dmc-01 वर्धमान महावीर खुला ववश्...

Click here to load reader

Post on 12-Oct-2020

8 views

Category:

Documents

0 download

Embed Size (px)

TRANSCRIPT

  • DMC-01

    वीएमओय ू Page 1

    वर्धमान महावीर खुला ववश् वववद्यालय

    रावतभाटा रोड कोटा

    वडप्लोमा इन मॉस कम्यूवनकेशन (डीएमसी)

    डीएमसी-01

    जनसंचार और पत्रकाररता-एक पररचय

    इकाई-1 संचार की अवर्ारणा

    इकाई-2 संचार के मॉडल व वसद्ांत

    इकाई-3 वरंट मीवडया-एक पररचय

    इकाई-4 समाचार

    इकाई-5 ररपोवटिंग

    इकाई-6 संपादन

    1

  • DMC-01

    वीएमओय ू Page 2

    पाठ्यक्रम अवभकल् प सवमवत

    रो ववनय कुमार पाठक रो एलआर गुजधर रो एचबी नंदवाना

    कुलपति अध् यक्ष तिदशेक, सिि तशक्षा तवभाग

    वर्धमाि महावीर खलुा तवश् वतव्ालय, कोटा वमखतुव, कोटा वमखतुव, कोटा

    संयोजक एवं सदस् य

    संयोजक

    डॉ सबुोर् कुमार

    पत्रकाररिा एवं जिसंचार तवभाग

    वर्धमाि महावीर खलुा

    तवश् वतव्ालय, कोटा

    सदस् य

    1. रो रमेश जैन

    ई- 15, तचिरंजि मागध

    सी-स् की म जयपरु- 100005

    2. रो राम मोहन पाठक

    पवूध तिदशेक, महामिा मदि मोहि

    मालवीय तहन्दी पत्रकाररिा संस्थाि,

    महात्मा गांर्ी काशी तव्ापीठ

    वाराणसी- 005000

    3. डॉ वगररजा शंकर शमाध

    तवभागाध्यक्ष, पत्रकाररिा एवं

    जिसंचार तवभाग, के एिआईडी

    भीमराव अबेंडकर तवतव

    आगरा- 000002

    4. श्री अवखलेश कुमार वसहं

    वररष्ठ पत्रकार, टाइम्स आफ इतंडया

    505, श्री अपाटधमेंट, सी- 521,

    दयािंद मागध, तिलक िगर, जयपरु

    (राजस् थाि)

    5. श्री राजीव वतवारी

    स्टेट हडे, राजस्थाि पतत्रका

    प्लाट िंबर-2

    तचिरंजि लेि, पथृ्वीराज रोड

    सी स् की म, जयपरु

    6. श्री सनी सेबेवस्टयन

    कुलपति, हररदवे जोशी पत्रकाररिा

    एवं जिसंचार तवश्वतव्ालय ,

    सवाई रामतसंह रोड, जयपरु

    7. रो एचबी नंदवाना

    तिदशेक, सिि तशक्षा तवभाग

    वर्धमाि महावीर खलुा

    तवश् वतव्ालय, राविभाटा

    रोड, कोटा

    8. डॉ रवश्म बोरा

    क्षेत्रीय तिदशेक, वर्धमाि

    महावीर खलुा तवश् वतव्ालय

    उदयपरु क्षेत्रीय केन् र, उदयपरु

    संपादन एवं पाठ लेखन

    पाठ लेखक संपादक

    डॉ सबुोर् कुमार (1 से 6 तक ) श्री वदनेश पाठक

    संयोजक, पत्रकाररिा तवभाग स् थािीय संपादक, तहन् दसु् िाि

    वमखतुव, कोटा गोरखपरु

    अकादवमक एवं रशासवनक व् यवस् ा

    रो ववनय कुमार पाठक रो एलआर गुजधर रो करन वसहं डॉ सबुोर् कुमार

    कुलपति तिदशेक अकादतमक तिदशेक, एमपीडी अतिररक् ि तिदशेक, एमपीडी

    वमखतुव, कोटा वमखतुव, कोटा वमखतुव, कोटा वमखतुव, कोटा

    उत्पादन – मुद्रण - जनवरी 2015 ISBN-978-81-8496-490-5

    इस सामग्री के तकसी भी अशं की वमखतुव, कोटा की तलतखि अिमुति के तबिा तकसी भी रूप में तमतमयोग्राफी (चक्रमरुण) द्वारा

    अन् यत्र ्रसस् ििु करिे की अिमुति िहह ह

    वमखुवव, कोटा के वलए कुलसवचव वमखुवव, कोटा द्वारा मुवद्रत एव ंरकावशत।

  • DMC-01

    वीएमओय ू Page 3

    इकाई-1

    संचार की अवर्ारणा

    इकाई की रूपरेखा

    1.1 उद्दशे् य

    1.2 ्रसस्िाविा

    1.3 संचार की अवर्ारणा

    1.4 संचार के कायध

    1.5 संचार के ्रसकार

    1.6 जिसंचार

    1.7 सारांश

    1.8 ्रसश् िावली

    1.9 संदभध ग्रंथ/पसु्िकें

    1.1 उदे्दश् य

    इस इकाई के अध्ययन के उपरांत

     आप संचार के बारे में भलीभांति जािकारी पा जाएगं े

     आप संचार की ्रसतक्रया के बारे में अवगि होंगे

     आप संचार के ्रसकार और उसके कायों के बारे में जािेंग े

    1.2 रस्तावना

    ज सा तक हम सभी जाििे हैं तक मािव सभ्यिा के तवकास में संचार का काफी महत्वपणूध योगदाि रहा ह संचार के

    साथ साथ ही तवकास के मािकों में भी बदलाव हो रहा ह हर िरीके का तवकास कहह ि कहह पर संचार की

    अवर्ारणा से जरूर जड़ुा ह जीवि के हर के्षत्र में संचार का दखल बढ़िा जा रहा ह और यहां िक तक केवल

    तवज्ञाि और िकिीकी क्षेत्र में ही िहह राजिीति, सामातजक, सांस्कृतिक और आतथधक पररवशे भी संचार से काफी

    ्रसभातवि हो रहा ह संचार वास्िव में आज मािव समाज की जरूरि बि चकुा ह हमें दखेिा होगा तक तकस िरह

    से संचार के भरोसे हम अपिे द तिक जीवि के कायों को अजंाम द ेपािे हैं और अपिी जरूरिों को भी परूा करि ेमें

    सक्षम हो पािे हैं संचार की पूरी ्रसतक्रया और उसकी अवर्ारणा को समझकर उसे मािव जीवि से जोड़िा होगा

  • DMC-01

    वीएमओय ू Page 4

    ऐसा इसतलए क्योंतक आपिे जिसंचार को एक तवषय के रूप में चिुा और उसी के आर्ार पर अपिे कॅररयर को

    संवारिा चाहिे हैं लेतकि इसके तलए जरूरी होगा तक संचार की अवर्ारणा को परूी िरह समझा जाए

    अगर अच्छे िरीके से संचार तकया जािा ह िो इससे समाज का हर कोिा ्रसभातवि होिा ह हम लोगों को