26 माच 2019 #current affairs इंदौर कौट एके डमीफन टके...

of 15/15
"26 माच 2019" #CURRENT_AFFAIRS इंदौर कौट एकेडमी जहाँ सफलता ही धम है...

Post on 27-Dec-2019

3 views

Category:

Documents

0 download

Embed Size (px)

TRANSCRIPT

  • "26 माच� 2019"

    #CURRENT_AFFAIRS

    इंदौर कौ�ट� एकेडमीजहाँ सफलता ही धम� है...

  • �फन टके कॉ��ेव 2019

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    �फनटेक (�व�ीय टे�ोलॉजी)यह नवीन व नवो�ेष टे�ोलॉजी है �जसके �ारा �व�ीय सेवाएं उपल� करवाई जाती ह�।

    �ाट�फ़ोन के �ारा ब��क� ग, �नवेश, तथा ���ोकर�सी इ�ा�द �फनटेक के कुछ उदहारण है। �फनटेक क� सहायता से बड़ी जनसँ�ा तक �व�ीय सेवाएं उपल� करवाई जा सकती है।

    नी�त आयोग ने �फन टेक कॉ��ेव 2019 का आयोजन नई �द�ी म� �कया, इसका उ�ाटन भारतीय �रज़व� ब�क के गवन�र श��कांत दास �ारा �कया गया। इसका उ�े� �व�ीय टे�ोलॉजी के �े� म� सुधार करना तथा नयी नी�तय� के �नमा�ण पर �वचार �वमश� करना है। इस कॉ��ेव म� के�ीय

    मं�ालय�, रेगुलेटर, ब�कर, �ाट�अ�, सेवा �दाता तथा उ��मय� समेत 300 से अ�धक ��त�न�धय� ने �ह�ा �लया। भारत �व� के सबसे तेज़ ग�त से बढ़ने वाले �फनटेक बाज़ार� म� से एक है। 2029 तक 1 ���लयन डॉलर का भुगतान �ड�जटल मा�म से �कया जाएगा। भारतीय �फनटेक इको�स�म वत�मान म� �व� म� तीसरे �ान पर है। 2014 से इसम� 6 अरब डॉलर से अ�धक का �नवेश �कया जा चुका है।

    नी�त आयोगनी�त आयोग (भारतीय रा� �ीय प�रवत�न सं� थान) भारत सरकार �ारा ग�ठत एक नया

    सं� थान है �जसे योजना आयोग के � थान पर बनाया गया है। 1 जनवरी 2015 को इस नए सं� थान के संबंध म� जानकारी देने वाला मं��मंडल का �� ताव जारी �कया गया।

  • �व� आ�थ�क फोरम �ोबल एनज� �ांजीशन इंडे� 2019

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    भारत �व� आ�थ� क फोरम �ोबल एनज� �ांजीशन इंडे� 2019 म� 76व� �ान पर है, इस बार भारत के र�क म� दो �ान� क� वृ�� �ई है। इस वा�ष� क सूची को �व� आ�थ� क फोरम ने तैयार �कया है। इस सूची म� 115 देश� को र��क� ग रदान क� गयी है। इस सूची म� पहले �ान

    पर �ीडन है। इसके बाद ���ज़रल�ड और नॉव� का �ान है।

    इस सूची म� यूनाइटेड �क� गडम 7व�, �स� गापुर 13व�, जम�नी 17व�, जापान 18व� तथा अमे�रका 27व� �ान पर है। ए�शयाई म� मले�शया सबसे ऊपर 31व� �ान पर है, �ीलंका 60व�, बां�ादेश 90व� तथा

    नेपाल 93व� �ान पर ह�। इस �रपोट� म� कहा गया है �क भारत �व� के सबसे अ�धक �दूषण �र वाले देश� म� से एक है और इसक� उजा� �णाली म� काब�न डाइऑ�ाइड का �र भी अपे�ाकृत अ�धक है।

    इससे बावजूद भी भारत ने �पछले कुछ वष� म� उजा� के �े� म� काफ� �ग�त क� है।

    यह एक अंतरा��ीय सं�ा है, इसक� �ापना �ाउस �ाब ने साव�ज�नक-�नजी सहयोग के �ारा �व� क� ��त म� सुधार के �लए क� थी। इसक� �ापना 1971 म� क� गयी थी। इसका मु�ालय ���ज़रल�ड के �जनेवा म� ��त है। यह एक गैर-लाभकारी संगठन है, यह अ� अंतरा��ीय सं�ाओं के साथ �मलकर काय� करता है। यह संगठन राजनीती,

    �ापार, �श�ा तथा उ�ोग इ�ा�द �व�भ� �े�� के लीडस� के भी काय� करता है।

    �व� आ�थ� क फोरम  (WEF)

  • भारतीय �रज़व� ब�क ने नंदन �नलेकणी क� अ��ता म� �ड�जटल भुगतान को बढ़ावा देने के �लए स�म�त का गठन �कया

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    भारतीय �रज़व� ब�क ने नंदन �नलेकणी क� अ��ता म� �ड�जटल भुगतान को बढ़ावा देने के �लए पांच सद�ीय स�म�त का गठन �कया है। यह स�म�त �ड�जटल समावेश को बढ़ावा देने के �लए

    सुझाव देगी। इस स�म�त वत�मान समय म� �व�ीय समावेश म� �ड�जटल भुगतान के �र, �ड�जटल भुगतान क� सुर�ा को बढ़ावा देने के �लए सुझाव तथा �ड�जटल भुगतान के �लए लोग� को आ��

    करने के सुझाव देगी। यह स�म�त अपनी बैठक के 90 �दन के भीतर अपनी �रपोट� ��ुत करेगी।

    �फनटेक (�व�ीय टे�ोलॉजी)

    भारतीय �रजव� ब�क

    यह नवीन व नवो�ेष टे�ोलॉजी है �जसके �ारा �व�ीय सेवाएं उपल� करवाई जाती ह�। �ाट�फ़ोन के �ारा ब��क� ग, �नवेश, तथा ���ोकर�सी इ�ा�द �फनटेक के कुछ उदहारण है।

    �फनटेक क� सहायता से बड़ी जनसँ�ा तक �व�ीय सेवाएं उपल� करवाई जा सकती है।

    भारतीय �रजव� ब�क भारत का के�ीय ब�क है। यह भारत के सभी ब�क� का संचालक है। �रजव� बैक भारत क� अथ��व�ा को �नय��त करता है। 1 अ�ैल सन 1935 को इसक�

    �ापना �रजव� ब�क ऑफ इ��या अ�ध�नयम, 1934 के अनुसार �ई थी।

  • सीबीएसई ने पा��म म� नए �वषय� को शा�मल �कया

    #Currentaffairs

    के�ीय मा��मक �श�ा बोड� (सीबीएसई) ने हाल ही म� आ�ट� �फ�शयल इंटे�लज�स (AI), शु�आती बचपन देखभाल �श�ा (ECCE) तथा योग को कौशल �वषय� के �प म� �ूली पा��म म� शै��णक स� 2019-20 के �लए शा�मल �कया है।

    26 माच� 2019

    आ�ट� �फ�शयल इंटे�लज�स को नौव� क�ा के छा�� के �लए वैक��क �वषय के �प म� शु� �कया जायेगा जब�क योग को व�र� �र पर शु� �कया जायेगा।�व� भर म� कई देश आगे रहने के �लए �ूल� म� आ�ट� �फ�शयल इंटे�लज�स को �वषय के �प म� शु� कर रहे ह�, इस�लए भारत म� भी छा�� को आ�ट� �फ�शयल इंटे�लज�स के बारे म� जानकारी होना आव�क है।�� शरीर तथा मन के �लए योग छा�� के �लए बेहद मह�पूण� है।

    के�ीय मा��मक �श�ा बोड� (सीबीएसई)

    के�ीय मा��मक �श�ा बोड� (सीबीएसई) देश म� साव�ज�नक तथा �नजी �ूल� के �लए एक रा�ीय �र का �श�ा बोड� है। वत�मान म� सीबीएसई के अंतग�त 19,316 �ूल भारत म� तथा 211 �ूल 28 देश� म� जुड़े �ए ह�। सीबीएसई क� गठन 3 नव�र, 1962 को �कया गया था। इसका मु�ालय नई �द�ी म� ��त है। सीबीएसई के�ीय मानव संसाधन �वकास मं�ालय के अधीन काय� करता है।

  • ए�शयन �रच �ल� 2019

    23 माच� 2019#Currentaffairs

    हाल ही यूनाइटेड �क� गडम म� भारतीय उ�ायु� ��च घन�ाम ने ए�शयन �रच �ल� 2019 जारी क�, इस सूची म� ��टेन म� मौजूद 101 सबसे धनी ए�शयाई लोग� क� सूची है। इस सूची म� �पछले 12 महीन� म� उ��मय� क� उपलि�य� को रेखां�कत

    �कया गया है। इस सूची को ए�शयन �बज़नेस अवा�स� म� जारी �कया गया।ए�शयन �रच �ल� 2019 म� �थम �ान पर भारतीय मूल का �ह� दुजा प�रवार है, यह प�रवार इस सूची म� लगातार छठव� वष� पहले �ान पर रहा है। इस प�रवार क� कुल प�रसंप�� 25.2 अरब प�ड है।�पछले वष� म� �ह� दुजा प�रवार क� आय म� 3 अरब प�ड से अ�धक क� वृ�� �ई है।भारतीय मूल के उ�मी ल�ी �म�ल व उनके पु� आ�द� �म�ल इस सूची म� दूसरे �ान पर ह�, उनक� कुल प�रसंप�� 11.2 अरब प�ड ह�। �पछले वष� उनक� प�रसंप�� म� 2.8 अरब प�ड क� कमी आई है।इस सूची म� एस.पी. लो�हया 5.8 अरब प�ड के साथ तीसरे �ान पर मौजूद ह�।भारतीय मूल के उ�मी लाड� �राज पॉल इस सूची म� 17व� �ान पर ह�, उनक� कुल प�रसंप�� 900 �म�लयन प�ड ह�। उनक� आय म� �पछले एक वष� म� 100 �म�लयन डॉलर क� वृ�� �ई है।इस सूची म� होट�लयर जो�ग�र संगर तथा उनके पु� �गरीश संगर 40व� �ान पर ह�, उनक� कुल प�रसंप�� 300 �म�लयन प�ड ह�।ए�शयन �रच �ल� 2019 म� शा�मल लोग� क� कुल प�रसंप�� लगभग 85.2 अरब प�ड है। इस सूची को �वशेष�� �ारा तैयार �कया गया है। इस सूची म� ��टेन म� ए�शयाई लोग� क� प�रसंप�� के बारे म� जानकारी �मलती है।

  • भारत और ओमान के बीच अल-नागाह संयु� सै� अ�ास का समापन �आ

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    अल-नागाह III भारत और ओमान के बीच ��प�ीय सै� अ�ास �ंृखला का तीसरा सं�रण है। इसका आयोजन ओमान म� �कया गया। इस अ�ास म� दोन� देश� क� ओर से 60-60 सै�नक� ने

    �ह�ा �लया। इस अ�ास का आर� 12 माच�, 2019 को �आ था।

    अल नागाह III का आयोजन ओमान के जबल अल अ�दार पव�त� म� �कया गया।इस 14 �दवसीय अ�ास म� दोन� देश� क� सेनाओं ने रणनी�त तथा ह�थयार चलाने जैसी कई �वधाओं म� अपने अनुभव� को एक-दूसरे से साझा �कया।इस यु� अ�ास के �ारा �व�भ� प�र���तय� म� आतंकवाद �वरोधी ऑपरेशन को पूरा करने के �लए अ�ास �कया गया। इससे इंटरऑपरे�ब�लटी म� वृ�� होगी।इस यु� अ�ास म� भारतीय सेना का ��त�न�ध� गढ़वाल राइफ� क� 10व� बटा�लयन �ारा �कया गया। जब�क ओमान क� रॉयल आम� का ��त�न�ध� जबल रे�जम�ट �ारा �कया गया।

    अल नागाह III

    अल नागाह I का आयोजन जनवरी 2015 म� ओमान के म�ट म� �कया गया था। जब�क अल नागाह II का आयोजन �हमाचल �देश म� माच� 2017 म� �कया गया था। भारत-ओमान सुर�ा स��ी �पछले कुछ

    वष� से मज़बूत हो रहे ह� और यह संयु� सै� अ�ास इसी �दशा म� एक मह�पूण� कदम है।

  • पीटर त�बची ने जीता �ोबल टीचर �ाइज 2019

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    �ोबल टीचर �ाइज

    के�ा के �व�ान अ�ापक पीटर त�बची ने हाल ही म� ��त��त �ोबल टीचर �ाइज 2019 जीता। इस पुर�ार �व� के सव��े� अ�ापक को �दान �कया जाता

    है। उ��  वं�चत छा�� को �श�ा �दान करने के �लए स�ा�नत �कया गया है।त�बची के�ा के �ानी गाँव म� केरीको व�र� �व�ालय म� ग�णत व भौ�तक �व�ान पढ़ाते ह�। गौरतलब है �क पीटर त�बची अपनी आय का 80% �ह�ा गरीब ब��

    क� पढ़ाई पर खच� कर देते ह�।

    �ोबल टीचर �ाइज �ारा �श�क� क� भू�मका को रेखां�कत �कया जाता है तथा सव��े� काय� करने वाले अ�ापक को स�ा�नत �कया जाता है। �ोबल टीचर �ाइज इस पुर�ार क� �ापना वष� 2015 म� वरके फाउंडेशन �ारा क� गयी थी। इस पुर�ार के �वजेता को 1 �म�लयन डॉलर इनाम��प �दान �कये जाते ह�। यह पुर�ार संयु�

    अरब अमीरात के उपरा�प�त तथा �धानमं�ी मोह�द �बन रा�शद अल म�ूम के संर�ण म� वरके फाउंडेशन �ारा �दान �कया जाता है।

  • �व� मौसम �व�ान �दवस 2019

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    �व� मौसम �व�ान �दवस

    23 माच� को �व� मौसम �व�ान �दवस मनाया गया, इसक� थीम “सूय�, पृ�ी तथा मौसम” थी।

    �व� मौसम �व�ान संगठन एक अंतरसरकारी संगठन है, यह मौसम, जलवायु और जल संसाधन इ�ा�द के �े� म� काय� करता है। यह संयु� रा� क� �व�श� एज�सी है। वत�मान के 191 सद� ह�। इसक� शु�आत अंतरा��ीय मौसम �व�ान संगठन के �प म�

    1873 म� �ई थी। बाद म� 23 माच�,1950 को इसक� �ापना �व� मौसम �व�ान संगठन के �प म� क� गयी। इसका मु�ालय ���ज़रल�ड के �जनेवा म� ��त है।

    इस थीम के �ारा पृ�ी म� सूय� के के मह� को रेखां�कत �कया गया है। सूय� से �ा� होने वाली उजा� के �ारा ही पृ�ी पर सभी काय� पूण� होते ह�। वै��क

    जलवायु को �नयं��त करने म� भी सूय� क� अ�त मह�पूण� भू�मका है।

  • चुनाव आयोग ने मी�डया के �लए एडवाइजरी जारी क�

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    चुनाव आयोग के �दशा�नद�श

    हाल ही म� चुनाव आयोग ने मी�डया के �लए चुनाव� से स�ं�धत ए��ट पोल तथा प�रणाम के �काशन के स�� म� एडवाइजरी जारी क� है।

    जन ��त�न�ध� अ�ध�नयम 1951 के से�न 126 A के मुता�बक ए��ट पोल चुनाव के अं�तम चरण के पूरा हो जाने के बाद �दखाए जा सकते ह�। 19 मई को अं�तम चरण के चुनाव� के बाद ही ए��ट पोल �दखाए  जा सक� गे।यह एडवाइजरी आं� �देश, अ�णाचल �देश, ओ�डशा तथा �स��म के �वधानसभा चुनाव� के �लए भी लागू होगी।चुनाव आयोग ने टीवी. रे�डयो चैनल, केबल नेटवक� , वेबसाइ�स तथा सोशल मी�डया �ेटफाम� को चुनाव से स�ं�धत साम�ी का �काशन न करने के �लए कहा है।य�द कोई �सारक इस एडवाइजरी का उ�ंघन करता है तो इसक� �रपोट� चुनाव आयोग �ारा समाचार �सारण मानक �ा�धकारी (NBSA) को क� जायेगी।समाचार �सारक� को तब तक अं�तम प�रणाम घो�षत न करने के �लए कहा गया है जब तक �क चुनाव आयोग अ�धका�रक �प से अं�तम प�रणाम क� घोषणा नह� कर देता।

  • भारतीय सेना म� शा�मल क� जाय�ग� �देशी धनुष तोप�

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    धनुष आ�ट� लरी गन

    भारतीय सेना म� 26 माच� को �देशी �प से �न�म� त धनुष तोप� शा�मल क� जायेग�। इसके �लए 26 माच� को जबलपुर म� एक समारोह का आयोजन �कया जाएगा।

    धनुष 155 �ममी x 45 �ममी क� एक आ�ट� लरी गन (तोप) है. इसे भारतीय सेना क� आव�कताओं के आधार पर ऑड�न�स फै��ी बोड� (OFB), कोलकाता �ारा �वक�सत �कया गया है और जबलपुर ��त गन कै�रज फै��ी (GCF) �ारा �न�म� त �कया गया है। यह �ी�डश 155-�ममी बोफोस� हे�व�जर का उ�� सं�रण है, �जसे भारत ने 1980 के

    दशक के म� म� �ा� �कया था, इसी�लए इसे ‘देसी बोफोस�’ भी कहा जाता है।यह सटीकता और प�रशु�ता के साथ 40 �कलोमीटर (आया�तत बोफोस� बंदूक� क�

    तुलना म� 11 �कमी अ�धक) क� �हार सीमा रखती है। इसके 81% घटक �देशी �प स े�न�म� त ह� �जसे 2019 तक बढ़ाकर 90% तक �कया जाएगा. ��ेक तोप क� लागत 14.50 करोड़ �पये जब�क ��ेक खोल म� 1 लाख �पये का खचा� आया है. गोला बा�द के �कार

    के आधार पर यह अ�धक अ�� श�� उ�� करती है। इसम� कई मह�पूण� अ��म सु�वधाएं ह�, �जनम� ऑल-इलेि��क �ाइव, उ� ग�तशीलता, शी� तैनाती, सहायक पावर मोड, उ�त संचार �णाली, �चा�लत कमांड और �नयं�ण �णाली शा�मल है।

  • 107वां �बहार �दवस

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    �बहार व बंगाल �ेसीड�सी

    22 माच� को 107वां �बहार �दवस मनाया गया। 22 माच�, 1912 को �बहार को बंगाल �ेसीड�सी से अलग �कया गया था। बड़े �र पर पहली बार 2010 म� �बहार �दवस को

    मनाया गया था, यह मु�मं�ी �नतीश कुमार का �वचार था।

    ब�र का यु� मीर का�सम, बंगाल के नवाब, अवध के नवाब तथा मुग़ल शासक शाह आलम ��तीय ने �मलकर ���टश ई� इं�डया कंपनी के �व�� लड़ा था, इस यु� म� ���टश ई� इं�डया कंपनी क� �वजय �ई थी। इस यु� के बाद मुग़ल तथा बंगाल के

    नवाब ने अपने �े� से �नयं�ण खो �दया। इस �े� म� वत�मान बां�ादेश, प��म, �बहार, झारख� तथा ओ�डशा इ�ा�द शा�मल थे। ���टश ई� इं�डया कंपनी को राज� सं�हण व �बंधन के �लए बंगाल �ांत म� दीवानी अ�धकार �दान �कये गये।

    1911 म� जब ���टश भारत क� राजधानी को �द�ी �ानांत�रत �कया गया तब बंगाल �ेसीड�सी का �वभाजन चार भाग� बंगाल,

    ओ�डशा, �बहार और असम म� कर �दया गया था।

  • क� � सरकार ने ज�ू-क�ीर �लबरेशन �ंट पर ��तब� लगाया

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    ज�ू-क�ीर �लबरेशन �ंट

    हाल ही म� क� � सरकार ने ज�ू-क�ीर �लबरेशन �ंट पर ��तब� लगा �दया है। यह ��तब� अवैध ग�त�व�ध (रोकथाम) अ�ध�नयम (UAPA) के तहत लगाया गया है।

    ज�ू-क�ीर �लबरेशन �ंट ज�ू-क�ीर म� अलगाववाद को बढ़ावा देता है, यह अलगाववादी ग�तव�धय� म� 1988 से काफ� स��य रहा है।]ज�ू-क�ीर �लबरेशन �ंट पर क�ीरी पं�डत� क� ह�ा तथा उ�� घाटी से भगाने का गंभीर आरोप है।ज�ू-क�ीर �लबरेशन �ंट को भारत क� सं�भु�ा तथा �े�ीय �ाय�ा के �लए खतरा मानते �ए ��तबं�धत �कया गया है।

    क� � सरकार ने ज�ू-क�ीर �लबरेशन �ंट पर ��तब� लगायाअवैध ग�त�व�ध (रोकथाम) अ�ध�नयम (UAPA) के �ारा भारत म� अवैध काम कर रहे

    संगठन� पर रोक लागाई जाती है। इस तरह के संगठन� के अ�भ��� के अ�धकार, एक� होने के अ�धकार इ�ा�द पर भी अंकुश लगाया जाता है।

  • करमबीर �स�ह ह�गे भारतीय नौसेना के अगले �मुख

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    भारतीय नौसेना

    करमबीर �स� ह भारतीय नौसेना को अगले �मुख ह�गे, वे एड�मरल सुनील ला�ा का �ान ल�गे। एड�मरल सुनील ला�ा 31 मई को सेवा�नवृ� ह�गे। वत�मान म� वाईस एड�मरल करमबीर �स� ह पूव� नौसै�नक कमांड म� �ैग

    ऑ�फसर कमां�ड� ग इन चीफ के �प म� काय�र� ह�।

    देश क� समु�ी सीमाओं क� सुर�ा का भार भारतीय नौसेना पर है। वत�मान म� भारतीय नौसेना म� 67,228 सै�नक/कम�चारी काय�र� ह�। भारतीय नौसेना क� �ापना 1612

    ईसवी म� �ई थी। महान मराठा शासक छ�प�त �शवाजी को भारतीय नौसेना का �पता कहा जाता है।भारतीय नौसेना का आदश� वा� “शं नो व�णः” है।

    माच� 2018 के अनुसार भारतीय नौसेना के पास एक एयर�ा� कै�रएर, 1 उभयचर प�रवहन डॉक, 8 ल��ड� ग �शप ट�क, 11 �ड��ॉयर, 13 ��गेट, 1

    परमाणु उजा� संचा�लत पनडु�ी, 1 बै�ल��क �मसाइल यु� पनडु�ी, 14 परंपरागत पनडु�ीयां, 22 काव�ट, 4 �ीट ट�कर तथा अ� कई पोत ह�।

  • इं�डयन �ी�मयर लीग का 12वां सं�रण

    26 माच� 2019#Currentaffairs

    इं�डयन �ी�मयर लीग

    23 माच�, 2019 से इं�डयन �ी�मयर लीग के 12व� सं�रण का आगाज़ हो रहा है। आईपीएल के 12व� सं�रण का पहला मुकाबला �पछली बार क� च��पयन टीम चे�ई सुपर �क� � तथा रॉयल चैल�जस�

    बंगलौर के बीच खेला जायेगा। गौरतलब है �क इस बार BCCI ने आईपीएल के उ�ाटन समारोह को पुलवामा हमले के बाद र� कर �दया था, इस समारोह म� खच� क� जाने वाली 20 करोड़ �पये क� रा�श

    पुलवामा हमले म� शहीद होने वाले वीर सै�नक� के प�रवार� को दी जायेगी।

    इं�डयन �ी�मयर लीग �व� क� अ�णी खेल लीग है। इस लीग को टी-20 फॉम�ट म� खेला जाता है। इसका आयोजन भारतीय ��केट क��ोल बोड� �ारा �कया जाता है। आईपीएल म� इस बार कुल आठ टीम� �ह�ा ले रह� ह� : मंुबई इं�डय�, कलक�ा नाईट राइडस�, चे�ई सुपर �क���स, रॉयल चैल�जस�

    बंगलौर, सनराइजस� हैदराबाद, �द�ी कै�पट�, �क� � इलेवन पंजाब तथा राज�ान रॉय�।इसके पहले सं�रण का आयोजन 2008 म� �कया गया था।आईपीएस क� �ांड वै�ू लगभग 6.3 अरब डॉलर है।चे�ई सुपर �क� � और मुंबई इं�डय� आईपीएल क� सबसे सफल टीम� ह�, यह दोन� टीम� 3-3 बार आईपीएल का �खताब जीत चुक� ह�।सुरेश रैना आईपीएल म� सवा��धक रन बनाने वाले ब�ेबाज़ ह�, वे आईपीएल म� अब तक 4,985 रन बना चुके ह�।�ीलंका के ल�सथ म�ल� गा आईपीएल के सबसे सफल ग�दबाज़ ह�, वे अब तक 154 �वकेट ले चुके ह�।