¤® ¤¾ ¤® ¤¾ ¤° ¥â‚¬...

Click here to load reader

Download  ¤® ¤¾ ¤® ¤¾ ¤° ¥â‚¬  ¤â€¢ ¥â€¹  ¤® ¤µ ¤ ¤¯ ¥â€ ...  ¤²

Post on 17-Aug-2020

2 views

Category:

Documents

0 download

Embed Size (px)

TRANSCRIPT

  • “अज्ञानता भय को और भयावह बनाती है”

    - अनााल्ड ग्लासाव

    कोविड-19

    महामारी को समविये

    डॉ. जी. थंगािेल

    सहायक प्रोफेसर- महामारी ववज्ञान, पयाावरण स्वास्थ्य इंजीवनयररंग ववभाग, सावाजवनक स्वास्थ्य संकाय,

    श्री रामचंद्र उच्च विक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (डीम्ड ववश्वववद्यालय), पोरूर, चेन्नई

    डॉ. जयप्रकाश मूवलवयल

    पूवा प्रोफेसर- महामारी ववज्ञान, सामुदावयक स्वास्थ्य ववभाग , वपं्रवसपल सेवावनवृत्त, विवियन मेवडकल

    कॉलेज, वेल्लोर ।

    अनूप जैसिाल

    सवचव, वथयोसॉफी साइंस सेंटर, वथयोसोवफकल सोसाइटी, अडयार, चेन्नई

  • विषय-िसु्त

    वायरस क्या है? ………………………………………………..………………. 4

    कोरोना वायरस क्या है? ………………………………………..………………. 4

    कोववड-19 क्या है? …………………..…………………………………………..4

    लोगो ंको कोववड-19 कैसे होता है? ………………….……………………………4

    क्या कोई व्यक्ति, कोववड-19 संिवमत व्यक्ति के श्वसन- तंत्र के अलावा िरीर के अन्य

    भाग से वनकले तरल पदाथा से संिवमत हो सकता है?..... 5

    कोववड-19 के लक्षण क्या है? …………………………………………………….5

    क्या हमारे पास कोववड-19 का उपचार है? ………… ……………………………..6

    कोववड-19 की चपेट में आने से हमे क्यो ंवचंवतत होना चावहए ..……....6

    हम कोववड-19 के संिमण से कैसे बच सकते हैं? ………………...………………7

    “बे्रवकंग द चेन” और “फै्लटेवनंग द कवा” वकसे कहते है? ………………..8

    जनसाधारण प्रवतरोधक क्षमता क्या है? …………………………...………………9

    जनसाधारण प्रवतरोधक क्षमता का उपयोग हम अपने फायदे के वलए कैसे कर सकते हैं?

    ………….……………………………………………………………………...10

    अकसर पूछे जाने वाले अन्य प्रश्न: …………...………………………………11

    १. लॉक डाउन के क्या-क्या फायदे और नुकसान हैं? …………………..………….11

    २. हमारे पास पयााप्त जगह का अभाव है।हम अपने बुजुगा अवभभावको ंसे भौवतक दूरी

    कैसे रख सकते हैं ?(कोरोनावायरस से बचने के वलए) ………….……………… 11

    ३. अन्य ववकवसत देिो ंकी तुलना में हमारे भारत में मृतु्य दर ज्यादा क्यो ंनही ंहै? .….11

    ४. क्या कोववड-19 से ठीक हुआ व्यक्ति पुनः संिवमत हो सकता है?………………12

    ५.क्या कोववड-19 से ठीक हुआ व्यक्ति वायरस प्रदान कर सकता है? ……….……12

  • ६. कल नजदीक के दुकान से में सक्तियां खरीद रहा था कोई अनजाने में मेरे बहुत करीब

    आ गया। क्या मुझे परेिान होना चावहए ? …………………………………12

    ७.क्या सक्तियां और दूध पैकेट के प्रयोग से पहले साबुन से धोना चावहए? …………13

    ८. क्या कोववड-19 अखबार, वसके्क, बैंक नोट या एटीएम काडा से फैलता है?………13

    ९. क्या बीसीजी वैक्सीनेिन कोववड-19 के क्तखलाफ काम करता है? ………………13

    १०. भारतीयो ंमें सहज रूप से प्रवतरोधक क्षमता ज्यादा होती है। क्या यह हमें कोववड से

    रक्षा करेगी?. …………………..……………………………………………13

    ११. क्या भारत में वायरस की ववषता कम है वजसकी वजह से यहााँ ज्यादा लोग नही ंमर

    रहे ? ……………………..……………………………………………14

    १२. क्या गमी की उस्मा हमें कोववड-19 से बचाएगी?……………………….…….14

    १३. क्या में कोववड-19 से बचने या सही होने के वलए वसद्धा, आयुवेद ,होम्योपैथी दवा या

    हाइडर ोक्सीक्लोरोक्वीन ले सकता हं? ………………………………………………14

    १४. क्या डाक प्रणाली के माध्यम से ववतररत पैकेज से COVID -19 प्राप्त करने का जोक्तखम

    है ? …… 15

    १५. क्या एयर कंडीिन में कोरोनावायरस फैल सकता है? …………………………15

    १६. कोववड-19 से मरे हुए व्यक्ति के िरीर को कैसे संभाले ? ……….……16

  • िायरस क्या है?

    वायरस एक पहेली है। इने्ह वजंदा प्राणी से कम वकंतु काबावनक अणु के वनक्तिय समूह से ज्यादा मान सकते हैं। वायरस में वजंदा प्राणी के समान एक ही गुण है, अपने को दोहराने

    और बढ़ाने के वलए वो जानवरो ं या पोधो ंकी कोविकाओ पर आिमण करते है । वायरस

    परजीवी होते हैं, वजन्हें प्रजनन करने और जीववत रहने के वलए जीववत मेजबान की

    आवश्यकता होती है और वो लंबे समय तक मेजबान के वबना जीववत नही ंरह सकते हैं।

    वे बैक्टीररया से बहुत छोटे होते हैं ( एक मीटर का 10 लाखवां भाग ),और इने्ह इलेक्टर ॉन

    सूक्ष्मदिी के द्वारा ही देख सकते हैं।

    कोरोना िायरस क्या है?

    कोरोना-वायरस आरएनए के एक ही स्ट्र ैंड से बना एक वायरस पररवार है। उनपर

    विायुि आवारण होता है और प्रोटीन कई जगह से कीलो ं की तरह उभरा होता है , ये

    उन्हें चमकते सूया जैसा स्वरूप देता है (लैवटन में इसे कोरोना कहते है ) । सात प्रकार के

    कोरोना वायरस है जो मानव को प्रभाववत करते हैं। इनमे SARS-CoV तथा MERS-CoV

    उले्लखनीय है वजन्होनें 2003 तथा 2012 में

View more