n 1 से28 फरवरी 2019 n पजे 12 n मलू्य 5 र्. रेल...

of 12/12
ल मंत्ालय (रेलवे बोर् ड) और रेल प्शासन वनध्ाडवरत वनयमो् की नैवतकता और शुवचता के साथ ही वविले्स एवं सीवीसी के तमाम वदशा-वनद्ेशो् को ताक पर रखकर खुद ही भ्ष्ाचार और िड़तोड़ को बढ़ावा देता है. यवद ऐसा नही् होता, तो वह वकसी अवधकारी को रेलवे ज्वाइन करने से लेकर वभाग प्मुख (पीएचओरी) बनने तक एक ही िोन म् क्यो् पदस्थ रखता? वास्व मे् भ्ष्ाचार एवं िोड़तोड़ की िड़ भी यही है. इसके अलावा िब यह भी सु वनव्ित हो वक संबंवधत अवधकारी की ववश्सनीयता घोवरत र्प से संवदग्ध है, ऐसे म् उसको एक ही रेलवे म् पदो् की अदला-बादली करते हुए बनाए रखने का क्या औवचत्य हो सकता है? िहां रािनीवतक हस् क्ेप इस िड़तोड़ और कदाचारपूण् ड प्शासवनक व्यवहार के वलए सव्ाड वधक विम् मेदार है, वही् उतना ही विम् मेदार वह सक्म अवधकारी भी है्, िो ऐसी वसफावरशेकरने वाले रािनीवतज्ो् अथवा मं व्तयो् को संबंवधत अवधकारी की असवलयत बताने का साहस नही् कर पाते और आंख बंद करके सब कुछ िानते-बूझते हुए भी उनकी वसफावरशो् पर अमल करके भ्ष्ाचार तथा कदाचार को बढ़ावा देने के उनके इस दुष्कृत्य के भागीदार बन िाते है्. प्स्ुत मामला पूव्ोत्र रेलवे के व्पंवसपल सीओएम आलोक वसंह को पुनः व्पंवसपल सीसीएम बनाए का है. बताते है् वक उनकी यह पोस् सटंग रेल राज्यमंत्ी मनोि वसन्हा के कहने पर की गई है. िबवक पीसीओएम बने उन्हे् अभी एक साल भी पूरा नही् हुआ था. उधर व्पंवसपल सीसीएम n वर् ष - 17 n अंक : 401-402 n कल्याण (मुंबई) n 1 से 28 फरवरी 2019 n पेज 12 n मूल्य 5 र्. स्थापना ः 1997 - संपक् क ः 09869256875 प्त्येक महीने की 1ली और 16वी् तारीख एवं तिन को प्कातशn Website : www.railsamachar.com n Website : www.railsamacharenglish.com n Email : [email protected] भारतीय रेल के निजाम ‘ब्लफ-मास्टर’ को समन्पित “जो बहुत सीवमत होते है्, अपिे शब्दो् म्..! िह बहुत विस्ृत होते है्, अपिे अर््ो् मे्..!! निडर िानिक गोरखपुर ब्यूरो : के्द्ीय रेल एवं कोयला मंत्ी पीयूर गोयल ने रेल राज्यमंत्ी एवं संचार राज्य मंत्ी (स्वतं त् प्भार) मनोि वसन्हा की उपस् सथवत मे् रवववार, 2 माच् ड को िवनयर हाईस्कूल मैदान, खलीलाबाद मेआयोवित एक समारोह मे् 240 वकमी. लंबी खलीलाबाद-रुमवरयागंि-उतरौला- बलरामपुर-श्ावस्ी-बहराइच नई रेल लाइन का वशलान्यास वकया. इस अवसर पर बड़ी संख्या मे् आए िन-समुदाय को संबोवधत करते हुए रेलमं त्ी पीयूर गोयल ने कहा वक इस नई लाइन कवनम्ाडण की स् वीकृ वत हेतु कई क्ेत्ीय िन- प्वतवनवध इस नई तिल् ली : अपॉइंटमेंट कमेटी ऑफ कैबिनेट (एसीसी) दंारा सोमवार, 4 फरवरी को डीपीसी की अपंूवल के िाद रेल मतंालय (रेलवे िोडं ड) ने चार महापंिंधकों की बनयु कंति के आदेश जारी कर बदए हैं. छुटंी पर होने के कारण बवदंा भूषण को छोड़कर िाकी िीनों वबरषं अबधकाबरयों ने पदसंथापना आदेश जारी होने के ितंकाल िाद अपना पदभार गंहण कर बलया है. रेलवे िोडं ड दंारा जारी आदेश के अनुसार टी. पी. बसंह को उतंर पबंिम रेलवे, जयपुर के महापंिंधक पद गोरखपुर ब्यूरो : चेयरमैन, रेलवे बोर्ड (सीआरबी) ववनोद कुमार यादव ने गुर्वार, 7 फरवरी को पूव्ोत्र रेलवे मुख्यालय, गोरखपुर का एक वदवसीय दौरा वकया. इस दौरे के अंतग्डत उन्हो्ने पूव्ोत्र रेलवे कवनम्ाडणाधीन ववद्ुत लोकोशेर, गोरखपुर रेलवे स्टेशन, रेल म्यूवियम तथा अंत्योदय कल्याण के्द् का वनरीक्ण वकया. इस मौके पर उन्हो्ने महाप्बंधक रािीव अग्वाल एवं वभाग प्मुखो् के साथ बैठक भी की. बैठक मसीआरबी श्ी यादव ने पूव्ोत्र रेलवे के दायरे म् चल रही ववकास पवरयोिनाओ् तथा यात्ी सुख-सुववधाओ् के क्ेत् म् वकए गए काय्ो् की गहन समीक्ा भी की. पूव्ोत्र रेलवे पर चल रही वकास पवरयोिनाओ् की समीक्ा करते हुए सीआरबी ववनोद कुमार यादव ने कहा वक रेल संरक्ा हमारी सव्ोच् प्ाथवमकता है. उन्हो्ने कहा वक ट्ैक अनुरक्ण का काय्ड प्ाथवमकता के आधार पर वकया िाए तथा ट्ैक अनुरक्ण के उपयोग म् आने वाली सामव्गयो् की उपलब्धता सुवनव्ित की िाए. उन्हो्ने कहा वक रेलो् म् अनारव्कत समपार समाप्त कर वदए गए है्, ऐसी स्सथवत मे् रव्कत समपारो् का बेहतर अनुरक्ण वकया िए. श्ी यादव ने पूव्ोत्र रेलवे पर आधारभूत संरचना की मिबूती के वलए चल रही दोहरीकरण, ववद्ुतीकरण एवं आमान पवरवत्डन पवरयोिनाओ् की वनयवमत मावनटवरंग पर िोर वदया, तावक पवरयोिनाएं वनध्ाडवरत समय मे् पूरी हो सके्. इस अवसर पर सीआरबी श्ी यादव ने गाड़ियो् कसमयपालन मे् सुधार हेतु संबंवधत अवधकावरयो् कवनद्ेवशत वकया. उन्हो्ने कहा वक आवश्यकतानुसार रेल खंरो् पर ब्लाक देकर वनम्ाडण काय्ड समय से पूरे वकए िएं. श्ी यादव ने कहा वक भारतीय रेल पर वरक्त सभी स्वीकृत पदो् को भरने की प्व्िया प्ारम्भ कर दी गई है. उन्हो् ने कहा वक अगले दो वर्ो् मे् होने वाली वरस्कतयो् का भी आकलन वकया िा रहा है, रेल संरक््ा हमारी सि््ोच्् प््ाथवमकता है n आिारभूत संरचिा िाली पवररोजिाओ् की विरवमत मावििवरंग पर जोर n सामव््िरो् की उपलब्िता और समपारो् का अिुरक््ण सुविव््ित वकरा जाए n आगामी िर््ो् की वरस्कतरो् के आकलि सवहत सभी वरक्त पद जल्दी भरे जाएंगे - विनोद कुमार यादि, सीआरबी पद बदल-बदलकर आलोक नसंह को पुनः PCCM बनाया गया सुरेश त्िपाठी n एक जोि मे् लंबे समर से विके अविकावररो् पर प् ्भािी िही् रेलमंत् ्ी का आदेश n 30 सालो् मे् अब तक एक बार भी पूि््ोत््र रेलिे से बाहर िही् गए आलोक वसंह n विरमो् और िैवतकता को ताक पर रखकर कौि सा संदेश दे रहा है रेल प््शासि? कुल 4940 करोड़ र्परे की लागत से 2024-25 तक प््ोजेक्ि पूरा करिे का लक््र चार रहाप््बंधको् की पोस्टिंग, ि.पी.नसंह की लेिरल निस्टिंग जीएम पोस्टिंग्मे् देरी से प््भावित होते हैप््शासविक एिं विकास कार्शेष पेज 11 पर... शेष पेज 10 पर... शेष पेज 10 पर... शेष पेज 6 पर... खलीलाबाद-बहराइच नई रेल लाइन के नर्ााण का निला न्यास रे

Post on 03-Sep-2019

2 views

Category:

Documents

0 download

Embed Size (px)

TRANSCRIPT

  • ल मतं््ालय (रलेव ेबोर्ड) और रले प्श्ासनवनधा्डवरत वनयमो ्की नवैतकता और शवुचता केसाथ ही ववविले्स एवं सीवीसी के तमाम

    वदशा-वनद््शेो ्को ताक पर रखकर खदु ही भ्ष्््ाचार औरिोड़तोड़ को बढ़ावा दतेा ह.ै यवद ऐसा नही ्होता, तो वहवकसी अवधकारी को रलेव ेजव्ाइन करन ेस ेलकेर ववभागप््मुख (पीएचओरी) बनने तक एक ही िोन मे् क्यो्पदसथ् रखता? वास्व् मे ्भ्ष्््ाचार एव ंिोड़तोड़ की िड़भी यही ह.ै इसक ेअलावा िब यह भी सवुनव््ित हो वकसंबंवधत अवधकारी की ववश््सनीयता घोवरत र्प सेसंवदग्ध है, ऐसे मे् उसको एक ही रेलवे मे् पदो् की

    अदला-बादली करत ेहएु बनाए रखनेका कय्ा औवचतय् हो सकता ह?ै

    िहां रािनीवतक हस््क््ेप इसिोड़तोड़ और कदाचारपणू्ड प्श्ासवनकवय्वहार क ेवलए सवा्डवधक विमम्देार ह,ैवही् उतना ही विम्मेदार वह सक््मअवधकारी भी है्, िो ऐसी वसफावरशे्करन ेवाल ेरािनीवतज््ो ्अथवा मवं््तयो्को सबंवंधत अवधकारी की असवलयतबताने का साहस नही् कर पाते औरआखं बदं करक ेसब कछु िानत-ेबझूतेहुए भी उनकी वसफावरशो् पर अमलकरके भ््ष््ाचार तथा कदाचार को

    बढ़ावा दने ेक ेउनक ेइस दषुक्तृय् क ेभागीदार बन िात ेहै.्प््स््ुत मामला पूव््ोत््र रेलवे के व््पंवसपल सीओएमआलोक वसहं को पनुः व््पवंसपल सीसीएम बनाए का ह.ैबताते है् वक उनकी यह पोस्सटंग रेल राज्यमंत््ी मनोिवसनह्ा क ेकहन ेपर की गई ह.ै िबवक पीसीओएम बनेउनह्े ्अभी एक साल भी परूा नही ्हआु था.

    उधर व््पंवसपल सीसीएम

    n वर्ष - 17 n अकं : 401-402 n कलय्ाण (मुबंई) n 1 स े28 फरवरी 2019 n पजे 12 n मलूय् 5 र.्

    सथ्ापना ः 1997 - सपंक्क ः 09869256875 प्त्य्के महीन ेकी 1ली और 16वी ्तारीख एव ंतिन को प्क्ातशत n Website : www.railsamachar.comn Website : www.railsamacharenglish.com

    n Email : [email protected]

    भारतीय रेल के निजाम ‘ब्लफ-मास्टर’ को समन्पित

    “जो बहुत सीवमत होते है्, अपिे शब्दो् मे्..!िह बहुत विस््ृत होते है्, अपिे अर््ो् मे्..!!

    निडर िानिक

    गोरखपुर ब्यूरो : के्द््ीय रेल एवंकोयला मंत््ी पीयूर गोयल ने रेल राज्यमंत््ीएव ंसचंार राजय् मतं््ी (सव्ततं् ्प्भ्ार) मनोिवसनह्ा की उपसस्थवत मे ्रवववार, 2 माच्ड कोिूवनयर हाईस्कूल मैदान, खलीलाबाद मे्आयोवित एक समारोह मे ्240 वकमी. लबंीख ली ला बा द - रु म वर या गं ि - उ त रौ ला -

    बलरामपरु-श््ावस््ी-बहराइच नई रले लाइनका वशलानय्ास वकया.

    इस अवसर पर बड़ी संख्या मे् आएिन-समदुाय को सबंोवधत करत ेहएु रलेमतं््ीपीयरू गोयल न ेकहा वक इस नई लाइन केवनम्ाडण की स्वीकृवत हेतु कई क््ेत््ीय िन-प््वतवनवध इस

    नई तिलल्ी : अपॉइटंमेटं कमटेी ऑफ कबैिनटे (एसीसी)दंंारा सोमवार, 4 फरवरी को डीपीसी की अपंंवूल क ेिाद रलेमतंंालय (रलेव ेिोडंड) न ेचार महापंिंधंको ंकी बनयकुतंि केआदशे जारी कर बदए है.ं छटुंंी पर होन ेक ेकारण बवदंंा भषूण कोछोड़कर िाकी िीनो ंवबरषं ंअबधकाबरयो ंन ेपदसथंापना आदशेजारी होन ेक ेितकंाल िाद अपना पदभार गंहंण कर बलया ह.ैरलेव ेिोडंड दंंारा जारी आदशे क ेअनसुार टी. पी. बसहं को उतंरंपबंंिम रलेव,े जयपरु क ेमहापंिंधंक पद

    गोरखपुर ब्यूरो : चेयरमैन, रेलवे बोर्ड(सीआरबी) ववनोद कुमार यादव ने गुर्वार, 7 फरवरीको पूव््ोत््र रेलवे मुख्यालय, गोरखपुर का एक वदवसीयदौरा वकया. इस दौरे के अंतग्डत उन्हो्ने पूव््ोत््र रेलवे केवनम्ाडणाधीन ववद््ुत लोकोशेर, गोरखपुर रेलवे स्टेशन,रेल म्यूवियम तथा अंत्योदय कल्याण के्द्् का वनरीक््णवकया. इस मौके पर उन्हो्ने महाप््बंधक रािीव अग््वाल

    एवं ववभाग प््मुखो् के साथ बैठक भी की. बैठक मे्सीआरबी श््ी यादव ने पूव््ोत््र रेलवे के दायरे मे् चलरही ववकास पवरयोिनाओ् तथा यात््ी सुख-सुववधाओ् केक््ेत्् मे् वकए गए काय््ो् की गहन समीक््ा भी की.

    पवू््ोत्र् रलेव ेपर चल रही ववकास पवरयोिनाओ ्कीसमीक््ा करते हुए सीआरबी ववनोद कुमार यादव ने कहा

    वक रेल संरक््ा हमारी सव््ोच्् प््ाथवमकता है. उन्हो्ने कहावक ट््ैक अनुरक््ण का काय्ड प््ाथवमकता के आधार परवकया िाए तथा ट््ैक अनुरक््ण के उपयोग मे् आने वालीसामव््गयो् की उपलब्धता सुवनव््ित की िाए. उन्हो्ने कहावक रेलो् मे् अनारव््कत समपार समाप्त कर वदए गए है्,ऐसी स्सथवत मे् रव््कत समपारो् का बेहतर अनुरक््ण वकया

    िाए. श््ी यादव ने पूव््ोत््र रेलवे पर आधारभूत संरचनाकी मिबूती के वलए चल रही दोहरीकरण, ववद््ुतीकरणएवं आमान पवरवत्डन पवरयोिनाओ् की वनयवमतमावनटवरंग पर िोर वदया, तावक पवरयोिनाएं वनध्ाडवरतसमय मे् पूरी हो सके्.

    इस अवसर पर सीआरबी श््ी यादव ने गाड़ियो् केसमयपालन मे् सुधार हेतु संबंवधत अवधकावरयो् कोवनद््ेवशत वकया. उन्हो्ने कहा वक आवश्यकतानुसार रेलखंरो् पर ब्लाक देकर वनम्ाडण काय्ड समय से पूरे वकएिाएं. श््ी यादव ने कहा वक भारतीय रेल पर वरक्त सभीस्वीकृत पदो् को भरने की प््व््िया प््ारम्भ कर दी गई है.उनह्ोन् ेकहा वक अगल ेदो वर््ो ्मे ्होन ेवाली वरसक्तयो ्काभी आकलन वकया िा रहा है,

    रेल संरक््ा हमारी सि््ोच्् प््ाथवमकता है n आिारभूत संरचिा िाली पवररोजिाओ्

    की विरवमत मावििवरंग पर जोरn सामव््िरो् की उपलब्िता और समपारो्

    का अिुरक््ण सुविव््ित वकरा जाएn आगामी िर््ो् की वरस्कतरो् के आकलि

    सवहत सभी वरक्त पद जल्दी भरे जाएंगे

    - विनोद कुमार यादि, सीआरबी

    पद बदल-बदलकर आलोक नसंह को पुनः PCCM बनाया गयासरुशे त््िपाठी n एक जोि मे ्लंब ेसमर से

    विके अविकावररो् पर प््भािीिही ्रलेमंत््ी का आदेश

    n 30 सालो् मे् अब तक एकबार भी पूि््ोत््र रेलिे सेबाहर िही् गए आलोकवसंह

    n विरमो् और िैवतकता कोताक पर रखकर कौि सासंदेश दे रहा है रेलप््शासि?

    कुल 4940 करोड़ र्परे की लागत से 2024-25 तक प््ोजेक्ि पूरा करिे का लक्््र

    चार रहाप््बंधको् की पोस्टिंग,िी.पी.नसंह की लेिरल निस्टिंगजीएम पोस्टिंग्स

    म्े देरी सेप््भावित होते है्प््शासविक एिंविकास कार्य

    शेष पेज 11 पर...

    शेष पेज 10 पर...शेष पेज 10 पर...

    शेष पेज 6 पर...

    खलीलाबाद-बहराइच नई रेललाइन क ेननरा्ाण का निलान्यास

    रे

  • भा र ती यवांग्मय औरलोकिीवन मे्कमुभ् का बहतुमहत्व है.शीर्डक पुस््कमे् प््यागराि,हवरद््ार, उि््ैनऔर नावसकमे् लगने वालेकुम्भ की कथाएँ, कुम्भ का अथ्ड, महात्म्य,वववभन्न दश्डनो् मे् कुम्भ, दव््कण भारत(कुम्भकोणम) का कुम्भ इत्यावद पर मौवलकवचंतन के साथ वववेचन वकया गया है.

    पुस््क मे् कुम्भ का सांस्कृवतक,आध्यास्तमक और लौवकक महत्व का भीववश्लेरण वकया गया है. यह वास््व मे् एकसंग््हणीय पुस््क है.

    लेखक : रॉ. वदनेश प््ताप वसंहप््काशक: प््ारब्ध प््काशन, नया

    मम्फोर्ड गंि, प््यागराि - 211002. मो.09918091810.

    संस्करण: प््थम, वर्ड 2019. साइि:वरमाई, पेपर बैक, पृष्् संख्या: 128, मूल्य:₹ 150 मात््.

    2 1 से 28 फरवरी 2019जोिल रलेिे

    मुबंई : इवंरयन रलेव ेवसगन्ल एरं टलेीकमय्वूनकशेनमे्टेनस्ड यूवनयन के नेतृत्व मे् समस्् भारतीय रेल केएसएरंटी कम्डचावरयो ्न ेशवनवार, 9 फरवरी को एक वर्डपहल ेइसी वदन काय्ड क ेदौरान रन-ओवर हएु अपन ेसाथीईएसएम सिंय शमा्ड और मनोहर पथंी की दद्डनाक मौततथा उनक ेमतृ शरीर क ेऊपर स े19 ट््नेे ्वनकाल ेिान ेकेववरोध मे ्एक वदन का उपवास रखकर अपना वनधा्डवरतकाम करत ेहएु काला वदवस मनाया. उलल्खेनीय ह ैवकसंिय शम्ाड और मनोहर पंथी, कुरवाई कै्थोरा स्टेशन,भोपाल मरंल, पव््िम मधय् रलेव ेपर वसगन्ल ववभाग मे्ईएसएम क ेपद पर तनैात थ.े 9 फरवरी 2018 को रात22-50 बि ेवसगन्ल पव्ाइटं की ववफलता ठीक करन ेकेि्म् मे ्रािधानी एकस्प््से की चपटे मे ्आ िान ेक ेकारणउनकी दद्डनाक मौत हो गई थी.

    इसक ेअलावा मौत होन ेक ेबाद परूी रात उनक ेशवलाइन पर ही पड़ ेरह और उनक ेऊपर स े19 ट््नेे ्गिुारदी गई थी्. सुबह 5.30 बिे दोनो् शव िीआरपी द््ाराउठाए गए. मानवता को शम्डसार करन ेऔर झकझोर दनेेवाली यह घटना रले प्श्ासन क ेमाथ ेपर एक बड़ ेबदनमुादाग की तरह ह.ै यह घटना इस बात की भी गवाह ह ैवकरेलवे के वसग्नल ववभाग के कम्डचारी वकन कवठनपवरसस्थवतयो ्मे ्िान को िोवखम मे ्रालकर अपनी रयटूीकरत ेहै.् मानवीय सवंदेनाओ ्को कलवंकत करन ेवाली

    इस अमानवीय घटना की याद मे् अब हर साल पूरीभारतीय रले मे ्एसएरंटी कम्डचावरयो ्द््ारा 9 फरवरी कोसरंक््ा वदवस मनाया िाएगा.

    'रेल समाचार' से बात करते हुए यूवनयनपदावधकावरयो ्का कहना था वक परूी भारतीय रले क ेसकंतेएव ंदरूसचंार क ेरखरखाव और रलेव ेक ेसचुार ्सचंालन

    की विमम्देारी विन सकंते और दरूसचंार कम्डचावरयो ्परह,ै आि वही बहेाल है ्और आदंोलन की राह पर है.् येकम्डचारी रलेव ेक ेवसगन्लो ्का रखरखाव रखत ेहै,् लवेकनउनक ेरखरखाव की रले प्श्ासन को कोई वचतंा नही ्ह.ैइसी सबको लकेर आि परूी भारतीय रले क ेलगभग 50हिार से अवधक संकेत एवं दूरसंचार कम्डचावरयो् नेप्व्तमाह बवेसक वतेन का 10% वरसक् अलाउसं तथा परूीभारतीय रले क ेप्त्य्के एसएसई यवूनट मे ्नाइट ड््टूीफवेलयर गैग् की सथ्ापना की मागं को लकेर ‘काला वदवस’मनाया.

    सभी कम्डचावरयो ्न ेपरू ेवदन भखू ेरहकर और कालीपट््ी बाधंकर काम करत ेहएु अपना ववरोध िताया. यवूनयनपदावधकावरयो ्का कहना ह ैवक रले प्श्ासन कम्डचावरयो्स ेउनकी क्म्ता स ेअवधक काम करा रहा ह.ै इसक ेकारणअवधकतर कम्डचारी कई गभंीर बीमावरयो ्का वशकार होरह ेहै.् उनह्ोन् ेकहा वक कम्डचावरयो ्की ड््टूी का कोईसमय वनध्डवरत नही ्ह.ै अपनी काय्ड अववध क ेबाद भीवसगन्ल फवेलयर होन ेपर उसक ेअनरुक्ण् क ेवलए उनह्े्कभी-भी बलुा वलया िाता ह.ै इसक ेबदल ेमे ्उनह्े ्कोईभत््ा नही ्वदया िाता ह,ै िो वक काय्ड और आराम कीअववध क ेमामल ेमे ्एचओईआर, 2005 क ेवनयमो ्काखलुा उलल्घंन ह.ै यवद थकान एव ंनीद् क ेचलत ेवकसीकम्डचारी स ेकोई गलती हो िाती ह,ै तो चाि्डशीट और

    वनलबंन िसै ेदरं का सामना करना पड़त्ा ह.ै यहा ंतकवक कई बार उनह्े ्नौकरी स ेभी वनकाल वदया िाता ह.ै

    पदावधकावरयो ्का कहना था वक हर साल औसतन दोदि्डन स ेअवधक एसएरंटी कम्डचारी रन-ओवर या ड््टूीक ेदौरान दघु्डटनाओ ्मे ्मार ेिात ेहै.् अभी दो वदन पहलेभी 7 फरवरी को पवू्ड तट रलेव ेरट् पर एक कम्डचारीरन-ओवर हो गया. इतना ही नही ्कम्डचारी समपार फाटककी मरम्मत या फेवलयर के दौरान स्थानीय लोगो् कीमारपीट का भी वशकार होत ेहै.् इसमे ्भी कई कम्डचावरयो्की मौत हो चकुी ह.ै उनह्ोन् ेकहा वक यवद रले प्श्ासनएसएंरटी कम्डचावरयो् की उपरोक्त वाविब मांगो् परअववलबं कोई उवचत वनण्डय नही ्लतेा ह,ै तो िलद्ी ही‘अनरुक्ण् काय्ड बदं आदंोलन’ वकया िाएगा.

    रतीय रलेवेमिदरू सघं

    (बीआरएमएस)क ेपाचं दशको ्कासघंर्ड-इवतहास एकपुस््क (भारतीयरलेव ेमिदरू सघं :बढ़ते कदम) केर्प मे् छपकरतैयार हो गया है.शीर्डक पसु्क् का

    लोकाप्डण रतलाम मे् आयोवित होने वालेबीआरएमएस के राष््््ीय अवधवेशन मे् 8फरवरी, 2019 को रलेमतं््ी पीयरू गोयल केहाथो ्समप्नन् होन ेिा रहा ह.ै

    इस पुस््क मे् भारतीय रेलवे मिदूर

    संघ की स्थापना से पूव्ड का रेल मिदूरआंदोलन, भा.रे.म.संघ और सम्बद््यूवनयनो् की स्थापना, पचास वर््ो् मे् वकएगए प््मुख आंदोलन-काय्ड, राष््् ्ीयअवधवेशन, सव््ोच्् पवररद, कारखाना

    सम्मेलन, अभ्यास वग्ड का आयोिन, वर्ड1974 की हड़ताल, आपातकाल मे् काय्ड,बोनस के वलए संघर्ड और उपलस्बध,सरकारी मान्यता के वलए प््यास और गुप्तमतदान, 50 प््वतशत रीए का बेवसक वेतन

    के साथ मि्डर, शरद देवधर प््वतष््ान, नी्वके पत्थर इत्यावद अध्यायो् मे् पूरा इवतहासववस््ार के साथ वदया गया है.

    रेल मिदूर आंदोलन का पवरदृश्य औरवचंतन बदलने वाले इस संगठन कोिानने-समझने के वलए और युवाकाय्डकत्ाडओ् के वलए यह पुस््क बहुतउपयोगी सावबत होगी. राष््् ्वहत - रेलउद््ोगवहत - कम्डचारीवहत इस व््तसूत्् कोध्येय के र्प मे् स्वीकार करके इस संगठनने गैर रािनीवतक संगठन के र्प मे् रेलवेमे् एक नई काय्ड संस्कृवत को स्थावपत वकयाह.ै यह पसु्क् न कवेल अपन ेकाय्डकता्डओ्के वलए अवपतु अन्य संगठनो् केकाय्डकत्ाडओ् वलए भी पठनीय औरसंग््हणीय है.

    ‘भारतीय रलेव ेमजदरू सघं : बढ़त ेकदम’‘कमुभ् : सांस्कतृिक-

    आध्यात्ममक-लौतकक तिंिन’

    वसै ेतो क््ते्व्ार उत्र्ी एव ंदव््कणी भारतकी सतं परपंरा पर कई ग््थं आए है.् इन ग््थंो्मे ् भारतीय सतंो ् क े सामाविक औरआधय्ासत्मक अवदान को रखेावंकत वकयागया ह.ै रॉ. वदनशे प्त्ाप वसहं और अवभमनय्ुवसहं द््ारा सपंावदत शीर्डक पसु्क् उत्र्ी भारतक ेसतंो ्क ेसावहसत्यक योगदान को पस््तुकरती ह.ै इसमे ्कलु 36 शोध प्प्त् ्शावमलवकए गए है.् दशे भर क ेविन ववद््ानो ्क ेलखेशावमल है,् उनमे ्प््ो. वमवथला प्स्ाद व््तपाठी,प््ो. बद््ी प्स्ाद पचंोली, प््ो. अरण् भगत, रॉ.मोहन लाल सर, रॉ. यशवतं वसहं, प््ो. श््ीराम

    पवरहार, रॉ. शय्ाम सुदंर पारंये, रॉ. ियश््ीवसहं, उरा वमश््ा इतय्ावद प्म्खु है.् इन ववद््ानो्न ेसतंो ्की रचनाओ ्को सावहतय् की कसौटीपर कसा ह ै और िो सावहसत्यक नवनीतवनकला, उस े पसु्क् रप् मे ् पाठको ् केसमम्खु लान ेका महतव्पणू्ड प्य्ास वकया ह.ै

    इस पसु्क् मे ्विन सतंो ्क ेसावहतय् कोशावमल वकया गया ह,ै व े है ् वालम्ीक,मगनीराम, अवभनव गपुत्, श््ीराम शमा्डआचाय्ड, तलुसी, रसखान, मीरा, कबीर,रववदास, मेह्ी,् अमतृ भगवाचाय्ड, दवरयासाहब, सरूदास, पीपा, दाद ूदयाल इतय्ावद.

    इसक ेसाथ ही सतंो ्की ववशरेता, रामरवसक सतं, कषृण् रवसक सतं, मवहला सतं,यायावर सतं, दरबारी सतं, वमवथलाचंल केसतं, बव््िकाचंल क ेसतं, रािसथ्ान क ेसतं,वनरिंनी सावहतय्, वनग्डणु सतं सावहतय्, सगणुसतं सावहतय्, राधासव्ामी सावहतय् इतय्ावद परसुदंर लखे शावमल है.्

    कलय्ाण वनवासी रॉ. वदनशे प्त्ाप वसहं,मुबंई मरंल, मधय् रलेव ेमे ्मखुय् आरक्ण्अधीक्क् है.् उनह्ोन् ेवववभनन् ववरयो ्पर अबतक दो दि्डन स ेअवधक पसु्क्े ्वलखी है.्केद्््ीय वहदंी वनदशेालय क ेपरामश्डदाता और

    ससंक्वृत मतं््ालय मे ् सीवनयर फलेो है.्अवखल भारतीय सावहतय् पवररद क ेराष््््ीयमतं््ी भी है.् उनह्े ् सावहतय् क े कई राष््््ीयपरुसक्ार वमल चकु ेहै.्

    उत्र्ी भारत क ेसतंो ्क ेसावहतय् कोिानन-ेसमझन ेक ेवलए यह अब तक कीसबस ेमहतव्पणू्ड और सगं्ह्णीय पसु्क् ह.ै

    समीक््ा : रॉ. उमाशकंर पाल,प््ाधय्ापक, सोनावण ेमहाववद््ालय, कलय्ाण

    सपंादक: रॉ. वदनशे प्त्ाप वसहं,अवभमनय् ुवसहं

    प्क्ाशक: प््ारबध् प्क्ाशन: 185,परुाना ममफ्ोर्ड गिं, प्य्ागराि-211002

    पषृ्:् 256. मलूय्: ₹ 250, साइि:वरमाई-पपेरबकै

    ‘उत््री भारत का संत सानहत्य’

    पुस््क : ‘भारतीय रेलवे मिदूर संघ : बढ़तेकदम’लेखक : रॉ. वदनेश प््ताप वसंहप््काशक : प््ारब्ध प््काशन, 185, पुरानामम्फोर्डगंि, प््यागराि-211002.पृष्् संख्या : 280, मूल्य : ₹ 250 मात््, साइि: वरमाई, सविल्दप््ाप्ति स्थल : भारतीय रेलवे मिदूर संघ, 33,मोती भुवन, रा. वरवसल्वा रोर, दादर (पव््िम),मुंबई - 400028

    लेखक : डॉ. नििेश प््ताप नसंह

    िावजब मांगो् पर अविलंब उवचतविण्यर िही् वलरा गरा, तो

    ‘अिुरक््ण कार्य बंद आंदोलि’ होगा

    एसएंडिी कर्ाचानरयो् ने असुरन््ित काय्ा-प््णाली के निरोध रे् रनाया काला नदिस

    भा

  • 1 से 28 फरवरी 2019 रेल संगठि 3

    मुबंई : नशेनल फरेरशेन ऑफ इवंरयनरलेव े(एनएफआईआर) क ेराष््््ीय महामतं््ीरॉ. एम. राघवैया की बुधवार, 13 फरवरीको मुंबई मे् चच्डगेट स्सथत पव््िम रेलवे केमहाप््बंधक काय्ाडलय के प््ांगण मे् रेलकम्डचावरयो ्की महासभा का आयोिन वकयागया. दोपहर 1 बि ेरॉ. राघवयैा न ेरलेकवम्डयो्की इस सभा को सबंोवधत वकया. इस अवसरपर रॉ. राघवैया सरकार के साथ चल रहीफरेरशेन की बातचीत और सरकार द््ारा कीगई अब तक की वादावखलाफी के बारे मे्रलेकवम्डयो ्को ववस््ार स ेअवगत कराया.

    इस मौक ेपर वसेट्न्ड रलेव ेमिदरू सघं(रबल्य्आूरएमएस) क ेअधय्क् ्शरीफ खानपठान, काया्डधय्क् ्अिय वसहं, महामतं््ी ि.ेिी. माहरुकर क ेअलावा मुबंई सेट््ल् मरंलक ेमरंल मतं््ी रािशे पवंदरकर, मरंल अधय्क््वकरण पावटल इत्यावद पदावधकारी भीउपस्सथत थे. ‘रेल समाचार’ कोरबल्य्आूरएमएस द््ारा भिेी गई प््से ववज्स्प्तमे् कहा गया है वक रॉ. राघवैया ने रेलकम्डचावरयो ्क ेवलए एनएफआईआर की तरफस ेरलेव ेबोर्ड क ेसाथ काफी लबं ेसमय सेचल रही मांगो्, विनका रेलवे बोर्ड द््ारासहमवत दने ेक ेबाविदू अब तक वनराकरणनही ्वकया गया ह,ै की ववस््तृ िानकारी दी.

    इसस ेपहल ेएनएफआईआर क ेमहामतं््ीरॉ. एम. राघवयैा की तरफ रबल्य्आूरएमएसके अध्यक्् शरीफ खान पठान, काय्ाडध्यक््अिय वसंह, महामंत््ी िे. िी. माहुरकर नेपव््िम रेलवे के सभी रेल कम्डचावरयो् सेवनवदेन वकया था वक व ेबधुवार, 13 फरवरीको दोपहर 1 बि ेइस महासभा मे ्भाग लकेर

    उनकी मांगो् के संबंध मे् सरकार के साथफेररेशन की वात्ाड से संबंवधत िानकारीप््ापत् करे ्और वकसी प्क्ार की गलतफहमीस ेबचे.् रॉ. राघवयैा न ेवनमन्वलवखत तमाममांगो् से संबंवधत ववस््ृत िानकारी पररलेकवम्डयो ्को दी.डॉ. राघवैया िे एिएफआईआर िे सरकार केसमक्् रलेकन्मियो् प््मुख मांगे् रखी ह्ै-1. नई पेश्न सक्ीम को तरुतं रद् ्वकया िाए.2. रलेव ेमे ्ठकेदेारी प्थ्ा तरुतं बदं की िाए.3. सरंक््ा कोवट क ेवरकत् पद तरुतं भर ेिाए.ं4. ग््ेर पे 4600 को ग््ेर पे 4800 वकया

    िाए.5. लाि््ेस योिना को वफर से लागू वकया

    िाए.6. 12 घटं ेक ेड््टूी रोसट्र को खतम् वकया

    िाए.7. स्टाफ नस््ेस की वरस्कतयो् को अववलंब

    भरा िाए.8. गार्ड काउसंलेर क ेसभी वरकत् पदो ्को भरा

    िाए.9. लोको पायलट एव ंगार्ड का ग््रे प े4800

    वकया िाए.10. एमएसीपी क ेवलए ‘वरेी गरु’ की शत्ड

    को हटाया िाए.11. न्यूनतम वेतन एवं वफटमे्ट फॉम्डूला मे्

    सधुार वकया िाए.12. सभी सफेट्ी सट्ाफ को समान हार्डवशप

    एलाउसं वदया िाए.13. वटकट चवेकगं सट्ाफ को रवनगं सट्ाफ का

    दिा्ड वदया िाए.14. ट््ैकमैन कैटेगरी के वलए "टूल सवहत

    रसेट् रम्" बनाए िाए.ं15. तकनीवशयन-2 के पदो् को

    तकनीवशयन-1 मे ्मि्ड वकया िाए.16. ग््पु ‘सी’ क ेसीवनयर सपुरवाइिरो ्ग््पु

    ‘बी’ मे ्मि्ड वकया िाए.17. रवनगं रम् एव ंटीटीई रसेट् हाउससे को

    वातानकुवूलत वकया िाए.18. पॉइटंस् मने करैर को वरसट््क्च्र करके

    ग््रे प े4200 वदया िाए.19. मवहला ट््कैमनै कटेगेरी एव ंट््कैमनैो ्के

    काय्ड मे ्सधुार वकया िाए.20. नई सपंव््तयो ्क ेवलए नए पदो ्का सिृन

    िलद् स ेिलद् वकया िाए.21. एसएंरटी स्टाफ को फेवलयर पर एक

    वदन का 100% टीए वदया िाए.22. सभी कटैगेरी क ेसट्ाफ को समान ड््से

    भत््ा 10 हिार र.् वदया िाए.23. रवनगं सट्ाफ वकलोमीटरिे एलाउसं को

    अववलबं सशंोवधत वकया िाए.24. कारखाना कम्डचावरयो ्को प््ोतस्ाहन भत््ा

    की नई दरे ्शीघ् ्िारी की िाए.ं25. रोर साइर आवासो् एवं काय्ाडलयो् मे्

    शदु् ्पीन ेका पानी महयैा कराया िाए.26. एएमए का भुगतान 7वे् सीपीसी के

    अनसुार वद. 01.01.2016 स ेवदया िाए. 27. ट््कैमैन् को तकनीवशयन करैर क ेसमान

    4200 ग््ेर पे तक प््मोशन चेनल वदयािाए.

    28. ट््कै मेट्नेस्ड कटैगेरी मे ्ग््रे प े2800,2400, 1900, 1800 मे ्10:20:20:50क ेअनपुात मे ्लाग ूवकया िाए.रब्ल्यूआरएमएस के महामंत््ी दादा

    माहरुकर न ेकहा वक उपरोकत् सभी मागंो ्कोलेकर एनएफआईआर के हमारे राष््््ीयमहामंत््ी रॉ. राघवैया ने रेलकव्मडयो् कोसबंोवधत करत ेहएु ववस््तृ िानकारी दी ह.ैउनह्ोन् ेकहा वक समस् ्रलेकवम्डयो ्न ेभारीसंख्या मे् उपस्सथत होकर इस काय्डि््म कोसफल बनाया. इस मौके पररब्ल्यूआरएमएस के अध्यक्् शरीफ खानपठान न ेबताया वक रलेकवम्डयो ्की सभा केबाद रॉ. राघवयैा 3 बि ेमुबंई मराठी पत्क्ारसघं क ेकाफंे््स् हॉल मे ्व््पटं एव ंइलकेट्््ॉवनकमीवरया के पत््कारो् को भी संबोवधत करतेहएु सरकार द््ारा केद्््ीय सरकारी कम्डचावरयो्की काफी समय स ेलवंबत मागंो ्क ेबार ेमे्मीवरया क ेमाधय्म स ेसभी कम्डचावरयो ्कोअवगत कराया ह.ै

    नई तिलल्ी : नशेनल जवंाइटं काउबंसलऑफ ऐतशंन (एनजसेीए) न े केदंंंीयसरकारी कमंडचाबरयो ंकी मागंो ंको लकेरकड़ा सघंषंड और आदंोलन करन ेकी घोषणाकी ह.ै इस सिंध मे ंएनजसेीए क ेसमनवंयकऔर एआईआरएफ क ेमहामतंंंी बशवगोपालबमशंंा न े ‘रले समाचार’ को भजेी एकबवजंकंतंि मे ंकहा ह ैबक 8 फरवरी 2019 को

    गहृमतंंंी, भारि सरकार राजनाथ बसहं सेउनक े बनवास पर एनजसेीए का एकपंबंिबनबध मडंल बमला. इस पंबंिबनबध मडंलमे ंउनक ेअलावा एनजसेीए क ेअधयंकं ंऔरएनएफआईआर क े महामतंंंी डॉ. एम.राघवयैा, अधयंकं ंगमुान बसहं क ेअलावा क.ेक.े एन. कटुटी, अशोक बसहं, एल. एन.पाठक िथा आर. एन. पराशर भी शाबमल

    थ.े पंबंिबनबध मडंल न ेगहृमतंंंी स े30 जनू2016 को उनक ेबनवास पर हईु ‘गंंपु ऑफबमबनसटंसंड’ की िठैक का बजकं ंकरि ेहएुकहा बक वायद ेक ेिावजदू न िो केदंंंीयसरकारी कमंडचाबरयो ं का नयंनूिम विेनिढ़ाया गया ह,ै न ही बफटमेटं फामंडलू ेमेंसधुार बकया गया ह,ै और न ही नई पेशंनयोजना क ेसथंान पर

    नई ददल्ली : ऑल इंवरया रेलवेमे्स फेररेशन(एआईआरएफ) के इस्टेट एंट््ी रोर, नई वदल्ली स्सथतमुख्यालय मे् एआईआरएफ के भूतपूव्ड अध्यक््, पूव्ड रेलमंत््ीऔर मिदूर नेता िाि्ड फन्ाडरीि के लंबी बीमारी सेमंगलवार, 29 िनवरी को वनधन पर श््ंद््ािवल सभा काआयोिन वकया गया. इस अवसर पर स्व. िाि्ड फन्ाडरीिको एआईआरएफ के महामंत््ी वशवगोपाल वमश््ा सवहतएनआरएमयू के मंरल मंत््ी संिीव सैनी, अनूप शम्ाड,

    सहायक महामतं््ी ववि्म् वसहं क ेअलावा एआईआरएफ क ेकाय्डकता्डओ ्और पदावधकावरयो्ने बड़ी संख्या मे् उपस्सथत होकर उनके द््ारा वकए गए मिदूर वहतो् के काय््ो् को याद वकयाऔर उनके वचत्् पर पुष्प अव्पडत कर उन्हे् अपनी श््ंद््ािवल दी.

    महामंत््ी वशवगोपाल वमश््ा ने श््ंद््ािवल अव्पडत करते हुए उनके द््ारा मिदूरो् के वहतमे् वकए गए काय््ो् को याद करते हुए कहा वक स्व. फन्ाडरीि 20 अक्टूबर 1973 से 6िुलाई 1976 तक ऑल इंवरया रेलवेमे्स फेररेशन के अध्यक्् रहे. उन्हो्ने अपने काय्डकालके दौरान असंगवठत और संगवठत क््ेत्् के कम्डचावरयो् के उत्थान के वलए अनेको् काय्ड वकएथे. कॉम. वमश््ा ने बताया वक मिदूरो् के वेतन को लेकर स्व. फन्ाा्रीि ने ही संघर्ड कीशुर्आत की थी, विसकी विह से मिदूरो् को सही वेतन वमल सके. इसके साथ-साथरेल कम्डचावरयो् को बोनस वदलाने मे् भी उनका ववशेर योगदान रहा. उन्हो्ने उनके वनधनको अत्यंत दुखद बताते हुए कहा वक भारतीय रेल मे् 1974 की हड़ताल मे् भी िाि्डफन्ाा्रीि िी का ववशेर योगदान रहा. इसके साथ ही उन्हो्ने उनके साथ अपने वबताए हुएक्ण्ो ्को याद करत ेहएु कहा वक उनक ेवनधन स ेऐस ेमिदरू नतेा क ेवरकत् सथ्ान की भरपाईकरना असभंव ह.ै महामतं््ी वशवगोपाल वमश््ा न ेअपन ेसभी सबंद् ्सगंठनो ्को पत् ्वलखकरिाि्ड फन्ाडरीि के वनधन पर तीन वदन का शोक का आहवान करते हुए सभी संगठनकाय्ाडलयो् मे् श््ंद््ािवल सभा आयोवित करने के साथ ही यूवनयन का झंरा आधा झुकारखने की अपील की. कॉम. वशवगोपाल वमश््ा ने शाम को स्व. फन्ाा्रीि के आवास परिाकर उनके पाव्थडत शरीर को नमन वकया और अपनी शोक संवेदनाएं व्यक्त की्.

    डॉ. राघिैरा िे चच्यगेि मे् रेलकव्मयरो् की सभा को संबोवित वकरा

    लंनबत रांग्े पूरी न होने से रेलकन्रायो् रे् व्याप्त है असंतोष

    डॉ. राघिैरा िे मंुबई मराठी पत््कार संघ पत््कारो् से भी वकरा िात्ायलाप

    जाज्ा फन्ाा्डीज को AIRF की श््ंद््ाजनलकर्ाचानरयो् की निनभन्न रांगो् पर NJCA को नरला गृहरंत््ी का आश््ासन

    एिजेसीए प््वतविवि मंडल िे गृहमंत््ीराजिार को सरकारी िादो् की राद वदलाई

    के्द््ीर कम्यचावररो् की मांगो् पर बैठक,एिजेसीए िे वकरा कड़े संघर्य की घोरणा

    शेष पेज 8 पर...

  • 4 1 से 28 फरवरी 2019सपंादकीरस वतिं रलेव ेमेंजीएम औरडीआरएम का

    पद मानो एक ‘पंंोटोकॉलअबधकारी’ का िनकर रहगया ह.ै खासकरएनसीआर, एनएफआर,ईसीआर जसैी जोनल रलेोंमे ं जीएम क े पद परसामानयंिः कोई अबधकारी

    जीएम िनकर जाना नही ंचाहिा ह.ै इसबलए यहा ंपरपदभार गंहंण करन ेक ेिाद अपनी पहुचं क ेअनसुारवह दसूर ेमहतवंपणंड जोन मे ंइसी पद पर चला जानाचाहिा ह.ै इसका पबरणाम यह होिा ह ै बक उसकापहला साल इस िरह की जगुाड़ मे ंबनकल जािा हैऔर शषे िच ेएक साल मे ंवह अगली बकसी महतवंपणंडजगह पर पोकसंटगं की जगुाड़ मे ंलगा दिेा ह.ै इसकापबरणाम जमीनी संरं पर दखेा जा सकिा ह ैबक जमानेहो गए जि बकसी डीआरएम या जीएम न ेबकसी रलेवेसटंशेन का गहनिा स ेबनरीकंणं बकया हो.

    इसका दषुपंबरणाम यह हआु बक नीच ेक ेअबधकारीऔर कमंडचारी भंषंं ंआचरण मे ंबलतिं हो गए है.ं इसकाजवंलिं उदाहरण भी कानपरु सेटंंलं ह,ै जहा ंरलेव ेकाहर बनयम दम िोड़ ंचकुा ह.ै यहा ंक ेसटंशेन डायरतेटंरदंंारा अवधै पसै ेकमान ेकी होड़ ंमे ंसार ेबनयम-काननूिाक पर रख बदए गए है.ं दरू जान ेकी जररंि नही ंह,ैकवेल एक ही उदाहरण काफी ह,ै वह यह बक सटंशेनकी साफ-सफाई ईएनएचएम के अधीन होने केिावजदू भी बवभागीय सफाई कमंडचारी (करीि 124)

    अभी-भी संटेशन की मद में करीि 80 लाख रंपयेपंबंिमाह स ेजयंादा का विेन ल ेरह ेहै,ं जिबक इनकाउपयोग बकनहंी ंअनयं सटंशेनो ंपर बकया जाना था.

    सटंशेन अधीकंकं कानपरु दंंारा बसफंफ अपनी अवधैवसलूी क ेबलए दो पोटंडर को राि-बदन अपन ेसाथ रखा

    जािा ह,ै जिबक सफेटंी कटैगेरी मे ंसटंाफ शॉटंंजे काखिू हवाला बदया जािा ह.ै यबद बपछल ेदो सालो ंमेंकानपरु सेटंंलं रलेव ेसटंशेन क ेउप मखुयं यािायािपंंिंधक/संटेशन डायरेतंटर के कायंाडलय दंंारा जारीऑबफस ऑडंडर को ही बसफंफ दखे बलया जाए, िो समझमे ंआ जाएगा बक बससटंम मे ंभंषंंंाचार बकस कदर घलुगया ह?ै

    यहा ंक ेकायांडलय िाि ूऔर वाबणजयं बनरीकंकंो ंके

    पोटंडफोबलयो देखकर ही समझ में आ जाएगा बकरलेमतंंंी और पीईडी/बवबजलेसं/र.ेिो. क ेसवंदेनशीलपदो ंपर रोटशेन पॉबलसी का तयंा हशं ंहो रहा ह?ै यहांक ेऐस ेसभी रलेकमंंी मडंल मखुयंालय िक को गलिसूचना देकर गुमराह करिे हैं. और िो और मंडलमखुयंालय क ेएक िाि ूदंंारा ििाया गया बक उप मखुयंयािायाि पंंिंधक/ संटेशन डायरेतंटर दंंारा वंहीकलसंिंधी दो संवीकृि टेंडर इसबलए रदंं कर बदए गए,तयंोबंक पाटंंी न ेउनहंे ंकमीशन दने ेस ेमना कर बदयाथा. उतंि िािू का यह भी कहना है बक संटेशनडायरतेटंर क ेबवरदंं ंएक पाटंंी न ेकसे भी दजंड बकयाहै. इसके अलावा संटेशन डायरेतंटर, संटेशनअधीकंंक, कुछ वाबणजंय बनरीकंंकों और संवासंथंयबनरीकंकंो ंक ेघरो ंपर बवभागीय सफाई कमंडचाबरयो ंसेकाम करवाना िदं नही ंहआु ह ैऔर न ही भंषंंंाचारकी कोई जाचं की गई.

    उललंखेनीय ह ैबक हाल ही मे ंउप मखुयं यािायािपंिंधंक कायांडलय की दो मबहला कमंडचाबरयो ंको एकभंषंं ंिाि ूदंंारा कायांडलय मे ंखलुकर अभदं ंगाली दीगई और मारपीट करन ेका पंयंास बकया गया, बजसकेबवरंदंं दोनों मबहला कमंडचाबरयों दंंारा बलबखि

    बशकायि दजंड कराई गई, बजस पर बदखाव ेक ेबलएउतिं भंषंं ंिाि ूको बनलबंिि बकया गया और एक बदनिाद ही उसे पासंडल के एक मुंहलगे दलाल कीबसफाबरश पर िहाल भी कर बदया गया. इस बशकायिपर उबचि कारंडवाई न होने से उतंि दोनों मबहलाकबंमडयों में भय वंयातंि है. परंिु उप मुखंय यािायािपंिंधंक की आखंो ंमे ंकदाचार की पटंंी िधंी होन ेकेकारण अि उतंि दोनों मबहला कबंमडयों को उबचिकारंडवाई के बलए अगले अबधकारी के आने िकमजिरूी मे ंइिंजार करना पड़गेा.

    ऐसा नही ंह ैबक कानपरु सेटंंलं रलेव ेसटंशेन परचल रही उपरोतिं बनयम-बवरदंं ंगबिबवबधयो ंक ेिारेमें संथानीय मीबडया को जानकारी नहीं है. एकसथंानीय अख़िार क ेबरपोटंडर का कहना था बक उनकीभी अपनी मजिरूी ह ैबक वह सीध ेउप मखुयं यािायािपंिंधंक स ेबभड़नंा नही ंचाहि ेहै.ं नाम उजागर न करनेकी शिंड पर कई अनयं सथंानीय अखिारनवीसो ं‘रलेसमाचार’ को ििाया बक उनहंे ंमालमू ह ैबक यहा ंपरबकिना भंंषंंाचार है, लेबकन उप मुखंय यािायािपंिंधंक दंंारा अपन ेको रले राजयंमतंंंी मनोज बसनहंाका खासमखास ििाए जान ेक ेकारण कोई उनस ेपगंानही ंलनेा चाहिा. उनका कहना था बक इलाहािादमंडल का वाबणजंय बवभाग जानिूझकर पाबंकिंगकॉनंटंंेतंट अवाडंड करने में लापरवाही कर रहा है,तयंोबंक इसकी आड़ ंमे ंवह बवभागीय सटंाफ क ेनामपर ठकेा चलािा ह ैऔर नयंनूिम शलुकं जमा करकेशषे रकम को आपस मे ंिाटं लिे ेहै.ं इसमे ंअबधकारी,वाबणजयं बनरीकंकं, सीआईटी, एसएस का भी बहससंाहोिा ह.ै

    सुरेश न््िपाठी

    आविर कब तक अनदेिा वकयाजाएगा कानपुर से्ट््ल का कदाचार?

    n टि्रं को रेल राजर्मंत््ी मिोज वसनह्ा काखासमखास बताते है ्वडपि्ी सीिीएम

    n पाव्कि्ग काटं््क्ेि आिंवित ि करके आपस मे्हो रही ह ैरेल राजटि् की बंदरबािं

    n पास्यल क ेमुहंलगे दलाल की सलाह परकामकाजी विण्यर लेते है ्वडप्िी सीिीएम

    असिो मा सदगमय ॥ िमसो माज्योदिग्गमय ॥ मृत्योम्ागमृिम्ा् गमय ॥

    क्या वास््व मे् सरकारी/गैरसरकारी/स्कूलो्/के्द््ीय दवद््ालयो्मे् अध्यापको् द््ारा दवद््ाद्थगयो् केसाथ सुबह इकठ््ा होकर की जानेवाली यह प््ाथ्गना ‘सांप््दादयक’ है?

    स्कूलो्/ववद््ालयो् मे् संस्कृत औरवहंदी मे् प््ाथ्डना के वनद््ेश को धाव्मडकवनद््ेश मानते हुए सुप््ीम कोट्ड की दोसदस्यीय पीठ ने इसकी िांच कराने कीबात कहते हुए पूरा मामला पांच ििो् कीबड़्ी संवैधावनक बे्च को रेफर कर वदयाहै. इसके साथ ही न्यायमूव्तड नरीमन नेइसे बुवनयादी महत्व का मामला भीबताया है. न्यायमूव्तड रोवहंटन एफ. नरीमनकी अगुवाई वाली दो सदस्यीय पीठ नेके्द््ीय ववद््ालयो् मे् सुबह की प््ाथ्डनासभा मे् संस्कृत और वहंदी मे् प््ाथ्डनाकराए िाने के ववर्द्् दावखल यावचका परसुनवाई करने के दौरान यह वनण्डय वदयाहै.

    यावचका मे् मांग की गई है वक स्कूलो्मे् धम्ड पर आधावरत प््ाथ्डना को बंदकराया िाए, क्यो्वक यह असंवैधावनक है.सोमवार, 28 िनवरी को इस मामले कीसुनवाई के दौरान के्द्् सरकार की ओर सेपेश सॉवलवसटर िनरल तुरार मेहता नेदलील दी वक संस्कृत के श्लोक ‘असतोमा सदगमय, तमसो मा ज्योवतग्डमय..’कोई धाव्मडक उपदेश नही् है, बस्लक यह

    साव्डभौवमक सत्य है. इसे सभी धम््ो् औरमान्यताओ् मे् माना िाता है. इस परिस्सटस नरीमन ने कहा वक लेवकन यहश्लोक तो सीधे उपवनरद से वलया गया है.उनके इस सवाल पर सॉवलवसटर िनरलतुरार मेहता ने कहा वक वसफ्फ अकेले इसेधाव्मडक वनद््ेश नही् कहा िा सकता है.उन्हो्ने दलील दी वक सुप््ीम कोट्ड अथवाभारतीय न्यायपावलका का अवधकावरक"लोगो" (वचन्ह) भी तो भगवदगीता सेवलया गया है, विसमे् "..यतो धम्डस्य,ततो िय: वलखा हुआ है, यावन ‘िहां धम्डहै, वहां वविय है’. उन्हो्ने यह भी कहावक इसमे् धाव्मडक या सांप््दावयक िैसाकुछ भी नही् है.

    इस मामले मे् एसिी तुरार मेहता नेयह भी कहा वक इस श्लोक मे् िो वलखागया है वह साव्डकावलक सत्य है, विसेसभी पंथो् के लोग मानते है्. यह महिइसवलए धाव्मडक नही् हो िाता, क्यो्वकयह संस्कृत मे् वलखा है. उन्हो्ने कहा वकव््िि््यन स्कूलो् मे् ‘ईमानदारी सबसेअच्छी नीवत होती है' वलखा होता है. क्याइसका मतलब यह माना िाना चावहए वकयह उस्कत धाव्मडक है?

    गौरतलब है वक अगर भारा औरवलवप को सांप््दावयक निवरये से देखािाएगा, तो वफर उद्डू, अंग््ेिी को पूरी तरहसे प््वतबंवधत करना पड़ेगा.

    सुप््ीम कोट्ड के "लोगो" मे् भी गीताका श्लोक ‘यतो धम्डस्य, ततो िय:’

    वलखा हुआ है. अब सवाल यह उठता हैवक क्या सुप््ीम कोट्ड अपने "लोगो" सेगीता का यह श्लोक हटाने पर भी ववचारकर रहा है?

    “असतो मा सदगमय ॥ तमसो माज्योवतग्डमय ॥ मृत्योम्ाडमृतम्ग गमय॥“ इसश्लोक के शब्दो् से स्पष्् है वक इसमे्

    ववद््ा और ज््ान की देवी सरस्वती अथवाएकमेव साव्डभौम सत््ा "ईश््र" से हमप््ाथ्डना करते हुए कहते है्, हे ज््ान कीदेवी अथवा हे ईश््र, "(हमको) असत्यसे सत्य की ओर ले चलो, अंधकार सेप््काश की ओर ले चलो, मृत्यु से अमरताकी ओर ले चलो."

    के्द््ीय ववद््ालयो् मे् होने वाली यहप््ाथ्डना क्या सच मे् सांप््दावयक और वहन्दूधम्ड का प््चार करने वाली है?

    यवद थोड़्ी देर के वलए यह मान भीवलया िाए वक ऐसा ही है. तब शत्ड यह हैवक उससे पहले यावचकाकत्ाड और सभीििो् को इस बात पर सहमवत देनी पड़ेगीवक "अन्य धम्ड/पंथ ‘असत्य से सत्य कीओर’ और ‘अंधकार से प््काश की ओर’ले िाने की सीख नही् देते है्."

    अब यवद संस्कृत और वहंदी भाराएं,वहन्दू धम्ड का प््वतवनवधत्व करती है्, तोतथाकवथत सेक्युलर प््ाथ्डना ऐसी होनीचावहए, विसमे् उद्डू, अरबी, फारसी,अंग््ेिी, वहन्दी, संस्कृत, वहब््ू, पालीआवद-इत्यावद सारी भाराओ् के शब्द हो्.

    क्या ऐसी कोई भारा दुवनया के वकसीदेश मे् है? क्या ऐसी कोई भारा इसदुवनया मे् कही् पर भी अव््सत्व मे् है?और तब इस बात की क्या गारंटी है वकउसमे् इस देश की तमाम क््ेत््ीयभाराओ्/बोवलयो्, तवमल, तेलुगू, कन्नड़्,मलयालम, अवधी, भोिपुरी, मैवथली,रािस्थानी, गुिराती, कश्मीरी, पंिाबी,

    वहमाचली, असमी, बंगाली, मराठी,इत्यावद को भी शावमल वकए िाने की मांगनही् उठेगी?

    आवखर, हम वकस वदशा मे् िा रहे है्वक भारत माता की िय, राष््््गीत,राष््््गान, असतो मा सदगमय, इन सबकेउद्घोर से इस देश की तथाकवथतधम्डवनरपेक््ता खतरे मे् आयी िा रही है?ये कैसी धम्डवनरपेक््ता है? एक बात ध्यानरहे वक दुवनया का कोई भी िीव अपनीिड़्ो् से नफरत करके कभी पनप नही्सकता.

    यहां यह भी ध्यान रखना चावहए वकइस देश का बहुसंख्यक कायरता की हदतक सवहष्णु है. इसीवलए वह अपनीधाव्मडक-सामाविक परंपराओ्, मान्यताओ्,संस्कारो्, रीवत-वरवािो्, त्योहारो् इत्यावदके वलए तथाकवथत अल्पसंख्यको् की दयाका मोहताि होता चला िा रहा है. सुप््ीमकोट्ड भी बहुसंख्यको् के साथ न्याय नही्कर रहा है, बस्लक वह भी कुछ दुष््प््वृव््तयो् की ही तरह देश, समाि औरसत््ा पर हावी होने की कोवशश कर रहाहै. यवद बहुसंख्यको् को दबाने औरसाविशपूण्ड तरीके से धीरे-धीरे कायरबनाकर उन्हे् खत्म करने की आिादी केबाद से चली आ रही इस कुवटलरािनीवत के ववर्द्् शीघ्् ही िोरदारआवाि नही् उठाई गई, तो वनकट भववष्यमे् इस देश को भीरणतम गृहयुद्् से कोईनही् बचा पाएगा.

    आनखर नकस नदिा र्े जा रहे ह्ै हर???

    n कोई जीि अपिी जड़्ो् से िफरतकरके कभी िही् पिप सकता

    n कछु विवहत उपद््िी तत्िो् कोअिंकार स ेप्क्ाश मे ्लाओ मा.ं.!!

  • 1 से 28 फरवरी 2019 रेलिे बोड्य 5

    क तरफ रलेव ेबोर्ड द््ारा िहा ंसभीिोनल रलेो ्और मरंलो ्मे ्काटं््केट्पर रोवलगं सट्ॉक सवहत अनय् रले

    सपंव््तयो ्क ेरख-रखाव हते ुसमान काय्ड केवलए समान योग्यता मानदंर (वसवमलरएवलविवबवलटी ि््ाइटवेरया) सवुनव््ित की गईह,ै वही ्दसूरी तरफ रलेव ेबोर्ड की नाक केनीच ेही वदलल्ी मरंल, उत्र् रलेव ेद््ारा इसमामल ेमे ्अलग ही राग अलापा िा रहा ह.ै‘रेल समाचार’ द््ारा इस संबंध मे् की गईपूछताछ के बाद वदखावे के वलए प््कावशतटेर्र रद् ्करक ेपनुः टेर्र िारी तो वकया गया,परतं ुउसकी ‘एवलविवबवलटी ि््ाइटवेरया’ मे्पनुः घालमले कर वदया गया. इस बार ेमे ्िबअनय् िोनल रलेो ्का हवाला दते ेहएु वफर सेदरयाफत् वकया गया, तो सबंवंधत अवधकावरयो्का कहना था वक यह रलेमतं््ी का प््ोिकेट् ह,ैइसवलए अब इसमे् और ज्यादा कुछ नही्वकया िा सकता.

    उलल्खेनीय ह ैवक वदलल्ी मरंल, उत्र्रेलवे ने रािधानी/शताब्दी टाइप एलएचबीकोचो ्मे ्परुान ेटाइप की लाइटस् वनकालकरउनकी िगह नए टाइप की एलईरी लाइटस्लगान ेका टेर्र (न.ं 30-इलकेव्््टकल/13टी-कोवचंग-2018-19, एवं टे्रर नं. 30-इलेक्व् ्टकल/15टी-कोवचंग-2018-19)िारी वकया गया था. परंतु इस टे्रर मे्कॉन्ट््ैक्टस्ड और फम््ो् की एवलविवबवलटीि््ाइटवेरया मे ्कछु ऐसा घालमले वकया गयावक यह ‘वक्स्ड टे्रर’ के बिाय ‘सप्लाईटेर्र’ हो िाता ह.ै इसक ेकाय्ड का नाम इसप्क्ार था-

    Removal of existing light fitting

    along with their electrical connection& retro fitment of LED light fittingwith necessary modification andelectrical connection etc in all theLHB Rajdhani type AC Coaches ofChg/Depot HNZM.

    वदल्ली मंरल के 26 वदसंबर एवं 31वदसंबर 2018 को खुलने वाले उक्त दोनो्टेर्स्ड की ‘रवेफनीशन ऑफ वसवमलर वक्फ’एवलविवबवलटी ि््ाइटवेरया पहल ेइस प्क्ार सेथी-

    “The firm quoting the tendershould be RCF/ICF approved sourceas per their latest list of approval forEnergy Efficient LED BasedLuminaire Units for PassengerCoaches confirming toRDSO/PE/SPEC/TL/0091-2016 (Rev“1”) or latest, having done the workof supply of light fittings ofTL/SGAC/EOG AC Coaches inRCF/ICF/Any Zonal Railways.”

    उपरोक्त ‘रेवफनीशन ऑफ वसवमलरवक्फ’ एवलविवबवलटी ि््ाइटवेरया पर ‘माव््लेइलकेव्््टक इसक्वपमेट्स् प््ा.वल.’ नामक फम्डन ेयह कहत ेहएु अपना वलवखत ज््ापन वदलल्ीमंरल के सीवनयर रीईई/कोवचंग को वदयाथा, वक विस ओईएम कपंनी न ेउस ेअपनाअवधकृत रीलर वनयुक्त वकया है, वह ऐसेवकसी टेर्र मे ्सीध ेभाग नही ्लतेी ह ैऔरउसे इस प््कार के काय्ड करने का कोईअनुभव भी नही् है, परंतु उक्त टे्रर कीकरंीशन क ेअनसुार वह (माव््ले) खदु भीइसस ेबाहर हो रही ह,ै विस ेऐस ेकाय््ो ्कोकरने का व्यापक अनुभव प््ाप्त है. इसकेअलावा ’रले समाचार’ द््ारा की गई पछूताछक ेबाद उपरोकत् टेर्र रद् ्करक ेपनुः िारीवकया गया. परतं ुइस बार न वसफ्फ काय्ड के

    नाम मे् ववस््ार वकया गया, बस्लक इसकीएवलविवबवलटी ि््ाइटवेरया मे ्भी बदलाव करवदया गया, मगर नतीिा वही ढ़ाक के तीनपात ही रहा.

    दखेे-् मगंलवार, 29 िनवरी 2019 कोखुलने वाले उपरोक्त दोनो् सुधावरत टे्रस्ड(नं. 30-इलेक्व््टकल/15टीआर-कोवचंग-2018-19 एवं टे्रर नं. 30-इलकेव्््टकल/13टीआर-कोवचगं-2018-19)के काय्ड का नाम और वरवफनेशन ऑफवसवमलर वक्फ-

    “Name of Work: Removal ofexisting light fitting along with theirelectrical connection & retro fitmentof LED. Berth reading, light fittingwith necessary modification andelectrical connection as perRDSO/PE/SPEC/TL/0091-2016 (Rev"1") in LHB AC Coaches ofRajdhani/Shatabdi Trains.”

    Definition of Similar Work: “Thefirm quoting the tender should beRCF/ICF approved source or theirauthoriesed dealer, as per their latestlist of approval for Energy EfficientLED Based Luminaire Units forPassenger Coaches confirming toRDSO/PE/SPEC/TL/0091-2016 (Rev“1”) or latest, having done the workof supply of light fittings ofTL/SGAC/EOG AC Coaches inRCF/ICF/Any Zonal Railways. Note:Dealer of approved source mustsubmit the documentary proof incompliance of TENDER FORM(Second Sheet) clause no. 15 oftender document along with theiroffer. Non-compliance with any ofthe conditions set forth therein aboveis liable to result in the tender beingrejected.”

    इस सबंधं मे ्टेर्र ववशरेज््ो ्का कहनाह ैवक वदलल्ी मरंल द््ारा की गई समान काय्डकी व्याख्या/पवरभारा (रेवफवनशन) औरयोग्यता मानदंर (एवलविवबवलटीि््ाइटवेरया) सही नही ्ह.ै उनका कहना ह ैवकवदलल्ी मरंल की समान काय्ड की उपरोकत्वय्ाखय्ा ‘प्व्तबधंी’ प्क्वृत की ह,ै िो जय्ादास ेजय्ादा लोगो ्(टेर्रस्ड) को उकत् टेर्स्ड मे्भाग लने ेस ेप्व्तबवंधत करती ह.ै उनका यहभी कहना है वक एलएचबी कोचो् केववद््तुीकतृ काय््ो ्क ेक््ते् ्मे ्िो काटं््केट्र काम

    करने का व्यापक अनुभव रखते है्, वहउपरोक्त एवलविवबवलटी ि््ाइटेवरया केअनुसार उक्त टे्रस्ड मे् भाग लेने हेतु‘एवलविबल’ ही नही ्हो रह ेहै.् िानकारो ्काकहना है वक कोचो् के इलेक्व््टकल वक्फ(ववद््ुत काय््ो्) से संबंवधत ऐसे बहुत सेक्वावलफाइर कांट््ेक्टर है्. यह कांट््ेक्टरवववभनन् िोनो/्मरंलो ्मे ्कोचो ्की सामानय्लाइट्स के साथ-साथ एलईरी आधावरतलाइटस् का वसवमलर इसंट्ालशेन वक्फ कर रहेहै.्

    उनका कहना ह ैवक समान काय्ड करतेहएु भी ऐस ेसभी काटं््केट्र वदलल्ी मरंल कीउपरोकत् एवलविवबवलटी ि््ाइटवेरया क ेकारणउकत् टेर्स्ड मे ्भाग लने ेस ेववंचत हो रह ेहै.्ऐस ेमे ्कछु कॉनट्््कैट्स्ड का काट््ले बनन ेसेकाय्ड की लागत बढ़गेी और रलेव ेका भारीनकुसान होगा. उलल्खेनीय ह ैवक इस कामके वलए आरसीएफ/आईसीएफ द््ारा वसफ्फतीन फम््ो ्को बतौर ‘अप््वूर् सोस्ड’ अवधकतृवकया गया है. ववश््सनीय सूत््ो् से ‘रेलसमाचार’ को प््ाप्त िानकारी के अनुसारइनमे् से वदल्ली की एक फम्ड को ध्यान मे्रखकर और उस ेफवेर करन ेक ेवलए वदलल्ीमंरल द््ारा उपरोक्त टाइप की ‘प््वतबंवधत’एवलविवबवलटी ि््ाइटवेरया बनाई गई ह.ै इसकेअलावा उक्त तीनो् ‘अप््ूव्र सोस््ेस’ काकाट््ले भी इसमे ्काम कर रहा ह.ै सतू््ो ्काकहना ह ैवक उकत् तीनो ्अप््वूर् सोस््िे द््ाराएक-दूसरे से सलाह-मशवरा करके ज्यादारटे राल ेिात ेहै.् िानकारो ्का कहना ह ैवकइस तरह के काट््ेल का रेलवे मे् होनासव्डवववदत ह,ै विसस ेरलेव ेको करोड़ो ्काचनूा लग रहा ह.ै

    ज््ातव्य है वक

    न ईददल्ली :सेिे््टरी, रेलवेबोर्ड के पद सेरंिनेश सहायको तुरंत प््भाव

    से हटा वदया गया है. रेलवे बोर्ड के संयुक्तसवचव/रािपव््तत एस. के. अग््वाल द््ारामंगलवार, 22 िनवरी को िारी आदेश केअनुसार सहाय की िगह अब रेलवे बोर्ड मे्ही व््पंवसपल एग्िीक्यूवटवरायरेक्टर/इंफ््ास्ट््क्चर रहे ववरष््आईआरटीएस अवधकारी सशुातं कमुार वमश््ाको सिेे्ट्री, रलेव ेबोर्ड बनाया गया ह.ै रलेवेबोर्ड के ववश््सनीय सूत््ो् से ‘रेल समाचार’को प््ाप्त िानकारी के अनुसार सहाय कोरेलमंत््ी पीयूर गोयल के आदेश पर हटायागया है. सूत््ो् का यह भी कहना है वक सहायके कामकाि के तौर-तरीको् और रवैये सेरेलमंत््ी सहि महसूस नही् कर रहे थे.उनका कहना है वक बतौर सेिे््टरी, रेलवेबोर्ड रंिनेश सहाय रेल भवन मे् रेलमंत््ी

    और सीआरबी के बाद तीसरा पॉवर से्टरबन गए थे.

    सूत््ो् का यह भी कहना है वक रंिनेशसहाय चूंवक पूव्ड सीआरबी की पसंद थे,इसवलए भी रेलमंत््ी उन्हे् काफी समय सेहटाना चाहते थे. परंतु उन्हे् रेल राज्यमंत््ीमनोि वसन्हा का वरदहस्् प््ाप्त होने केकारण रेलमंत््ी अब तक संकोच कर रहे थे.सूत््ो् ने बताया वक मे्बर स्टाफ के मामले मे्विस तरह सहाय और पवू्ड सीआरबी न ेगलत

    स्टै्र वलया, वह भी रेलमंत््ी को रास नही्आया है. उनका कहना है वक िब सीआरसीकी अनशुसंा क ेबाद कावम्डक मतं््ी न ेउस परअपनी सहमवत दे दी थी और उसके बादववत््मंत््ी के र्प मे् स्वयं उन्हो्ने (रेलमंत््ी)भी इस पर हस््ाक्र् कर वदए थ,े तब सिेे्ट्रीऔर पूव्ड सीआरबी द््ारा पीएमओ कोओवरविनल प््स््ाव भेिने के बिाय उसमे्घालमेल करके इस मामले मे् उनकी छववखराब करने की कोवशश की गई, िो वक

    उन्हे् सख्त नागवार लगी है.इसके अलावा सूत््ो् का यह भी कहना

    है वक उनके (रेलमंत््ी) मना करने केबाविदू कावम्डक मतं््ी को ज््ापन दने ेगए कछुकाव्मडक अवधकावरयो् को विस तरह असमयट््ांसफर के बहाने प््ताड़ित करने का प््यासवकया गया, उससे भी रेलमंत््ी काफी खफाहै्. इसके साथ ही वह खासतौर पर रंिनेशसहाय से इसवलए भी खफा थे वक उन्हो्नेवबना उनकी िानकारी क ेकावम्डक सवचव कोपत्् वलखकर उनके ओएसरी कीप््वतवनयुस्कत समाप्त करके उन्हे् रेल मंत््ालयमे् तुरंत वापस भेिे िाने को कहा था.उल्लेखनीय है वक रंिनेश सहाय लंबे अस््ेसे अपनी िुगाड़ और पहुंच की बदौलतरसूखदार पदो् पर ववरािमान होते रहे है्,िबवक वह कभी रीआरएम या एचओरीअथवा पीएचओरी भी नही् रहे. अब उन्हे्बड़े बेआबर् होकर रेलवे बोर्ड से वनकलनापड़ा है. ऐसे मे् यही कहा िा सकता है वकसमय बड़ा बलवान है, वह शायद यह भूलगए थे.

    Tenders critaria

    प््धानमंत््ी ने झांसीम्े किया दोहरीिरण

    िा किलान्यासझांसी : रेल

    प््शासन द््ारा िारीएक ववज््स्पत केअनुसार वदनांक:15.02.19 कोमाननीय प््धानमंत््ी

    नरे्द्् मोदी ने 15 फरवरी को अपने झांसीदौरे के दौरान रेल कोच फव्बडवशंग फैक्ट््ी(सवारी वरब्बा आववधक मरम्�