आऩस भ जड़ हए ह हभ सफ एक ह

11 जहान तक आऩ दख सकत ह वहाॊ तक आऩकी दतनमा परती चरी जाती ह

12 आऩ खद को एक शानदाय औय कभार की जजॊदगी जीन क लरए आज स ही तमाय कय सकत ह

13 आऩकी नमा सीखन की शजतत आऩक लरए एक फहत फड़ी सौगात ह 14 आऩक सॊकट आऩक ऩतक शबचचॊतक होत ह 15 भजशकर यासता ही आऩक जीवन को तनखायता ह

जीवन क 21 ऩयभ सतम

ऩयभ सतम 1

चभतकाय वो नहीॊ होता ह जो सॊकट की जसथतत भ आऩक साथ होता ह फजलक वो ह जो सॊकट का साभना कयत हए आऩक अॊदय होता ह

ऩयभ सतम 2

रवऩजतत भ ही समऩजतत का वास होता ह

ऩयभ सतम 3

हय ऩर आऩकी सोच आऩका बागम फना यही ह

ऩयभ सतम 4

कछ बी नमा सीखन क लरए सयर खरा औय उतसक रदम चादहए

ऩयभ सतम 5

जजतना आऩ खद को शजततशारी भानत ह उसस कहीॊ जमादा आऩ शजततशारी ह

ऩयभ सतम 6

हय एक इॊसान क बीतय काबफलरमत फदहसाफ ह

ऩयभ सतम 7

हयानी इस फात की नहीॊ ह कक आऩभ भता नहीॊ ह फजलक इस फात की ह कक आऩको अऩनी भता का ऩता ही नहीॊ ह

ऩयभ सतम 8

हय ऩर आऩक लरए खद को पमाय कयन का औय खद की सचची कदर कयन का एक भौका ह

ऩयभ सतम 9

जो आऩक अऩन बीतय होता ह वही आऩको चायो ओय ददखाई ऩड़ता ह

ऩयभ सतम 10

आऩकी जजॊदगी आऩक हाथ अगय ऐसा सभझोग तो आऩको लभरगा हय ऩर समऩणप रवशव का साथ

ऩयभ सतम 11

आऩक जीवन भ दबापगम आता ही आऩको सौबागम क भागप ऩय र कय जान क लरए ह

ऩयभ सतम 12

लभरता ह सफ कछ महाॉ उस जो ऩय ददर स भाॉगन की दहमभत यखता ह

ऩयभ सतम 13

अगय आऩको ऐसा रगता ह कक आऩको बगवान स कछ बी नहीॊ लभर यहा ह तो भय पमाय भनषम अबी इसी ऩर अऩन दोनो हाथो को खोर रीजजए तमोकक बगवान की कऩा हय ऩर हय एक ऩय फयस यही ह

ऩयभ सतम 14

भहनती आदभी जफ चरता ह तो उस हय तयप स सराभ फजत ह

ऩयभ सतम 15

हय ऩर आऩक ऩास एक चनाव ह कक आऩ अऩनी जजॊदगी को जो चाहो फना रो

ऩयभ सतम 16

बगवान की कऩा हय सचच औय भहनती इॊसान ऩय होती ह औय जफ होती ह तो भसराधाय होती ह

ऩयभ सतम 17

सभम फदर जाता ह औय ऩरयजसथतमाॉ फदर जाती ह भगय जीवन क भर सतम नहीॊ फदरत

ऩयभ सतम 18

आऩ अऩन ददभाग का भजशकर स 1 ही उऩमोग कयत ह

ऩयभ सतम 19 अऩन ददभाग को हय ददन खयाक दीजजए तमोकक एक फाय अगय इसन अऩन जाद ददखाना शर कय ददमा तो आऩक सात ऩशतो को भाराभार कय दगा

ऩयभ सतम 20

अऩन बीतय भौजद ऩयभ ऩजम ईशवय को हय ऩर समभान दीजजए

ऩयभ सतम 21

आऩ अनभोर ह आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह

जीवन भ एक चनौतीऩणथ रकषम होन क पामद

जफ आऩ खद को ककसी शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दत ह तबी स ही आऩक आतभ रवकास का फलभसार सफ़य शर हो जाता ह

आऩ हय ददन नमा सीखना शर कय दत ह

आऩ हय इॊसान की कदर कयना शर कय दत ह

आऩ नई-नई औय परयणादामी ऩसतक ऩढना शर कय दत ह

आऩ खद को एक भहततवऩणप वमजतत भानना शर कय दत ह

आऩ भहानता स सजा जीवन जीना शर कय दत ह

आऩ जीवन को एक उऩहाय की तयह जीना शर कय दत ह

आऩ हय ददन उतसादहत औय खश यहना शर कय दत ह

आऩ रगाताय रवकास कयना शर कय दत ह

आऩ एक शानदाय सहत का आनॊद हय ददन रना शर कय दत ह

आऩ हय ददन आचथपक रऩ स सभदध होत जात ह

आऩ एक चरऩमन फनन की याह ऩय चर दत ह

आऩ हय ददन जीवन क परतत एक सकायातभक औय उतऩादक नजरयमा यखना शर कय दत ह

आऩ भानवता क लरए एक ऩॊजी फन जात ह

आऩ खद स सचचा पमाय कयन रगत ह

जीवन

जीवन एक उऩहाय ह

जीवन एक शानदाय अवसय ह

जीवन एक सौगात ह

जीवन एक फलभसार भौका ह खद को ऩा रन का

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक खफसयत सौबागम ह

जीवन सीखना ह

जीवन एक उतसव ह

जीवन एक आनॊद ह

जीवन ईशवय का परसाद ह

जीवन खद को जानना ह

जीवन एक गजफ का फशतप उऩहायो स सजा गरदसता ह

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक सौबागम ह

जीवन जीवन ह

भहान रोगो की भहान आदत

भहान रोग धमान स साभन वार की फात सनत ह

भहान रोग अऩन जीवन को एक चनौतीऩणप रकषम का वयदान दत ह

भहान रोग हय ददन अऩन काभकाज क तहत अऩन जनन का ऩीछा कयत ह

भहान रोग अऩन जीवन को भहान रवचायो क अनसाय चरात ह

भहान रोग भहान रोगो क साथ ही अऩन सभम को बफतान का चनाव कयत ह

भहान रोग रगाताय अचछी ककताफ ऩढ़त ह

भहान रोग रगाताय असपर होत ह इसीलरए भहान रोग कबी न रकन वार होत ह तमोकक असपरता उनह डयाती नहीॊ ह फजलक उनह ओय जमादा तनखयन क लरए पररयत कयती ह

भहान रोग हय ददन नमा सीखत ह

भहान रोग अऩन कामो क कायण भहान फनत ह

भहान रोग रगाताय खद क ही रयकॉडप को तोड़त यहत ह

भहान रोग खद की जफयदसत कदर कयत ह

भहान रोग सचभच भहान सोच क भालरक होत ह

भहान रोग हभशा बीड़ स हट कय सोचत ह

भहान रोग रोगो की सचची कदर कयत हए उनस नमा सीखत यहत ह

भहान रोग रोगो की सवा कयन भ भादहय होत ह

भहान रोग भाॉ क ऩट स भहान ऩदा नहीॊ होत जीवन भ अऩन दवाया ककम गए कामो स वह भहान फनत ह औय ऐसा अवसय ईशवय न आऩको बी परदान ककमा ह

आऩ बी आज स एक भहान इॊसान क तौय ऩय अऩन जीवन को जीन का चनाव कय सकत ह

सॊकट क 15 शानदाय राब

1 सॊकट आऩका रवकास कयता ह 2 सॊकट आऩको नमा लसखाता ह 3 सॊकट आऩको सौबागम का उऩहाय दता ह 4 सॊकट आऩको एक फहतय वमजतत फनाता ह 5 सॊकट तफ तक आता ह जफ तक आऩभ नमा सीख कय जीवन भ नए सतय

तक ऩहॉचन की सचची मोगमता भौजद यहती ह 6 सॊकट आऩका सपरता क सफ़य भ सचचा साथी होता ह 7 सॊकट को सॊकट की तयह दखना ही सचभच सॊकट ह 8 सॊकट एक ऐसा शानदाय भौका होता ह जो आऩको हय हार भ सौबागम का

ही वयदान दना चाहता ह 9 सॊकट अगय ह तो आग फढ़न क औय नमा सीखन क यासत ह 10 सॊकट आऩको ददखाई तफ दता ह जफ आऩका अऩन रकषम क परतत सभऩपण

कभ हो जाता ह

11 सॊकट का साभना कीजजए औय सॊकट को जीत रीजजए 12 हय ददन एक नमा सॊकट आऩक जीवन भ आना आऩक लरए फहद शब ह 13 नमा सॊकट भतरफ नमा अवसय जीवन भ एक कदभ औय आग फढ़न का 14 सफस फड़ा सॊकट ह आतभ-अऻान 15 आऩको सॊकट दना जीवन का एक नामाफ तयीका ह आऩको आऩकी अॊदरनी

शजतत स लभरान का

सपरता क 15 अभय सतर

1 अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का वयदान दीजजम 2 हय ददन सफह जलदी उदठए औय अऩनी सोच को जफयदसत सकायातभक

फनान क लरए परयणादामी ऩसतक ऩदढ़ए 3 हय ददन को खद को ओय जमादा भजफत फनान क एक शानदाय अवसय

क तौय ऩय दणखम 4 हय सॊकट को तयतकी क फलभसार भागप की तयह दणखम 5 हय इॊसान स कछ न कछ सीखन की सोच यखत हए फात कीजजए 6 हय ददन नमा सीख कय हय ददन का समभान कीजजए 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजम 8 हय ददन कसयत कीजजए तमोकक आऩकी सहत आऩकी काभमाफी भ अहभ

बलभका तनबाती ह 9 आऩकी अॊदरनी शजतत वाकई अनॊत ह 10 आऩ ऩय रवशव क लरए फहद बागमशारी ह 11 आऩकी सफस फड़ी काबफलरमत आऩकी हय ददन रवकास कयत हए आऩक

जीवन को फलभसार फनान की काबफलरमत ह 12 आऩ अऩन बागम क एकरौत भालरक ह 13 सपरता का सचचा अथप ह खद को हय ददन इॊसातनमत क रवकास भ

साथपक मोगदान क लरए रामक फनाना 14 सपर होन का सथामी तयीका ह खद को इॊसातनमत की जडो को ऩोषण

दन क लरए फशतप सभरऩपत कय दना

15 आऩ एक मोगम फलभसार औय शानदाय वमजतत ह

सौबागम क ऩववतर फीज

1 जफ आऩ खद सही नजरयमा अऩना रत हो तो आऩका सफ कछ सही हो जाता ह

2 ककसी इॊसान को आऩ ककस तनगाह स दखत हो साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह

3 ककसी काभ को आऩ ककस तनगाह स दखत हो इसक भताबफक ही आऩको वह काभ ऩरयणाभ दता ह

4 आऩकी सोच क ऊऩय उठन स ही आऩ ऊऩय उठ सकत ह 5 जो आऩको जीवन भ खशी औय काभमाफी क लरए जरयी साभान चादहए वह

सफ कछ ऩहर स ही आऩक बीतय ह 6 हय एक इॊसान अदबत ह तमोकक हय इॊसान क ऊऩय ईशवय की ऩरवतर भोहय

ह 7 जो इॊसान खद स खश ह वही दतनमा की खशहारी भ सचचा मोगदान द यहा

8 हय ऩर हभ सफक ऩास अनॊत-अनॊत भातरा भ वह सफ कछ भौजद ह जो हभ सचभच खश यहन क लरए चादहए

9 आऩ जीवन क परतत शकरगजाय हो कय फहत जमादा बागमशारी फन सकत ह 10 खद परकाश का ददवम सतरोतर फन जाना ही सवोतभ उऩाम ह 11 आऩको जफ आऩ ही नहीॊ ऩहचान यह ह तो ककसी औय स ऐसी उमभीद तमो

कय यह ह

12 गजफ ह कक हय इॊसान खद भ अनॊत शजतत का भहासागय सॊजोए हए ह कपय बी कहता ह कक भ कभजोय हॉ

13 आऩका बागम बगवान जी नहीॊ फजलक आऩकी सोच औय आऩकी भहनत लरखती ह

14 भहनती क घय रकषभी नाचती ह 15 काश भ आऩको फता ऩता कक आऩका जीवन ककतना जमादा अनभोर ह 16 जो खद को याह ददखा ऩा यहा ह सचभच दसयो को याह ददखान का हक बी

उसको ही ह 17 सफ कछ तो अबी इसी ऩर भौजद ह हभ ही कहीॊ औय उरझ हए ह 18 काभमाफ होन का भौका तो हय एक को हय ऩर लभर यहा ह ऩय भौका

अतसय भसीफतो क कऩड़ ऩहन कय आता ह 19 रवऩजतत भ ही समऩजतत छऩी होती ह 20 हभ सफ फदहसाफ शजतत क अनभोर खजान ह 21 कछ ह हभाय बीतय जो सदा स ह औय सदा ही यहन वारा ह 22 दखन वार क अॊदय ही वह छऩा ह जजस दखा जाना ह 23 आऩक भाता-रऩता का आशीवापद आऩक लरए फहद अनभोर ह 24 हभ खद ही खदा स लभरन भ सफस फड़ी ददतकत ह 25 साफ़ तनमत आऩको गजफ की फयकत दती ह 26 भजफत इयाद भजफत ऩरयणाभ रकय आत ह 27 जफ इॊसान खद भ रवशवास ददखाना शर कयता ह वहीी स उसक जीवन भ

चभतकाय होना शर हो जात ह 28 रगाताय खद ऩय भहनत कीजजए मह इकरौता तयीका ह ईभानदाय सपरता

परापत कयन का 29 आऩक दवाया आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩको फनान

औय लभटान दोनो की जादई मोगमता यखत ह 30 खोज यह ह हभ बफना मह ऩता कक खोजना तमा ह

हय ददन खद को ननखाय

हय ददन खद को तनखायना ही हय ददन का सचचा समभान कयना ह आऩकी हय ददन सफह उठत ही ऩहरी पराथलभकता मह होनी चादहए कक ककस तयह आऩ आज क ददन को अऩन जीवन का सफस खास ददन फना सकत ह हय नमा ददन आऩको नए अवसय उऩहाय भ दता ह हय ददन का खर ददर स सवागत कीजजए हय ददन नमा सीणखम हय ददन खद को पमाय दीजजम हय ददन अचछ औय सवमॊ को ऩोरषत कयन वार रवचाय सतनम हय ददन अऩन नजरयए को गजफ का सकायातभक यणखम हय ददन आऩकी सचची सवा कयत हए आऩको अनको परगतत क अवसय दता ह आऩ हय ददन नए रोगो स लभर हय ददन नए सऩन दख हय ददन कसयत कय हय ददन का आबाय खर ददर स परकट कय हय ददन अऩन रकषम की ददशा भ जरय फढ़ हय ददन एक कदभ उठाम अऩन आऩ को एक फहतय इॊसान फनान की ददशा भ हय ददन अऩन जीवन क सचच उददशम क परतत सभरऩपत यह हय ददन हय एक वमजतत स खफ उतसाह स लभर हय ददन ऩसतक ऩढ़ हय ददन अऩन रकषमो को लरख हय ददन कछ सभम अकर भ बफताम हय ददन अऩन जीवन भ शकरगजाय होन क नए नए भौक तराश हय ददन अऩन आऩ को एक गहया वमजतत फनाम हय ददन खद को समभान दत हए हय ददन खद का तनभापण कय हय ददन अऩन काभ को सभरऩपत होकय कय हय ददन भहान रोगो क रवचाय ऩढ़ हय ददन सॊकटो को सौबागमो भ फदर द

धनमवाद ऩतर

इस ऩसतक को अऩनान क लरए औय इसभ छऩ भहान सपरता क सचच सॊदश को समभान दन क लरए आऩको ददर स धनमवाद दत ह आऩका जनभ सचभच एक भहान जीवन जीन क लरए हआ ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आज स ही आऩ अऩन सऩनो का जीवन जीन का सचचा तनणपम र सकत ह आऩको एक शानदाय जीवन जीन का सचचा हक दन वार ईशवय को ददर स धनमवाद हभायी ऩहरी ऩसतक सपरता का अभत को ददर स अऩनान क लरए एक फाय कपय स आऩको धनमवाद

रवशष आबाय

इस शानदाय सऩन को सच फनान भ आऩ सबी का फहद अहभ मोगदान यहा ह -

पमाय ईशवय को रवशष आबाय पमाय भाता रऩता का रवशष आबाय हभाय सबी आरोचको का रवशष आबाय हभाय सलभनायो भ आम हजायो रोगो को रवशष आबाय सभाज भ अऩन अऩन अॊदाज भ सकायातभक ऊजाप परान वार हय एक आदय मोगम बाई औय फहन को ददर स आबाय

औय आऩको आबाय

आऩक बीतय छऩी आऩको भहान फनान की फलभसार ताकत को आबाय

आऩ अनभोर ह

आऩ अनभोर ह

Page 8: सफलता का अमृत 2

20 खद को जान रन क फाद खद स फशतप परभ खद फ खद हो जाता ह 21 ऩयी तयह सपर औय ऩयी तयह असपर कोई इॊसान ह ही नहीॊ ह 22 आनॊद को आऩ खोजत तो फाहय ह भगय होता मह आऩक अऩन ही अॊदय

ह 23 जो आऩ दखना चाहत ह आऩ लसपप वही दख ऩात ह 24 एक शानदाय जीवन जीना आऩका हक ह

25 सचची अभीयी आतभ ऻान ह 26 सॊकट आता ही आऩको भजफत फनान क लरए ह 27 जजतन आऩ खद स ईभानदाय होग उतना ही आऩ खद का आदय कयग 28 आतभ रवशवास स ऩहर आतभ ऻान आता ह 29 अगय आऩ जजॊदा ह तो आऩको जीवन क परतत तनयाश होन का कोई हक

नहीॊ ह 30 आऩ अऩन आऩ क लरए फहद बागमशारी ह 31 खद को खोजजए 32 सभरदध आऩका सचचा हक ह

75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

1 Laugh daily

2 Exercise daily

3 Dream daily

4 Think bold daily

5 Read daily

6 Imagine daily

7 Live life of purpose daily

8 Learn from your past

9 Discover your calling

10 Leave the crowd

11 Honor your intuitions

12 Write your goals daily

13 Be yourself

14 Challenge your challenges

15 Become a better person every day

16 Serve humanity

17 Learn from wisdom quotes

18 Write and frame the purpose of your life

19 Problems are platforms

20 Grow your consciousness every day

21 Design your life every day

22 Make your thinking your biggest asset

23 Work hard to work smarter

24 Hard work is good for your health as well

25 Live life like a life passionate lover

26 Expand your thinking every day

27 Celebrate your daily performance

28 Develop yourself daily

29 Respect yourself

30 Create your luck

31 Listen audio programs on personal development daily

32 Sleep less to grow more

33 Go for wisdom

34 Choose wisdom over knowledge

35 Work on your inner life

36 Dedicate yourself towards life-long learning

37 Discover your inner strength

38 Think different to think like tycoons

39 Wake up at 5am daily

40 Adopt a belief system of winners

41 Lead life to live life

42 Express your genius through your work daily

43 Write in a journal daily

44 Think long term

45 Be a passionate life learner

46 Visit library once in a week

47 Commit to working hard till your last breathe

48 Your language is your presentation

49 People who give up are the losers

50 Run your own race

51 Mastery attracts challenges continuously

52 Leave the crowd to lead the crowd

53 Champion your thoughts to champion your life

54 Daily hard work attracts mastery

55 Live your life as per your inner taste

56 Practice rare stuff to get rare results

57 Win in mind first to win in actual

58 Believe in yourself to achieve the impossible

59 People always laugh at man on progress

60 Spend more time with creative people

61 Be lady gaga of your field

62 Be Nelson Mandela of your field

63 Be bill gates of your field

64 Be J K Rowling of your field

65 Go deep to know things deeply

66 Dare to see the picture behind every picture

67 Selfish people are liability even for their own selves

68 Dream bold dreams to check your true inner power

69 Your mind power is infinite

70 Dare to think beyond the crowd

71 Listen to your heart to be a brand

72 Struggle gifts strength

73 Purpose of life is becoming more helpful for humanity every single day

74 Selfless people are history makers

75 Life is an awesome gift of god to you

HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR

GOD 1 Donrsquot disgrace god by playing small with your inner infinite creative

potential

2 God has gifted you with inner infinite creative potential

3 Within you lies the treasure of inner infinite creative potential

4 Your success is godrsquos success

5 Your success is humanityrsquos success

6 Your success is success of that power which lies every single second within

you

7 You are a master-piece and original kindly donrsquot imitate someone

8 You have infinite seeds of greatness within you

9 You have the power to manifest your ultimate destiny

10 Biggest resource that you are having at this moment is your decision to

choose your destiny

11 Be a leader and gift yourself a vision for your life

12 Every single day is a world class platform to become more and achieve more

as a person

13 You shine when you face adversity

14 Problems are your honest servants as they serve you by developing you

15 You must master your thinking to master your destiny

16 You are free if you are rightly educated

17 You have the power to live your life in your style

18 Run your own race to win the race with grace

19 Bigger the obstacle bigger the rewards

20 Harder you work smarter you become

INNER WEALTH

Inner wealth is open to all of us

Inner wealth is actual wealth

Inner wealth is infinite for all of us

Inner wealth can be achieved by becoming a better person every day

Inner wealth can be achieved by discovering your calling

Inner wealth can be achieved by challenging yourself for better

Inner wealth is a gift that one can as a result of his daily inner growth

Inner wealth gives you joy as it is a result of your daily self-realization

Inner wealth is obtained when it becomes ultimate aim of your life

Inner wealth is obtained by life visionaries

Inner wealth is achieved by leaving the crowd and listening to your own heart

Inner wealth is achieved by those who refuse to give up at the times of pains and

challenges

Inner wealth is achieved by people who are truly passionate about achieving inner

wealth

अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

1 आऩ एक शानदाय जीवन जी सकत ह 2 आऩ एक परचयता स बया जीवन जी सकत ह 3 आऩ शकरगजायी की भहान बावना स सजा जीवन जी सकत ह 4 आऩ भानवता क फलभसार इततहास भ अऩना नाभ दजप कया सकत ह 5 आऩ गजफ क आतभ रवशवास क भालरक हो सकत ह 6 आऩ एक अभीय औय बफलकर खशहार जजॊदगी हय ददन जी सकत ह 7 आऩ इस फात की ऩयवाह ही नहीॊ कयग कक रोग आऩको तमा कहत ह 8 आऩ हय ददन सभरदध की सीढ़ी चढ़त जात ह 9 आऩ हय इॊसान को आदय क बाव स दखन रगत ह 10 आऩ खद स फदहसाफ पमाय कयन रगत ह 11 आऩ सचभच जीवन का समभान कयन रगत ह 12 आऩ परकतत क यहसमो को धीय-धीय सभझन रगत ह 13 आऩ भानवता क सचच सवक फनन रगत ह

14 आऩ जीवन भ ककसी बी भकाभ तक आसानी स ऩहॉच सकत ह 15 आऩ हय वो सऩना सच कय सकत ह जजस आऩ हभशा स दखत आम ह 16 आऩ ऩयी भानवता को सचभच याह ददखा सकत ह 17 आऩ सचभच एक फलभसार जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह

अभीय सोच सचभच आऩको अभीय फना दती ह वाकई अभीय सोच कोई बी अऩना कय अभीय फन सकता ह अभीय सोच क कछ रण इस परकाय ह

1 अभीय इॊसान अऩन जीवन की जजमभदायी खद रता ह 2 अभीय इॊसान हय ददन नमा सीखता ह 3 अभीय इॊसान सॊकट को सपरता की नीॊव सभझता ह 4 अभीय इॊसान जीवन को एक वयदान की तयह जीता ह 5 अभीय इॊसान हय ददन खद को तनखायता ह 6 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी जजॊदगी उसक खद क रवचायो का ही

परततबफॊफ होती ह 7 अभीय इॊसान अभीय रोगो की सोच की सचभच कदर कयता ह 8 अभीय इॊसान हय ददन को परगतत कयन क भॊच क तौय ऩय दखता ह 9 अभीय इॊसान सचभच खद भ रवशवास कयता ह 10 अभीय इॊसान फड़ धमान स सनता ह 11 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी ककसभत उसक अऩन ही हाथ भ ह 12 अभीय इॊसान नए-नए रोगो स रगाताय लभरता ह ताकक अऩन काभ को औय

अचछ तयीक स कय सक 13 अभीय इॊसान हय ददन अचछी ऩसतक ऩढता ह 14 अभीय इॊसान हय ददन सऩन दखता ह 15 अभीय इॊसान जीवन को ऩय उतसाह क साथ जीता ह 16 अभीय इॊसान मह भानता ह कक उसकी भहनत हय ददन उस परगतत क नए-

नए अवसय दती ह 17 अभीय इॊसान खरकय अभीयी क रवचाय सबी स साॊझ कयता ह

18 अभीय इॊसान सचभच चाहता ह कक जमादा स जमादा रोग सभरदध का जीवन जीम

19 अभीय इॊसान ददर स मह सभझता ह कक अभीयी सचभच हभाय अऩन ही हाथ की फात ह

20 अभीय इॊसान सचभच सवा कयत हए अभीय फनता ह 21 अभीय सोच का अथप ह कक सभाज की सवा कयन की सचची औय ईभानदाय

सोच यखना 22 अभीय सोच का अथप ह कक जीवन का समभान कयत हए जीवन को ऩय जोश

औय उतसाह क साथ जीना

असपरता का सचचा अथथ

1 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ रगाताय परमास कय यह ह 2 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ अऩनी सोच को हकीत भ फदरन

की जादई ताकत यखत ह 3 असपरता आऩको भजफत फनाती ह 4 असपरता आऩको शानदाय अनबव दती ह 5 असपरता आऩको जीवन भ कछ फड़ा कयन की गजफ की परयणा दती ह 6 असपरता आऩको बीड़ स अरग कयत हए इततहास यचन वारो क फीच

राकय खड़ा कय दती ह 7 असपरता आऩको ऩयी ताकत क साथ दोफाया शर कयन की परयणा दती

ह 8 असपरता आऩकी सोच को गहया फना दती ह 9 असपरता सपरता की जड़वाॉ फहन ह 10 असपरता आ यही ह भतरफ आऩ अऩना सवोतभ दन का रगाताय

परमास कय यह ह 11 असपरता आऩको हय ददन अरग अरग तरो भ लभरती ही यहती ह जफ

बी आऩ कछ नमा कयन की कोलशश कयत ह 12 असपरता आऩकी परगतत क लरए फहद जरयी ह 13 असपरता आऩको एक फाय कपय नमा सोचन का अवसय दती ह 14 असपरता ही आऩकी सपरता फन जाती ह जफ आऩ इसस लशा रकय

जीवन भ एक कदभ ओय आग फढ़ जात ह 15 असपरता आऩकी आवाज भ लभठास औय रवनमरता रकय आती ह

असाधायण रोगो क 10 फमभसार गण

1 असाधायण रोग हय ददन एक सऩषट जीवन रकषम क साथ आग फढ़त ह 2 असाधायण रोग हय ददन नमा सीखत ह 3 असाधायण रोग हय ददन जमादा स जमादा सपर रोगो क साथ अऩना नटवकप भजफत कयत ह 4 असाधायण रोग हय ददन सऩन दखत ह 5 असाधायण रोग इस फात भ गहया रवशवास कयत ह कक जीवन भ ककसी बी इॊसान क लरए कोई कभी नहीॊ ह अभीय इॊसान नहीॊ अभीय दयअसर एक सोच होती ह जजस कोई बी इॊसान अऩना सकता ह 6 असाधायण रोग दसय रोगो क रवकास भ अहभ बलभका तनबात ह 7 असाधायण रोग ईशवय क दवाया हय इॊसान को ददए गए चायो उऩहायो (शयीय भजसतषक रदम आतभा) का हय ददन बयऩय उऩमोग कयत ह 8 असाधायण रोग अऩनी फात को कहन की करा भ खद को तनऩण फनात ह 9 असाधायण रोगो की दोसती बी असाधायण रोगो क साथ ही होती ह तमोकक आऩक दोसत आऩक बागम क तनभापण भ फहत जरयी बलभका तनबात ह 10 असाधायण रोग हय ददन अऩन काभ का पीडफक रत ह औय खद को हय ददन भजफत फनात ह

आऩ एक वयदान ह

आऩ अनभोर ह

आऩ फलभसार ह

आऩ अनॊत शजतत क भालरक ह

आऩ फलभसार काबफलरमत का खजाना सवमॊ भ सॊजोए हए ह

आऩकी कलऩना शजतत अनॊत ह

आऩका भजसतषक एक गजफ का ताकतवय कॊ पमटय ह

आऩकी ककसभत शानदाय ह

आऩ अऩन जीवन को ककसी बी ददशा भ र जा सकत ह

आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह

आऩ भानवता की सवा कयक भहान फनन का चनाव कय सकत ह

आऩ अऩन जीवन को दसयो क लरए एक परयक जीवन फना सकत ह

आऩ सवमॊ भ छऩी अनॊत शजततमो को ऩान क परतत सभरऩपत हो सकत ह

आऩ ऩयी दतनमा घभ सकत ह

आऩ अऩन नाभ को एक बाॊड फना सकत ह

आऩ अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना सकत ह

आऩ भजशकर को भौक भ फदर कय भजशकर को समभान द सकत ह

आऩका सचचा ऩरयचम

आऩ एक चभतकाय ह आऩ सौबागम क अनॊत फीज खद भ सॊजोए हए ह आऩक बीतय एक कभार की शजतत ह जजसका आऩको जीत जी जरय एहसास कयना चादहए ऩयी दतनमा क लरए आऩका जनभ एक भहासौबागम ह आऩ एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद हय ददन र सकत ह आऩ हय ददन सफह जलदी उठ कय अऩनी ककसभत का तनभापण कय सकत ह आऩक सॊकट आऩका रवकास कयत ह आऩक रकषम आऩका रवकास कयत ह आऩ आज स ही अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय सकत ह आऩ भानवता की सवा कयक जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह आऩका जीवन आऩको लभरा एक शानदाय उऩहाय ह आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह आऩ हय ददन एक नमी सोच अऩना कय नए ऩरयणाभ परापत कय सकत ह आऩ जजतना जमादा खद को जानोग उतना ही खद स पमाय कयत चर जाओग आऩ जीवन क परतत सभरऩपत होकय अऩन जीवन को एक उतसव की तयह जी सकत ह आऩ हय ददन नए सऩन दख सकत ह आऩ अनभोर ह आऩ अनभोर ह

आऩकी काभमाफी को सभवऩथत 15 शकततशारी ववचाय

1 आऩ फदहसाफ आॊतरयक शजतत क भालरक ह 2 आऩ ऩय बहभाॊड क लरए फहद शब औय सौबागमशारी ह 3 आऩकी कलऩना कयन की शजतत अनॊत ह 4 आऩकी आतभ सधाय कयन की भता अनॊत ह 5 आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह 6 सवसथ का अथप ह सवमॊ भ जसथत होना 7 सवाथप का सचचा अथप ह सवमॊ क सचच औय गहय अथप को सभझना 8 ऩागर का अथप ह जजसन ऩा लरमा गर (काभ की फात मा सचची फात)

को 9 ऩागर का अथप ह ऩाक (रहानी) फात कयन वारा 10 आज अबी औय इसी ऩर आऩ एक काबफर शानदाय फलभसार औय

सभदध वमजतत ह 11 आऩ कबी बी कछ बी सीख कय ककसी बी तर भ भहायत हालसर कय

सकत ह 12 आऩका जनभ एक सखद उऩहाय ह ऩयी भानवता क लरए 13 सभसत धयती आऩकी अऩनी ह 14 आऩका बागम ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह 15 आऩभ अनॊत सॊबावनाएॊ छऩी ह

आऩकी सपरता को सभवऩथत 30 जादई औय परयणादामी ववचाय

1 ऩहर अऩन रकषम क परतत सभऩपण औय कपय उस सभऩपण की हय कीभत चकान की दहमभत चादहए तफ जाकय सपरता आऩक कदभ चभती ह

2 ककतनी पमायी फात ह कक हभ खद को आदय दकय अऩन बीतय भौजद ईशवय को ही तो आदय दत ह

3 सयरता सवगप ह जफकक उरझन नकप ह 4 ककतनी कभार की फात ह कक हभ सफ जीवन भ आसान यासत चाहत ह

भगय हभाया रवकास लसपप भजशकर यासतो ऩय चर कय ही होता ह 5 सफको अऩना बरवषम जानन की फड़ी आतयता यहती ह जफकक अऻात भ

जीन का भजा ही तनयारा ह 6 हय ऩर आऩ खद क फनाम सवगप भ मा कपय खद क फनाम नकप भ यहन का

चनाव कयत ह

7 खद का सधाय ककम बफना दसय को सधायन की कोलशश कयना वमथप का परमास साबफत होता ह

8 अऩनी गरती कोई नहीॊ भानता जफकक अऩनी गरती भान कय अऩन आऩ को सधायन का आनॊद गजफ का ह

9 भजशकर हारात आना इस फात का सफत ह कक आऩ परगतत क ऩथ ऩय ह 10 सफको फशतप पमाय दीजजए तमोकक परभ आऩक ऩास फदहसाफ भातरा भ भौजद

ह 11 आऩ खद ही अऩनी सोच को काभमाफी की ददशा भ रकय जा सकत ह 12 सच क यासत ऩय तनयॊतय चरना आऩको एक अदबत आनॊद दता ह 13 अऩन जीवन भ आन वारी सभसमाओॊ का खफ आनॊद रीजजए तमोकक म

आऩक लरए परगतत क शानदाय अवसय र कय आती ह

14 हय सपर इॊसान ककसी फड़ी चनौती का साभना कयत हए खद को भजफत फना कय सपर फनता ह

15 नज़ाया चाह कछ बी हो हभायी नज़य वही दखती ह जो दखन क लरए हभ इस कहत ह

16 कबी कबी इॊसान जजस जीत सभझता ह वह हाय होती ह औय जजस हाय सभझता ह वह जीत होती ह

17 3 सभम बोजन अगय आऩ हय योज़ कयत ह तो आऩको योज़ 3 सभम कछ न कछ नमा जरय सीखना चादहम

18 जीवन भ आऩको आऩक लसवा कोई खश मा दखी कय ही नहीॊ सकता 19 परभ भ सवाथप नहीॊ औय जहाॉ सवाथप ह वहाॉ परभ नहीॊ 20 ईशवय हभ हय ऩर हभाय सवोतभ रऩ भ ऩहॉचन क लरए भागपदलशपत कय यहा

ह 21 जफ जफ आऩकी तनमत साफ़ यहती ह तफ तफ आऩको ऩरयणाभ भ फयकत

बी जफयदसत होती ह 22 इॊसान जीवन भ अऩनो औय ऩयामो को ही खोजन भ रगा यहता ह जफकक

अऩना ऩयामा कोई ह ही नहीॊ 23 आऩकी भहनत अगय फकाय चरी गमी तो वो भहनत थी ही नहीॊ 24 खद क अहॊकाय को काट बफना जीवन भ खशी का ऽजाना नहीॊ लभरता 25 ककसी को कभतय सभझन की गरती वही कयता ह जो खद ऩय श कयन

का आदी हो 26 गहयाऩन आऩक काभ भ दय दय की ठोकय खा कय ही आता ह 27 एक फाय खद क बीतय ईशवय को ऩाकय कपय आऩको हय जगह ईशवय ही

ददखाई दता ह

28 अऩनी अॊतयातभा की आवाज़ को फरॊद कयक ही आऩको सचची खशी लभरती ह

29 ककसी की सचची इजज़त कयन क लरए ऩहर खद की जफयदसत फइजजती कयना जरयी ह

30 सच भ सच को कह कस औय झठ कह कय ददर को खशी लभरती नहीॊ

गजफ की शकतत ह आऩकी सोच भ

1 आऩकी सोच आऩक जीवन का सच फन जाती ह 2 आऩकी सोच औय आऩका नजरयमा फहत ही गहय स आऩस भ जड़ होत ह 3 आऩ अऩनी सोच को कबी बी ककसी बी फड़ी सपरता क लरए तमाय कय

सकत ह 4 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजए 5 काभमाफ सोच को अऩना कय आऩ बी काभमाफ हो सकत ह

6 भानवता की सचची सवा कयन की सोच को अऩना कय आऩ बी एक फलभसार जीवन का आनॊद र सकत ह

7 हय ददन अऩनी सोच को सकायातभक औय उतऩादक फनाना आऩकी जजमभदायी ह

8 आऩकी सोच आऩक जीवन क हय ऩहर को परबारवत कयती ह 9 काभमाफ सोच काभमाफ ऩरयणाभ ऩदा कयती ह 10 काभमाफ सोच हभशा आऩको सभाधान की ओय र कय जाती ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह तमोकक आऩक द ख आऩकी अॊदरनी आॉख खोरत ह

आऩक द ख ही आऩको रगातय कछ ऐसा खोजन क लरए पररयत कयत जो आऩको सचभच सथामी आनॊद द सक

आऩक द ख ही आऩकी परगतत का भागप खोरत ह

आऩक द ख ही आऩक सख का आधाय फनत ह

आऩक द ख दयअसर आऩको दख रगत ह भगय जीवन आऩको आग फढ़ान क लरए दखो का ही इसतभार कयता ह

द ख असर भ आऩकी आऩक अॊदरनी खजान क परतत अऻानता क कायण ह

आऩक द ख आऩका रवकास कयत ह

आऩक द ख आऩको हय ददन नमा सीखन क लरए औय जीवन को जजमभदायी रत हए जीन क लरए पररयत कयत ह

आऩक द ख ही आऩकी भहानता की सीढ़ी फनत ह

आऩक द ख अगय ना हो तो आऩक सख बी आऩस दय ही यहग

हय द ख भ सख का फीज छऩा होता ह

द ख वासतव भ द ख नहीॊ होता द ख वो हभाय उसको द ख की तयह दखन क कायण फनता ह

द ख ईशवय को आऩको परगतत कयन क लरए ददमा वयदान होता ह

द ख जफ आऩ सहन कय चक होत ह औय आऩ उसस नमा सीख कय जीवन भ एक नए सतय तक ऩहॉच चक होत ह तो द ख आऩको फड़ी खशी दता ह

आऩक मरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

आज आऩ जो बी सोच यखत ह चाह वह आऩका रवकास कय यही हो मा रवनाश कय यही हो उस ऩयी तयह आऩन ही फनामा ह औय आऩ इस ऩयी तयह स फदर सकत ह औय एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

आऩक आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩक बागम का सतय तम कयत ह

आऩ इस भहान सजषट का एक अहभ दहससा ह

हभ सफ एक दसय स जड़ हए ह

आऩकी ककसभत आऩकी भहनत स फनती ह

सॊकट आऩको परगतत क शानदाय अवसय दता ह

हय इॊसान स आऩ कछ न कछ नमा जरय सीख सकत ह

आऩकी सोच ही आऩका सच फनती ह

सीखन वार हभशा ही जीतन वार फन जात ह

हय ददन भहनत कय औय बागमशारी फन

अवसय ककसी काभ भ नहीॊ फजलक आऩकी सोच भ छऩा होता ह

सॊघषप आऩका तनभापण कयता ह

हायन क फाद आऩका जीत का आनॊद रन का साभरथमप फढ़ जाता ह

आऩक जीवन का हय ऩर आऩक लरए पमाय ईशवय का उऩहाय ह

आऩकी शजतत अनॊत ह

आऩ खद अऩन जीवन क भालरक ह

ईशवय न आऩको जजॊदगी का फलभसार उऩहाय दकय समभातनत ककमा ह

आऩक आरोचक आऩकी इततहास फनान भ भदद कयत ह

आऩक मरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

1 आऩक रवचाय आऩकी असलरमत का तनभापण कयत ह 2 खद को रगाताय आतभऻान रत यहन क लरए सभरऩपत कय दीजजम 3 हय ददन 03 लभनट का सभम तनकार कय परयक ऩसतक ऩदढ़ए

4 एक कागज ऩय बफलकर सऩषट रऩ स लरख रीजजम कक ldquoआऩ जीवन भ तमा परापत कयना चाहत हrdquo

5 जो सॊदश आऩ दसयो को दना चाहत ह ऩहर खद उस सॊदश को अऩन जीवन भ हय ददन आदयऩवपक जजएॊ

6 असाधायण परमास कयक ही आऩ असाधायण ऩरयणाभ परापत कय सकत ह 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजम 8 जफ आऩ खद को हय ददन अऩन बीतय छऩी असाधायण सॊबावनाओॊ क लरए

जागरक कयत ह तो आऩस जड़ी हय चीज़ काभमाफी की ददशा भ फढ़ती ह 9 आऩ हय वो चीज़ सीख सकत ह जो आऩको काभमाफ होन क लरए आनी

चादहए 10 सपरता औय खशी आऩस दय नहीॊ ह फजलक आऩ खद सपरता औय खशी

स दय ह 11 आऩकी सीखन की भता ही आऩक कभान की भता तनधापरयत कयती ह 12 हय एक इॊसान अनभोर औय शानदाय ह 13 लसपप सोच स फड़ औय तनडय रोग ही अऩनी वासतरवक आनतरयक शजतत का

उऩमोग कयत ह 14 आऩक जीवन का सचचा रकषम आऩकी आॊतरयक शजतत क फलभसार बणडाय

को खोजना औय उस भानवता की सवा भ सभरऩपत कय दना होना चादहए 15 फहान फनान वार इततहास यचन वार नहीॊ फनत

16 आऩ ऩहर खद अऩन आऩ को धोखा ददए बफना ककसी ओय को धोखा नहीॊ द सकत

17 जो सभम आऩ अऩनी सचची औय अॊदरनी ताकत को जानन भ रगात ह वो आऩक सभम का सफस फहतयीन तनवश होता ह

18 काभमाफी औय अभीयी का जीवन ऩयी तयह स आऩक चनाव ऩय दटका ह 19 सचभच अभीय रोग भानवता क फहत ही अचछ सवक होत ह औय भधमभ

दज क रोग भानवता क भधमभ दज क सवक होत ह 20 आऩका ददभाग एक फहत ही शजततशारी कॊ पमटय ह 21 जीवन भ हय ददन परगतत कयन क लरए ककसी ओय स नहीॊ अऩन आऩ स

हय ददन फहतय होत चर जाएॊ 22 जीवन हभ सफको एक अचछ इॊसान क तौय ऩय चभकन क लरए फशतप औय

भहान उऩहाय की तयह लभरा ह 23 जफ आऩ खद की सचची कदर कयत हो तबी आऩ दसयो की सचची कदर कयन

क काबफर फनत हो 24 जफ आऩ जीवन क हय तर भ अऩन खद क ही रऩछर रयकॉडप तोड़न रगत

ह तफ आऩ सचभच एक चरऩमन क तौय ऩय रवकलसत होन रगत ह 25 जो ऩरयणाभ आऩ आज अऩन जीवन भ परापत कय यह ह उसक लरए आऩक

अरावा ऩयी दतनमा भ कोई बी जजमभदाय नहीॊ ह 26 दतनमा रॊफ सभम तक धनमवाद दन वार रोगो का लशकामत कयन वार

रोगो स कहीॊ जमादा समभान कयती ह 27 आऩका वमवहाय हभशा ही आऩक चरयतर की सचची तसवीय को ददखाता ह 28 हय भहान इॊसान आऩको मही भहसस कयाता ह कक आऩ बी भहान फन

सकत ह

29 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय ददन सोचत सनत दखत फोरत औय भहसस कयत ह

30 हय ददन कछ सभम तनकार कय ऐस रवचाय जरय सन मा ऩढ़ जो आऩको सचभच एक शानदाय जीवन जीन क लरए फहद पररयत कयत ह

आऩक मरए कछ नए औय शानदाय ववशवास आऩक खद क फाय भ

तमा आऩ जानत ह कक कौन आऩकी जजॊदगी चरा यहा ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी सोच ककस हद तक आऩकी जजॊदगी को फहतय औय फदतय फनान की काबफलरमत यखती ह

तमा आऩ जानत ह कक आऩकी वासतरवक शजतत ककतनी ह तमा आऩ जानत ह कक ककस

हद तक आऩ अऩन जीवन को शानदाय फना सकत ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ अऩन

सऩनो की जजॊदगी जीन भ ऩयी तयह सभ ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी भजशकर आऩका रवकास कयती ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ हय ददन खद ही अऩनी तनमतत फनात ह

आऩ ककस तयह स खद को दखत ह साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह आऩ खद को ककतना काबफर भानत ह इसी फात स आऩकी सपरता का सतय तम होता ह ककस तनगाह स आऩ

अऩनी सीखन की काबफलरमत का इसतभार कयत ह इसी स आऩकी अभीयी का सतय तम

होता ह आऩ हाय क फाद ककस नजरयम स दोफाया शर कयत ह इसी स साया पकप ऩड़ता ह

आऩकी जजॊदगी ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह जफ तक आऩको रगता ह कक आऩकी जजॊदगी क

लरए आऩ जजमभदाय नहीॊ ह तफ तक आऩ अऩनी जजॊदगी को फहतय फनान क लरए जरयी कदभ नहीॊ उठा सकत जफ तक आऩ खद क फाय भ एक सकायातभक नजरयमा नहीॊ रवकलसत कय रत तफ तक आऩकी सभसमा जमो की तमो फनी यहगी

आऩकी हय सभसमा का एक ही सभाधान ह औय वो ह कक आऩ खद की ऩतकी ऩहचान कय आऩ खद को जान आऩ अऩनी आॉख खोर आऩ अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का उऩहाय द

आऩकी सचचाई मह ह कक

आऩ ऩयी तयह स सपर होन क लरए काबफर ह आऩ ऩयी तयह स खद की जजॊदगी को

फदरन की काबफलरमत यखत ह आऩ अऩनी जजॊदगी क भालरक ह आऩ एक शजततशारी ददभाग क भालरक ह आऩ सचभच एक कभार की जजॊदगी जीन का सचचा हक यखत ह आऩ हय ददन नमा सीख कय हय ददन जीत सकत ह आऩ जजस फात भ मकीन यखत ह वही आऩक लरए हकीत फन जाती ह आऩ एक फलभसार जीवन जीन की सचची काबफलरमत यखत ह

आऩ अनभोर ह आऩ सचभच काबफर ह आऩ हकदाय ह एक अदबत जीवन जीन क

इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का कजसन खद ही खद की ककसभत को फनामाhellip

सवार आऩ काभमाफ कस हए

जवाफ काभमाफ होना ही भया ऩास एकरौता यासता था

सवार आऩ असपर बी तो हो सकत थ

जवाफ भ असपर हआ ही इतनी जमादा फाय था कक अफ सपर होना ही था जफ आऩ रगाताय भहनत कयत हो तो एक वक़त ऩय आकय आऩको ऩतका सपरता लभरती ह

सवार सपरता तमा होती ह

जवाफ खद को जानना सपरता ह खद क साथ ईभानदाय होना सपरता ह खद को हय ददन खद क बीतय छऩी शजततमो क परतत लशकषत कयना सपरता ह इॊसातनमत की सचची सवा कयना सपरता ह

सवार आऩको दख कय रगता ह कक आऩ एक फहत ही सरझ हए इॊसान ह तमा ऐसा वाकई ह

जवाफ दणखए सपरता लभरती ही तफ ह जफ आऩ खद सरझ जात ह आऩकी सपरता भ सफस फड़ी ददतकत आऩकी सोच औय आऩका जरयत स जमादा उरझा होना ही ह आऩ खद को सयर कयत हए कबी बी कभार की सपरता ऩा सकत ह

सवार आऩन खद को कस ऩामा

जवाफ जफ भन खद ऩय रवशवास कयना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भ लसपप एक शयीय स कहीॊ जमादा हॉ जफ भन खद स जड़ना शर ककमा तो भझ एहसास हआ कक भझभ एक शजतत ह जो ऩयी तयह स भया दहत औय पराव चाहती ह जफ भन सपर रोगो स लभरना शर ककमा तो भन ऩामा कक हय सपर इॊसान खद स ईभानदाय ह हय सपर इॊसान जीवन क परतत हय ददन जफयदसत आबाय वमतत कयता ह हय सपर इॊसान मह सोचता ह कक उसका जनभ एक शानदाय जीवन का आनॊद रन क लरए हआ ह

उतसाह क साथ मशखय की मातरा का आनॊद

1 आऩ जीवन भ जो कछ बी तराश यह ह ठीक वही आऩको लभर जा यहा ह 2 बफरकर सऩषट कीजजम कक सपरता का आऩक लरए सचचा अथप तमा ह

3 आऩ इस रवशार बहभाॊड भ कस अऩनी छाऩ छोड़ना चाहत ह

4 आऩका जनन ही आऩक काभकाज का तर होना चादहम 5 हारात स जमादा परापत कयन क लरए हारात को जमादा गहय स भहसस

कयना शर कीजजए 6 अचछी चीज़ो औय अऩन ऻान को खशी खशी सबी स फाॊदटम 7 अऩन फाय भ जागरकता फढ़ान क लरए अऩनी ताकतो औय कभजोरयमो को

साफ़ साफ़ कागज ऩय लरणखम 8 अऩन सऩनो की हय ददन यचनातभक भानलसक तसवीय दणखम 9 हय ददन अऩनी फातचीत की करा ऩय गजफ की भहनत कीजजए 10 जीवन भ रीडयशीऩ की अहलभमत को सभणझम 11 हय रयशत भ जीत -जीत की भानलसकता रवकलसत कीजजम 12 फड़ी सोच क फड़ जाद का जभ कय समभान कीजजम 13 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 14 असपरता जसी कोई चीज़ नहीॊ होती वह तो लसपप तनखयन की लशा होती

ह 15 अऩनी सोच को एक अॊतयासरीम कॊ ऩनी क भालरक की तयह रवकलसत

कीजजम 16 अऩन जीवन क सऩषट जीवन भलम तनधापरयत कीजजम 17 आजीवन सीखत यदहम 18 रवनमर फतनम

19 अऩनी सोच ऩय भजशकर वक़त भ बी खड़ यदहम 20 इस दतनमा का परतमक वमजतत भहतवऩणप ह इसीलरए सबी का समभान

कीजजम 21 सपर इॊसान को असपर इॊसान स उसकी सोच अरग कयती ह 22 आऩकी काभमाफी आऩकी खद ऩय की गमी हय ददन की भहनत का ऩरयणाभ

होती ह 23 जजतना जमादा आऩ खद क फाय भ जानत ह उतना ही जमादा आऩ परापत

कयत ह 24 हय ददन की कड़ी भहनत ही चरऩमन को चरऩमन फनाती ह 25 आऩकी वशबषा फोरती ह 26 सपरता क लसदधाॊत ऩयी दतनमा भ एक साभान रऩ स कामप कयत ह 27 आऩक रयशत सचभच आऩकी सपरता भ अहभ बलभका तनबात ह 28 अऩन जीवन की कहानी खद लरणखम 29 आऩको भहान फनन स कौन योक यहा ह

30 आऩका भागपदशपन कौन कय यहा ह

31 सचची दोसती आऩका रवकास कयती ह 32 सभम ही आऩकी सचची ऩॊजी ह 33 ऩसतक ऩदढम औय जीवन भ आग फदढम 34 परकतत क साथ वक़त बफताम 35 सपर रोगो क साथ यह 36 आऩका बरवषम आऩक लरए एक कोय कागज क सभान ह 37 अऩन साथ हभशा अऩना रकषम काडप यणखम 38 रगाताय अऩनी समऩकप सची को फड़ा कीजजम 39 आऩ कस अऩन काभकाज क फाय भ दसयो स फात कयत ह

40 अऩन सऩनो को पोटो फरभ कया कय उनह अऩन साभन यणखम 41 अऩन सऩनो क फाय भ हय लभर सकन वारी जानकायी जरय इकठठा कीजजम 42 जीवन जीन क अऩन खद क तनमभ फनाइम 43 अऩन सऩनो का अनसयण कीजजम 44 आरोचना तफ होती ह जफ आऩ परगतत कयत ह 45 जफ तक आऩ ऩछत यहग आऩको जवाफ जरय लभरग 46 हभ सफ एक ह 47 अऩनी सऩषट ऩहचान कीजजम तमोकक आऩ अनभोर ह 48 आऩ जमादातय सभम खद क फाय भ तमा सोचत ह

49 अऩनी उजाप क सतय को हय ददन फढाम 50 हय भहीन कछ धन की फचत जरय कय 51 आऩक फाय भ सवोतभ फात मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह 52 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय वतत सोचत यहत ह 53 आऩका वमाऩाय आऩक दसयो क साथ अचछ रयशतो स हय ददन अचछा फनता

जाता ह 54 रोगो स फात कयत वक़त उनकी बावनाओॊ को जरय सऩशप कय 55 आऩकी जीत की सचचाई मह ह कक जीत आऩ अऩनी सोच ऩय हालसर कयत

ह 56 जजस ददन आऩको अऩन जीवन को जीन का एक सचचा भकसद लभर जाता

ह उस ददन आऩका सचभच जनभ होता ह 57 हय ददन नमा सीखना ही सचभच जीतना ह 58 भहान रोगो स जमादा स जमादा लभर औय उनस सीख 59 आऩ एक ददन दतनमा को अररवदा कह दग रककन आऩक काभ हभशा

रोगो क ददरो ऩय याज़ कय सकत ह

60 अऩन ददभाग भ अऩनी सपरता का एक तनजशचत नतशा जरय फनाम 61 आऩकी सचची ऩॊजी आऩकी सीखन की औय परगतत कयन की मोगमता ह 62 अऩन अतीत का समभान कय 63 हय ददन तनखाय कयत हए एक सभम क फाद चरऩमन की तयह जजम 64 जजस चीज़ ऩय आऩ धमान कजनदरत कयत ह वही चीज़ आऩक खद -फ-खद

नजदीक आ जाती ह 65 अऩन बरवषम का समभान कयत हए हय ददन वतपभान भ खफ भहनत कय 66 जजतना जमादा आऩको आऩक काभ की सभझ होती ह उतना जमादा आऩ

अऩन काभ स कभा सकत ह 67 सयर वमजतत सफका ददर जीत रता ह इसीलरए सयर फतनम 68 आऩका रकषम आऩकी शजतत को फढ़ा दता ह 69 आऩक भजफत जीवन भलम आऩको हय ददन भजफत फना दत ह 70 आऩकी आदत हय ददन आऩका जीवन चरा यही ह 71 अऩन जीवन की जजमभदायी अऩन हाथो भ र रीजजम 72 अऩन आस ऩास सचच रीडसप रवकलसत कयन क लरए आज ही आऩ खद

एक सचच रीडय की तयह वमवहाय कयना शर कय सकत ह 73 हय नए रवचाय क लरए हय ऩर खर यदहम 74 अऩन घय औय कायोफाय भ यचनातभक तौय-तयीको को फढ़ावा दीजजम 75 आऩक ऩास जो बी अचछ रवचाय ह उनह जरय सफस साॉझा कय 76 असपरता आऩको भजफत फनात हए आऩकी सवा कयती ह 77 अऩन आस -ऩास शानदाय रवचायो की औय हयी-बयी परकतत की तसवीय यणखम

78 अऩन घय औय कायोफाय की जगह ऩय अऩना रवज़न फोडप रगाम 79 अऩना वमजततगत ऩसतकारम जरय फनाइम

80 आऩका आऩक काभ क परतत परभ आऩक हय रकषम को फड़ी ही आसानी स ऩया कयवा दता ह

81 खद भ जफयदसत रवशवास ददखाएॉ 82 अऩनी तनमत ही आऩकी तनमतत तम कयती ह 83 एक भहान रवचाय आऩको जीवन भ भहान फनान की शजततशारी मोगमता

यखता ह 84 शकरगजाय होकय आऩ आज औय इसी ऩर स काभमाफ होन का चनाव कय

सकत ह 85 हभशा एक फचच की तयह जीवन क परतत उतसक फन यदहम 86 जफ आऩ खद तयतकी कयत ह तबी आऩ जीवन का सचचा आनॊद र ऩात

ह 87 खद को फहतयीन अॊदाज भ सफक साभन ऩश कयना जरय सीख 88 अऩन जीवन भ सॊगीत का सथान हय ददन जरय यख 89 खफ भहनत कयन क फाद अऩन शयीय औय भन को आयाभ जरय द 90 अऩनी रचच को धमान भ यख कय ही अऩन जीवन क भहततवऩणप चनाव

कय 91 अऩन आऩ स हय ददन ईभानदाय यदहम 92 अऩन रवचायो का सचचा समभान कयन क लरए उनह कागज ऩय लरख 93 जफ आऩ सन तो सच भ सन 94 एक सकायातभक वमजतत फनन क लरए सकायातभक शबदो को अऩनाम 95 चरऩमन आऩ अऩनी चरऩमन सोच की वजह स फनत ह 96 हय उस इॊसान को भाफ़ कय दीजजम जजसन जान-अनजान भ आऩका ददर

दखामा ह

97 अगय असपरता आऩको नहीॊ लभर यही ह तो सभझ लरजजम आऩ सपरता क भागप ऩय नहीॊ ह

98 अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनाइम 99 आऩका जीवन सभसत रवशव क नाभ आऩका सॊदश ह 100 अऩनी सपरता को भानवता क सवा भ सभरऩपत कय दीजजम

101 काभमाफ होना आऩका हक ह

एक घय ऐसा बी ह कजसभ एक घय ऐसा बी ह जजसभ हय ऩर आनॊद का परसाय होता यहता ह जजसभ हय ओय सचचाई का परकाश यहता ह मह सौबागम ह भया कक आऩको ऐस एक शानदाय घय स रफर कयान का अवसय भझ ईशवय न ददमा ह घय क परवश दवाय ऩय लरखा ह ldquoजननत ईशवय का आशीवापदrdquo औय जस ही आऩ घय क बीतय जात ह आऩका धमान ऩड़ता ह दीवायो ऩय लरख शानदाय औय असयदाय रवचायो ऩय रवचाय जस कक वह फदराव खद भ रकय आइए जो आऩ दतनमा भ दखना चाहत ह भहातभा गाॉधी जो आऩ सोचत ह वह आऩ फन सकत ह रवलरअभ जमस आऩकी शजतत अनॊत ह आऩक बीतय सौबागम क फदहसाफ फीज ह आऩका जनभ ऩयी ऩरथवी क लरए एक फलभसार वयदान ह औय आज आऩक जीवन का एक मादगाय ददन ह ऐस कभार क रवचाय ऩढ़ कय आऩ सचभच अऩनी अॊदरनी भहानता स जड़ जात ह औय जस ही आऩ इन दीवायो क सॊदशो को ऩढ़त हए घय क बीतय परवश कयत हो तो आऩका धमान जाता ह एक लरख हए सॊदश ऩय जो कह यहा ह कक अगय खद को जानना ह तो इस कभय भ परवश कीजजए औय जस ही आऩ उस कभय भ परवश कयत ह आऩ ऩात ह एक रवशार ऩसतकारम जो चचलरा चचलरा कय कह यहा ह कक इन ऩसतको भ भानवता का अभय औय सपर इततहास लरखा ह ऩसतको क शीषपक ऩढ़ कय ही आऩक बीतय एक नई उजाप का उदम होन रगता ह जस रोक वमवहाय सोचचम औय अभीय फतनए आऩक अवचतन भन की शजतत फड़ी सोच का फड़ा जाद औय आऩक अॊदरनी रवकास स जड़ी हजायो ऩसतक वहाॊ यखी हई ह

उस कभय भ एक शानदाय फात मह लरखी थी कक अतसय अचछी ऩसतक ऩढ़ कय इॊसान की सोमी हई अॊदरनी शजतत जाग जाती ह औय कपय वो इततहास

यचन की ओय अगरसय हो उठता ह हय इनसान इततहास यच सकता ह हय इॊसान खद को खोद कय खद को ऩा सकता ह जजसन बी खद को खोदा ह औय खद ऩय भहनत की ह उसक हाथ कबी खारी नहीॊ यह उसन जीवन की भहान दौरत को ऩामा ह जीवन की भहान दौरत ह आऩक बीतय छऩी ईशवय की जमोतत आऩकी सचची ऩहचान मह ह कक आऩ ईशवय की सॊतान ह आऩ सौबागम क फचच ह आऩ एक फलभसार वयदान ह ऩयी कामनात क लरए मह घय की कथा तो कालऩतनक थी ऩय इसका सॊदश ऩयी तयह सचचाई ऩय दटका ह कक आऩकी अॊदरनी शजतत सचभच अनॊत ह आऩ अनभोर ह

एक फमभसार जीवन क मरए 51 गरभॊतर

1 जीवन को एक अवसय क रऩ भ दणखए 2 जीवन को हय ददन परगतत कयन क एक शानदाय भौक क रऩ भ दणखए 3 हय ददन अऩन ददभाग को नमा सीखा कय ऩोरषत कीजजए 4 अऩनी हय हाय स सीखना शर कीजजए 5 सचची परशॊसा कयन की करा सीणखए 6 टी वी कभ दणखए औय ककताफ जमादा ऩदढ़ए 7 जीवन का एक रकषम फनाइम 8 हय ददन खद को पमाय कीजजए 9 सपर रोगो क साथ दोसती कीजजए 10 अऩन काभ भ कभान स जमादा सीखन ऩय धमान दीजजए 11 ऩयी भानवता क लरए आऩका जनभ एक सौबागम ह 12 अऩन जीवन भ सॊगीत को योजाना सथान दीजजए 13 हफत भ ककसी एक ददन ऩय हफत का पीडफक कागज ऩय लरणखए 14 आऩकी आज की सोच ही आऩका आग चर कय सच फन जाती ह 15 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजए 16 अऩन जीवन को भानवता की सवा कयन का एक फलभसार अवसय

सभणझए 17 आजीवन आऩ खद को हय ददन नमा सीखन क लरए सभरऩपत कय दीजजए 18 खद स हय ददन ईभानदाय फन यदहए 19 आज ही अऩनी वमजततगत राइबयी फनाइए 20 हय ददन सभम तनकार कय ईशवय का धनमवाद जरय कीजजए तमोकक मह

शानदाय जीवन आऩको उनही की फदौरत वयदान क तौय ऩय लभरा ह

21 हय भजशकर को परगतत कयन क एक अवसय क रऩ भ दणखए 22 अभीयी एक सोच ह 23 काभमाफी एक सोच ह 24 खशहारी एक सोच ह 25 जमादा भहनत आऩको जमादा रवकास दती ह 26 हय ददन खर कय जीम 27 इस दतनमा भ आऩक लरए ककसी बी चीज़ की कोई कभी नहीॊ ह 28 अऩन रकषमो को साफ़ साफ़ आज ही कागज ऩय लरणखए 29 अऩन रकषमो को हय ददन कागज ऩय लरणखए 30 अऩन रकषमो ऩय हय ददन भहनत कीजजए 31 आऩका रकषम आऩका तनभापण कयता ह 32 फड़ रकषम आऩका फड़ा तनभापण कयत ह 33 आऩको वही लभरता ह जो आऩ दसयो को दत ह 34 जीवन को एक वयदान क तौय ऩय आज ही कफर कय रीजजए 35 अऩन जीवन को फलभसार फनान की जजमभदायी आज ही खद र रीजजए 36 लशकामत कयन भ सभम भत रगाइए 37 हय इॊसान स कछ न कछ जरय सीणखए 38 हय ददन अऩन खद क अनबवो स कछ न कछ नमा सीणखए 39 आऩ जीवन भ सपर होना फहत ही आसानी स सीख सकत ह 40 आऩकी अॊदरनी शजतत अनॊत ह 41 आऩका हय ददन सफस ऩहरा कामप ह अऩन आऩ को खश यखना 42 आऩ अऩन जीवन भ काभमाफ होन की कोई ठोस वजह खोजजए 43 अऩन आऩ को भानवता क लरए एक ऩॊजी की तयह रवकलसत कीजजए 44 रगाताय भहनत रगाताय जीत की सफस ऩहरी जरयत ह

45 आसान यासतो ऩय चरना आऩक जीवन को फहद भजशकर फना दता ह 46 अऩनी हय हाय स गजफ की लशा रकय उस जीत भ फदर दीजजए 47 अऩन जीवन को खफ समभान दीजजए 48 आऩका अॊदरनी सॊसाय आऩक फाहयी सॊसाय का तनभापण कयता ह 49 आऩ आज वही ह जसा फनन क लरए आऩन आज तक खद को तमाय

ककमा ह 50 आऩ बरवषम भ वही होग जसा आऩ हय ददन खद को फनात चर जाएॊग 51 आऩ आज अबी इसी ऩर स एक शानदाय सपर अथपऩणप जीवन जीन का

साहलसक तनणपम र सकत ह

एक ववजता सोच की शकतत

1 आऩकी सोच ही आऩक जीवन क सच का तनभापण कयती ह 2 एक रवजता की सोच का भतरफ ह हय ददन नमा सीखन की सोच 3 एक रवजता की सोच आऩको एक फलभसार वमजतततव परदान कयती ह 4 आऩकी सोच ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह औय आऩ इस कबी बी फदर

सकत ह 5 आऩकी सोच ही आऩको हय ददन आऩको ददखन वारी आऩकी दतनमा

ददखाती ह 6 आऩकी सोच ही आऩकी भौजदा हय खशी औय गभ क लरए जजमभदाय ह 7 आऩ हय ददन अऩनी सोच को फड़ा औय फहतय कय सकत ह 8 सोच ही आऩको भहान औय सभदध फनाती ह 9 आज आऩ अऩन जीवन भ जजस बी भकाभ ऩय ह लसपप अऩनी सोच की

वजह स ह

10 आऩ जहाॊ बी जात ह औय जो बी कयत ह उसभ आऩकी सोच साफ़ झरकती ह

11 आऩकी सोच का आकाय आऩक आतभ ऻान ऩय आधारयत होती ह 12 आऩकी सोच खद-फ-खद शानदाय हो जाती ह जफ आऩ अऩन जीवन को

एक शानदाय रकषम का उऩहाय द दत ह 13 आऩ भानवता की सवा कयन की सोच को अऩनाकय एक रवजता की सोच

को अऩना सकत ह

एक शानदाय औय फमभसार जीवन की 52 याह

1 जीवन अऩन बीतय छऩी जफयदसत अॊदरनी शजतत को भानवता क रवकास भ उऩमोग कयन का एक भहान अवसय ह

2 परमास न कयना सचची हाय ह 3 आरोचक खद की ओय कबी नहीॊ दखता 4 आऩकी नज़य ही आऩको ददखन वार नज़ायो क लरए जजमभदाय ह 5 हय इॊसान अऩन बीतय भहानता क अनॊत फीज सॊजोए हए ह 6 आऩकी औय आऩकी सपरता भ आऩका सपर होन का तनणपम ही फाधा

ह 7 खद ऩय रवशवास कयक ही खद ऩय रवशवास कयना आता ह 8 फड़ा इॊसान को उसकी भहनत औय सवा कयन की सोच फनाती ह

9 खद को खोदना ही खद को खोजना ह 10 कोई बी भजशकर अऩन बीतय भौक क फीज लरए बफना नहीॊ आती 11 अऩन जीवन क असयदाय फनान क लरए खद को असयदाय फनान स

शरआत कीजजए 12 जफ आऩ सचभच दखना चाहग तो आऩको हय जगह भौक ही भौक

ददखन रगग 13 ईशवय आऩको हय ऩर जफयदसत परभ कय यहा ह 14 खद को काभमाफ होन क लरए तमाय कयना आऩकी खद की ही

जजमभदायी ह 15 सवा कयन की सोच ही आऩकी जजॊदगी को फलभसार फनाती ह 16 सनना बी एक तयह का सीखना ही तो ह 17 ऩाना ह तो खद भ जर यही ईशवय की जमोतत को ऩाम

18 आऩ लसपप तफ तक ही खद क फाय भ छोटा सोचत ह जफ तक आऩ अऩनी अनॊत अॊदरनी शजतत स अनजान ह

19 आऩ अऩनी तीसयी आॉख खोरन क लरए आतभ ऻान रना शर कय सकत ह

20 अऩन आज की सदऩमोग कीजजए 21 आऩकी सोच आऩकी ऩयी दतनमा क नाभ रवयासत ह 22 आऩका नाभ आऩक मोगदान स ही चभकता ह 23 आऩ सतम का ऩारन कयत कयत सवमॊ बी सतम ही सतमको परापत हो

जात ह 24 आऩ ईशवय दवाया अनॊत शजतत क उऩहाय क साथ इस धयती ऩय बज

गए ह चाह मह आऩको ऩता हो मा न ऩता हो 25 अऩन करयमय का चनाव कयत वक़त अऩन जनन को अऩना भागपदशपक

फना रीजजए 26 आऩको आऩक अरावा कोई अभीय सभदध औय सहतभॊद नहीॊ फना सकता 27 उतसाह का भहासागय आऩक अऩन ही बीतय ह 28 आऩका जीवन आज जसा बी ह आऩक अऩन ही कायण ह

29 खद स सचच रोग हो भानवता को याह ददखात ह 30 आऩकी खशी आऩक अऩन ही बीतय ह 31 आऩका सौबागम आऩक अऩन ही बीतय ह 32 आऩ अऩन जीवन को हय ददन फहतय फनान का शानदाय कामप कय सकत

ह 33 आतभ ऻान परापत कयक कोई बी इॊसान अऩन जीवन को सचभच साथपक

फना सकता ह

34 अऩन जीवन क सफ़य को मादगाय फनान क लरए अऩन ही जीवन स हय ददन सीखना शर कय दीजजए

35 जजतना आऩ पमाय फाॉटग उतना ही जमादा आऩको पमाय फाॉटन का सौबागम लभरगा

36 आऩका नाभ आऩकी हय ददन की गमी ईभानदाय भहनत स ही इततहास फन सकता ह

37 जजस जीवन का कोई रकषम ह वही जीवन सही भामनो भ साथपक ह 38 पमाय इॊसान खद को हय ददन सपरता क लरए तमाय कीजजए 39 एक फाय जफ आऩक अऩन ही बीतय उजारा हो जाता ह तफ आऩका

जीवन सदा सदा क लरए योशन हो जाता ह 40 हय ददन सीखना ही हय ददन जीतना ह 41 वक़त बी तफ आऩक साथ होता ह जफ आऩ खद खद क साथ होत ह 42 जीवन भ जजस बी चीज़ की कीभत ह वह आऩको खद ही हालसर कयनी

होती ह

43 हय ऩर आऩ जीवन को एक ऩयभ आनॊद की तयह जी सकत ह 44 आऩ अऩनी खद क परतत सोच को फदर कय अऩन ऩय जीवन को फदर

सकत ह

45 एक फाय आऩको उऩमोग कयन की करा आ जाए तो जीवन भ ऐसा कछ बी नहीॊ जो उऩमाग भ न आ सक

46 जीवन एक शानदाय अवसय ह 47 जीवन एक फलभसार सौबागम ह 48 जीवन एक भहान सौगात ह 49 आऩकी सोच ही आऩका जीवन चरा यही ह 50 जजस याह ऩय भजशकर नहीॊ उस याह ऩय भौका नहीॊ

51 फड़ा सॊकट भतरफ फड़ा सौबागम 52 आऩ एक फाय खद क हो जाएॉ कपय साया जहान आऩका हो जाएगा

एक शानदाय जीवन की 27 अभतवाणणमाॉ

1 हय ऩर ऩयभातभा आऩको पमाय खशी शाॊतत औय आनॊद की शाशवत सौगात द यहा ह

2 हय इॊसान अऩन आऩ भ फलभसार औय अनठा ह 3 एक फाय ददर स मह भहसस कीजजए कक हय इॊसान फहद गणी ह औय कपय

जाद दणखम 4 आऩ जो अऩन लरए चाहत ह उस ऩहर दसयो को दना सीणखम 5 जवाफ तो सवार भ ही छऩा होता ह मह तो दखन वार ऩय तनबपय कयता ह 6 जीवन भ परभ आऩकी रह को ताज़ा कयन वारा एक फहद खास तोहपा ह 7 हय ददन को खद ऩय भहनत कयत हए मादगाय फनाम 8 हय ददन खलशमाॉ अऩन चायो तयप फाॊट औय हय ददन खश यह 9 जजस फात को हभ सच भन रत ह वही हभाय लरए सच फन जाती ह बर ही

वह असलरमत भ झठ ही तमो न हो 10 भजफत इॊसान हभशा भजफत रयशत फनाता ह 11 हभ सबी खद भ अनभोर उऩहाय सॊजोए हए ह 12 सच का समभान कयना सचभच आऩको फलभसार फनाता ह 13 आऩकी आॉख ही आऩक सऩनो की सचचाई फमाॉ कय दती ह 14 आऩकी सोच हय ददन आऩकी जजॊदगी का तनभापण कयती ह 15 पमाय इॊसान आऩ एक फाय अऩन अॊदय की आॉख तो खोलरम आऩक चायो

तयप गजफ क परगतत क अवसय हय ऩर भौजद ह 16 गरत मा सही हारात नहीॊ आऩका नजरयमा होता ह 17 अऩन आऩ को जानना एक ददन आऩकी सफस फड़ी खशककसभती फन जाती ह 18 आऩक डय आऩकी काभमाफी क दयवाजो ऩय तारो क सभान ह

19 आऩ जो दखत ह औय सनत ह वही आऩकी सोच फन जाती ह 20 सवा कयक खश यहना राज़भी ह 21 आऩ दसयो को कवर वही दीजजए जो आऩ अऩन लरए चाहत ह 22 आऩक काभ बफलकर ऩयी तयह स आऩकी सोच की तसवीय होत ह 23 पमाय इॊसान इस जगत भ कोई अऩना ऩयामा ह ही नहीॊ ह 24 आऩकी काभमाफी भ सभसत रवशव की खशहारी छऩी ह 25 हय ददन खद को खद ऩय रवशवास कयना आऩ जरय लसखाम 26 खद स ईभानदाय होकय ही आऩ खद की नज़यो भ ऊॉ चा उठ सकत ह

27 अऩन आऩ स जड़ना ही खशी का भर भॊतर ह

काभमाफ ववचाय होत ह काभमाफ आदभी की ऩहरी ऩसॊद

1 हय नई भजशकर आऩक साभन एक नए भौका का ऩरयचम कयाती ह 2 आऩकी काभमाफी ईशवय का सऩना ह 3 आऩकी काभमाफी समऩणप भानवता की काभमाफी ह 4 आऩका रकषम भानवता की सवा कयना होना चादहए 5 आऩ हय ददन खद को एक फहतय इॊसान फना सकत ह 6 आऩ हय वमजतत को ददर स आदय द सकत ह 7 आऩ हय ददन अऩन जीवन क परतत सचचा आबाय वमतत कय सकत ह 8 आऩ हय उस वमजतत को खशी-खशी भाफ़ कय सकत ह जजसन कबी जान

अनजान भ आऩका ददर दखामा ह 9 आऩको हय ददन मह जरय सोचना चादहए कक आज आऩ अऩन जीवन को

एक नए सतय तक कस र कय जा सकत ह 10 आऩका जीवन आऩक दवाया गामा गमा एक शानदाय गीत होना चादहए

11 आऩ जजतना जमादा सवा कयन क लरए सभरऩपत होग उतना ही जमादा आऩका जीवन सौबागम क गीत गाएगा

12 आऩ एक नई तनगाह अऩना कय बफरकर एक नई दतनमा को दखन का सौबागम परापत कय सकत ह

13 हय ददन नमा सीख कय हय ददन को समभान दीजजए 14 खद को आज ही ककसी ईभानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दीजजए

कीकजए अऩनी हय सफह को योशन कछ इस तयह स

आऩ अऩनी सफह को सचभच हय ददन योशन कय सकत ह आऩ हय सफह अऩन आऩ को ऩय ददन क लरए फलभसार अॊदाज भ तमाय कय सकत ह आऩ सफह जलदी उठन का साहलसक तनणपम र सकत ह आऩ हय सफह 5 फज उठ कय अऩनी हय सफह को समभान द सकत ह आऩ हय सफह उठत ही ईशवय को धनमवाद द सकत ह कक उनहोन आऩको एक नमा ददन वयदान क तौय ददमा ह औय आऩ इस ददन का सदऩमोग कयन का सचचा वामदा खद स कय सकत ह आऩ अऩन भाता रऩता क लरए शकरगजाय हो सकत ह आऩ अऩनी अचछी सहत क लरए ईशवय क शकरगजाय हो सकत ह कपय आऩ 20 लभनट की कसयत मा मोग कयन का गजफ का शजततशारी तनणपम र सकत ह उसक फाद आऩ 20 लभनट तक कोई बी परयणादामी ऩसतक ऩढन का अभय तनणपम र सकत ह ऩसतक जस रोक वमवहाय साध जजसन समऩतत फच दी आऩकी भतम ऩय कौन योएगा सोचचम औय अभीय फतनए सोच फदरो जजॊदगी फदरो फड़ी सोच का फड़ा जाद सपरता का अभत रयच डड ऩअय डड औय मह सची सचभच फहत ही रमफी ह तमोकक आऩ ककसी बी हद तक खद का तनभापण कय सकत ह औय दसया सीखन की सचभच कोई सीभा ह ही नहीॊ ह

कपय आऩ 20 लभनट तक अऩना जनपर लरख सकत ह जनपर का अथप एक ऐसा सथान ह जहाॉ आऩ हय ददन की अऩनी परगतत की मोजना हय ददन की लशा हय ददन की कामप सची हय ददन की परयणा हय ददन की यचनातभक यणनीतत लरख सकत ह जनपर लरखना एक फलभसार आदत ह आऩ आज स ही जनपर लरखन की अभय आदत शर कय सकत ह आऩ अऩन जनपर भ कभार क परयणा दन वार अभय रवचाय सफह सफह लरख कय खद को एक फलभसार रवजता की तयह तमाय कय सकत ह

म तीन ऐस गजफ क साहलसक तनणपम ह जो आऩको एक शानदाय असयदाय औय फलभसार जीवन का भागप ददखाएॊग आऩ अनभोर ह आऩ एक शानदाय जीवन जीन क सचचा हक यखत ह आऩ आज स ही अऩनी सोच को एक शानदाय जीवन जीन क लरए तमाय कय सकत ह माद यणखम दयी हभशा आऩकी तयप स होती ह आऩका बागम औय आऩकी सपरता तो हय ऩर आऩक ऩास आन क लरए फताफ होती ह आऩ आज स ही जीतन की तनणपम रकय जीतन की शरआत कय सकत ह

आऩक बीतय भहानता क अनॊत फीज ह

कछ ह ऐसा आऩक बीतय जो आऩको ऩयभ सौबागमशारी फनाता ह

कछ ह ऐसा ऻान जीवन भ जजस आतभ-ऻान कहा जाता ह जजस ऩाकय आऩ जीवन की समऩणपता को ऩा रत ह

कछ ह ऐसा हय सॊकट भ जो आऩका गजफ का रवकास कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी सोच भ जो आऩक जीवन क सच का हय ददन तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩकी तनमत भ जो हय ददन आऩकी तनमतत का तनभापण कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा आऩक दखो भ जो आऩको सख क लरए तमाय कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय ददन भ जो आऩको उऩहाय जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा हय हाय भ जो आऩको जीत जसा रगता ही रगता ह

कछ ह ऐसा फड़ी सोच भ कभार का जाद जो आऩका फड़ा पामदा कयता ही कयता ह

कछ ह ऐसा हय इॊसान भ जो आऩक लरए लशा होता ही होता ह

कछ ह ऐसा आऩक जीवन क रकषम भ जो आऩक जीवन को भहान फनाता ही फनाता ह

आऩ सौबागम की सॊतान ह आऩका जनभ ऩयी सजषट क लरए ऩयभ सौगात ह

खद ऩय रवशवास कय औय इततहास यच

चमरए एक शानदाय कजॊदगी की ओय

1 सीखन की सोच ही जीतन की सोच का तनभापण कयती ह 2 एक इॊसान जीवन भ ककतना परापत कय सकत ह इसकी सीभा लसवाम उस

इॊसान क कोई दसया तम नहीॊ कय सकता 3 अऩन काभ (योजगाय) ऩय गवप कीजजए 4 आऩ जीवन भ काभमाफ होन की औय आग फढ़न की हय एक करा

तनजशचत रऩ स सीख सकत ह 5 आज स ही आऩ अऩन बीतय छऩी अनॊत शजततमो क परतत जागरक होना

शर हो जाइए 6 आज का ददन आऩको जीवन की ओय स लभरा एक शानदाय वयदान ह 7 सफह जलदी उदठए 8 हय ददन अऩन ददन की शानदाय शरआत कीजजए 9 तनसवाथप सवा भ आनॊद छऩा होता ह उस आनॊद का जीवन भ हय ददन

आनॊद जरय रीजजए 10 हभ सफ आऩस भ जड़ हए ह हभ सफ एक ह

11 जहान तक आऩ दख सकत ह वहाॊ तक आऩकी दतनमा परती चरी जाती ह

12 आऩ खद को एक शानदाय औय कभार की जजॊदगी जीन क लरए आज स ही तमाय कय सकत ह

13 आऩकी नमा सीखन की शजतत आऩक लरए एक फहत फड़ी सौगात ह 14 आऩक सॊकट आऩक ऩतक शबचचॊतक होत ह 15 भजशकर यासता ही आऩक जीवन को तनखायता ह

जीवन क 21 ऩयभ सतम

ऩयभ सतम 1

चभतकाय वो नहीॊ होता ह जो सॊकट की जसथतत भ आऩक साथ होता ह फजलक वो ह जो सॊकट का साभना कयत हए आऩक अॊदय होता ह

ऩयभ सतम 2

रवऩजतत भ ही समऩजतत का वास होता ह

ऩयभ सतम 3

हय ऩर आऩकी सोच आऩका बागम फना यही ह

ऩयभ सतम 4

कछ बी नमा सीखन क लरए सयर खरा औय उतसक रदम चादहए

ऩयभ सतम 5

जजतना आऩ खद को शजततशारी भानत ह उसस कहीॊ जमादा आऩ शजततशारी ह

ऩयभ सतम 6

हय एक इॊसान क बीतय काबफलरमत फदहसाफ ह

ऩयभ सतम 7

हयानी इस फात की नहीॊ ह कक आऩभ भता नहीॊ ह फजलक इस फात की ह कक आऩको अऩनी भता का ऩता ही नहीॊ ह

ऩयभ सतम 8

हय ऩर आऩक लरए खद को पमाय कयन का औय खद की सचची कदर कयन का एक भौका ह

ऩयभ सतम 9

जो आऩक अऩन बीतय होता ह वही आऩको चायो ओय ददखाई ऩड़ता ह

ऩयभ सतम 10

आऩकी जजॊदगी आऩक हाथ अगय ऐसा सभझोग तो आऩको लभरगा हय ऩर समऩणप रवशव का साथ

ऩयभ सतम 11

आऩक जीवन भ दबापगम आता ही आऩको सौबागम क भागप ऩय र कय जान क लरए ह

ऩयभ सतम 12

लभरता ह सफ कछ महाॉ उस जो ऩय ददर स भाॉगन की दहमभत यखता ह

ऩयभ सतम 13

अगय आऩको ऐसा रगता ह कक आऩको बगवान स कछ बी नहीॊ लभर यहा ह तो भय पमाय भनषम अबी इसी ऩर अऩन दोनो हाथो को खोर रीजजए तमोकक बगवान की कऩा हय ऩर हय एक ऩय फयस यही ह

ऩयभ सतम 14

भहनती आदभी जफ चरता ह तो उस हय तयप स सराभ फजत ह

ऩयभ सतम 15

हय ऩर आऩक ऩास एक चनाव ह कक आऩ अऩनी जजॊदगी को जो चाहो फना रो

ऩयभ सतम 16

बगवान की कऩा हय सचच औय भहनती इॊसान ऩय होती ह औय जफ होती ह तो भसराधाय होती ह

ऩयभ सतम 17

सभम फदर जाता ह औय ऩरयजसथतमाॉ फदर जाती ह भगय जीवन क भर सतम नहीॊ फदरत

ऩयभ सतम 18

आऩ अऩन ददभाग का भजशकर स 1 ही उऩमोग कयत ह

ऩयभ सतम 19 अऩन ददभाग को हय ददन खयाक दीजजए तमोकक एक फाय अगय इसन अऩन जाद ददखाना शर कय ददमा तो आऩक सात ऩशतो को भाराभार कय दगा

ऩयभ सतम 20

अऩन बीतय भौजद ऩयभ ऩजम ईशवय को हय ऩर समभान दीजजए

ऩयभ सतम 21

आऩ अनभोर ह आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह

जीवन भ एक चनौतीऩणथ रकषम होन क पामद

जफ आऩ खद को ककसी शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय दत ह तबी स ही आऩक आतभ रवकास का फलभसार सफ़य शर हो जाता ह

आऩ हय ददन नमा सीखना शर कय दत ह

आऩ हय इॊसान की कदर कयना शर कय दत ह

आऩ नई-नई औय परयणादामी ऩसतक ऩढना शर कय दत ह

आऩ खद को एक भहततवऩणप वमजतत भानना शर कय दत ह

आऩ भहानता स सजा जीवन जीना शर कय दत ह

आऩ जीवन को एक उऩहाय की तयह जीना शर कय दत ह

आऩ हय ददन उतसादहत औय खश यहना शर कय दत ह

आऩ रगाताय रवकास कयना शर कय दत ह

आऩ एक शानदाय सहत का आनॊद हय ददन रना शर कय दत ह

आऩ हय ददन आचथपक रऩ स सभदध होत जात ह

आऩ एक चरऩमन फनन की याह ऩय चर दत ह

आऩ हय ददन जीवन क परतत एक सकायातभक औय उतऩादक नजरयमा यखना शर कय दत ह

आऩ भानवता क लरए एक ऩॊजी फन जात ह

आऩ खद स सचचा पमाय कयन रगत ह

जीवन

जीवन एक उऩहाय ह

जीवन एक शानदाय अवसय ह

जीवन एक सौगात ह

जीवन एक फलभसार भौका ह खद को ऩा रन का

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक खफसयत सौबागम ह

जीवन सीखना ह

जीवन एक उतसव ह

जीवन एक आनॊद ह

जीवन ईशवय का परसाद ह

जीवन खद को जानना ह

जीवन एक गजफ का फशतप उऩहायो स सजा गरदसता ह

जीवन एक वयदान ह

जीवन एक सौबागम ह

जीवन जीवन ह

भहान रोगो की भहान आदत

भहान रोग धमान स साभन वार की फात सनत ह

भहान रोग अऩन जीवन को एक चनौतीऩणप रकषम का वयदान दत ह

भहान रोग हय ददन अऩन काभकाज क तहत अऩन जनन का ऩीछा कयत ह

भहान रोग अऩन जीवन को भहान रवचायो क अनसाय चरात ह

भहान रोग भहान रोगो क साथ ही अऩन सभम को बफतान का चनाव कयत ह

भहान रोग रगाताय अचछी ककताफ ऩढ़त ह

भहान रोग रगाताय असपर होत ह इसीलरए भहान रोग कबी न रकन वार होत ह तमोकक असपरता उनह डयाती नहीॊ ह फजलक उनह ओय जमादा तनखयन क लरए पररयत कयती ह

भहान रोग हय ददन नमा सीखत ह

भहान रोग अऩन कामो क कायण भहान फनत ह

भहान रोग रगाताय खद क ही रयकॉडप को तोड़त यहत ह

भहान रोग खद की जफयदसत कदर कयत ह

भहान रोग सचभच भहान सोच क भालरक होत ह

भहान रोग हभशा बीड़ स हट कय सोचत ह

भहान रोग रोगो की सचची कदर कयत हए उनस नमा सीखत यहत ह

भहान रोग रोगो की सवा कयन भ भादहय होत ह

भहान रोग भाॉ क ऩट स भहान ऩदा नहीॊ होत जीवन भ अऩन दवाया ककम गए कामो स वह भहान फनत ह औय ऐसा अवसय ईशवय न आऩको बी परदान ककमा ह

आऩ बी आज स एक भहान इॊसान क तौय ऩय अऩन जीवन को जीन का चनाव कय सकत ह

सॊकट क 15 शानदाय राब

1 सॊकट आऩका रवकास कयता ह 2 सॊकट आऩको नमा लसखाता ह 3 सॊकट आऩको सौबागम का उऩहाय दता ह 4 सॊकट आऩको एक फहतय वमजतत फनाता ह 5 सॊकट तफ तक आता ह जफ तक आऩभ नमा सीख कय जीवन भ नए सतय

तक ऩहॉचन की सचची मोगमता भौजद यहती ह 6 सॊकट आऩका सपरता क सफ़य भ सचचा साथी होता ह 7 सॊकट को सॊकट की तयह दखना ही सचभच सॊकट ह 8 सॊकट एक ऐसा शानदाय भौका होता ह जो आऩको हय हार भ सौबागम का

ही वयदान दना चाहता ह 9 सॊकट अगय ह तो आग फढ़न क औय नमा सीखन क यासत ह 10 सॊकट आऩको ददखाई तफ दता ह जफ आऩका अऩन रकषम क परतत सभऩपण

कभ हो जाता ह

11 सॊकट का साभना कीजजए औय सॊकट को जीत रीजजए 12 हय ददन एक नमा सॊकट आऩक जीवन भ आना आऩक लरए फहद शब ह 13 नमा सॊकट भतरफ नमा अवसय जीवन भ एक कदभ औय आग फढ़न का 14 सफस फड़ा सॊकट ह आतभ-अऻान 15 आऩको सॊकट दना जीवन का एक नामाफ तयीका ह आऩको आऩकी अॊदरनी

शजतत स लभरान का

सपरता क 15 अभय सतर

1 अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का वयदान दीजजम 2 हय ददन सफह जलदी उदठए औय अऩनी सोच को जफयदसत सकायातभक

फनान क लरए परयणादामी ऩसतक ऩदढ़ए 3 हय ददन को खद को ओय जमादा भजफत फनान क एक शानदाय अवसय

क तौय ऩय दणखम 4 हय सॊकट को तयतकी क फलभसार भागप की तयह दणखम 5 हय इॊसान स कछ न कछ सीखन की सोच यखत हए फात कीजजए 6 हय ददन नमा सीख कय हय ददन का समभान कीजजए 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना रीजजम 8 हय ददन कसयत कीजजए तमोकक आऩकी सहत आऩकी काभमाफी भ अहभ

बलभका तनबाती ह 9 आऩकी अॊदरनी शजतत वाकई अनॊत ह 10 आऩ ऩय रवशव क लरए फहद बागमशारी ह 11 आऩकी सफस फड़ी काबफलरमत आऩकी हय ददन रवकास कयत हए आऩक

जीवन को फलभसार फनान की काबफलरमत ह 12 आऩ अऩन बागम क एकरौत भालरक ह 13 सपरता का सचचा अथप ह खद को हय ददन इॊसातनमत क रवकास भ

साथपक मोगदान क लरए रामक फनाना 14 सपर होन का सथामी तयीका ह खद को इॊसातनमत की जडो को ऩोषण

दन क लरए फशतप सभरऩपत कय दना

15 आऩ एक मोगम फलभसार औय शानदाय वमजतत ह

सौबागम क ऩववतर फीज

1 जफ आऩ खद सही नजरयमा अऩना रत हो तो आऩका सफ कछ सही हो जाता ह

2 ककसी इॊसान को आऩ ककस तनगाह स दखत हो साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह

3 ककसी काभ को आऩ ककस तनगाह स दखत हो इसक भताबफक ही आऩको वह काभ ऩरयणाभ दता ह

4 आऩकी सोच क ऊऩय उठन स ही आऩ ऊऩय उठ सकत ह 5 जो आऩको जीवन भ खशी औय काभमाफी क लरए जरयी साभान चादहए वह

सफ कछ ऩहर स ही आऩक बीतय ह 6 हय एक इॊसान अदबत ह तमोकक हय इॊसान क ऊऩय ईशवय की ऩरवतर भोहय

ह 7 जो इॊसान खद स खश ह वही दतनमा की खशहारी भ सचचा मोगदान द यहा

8 हय ऩर हभ सफक ऩास अनॊत-अनॊत भातरा भ वह सफ कछ भौजद ह जो हभ सचभच खश यहन क लरए चादहए

9 आऩ जीवन क परतत शकरगजाय हो कय फहत जमादा बागमशारी फन सकत ह 10 खद परकाश का ददवम सतरोतर फन जाना ही सवोतभ उऩाम ह 11 आऩको जफ आऩ ही नहीॊ ऩहचान यह ह तो ककसी औय स ऐसी उमभीद तमो

कय यह ह

12 गजफ ह कक हय इॊसान खद भ अनॊत शजतत का भहासागय सॊजोए हए ह कपय बी कहता ह कक भ कभजोय हॉ

13 आऩका बागम बगवान जी नहीॊ फजलक आऩकी सोच औय आऩकी भहनत लरखती ह

14 भहनती क घय रकषभी नाचती ह 15 काश भ आऩको फता ऩता कक आऩका जीवन ककतना जमादा अनभोर ह 16 जो खद को याह ददखा ऩा यहा ह सचभच दसयो को याह ददखान का हक बी

उसको ही ह 17 सफ कछ तो अबी इसी ऩर भौजद ह हभ ही कहीॊ औय उरझ हए ह 18 काभमाफ होन का भौका तो हय एक को हय ऩर लभर यहा ह ऩय भौका

अतसय भसीफतो क कऩड़ ऩहन कय आता ह 19 रवऩजतत भ ही समऩजतत छऩी होती ह 20 हभ सफ फदहसाफ शजतत क अनभोर खजान ह 21 कछ ह हभाय बीतय जो सदा स ह औय सदा ही यहन वारा ह 22 दखन वार क अॊदय ही वह छऩा ह जजस दखा जाना ह 23 आऩक भाता-रऩता का आशीवापद आऩक लरए फहद अनभोर ह 24 हभ खद ही खदा स लभरन भ सफस फड़ी ददतकत ह 25 साफ़ तनमत आऩको गजफ की फयकत दती ह 26 भजफत इयाद भजफत ऩरयणाभ रकय आत ह 27 जफ इॊसान खद भ रवशवास ददखाना शर कयता ह वहीी स उसक जीवन भ

चभतकाय होना शर हो जात ह 28 रगाताय खद ऩय भहनत कीजजए मह इकरौता तयीका ह ईभानदाय सपरता

परापत कयन का 29 आऩक दवाया आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩको फनान

औय लभटान दोनो की जादई मोगमता यखत ह 30 खोज यह ह हभ बफना मह ऩता कक खोजना तमा ह

हय ददन खद को ननखाय

हय ददन खद को तनखायना ही हय ददन का सचचा समभान कयना ह आऩकी हय ददन सफह उठत ही ऩहरी पराथलभकता मह होनी चादहए कक ककस तयह आऩ आज क ददन को अऩन जीवन का सफस खास ददन फना सकत ह हय नमा ददन आऩको नए अवसय उऩहाय भ दता ह हय ददन का खर ददर स सवागत कीजजए हय ददन नमा सीणखम हय ददन खद को पमाय दीजजम हय ददन अचछ औय सवमॊ को ऩोरषत कयन वार रवचाय सतनम हय ददन अऩन नजरयए को गजफ का सकायातभक यणखम हय ददन आऩकी सचची सवा कयत हए आऩको अनको परगतत क अवसय दता ह आऩ हय ददन नए रोगो स लभर हय ददन नए सऩन दख हय ददन कसयत कय हय ददन का आबाय खर ददर स परकट कय हय ददन अऩन रकषम की ददशा भ जरय फढ़ हय ददन एक कदभ उठाम अऩन आऩ को एक फहतय इॊसान फनान की ददशा भ हय ददन अऩन जीवन क सचच उददशम क परतत सभरऩपत यह हय ददन हय एक वमजतत स खफ उतसाह स लभर हय ददन ऩसतक ऩढ़ हय ददन अऩन रकषमो को लरख हय ददन कछ सभम अकर भ बफताम हय ददन अऩन जीवन भ शकरगजाय होन क नए नए भौक तराश हय ददन अऩन आऩ को एक गहया वमजतत फनाम हय ददन खद को समभान दत हए हय ददन खद का तनभापण कय हय ददन अऩन काभ को सभरऩपत होकय कय हय ददन भहान रोगो क रवचाय ऩढ़ हय ददन सॊकटो को सौबागमो भ फदर द

धनमवाद ऩतर

इस ऩसतक को अऩनान क लरए औय इसभ छऩ भहान सपरता क सचच सॊदश को समभान दन क लरए आऩको ददर स धनमवाद दत ह आऩका जनभ सचभच एक भहान जीवन जीन क लरए हआ ह आऩभ भहानता क अनॊत फीज ह आज स ही आऩ अऩन सऩनो का जीवन जीन का सचचा तनणपम र सकत ह आऩको एक शानदाय जीवन जीन का सचचा हक दन वार ईशवय को ददर स धनमवाद हभायी ऩहरी ऩसतक सपरता का अभत को ददर स अऩनान क लरए एक फाय कपय स आऩको धनमवाद

रवशष आबाय

इस शानदाय सऩन को सच फनान भ आऩ सबी का फहद अहभ मोगदान यहा ह -

पमाय ईशवय को रवशष आबाय पमाय भाता रऩता का रवशष आबाय हभाय सबी आरोचको का रवशष आबाय हभाय सलभनायो भ आम हजायो रोगो को रवशष आबाय सभाज भ अऩन अऩन अॊदाज भ सकायातभक ऊजाप परान वार हय एक आदय मोगम बाई औय फहन को ददर स आबाय

औय आऩको आबाय

आऩक बीतय छऩी आऩको भहान फनान की फलभसार ताकत को आबाय

आऩ अनभोर ह

आऩ अनभोर ह

Page 9: सफलता का अमृत 2

75 WAYS TO CELEBRATE YOUR LIFE

1 Laugh daily

2 Exercise daily

3 Dream daily

4 Think bold daily

5 Read daily

6 Imagine daily

7 Live life of purpose daily

8 Learn from your past

9 Discover your calling

10 Leave the crowd

11 Honor your intuitions

12 Write your goals daily

13 Be yourself

14 Challenge your challenges

15 Become a better person every day

16 Serve humanity

17 Learn from wisdom quotes

18 Write and frame the purpose of your life

19 Problems are platforms

20 Grow your consciousness every day

21 Design your life every day

22 Make your thinking your biggest asset

23 Work hard to work smarter

24 Hard work is good for your health as well

25 Live life like a life passionate lover

26 Expand your thinking every day

27 Celebrate your daily performance

28 Develop yourself daily

29 Respect yourself

30 Create your luck

31 Listen audio programs on personal development daily

32 Sleep less to grow more

33 Go for wisdom

34 Choose wisdom over knowledge

35 Work on your inner life

36 Dedicate yourself towards life-long learning

37 Discover your inner strength

38 Think different to think like tycoons

39 Wake up at 5am daily

40 Adopt a belief system of winners

41 Lead life to live life

42 Express your genius through your work daily

43 Write in a journal daily

44 Think long term

45 Be a passionate life learner

46 Visit library once in a week

47 Commit to working hard till your last breathe

48 Your language is your presentation

49 People who give up are the losers

50 Run your own race

51 Mastery attracts challenges continuously

52 Leave the crowd to lead the crowd

53 Champion your thoughts to champion your life

54 Daily hard work attracts mastery

55 Live your life as per your inner taste

56 Practice rare stuff to get rare results

57 Win in mind first to win in actual

58 Believe in yourself to achieve the impossible

59 People always laugh at man on progress

60 Spend more time with creative people

61 Be lady gaga of your field

62 Be Nelson Mandela of your field

63 Be bill gates of your field

64 Be J K Rowling of your field

65 Go deep to know things deeply

66 Dare to see the picture behind every picture

67 Selfish people are liability even for their own selves

68 Dream bold dreams to check your true inner power

69 Your mind power is infinite

70 Dare to think beyond the crowd

71 Listen to your heart to be a brand

72 Struggle gifts strength

73 Purpose of life is becoming more helpful for humanity every single day

74 Selfless people are history makers

75 Life is an awesome gift of god to you

HONOR YOURSELF TO HONOR THE CREATOR

GOD 1 Donrsquot disgrace god by playing small with your inner infinite creative

potential

2 God has gifted you with inner infinite creative potential

3 Within you lies the treasure of inner infinite creative potential

4 Your success is godrsquos success

5 Your success is humanityrsquos success

6 Your success is success of that power which lies every single second within

you

7 You are a master-piece and original kindly donrsquot imitate someone

8 You have infinite seeds of greatness within you

9 You have the power to manifest your ultimate destiny

10 Biggest resource that you are having at this moment is your decision to

choose your destiny

11 Be a leader and gift yourself a vision for your life

12 Every single day is a world class platform to become more and achieve more

as a person

13 You shine when you face adversity

14 Problems are your honest servants as they serve you by developing you

15 You must master your thinking to master your destiny

16 You are free if you are rightly educated

17 You have the power to live your life in your style

18 Run your own race to win the race with grace

19 Bigger the obstacle bigger the rewards

20 Harder you work smarter you become

INNER WEALTH

Inner wealth is open to all of us

Inner wealth is actual wealth

Inner wealth is infinite for all of us

Inner wealth can be achieved by becoming a better person every day

Inner wealth can be achieved by discovering your calling

Inner wealth can be achieved by challenging yourself for better

Inner wealth is a gift that one can as a result of his daily inner growth

Inner wealth gives you joy as it is a result of your daily self-realization

Inner wealth is obtained when it becomes ultimate aim of your life

Inner wealth is obtained by life visionaries

Inner wealth is achieved by leaving the crowd and listening to your own heart

Inner wealth is achieved by those who refuse to give up at the times of pains and

challenges

Inner wealth is achieved by people who are truly passionate about achieving inner

wealth

अगय आऩ अऩनी कदर कयत ह तो आऩक फहत साय पामद होत ह जस

1 आऩ एक शानदाय जीवन जी सकत ह 2 आऩ एक परचयता स बया जीवन जी सकत ह 3 आऩ शकरगजायी की भहान बावना स सजा जीवन जी सकत ह 4 आऩ भानवता क फलभसार इततहास भ अऩना नाभ दजप कया सकत ह 5 आऩ गजफ क आतभ रवशवास क भालरक हो सकत ह 6 आऩ एक अभीय औय बफलकर खशहार जजॊदगी हय ददन जी सकत ह 7 आऩ इस फात की ऩयवाह ही नहीॊ कयग कक रोग आऩको तमा कहत ह 8 आऩ हय ददन सभरदध की सीढ़ी चढ़त जात ह 9 आऩ हय इॊसान को आदय क बाव स दखन रगत ह 10 आऩ खद स फदहसाफ पमाय कयन रगत ह 11 आऩ सचभच जीवन का समभान कयन रगत ह 12 आऩ परकतत क यहसमो को धीय-धीय सभझन रगत ह 13 आऩ भानवता क सचच सवक फनन रगत ह

14 आऩ जीवन भ ककसी बी भकाभ तक आसानी स ऩहॉच सकत ह 15 आऩ हय वो सऩना सच कय सकत ह जजस आऩ हभशा स दखत आम ह 16 आऩ ऩयी भानवता को सचभच याह ददखा सकत ह 17 आऩ सचभच एक फलभसार जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

अभीय सोच अऩना कय आऩ बी अभीय फन सकत ह

अभीय सोच सचभच आऩको अभीय फना दती ह वाकई अभीय सोच कोई बी अऩना कय अभीय फन सकता ह अभीय सोच क कछ रण इस परकाय ह

1 अभीय इॊसान अऩन जीवन की जजमभदायी खद रता ह 2 अभीय इॊसान हय ददन नमा सीखता ह 3 अभीय इॊसान सॊकट को सपरता की नीॊव सभझता ह 4 अभीय इॊसान जीवन को एक वयदान की तयह जीता ह 5 अभीय इॊसान हय ददन खद को तनखायता ह 6 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी जजॊदगी उसक खद क रवचायो का ही

परततबफॊफ होती ह 7 अभीय इॊसान अभीय रोगो की सोच की सचभच कदर कयता ह 8 अभीय इॊसान हय ददन को परगतत कयन क भॊच क तौय ऩय दखता ह 9 अभीय इॊसान सचभच खद भ रवशवास कयता ह 10 अभीय इॊसान फड़ धमान स सनता ह 11 अभीय इॊसान मह जानता ह कक उसकी ककसभत उसक अऩन ही हाथ भ ह 12 अभीय इॊसान नए-नए रोगो स रगाताय लभरता ह ताकक अऩन काभ को औय

अचछ तयीक स कय सक 13 अभीय इॊसान हय ददन अचछी ऩसतक ऩढता ह 14 अभीय इॊसान हय ददन सऩन दखता ह 15 अभीय इॊसान जीवन को ऩय उतसाह क साथ जीता ह 16 अभीय इॊसान मह भानता ह कक उसकी भहनत हय ददन उस परगतत क नए-

नए अवसय दती ह 17 अभीय इॊसान खरकय अभीयी क रवचाय सबी स साॊझ कयता ह

18 अभीय इॊसान सचभच चाहता ह कक जमादा स जमादा रोग सभरदध का जीवन जीम

19 अभीय इॊसान ददर स मह सभझता ह कक अभीयी सचभच हभाय अऩन ही हाथ की फात ह

20 अभीय इॊसान सचभच सवा कयत हए अभीय फनता ह 21 अभीय सोच का अथप ह कक सभाज की सवा कयन की सचची औय ईभानदाय

सोच यखना 22 अभीय सोच का अथप ह कक जीवन का समभान कयत हए जीवन को ऩय जोश

औय उतसाह क साथ जीना

असपरता का सचचा अथथ

1 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ रगाताय परमास कय यह ह 2 असपरता मह ददखाती ह कक आऩ अऩनी सोच को हकीत भ फदरन

की जादई ताकत यखत ह 3 असपरता आऩको भजफत फनाती ह 4 असपरता आऩको शानदाय अनबव दती ह 5 असपरता आऩको जीवन भ कछ फड़ा कयन की गजफ की परयणा दती ह 6 असपरता आऩको बीड़ स अरग कयत हए इततहास यचन वारो क फीच

राकय खड़ा कय दती ह 7 असपरता आऩको ऩयी ताकत क साथ दोफाया शर कयन की परयणा दती

ह 8 असपरता आऩकी सोच को गहया फना दती ह 9 असपरता सपरता की जड़वाॉ फहन ह 10 असपरता आ यही ह भतरफ आऩ अऩना सवोतभ दन का रगाताय

परमास कय यह ह 11 असपरता आऩको हय ददन अरग अरग तरो भ लभरती ही यहती ह जफ

बी आऩ कछ नमा कयन की कोलशश कयत ह 12 असपरता आऩकी परगतत क लरए फहद जरयी ह 13 असपरता आऩको एक फाय कपय नमा सोचन का अवसय दती ह 14 असपरता ही आऩकी सपरता फन जाती ह जफ आऩ इसस लशा रकय

जीवन भ एक कदभ ओय आग फढ़ जात ह 15 असपरता आऩकी आवाज भ लभठास औय रवनमरता रकय आती ह

असाधायण रोगो क 10 फमभसार गण

1 असाधायण रोग हय ददन एक सऩषट जीवन रकषम क साथ आग फढ़त ह 2 असाधायण रोग हय ददन नमा सीखत ह 3 असाधायण रोग हय ददन जमादा स जमादा सपर रोगो क साथ अऩना नटवकप भजफत कयत ह 4 असाधायण रोग हय ददन सऩन दखत ह 5 असाधायण रोग इस फात भ गहया रवशवास कयत ह कक जीवन भ ककसी बी इॊसान क लरए कोई कभी नहीॊ ह अभीय इॊसान नहीॊ अभीय दयअसर एक सोच होती ह जजस कोई बी इॊसान अऩना सकता ह 6 असाधायण रोग दसय रोगो क रवकास भ अहभ बलभका तनबात ह 7 असाधायण रोग ईशवय क दवाया हय इॊसान को ददए गए चायो उऩहायो (शयीय भजसतषक रदम आतभा) का हय ददन बयऩय उऩमोग कयत ह 8 असाधायण रोग अऩनी फात को कहन की करा भ खद को तनऩण फनात ह 9 असाधायण रोगो की दोसती बी असाधायण रोगो क साथ ही होती ह तमोकक आऩक दोसत आऩक बागम क तनभापण भ फहत जरयी बलभका तनबात ह 10 असाधायण रोग हय ददन अऩन काभ का पीडफक रत ह औय खद को हय ददन भजफत फनात ह

आऩ एक वयदान ह

आऩ अनभोर ह

आऩ फलभसार ह

आऩ अनॊत शजतत क भालरक ह

आऩ फलभसार काबफलरमत का खजाना सवमॊ भ सॊजोए हए ह

आऩकी कलऩना शजतत अनॊत ह

आऩका भजसतषक एक गजफ का ताकतवय कॊ पमटय ह

आऩकी ककसभत शानदाय ह

आऩ अऩन जीवन को ककसी बी ददशा भ र जा सकत ह

आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह

आऩ भानवता की सवा कयक भहान फनन का चनाव कय सकत ह

आऩ अऩन जीवन को दसयो क लरए एक परयक जीवन फना सकत ह

आऩ सवमॊ भ छऩी अनॊत शजततमो को ऩान क परतत सभरऩपत हो सकत ह

आऩ ऩयी दतनमा घभ सकत ह

आऩ अऩन नाभ को एक बाॊड फना सकत ह

आऩ अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी शजतत फना सकत ह

आऩ भजशकर को भौक भ फदर कय भजशकर को समभान द सकत ह

आऩका सचचा ऩरयचम

आऩ एक चभतकाय ह आऩ सौबागम क अनॊत फीज खद भ सॊजोए हए ह आऩक बीतय एक कभार की शजतत ह जजसका आऩको जीत जी जरय एहसास कयना चादहए ऩयी दतनमा क लरए आऩका जनभ एक भहासौबागम ह आऩ एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद हय ददन र सकत ह आऩ हय ददन सफह जलदी उठ कय अऩनी ककसभत का तनभापण कय सकत ह आऩक सॊकट आऩका रवकास कयत ह आऩक रकषम आऩका रवकास कयत ह आऩ आज स ही अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम क लरए सभरऩपत कय सकत ह आऩ भानवता की सवा कयक जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह आऩका जीवन आऩको लभरा एक शानदाय उऩहाय ह आऩ हय ददन नमा सीख सकत ह आऩ हय ददन एक नमी सोच अऩना कय नए ऩरयणाभ परापत कय सकत ह आऩ जजतना जमादा खद को जानोग उतना ही खद स पमाय कयत चर जाओग आऩ जीवन क परतत सभरऩपत होकय अऩन जीवन को एक उतसव की तयह जी सकत ह आऩ हय ददन नए सऩन दख सकत ह आऩ अनभोर ह आऩ अनभोर ह

आऩकी काभमाफी को सभवऩथत 15 शकततशारी ववचाय

1 आऩ फदहसाफ आॊतरयक शजतत क भालरक ह 2 आऩ ऩय बहभाॊड क लरए फहद शब औय सौबागमशारी ह 3 आऩकी कलऩना कयन की शजतत अनॊत ह 4 आऩकी आतभ सधाय कयन की भता अनॊत ह 5 आऩ इॊसान रऩ भ जनभ ईशवय ह 6 सवसथ का अथप ह सवमॊ भ जसथत होना 7 सवाथप का सचचा अथप ह सवमॊ क सचच औय गहय अथप को सभझना 8 ऩागर का अथप ह जजसन ऩा लरमा गर (काभ की फात मा सचची फात)

को 9 ऩागर का अथप ह ऩाक (रहानी) फात कयन वारा 10 आज अबी औय इसी ऩर आऩ एक काबफर शानदाय फलभसार औय

सभदध वमजतत ह 11 आऩ कबी बी कछ बी सीख कय ककसी बी तर भ भहायत हालसर कय

सकत ह 12 आऩका जनभ एक सखद उऩहाय ह ऩयी भानवता क लरए 13 सभसत धयती आऩकी अऩनी ह 14 आऩका बागम ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह 15 आऩभ अनॊत सॊबावनाएॊ छऩी ह

आऩकी सपरता को सभवऩथत 30 जादई औय परयणादामी ववचाय

1 ऩहर अऩन रकषम क परतत सभऩपण औय कपय उस सभऩपण की हय कीभत चकान की दहमभत चादहए तफ जाकय सपरता आऩक कदभ चभती ह

2 ककतनी पमायी फात ह कक हभ खद को आदय दकय अऩन बीतय भौजद ईशवय को ही तो आदय दत ह

3 सयरता सवगप ह जफकक उरझन नकप ह 4 ककतनी कभार की फात ह कक हभ सफ जीवन भ आसान यासत चाहत ह

भगय हभाया रवकास लसपप भजशकर यासतो ऩय चर कय ही होता ह 5 सफको अऩना बरवषम जानन की फड़ी आतयता यहती ह जफकक अऻात भ

जीन का भजा ही तनयारा ह 6 हय ऩर आऩ खद क फनाम सवगप भ मा कपय खद क फनाम नकप भ यहन का

चनाव कयत ह

7 खद का सधाय ककम बफना दसय को सधायन की कोलशश कयना वमथप का परमास साबफत होता ह

8 अऩनी गरती कोई नहीॊ भानता जफकक अऩनी गरती भान कय अऩन आऩ को सधायन का आनॊद गजफ का ह

9 भजशकर हारात आना इस फात का सफत ह कक आऩ परगतत क ऩथ ऩय ह 10 सफको फशतप पमाय दीजजए तमोकक परभ आऩक ऩास फदहसाफ भातरा भ भौजद

ह 11 आऩ खद ही अऩनी सोच को काभमाफी की ददशा भ रकय जा सकत ह 12 सच क यासत ऩय तनयॊतय चरना आऩको एक अदबत आनॊद दता ह 13 अऩन जीवन भ आन वारी सभसमाओॊ का खफ आनॊद रीजजए तमोकक म

आऩक लरए परगतत क शानदाय अवसय र कय आती ह

14 हय सपर इॊसान ककसी फड़ी चनौती का साभना कयत हए खद को भजफत फना कय सपर फनता ह

15 नज़ाया चाह कछ बी हो हभायी नज़य वही दखती ह जो दखन क लरए हभ इस कहत ह

16 कबी कबी इॊसान जजस जीत सभझता ह वह हाय होती ह औय जजस हाय सभझता ह वह जीत होती ह

17 3 सभम बोजन अगय आऩ हय योज़ कयत ह तो आऩको योज़ 3 सभम कछ न कछ नमा जरय सीखना चादहम

18 जीवन भ आऩको आऩक लसवा कोई खश मा दखी कय ही नहीॊ सकता 19 परभ भ सवाथप नहीॊ औय जहाॉ सवाथप ह वहाॉ परभ नहीॊ 20 ईशवय हभ हय ऩर हभाय सवोतभ रऩ भ ऩहॉचन क लरए भागपदलशपत कय यहा

ह 21 जफ जफ आऩकी तनमत साफ़ यहती ह तफ तफ आऩको ऩरयणाभ भ फयकत

बी जफयदसत होती ह 22 इॊसान जीवन भ अऩनो औय ऩयामो को ही खोजन भ रगा यहता ह जफकक

अऩना ऩयामा कोई ह ही नहीॊ 23 आऩकी भहनत अगय फकाय चरी गमी तो वो भहनत थी ही नहीॊ 24 खद क अहॊकाय को काट बफना जीवन भ खशी का ऽजाना नहीॊ लभरता 25 ककसी को कभतय सभझन की गरती वही कयता ह जो खद ऩय श कयन

का आदी हो 26 गहयाऩन आऩक काभ भ दय दय की ठोकय खा कय ही आता ह 27 एक फाय खद क बीतय ईशवय को ऩाकय कपय आऩको हय जगह ईशवय ही

ददखाई दता ह

28 अऩनी अॊतयातभा की आवाज़ को फरॊद कयक ही आऩको सचची खशी लभरती ह

29 ककसी की सचची इजज़त कयन क लरए ऩहर खद की जफयदसत फइजजती कयना जरयी ह

30 सच भ सच को कह कस औय झठ कह कय ददर को खशी लभरती नहीॊ

गजफ की शकतत ह आऩकी सोच भ

1 आऩकी सोच आऩक जीवन का सच फन जाती ह 2 आऩकी सोच औय आऩका नजरयमा फहत ही गहय स आऩस भ जड़ होत ह 3 आऩ अऩनी सोच को कबी बी ककसी बी फड़ी सपरता क लरए तमाय कय

सकत ह 4 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजए 5 काभमाफ सोच को अऩना कय आऩ बी काभमाफ हो सकत ह

6 भानवता की सचची सवा कयन की सोच को अऩना कय आऩ बी एक फलभसार जीवन का आनॊद र सकत ह

7 हय ददन अऩनी सोच को सकायातभक औय उतऩादक फनाना आऩकी जजमभदायी ह

8 आऩकी सोच आऩक जीवन क हय ऩहर को परबारवत कयती ह 9 काभमाफ सोच काभमाफ ऩरयणाभ ऩदा कयती ह 10 काभमाफ सोच हभशा आऩको सभाधान की ओय र कय जाती ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह

आऩक द ख ही आऩक सख ह तमोकक आऩक द ख आऩकी अॊदरनी आॉख खोरत ह

आऩक द ख ही आऩको रगातय कछ ऐसा खोजन क लरए पररयत कयत जो आऩको सचभच सथामी आनॊद द सक

आऩक द ख ही आऩकी परगतत का भागप खोरत ह

आऩक द ख ही आऩक सख का आधाय फनत ह

आऩक द ख दयअसर आऩको दख रगत ह भगय जीवन आऩको आग फढ़ान क लरए दखो का ही इसतभार कयता ह

द ख असर भ आऩकी आऩक अॊदरनी खजान क परतत अऻानता क कायण ह

आऩक द ख आऩका रवकास कयत ह

आऩक द ख आऩको हय ददन नमा सीखन क लरए औय जीवन को जजमभदायी रत हए जीन क लरए पररयत कयत ह

आऩक द ख ही आऩकी भहानता की सीढ़ी फनत ह

आऩक द ख अगय ना हो तो आऩक सख बी आऩस दय ही यहग

हय द ख भ सख का फीज छऩा होता ह

द ख वासतव भ द ख नहीॊ होता द ख वो हभाय उसको द ख की तयह दखन क कायण फनता ह

द ख ईशवय को आऩको परगतत कयन क लरए ददमा वयदान होता ह

द ख जफ आऩ सहन कय चक होत ह औय आऩ उसस नमा सीख कय जीवन भ एक नए सतय तक ऩहॉच चक होत ह तो द ख आऩको फड़ी खशी दता ह

आऩक मरए एक शानदाय जीवन की अनोखी याह

आज आऩ जो बी सोच यखत ह चाह वह आऩका रवकास कय यही हो मा रवनाश कय यही हो उस ऩयी तयह आऩन ही फनामा ह औय आऩ इस ऩयी तयह स फदर सकत ह औय एक शानदाय जीवन का सचचा आनॊद र सकत ह

आऩक आऩकी काबफलरमत को रकय ककम गए रवशवास आऩक बागम का सतय तम कयत ह

आऩ इस भहान सजषट का एक अहभ दहससा ह

हभ सफ एक दसय स जड़ हए ह

आऩकी ककसभत आऩकी भहनत स फनती ह

सॊकट आऩको परगतत क शानदाय अवसय दता ह

हय इॊसान स आऩ कछ न कछ नमा जरय सीख सकत ह

आऩकी सोच ही आऩका सच फनती ह

सीखन वार हभशा ही जीतन वार फन जात ह

हय ददन भहनत कय औय बागमशारी फन

अवसय ककसी काभ भ नहीॊ फजलक आऩकी सोच भ छऩा होता ह

सॊघषप आऩका तनभापण कयता ह

हायन क फाद आऩका जीत का आनॊद रन का साभरथमप फढ़ जाता ह

आऩक जीवन का हय ऩर आऩक लरए पमाय ईशवय का उऩहाय ह

आऩकी शजतत अनॊत ह

आऩ खद अऩन जीवन क भालरक ह

ईशवय न आऩको जजॊदगी का फलभसार उऩहाय दकय समभातनत ककमा ह

आऩक आरोचक आऩकी इततहास फनान भ भदद कयत ह

आऩक मरए एक सभदध जीवन की शानदाय याह

1 आऩक रवचाय आऩकी असलरमत का तनभापण कयत ह 2 खद को रगाताय आतभऻान रत यहन क लरए सभरऩपत कय दीजजम 3 हय ददन 03 लभनट का सभम तनकार कय परयक ऩसतक ऩदढ़ए

4 एक कागज ऩय बफलकर सऩषट रऩ स लरख रीजजम कक ldquoआऩ जीवन भ तमा परापत कयना चाहत हrdquo

5 जो सॊदश आऩ दसयो को दना चाहत ह ऩहर खद उस सॊदश को अऩन जीवन भ हय ददन आदयऩवपक जजएॊ

6 असाधायण परमास कयक ही आऩ असाधायण ऩरयणाभ परापत कय सकत ह 7 अऩनी सोच को अऩनी सफस फड़ी ताकत फना रीजजम 8 जफ आऩ खद को हय ददन अऩन बीतय छऩी असाधायण सॊबावनाओॊ क लरए

जागरक कयत ह तो आऩस जड़ी हय चीज़ काभमाफी की ददशा भ फढ़ती ह 9 आऩ हय वो चीज़ सीख सकत ह जो आऩको काभमाफ होन क लरए आनी

चादहए 10 सपरता औय खशी आऩस दय नहीॊ ह फजलक आऩ खद सपरता औय खशी

स दय ह 11 आऩकी सीखन की भता ही आऩक कभान की भता तनधापरयत कयती ह 12 हय एक इॊसान अनभोर औय शानदाय ह 13 लसपप सोच स फड़ औय तनडय रोग ही अऩनी वासतरवक आनतरयक शजतत का

उऩमोग कयत ह 14 आऩक जीवन का सचचा रकषम आऩकी आॊतरयक शजतत क फलभसार बणडाय

को खोजना औय उस भानवता की सवा भ सभरऩपत कय दना होना चादहए 15 फहान फनान वार इततहास यचन वार नहीॊ फनत

16 आऩ ऩहर खद अऩन आऩ को धोखा ददए बफना ककसी ओय को धोखा नहीॊ द सकत

17 जो सभम आऩ अऩनी सचची औय अॊदरनी ताकत को जानन भ रगात ह वो आऩक सभम का सफस फहतयीन तनवश होता ह

18 काभमाफी औय अभीयी का जीवन ऩयी तयह स आऩक चनाव ऩय दटका ह 19 सचभच अभीय रोग भानवता क फहत ही अचछ सवक होत ह औय भधमभ

दज क रोग भानवता क भधमभ दज क सवक होत ह 20 आऩका ददभाग एक फहत ही शजततशारी कॊ पमटय ह 21 जीवन भ हय ददन परगतत कयन क लरए ककसी ओय स नहीॊ अऩन आऩ स

हय ददन फहतय होत चर जाएॊ 22 जीवन हभ सफको एक अचछ इॊसान क तौय ऩय चभकन क लरए फशतप औय

भहान उऩहाय की तयह लभरा ह 23 जफ आऩ खद की सचची कदर कयत हो तबी आऩ दसयो की सचची कदर कयन

क काबफर फनत हो 24 जफ आऩ जीवन क हय तर भ अऩन खद क ही रऩछर रयकॉडप तोड़न रगत

ह तफ आऩ सचभच एक चरऩमन क तौय ऩय रवकलसत होन रगत ह 25 जो ऩरयणाभ आऩ आज अऩन जीवन भ परापत कय यह ह उसक लरए आऩक

अरावा ऩयी दतनमा भ कोई बी जजमभदाय नहीॊ ह 26 दतनमा रॊफ सभम तक धनमवाद दन वार रोगो का लशकामत कयन वार

रोगो स कहीॊ जमादा समभान कयती ह 27 आऩका वमवहाय हभशा ही आऩक चरयतर की सचची तसवीय को ददखाता ह 28 हय भहान इॊसान आऩको मही भहसस कयाता ह कक आऩ बी भहान फन

सकत ह

29 आऩ वही फनत ह जो आऩ हय ददन सोचत सनत दखत फोरत औय भहसस कयत ह

30 हय ददन कछ सभम तनकार कय ऐस रवचाय जरय सन मा ऩढ़ जो आऩको सचभच एक शानदाय जीवन जीन क लरए फहद पररयत कयत ह

आऩक मरए कछ नए औय शानदाय ववशवास आऩक खद क फाय भ

तमा आऩ जानत ह कक कौन आऩकी जजॊदगी चरा यहा ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी सोच ककस हद तक आऩकी जजॊदगी को फहतय औय फदतय फनान की काबफलरमत यखती ह

तमा आऩ जानत ह कक आऩकी वासतरवक शजतत ककतनी ह तमा आऩ जानत ह कक ककस

हद तक आऩ अऩन जीवन को शानदाय फना सकत ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ अऩन

सऩनो की जजॊदगी जीन भ ऩयी तयह सभ ह तमा आऩ जानत ह कक आऩकी भजशकर आऩका रवकास कयती ह तमा आऩ जानत ह कक आऩ हय ददन खद ही अऩनी तनमतत फनात ह

आऩ ककस तयह स खद को दखत ह साया पकप इसी फात स ऩड़ता ह आऩ खद को ककतना काबफर भानत ह इसी फात स आऩकी सपरता का सतय तम होता ह ककस तनगाह स आऩ

अऩनी सीखन की काबफलरमत का इसतभार कयत ह इसी स आऩकी अभीयी का सतय तम

होता ह आऩ हाय क फाद ककस नजरयम स दोफाया शर कयत ह इसी स साया पकप ऩड़ता ह

आऩकी जजॊदगी ऩयी तयह आऩक हाथ भ ह जफ तक आऩको रगता ह कक आऩकी जजॊदगी क

लरए आऩ जजमभदाय नहीॊ ह तफ तक आऩ अऩनी जजॊदगी को फहतय फनान क लरए जरयी कदभ नहीॊ उठा सकत जफ तक आऩ खद क फाय भ एक सकायातभक नजरयमा नहीॊ रवकलसत कय रत तफ तक आऩकी सभसमा जमो की तमो फनी यहगी

आऩकी हय सभसमा का एक ही सभाधान ह औय वो ह कक आऩ खद की ऩतकी ऩहचान कय आऩ खद को जान आऩ अऩनी आॉख खोर आऩ अऩन जीवन को एक शानदाय रकषम का उऩहाय द

आऩकी सचचाई मह ह कक

आऩ ऩयी तयह स सपर होन क लरए काबफर ह आऩ ऩयी तयह स खद की जजॊदगी को

फदरन की काबफलरमत यखत ह आऩ अऩनी जजॊदगी क भालरक ह आऩ एक शजततशारी ददभाग क भालरक ह आऩ सचभच एक कभार की जजॊदगी जीन का सचचा हक यखत ह आऩ हय ददन नमा सीख कय हय ददन जीत सकत ह आऩ जजस फात भ मकीन यखत ह वही आऩक लरए हकीत फन जाती ह आऩ एक फलभसार जीवन जीन की सचची काबफलरमत यखत ह

आऩ अनभोर ह आऩ सचभच काबफर ह आऩ हकदाय ह एक अदबत जीवन जीन क

इॊटयवम एक इस तयह क इॊसान का कजसन खद ही खद की ककसभत को फनामाhellip

सवार आऩ काभमाफ कस हए

जवाफ काभमाफ होना ही भया ऩास एकरौता यासता था

सवार आऩ असपर बी तो हो सकत थ

जवाफ भ असपर हआ ही इतनी जमादा फाय था कक अफ सपर होना ही था जफ आऩ रगाताय भहनत कयत हो तो एक वक़त ऩय आकय आऩको ऩतका सपरता लभरती ह

सवार सपरता तमा होती ह

जवाफ खद को जानना सपरता ह खद क साथ ईभानदाय होना सपरता ह खद को हय ददन खद क बीतय छऩी शजततमो क परतत लशकषत कयना सपरता ह इॊसातनमत की सचची सवा कयना सपरता ह

सवार आऩको दख कय रगता ह कक आऩ एक फहत ही सरझ हए इॊसान ह तमा ऐसा वाकई ह

जवाफ दणखए सपरता लभरती ही तफ ह जफ आऩ खद सरझ जात ह आऩकी सपरता भ सफस फड़ी ददतकत आऩकी सोच औय आऩका जरयत स जमादा उ