मंत्रालय - gst ... 0402 द ध और म, ज स वद रत ह य...

Click here to load reader

Post on 17-Aug-2020

0 views

Category:

Documents

0 download

Embed Size (px)

TRANSCRIPT

  • 1

    [भारत के राजपत्र, असाधारण, भाग 2, खंड 3, उपखंड (i) में प्रकाशनार्थ]

    भारत सरकार

    वित्‍त मंत्रालय

    (राजस्‍ि विभाग)

    अवधसूचना सं0 1/2017-एकीकृत कर (दर)

    नई वदल्‍ली, 28 जून, 2017

    सा0का0वन0.... (अ)- कें द्रीय सरकार, एकीकृत माल और सेिा कर अवधवनयम, 2017 (2017 का

    13) की धारा 5 की उपधारा (1) द्वारा प्रदत्‍त शक्‍वतय ंका प्रय ग करते हुए, पररषद् की वसफाररश ं

    पर इस अवधसूचना से संलग्‍न अनुसूवचय ं(वजसे इसमें इसके पश्‍चात् उक्‍त अनुसूवचयां कहा गया है) में

    विवनवदथष्‍ट माल की बाबत एकीकृत कर की दर अवधसूवचत करती है, ज ऐसे माल की अंतरराज्‍वयक

    पूवतथ पर उद्गृहीत वकया जाएगा, वजसका िणथन उक्‍त अनुसूवचय ंके स्‍तंभ (2) में तत्‍स्‍र्ानी प्रविष्‍ट में

    यर्ाविवनवदथष्‍ट, यर्ास्‍वर्वत, टैररफ मद, उपशीषथ, शीषथ या अध्‍याय के अधीन आने िाले उक्‍त अनुसूवचय ं

    के स्‍तंभ (3) में तत्‍स्‍र्ानी प्रविष्‍ट में विवनवदथष्‍ट हैं-

    (i) अनुसूची 1 में विवनवदथष्‍ट माल की बाबत 5 प्रवतशत ;

    (ii) अनुसूची 2 में विवनवदथष्‍ट माल की बाबत 12 प्रवतशत ;

    (iii) अनुसूची 3 में विवनवदथष्‍ट माल की बाबत 18 प्रवतशत ;

    (iv) अनुसूची 4 में विवनवदथष्‍ट माल की बाबत 28 प्रवतशत ;

    (v) अनुसूची 5 में विवनवदथष्‍ट माल की बाबत 3 प्रवतशत ; और

    (vi) अनुसूची 6 में विवनवदथष्‍ट माल की बाबत 0.25 प्रवतशत ।

    अनुसूची I – 5%

    क्र0 सं0 अध्याय/शीर्ष/

    उपशीर्ष/

    टैरिफ मद

    माल का विििण

    1. 0303 मछली, वहमशीवतत, वजसके अंतगथत शीषथ सं0 0304 के मछली

    कतले और मछली मांस नही ंहै

    2. 0304 मछली के कतले और अन्य मछली का मांस (चाहे कीमाकृत है या

    नही)ं, ताजे, दु्रतशीवतत या वहमशीवतत

    3. 0305 मछली, शुष्कित, लिवणत या लिण जल में रखी ; धूवमत मछली,

    चाहे िह धूमन प्रविया से पहले या उसके दौरान पकाई गई या नही ं;

    मछली का आटा, अिचूणथ और गुटका ज मानि उपभ ग के वलए

    उपयुक्त है

    4. 0306 िेसे्टवशया, चाहे किच युक्त है या नही,ं वहमशीवतत, शुष्कित,

    लिवणत या लिण जल में रखी, किचयुक्त िेसे्टवशया ज भापन द्वारा

    या जल में उबालकर पकाई गई है, चाहे दु्रतशीवतत, वहमशीवतत,

    शुष्कित, लिवणत या लिण जल में रखी है या नही,ं िेसे्टवशया का

    आटा, अिचूणथ और गुवटका, ज मानि उपभ ग के वलए उपयुक्त है

    5. 0307 म लस्क, चाहे किच युक्त है या नही,ं वहमशीवतत, शुष्कित या लिण

    जल में रखे ; धूवमत म लस्क, चाहे किच में ह या नही,ं चाहे धूमन

    प्रविया से पूिथ या उसके दौरान पकाई गई है या नही ं; म लस्क का

  • 2

    क्र0 सं0 अध्याय/शीर्ष/

    उपशीर्ष/

    टैरिफ मद

    माल का विििण

    आटा, अिचूणथ और गुवटका, ज मानि उपभ ग के वलए उपयुक्त हैं

    6. 0308 िेसे्टवशया और म लस्क से वभन्न, जलीय अकशेरूकी, वहमशीवतत,

    शुष्कित, लिवणत या लिण जल में रखी ; िेसे्टवशया और म लस्क से

    वभन्न धूवमत, जलीय अकशेरूकी, चाहे धूमन प्रविया से पूिथ या दौरान

    पकाई गई है या नही ं ; िेसे्टवशया और म लस्क से वभन्न, जलीय

    अकशेरूकी का आटा, अिचूणथ और गुवटका, ज मानि उपभ ग के

    वलए उपयुक्त है

    7. 0401 अतं्यत उच्च ताप (यू.एच.टी.) दूध

    8. 0402 दूध और िीम, ज सांवद्रत है या वजसमें वमलाई गई चीनी या अन्य

    मधुरण द्रव्य हैं, वजसके अंतगथत मक्खनीय दूध चूणथ, वशशुओ ंके वलए

    दूध खाद्य [संपीव़ित दूध से वभन्न]

    9. 0403 िीम, य गाटथ, केवफर और अन्य वकष्कित या अष्कित दूध और िीम,

    चाहे सांवद्रत है या नही ंया उसमें वमलाई गई चीनी या अन्य मधुरण

    द्रव्य है या नही,ं िह सुरूवचत है या नही,ं या उसमें वमलाया गया

    फल, वगरी या क क है

    10. 0404 छेने का पानी, चाहे सांवद्रत है या नही ंया उसमें वमलाई गई चीनी या

    अन्य मधुरण द्रव्य है या नही ं ; ऐसे उत्पाद, ज प्राकृवतक दुध

    संघटक से वमलकर बने हैं, चाहे उनमें वमलाई गई चीनी या अन्य

    मधुरण द्रव्य हैं या नही,ं ज अन्यत्र विवनवदथष्ट या सष्किवलत नही ंहैं

    11. 0406 छेना या पनीर, ज इकाई आधान में रखा हुआ है और वजसका क ई

    रवजस्टर ीकृत नाम है

    12. 0408 पविय ंके अंडे, किच रवहत, और अंडे के पीतक, ताजे, शुष्कित,

    भापन द्वारा या पानी में उबाल कर पकाए गए संवचत, वहमशीवतत या

    अन्यर्ा परररवित, चाहे उनमें वमलाई गई चीनी या अन्य मधुरण द्रव्य

    हैं या नही ं

    13. 0409 प्राकृवतक मधु, ज इकाई आधान में रखा हुआ है और वजसका क ई

    रवजस्टर ीकृत नाम है

    14. 0410 प्राणीजन्य खाद्य उत्पाद, ज अन्यत्र विवनवदथष्ट या सष्किवलत नही ंहै

    15. 0502 सुअर के, शूकर के या िराह के शूक या र म ; बेजर र म और

    बु्रश बनाने के अन्य र म ; ऐसे शूक या र म के अपवशष्ट

    16. 0504 प्रावणय ंके आंत्र, बे्लडर और अमाशय (वफश से वभन्न), संपूणथ या

    उनके टुक़ेि, ताजा, दु्रतशी

View more